Gay xxx Story in Hindi | रद्दी वाले से गांड मरवाई 100% Real

रद्दी वाले से गांड मरवाई Gay xxx Story in Hindi

Gay xxx story in hindi – gay xxx kahani: दोस्तों मेरा नाम बबलू है और एक बार फिर से MastHindiStory पर अपनी अगली चुदाई की दास्तान के साथ आप सब के सामने हाज़िर हूँ।

दोस्तो, प्रेम अंकल से चुद चुद कर मुझे लौड़े का चस्का लग गया। मुझे गांड मरवाने का नवाबी शौक पड़ गया और मुझे यह नवाबी शौक लगाकर अंकल खुद बंगाल जा बैठे। मैं उनके लौड़े के बिना तड़फने लगा, मचलने लगा। समझ में न आता कि गांड की प्यास किस तरह, किस से बुझवाऊं।

तभी याहू चेटरूम से मुझे कुछ गुर मिले और मैंने उन गुरों का इस्तेमाल करने की सोची।

एक दिन जब सभी घर से चले गए, मैं स्कूल से फूट कर घर वापस आ गया। गर्मी बहुत थी, जब दोपहर हुई, सोचा, कोई सेल्समेन आ जाये या फिर कोई और। तभी रददी वाले की आवाज़ सुन झट से उठा रूम का ए.सी ओन किया और गेट की तरफ गया। मैंने देखा, एक हट्टा कट्टा आदमी था, रंग में भले सांवला था।

मुझे रददी बेचनी है !

हाँ जी ! लाओ !

मैं उसको अपने साथ अन्दर ले गया और उसको स्टोर में से अखबार उठाने को कहा। वो अखबार उठा कर ले गया। सोचा, कैसे शुरुआत करूँ?

वह रद्दी बाहर छोड़ कर वापस आया।

खाली बोतलें भी हैं और कुछ पुरानी किताबें।

Gay xxx story in hindi – gay xxx kahani

किताबें उतारने के लिए मैं उसको अपने कमरे में ले गया। ए.सी की ठंडक से उसका पसीना उड़ने लगा। मैंने उसको अलमारी के ऊपर से किताबें उतारने को कहा, अपने होंठो को चबाते हुए कहा।

वो मुड़ा ही था कि मैंने अपना पजामा उतार दिया। मैं सिर्फ फ्रेंची में था, सिर्फ लौड़ा ढका हुआ था और मेरे गोरे रंग के भरे भरे चूतड़ किसी का खड़ा करने को काफी थे। अपनी टी-शर्ट भी उतार दी। वो स्टूल पर पैर रखने लगा था कि मैं पीछे से उसके साथ लिपट गया। एकदम से ऐसा करने से वो घबरा गया। मैंने हाथ सीधा उसके लौड़े पे डाला और मसलने लगा और उसके पजामे का नाड़ा खोल दिया, उसका पजामा नीचे गिर गया। वो मेरी तरफ मुड़ा और जब उसने मुझे आधा नंगा देखा, वो भी बहकने लगा।

मैंने उसकी तरफ अपनी पीठ करके घोड़ी की तरह झुकते हुए अपने चूतड़ हिलाए, मटकाए। उसने झट से हाथ मेरी गोरी गांड पे रख दिया और फेरने लगा।

मुझे मस्ती आने लगी। मैंने जल्दी उसके कच्छे को नीचे कर उसके मोटे लौड़े को पकड़ लिया। उसका लौड़ा प्रेम से ज्यादा बड़ा था।

अँधा क्या ढूंढे, दो आँखें !

ठंडा कमरा, ऊपर से प्यासी गांड ! सहला कर मैंने उसका खड़ा कर दिया। उसको बिस्तर पे धक्का दिया और उसके लौड़े को मुहं में भर लिया। उस बेचारे ने कभी किसी से चुसवाया नहीं था, उसको मजा सा आया।

उसका काला लौड़ा मेरे गुलाबी होंठों में सुन्दर लग रहा था। मुझे लौड़ा चूसना बहुत पसंद है, एक हाथ से में अपनी गांड के छेद में ऊँगली कर रहा था। जब उसने मुझे देखा वो खुद अपनी ऊँगली मेरी गाण्ड में डालने लगा।

Gay xxx story in hindi – gay xxx kahani

बहुत लम्बा लौड़ा था।

अब मेरी गांड जवाब देने लगी थी कि मानो कह रही हो कि मुझमें लौड़ा डाल दो !

मैंने मुँह से लौड़े को निकाल लिया और कोल्ड क्रीम लगा कर उसके लौड़े को अपनी गाण्ड के छेद पे टिकाते हुए उसको डालने का इशारा कर दिया। उसका लौड़ा मोटा था इसलिए घुस ना पा रहा था। मैंने उसको सीधा लेटने को कहा। उसका लौड़ा अब कुतब मीनार की तरह अकड़ा हुआ था। मैं उसके ऊपर से आते हुए उसके लौड़े को ठीक छेद पर रखते हुए धीरे धीरे उसपर बैठता गया, तकलीफ सहते हुए जड़ तक अन्दर ले लिया और फिर उछल उछल कर चुदने लगा।

Gay xxx story in hindi - gay xxx kahani

वो भी नीचे से कूल्हे उठा उठा के गांड मारने लगा, बोला- आज तक किसी की गांड नहीं मारी थी।

वो मुझे अपने नीचे लिटाते हुए दोनों टांगें खोल कर चोदने लगा।

मेरे आका ! फाड़ डाल ! मेरी भोसड़ी को ले !

बहनचोद ! फाड़ने के लिए तो कर रहा हूँ !

और तेजी से आगे पीछे करने लगा, एकदम से मुझे जकड़ लिया और अपनी पिचकारी मेरी गांड में छोड़ दी, बोला- ओये होए ! साले ! क्या माल है तू ! इतनी आग लड़की में न होगी !

उसने खुद बाहर नहीं निकाला। खुद ही सोते हुए बाहर निकला।

Gay xxx story in hindi – gay xxx kahani

ऐसे ही दोनों चिपके रहे, उसको मेरा जिस्म बहुत पसंद आया।

इस तरह पूरी दोपहर में उसने मुझे दो बार ठोका और चला गया। जाते हुए बोला- मैं दो दिन बाद आता हूँ !

लेकिन अगले दिन जब स्कूल से आया तो मुझे एक और लौड़ा मिल गया।

अगली कहानी में बताऊंगा कि वो कौन था।

Read in English

gay sex story – gay xxx kahani

Gay xxx story in hindi – gay xxx Kahani: Friends, my name is Bablu and I will once again appear in front of you with my next chudai ki dastan on MastHindiStory.

Friends, I loved Chudra with love uncle. I fell in love with the Nawabi of getting ass killed, and Uncle himself went to Bengal, applying this newbie hobby. I started throbbing without his alarms, started to twitch. Do not understand how to quench the thirst of the ass, from whom.

Then I got some tricks from Yahoo Chatroom and I thought of using those tricks.

One day when everyone left home, I came back home from school. It was very hot when it was noon, I thought, some salesmen would come or someone else. At that time, hearing the voice of the Raddi, he immediately got up on the room and went towards the gate. I saw, there was a Hatta Katta man, good in color.

I want to sell the cash!

Yes sir bring !

I took him in with me and asked him to pick up the newspaper from the store. He picked up the newspaper and took it away. Thought how to begin?

He came back leaving the trash.

There are also empty bottles and some old books.

Gay xxx story in hindi – gay xxx kahani
I took him to his room to take off the books. AC’s coolness made him sweat. I asked him to remove the books from the top of the cupboard, chewing his lips.

It was only that I took off my pajamas. I was just at Franchi, only the Aloda was covered, and my white-filled butts were enough to make someone stand up. He also took off his T-shirt. He was putting his foot on the stool that I hugged him from behind. By doing this immediately, he got nervous. I put my hand directly on her alore and started mashing and opened her pajamas, her pajamas fell down. He turned towards me and when he saw me half naked, he also started to drift.

I turned my back to him, bending like a mare, shook my bum and muttered. He quickly put his hand on my white ass and started turning.

I started having fun. I quickly lowered his tail and caught his thick aloe. His Aloda was bigger than love.

What to find blind, two eyes!

Cold room, thirsty ass from above! I made her stand up with a stroke. Pushed him on the bed and filled his Alore in the mouth. That poor guy never kissed anyone, he enjoyed it.

His black Aloda looked beautiful in my pink lips. I love sucking Aloda, was fingering her ass hole with one hand. When he saw me he himself put his finger in my Gand.

Gay xxx story in hindi – gay xxx kahani
It was very long.

Now my ass was beginning to answer that as if you were saying that put aloda in me!

I took out the Alore from the mouth and applied cold cream, pointing her Alore to her Gand hole, putting it on. His Aloda was thick so he could not penetrate. I told him to lie straight. His Aloda was now strung like a Qutab Minar. I sat on it slowly coming from above, keeping her Alore on the right hole, took it to the root while suffering discomfort and then started bouncing.

He also lifted his hips from the bottom and started hitting the ass, said – till date he had not killed anyone’s ass.

He lay me under both his legs and began to fuck me.

My boss! Tear it up Take my meal!

Sisterfucker ! I am to tear!

And started to move back and forth fast, quickly grabbed me and left my atomizer in my ass, said – Oye ho! brother-in-law ! What are you! There will not be so much fire in a girl!

He did not pull himself out. Slept out on his own.

Gay xxx story in hindi – gay xxx kahani
Both of them kept sticking like this, they liked my body very much.

In this way, in the entire afternoon, he punched me twice and went away. He said while leaving – I come after two days!

But the next day when I came from school, I got another Aloda.

In the next story I will tell who he was.

Best Gay Story

प्रवासी मजदूर से गांड मरवाई | gay sax story -gay desi stories – gay boy stories

सिनेमा-हाल में गाण्ड मरवाई – desi gay stories -hot gay stories

Join Telegram Group

Hindi sex story group Gay group in talegram gay group

Leave a Comment