Follow my blog with BloglovinHot mami stories सोते हुए भान्जे ने की मामी चुदाई 1 real sex

Hot mami stories सोते हुए भान्जे ने की मामी चुदाई 1 real sex

सोते हुए भान्जे ने की मामी चुदाई Hot mami stories

hot mami stories: मैं पढ़ाई के लिए अपने मामा के घर रहता था. एक रात मैंने चुपके से मामा मामी की चुदाई देखी. तब से मैं मामी की चुदाई के ख्वाब देखने लगा. मैंने मामी की गर्म चूत की प्यास कैसे बुझाई?

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम रोहित है और मैं इंदौर (मध्य प्रदेश) का रहने वाला हूं. मेरी उम्र 22 साल है.

मेरे मामाजी ग्वालियर में रहते हैं. उनका परिवार बहुत ही मॉडर्न है. मामा जी के घर पर मेरे नाना-नानी, मामा-मामी और उनके दो जुड़वा बच्चे हैं जो बहुत छोटे हैं.

मामी जी के बारे में बताऊं तो वह बिल्कुल गरदाई हुई मस्त जवान महिला है. उनके बूब्स मीडियम साइज के हैं. वह बहुत ही गोरी भी हैं देखने में। मतलब कि उन्हें देख कर किसी भी मर्द का लंड खड़ा हो सकता है.

मामी जी से मेरी बहुत ही अच्छी दोस्ती है और मैं उनसे अपनी हर बात शेयर करता हूं लेकिन उनसे मैंने कभी भी सेक्स वगैरह के बारे में बात नहीं की थी। मैंने कभी भी मामी जी को गलत नजरों से नहीं देखा था।

अब मैं असली कहानी पर आता हूं. यह कहानी तब की है जब मैं 20 साल का था और मेरे कॉलेज का फर्स्ट ईयर था. जब मैं वहां पर पढ़ाई करने के लिए गया तो मेरा बहुत ही अच्छे तरीके से स्वागत किया गया और मेरे लिये स्पेशल खाना बनाया गया. रात का खाना खाने के बाद हम लोगों की सोने की तैयारी हो गई.

फ्लैट में दो ही कमरे थे। एक में नाना-नानी सोते हैं और एक में मामा जी, मामी जी और उनके बच्चे सोते हैं.
मैं ड्राइंग रूम में टीवी देखने लगा और वहीं सोफे पर सो गया.

hot mami stories

कुछ समय बाद मेरी आंख खुली और मैं बाथरूम में गया तो मुझे कुछ आवाजें आईं. मैंने मामी जी के कमरे के पास जाकर देखा तो देखता ही रह गया.

मामा जी बिल्कुल नंगे लेटे हुए थे। मगर उनका लंड बहुत ही छोटा था. मामी जी कपड़े उतार रही थी. मामी जी केवल ब्रा पेंटी में थी और उनकी गोरी गोरी मांसल जांघें देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और मैं अपने लंड को रगड़ने लगा.

उनके कमरे में जीरो वाट का बल्ब जल रहा था जिसकी रोशनी में बहुत ही कम दिख रहा था और मैं गेट की सांस(दरार) में से यह सब देख रहा था. मामी जी लेट गई और मामा जी मिशनरी पोजिशन में आकर उन्हें चोदने लगे और 7-8 धक्कों के बाद ही मामा जी का निकल गया और वह चुपचाप लेट गए.

मामा-मामी की चुदाई देख कर मेरा लंड खड़ा हो चुका था. मेरे अन्दर भी सेक्स जाग गया था. मेरा लंड बिल्कुल तन गया था. मैं अपने लंड को वहीं पर खड़ा होकर मसलने लगा.

मैं अभी भी वहीं पर देख रहा था और मैंने महसूस किया कि मामी जी के चेहरे पर हल्की सी मायूसी सी दिखाई दे रही थी. वो मामा जी के द्वारा किये गये सेक्स से खुश नहीं लग रही थी. मुझे भी ऐसा लग रहा था कि मामा जी का बहुत जल्दी निकल गया. इसी वजह से मामी की प्यास अधूरी रह गई होगी.

कुछ देर तक मामा जी लेटे रहे फिर उठ कर एक तरफ होकर चादर तान ली और सो गये. मगर मामी की नंगी चूत अभी भी मुझे दिखाई दे रही थी. मैं वहां से हटना नहीं चाह रहा था. मैंने पहली बार मामी की नंगी चूत को देखा था और बार-बार उसको देख कर मैं अपने लंड को मसल कर मजा लेने में लगा हुआ था.

उसके बाद मामी जी ने अपनी चूत में अपने हाथ से ही उंगली करनी शुरू कर दी. कुछ ही देर में मामी जी के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं.

hot mami stories

इधर मैं मामी जी की चूत को देख कर अपना लंड मसल रहा था और वहां मामी जी अपनी चूत में उंगली करके अपनी चूत को शांत करने की कोशिश कर रही थी. वो फिर जोर जोर से उंगली करने लगी और उनके मुंह में से तेज तेज सिसकारियां निकलने लगीं.

उसके बाद मैं वहां से आ गया. मैं चुपचाप जाकर सोफे पर लेट गया. मगर लेटे हुए भी मुझे नींद नहीं आ रहा थी. उस रात को मामी के प्रति मेरा नजरिया बदल गया. मैं काफी देर तक मामी की चूत के बारे में सोच कर मुट्ठ मारता रहा. जब तक मेरे लंड से वीर्य न निकल गया मुझे शांति नहीं मिली. अपना वीर्य निकाल कर फिर मैं शांत हो गया और मुझे नींद आ गई.

अगली सुबह को जब मेरी आंख खुली तो मामी मुझे चाय के लिए जगा रही थी. मैंने आंखें मलते हुए उनको देखा तो वो चाय का कप नीचे रख रही थी. मैंने उनके चूचों को देख लिया. मुझे जब उनके चूचों की झलक मिली तो मेरे लंड में हलचल सी होने लगी. उनकी वक्षरेखा देख कर मेरा लंड एकदम से अंदर ही अंदर तनना शुरू हो गया.

मैं उनको ताड़ रहा था और मामी ने मुझे ऐसा करते हुए देख लिया. मामी ने मुझसे पूछा- ऐसे क्यों देख रहा है?
मैंने शर्म के मारे नजर नीचे कर ली.
फिर मामी ने कहा- चाय पी लो, ये ठंडी हो रही है.

उस दिन मेरा मन कर रहा था कि मामी के चूचे को दबा ही दूं लेकिन अभी मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी. मामी वापस चली गई.

उसके बाद मैं कुछ दिन के लिए अपने घर पर चला गया. वहां पर जाकर भी मैं मामी के बारे में ही सोचता रहा. उनके चूचे मुझे रात को सोने नहीं देते थे. मैं रोज उनके बारे में सोच कर मुट्ठ मार लिया करता था.

hot mami stories

कुछ दिन बीत जाने के बाद नानी ने मेरी मां के पास फोन किया और मेरे आने के बारे में पूछा क्योंकि मामा जी कुछ दिन के बाहर जा रहे थे और नानी ने मां को कह दिया कि वो मुझे यहां मामा के घर जल्दी ही भेज दें क्योंकि वहां पर घर की देखभाल करने वाला कोई नहीं था. मां ने मेरे कपड़े पैक कर दिये और मैं वापस नानी के यहां आने के लिए तैयार हो गया.

मैं मन ही मन खुश हो रहा था क्योंकि अब मुझे मामी को चोदने का मन कर रहा था और मैं सोच रहा था कि अब ये मौका भी अच्छा हाथ लगा है क्योंकि मामा के रहते हुए तो मैं मामी से इस तरह की बात नहीं कर पाता. अब जो कि मामा बाहर जा रहे हैं तो मामी की चूत चुदाई का रास्ता भी मेरे लिए आसान हो जायेगा. मैं किसी ने किसी बहाने से मामी से उनके मन की इच्छा जान ही लूंगा.

मेरे नानी के यहां आने पर मामा जी तैयार हो गए और मैं उन्हें ट्रेन में बिठा कर वापस आ गया. शाम हुई तो खाना वगैरह खा कर फिर सोने की तैयारी होने लगी. मामी जी ना बोला कि रोहित तुम हमारे साथ ही सो जाओ, आज तो मामा जी भी नहीं है.

मैं तो जैसे मामी के मुंह से यही सुनना चाह रहा था. मैं झट से तैयार हो गया उनके साथ सोने के लिए. हम लोग मामी जी के साथ ही सोने लगे.

मामी एक साइड सो रही थी, मैं एक साइड में था और बीच में दोनों बच्चे सो रहे थे. अब मैं मामी जी के सोने का इंतजार कर रहा था.

रात को करीब 12:00 बजे जब मुझे विश्वास हो गया कि सब सो गए हैं तब मैं जागा और मामी जी के बगल में जाकर लेट गया और उनकी जांघ पर हाथ रख कर उनकी मांसल जाँघों को छूने लगा.

छूते ही मेरा लंड जैसे फटने को हो गया. मैं धीरे-धीरे जांघों पर हाथ फेरने लगा. मैं उनकी मैक्सी के ऊपर से ही हाथ फेरने में लगा था. मैंने धीरे-धीरे अपना हाथ उनकी चूत पर रखा और रगड़ने लगा. मामी ने शायद पैंटी नहीं पहनी हुई थी. उनकी चूत की झांट मेरे हाथ पर महसूस हो रही थी. यह अहसास पाकर मैं तो जैसे पागल ही हो गया.

hot mami stories - bhanje se chudvaya - desi sex story

hot mami stories

मैंने धीरे-धीरे मैक्सी को ऊपर उठाना शुरू किया और कमर तक मैक्सी ऊपर कर दी. अब मैं भूल चुका था कि अगर वह जाग गई तो कितना बड़ा कांड हो जाएगा. मैं तो हवस के चक्कर में पागल ही हो गया था.

मैंने अपना लौड़ा निकाला और उनकी जांघों पर फेरने लगा.

तभी थोड़ी सी हलचल हुई और मामी मेरी तरफ पीठ करके लेट गई. एक बार तो मैं घबरा गया … लेकिन मामी जगी नहीं थी शायद … इसलिए मैंने दोबारा से कोशिश करने के लिए सोचा.
मैं थोड़ा रुका और फिर अपना लौड़ा उनकी गांड पर रगड़ने लगा. मेरा मोटा और सख्त लंड उनको अपनी गांड पर शायद महसूस हुआ तो वो एकदम से उठ गई.

मैं भी झट से नीचे लेट गया. उसके बाद मैंने आंखें बंद कर लीं. मुझे डर लग रहा था. पता नहीं मामी ने क्या देखा और क्या नहीं. मगर जब मैंने दोबारा से आंखें खोलीं तो वो अपनी मैक्सी को अंधेरे में ही नीचे करके वापस लेट चुकी थी. मगर मुझसे भी रुका नहीं जा रहा था. मैं सोच रहा था कि शायद ये मौका फिर नहीं मिलेगा.

कुछ समय बाद मैंने उनके मम्मों पर हाथ रखा और धीरे-धीरे उन्हें दबाने लगा. मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैंने मैक्सी ऊपर उठाई और जल्दी से लौड़ा निकाल कर उनकी चूत के छेद पर रख दिया. तभी मामी जग गई और मुझे देख कर एकदम सकपका गई और धीमी आवाज में चिल्लाते हुए गुस्से से बोली- यह क्या कर रहे हो रोहित? तुम्हें समझ नहीं आता? मैं तुम्हारी मामी हूं. यह सब जो तुम कर रहे हो, यह गलत है.

मामी का गुस्सा देख कर मेरी गांड फट गई और मैंने उनको सॉरी बोला और उठ कर कमरे से बाहर चला गया और सोफे पर लेट गया और वहीं लेटे लेटे सो गया. मुझे डर लग रहा था कि कहीं वह शिकायत ना कर दे.

hot mami stories

फिर सुबह वह चाय लेकर आई और मुझे जगाया. मैंने उनकी तरफ देखा भी नहीं. मैं नजर नीचे करके चाय पीता रहा और वह मेरे सामने ही टेबल साफ कर रही थी तो उनके मम्मों के दर्शन होने लगे.

पता नहीं क्यों अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था. जब भी उनको देखता था तो खुद को रोकना मुश्किल हो जाता था. उनके चूचों को देखते ही उस वक्त भी मेरा लौड़ा तो जैसे फटने को हो रहा था. मैं चाय बीच में ही रख कर बाथरूम की तरफ भागा.

मुझे एकदम से ऐसे अधूरी चाय छोड़ कर जाते हुए देख कर मामी ने पूछ लिया कि कहां जा रहे हो. मैंने बाथरूम में घुस कर मामी को अंदर से ही आवाज लगाई कि कुछ नहीं मामी, बस अभी आ रहा हूं वापस.

अंदर जाने के बाद मैं बाथरूम का गेट लगाना भूल गया और लंड की मुट्ठ मारने लगा. मेरी आंखें बंद थीं और मैं तेजी से अपने लंड को हिला रहा था. पता नहीं कब मामी आ गई और उन्होंने मुझे देख लिया.

जब मुझे मामी के आने की आवाज सुनाई दी तो मैंने आंखें खोली ही थीं लेकिन उस वक्त मेरे हाथ में मेरा लंड था और मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी निकल रही थी. मामी ने मुझे इसी हालत में देख लिया.

उन्होंने हैरानी से मेरे लंड की तरफ देखा और फिर मेरे चेहरे की तरफ. फिर वो चली गईं.

मैंने सोचा कि मेरी किस्मत ही खराब है. मामी ने मेरा लंड देख कर भी कोई रिएक्शन नहीं दिया. अगर आज मामी गर्म हो जाती तो आज तो बाथरूम में ही मामी की चूत की चुदाई कर देनी थी मैंने।

मामी गेट बंद करके वापस चली गई रसोई में और मैं वापस आकर सोफे पर बैठ गया.
फिर हम लोगों ने ज्यादा कुछ बात नहीं की.

hot mami stories

शाम को खाने के वक्त मामी ने सुबह वाली बात का जिक्र करते हुए कहा- सुबह के लिए सॉरी रोहित. मुझे ऐसे नहीं आना चाहिए था.
मैंने भी मामी को कह दिया- कोई बात नहीं मामी. मैं तो खुद आपसे कल रात के लिए माफी मांगने वाला था. मगर कहने की हिम्मत नहीं हो रही थी.

मगर फिर मामी ने जो बोला … वो सुन कर मुझे अपने कानों पर यकीन नहीं हुआ.
मामी ने कहा- कल की बात तो कल ही खत्म हो गई. अगर तुम्हारा मन करे तो तुम आज भी मेरे साथ ही सो सकते हो.

यह सुनते ही मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. मैंने जल्दी से खाना खाया और अंदर जाकर लेट गया. मैं बस सोने की एक्टिंग कर रहा था. मैं तो असल में मामी के आने का इंतजार कर रहा था. मेरा लंड पहले से ही मामी की चूत के बारे में सोच कर तना हुआ था. मैंने अपने लंड को अंडरवियर में दबाया हुआ था ताकि मामी को मेरा तना हुआ लंड दिखाई न दे.

तभी मामी जी आई कमरे में और लाइट जलाई. तब तक बच्चे सो चुके थे और उन्हें लगा शायद मैं भी सो चुका हूं. मैं धीरे से आंख खोल कर देखा तो मामी अपने कपड़े उतार रही थी. वो अपने कपड़े उतार कर ब्रा और पैंटी में ही चादर के अंदर आ गई. उन्होंने लाइट बंद कर दी थी और कमरे में अंधेरा हो गया था.

मैं अपने लंड को हाथ में लेकर हिलाने लगा. मैं जानता था कि अंधेरे में मामी को कुछ दिखाई नहीं पड़ेगा. वैसे भी मुझसे तो रहा नहीं जा रहा था. मामी और मेरे बीच में पिछली रात की तरह बच्चे सो रहे थे.

एक दो घंटे के बाद भी मुझे नींद नहीं आई और मैं कल रात की तरह ही उठ कर मामी के बगल में जाकर लेट गया. मैंने धीरे से मामी के तन से चादर को हटाया और उनके बदन पर हाथ फिराने लगा. आज मामी कोई हलचल नहीं कर रही थी. मेरे लंड का बुरा हाल होने लगा. मैंने मामी के चूचों को ब्रा के ऊपर से ही दबाना शुरू कर दिया. मामी ने तब भी कोई हरकत नहीं की.

hot mami stories

अब मेरी हिम्मत भी बढ़ गई थी. मैंने मामी की पैंटी को मसला और उनकी चूत को छूते ही मैं बेकाबू हो गया. मैंने मामी की पैंटी को खींच कर नीचे करने की कोशिश की तो मामी ने अपनी गांड को हल्के से उठा लिया और मैं समझ गया कि मामी की तरफ से भी लाइन क्लियर है.

बस फिर क्या था … मैं मामी पर टूट पड़ा, उनके चूचों को चूसने काटने लगा और मामी मेरे बालों में हाथ फिराने लगी. उनके गुदाज बदन को छूकर मैं बेकाबू हो गया था और मैंने झट से अपने लंड को निकाल कर मामी की चूत में लगा दिया.

hot mami stories.

लंड को चूत में लगा कर मैंने एक झटका मारा और मेरा लंड मामी की चूत में घुस गया. मामी ने जरा सी भी हरकत नहीं की. मेरा लंड मामी की चूत में मैंने पूरा उतार दिया. फिर मैं धीरे-धीरे उनकी चूत में धक्के मारने लगा. मैं भी कोई आवाज नहीं कर रहा था क्योंकि साथ में ही बच्चे भी सो रहे थे.

मैंने पांच मिनट तक मामी की चुदाई की और फिर मेरा वीर्य निकल गया. फिर मामी ने मेरे कान के पास मुंह लाकर मुझे वापस जाने के लिए कह दिया.

मगर मुझे अभी भी नींद नहीं आ रही थी. इतने दिनों के बाद मुझे मामी की चूत मिली थी. मैंने सुबह के करीब तीन बजे फिर से मामी को जगाया और हम दोनों चुपके से उठ कर बाथरूम में चले गये.

वहां जाते ही हमने धीरे से दरवाजा बंद किया और एक दूसरे को बेतहाशा चूमने लगे. मैंने मामी के पूरे बदन को चूसा और चाटा और फिर उनकी चूत में उंगली दे दी. मामी ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और फिर मैंने उनको दीवार के सहारे लगा कर उनकी चूत में लंड को पेल दिया.

मैं मामी को वहीं दीवार के सहारे लगा कर चोदने लगा. मैंने दस मिनट तक मामी की चुदाई की और फिर मैं दूसरी बार मामी की चूत में झड़ गया. फिर हम दोनों चुपके से आकर लेट गये.

hot mami stories

सुबह जब मामी चाय देने आई तो वह मुस्करा रही थी. जब वो मेरे करीब आई तो मैंने मामी के चूचों को नजर बचाकर छू लिया और मामी ने मेरा हाथ झटक दिया. मामी को शायद डर था कि घर में कोई देख लेगा. उसके बाद मैंने मामी की चूत कई बार चोदी.

अब मामी भी खुश रहने लगी थी. हमें जब भी मौका मिलता था हम चुदाई कर लेते थे.

फिर जब मामा वापस आ गये तो हमें मौका मिलना बंद हो गया. मगर हम दोनों ही इस बात के इंतजार में रहते थे कि कब हमें चुदाई करने का मौका मिलेगा. मामी मेरा लंड लेकर खुश रहने लगी थी और मैं भी मामी की मामी की चुदाई करके मजे लेता रहा.
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

hot mami stories

Read in English

mami ki chudai ki story | Hot mami stories

hot mami stories: I used to stay at my maternal uncle’s house for studies. One night I secretly watched Mama Mami’s Chudai. Since then, I started seeing the dreams of Mami’s fuck. How did I quench Mami’s hot pussy thirst?

Hello friends, my name is Rohit and I am from Indore (Madhya Pradesh). I am 22 years old.

My maternal uncle lives in Gwalior. His family is very modern. At maternal uncle’s house, my maternal grandfather, maternal uncle and his twin children are very young and hot mami stories.

If I tell about Mami ji, she is a very young young woman who has been absolutely mortified. His boobs are of medium size. He is also very fair to look at. Meaning that any man’s cocks can stand on seeing them.

I have a very good friendship with Mami ji and I share everything I say to her, but I never talked about sex with her. I had never seen Mami ji with the wrong eyes, hot mami stories.

Now I come to the real story. This story is about when I was 20 years old and the first year of my college. When I went there to study, I was welcomed very well and special food was prepared for me. After dinner, we got ready to sleep and hot mami stories.

There were only two rooms in the flat. In one, the maternal grandmother sleeps and in one the maternal uncle, maternal aunt and their children sleep.
I started watching TV in the drawing room and slept on the couch there.

hot mami stories
After some time my eyes opened and when I went to the bathroom, I heard some voices. I looked near Mami ji’s room and kept looking.

Mama ji was lying completely bare. But his cock was very small. Mami ji was removing clothes. Mami ji was only in bra panty and seeing her fair white muscular thighs, my cock got erect and I started rubbing my cock.

In his room, a zero-watt bulb was burning, in whose light it was very rarely seen and I was watching all this through the breath (crack) of the gate. Mami ji lay down and Mama ji came to the missionary position and started fucking her and after 7-8 bumps Mama ji got out and he lay down quietly.

Seeing uncle’s aunt’s fuck my cock was erect. Sex woke me up inside me too. My cock was absolutely tan. I started standing there and rubbing my cock and hot mami stories.

I was still watching there and I realized that a slight dismay was visible on Mami ji’s face. She did not look happy with the sex done by maternal uncle. It seemed to me that Mama ji left very soon. For this reason, the aunt’s thirst must have remained unfulfilled, hot mami stories.

Mama ji lay down for a while, then got up and stretched out the bed and fell asleep. But Mami’s naked pussy was still visible to me. I did not want to move away from there. For the first time, I saw the naked pussy of Mami and after seeing her again and again, I was busy munching my cock and having fun.

After that Mamie started fingering her pussy with her hand. Shortly, Siskaria started coming out of Mami ji’s mouth.

hot mami stories
Here I was looking at Mami ji’s pussy and rubbing my cock and there Mami ji was trying to calm her pussy by finger in her pussy. She then started to finger very loudly and sheer sharp sizzlers came out of her mouth, hot mami stories.

After that I came from there. I quietly went and lay down on the couch. But even when lying down, I could not sleep. That night my attitude towards Mami changed. I kept on thinking about Mami’s pussy for a long time. I did not get peace until the semen came out of my cock. After removing my semen, then I calmed down and I fell asleep.

The next morning when my eyes opened, Auntie was waking me up for tea. When I saw her rubbing her eyes, she was putting down the cup of tea. I saw his cocks. When I got a glimpse of his boobs, my cock started to stir. Seeing his breastplate, my cock started to stretch inside right away.

I was palming them and Mami saw me doing this. Mami asked me – why is he looking like this?
I looked down in shame.
Then Mami said- Drink tea, it is getting cold and hot mami stories.

That day, I felt that I should suppress aunt’s aunt but now I was not daring. Mamie went back.

After that I went to my house for a few days. Even after going there I kept thinking about Mami. His cocks would not let me sleep at night. I used to fist every day thinking about them.

hot mami stories
After a few days, Nani called my mother and asked about my arrival as Mama ji was going out for a few days and Nani told her mother to send me here to Mama’s house soon because There was no one to take care of the house. Mother packed my clothes and I agreed to come back to my grandmother.

I was feeling happy because now I was thinking of fucking my aunt and I was thinking that now this opportunity is also good because I could not talk to my aunt like this while being an uncle. Now that the maternal uncle is going out, then the path of Chudai’s aunt will also be easy for me. I will know my heart’s desire from my aunt with some excuse, hot mami stories.

Mama ji got ready after my grandmother came here and I got her back in the train. It was evening, then after eating the food and then preparing to sleep. Mama Ji did not say that Rohit should sleep with us, today there is no maternal uncle either.

I wanted to hear the same from my aunt’s mouth. I quickly got ready to sleep with them. We started sleeping with Mama Ji.

Mami was sleeping on one side, I was on one side and both children were sleeping in the middle. Now I was waiting for Mami ji to sleep and hot mami stories.

At around 12:00 in the night, when I was convinced that everyone was asleep, I woke up and lay down next to Mami ji and put my hand on her thigh and started touching her muscular thighs.

As soon as I touched, I got like a cock. I slowly started turning my hands on the thighs. I was engaged in turning my hand over his maxi. I slowly put my hand on his pussy and started rubbing. Mami might not be wearing panties. His pussy was feeling on my hand. After realizing this, I went crazy like that.

hot mami stories – bhanje se chudvaya – desi sex story
hot mami stories
I slowly started raising the maxi and up the maxi till the waist. Now I had forgotten that if she wakes up then there will be such a big scandal. I had gone mad because of lust and hot mami stories.

I pulled out my Aloda and started to roll on his thighs.

Then there was a slight movement and the aunt lay back on me. Once I got nervous… but my aunt was not awake, maybe… so I thought to try again.
I stopped a little and then started rubbing my Aloda on his ass. If he felt my thick and hard cock on his ass, then he got up immediately and hot mami stories.

I also lay down quickly. After that I closed my eyes. I was scared I do not know what Mami saw and what not. But when I opened my eyes again, she was back in the dark with her maxi down. But I was also not stopping. I was thinking that maybe this chance will not be found again, hot mami stories.

After some time I laid my hands on her mummies and slowly started pressing them.
I could not control, so I picked up the maxi and quickly took out the aloda and put it on her pussy hole. Then Mamie woke up and was stunned to see me and screamed angrily in a slow voice – what are you doing Rohit? you no understand? I’m your aunt Everything you are doing is wrong,hot mami stories.

Seeing Mami’s anger, my ass exploded and I said sorry to them and got up and went out of the room and lay down on the couch and lay down and slept there. I was afraid that he should not complain.

hot mami stories
Then in the morning she brought tea and woke me up. I did not even look at him. I kept looking down and drinking tea and she was cleaning the table in front of me, then her mummies started appearing.

I do not know why I was not going now. Whenever he saw them, it was difficult to stop himself. At the time of seeing his cocks, my Aloda at that time was like going to burst. I ran to the bathroom with tea in the middle.

Seeing me leaving such incomplete tea immediately, Mami asked where were you going. I entered the bathroom and made a voice to the aunt from inside that nothing is uncle, just coming back now and hot mami stories.

After going inside, I forgot to put the bathroom gate and started fisting cocks. My eyes were closed and I was shaking my cock fast. I don’t know when aunt came and saw me.

When I heard the voice of aunt coming, I had opened my eyes, but at that time I had my cock in my hand and semen was coming out of my cock. Mami saw me in this condition and hot mami stories.

He looked at my cock with surprise and then towards my face. Then she left.

I thought my luck was bad. Mami did not give any reaction even after seeing my cock. If today aunt was hot, then today I had to fuck aunty’s pussy in the bathroom.

Mamie closed the gate and went back to the kitchen and I came back and sat on the couch.
Then we did not talk much.

hot mami stories
While eating in the evening, Mami said while referring to the morning talk – Sorry Rohit for the morning. I should not have come like this.
I also told my aunt – no matter aunt. I was going to apologize to you myself last night. But I did not dare to say.

But then listening to what Mami said… I could not believe my ears.
Mami said- yesterday’s thing is over tomorrow itself. If you feel like you can sleep with me even today and hot mami stories.

Hearing this, my cock got erect again. I quickly ate food and went inside and lay down. I was just acting gold. I was actually waiting for Mami to come. My cock was already taut thinking about Mami’s pussy. I had pressed my cock in my underwear so that my aunt could not see my taut cocks.

Then Mama ji lit another light in the room. By then the children were asleep and they thought I might have slept too. When I opened my eyes slowly, my aunt was removing her clothes. She took off her clothes and came inside the bed in bra and panties. They had switched off the light and the room became dark.

I started shaking my cock with my hand. I knew that Mami would not see anything in the dark. I was not going to live anyway. The children were sleeping between Mami and me like last night.

Even after a couple of hours, I could not sleep and I got up like last night and lay down next to my aunt. I slowly removed the sheet from Mami’s body and started waving at her body. Today Mami was not stirring. My cock started getting bad. I started pressing Mami’s boobs over the bra. Mami did not do any action even then.

hot mami stories
Now my courage was also increased. I touched Mami’s panty and as soon as I touched her pussy, I became uncontrollable. When I tried to pull down Mami’s panty, Mami lifted her ass lightly and I understood that the line is clear from Mami’s side too, hot mami stories.

What was it then… I broke down on Mami, started sucking her nipples and Mammi started to shake my hair. I was uncontrollable by touching his anal body and I quickly removed my cock and put it in aunt’s pussy, hot mami stories.

Putting the cocks in the pussy, I hit a blow and my cock entered into the aunt’s pussy. Mamie did not move at all. I completely removed my cock in aunty’s pussy. Then I slowly started to push into her pussy. I too was not making any sound because the children were sleeping as well.

I fuck aunty for five minutes and then my semen came out. Then Mami brought her mouth near my ear and told me to go back.

But I still could not sleep. After so many days, I got aunty’s pussy. I woke up my aunt again at around three o’clock in the morning and we both got up and went to the bathroom.

As soon as we got there, we slowly closed the door and started kissing each other wildly. I sucked and licked Mami’s entire body and then gave her finger in her pussy. Mami filled me in her arms and then I put them on the wall with the help of her and licked the cocks in her pussy.

I started fucking Mammy with the help of the wall there. I kissed aunty for ten minutes and then I fell in aunty’s pussy for the second time. Then both of us came quietly and lay down.

hot mami stories
When Mami came to give tea in the morning, she was smiling. When she came close to me, I touched Aunt’s aunt’s eyes, and aunt touched my hand. Mami was afraid that someone would see at home. After that, I fuck aunty’s pussy several times.

Now aunt was also happy. Whenever we got a chance, we used to fuck.

Then when the maternal uncle returned we got a chance. But both of us used to wait for when we will get a chance to fuck. Auntie was happy to take my cock and I also enjoyed enjoying aunty’s aunt’s fuck.
[email protected]

More Hot Story:

अंधेर में मामी की चूत की चुदाई | hot mami stories – xxx story mami

खेत में बुआ ने मेरा लंड चूसा | bua xxx story – mast hindi story

मौसी की चुदाई करते समय गलती से माँ को चोदा | maa beta xxx story-mosi sex

2 thoughts on “Hot mami stories सोते हुए भान्जे ने की मामी चुदाई 1 real sex”

Leave a Comment