Follow my blog with BloglovinAntarvasna Bhabhi नवविवाहित भाभी की रसीली चुत चुदाई1 fun sex

Antarvasna Bhabhi नवविवाहित भाभी की रसीली चुत चुदाई1 fun sex

नवविवाहित भाभी की रसीली चुत चुदाई Antarvasna Bhabhi x stories in hindi

Antarvasna Bhabhi x stories in hindi: मेरे बगल वाले घर में एक नवविवाहित जोड़ा आया तो भाभी से मेरी दोस्ती हो गयी. एक दिन मैं उनके घर गया तो उनके चुस्त ब्लाउज से आधी चूचियां दिख रही थीं.

हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम अमित है और मैं राजस्थान के जोधपुर से हूँ. मेरी उम्र 20 साल है, मैं दिखने में अच्छा और गोरा हूँ. मेरी बॉडी भी ठीक-ठाक है.

ये बात तब की है, जब हमारे पास वाले घर में एक नयी नयी फ़ैमिली रहने आयी थी. वो दोनों पति पत्नी थे. उसकी पत्नी बहुत ही गोरी और मस्त फ़िगर वाली थी. उसको देखते तो मेरे लंड से पानी निकलना शुरू हो गया था.

भाभी के पड़ोस में आने के तीन दिन बाद ही मैं एक दिन छत पर गया. मैंने देखा कि भाभी ऊपर छत पर घूम रही थीं. मैं ऊपर जाकर बैठ गया था. उनकी और हमारी छत आपस में मिली हुई थीं. वो भाभी मुझे मेरे पास आयी और उन्होंने मेरा नाम पूछा.

मैंने कहा- मेरा नाम अमित है भाभी जी … और आपका नाम क्या है?
जब मैंने उनका नाम पूछा, तो उन्होंने अपना नाम सलोनी बताया.

मैं उन्हें सलोनी भाभी बुलाने लगा. वो मुझसे काफी देर तक बात करती रहीं. मोहल्ले के पास किधर क्या सामान मिलता है और किधर क्या है, यही सब बातें करके वो मुझसे काफी खुल गई थीं.

कुछ देर बाद वो चली गईं. मेरा छत पर आना सफल हो गया था. मैंने उनकी मदमस्त चूचियों को देखा, तो मैं बौरा गया था. भाभी की चूचियां ही उनके जोवन की शान थीं.

दूसरे दिन मैं उसी समय फिर से छत पर पहुंच गया. कुछ देर बाद भाभी भी आ गईं.

वो फिर से मेरी तरफ मुस्कुराते हुए आ गईं और मेरा नाम लेकर मुझसे बात करने लगीं.

इस तरह धीरे धीरे हमारी बातें शुरू हो गईं. मेरे पूछने पर उन्होंने बताया कि उनके पति एक होटल में मैनेजर की पोस्ट पर हैं. वो झारखंड से हैं, उनकी अभी नयी नयी शादी ही हुई है. इस तरह हमारी रोज़ बातें होने लगीं.

एक दिन उन्होंने मेरे को अपने घर पर बुलाया क्योंकि भाभी को मार्केट से कुछ सामान मंगवाना था. मैं भाभी के घर चला गया. उन्होंने मुझे सामान की लिस्ट के साथ पैसे दे दिए.

मैं थोड़ी देर में वो सामान लेकर घर आ गया. उनके घर का दरवाजा खुला था. मैं सामान रखने जब घर के अन्दर गया, तो मैंने देखा कि भाभी साड़ी में बड़ी हॉट लग रही थीं. वो झुक कर कुछ काम कर रही थीं, जिससे उनका पल्लू गिरा हुआ था और उनके चुस्त ब्लाउज से उनकी आधी से ज्यादा चूचियां मुझे दिख रही थीं.

भाभी की चूचियां देखते ही मेरा लंड कड़क हो गया.

मैंने भाभी को आवाज दी. तो भाभी ने उठ कर मेरी तरफ देख कर मुस्कुराया और कहा- अरे तुम कब आ गए. मैं देख ही नहीं पाई.
मैंने कहा- बस अभी ही आया हूँ भाभी.

मैंने उनको सारा सामान और बाक़ी के पैसे दे दिए और जाने लगा. तभी भाभी ने मुझसे कहा कि अरे बैठो तो.
मैं बैठ गया.

भाभी मेरे लिए पानी लेकर आईं और झुक कर गिलास देने लगीं. जैसे ही भाभी ने मुझे पानी का गिलास दिया, तो उनकी साड़ी का पल्लू फिर से नीचे गिर गया और उनकी ब्रा के अन्दर से उनके मोटे मम्मों की लाइन दिखने लगी. मैं पसीना पसीना हो गया था. मुझे भाभी की चूचियां पागल किये दे रही थीं.

भाभी ने भी मुझे चूचियां ताड़ते हुए देख लिया. फिर थोड़ी देर बाद भाभी ठीक होकर मेरे पास आकर बैठ गईं.
हमारी बातें शुरू हो गईं.

तभी भाभी ने मुझसे पूछा कि तुम्हारी क्लास में तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड तो होगी?
मैंने कहा- अरे नहीं भाभी … मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.
भाभी ने हंसते हुए कहा- मुझसे क्या छिपाना यार … अब बता भी दो.
मैंने कहा- अरे भाभी आपकी क़सम मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

भाभी मेरे लंड की तरफ देखते हुए कहा- अच्छा … दिखते तो मस्त हो … फिर क्यों नहीं है?
मैंने कहा- ऐसी बात नहीं है … वो क्या है कि मुझे आज तक कोई ढंग की लड़की मिली ही नहीं.
भाभी मुस्कुरा दीं और कहने लगीं- अच्छा ढंग की नहीं मिली … वैसे बेढंग की तो कई सारी मिल गई होंगी.
मैं सकपका गया और कुछ बस हकला कर कहने लगा- अ..आप मजाक कर रही हो … मुझे कैसी भी कोई भी लड़की नहीं मिली.
उन्होंने कहा- अरे घबराते क्यों हो … मिल जाएगी … बताओ कैसी लड़की चाहिए.

उनकी बातों से मेरा साहस बढ़ गया था और मैंने भी न जाने किस झौंक में भाभी से कह दिया कि आपके जैसी कोई मिले, तो मन लगे.
भाभी ने अपने पल्लू को जरा इधर उधर करते हुए मम्मों की झलक दिखाई और बोलीं- अच्छा … मैं इतनी अच्छी लगती हूँ तुम्हें?
मैंने भी उनके मम्मों को निहारा और कहा- हां मुझे तो आप जब से आई हो, तभी से ही अच्छी लगती हो … पर आप शादीशुदा हो तो आपसे कैसे कुछ सकता था.

भाभी मेरी बात सुनकर हंसने लगीं.

तभी अचानक से मेरी मम्मी का फोन आ गया और मैं भाभी को बाय बोल कर घर चला आया.

इसके 3-4 दिन तक हमारी कोई बात नहीं हो पायी.

फिर पांचवें दिन भाभी हमारे घर आईं और उन्होंने मेरी मम्मी से कहा- आज मेरे पति 3 दिन के लिए बाहर गए हैं … मैं घर पर अकेली हूँ. हम लोग यहां नए नए आए हैं, तो रात को थोड़ा डर लगता है. अगर आपको कोई दिक्कत नहीं हो, तो क्या आप 3 दिन रात के लिए अमित को सोने को हमारे घर भेज सकती हैं?

उनकी बात सुनने के बाद मम्मी ने कहा- हां हमें कोई परेशानी नहीं है, अमित रात को आपके घर पर आ जाएगा और इसके अलावा भी कोई दूसरी दिक्कत हो, तो बता देना.
भाभी ने मना करते हुए कहा- फिलाहल तो मेरी यही एक समस्या थी, जो आपने हल कर दी है.

तभी भाबी के सामने ही मम्मी ने मुझे बुलाया और कहा कि रात को भाभी के घर पर सोने चले जाना, वो अकेली हैं घर पर.

मैंने सलोनी भाभी को देखते हुए कहा- हां ठीक है मम्मी, मैं चला जाऊंगा.

अब मुझे पक्का यक़ीन था कि मेरे साथ कुछ तो होगा ही. फिर मैं रात को उनके घर चला गया.

जैसे ही मैंने भाभी के घर की घंटी बजायी, तो सलोनी भाभी ने दरवाज़ा खोल दिया. उनको देखते ही मेरे तो होश उड़ गए. भाभी मैक्सी में क्या क़हर ढा रही थीं.
मैं उन्हें ललचाई निगाहों से देखते हुए अन्दर आ गया.

भाभी ने कहा कि तुम मेरे साथ मेरे बेडरूम में ही सो जाना.
मैंने कहा- ठीक है.

मैं उनके बेडरूम में चला गया. हमारी बातें होने लगीं.

तभी बातों ही बातों में मैंने भाभी से कहा- आप दोनों की जोड़ी बहुत अच्छी लगती है … तभी आप दोनों ख़ुश रहते हो.
यह सुनते ही भाभी उदास हो गईं और मेरे पूछने पर वो रोने लगीं.

मैंने जैसे तैसे करके उनको चुप करवाया और रोने का कारण पूछा.
भाभी ने सुबकते हुए बताया- तुम्हारे भैया मुझे ख़ुश नहीं रख पाते हैं.
मैंने ‘खुश नहीं रख पाते हैं..’ का मतलब पूछते हुए उनसे साफ़ शब्दों का इस्तेमाल किया- आपका मतलब वो सेक्स में आपको खुश नहीं रख पाते हैं.
भाभी- हां … वो थोड़ी देर में ही झड़ जाते हैं और दूसरी तरफ मुँह करके सो जाते हैं.

इतना कहते हुए भाभी फिर से रोने लगीं और मेरे कंधे से सर टिकाते हुए अपना दुखड़ा रोने लगीं.

मैंने उनको अपनी बांहों में भर लिया और उन्हें चुप कराने लगा. मेरी बांहों में भाभी के आ जाने से वो मुझसे एकदम से चिपक गई थीं. उनकी चूचियां मुझे मेरी छाती में बड़ा सुख दे रही थीं. मैं उनकी पीठ पर हाथ फेरते हुए उनकी जवानी का सुख ले रहा था.

भाभी भी मुझे कसके चिपक गईं और रोने लगीं. तभी मैंने उनके चेहरे को अपने चेहरे के सामने किया और उनकी आंखों से बहते हुए आंसुओं को पौंछने लगा. भाभी मेरी तरफ बड़ी लालसा से देख रही थीं. उनकी आंसुओं की धार कम होने लगी थी और तभी मैंने अपने होंठों को आगे बढ़ा दिया. भाभी ने मेरी गर्म सांसों को महसूस किया और बस मेरे होंठों की तरफ अपने होंठ कर दिए. मैंने उनके होंठों से अपने होंठ मिला दिए और उनको लिपकिस करना शुरू कर दिया.

वो भी मेरा साथ देने लगीं. वो मुझे ऐसे साथ दे रही थीं, जैसे वो इस सबके लिए पहले से ही तैयार हों.

भाभी से लिप किस करते करते, मैं उनके मम्मों पर भी हाथ फेरने लगा, जिससे वो ज़्यादा गर्म होने लगीं.

मैंने कहा- भाभी आप कितनी हॉट हो.
उन्होंने कहा- मुझे भाभी नहीं, सलोनी ही कहो.
मैंने कहा- ठीक है मेरी जान सलोनी.

भाभी मुस्कुरा दीं और उन्होंने भी मुझे जानू कहना शुरू कर दिया.
हम दोनों लिपट गए और एक दूसरे को प्यार करने लगे.

अब तक मैंने उनकी मैक्सी उतार दी थी. इसी के साथ मैंने भाभी की ब्रा भी उतार फेंकी. उनके मोटे मोटे मम्मों संतरे कबूतरों की तरह आज़ाद हो गए थे. मैंने भाभी के एक मम्मे को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा.

navavivaahit bhaabhee kee raseelee chut chudaee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi
Antarvasna Bhabhi x stories in hindi

तभी सलोनी भाभी मादक सिसकारियां भरने लगीं- आंह आऊं ऊहम … चूसो जी भर भर के चूसो … अब ये तुम्हारे ही संतरे हैं.

मैंने भाभी के मम्मों को चूसते हुए ही अपना एक हाथ उनकी चूत की तरफ़ बढ़ा दिया. मैंने अपना हाथ उनकी पेंटी के अन्दर डाल दिया. मैंने देखा कि उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया था.

मैं भाभी को किस करते करते नीचे आ गया और अपना मुँह उनकी चूत पर लगा दिया. इससे उनकी सिसकारियां और ज़्यादा हो गईं- आह उओह ऊहम आऊं चीर दो … फाड़ दो … मैं कब से प्यासी हूँ … आज तुम मेरी चूत की प्यास बुझा दो.
मैंने कहा- सलोनी बेबी, अब मैं तुझे कभी प्यासी नहीं रहने दूँगा … कभी भी.

मैं भाभी की चूत को चाट रहा था, तभी उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने वो पूरा पानी पी गया.

navavivaahit bhaabhee kee raseelee chut chudaee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi
Antarvasna Bhabhi x stories in hindi

अब मैंने उनको अपना लंड मुँह में लेने को कहा, तो उन्होंने झट से लंड को मुँह में ले लिया और चूसने लगीं.

थोड़ी देर बाद मेरा भी पानी निकल गया और मेरा लंड सिकुड़ गया.

उन्होंने मेरे मुरझाए लंड को एक बार देखा और वापस उसे मुँह में लेना शुरू कर दिया … जिससे लंड फिर खड़ा हो गया.

अब भाभी ने कहा- बेबी अब ना तड़पाओ मुझे … अब चीर दो मेरी चुत को.

मैंने उनके चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगाया और अपना लौड़ा सैट कर ही रहा था. तभी उन्होंने गद्दे के नीचे से एक कंडोम निकाला और मेरे लंड पर पहना दिया.

मैंने पोजीशन सैट की और ज़ोर से एक धक्का लगा दिया.
मेरा लंड भाभी की चुत चीरता हुआ अन्दर तक घुस गया.

navavivaahit bhaabhee kee raseelee chut chudaee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi
Antarvasna Bhabhi x stories in hindi

उनके मुँह से ज़ोर से एक चीख निकल गई- उम्म्ह… अहह… हय… याह…
मैंने अपने होंठ उनके होंठों पर लगा दिए, तो वो चुप हो गईं.

मैं अपने लंड से भाभी को चोदता चला गया. कोई दो मिनट बाद भाभी को भी मजा आने लगा और वो भी मस्ती से अपनी गांड उठा उठा कर लंड अन्दर तक लेने लगीं.

क़रीब 15-20 मिनट चोदने के बाद सलोनी भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया. मगर मैं चुदाई में लगा रहा. उसके कुछ मिनट बाद मैंने भी अपना वीर्य कंडोम में छोड़ दिया और उनके ऊपर ही पड़ा रहा.

उस रात मैंने भाभी को तीन बार चोदा था. उन तीन रातों में भाभी मेरे लंड की महबूबा बन गई थीं. अब तो जब भी मन में आता, हम दोनों चुदाई का मजा कर लेते हैं.

दोस्तो, आपको हमारी ये भाभी सेक्स कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.
[email protected]

navavivaahit bhaabhee kee raseelee chut chudaee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi

Read in English

Navavivaahit bhaabhee kee raseelee chut chudaee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi

Antarvasna Bhabhi x stories in hindi: mere bagal vaale ghar mein ek navavivaahit joda aaya to bhaabhee se meree dostee ho gayee. ek din main unake ghar gaya to unake chust blauj se aadhee choochiyaan dikh rahee theen.

hailo phrends, mera naam amit hai aur main raajasthaan ke jodhapur se hoon. meree umr 20 saal hai, main dikhane mein achchha aur gora hoon. meree bodee bhee theek-thaak hai.

ye baat tab kee hai, jab hamaare paas vaale ghar mein ek nayee nayee faimilee rahane aayee thee. vo donon pati patnee the. usakee patnee bahut hee goree aur mast figar vaalee thee. usako dekhate to mere land se paanee nikalana shuroo ho gaya tha Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee ke pados mein aane ke teen din baad hee main ek din chhat par gaya. mainne dekha ki bhaabhee oopar chhat par ghoom rahee theen. main oopar jaakar baith gaya tha. unakee aur hamaaree chhat aapas mein milee huee theen. vo bhaabhee mujhe mere paas aayee aur unhonne mera naam poochha Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

mainne kaha- mera naam amit hai bhaabhee jee … aur aapaka naam kya hai?
jab mainne unaka naam poochha, to unhonne apana naam salonee bataaya.

main unhen salonee bhaabhee bulaane laga. vo mujhase kaaphee der tak baat karatee raheen. mohalle ke paas kidhar kya saamaan milata hai aur kidhar kya hai, yahee sab baaten karake vo mujhase kaaphee khul gaee theen Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

kuchh der baad vo chalee gaeen. mera chhat par aana saphal ho gaya tha. mainne unakee madamast choochiyon ko dekha, to main baura gaya tha. bhaabhee kee choochiyaan hee unake jovan kee shaan theen.

doosare din main usee samay phir se chhat par pahunch gaya. kuchh der baad bhaabhee bhee aa gaeen Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

vo phir se meree taraph muskuraate hue aa gaeen aur mera naam lekar mujhase baat karane lageen.

is tarah dheere dheere hamaaree baaten shuroo ho gaeen. mere poochhane par unhonne bataaya ki unake pati ek hotal mein mainejar kee post par hain. vo jhaarakhand se hain, unakee abhee nayee nayee shaadee hee huee hai. is tarah hamaaree roz baaten hone lageen.

ek din unhonne mere ko apane ghar par bulaaya kyonki bhaabhee ko maarket se kuchh saamaan mangavaana tha. main bhaabhee ke ghar chala gaya. unhonne mujhe saamaan kee list ke saath paise de die Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

main thodee der mein vo saamaan lekar ghar aa gaya. unake ghar ka daravaaja khula tha. main saamaan rakhane jab ghar ke andar gaya, to mainne dekha ki bhaabhee sari mein badee hot lag rahee theen. vo jhuk kar kuchh kaam kar rahee theen, jisase unaka palloo gira hua tha aur unake chust blauj se unakee aadhee se jyaada choochiyaan mujhe dikh rahee theen Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee kee choochiyaan dekhate hee mera land kadak ho gaya.

mainne bhaabhee ko aavaaj dee. to bhaabhee ne uth kar meree taraph dekh kar muskuraaya aur kaha- are tum kab aa gae. main dekh hee nahin paee.
mainne kaha- bas abhee hee aaya hoon bhaabhee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

mainne unako saara saamaan aur baaqee ke paise de die aur jaane laga. tabhee bhaabhee ne mujhase kaha ki are baitho to.
main baith gaya Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee mere lie paanee lekar aaeen aur jhuk kar gilaas dene lageen. jaise hee bhaabhee ne mujhe paanee ka gilaas diya, to unakee sari ka palloo phir se neeche gir gaya aur unakee bra ke andar se unake mote mammon kee lain dikhane lagee. main paseena paseena ho gaya tha. mujhe bhaabhee kee choochiyaan paagal kiye de rahee theen Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee ne bhee mujhe choochiyaan taadate hue dekh liya. phir thodee der baad bhaabhee theek hokar mere paas aakar baith gaeen.
hamaaree baaten shuroo ho gaeen.

tabhee bhaabhee ne mujhase poochha ki tumhaaree klaas mein tumhaaree koee garlaphrend to hogee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.
mainne kaha- are nahin bhaabhee … meree koee garlaphrend nahin hai.
bhaabhee ne hansate hue kaha- mujhase kya chhipaana yaar … ab bata bhee do.
mainne kaha- are bhaabhee aapakee qasam meree koee garlaphrend nahin hai.

bhaabhee mere land kee taraph dekhate hue kaha- achchha … dikhate to mast ho … phir kyon nahin hai?
mainne kaha- aisee baat nahin hai … vo kya hai ki mujhe aaj tak koee dhang kee ladakee milee hee nahin Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee muskura deen aur kahane lageen- achchha dhang kee nahin milee … vaise bedhang kee to kaee saaree mil gaee hongee.
main sakapaka gaya aur kuchh bas hakala kar kahane laga- a..aap majaak kar rahee ho … mujhe kaisee bhee koee bhee ladakee nahin milee.
unhonne kaha- are ghabaraate kyon ho … mil jaegee … batao kaisee ladakee chaahie Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

unakee baaton se mera saahas badh gaya tha aur mainne bhee na jaane kis jhaunk mein bhaabhee se kah diya ki aapake jaisee koee mile, to man lage.
bhaabhee ne apane palloo ko jara idhar udhar karate hue mammon kee jhalak dikhaee aur boleen- achchha … main itanee achchhee lagatee hoon tumhen?
mainne bhee unake mammon ko nihaara aur kaha- haan mujhe to aap jab se aaee ho, tabhee se hee achchhee lagatee ho … par aap shaadeeshuda ho to aapase kaise kuchh sakata tha Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee meree baat sunakar hansane lageen.

tabhee achaanak se meree mammee ka phon aa gaya aur main bhaabhee ko baay bol kar ghar chala aaya.

isake 3-4 din tak hamaaree koee baat nahin ho paayee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

phir paanchaven din bhaabhee hamaare ghar aaeen aur unhonne meree mammee se kaha- aaj mere pati 3 din ke lie baahar gae hain … main ghar par akelee hoon. ham log yahaan nae nae aae hain, to raat ko thoda dar lagata hai. agar aapako koee dikkat nahin ho, to kya aap 3 din raat ke lie amit ko sone ko hamaare ghar bhej sakatee hain Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

unakee baat sunane ke baad mammee ne kaha- haan hamen koee pareshaanee nahin hai, amit raat ko aapake ghar par aa jaega aur isake alaava bhee koee doosaree dikkat ho, to bata dena.
bhaabhee ne mana karate hue kaha- philaahal to meree yahee ek samasya thee, jo aapane hal kar dee hai Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

tabhee bhaabee ke saamane hee mammee ne mujhe bulaaya aur kaha ki raat ko bhaabhee ke ghar par sone chale jaana, vo akelee hain ghar par.

mainne salonee bhaabhee ko dekhate hue kaha- haan theek hai mammee, main chala jaoonga.

ab mujhe pakka yaqeen tha ki mere saath kuchh to hoga hee. phir main raat ko unake ghar chala gaya Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

jaise hee mainne bhaabhee ke ghar kee ghantee bajaayee, to salonee bhaabhee ne daravaaza khol diya. unako dekhate hee mere to hosh ud gae. bhaabhee maiksee mein kya qahar dha rahee theen.
main unhen lalachaee nigaahon se dekhate hue andar aa gaya Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee ne kaha ki tum mere saath mere bedaroom mein hee so jaana.
mainne kaha- theek hai.

main unake bedaroom mein chala gaya. hamaaree baaten hone lageen.

tabhee baaton hee baaton mein mainne bhaabhee se kaha- aap donon kee jodee bahut achchhee lagatee hai … tabhee aap donon khush rahate ho.
yah sunate hee bhaabhee udaas ho gaeen aur mere poochhane par vo rone lageen Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

mainne jaise taise karake unako chup karavaaya aur rone ka kaaran poochha.
bhaabhee ne subakate hue bataaya- tumhaare bhaiya mujhe khush nahin rakh paate hain.
mainne ‘khush nahin rakh paate hain..’ ka matalab poochhate hue unase saaf shabdon ka istemaal kiya- aapaka matalab vo seks mein aapako khush nahin rakh paate hain Antarvasna Bhabhi x stories in hindi. bhaabhee- haan … vo thodee der mein hee jhad jaate hain aur doosaree taraph munh karake so jaate hain.

itana kahate hue bhaabhee phir se rone lageen aur mere kandhe se sar tikaate hue apana dukhada rone lageen.

mainne unako apanee baanhon mein bhar liya aur unhen chup karaane laga. meree baanhon mein bhaabhee ke aa jaane se vo mujhase ekadam se chipak gaee theen. unakee choochiyaan mujhe meree chhaatee mein bada sukh de rahee theen. main unakee peeth par haath pherate hue unakee javaanee ka sukh le raha tha Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee bhee mujhe kasake chipak gaeen aur rone lageen. tabhee mainne unake chehare ko apane chehare ke saamane kiya aur unakee aankhon se bahate hue aansuon ko paunchhane laga. bhaabhee meree taraph badee laalasa se dekh rahee theen Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

unakee aansuon kee dhaar kam hone lagee thee aur tabhee mainne apane honthon ko aage badha diya. bhaabhee ne meree garm saanson ko mahasoos kiya aur bas mere honthon kee taraph apane honth kar die. mainne unake honthon se apane honth mila die aur unako lipakis karana shuroo kar diya Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

vo bhee mera saath dene lageen. vo mujhe aise saath de rahee theen, jaise vo is sabake lie pahale se hee taiyaar hon.

bhaabhee se lip kis karate karate, main unake mammon par bhee haath pherane laga, jisase vo zyaada garm hone lageen.

mainne kaha- bhaabhee aap kitanee hot ho.
unhonne kaha- mujhe bhaabhee nahin, salonee hee kaho.
mainne kaha- theek hai meree jaan salonee Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

bhaabhee muskura deen aur unhonne bhee mujhe jaanoo kahana shuroo kar diya.
ham donon lipat gae aur ek doosare ko pyaar karane lage.

ab tak mainne unakee maiksee utaar dee thee. isee ke saath mainne bhaabhee kee bra bhee utaar phenkee. unake mote mote mammon santare kabootaron kee tarah aazaad ho gae the. mainne bhaabhee ke ek mamme ko apane munh mein le liya aur choosane laga Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

tabhee salonee bhaabhee maadak sisakaariyaan bharane lageen- aanh aaoon ooham … chooso jee bhar bhar ke chooso … ab ye tumhaare hee santare hain.

mainne bhaabhee ke mammon ko choosate hue hee apana ek haath unakee choot kee taraf badha diya. mainne apana haath unakee pentee ke andar daal diya. mainne dekha ki unakee choot ne paanee chhod diya tha Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

main bhaabhee ko kis karate karate neeche aa gaya aur apana munh unakee choot par laga diya. isase unakee sisakaariyaan aur zyaada ho gaeen- aah uoh ooham aaoon cheer do … phaad do … main kab se pyaasee hoon … aaj tum meree choot kee pyaas bujha do Antarvasna Bhabhi x stories in hindi. mainne kaha- salonee bebee, ab main tujhe kabhee pyaasee nahin rahane doonga … kabhee bhee.

main bhaabhee kee choot ko chaat raha tha, tabhee unakee choot ne paanee chhod diya aur mainne vo poora paanee pee gaya.

ab mainne unako apana land munh mein lene ko kaha, to unhonne jhat se land ko munh mein le liya aur choosane lageen.

thodee der baad mera bhee paanee nikal gaya aur mera land sikud gaya Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

unhonne mere murajhae land ko ek baar dekha aur vaapas use munh mein lena shuroo kar diya … jisase land phir khada ho gaya.

ab bhaabhee ne kaha- bebee ab na tadapao mujhe … ab cheer do meree chut ko.

mainne unake chootadon ke neeche ek takiya lagaaya aur apana lauda sait kar hee raha tha. tabhee unhonne gadde ke neeche se ek kandom nikaala aur mere land par pahana diya Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

mainne pojeeshan sait kee aur zor se ek dhakka laga diya.
mera land bhaabhee kee chut cheerata hua andar tak ghus gaya.

unake munh se zor se ek cheekh nikal gaee- ummh… ahah… hay… yaah…
mainne apane honth unake honthon par laga die, to vo chup ho gaeen Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

main apane land se bhaabhee ko chodata chala gaya. koee do minat baad bhaabhee ko bhee maja aane laga aur vo bhee mastee se apanee gaand utha utha kar land andar tak lene lageen.

qareeb 15-20 minat chodane ke baad salonee bhaabhee kee choot ne paanee chhod diya. magar main chudaee mein laga raha. usake kuchh minat baad mainne bhee apana veery kandom mein chhod diya aur unake oopar hee pada raha Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

us raat mainne bhaabhee ko teen baar choda tha. un teen raaton mein bhaabhee mere land kee mahabooba ban gaee theen. ab to jab bhee man mein aata, ham donon chudaee ka maja kar lete hain Antarvasna Bhabhi x stories in hindi.

dosto, aapako hamaaree ye bhaabhee seks kahaanee par neeche kament karake bhee apanee raay de sakate hain. aur seks vidiyo aur naiw kahaanee padhane ke liye tailaigram grup join kar sakate hai.
[email protected]

Read more Bhabhi Sex Stories-

Desi gand xxx मेरी किराएदार भाभी की गांड चुदाई 1 best story

Bhabhi ki Antarvasna पड़ोसन भाभी के साथ पहली बार सेक्स 1 fun

xxx kahani बारिश की रात मेरी भाभी की चुदाई के साथ 1 best sex

Leave a Comment