Follow my blog with Bloglovindevar bhabhi hot story मैं ऋषिता भाभी की चूचियों का दीवाना

devar bhabhi hot story मैं ऋषिता भाभी की चूचियों का दीवाना

भाभी की चूचियों का दीवाना devar bhabhi hot story

devar bhabhi hot story: हैलो मेरा सभी MastHindiStory के पाठकों को प्यार भरा नमस्कार।

मेरा नाम निशांत है, बिहार का रहने वाला हूँ, मैं जयपुर में इंजीनियरिंग कर रहा हूँ। मैं MastHindiStory का रेगुलर पाठक हूँ। मैंने सोचा कि मैं भी MastHindiStory पर अपनी आप-बीती लिखूँ। मेरा लंड 6 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है।

अब मैं अपनी बात पर आता हूँ। बात उस समय की है, जब मैं 18 साल का था और मैं 12वीं में पढ़ता था। हमारे यहाँ नए किरायेदार रहने आये थे। एक जोड़ा रहने आया था। उन दोनों की शादी को सिर्फ दो साल ही हुए थे।

भाभी का नाम ऋषिता है और उनकी उम्र 26 साल की है। भाभी बहुत ही सैक्सी हैं। उनकी चूचियाँ बड़ी हैं और उनके चूतड़ भी बहुत मस्त हैं एकदम गोल-गोल। जो उनको एक बार देख ले, उसका लौड़ा खड़ा हो जाए।

मेरी माँ, भाभी और ऋषिता में बहुत बनती थी तो ऋषिता हमारे यहाँ अक्सर आती रहती थी। कभी-कभी तो दिन भर हमारे यहाँ रहती थी। मैं उनको चोर नजर से देखा करता था और ऋषिता भी मुझे देख कर मुस्कुरा देती थी।

ऋषिता का पति हफ्ते में 4 दिन बाहर रहता था। मेरी भाभी को एक साल का एक बेटा था। ऋषिता हमेशा उसके साथ खेलती रहती थी। मैं भी ऋषिता से हँसी मजाक करने लगा था। मैं भी उनके घर जाने लगा था।

devar bhabhi hot story

एक दिन भाभी को कोई काम था तो उन्होंने मुझे मेरे भतीजे सोनू को ऋषिता के पास ले जाने को कहा। मैं सोनू को गोदी में लेकर ऋषिता भाभी के पास चला गया।

जब भाभी ने गेट खोला तब मैं उनको देखते ही रह गया। उन्होंने एक बहुत ही सैक्सी और ट्रांसपेरेंट नाइटी पहनी हुई थी जिसमें से उनकी आधी चूचियाँ दिख रहीं थी। मेरी नजर उनकी चूचियों पर टिक गई। उन्होंने तुरन्त मेरी नज़रों को भाँप लिया कि मैं क्या देख रहा हूँ।

उन्होंने मुझसे कहा- आओ निशांत !

मैं अन्दर गया। उन्होंने मुझसे सोनू को अपने गोदी में लिया। उस समय मैंने अपना हाथ उनकी चूची से लगा दिया।

भाभी मुझे देखने लगी, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं कहा। तब से मैं हमेशा सोनू को गोदी में लेने देने के बहाने उनकी चूची को छू लेता।

इसी तरह चलता रहा। एक दिन मेरा पूरा परिवार सात दिन के लिए गाँव चले गए। मेरी माँ ने ऋषिता को मेरा ध्यान रखने को कहा।

सबके जाने के बाद ऋषिता भाभी मेरे यहाँ आईं और बोलीं- तुम मेरे यहाँ ही रहो क्योंकि तुम्हारे भैया भी 6 दिन के लिए शहर के बाहर गए हैं।

मैं भी भाभी के यहाँ रहने चला गया। मैं उनके यहाँ टीवी देखने लगा, तभी भाभी आईं। भाभी बहुत ही सैक्सी लग रही थीं। भाभी ने लाल रंग की साड़ी पहनी थी।

मैंने उनसे पीने के लिए पानी माँगा। वे जब मेरे लिए पानी लाईं और मुझे देने के लिए झुकीं तभी उनकी साड़ी का पल्लू गिर गया। मेरी नजरें उनके वक्ष-स्थल पर टिक कर रह गईं।

devar bhabhi hot story

मैं देखता रह गया। उन्होंने लो-कट ब्लॉउज पहना था जिसमें से उनकी आधी चूचियाँ दिख रही थीं।

मैं एकटक उनकी चूचियों को देख रहा था, तभी उन्होंने पूछा- क्या देख रहे हो?

मैं कुछ नहीं बोला।

उन्होंने बोला- मुझे पता है कि तुम मेरा क्या-क्या देखते रहते हो।

मैं बोला- मैं क्या-क्या देखता हूँ?

तो वो कुछ बोलीं तो नहीं पर एक कातिल सी मुस्कराहट फेंक कर किचन में चली गईं।

फिर उन्होंने मुझे किचन में बुलाया, कहने लगीं- आपको मुझमें क्या-क्या अच्छा लगता है?

मैंने कहा- आपके बोलने का अंदाज, आपका स्टाइल, आपका रहने का तरीका।

भाभी बोलीं- मेरे जिस्म में आपको क्या अच्छा लगता है?

मैंने उनकी चूची की तरफ हाथ करके दिखाया। तब उन्होंने अपना पल्लू हटाते हुए कहा- मैं तुम्हारी हूँ।

मैंने उनको अपने पास खींचा और उनकी चूची दबाने लगा तो भाभी कहने लगीं- निशांत, ये सब बाद मैं करना अभी मुझे खाना बनाने दो।

मैंने कहा- आप खाना बनाओ, मैं तो बस आपकी चूची दबा रहा हूँ।

भाभी हँसते हुए मेरी तरफ देख कर कुछ नहीं बोलीं, बस खाना बनाने लगीं और मैं उनकी चूची के साथ खेलता रहा। मैंने उनका ब्लॉउज खोल दिया और बाद में ब्रा भी उतार दी। मैं उनकी चूचियाँ मींजता रहा, उनसे चिपक कर मैं उनको चूमता भी रहा।
मैं अपना लौड़ा उनकी पिछाड़ी में रगड़ रहा था। भाभी की भी सिसकारियाँ ले रहीं थीं।

devar bhabhi hot story

भाभी ने खाना बना कर गैस बन्द कर दी और मेरी तरफ घूम कर बोलीं- तुम मानोगे नहीं।

उन्होंने मुझे अपने आगोश में ले लिया, मुझसे बोलीं- चलो बाथरूम में चल कर नहाते हैं।

बाथरूम में आकर मैंने उनके पूरे कपड़े उतार दिए और भाभी ने भी मुझे नंगा कर दिया। हम दोनों ही काम-वासना की अग्नि में जल रहे थे, फव्वारे की ठंडी बूँदें हमारा मन बहका रहीं थीं।

ऋषिता नीचे बैठ गई और मेरा लौड़ा चूसने लगी। मैंने भी उसकी चूत को अपनी उंगली पेल-पेल उनका पानी निकाल दिया, फिर गीले ही मैं और ऋषिता बेडरूम में चले गए।

बेडरूम में ऋषिता की चूचियों को मैंने खूब मसला वो बोली- उखाड़ कर ले जाना है क्या?

मैंने कहा- हाँ, तुम्हारी इन गेंदों ने मेरी नींदें चुराईं हैं, मैं इनको इनके किये की पूरी सजा दूँगा।

वो हँस पड़ी और बोली- इसके अलावा और भी कुछ होता है करने के लिए।

मैंने कहा- तुम चिंता मत करो रानी, मैं कुछ नहीं छोडूँगा। यह कहानी आप MastHindiStory डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं।

मैंने अपना लण्ड उसके सामने लहराया। उसने मेरे लौड़े को अपने मुँह में भर लिया और चूस-चूस उसे बहुत कड़क कर दिया। मैंने उसकी चूत की फाँकों को फैलाया और अपना मूसल उसकी चूत के मुहाने पर रख कर भाभी की तरफ देखा और लौड़े को एक झटका मारा।

devar bhabhi hot story

भाभी के थूक से और उनकी चूत के रस से चिकनाई इतनी अधिक थी कि मेरा लण्ड सट्ट से अन्दर घुस गया। ऋषिता के कण्ठ से एक मादक आह निकली, फिर मैंने अपने लौड़े को फुल स्पीड में दौड़ा दिया और ऋषिता के चिकनी सड़क पर मेरा लवड़ा बिना ब्रेक की गाड़ी जैसे दौड़ पड़ा।

devar bhabhi hot story

मैं तो जन्नत की सैर करने लगा। मुझे बहुत मजा आ रहा था। मेरे दोनों हाथों में उसके बड़े-बड़े उरोज थे और लौड़े के नीचे उसकी चिकनी चूत थी। मैंने उनकी जम के चुदाई की। ऋषिता को भी खूब मजा आ रहा था वो भी नीचे से अपने चूतड़ों को उठा रही थी।

मैंने करीब बीस मिनट तक उसकी चुदाई की और फिर मैंने ऋषिता को अपने ऊपर ले लिया। उसके लटकते पपीते मेरे मुँह में थे। कुछ देर बाद हम दोनों झड़ गए।

ऋषिता मेरी छाती पर ही ढेर हो गई। कुछ देर बाद वो उठी और बैठ गई। हम दोनों एक दूसरे की आँखों में मुस्कुरा कर झाँक रहे थे।

उसके बाद भी हमने बहुत बार सैक्स किया।

devar bhabhi hot story

आपको मेरी यह दास्तान कैसी लगी, आप लोग मुझे Telegram पर message कर सकते हैं।

Join Telegram Group

Aunty Hindi sex story group

Story Read in English

bhabhi ke sath chudai devar bhabhi hot story

devar bhabhi hot story: Hello my love greetings to all MastHindiStory readers.

My name is Nishant, hailing from Bihar, I am doing engineering in Jaipur. I am a regular reader of MastHindiStory. I thought I would write my own on MastHindiStory too. My cock is 6 inches long and 3 inches thick.

Now I come to my point. It is about the time when I was 18 and I was studying in 12th standard. We had new tenants come to stay here. A couple came to live. Both of them had been married for only two years.

Bhabhi’s name is Rishita and she is 26 years old. Sister-in-law is very sexy. Their Tits are big and their butts are also very round and round. Whoever sees them once, his Aloda should stand up.

My mother, sister-in-law and Rishita were very much, so Rishita used to visit us often. Sometimes we used to stay here all day. I used to look at him with a thief and Rishita used to smile at me.

Rishita’s husband used to stay out 4 days a week. My sister-in-law had a son of one year. Rishita always played with him. I also started laughing jokingly at Rishita. I too started going to his house.

devar bhabhi hot story
One day the sister-in-law had some work, so she asked me to take my nephew Sonu to Rishita. I took Sonu to the dock and went to Rishita Bhabhi.

When the sister-in-law opened the gate, I was left staring at her. He was wearing a very sexy and transparent nightie, out of which half of his teats were visible. My eyes were fixed on her pussy. He instantly noticed what I was seeing.

They told me – come Nishant!

I went inside They took Sonu from me to their dock. At that time, I put my hand with his nipple.

Sister-in-law started looking at me, but he did not say anything. Since then, I would always touch Sonu’s teat on the pretext of letting Sonu take me to the dock.

It continued like this. One day my whole family went to the village for seven days. My mother told Rishita to take care of me.

After everyone left, Hrishita sister-in-law came to me and said- You stay with me because your brother has also gone outside the city for 6 days.

I also went to live with sister-in-law. I started watching TV with them, then sister came. Sister-in-law looked very sexy. Sister-in-law wore a red saree.

I asked him for water to drink. When she brought water for me and bowed down to give me, the sari of her sari fell. My eyes were fixed on his chest.

devar bhabhi hot story
I was shocked. He wore a low-cut blouse, half of which was visible in his tights.

I was looking at her Acwati alone, then she asked – what are you looking at?

I said nothing.

He said – I know what you keep watching me.

I said – what do I see?

So she did not say anything but threw a killer smile and went to the kitchen.

Then he called me to the kitchen, started saying – what do you like about me?

I said – your style of speaking, your style, your way of living.

Sister-in-law said – what do you like about my body?

I showed my hand towards her nipple. Then he removed his pallu and said – I am yours.

I pulled him to me and started pressing his nipple, then sister started saying – Nishant, after all this I have to let me cook now.

I said – you cook, I’m just pressing your nipple.

Sister-in-law looked at me and said nothing, just started cooking and I kept playing with her nipple. I opened her blouse and later removed the bra too. I kept rubbing her cunts, clinging to them and I kept kissing them.
I was rubbing my Aloda in their back. Siskaris were also taken by sister-in-law.

devar bhabhi hot story
Sister-in-law cook the food and turn off the gas and say to me – you will not agree.

They took me in their arms, said to me – let’s go to the bathroom and take a shower.

After coming to the bathroom, I took off their clothes and sister-in-law also naked me. Both of us were burning in the fire of lust, the cold drops of the fountain were misleading us.

Rishita sat down and started sucking my Aloda. I also removed her water from her finger to her pussy, then I and Rishita went wet in the bedroom.

In the bedroom, I have a lot of issues about Rishita’s Tits, she has to be uprooted.

I said- Yes, these balls of yours have stolen my sleep, I will punish them completely.

She laughed and said – there is more to do.

I said don’t you worry queen, I will leave nothing. You are reading this story at MastHindiStory.com.

I waved my LND in front of him. He filled my alore in his mouth and sucked him very hard. I spread the flanks of her pussy and put my pestle on the mouth of her pussy and looked at the sister-in-law and gave a blow to Alore.

devar bhabhi hot story
The spit of the sister-in-law and the smoothness of her pussy juice was so much that my LND entered the Satta. A drunken sigh came out of Rishita’s gorge, then I ran my Alore at full speed and on the smooth road of Rishita my lovra ran like a car without a break.

I started traveling to heaven. I was enjoying it very much. She had big Uros in both my hands and under the alore she had a smooth pussy. I fuck them free. Rishita was also enjoying a lot, she was also lifting her pussy from below.

I fuck her for about twenty minutes and then I took Rishita on myself. His hanging papayas were in my mouth. After some time we both collapsed.

Rishita piled up on my chest. After some time she woke up and sat down. We were both smiling into each other’s eyes.

Even after that we had sex a lot.

devar bhabhi hot story
How did you like my story, you can message me on Telegram.

Read more Hot Bhabhi Story

TV देखने के बहाने भाभी को चोदा | Hot Bhabhi Hindi story-indian Bhabhi stories

पतली कमर वाली भाभी को चोदा | bhabhi xxx story – indian bhabhi stories

सेक्सी भाभी की गरम चूत | bhabhi story in hindi – xxx bhabhi story

चुपके से लंड दिखा कर, की भाभी की चुदाई Desi Bhabhi Story

2 thoughts on “devar bhabhi hot story मैं ऋषिता भाभी की चूचियों का दीवाना”

Leave a Comment