Teacher ki chudai stories 1 टीचर के मम्मों को चूसा best sex

टीचर के मम्मों को चूसा Teacher ki chudai stories

Teacher ki chudai stories: हमारे कॉलेज में एक मैम पढ़ाने आईं. वह दिखने में एकदम सेक्सी लड़की दिखती थीं. सब लड़के उनके दीवाने थे. लेकिन मुझे अपनी टीचर की चुदाई का मौक़ा मिला. कैसे?

दोस्तो, मेरा नाम करन है. मैं हमेशा से Masthindistory से सेक्स से भरी चुदाई की कहानी पढ़ता रहा हूँ. यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, जो मैं आप सबके साथ शेयर करने जा रहा हूं.

यह कहानी तब की है, जब मैं कॉलेज में पढ़ाई कर रहा था. उन दिनों मेरी उम्र मात्र 19 साल थी. मेरे कॉलेज में अधिकतर अध्यापक ही पढ़ाया करते थे. कोई अध्यापिका नहीं थी.

फिर एक दिन जब हमारे फिजिक्स सर का ट्रांसफर हो गया, तब हमारे कॉलेज में एक मैम पढ़ाने आईं. मैम का नाम काजल था. वह दिखने में एकदम सेक्सी लड़की दिखती थीं. उनके सामने देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए. उनकी उम्र लगभग 25 साल की होगी. वह एक कमसिन माल थीं.

पहले क्लास में कोई भी छात्र फिजिक्स नहीं पढ़ता था, पर मैम के आने से सबके सब फिजिक्स पीरियड का ही वेट करते रहते थे कि कब मैम आएं और हमें पढ़ाएं.

क्लास में जब भी मैम आतीं और वो ब्लैकबोर्ड में लिखती थीं, तब उनकी मटकती गांड देखने में हम सभी को बड़ा मजा आता था. यह देखने के बाद सब के सब उतावले हो जाते थे. मैं भी उनकी क्लास में सबसे आगे की बेंच पर बैठता था. जब मैम लिखने के लिए घूमती थीं, तो मैं उन्हें पीछे से देखता था. उनके चूचे और चूतड़ जब हिलते थे, तो उन्हें देखकर ऐसा लगता था कि दौड़ कर मैम के चूतड़ों को दबा कर उनकी गांड मार लूं.

teacher ki chudai stories

एक दिन कॉलेज में फेस्ट था और सब सज-धज के आए थे. हम सब दोस्त बड़े खुशबू वगैरह लगा कर तैयार हुए और एक साथ कॉलेज गए. उधर मैंने देखा तो मेरी आंखें फटी की फटी रह गई. काजल मैम ब्लैक साड़ी पहने हुए थीं. उनकी ये साड़ी इतनी चुस्त तरीके से बांधी गई थी कि उनके चूचे साफ़ उठे हुए नजर आ रहे थे.

मैं काजल मेम को पूरे फेस्ट भर उनको ही देखता रहा. जब फेस्ट खत्म हुआ तो सब घर जाने लगे. मैं भी अपनी बाइक से घर की तरफ जाने लगा. मैंने देखा कि रास्ते में काजल मैम अपनी स्कूटी पर बैठी हुई थीं. उनकी गाड़ी रुकी हुई थी.

मैंने गाड़ी रोकी और उनसे पूछा- क्या हुआ मैम, आप यहां क्या कर रही हो?
मैम बोलीं- मेरी स्कूटी खराब हो गई है. स्टार्ट ही नहीं हो रही है.

मैंने मैम की स्कूटी चैक की तो मुझे लगा उसके प्लग में कचरा घुस गया था.

मैंने मैम से कहा कि मैम यह स्कूटी अभी ठीक नहीं हो सकती, आप इसे किसी गैराज में दे दें.
उन्होंने कहा- मैं तो किसी गैराज वाले को नहीं जानती हूँ.

मैंने मेम की मदद की, उनकी स्कूटी को एक मिस्त्री को बुला कर उसके हवाले किया और इस तरह मैंने उनकी गाड़ी को गैराज में सुधरने दे दिया था.

इसके बाद मैंने उन्हें उनके घर छोड़ा. मैं उनको घर छोड़ कर जाने लगा, तो मैम ने मुझे घर में अन्दर बुलाया.
मैं चला गया.

मैंने देखा कि मैम के घर पर कोई नहीं रहता था. मैंने उनसे पूछा- आपके घर में क्या कोई नहीं है?
उन्होंने मुझे बताया कि वो इधर अकेली ही रहती थीं. उनके घर वाले गांव में रहते थे और वह यहां किराए का मकान लेकर रहती थीं.

teacher ki chudai stories

मैम ने मुझे बैठने को कहा और चाय बनाने चली गईं. मैं मैम की मटकती हुई गांड को देख रहा था. वह अभी भी साड़ी में थीं और उन्हें इस तरह अकेला देख कर मेरे मन में लड्डू फूट रहे थे.

जल्दी ही मैम चाय बना कर लेकर आईं और हम दोनों बातें करने लगे. मैं उनके बटलों को और लोटों को ही घूर रहा था. मेरा मतलब मैं मैम के मम्मों और उठे हुए चूतड़ों को ही देखे जा रहा था.

उन्होंने यह बात देख ली और स्माइल करने लगीं. मैं भी मुस्कुरा दिया. मुझे लगा कि कुछ पल रुक कर समझ लूं कि बात किधर तक जा सकती है. कहीं ऐसा न हो कि जूतियां नसीब में लिखी हों.

कुछ देर तक मैं यूं ही मैम के हुस्न को चाय के साथ पीता रहा और उनकी प्यारी प्यारी बातें सुनता रहा. फिर वो मुझे अपना बेडरूम दिखाने ले गईं.

उन्होंने कहा- मैं ज्यादातर पढ़ाई ही करती रहती हूँ.
मैंने सिर्फ हंस कर उनकी पढ़ाई करने की आदत को तारीफ़ की निगाहों से सराहा.

फिर मैम मुझसे मेरे बारे में पूछने लगीं- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?
मैंने कहा- नहीं.

उन्होंने कहा- तो फिर फिजिक्स में तुम्हारे नंबर क्यों कम आते हैं.
मैंने कहा- मैम मेरा मन भटकता रहता है.
उन्होंने पूछा कि तुम्हारा मन कहां भटकता रहता है?
मैंने कहा- फोन में.
उन्होंने पूछा- तुम फोन में ऐसा क्या देखते रहते हो?
मैंने कहा- मैम आपको तो मालूम ही है कि आजकल हर चीज फोन में ही उपलब्ध है. तो बस मैं इसी वजह से अपना ध्यान खो देता हूं.

teacher ki chudai stories

मैम ने मुझसे मेरा मोबाइल मांगा और मैंने अपना मोबाइल से दे दिया.
मेरे मोबाइल में वो कुछ देखने लगी थीं. मैंने ध्यान दिया कि वो मेरे कुछ फोटोज देख रही थीं.

अचानक से मैम मेरे ब्राउज़र की हिस्ट्री में चली गईं. वो हिस्ट्री चैक करने लगीं. मैंने लास्ट टाइम की हिस्ट्री डिलीट नहीं की थी, तो मेरा भेद खुल गया.

उसमें मैंने काफी सारी ब्लू फिल्में सर्फ की हुई थी. कुछ डाउनलोड भी थीं.

मैम ने कुछ ही पलों में सब देख लिया. मैं अपना सर नीचे किए हुए उनकी किसी भी पल आने वाली झिड़की के लिए तैयार बैठा था.

कुछ पल की शांति के बाद मैंने सर उठाया, तो मैम मुझे अलग नजरों से देख रही थीं.
मैंने कहा- मैम वो गलती से खुल गया था.

इस पर मैम उठीं और कमरे से बाहर चली गईं. मैं डर गया कि पता नहीं क्या होने वाला है. मैम मेरे बारे में न जाने क्या सोच रही होंगी.

एक पल बाद मैं भी रूम से बाहर निकल आया. मैंने देखा कि मेम बाहर खड़ी थीं.

उन्होंने मुझसे कहा- तुम यह सब देखते हो.
मैंने कहा- नहीं मैम वो तो गलती से खुल गया था.
मैम मुझसे हंस कर बोलीं- यह सब छोड़ दो. इससे तुम्हारा कोई भला नहीं होने वाला है.

teacher ki chudai stories

उनकी ये बात सुनकर और उनकी मुस्कराहट देख कर मुझे थोड़ा जोश आ गया. मैंने मैम को आगे बढ़ कर पकड़ लिया और उनको किस करना शुरू कर दिया.

मैम मुझसे दूर हुए जा रही थीं पर मैं उनको अपने बांहों में थामे उनके बेडरूम में लेकर चला गया. मैंने उनको बिस्तर पर लेटा दिया और उन पर चढ़ कर उन्हें किस करने लगा.

यह देखकर मैम मुझे धक्का देने लगीं और बोलीं- ये सब मुझे नहीं करना. मैं तुम्हारी मैम हूं. तुम मेरे साथ ऐसा नहीं कर सकते.
मैंने उनसे कहा- मैम यह तो एक बड़ी मजे की बात है … इसमें आपको मजा ही आएगा. आपको भी तो किसी मर्द की जरूरत महसूस होती होगी.

मैम मुझसे दूर होने लगीं. वे सफल भी हो गईं और रूम के बाहर निकल गईं. उन्होंने रूम से बाहर निकलते ही बाहर से कुंडी लगा दी. मैम ने मुझको जबरदस्ती रूम में बंद कर लिया था.

मैं सोचने लगा कि अब क्या होगा.

तभी मुझे ख्याल आया कि इस तरह से तो मैम मुझे फंसा ही नहीं सकतीं. उनको यदि अपनी इज्जत का डर होगा, तो वो कुछ ही देर में मुझे बाहर कर देंगी. ज्यादा से ज्यादा मुझ पर चिल्ला लेंगी. मैं अपने घर चला जाऊंगा.

लेकिन तभी एक चमत्कार हुआ.

मैम कमरे में अन्दर आ गई थीं. मैंने देखा कि मैम ने अपनी साड़ी उतार दी थी और एक बड़ी हॉट सी बिना आस्तीन वाली मैक्सी पहन ली थी. मैं अब सजग था और बिस्तर पर बैठा हुआ था.

मैम ने मेरी तरफ देखा और पलट कर दरवाजा बंद कर दिया. ये देखते ही मैं उठा और उनके करीब आ कर खड़ा हो गया.

teacher ki chudai stories

मैम ने मुझसे कहा- अब घोंचू सा क्यों खड़ा है?

ये सुनते ही मैंने उनको बिस्तर पर लेटा दिया और उन्हें किस करने लगा. मुझे उनकी मांसल देह एकदम मक्खन सी लग रही थी. थोड़ी देर बाद मैम भी धीरे-धीरे मस्ती में आने लगीं और मेरा साथ देने लगीं. मुझे अब और मजा आने लगा.

अब मैं धीरे धीरे उनकी चूचियां मसलने लगा और मैक्सी को उतारने लगा. उनके चूचों को दबाने लगा.

तभी उन्होंने कहा- सिर्फ दबाओगे या चूसोगे भी.

मैंने मैम की मैक्सी निकाल दी और उनके मम्मों को चूसने लगा. उनके मम्मे बहुत ही सॉफ्ट थे. बिल्कुल ऐसे, जैसे कोई रुई के गोले हों.

मैंने कोई दस मिनट तक उन्हें खूब मसला चूसा और मैम को गर्म कर दिया. फिर धीरे धीरे मैंने उनकी ब्रा पैंटी भी निकाल खोल दी और मैम पूरी नंगी हो गईं.

उन्होंने भी मेरे कपड़ों को खोल दिया. मैं भी नंगा हो गया.

वे मेरा लंड पकड़ कर हिलाने लगीं. मैंने उनको मुँह में लेने को कहा पर उन्होंने मना कर दिया. वो लंड हिलाने लगीं. लंड को अपने चूचों में लगाने लगीं.

मैंने उनसे लंड चूसने के लिए जिद की तो वो मान गईं और अपने मुँह में लंड लेने लगीं. मैंने उनके मुँह की गर्मी को अपने लंड पर महसूस किया तो मेरी आह निकल गई.

Teacher ki chudai stories

सच में क्या मस्त मजा था.. मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मैं स्वर्ग में विचर रहा होऊं

जिन मैम को मैं चोदने के लिए घूरता था, आज वही मैम मेरा लंड चूस रही थीं. मैं यही सोच सोच कर गर्म हो रहा था.

मैम लंड चूसती चली गईं और मेरा लंड कुछ ही पलों में 7 इंच का लोहा हो गया.

teacher ki chudai stories

उन्होंने मेरे लंड को अपने मुँह से निकाला और नशीली आंखों से मेरी तरफ देखते हुए कहा- चलो … अब तुम्हारी बारी.

मैम ने चित लेट कर अपनी चुत को फैला दिया और मैं उनकी चुत को चूसने लगा. मुझे मैम की चुत से थोड़ा-थोड़ा नमकीन सा स्वाद आ रहा था, पर मजा भी आ रहा था.

teacher-ki-chudai-stories-teacher-ki-chudai-real-sex-story

थोड़ी देर बाद मैम को भी मजा आने लगा और वह आवाजें निकालने लगीं- आंह … हां राजा … हां और जोर से चूसो … मुझे चोद दो … अपनी जीभ से पूरा चाट लो मुझे.

मैं भी चुत चाटता जा रहा था और मैम मेरे सर को अपनी चुत में ठूँसे जा रही थीं. मैं भी चुत चुसाई के मजे ले रहा था.

थोड़ी देर बाद मैम झड़ गईं और उनकी चुत का पूरा पानी मेरे मुँह में गिर गया. मैं मैम की चुत का सारा रस चाटते हुए पी गया.
पूरा रस पीने के बाद भी मैं मैम की चुत को चाटता रहा. इससे कुछ ही देर बाद मैम फिर से गर्म हो उठीं.

अब मैम बोलीं- अब मत तड़पाओ … जल्दी से लंड अन्दर डाल दो.
मैं लंड पकड़ कर चुत पर टिकाया और उनकी टांगों को फैला कर अपने लंड को उनकी चुत पर सैट कर दिया.

मैंने एक बार मैम की आंखों में झांका, तो मुझे अपने लंड के नीचे एक चुदासी औरत नजर आई जो लंड लेने के लिए मरी जा रही थी.

तभी एक छक्का मारा … मेरा मतलब धक्का मारा. मेरे लंड का टोपा उनकी चुत में घुस गया. मैम की चुत काफी टाइट थी. उनको लंड लेने में बड़ा दर्द हुआ और वो चिल्लाने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’

Teacher ki chudai stories

teacher ki chudai stories

मैंने उनके दर्द की चिंता न करते हुए और एक जोर से धक्का दे मारा. इस बार मेरा पूरा लौड़ा चुत के अन्दर घुस गया था. वो बड़ी तेज आवाज में चिल्लाने लगीं. मैं उनकी चीख पुकार को अनदेखा करता हुआ बस धक्का मारता रहा.

कोई बीस धक्के के बाद उन्हें भी मजा आने लगा और वह मेरा साथ देने लगीं.

अब हम दोनों बहुत तेजी से चुदाई करने लगे, जिससे पूरे रूम में चुदाई की मादक आवाजें गूंजने लगीं. मेरा लंड उनकी चुत को फ़ाड़ने में लगा था. मैं उन्हें मजा भी बहुत दे रहा था. वो अपनी चूचियों को मेरे मुँह में देते हुए नीचे से अपनी गांड उठा उठा कर लंड ले रही थीं.

इसी तरह दस मिनट के बाद जब मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूं तो मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उनके मम्मों के ऊपर सारा पानी डाल दिया. मैम भी झड़ चुकी थीं.
झड़ने के बाद मैं उनके ऊपर ही लेट गया.

हम दोनों अपनी गर्मी का मजा लेने लगे. चूमाचाटी होने लगी. इसी बीच थोड़ी ही देर बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया‌.

अब हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए और एक दूसरे का आइटम चाटने लगे. इससे मेरा लंड और मैम की चुत एकदम से तैयार हो गए. मैं चुदाई की पोजीशन में उनके ऊपर चढ़ गया और उनकी चुत में लंड पेल कर मैम को ताबड़तोड़ चोदने लगा.

मैम ने इस बार अपनी दोनों टांगें हवा में उठा दी थी और वो मेरे लंड का मजा लेते हुए अपनी आंखें बंद किये हुए सीत्कार कर रही थीं. मैम के मदमस्त चूचों को दबोचे हुए मैं उनकी चुत में हचक कर झटके दे रहा था. कुछ देर बाद मैम की ‘आंह आंह.. मैं गई..’ निकली और वो शिथिल हो गईं. मैं भी थोड़ी देर बाद बाहर झड़ गया.

teacher ki chudai stories

झड़ने के बाद मैंने उनसे पूछा तो मैम बोलीं- मैं भी दो बार झड़ चुकी थी.
हम दोनों थक चुके थे, पर फिर भी मैं उनकी गांड मारना चाहता था.

कुछ देर के आराम के बाद मैंने अपना लंड उनके मुँह में डाल दिया और लंड चूसने के लिए कहा. मैम भी समझ गईं कि अभी लंड फिर से ड्यूटी करेगा.

मैं लंड कड़क होते ही उनको पोजीशन में लिया और टीचर की गांड मारने लगा. मैम को बहुत दर्द हुआ, फिर भी मैं गांड मारता रहा. आखिर में मैंने पूरा पानी मैम की गांड में ही डाल दिया और हम दोनों मस्ती से सांसें नियंत्रित करने लगे.

फिर दस मिनट बाद मैं मैम से अलग हुआ और तैयार होने लगा. मैम अभी भी बिस्तर पर नंगी पड़ी थीं. मैंने जाते हुए उनको किस किया और उनके दूध मसल कर वहां से चला गया.

मैं दरवाजे पर पहुंचा, तो मैम ने मुझसे कहा- दुबारा भी आना.
मैंने कहा- आप जब बुलाओगी, मैं हाजिर हो जाऊंगा.

मैम ने हंस कर मुझे विदा कर दिया.
इस तरह से मैंने अपनी टीचर की चुदाई की.

teacher ki chudai stories

अब हम दोनों हर शनिवार रविवार को मिलते हैं और यही सब चुदाई का मजा करते हैं. हम दोनों को बहुत मजा आता है.

दोस्तो, आपको मेरी ये टीचर की चुदाई की कहानी कैसी लगी, कमेंट में जरूर बताएं और आगे की सेक्स कहानी के लिए भी मैं कोशिश करूंगा कि आपको लिखूं कि मैंने मैम के अलावा और कौन कौन सी लड़कियों को भी चुदाई का मजा दिया.
धन्यवाद.
[email protected]

Join Telegram Group

Teacher ki chudai stories

Read in English

Teacher ke boobs ko chusa – Teacher ki chudai stories

Teacher ki chudai stories: A Mam came to teach in our college. She looked very sexy girl. All the boys were his fans. But I got a chance to fuck my teacher. how?

Friends, my name is Karan. I have always been reading the sex-filled story from Masthindistory. This is my first sex story, which I am going to share with you all teacher ki chudai stories.

This story is from when I was studying in college. In those days I was only 19 years old. Most of the teachers used to teach in my college. There was no teacher.

Then one day when our physics head was transferred, then a Mam came to teach in our college. Mame’s name was Kajal. She looked very sexy girl. Seeing in front of them, anyone’s cock should be erected. He will be around 25 years of age. She was a kamasin goods.

In the first class, no student used to study physics, but with the arrival of MAM, everyone used to wait for the Physics period only when MAM would come and teach us teacher ki chudai stories.

Whenever Maam used to come to class and she used to write on the blackboard, then we all enjoyed watching her sloppy ass. Everyone used to get rash after seeing this. I used to sit on the bench at the forefront of his class. When Mam used to turn around to write, I used to watch them from behind. When his feet and butts used to move, it seemed that when running, I used to run and hit Mama’s asses and hit her ass.

teacher ki chudai stories
One day there was a fest in the college and everyone came to dress up. All our friends got ready with a big scent and went to college together. On the other hand, I saw that my eyes got torn. Kajal Mam was wearing a black saree. This sari of hers was tied in such a tight way that her boobs were clearly visible.

I kept watching Kajal memes throughout the fest. When the fest was over, everyone started going home. I also started going towards home with my bike. On the way, I saw that Kajal Mam was sitting on her scooty. His car was stopped.

I stopped the car and asked them – what happened ma’am, what are you doing here?
Mam said- My scooty is spoiled. It is not starting and teacher ki chudai stories.

When I checked Mamm’s scooty, I thought that garbage had entered her plug.

I told Mam that this scooty cannot be cured right now, you give it to a garage.
They said- I do not know any garage owner.

I helped the memes, summoned their scooty to a mechanic and handed them over to the garage and thus I allowed them to improve their car teacher ki chudai stories.

After this I left him at his house. When I started leaving them at home, Mam invited me inside the house.
I left.

I saw that no one lived at Mam’s house. I asked him- Is there nobody in your house?
They told me that she used to live alone here. Her housemates lived in the village and she used to live here with rented house.

teacher ki chudai stories
Mam asked me to sit down and went to make tea. I was looking at Maam’s slapping ass. She was still in a sari and seeing her alone like this, laddoos were bursting in my mind in teacher ki chudai stories.

Soon Mam brought tea and we both started talking. I was staring at their butts and lots. I mean, I was looking at the mother’s mother and the raised eunuchs and teacher ki chudai stories.

He saw this thing and started smiling. I too smiled. I felt that after pausing a few moments, I could understand where the matter could go. Lest the shoes should be written in luck but teacher ki chudai stories.

For some time I just kept drinking Mama’s beauty with tea and kept listening to her lovely things. Then she took me to show her bedroom then teacher ki chudai stories.

He said- I keep studying mostly.
I just laughed and appreciated his habit of studying.

Then Mam started asking me about me – you have a girlfriend?
I said no with teacher ki chudai stories.

He said- Then why are your numbers in physics less.
I said – ma’am my mind keeps wandering.
He asked where does your mind wander?
I said – in the phone.
He asked- what do you keep seeing on the phone?
I said – ma’am, you know that nowadays everything is available in the phone itself. So that’s why I lose my focus.

teacher ki chudai stories
Mam asked me my mobile and I gave it to me.
She started seeing something in my mobile. I noticed that she was looking at some of my photos.

Suddenly, Mam went into the history of my browser. She started checking history. I did not delete the history of the last time, so my secret was revealed to teacher ki chudai stories.

I surfed a lot of blue films in it. There were also some downloads.

Mam saw everything in a few moments. I was ready for any rebuke coming down my head and teacher ki chudai stories.

teacher ki chudai stories After a few moments of peace, I raised my head, then Mam was looking at me with different eyes.
I said – ma’am, it was opened by mistake.

At this, Mam woke up and went out of the room. I am afraid that I do not know what is going to happen. Ma’am, don’t know what you are thinking about me, teacher ki chudai stories.

After a moment I also came out of the room. I saw that the memes were standing outside.

They told me – you see all this.
I said – no ma’am, it was opened by mistake.
Mam said to me laugh – leave it all. It is not going to benefit you.

teacher ki chudai stories
Hearing this and seeing his smile made me a little excited. I caught Mam moving and started kissing them.

Ma’am was going away from me, but I took him in his bedroom and held him in my arms. I laid them on the bed and climbed over them and kissed them teacher ki chudai stories.

Seeing this, Mam started pushing me and said – I don’t want to do all this. I’m your mother You can not do this with me.
I told him – ma’am, this is a very interesting thing… you will enjoy it. You too must feel the need of a man.

Mam started getting away from me. She also became successful and exited the room. As soon as he came out of the room, he latched from outside. Mam forcefully locked me in the room but teacher ki chudai stories.

I started thinking what will happen now.

Then I realized that in such a way, ma’am can not trap me. If they are afraid of their honor, then they will throw me out in no time. More and more will yell at me. I will go to my house

But then a miracle happened.

Mam came in the room. I saw that Mam had taken off her sari and wore a big hot sleeveless maxi. I was now alert and sitting on the bed and teacher ki chudai stories.

Mam looked at me and turned and closed the door. On seeing this, I got up and stood close to him.

teacher ki chudai stories
Mam said to me – why is it standing like a snail?

On hearing this, I laid them on the bed and started kissing them. I felt like his fleshy body was like butter. After a while, Mam also slowly started coming in fun and started supporting me. I started enjoying more now I try teacher ki chudai stories.

Now I slowly started munching on her boobs and removing the maxi. He started pressing his cock.

Then he said – will only press or suck you.

I removed Mam’s maxi and started sucking her mums. His mother was very soft. Just as if there were any cotton balls and teacher ki chudai stories.

I sucked them a lot for ten minutes and heated the mam. Then slowly I removed her bra panty too and Mam became completely naked and teacher ki chudai stories.

They also untied my clothes. I also got naked.

She started to shake my cock. I asked to take them in the mouth but they refused. She started moving cocks. Started putting cocks in her cocks.

I insisted on sucking cocks from them and she agreed and started taking cocks in her mouth. I felt the heat of his mouth on my cock, then I sighed.
What fun was really .. I felt like I was wandering in heaven in teacher ki chudai stories.

The mam I used to stare at for fucking, today the same mam was sucking my cock. I was getting hot thinking this way to teacher ki chudai stories.

Mam went on sucking cocks and my cock became a 7 inch iron in a few moments.

teacher ki chudai stories
He took my cock out of his mouth and looking at me with intoxicating eyes, said – Come on… now your turn.

Mam spread her pussy while lying down and I started sucking her pussy. I was feeling a little bit salty with mam’s pussy, but I was also enjoying it to teacher ki chudai stories.

teacher-ki-chudai-stories-teacher-ki-chudai-real-sex-story
After a while Mam began to enjoy it too and she started making sounds – Ah… yes king… yes and suck loudly… give me a fuck… lick me full with your tongue.

I was also licking and ma’am, my head was being licked in my pussy. I was also enjoying Chut Chusai and teacher ki chudai stories.

After a while Mame fell down and all the water of her pussy fell in my mouth. I drank while licking all the juice of mam’s pussy.
Even after drinking all the juice, I kept licking Mam’s pussy. Shortly after this Mam became hot again to teacher ki chudai stories.

Now I said ma’am – now do not torture… quickly put cocks inside.
I grabbed the cocks and rested on the pussy and spread their legs and set my cock on their pussy.

Once I stared into Mam’s eyes, then I saw a chudassi woman under my cock who was dying to take cocks teacher ki chudai stories.

Then hit a six… I mean push. The top of my cock penetrated his pussy. Mam’s pussy was very tight. He had great pain in taking cocks and started shouting ‘Ummh… Ahhh… Hahh… Jah… ’

teacher ki chudai stories
I did not worry about his pain and hit him with a loud push. This time my whole aloda had penetrated inside the pussy. She shouted in a loud voice. I kept pushing, ignoring his scream and teacher ki chudai stories.

After some twenty strikes, she also started enjoying and she started supporting me.

Now we both started fucking very fast, due to which the loud voices of fuck started echoing all over the room. My cock was trying to tear his pussy. I was also giving them a lot of fun. She was taking cocks from below and lifting her ass while giving her Tits in my mouth in teacher ki chudai stories.

Similarly, after ten minutes when I felt that I was going to fall, I took out my cocks and put all the water on their mums. Mam was also dead.
After the loss, I lay down on them to teacher ki chudai stories.

We both started enjoying our summer. Chumachti started happening. Meanwhile, after a while my cock was erect again.

Now both of us came to the 69 position and started licking each other’s items. With this, my cock and mam’s pussy were completely ready. I climbed on top of him in the position of fuck, and started licking Mama by piling cocks in her pussy.

Mam had raised both her legs in the air this time and she was pleasantly enjoying her cocks with her eyes closed. I was giving shock in my pussy by suppressing the madam’s aunts. After some time, Maam’s ‘Aaan Aah .. I went ..’ came out and she became relaxed. I also fell out after a while.

teacher ki chudai stories
After the loss, I asked him, I said ma’am – I had also fallen twice.
Both of us were tired, but still I wanted to kill his ass.

After some rest, I put my cock in his mouth and asked him to suck it. Mam also understood that now Lund will do duty again.

As soon as the cocks were hard, I took them in position and started hitting the teacher’s ass. Mam was in a lot of pain, yet I kept ass. Finally, I put all the water in Mam’s ass and we both started to control our breath with fun.

Then after ten minutes I broke away from mam and started getting ready. Mam was still lying naked on the bed. I kissed them on the go and mashed their milk and went away from there.

When I reached the door, Mam told me to come again.
I said – when you call, I will be present.

Ma’am laughs me off.
In this way I fuck my teacher.

teacher ki chudai stories
Now we both meet every Saturday on Sunday and all of them enjoy sex. We both enjoy it very much.

Friends, how did you like the story of my teacher’s sex, tell me in the comments and for the next sex story, I will try to write to you that which girls, apart from ma’am, also enjoyed sex.

Other hot sex story-

कॉलेज टीचर को घोड़ी बना कर चोदा | teacher ki chudai story – chudai teacher ki

शब़नम की गांड की सील तोड़ी – Hindi Sax Story – Gand ki kahani

3 thoughts on “Teacher ki chudai stories 1 टीचर के मम्मों को चूसा best sex”

Leave a Comment