Bhabi ki Cudai Hindi Fun बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई 1

Bhabi ki Cudai Hindi बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई

मैं एकदम गोरा और दिखने में क्यूट हूं. लड़कियां मुझे देखती हैं तो देखती ही रहती हैं. मेरी चचेरी भाभी भी मेरे ऊपर मर मिटी और अपनी जवानी मेरे लंड के नाम कर दी.

दोस्तो, मेरा नाम मासूम है. मैं हरियाणा के कैथल शहर में रहता हूं. मैं MastHindiStory का एक नियमित पाठक हूँ और काफी समय से इसकी सेक्स कहानी पढ़ कर अपनी पिपासा शांत करता रहा हूँ. काफी सोचने और संकोच के बाद मैंने सोचा कि मैं भी अपनी कहानी लिखूँ.

ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, जो कि सच्ची कहानी है. पहली कहानी होने के कारण गलती होना स्वाभाविक है, तो प्लीज़ नजरअंदाज कर दीजिएगा.

ये बात उस समय की है, जब मैं बीकॉम के पहले साल का छात्र था. कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूं. मेरा कद साढ़े पांच फिट का है. मेरे लंड का साइज 7 इंच है. मैं अपने परिवार में सबसे छोटा हूँ और सब मुझसे प्यार भी करते हैं. मेरी बॉडी दिखने में ठीक-ठाक है. मैं एकदम गोरा हूँ और दिखने में क्यूट हूं.

अब आप कहोगे कि बंदा अपनी तारीफ खुद कर रहा है, लेकिन ये सच है क्योंकि भाई एक बात आप भी समझते होंगे कि लड़कियां अक्सर लड़कों को देख कर मुँह बिचका देती हैं, पर वे कुछ ही आकर्षक लड़कों की तरफ देखती हैं, मुझे ऐसा सौभाग्य प्राप्त है जो कि मेरा क्यूट होने के कारण है. इसी वजह से ही मैं अपनी भाभी को चोद सका.

अब मैं अपनी कहानी की हीरोइन के बारे में मतलब अपनी भाभी के बारे में बता देता हूं. भाभी का नाम अंजू है, अंजू भाभी देखने में रूप की सुंदरी हैं. उनको देखने के बाद और किसी को देखने का कोई सोच भी नहीं सकता. भाभी की हाईट यही कोई 5 फुट 1 इंच की है. लेकिन उनका फिगर 36-32-36 का है. उनकी शादी को 6 साल हो गए हैं. उनको अभी तक औलाद का सुख नहीं मिल सका है.

अंजू भाभी मेरे ताऊ के लड़के की पत्नी हैं. हालांकि उन दोनों की जोड़ी मिलती नहीं है, क्योंकि मेरा भाई थोड़ा सांवले रंग का है, ज्यादा काला नहीं है, बस थोड़ा ही है. वो पुलिस में है. उसकी ड्यूटी कुरुक्षेत्र में है, जो कि हमारे शहर से 50 किलोमीटर दूर है. वैसे तो भाई का रोज घर आना होता है, लेकिन कई बार वो घर नहीं आ पाते थे.

Bhabi ki Cudai Hindi

एक दिन जब मैं कॉलेज से घर आया, तो घर पर कोई नहीं था सिवाए अंजू भाभी के … सब पड़ोस के घर में कीर्तन में गए थे.

जब मैं घर पहुंचा, तो मैंने भाभी से अपनी माँ और बाकी सभी के बारे में पूछा, तो वो बोलीं कि सब लोग कीर्तन में गए हैं.
मैं चुप रहा.

भाभी मुझसे बोलीं- तुम हाथ धो लो, मैं खाना लगा कर तुम्हारे कमरे में ही ले आती हूँ.

मैं अपने रूम में चला गया. थोड़ी देर बाद अंजू भाभी खाना ले आईं. जब वो थाली मेरे सामने रखने लगीं, तो उनका दुपट्टा नीचे गिर गया … जिससे मुझे उनकी चूचियों के दीदार हो गए. आह क्या गोरे गोरे मम्मे थे उनके … मैं तो देखता ही रह गया. अंजू भाभी ने भी मुझे दूध देखते हुए ताड़ लिया था.

ये देख कर उन्होंने एक प्यारी सी स्माइल दी और प्यार से मेरे सर में थप्पड़ मारकर बोलीं- खाने खा ले … अभी तू छोटा है, ये सब देखने की तेरी उम्र नहीं है.
मैं भी मुस्कुरा दिया.

भाभी गांड मटकाते हुए चली गईं और काम करने लगीं. लेकिन मेरी आंखों में तो भाभी की चूचियों का सीन ही दिख रहा था. इससे पहले मैंने अपनी भाभी के बारे में कभी गलत नहीं सोचा था. लेकिन आज मुझे उनको चोदने का मन कर रहा था.

कुछ देर बाद मैं खाना खाकर बाहर आ गया और भाभी से बातें करने लगा.

भाभी भी अपना काम करके मेरे पास आकर बैठ गईं और मुझसे बातें करने लगीं. मैं अपने फ़ोन में लगा हुआ था.

उसी वक्त भाभी ने मेरा मोबाइल ले लिया और देखने लगीं. भाभी मेरे मोबाइल को देख ही रही थीं कि तभी मेरी गर्लफ्रेंड का फ़ोन आ गया.

भाभी ने फ़ोन उठा लिया, लेकिन उनकी आवाज सुनते ही मेरी फ्रेंड ने फ़ोन काट दिया.

Bhabi ki Cudai Hindi

इस पर भाभी ने पूछा- जनाब ये कौन थी?
भाभी ने मुस्कराते हुए पूछा था, तो मैंने कहा- भाभी ये मेरे साथ पढ़ने वाली फ्रेंड थी.
भाभी ने हम्म कहते हुए सीधे ही मुझसे पूछ लिया- कुछ किया भी है इसके साथ … या यूं ही हाथों से हिलाते हो?

मैं भाभी की बात सुनकर थोड़ा असमंजस में पड़ गया. फिर धीरे से बोला- भाभी मैं समझा नहीं … आप क्या हिलाने की बात कर रही हैं?
भाभी मेरे पास आकर बोलीं- अभी समझा देती हूं. वो मेरी गोद में सर रख कर लेट गईं और मुझे आंख मारने लगीं.

मुझे तो जैसे जन्नत मिल गई हो … और मैंने कुछ बोले बिना ही भाभी को पकड़ कर उनको किस करने लगा. भाभी तो तैयार ही थीं … मेरा साथ देने लगीं.

कोई 20 मिनट तक चूमाचाटी करने के बाद मैंने भाभी से कहा- मैं आपको चोदना चाहता हूँ.
भाभी बोलीं- तो ये सब खेल किस लिए किया था. चुम्मी करने से क्या पूरा मजा आ सकता है … तुमको रोका किसने है. मैं तो खुद तुमसे चुदना चाहती हूँ. आज मेरी प्यास को तू बुझा दे.

बस मैं भाभी के साथ शुरू हो गया और मैंने भाभी को पकड़ कर अपनी और खींच लिया. मैं उनकी कमर से होते हुए अपने हाथों को उनके चूतड़ों पर ले गया और उनको दबाने लगा.

भाभी ने आंखें बंद कर लीं, मैं उन्हें किस भी किए जा रहा था और उनके चूतड़ों को भी दबाता जा रहा था. इसमें मुझे बड़ा मजा आ रहा था.

फिर भाभी ने अपने और मेरे सारे कपड़े उतार दिए और मेरा लंड, जो कि अकड़ गया था, उसको पकड़ लिया और लंड पकड़े हुए वो मुझे अपने रूम में ले गईं.

Bhabi ki Cudai Hindi

कमरे में आते ही मैंने भाभी को बेड पर लिटा दिया और खुद उनकी टांगों को फैला कर उनके ऊपर चढ़ गया. मैं भाभी के ऊपर चुदाई की पोजीशन में लेटा हुआ था और उनको किस कर रहा था. मेरा लंड इस समय उनकी फूली हुई चूत को छू रहा था. मैं भाभी के गालों होंठों को चूस रहा था. उसके बाद मैंने उनके मम्मों को चूसना शुरू किया, तो भाभी मस्त सिसकारियां लेने लगीं. मैं उनके एक चुचे को चूस रहा था और दूसरे को हाथ से दबा रहा था.

Bhabi ki Cudai Hindi बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई badee bhaabhee kee gaand aur choot kee chudaee

तभी भाभी अपने हाथ से मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगीं. मैं भाभी को अभी कुछ देर और तड़पाना चाहता था, लेकिन ये मेरी पहली चुदाई थी … इसलिए मैं अपने आपको रोक ना सका.

मैंने भाभी की टांगों को पूरा फैलाया और अपना लंड उनकी चूत पर सैट करके धक्का दे मारा. मेरे पहले ही धक्के में आधा लंड भाभी की चुत में अन्दर घुसता चला गया.

Bhabi ki Cudai Hindi बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई badee bhaabhee kee gaand aur choot kee chudaee

अंजू भाभी लंड की पहली चोट से ही एकदम से सिसक गईं और थोड़ा सा चिल्लाकर बोलीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई!

मैं भाभी को चूमते हुए बोला- अभी कहां से मर गईं अंजू रानी … अभी तो फीता ही कटा है.
भाभी सिसकारियां लेने लगीं- आह ईईए … तुम्हारा बड़ा मोटा है.

ये सुनकर मैंने एक और झटका दे मारा और इस बार मैंने अपना सारा लंड भाभी की चूत में पेल दिया. भाभी दर्द से चिल्ला उठीं और मुझसे लिपट गईं. मैं उनको किस करते हुए चोदने लगा.

भाभी ने मुझे कसके जकड़ रखा था और वो ‘आ आ ईई ऊऊ..’ की आवाज कर रही थीं. कुछ ही देर में भाभी को मजा आने लगा और वो अपनी टांगें हवा में उठाते हुए लंड का मजा लेने लगीं. भाभी मेरे बालों में हाथ फेरते हुए मुझे जोश दिला रही थीं. वो कभी मेरी गांड पर हाथ फेरने लगतीं.

Bhabi ki Cudai Hindi

लगबग दस मिनट तक धकापेल चोदने के बाद भाभी झड़ गईं और उन्होंने अपना सारा पानी छोड़ दिया. उनकी चूत के गरम पानी से मेरा लंड भी रोने को राजी होने वाला था.

मैंने भाभी से कहा- मेरा निकलने वाला है … किधर करूं?
भाभी गांड उठाते हुए बोलीं- अन्दर ही छोड़ दो.

मैंने बिंदास होते हुए भाभी की चुदाई के आखिरी शॉट देने शुरू कर दिए. लगभग 10-12 झटकों में मैं झड़ गया. मैंने अपना सारा पानी भाभी की चूत पर छोड़ दिया और उनके ऊपर ही लेट गया.

Bhabi ki Cudai Hindi बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई badee bhaabhee kee gaand aur choot kee chudaee

भाभी मुझे किस करने लगीं. वो कभी मेरे बालों को सहलातीं, तो कभी मेरी कमर से होते हुए मेरी गांड पर हाथ फेरतीं. वो मुझे प्यार से चूम रही थीं. भाभी बोलीं- तुम कितने क्यूट हो … प्यार से मांगोगे, तो तुम्हें तो कोई भी अपनी चूत दे देगी.

उनके साथ कुछ देर प्यार करते हुए मैं मस्त रहा. कुछ देर बाद मेरा फिर से खड़ा हो चुका था. भाभी ने लंड को छुआ तो कहने लगीं- इसमें अभी भूख बाकी दिख रही है.
मैंने कहा- हां एक राउंड और करूंगा.
भाभी- आ जाओ, मना किसने किया है. मुझे तो खुद बड़ी आग लगी है.

मैंने भाभी को घोड़ी बनने के लिए कहा, तो वो झट से घोड़ी बन गईं. मैं उनके पीछे जाकर अपना लंड उनकी चूत पर सैट करने लगा. उसके बाद मैंने भाभी के चूतड़ों पर हाथ रखा और एक धक्का मार दिया. मेरा लंड उनकी चूत में फिसलता चला गया. भाभी की हल्की सी आह निकली और वो मस्ती से अपनी गांड हिलाने लगीं.

मैंने धक्के देना शुरू कर दिए. उनके चूतड़ों का आकार बड़ा होने की कारण मेरी जांघों की थाप आवाज करने लगी. पूरे कमरे में हम दोनों की चुदाई की जोर जोर की आवाजें आने लगीं ‘फच … फच!

मैं भाभी के चूतड़ों को मसलने लगा. भाभी आह भरने लगीं. मेरे धक्के मारने से भाभी के बड़े बड़े चूतड़ उछलने लगे थे. भाभी के चूतड़ बहुत ही मुलायम थे, मेरा तो उन पर से हाथ हटाने का मैंने ही नहीं हो रहा था.

Bhabi ki Cudai Hindi

थोड़ी देर की दमदार चुदाई के बाद हम दोनों झड़ गए और इसी पोजीशन में बिस्तर पर मैं भाभी के नंगे बदन के ऊपर लेट गया. मेरा लंड अब भी भाभी की चूत में ही घुसा था. वो पेट के बल लेटी थीं. मैं उनके ऊपर ही पड़ा था.

उसके बाद मैंने भाभी की कमर को किस करना शुरू किया. आधा घंटे के इस चूमाचाटी से मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था. जब मैं भाभी की कमर को किस कर रहा था, तब उनकी गांड के छेद पर मेरा लंड लग रहा था.

मैंने भाभी से खड़ा होने के लिए कहा, तो वो खड़ी हो गईं. मैं भाभी के पीछे से जाकर चिपक गया और उनके मम्मों को मसलने लगा. साथ ही उनकी गर्दन पर किस करने लगा. मेरा लंड भाभी की गांड के छेद में घुसने की फिराक में था.

तभी भाभी ने अपने पैर फैलाए और अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ कर अपने चूतड़ों के छेद पर सैट करके पीछे को ठोल मार दी. मेरा आधा लंड उनकी गांड में चला गया.

Bhabi ki Cudai Hindi बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई badee bhaabhee kee gaand aur choot kee chudaee

मुझे थोड़ा दर्द हुआ, क्योंकि मैंने पहली बार किसी की गांड में लंड घुसेड़ा था.

भाभी की गांड भी थोड़ी टाइट थी. उनकी चूत में लंड पेलने से मुझे कुछ दर्द नहीं हुआ था लेकिन गांड मारने से काफी दर्द हुआ. उसके बाद मैंने एक और धक्का मारा और अपना पूरा लंड अन्दर पेल दिया.

इस बार भाभी को दर्द हुआ क्योंकि मेरा भाई भाभी की गांड कम ही मारता था. ये बात भाभी ने मुझे बाद में बताई थी.

उसके बाद मैंने धक्के देना शुरू किए, तो कमरे में एक बार फिर से मेरी जांघों और भाभी के चूतड़ों के टकराने से ठप ठप की आवाजें आने लगीं. मैं भाभी के चूतड़ों से कई बार में बीच में चिपक कर रुक जाता, तो भाभी मुझे प्यार से सहलाने लगतीं.

Bhabi ki Cudai Hindi

लगभग 30 मिनट तक भाभी की गांड मारने के बाद हम दोनों झड़ गए और मैं लेट गया. हम दोनों पिछले दो घंटे से चुदाई कर रहे थे.
मैंने भाभी से पूछा कि मैंने आपको पूरी तरह खुश कर दिया या नहीं?
उन्होंने मुस्कराते हुए हां बोला और बाहर जाकर सोफे से कपड़े ले आईं.

भाभी ने मुझसे कपड़े पहनने के लिए बोला. मैंने कपड़े पहने.

मैं जाने के लिए तैयार तो था, लेकिन मेरा मन नहीं भरा था, मैंने भाभी से कहा- भाभी एक बाद प्लीज़ मेरा लंड चूस दो.
भाभी मुस्करा दीं और वो फर्श पर घुटने के बल बैठ कर मेरे लंड को फिर से बाहर निकाल कर चूसने लगीं.

उन्होंने मेरे लंड तो काफी देर तक चूसा इस बीच मेरा माल बाहर निकलने को हो गया. मैंने आवाजें करना शुरू की, तो भाभी समझ गईं. भाभी ने तुरंत मेरा लंड मुँह से निकाल कर अपनी चूचियों के बीच में रख कर मेरा माल निकलवाया.

Bhabi ki Cudai Hindi बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई badee bhaabhee kee gaand aur choot kee chudaee

मेरा रस भाभी के मम्मों पर चमक रहा था. भाभी ने हंसते हुए अपने आपको साफ किया और कपड़े ठीक करके सोफे पर बैठ गईं.
मैंने उनकी तरफ देखा, तो उन्होंने मुझे अपनी तरफ खींचा और फिर से मेरे लंड को चूसने लगीं. उनका मन ही शांत ही नहीं हुआ था … मैं समझ गया कि वो बड़ी प्यासी थीं.

Bhabi ki Cudai Hindi बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई badee bhaabhee kee gaand aur choot kee chudaee

भाभी मेरे लंड को तब तक चूसती रहीं, जब तक डोरबेल नहीं बजी. मैंने झट से अपने पेंट की जिप बंद की और सोफे पर बैठ गया. भाभी की कोई फ्रेंड मिलने आई थी. मैं उठ कर बाहर चला गया.

उस दिन से लेकर आज तक में भाभी को 70 बार चोद चुका हूं. मैं भाभी को 10 से 15 मिनट तो हर रोज ही चोदता हूँ. इसके अलावा जब भी भाभी को मौका मिलता है, वो मेरा लंड चूस लेती हैं. मैं जब भी उनको अकेला देखता हूं, तो उनकी गांड पर हाथ फेर देता हूं. वो बदले में मेरे लंड को सहला कर अपना प्यार जता देती हैं.

Bhabi ki Cudai Hindi

हमारी दोस्ती को एक साल से ज्यादा हो गया है. आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.

Bhabi ki Cudai Hindi बड़ी भाभी की गांड और चूत की चुदाई badee bhaabhee kee gaand aur choot kee chudaee

Read in English

Bhabi ki Cudai Hindi: main ekadam gora aur dikhane mein kyoot hoon. ladakiyaan mujhe dekhatee hain to dekhatee hee rahatee hain. meree chacheree bhaabhee bhee mere oopar mar mitee aur apanee javaanee mere land ke naam kar dee.

dosto, mera naam maasoom hai. main hariyaana ke kaithal shahar mein rahata hoon. main masthindistory ka ek niyamit paathak hoon aur kaaphee samay se isakee seks kahaanee padh kar apanee pipaasa shaant karata raha hoon. kaaphee sochane aur sankoch ke baad mainne socha ki main bhee apanee kahaanee likhoon Bhabi ki Cudai Hindi.

ye meree pahalee seks kahaanee hai, jo ki sachchee kahaanee hai. pahalee kahaanee hone ke kaaran galatee hona svaabhaavik hai, to pleez najarandaaj kar deejiega.

ye baat us samay kee hai, jab main beekom ke pahale saal ka chhaatr tha. kahaanee mein aage badhane se pahale main aapako apane baare mein bata deta hoon. mera kad saadhe paanch phit ka hai. mere land ka saij 7 inch hai. main apane parivaar mein sabase chhota hoon aur sab mujhase pyaar bhee karate hain. meree bodee dikhane mein theek-thaak hai. main ekadam gora hoon aur dikhane mein kyoot hoon Bhabi ki Cudai Hindi.

ab aap kahoge ki banda apanee taareeph khud kar raha hai, lekin ye sach hai kyonki bhaee ek baat aap bhee samajhate honge ki ladakiyaan aksar ladakon ko dekh kar munh bichaka detee hain, par ve kuchh hee aakarshak ladakon kee taraph dekhatee hain, mujhe aisa saubhaagy praapt hai jo ki mera kyoot hone ke kaaran hai. isee vajah se hee main apanee bhaabhee ko chod saka Bhabi ki Cudai Hindi.

ab main apanee kahaanee kee heeroin ke baare mein matalab apanee bhaabhee ke baare mein bata deta hoon. bhaabhee ka naam anjoo hai, anjoo bhaabhee dekhane mein roop kee sundaree hain. unako dekhane ke baad aur kisee ko dekhane ka koee soch bhee nahin sakata. bhaabhee kee haeet yahee koee 5 phut 1 inch kee hai. lekin unaka phigar 36-32-36 ka hai. unakee shaadee ko 6 saal ho gae hain. unako abhee tak aulaad ka sukh nahin mil saka hai Bhabi ki Cudai Hindi.

anjoo bhaabhee mere taoo ke ladake kee patnee hain. haalaanki un donon kee jodee milatee nahin hai, kyonki mera bhaee thoda saanvale rang ka hai, jyaada kaala nahin hai, bas thoda hee hai. vo pulis mein hai. usakee dyootee kurukshetr mein hai, jo ki hamaare shahar se 50 kilomeetar door hai. vaise to bhaee ka roj ghar aana hota hai, lekin kaee baar vo ghar nahin aa paate the Bhabi ki Cudai Hindi.

ek din jab main kolej se ghar aaya, to ghar par koee nahin tha sivae anjoo bhaabhee ke … sab pados ke ghar mein keertan mein gae the.

jab main ghar pahuncha, to mainne bhaabhee se apanee maan aur baakee sabhee ke baare mein poochha, to vo boleen ki sab log keertan mein gae hain.
main chup raha Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee mujhase boleen- tum haath dho lo, main khaana laga kar tumhaare kamare mein hee le aatee hoon.

main apane room mein chala gaya. thodee der baad anjoo bhaabhee khaana le aaeen. jab vo thaalee mere saamane rakhane lageen, to unaka dupatta neeche gir gaya … jisase mujhe unakee choochiyon ke deedaar ho gae. aah kya gore gore mamme the unake … main to dekhata hee rah gaya. anjoo bhaabhee ne bhee mujhe doodh dekhate hue taad liya tha Bhabi ki Cudai Hindi.

ye dekh kar unhonne ek pyaaree see smail dee aur pyaar se mere sar mein thappad maarakar boleen- khaane kha le … abhee too chhota hai, ye sab dekhane kee teree umr nahin hai.
main bhee muskura diya Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee gaand matakaate hue chalee gaeen aur kaam karane lageen. lekin meree aankhon mein to bhaabhee kee choochiyon ka seen hee dikh raha tha. isase pahale mainne apanee bhaabhee ke baare mein kabhee galat nahin socha tha. lekin aaj mujhe unako chodane ka man kar raha tha Bhabi ki Cudai Hindi.

kuchh der baad main khaana khaakar baahar aa gaya aur bhaabhee se baaten karane laga.

bhaabhee bhee apana kaam karake mere paas aakar baith gaeen aur mujhase baaten karane lageen. main apane fon mein laga hua tha.

usee vakt bhaabhee ne mera mobail le liya aur dekhane lageen. bhaabhee mere mobail ko dekh hee rahee theen ki tabhee meree garlaphrend ka fon aa gaya Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee ne fon utha liya, lekin unakee aavaaj sunate hee meree phrend ne fon kaat diya.

is par bhaabhee ne poochha- janaab ye kaun thee?
bhaabhee ne muskaraate hue poochha tha, to mainne kaha- bhaabhee ye mere saath padhane vaalee phrend thee Bhabi ki Cudai Hindi.
bhaabhee ne hamm kahate hue seedhe hee mujhase poochh liya- kuchh kiya bhee hai isake saath … ya yoon hee haathon se hilaate ho?

main bhaabhee kee baat sunakar thoda asamanjas mein pad gaya. phir dheere se bola- bhaabhee main samajha nahin … aap kya hilaane kee baat kar rahee hain?
bhaabhee mere paas aakar boleen- abhee samajha detee hoon. vo meree god mein sar rakh kar let gaeen aur mujhe aankh maarane lageen Bhabi ki Cudai Hindi.

cript>

mujhe to jaise jannat mil gaee ho … aur mainne kuchh bole bina hee bhaabhee ko pakad kar unako kis karane laga. bhaabhee to taiyaar hee theen … mera saath dene lageen.

koee 20 minat tak choomaachaatee karane ke baad mainne bhaabhee se kaha- main aapako chodana chaahata hoon.
bhaabhee boleen- to ye sab khel kis lie kiya tha. chummee karane se kya poora maja aa sakata hai … tumako roka kisane hai. main to khud tumase chudana chaahatee hoon. aaj meree pyaas ko too bujha de Bhabi ki Cudai Hindi.

bas main bhaabhee ke saath shuroo ho gaya aur mainne bhaabhee ko pakad kar apanee aur kheench liya. main unakee kamar se hote hue apane haathon ko unake chootadon par le gaya aur unako dabaane laga Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee ne aankhen band kar leen, main unhen kis bhee kie ja raha tha aur unake chootadon ko bhee dabaata ja raha tha. isamen mujhe bada maja aa raha tha.

phir bhaabhee ne apane aur mere saare kapade utaar die aur mera land, jo ki akad gaya tha, usako pakad liya aur land pakade hue vo mujhe apane room mein le gaeen Bhabi ki Cudai Hindi.

kamare mein aate hee mainne bhaabhee ko bed par lita diya aur khud unakee taangon ko phaila kar unake oopar chadh gaya. main bhaabhee ke oopar chudaee kee pojeeshan mein leta hua tha aur unako kis kar raha tha. mera land is samay unakee phoolee huee choot ko chhoo raha tha. main bhaabhee ke gaalon honthon ko choos raha tha. usake baad mainne unake mammon ko choosana shuroo kiya, to bhaabhee mast sisakaariyaan lene lageen. main unake ek chuche ko choos raha tha aur doosare ko haath se daba raha tha Bhabi ki Cudai Hindi.

tabhee bhaabhee apane haath se mera land apanee choot mein lene lageen. main bhaabhee ko abhee kuchh der aur tadapaana chaahata tha, lekin ye meree pahalee chudaee thee … isalie main apane aapako rok na saka.

mainne bhaabhee kee taangon ko poora phailaaya aur apana land unakee choot par sait karake dhakka de maara. mere pahale hee dhakke mein aadha land bhaabhee kee chut mein andar ghusata chala gaya Bhabi ki Cudai Hindi.

anjoo bhaabhee land kee pahalee chot se hee ekadam se sisak gaeen aur thoda sa chillaakar boleen- ummh… ahah… hay… yaah… mar gaee!

main bhaabhee ko choomate hue bola- abhee kahaan se mar gaeen anjoo raanee … abhee to pheeta hee kata hai.
bhaabhee sisakaariyaan lene lageen- aah eeeee … tumhaara bada mota hai Bhabi ki Cudai Hindi.

ye sunakar mainne ek aur jhataka de maara aur is baar mainne apana saara land bhaabhee kee choot mein pel diya. bhaabhee dard se chilla utheen aur mujhase lipat gaeen. main unako kis karate hue chodane laga Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee ne mujhe kasake jakad rakha tha aur vo ‘aa aa eeee oooo..’ kee aavaaj kar rahee theen. kuchh hee der mein bhaabhee ko maja aane laga aur vo apanee taangen hava mein uthaate hue land ka maja lene lageen. bhaabhee mere baalon mein haath pherate hue mujhe josh dila rahee theen. vo kabhee meree gaand par haath pherane lagateen Bhabi ki Cudai Hindi.

lagabag das minat tak dhakaapel chodane ke baad bhaabhee jhad gaeen aur unhonne apana saara paanee chhod diya. unakee choot ke garam paanee se mera land bhee rone ko raajee hone vaala tha Bhabi ki Cudai Hindi.

mainne bhaabhee se kaha- mera nikalane vaala hai … kidhar karoon?
bhaabhee gaand uthaate hue boleen- andar hee chhod do.

mainne bindaas hote hue bhaabhee kee chudaee ke aakhiree shot dene shuroo kar die. lagabhag 10-12 jhatakon mein main jhad gaya. mainne apana saara paanee bhaabhee kee choot par chhod diya aur unake oopar hee let gaya Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee mujhe kis karane lageen. vo kabhee mere baalon ko sahalaateen, to kabhee meree kamar se hote hue meree gaand par haath pherateen. vo mujhe pyaar se choom rahee theen. bhaabhee boleen- tum kitane kyoot ho … pyaar se maangoge, to tumhen to koee bhee apanee choot de degee Bhabi ki Cudai Hindi.

unake saath kuchh der pyaar karate hue main mast raha. kuchh der baad mera phir se khada ho chuka tha. bhaabhee ne land ko chhua to kahane lageen- isamen abhee bhookh baakee dikh rahee hai.
mainne kaha- haan ek raund aur karoonga.
bhaabhee- aa jao, mana kisane kiya hai. mujhe to khud badee aag lagee hai Bhabi ki Cudai Hindi.

mainne bhaabhee ko ghodee banane ke lie kaha, to vo jhat se ghodee ban gaeen. main unake peechhe jaakar apana land unakee choot par sait karane laga. usake baad mainne bhaabhee ke chootadon par haath rakha aur ek dhakka maar diya. mera land unakee choot mein phisalata chala gaya. bhaabhee kee halkee see aah nikalee aur vo mastee se apanee gaand hilaane lageen Bhabi ki Cudai Hindi.

mainne dhakke dena shuroo kar die. unake chootadon ka aakaar bada hone kee kaaran meree jaanghon kee thaap aavaaj karane lagee. poore kamare mein ham donon kee chudaee kee jor jor kee aavaajen aane lageen ‘phach … phach Bhabi ki Cudai Hindi.

main bhaabhee ke chootadon ko masalane laga. bhaabhee aah bharane lageen. mere dhakke maarane se bhaabhee ke bade bade chootad uchhalane lage the. bhaabhee ke chootad bahut hee mulaayam the, mera to un par se haath hataane ka mainne hee nahin ho raha tha Bhabi ki Cudai Hindi.

thodee der kee damadaar chudaee ke baad ham donon jhad gae aur isee pojeeshan mein bistar par main bhaabhee ke nange badan ke oopar let gaya. mera land ab bhee bhaabhee kee choot mein hee ghusa tha. vo pet ke bal letee theen. main unake oopar hee pada tha Bhabi ki Cudai Hindi.

usake baad mainne bhaabhee kee kamar ko kis karana shuroo kiya. aadha ghante ke is choomaachaatee se mera land phir se khada ho gaya tha. jab main bhaabhee kee kamar ko kis kar raha tha, tab unakee gaand ke chhed par mera land lag raha tha Bhabi ki Cudai Hindi.

mainne bhaabhee se khada hone ke lie kaha, to vo khadee ho gaeen. main bhaabhee ke peechhe se jaakar chipak gaya aur unake mammon ko masalane laga. saath hee unakee gardan par kis karane laga. mera land bhaabhee kee gaand ke chhed mein ghusane kee phiraak mein tha Bhabi ki Cudai Hindi.

tabhee bhaabhee ne apane pair phailae aur apane haath se mera land pakad kar apane chootadon ke chhed par sait karake peechhe ko thol maar dee. mera aadha land unakee gaand mein chala gaya.

mujhe thoda dard hua, kyonki mainne pahalee baar kisee kee gaand mein land ghuseda tha Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee kee gaand bhee thodee tait thee. unakee choot mein land pelane se mujhe kuchh dard nahin hua tha lekin gaand maarane se kaaphee dard hua. usake baad mainne ek aur dhakka maara aur apana poora land andar pel diya Bhabi ki Cudai Hindi.

is baar bhaabhee ko dard hua kyonki mera bhaee bhaabhee kee gaand kam hee maarata tha. ye baat bhaabhee ne mujhe baad mein bataee thee.

usake baad mainne dhakke dena shuroo kie, to kamare mein ek baar phir se meree jaanghon aur bhaabhee ke chootadon ke takaraane se thap thap kee aavaajen aane lageen. main bhaabhee ke chootadon se kaee baar mein beech mein chipak kar ruk jaata, to bhaabhee mujhe pyaar se sahalaane lagateen Bhabi ki Cudai Hindi

lagabhag 30 minat tak bhaabhee kee gaand maarane ke baad ham donon jhad gae aur main let gaya. ham donon pichhale do ghante se chudaee kar rahe the.
mainne bhaabhee se poochha ki mainne aapako pooree tarah khush kar diya ya nahin?
unhonne muskaraate hue haan bola aur baahar jaakar sophe se kapade le aaeen Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee ne mujhase kapade pahanane ke lie bola. mainne kapade pahane.

main jaane ke lie taiyaar to tha, lekin mera man nahin bhara tha, mainne bhaabhee se kaha- bhaabhee ek baad pleez mera land choos do.
bhaabhee muskara deen aur vo pharsh par ghutane ke bal baith kar mere land ko phir se baahar nikaal kar choosane lageen Bhabi ki Cudai Hindi.

unhonne mere land to kaaphee der tak choosa is beech mera maal baahar nikalane ko ho gaya. mainne aavaajen karana shuroo kee, to bhaabhee samajh gaeen. bhaabhee ne turant mera land munh se nikaal kar apanee choochiyon ke beech mein rakh kar mera maal nikalavaaya Bhabi ki Cudai Hindi.

mera ras bhaabhee ke mammon par chamak raha tha. bhaabhee ne hansate hue apane aapako saaph kiya aur kapade theek karake sophe par baith gaeen.
mainne unakee taraph dekha, to unhonne mujhe apanee taraph kheencha aur phir se mere land ko choosane lageen. unaka man hee shaant hee nahin hua tha … main samajh gaya ki vo badee pyaasee theen Bhabi ki Cudai Hindi.

bhaabhee mere land ko tab tak choosatee raheen, jab tak dorabel nahin bajee. mainne jhat se apane pent kee jip band kee aur sophe par baith gaya. bhaabhee kee koee phrend milane aaee thee. main uth kar baahar chala gaya Bhabi ki Cudai Hindi.

us din se lekar aaj tak mein bhaabhee ko 70 baar chod chuka hoon. main bhaabhee ko 10 se 15 minat to har roj hee chodata hoon. isake alaava jab bhee bhaabhee ko mauka milata hai, vo mera land choos letee hain. main jab bhee unako akela dekhata hoon, to unakee gaand par haath pher deta hoon. vo badale mein mere land ko sahala kar apana pyaar jata detee hain Bhabi ki Cudai Hindi.

hamaaree dostee ko ek saal se jyaada ho gaya hai. aapako meree yah sachchee seks ghatana kaisee lagee mujhe tailaigram par zaroor bataaye mein aapake chommaint aur maissagai ka intazaar karooga Bhabi ki Cudai Hindi. isake alaava aap kahaanee par neeche kament karake bhee apanee raay de sakate hain. aur seks vidiyo aur naiw kahaanee padhane ke liye tailaigram grup join kar sakate hai.

Read more Bhabhi Dever Sex Stories-

Best Bhabi ki chudayi 1 सेक्सी भाभी की चूत को चाट के की चुदाई

टयूशन पढ़ाने वाले घर की भाभी की चूत मारी 1 fun kamuk stories

New Sex kahani मोटी गांड वाली भाभी की चूत और गांड चुदाई1 fun

Leave a Comment

org/tools/popad.js">