Kamvasna hindi story 1 चचेरी बहन की चुदाई का मजाReal Sex Fun

चचेरी बहन की चुदाई का मजा Kamvasna hindi story

Kamvasna hindi story: मैं अपने चाचा के घर रहने गया था. मेरे चाचा की बड़ी बेटी जवान थी. एक रात हम सब कम्बल में बैठे थे तो मेरा हाथ चचेरी बहन की जांघ पर आ गया. उसके बाद …

दोस्तो, मैं 28 साल का हूँ, यह मेरी पहली कहानी है इसलिए अगर कहानी लिखने में कोई गलती हो तो माफ करें। सबसे पहले तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि यह एक वास्तविक कहानी है.

गोपनीयता के कारण मैंने इसमें कुछ चीजें बदल दी हैं जैसे कि जगह के नाम और पात्रों के नाम. यहां पर रीयल नाम लिखना मैंने सही समझा. इसलिए मैं नाम बदलकर ही लिख रहा हूं.

कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने परिवार के बारे में बता देता हूं. हमारे परिवार में कुल मिलाकर 10 सदस्य हैं. हम लोग पहले सब साथ में ही रहते थे लेकिन उसके बाद चाचा चाची दूसरे मकान में चले गये. फिर भी हम लोगों का आपस में काफी मेलजोल था.

कहानी मेरे चाचा के परिवार से जुड़ी है इसलिए मैं सिर्फ उन्हीं के परिवार का परिचय दूंगा. मेरे चाचा चाची के पास तीन बच्चे हैं. उनमें से सपना सबसे बड़ी बेटी है. उसके बाद उनका एक बेटा अनुज है और सबसे आखिर में एक और छोटी बेटी सोना है.

चाचा की बेटी सपना की आयु 19 साल थी. बाकी दो बच्चे सपना से छोटे ही थे. मैं भी उस वक्त 20 साल का था. उन दिनों मैं घर पर ही रह रहा था. घर पर बोर हो रहा था. इसलिए सोचा कि चाचा के घर चला जाता हूं. वहां अपने भाई बहनों के साथ मेरा अच्छा टाइम पास हो जाता था. मेरे दादा-दादी भी उन्हीं के साथ रह रहे थे.

सर्दियों के दिन थे. मैंने उनके घर जाने का प्लान कर लिया. नयी नयी जवानी थी इसलिए उन दिनों में सेक्स कहानियां भी खूब पढ़ा करता था. कहानियां पढ़ कर लंड खड़ा हो जाता था.

उस दिन जब मैं चाचा के घर पहुंचा तो सभी मुझे देख कर बहुत खुश हो गये. मैं सबसे मिला. चाची भी काफी खुश हो गयी. सपना और उसके दोनों भाई बहन भी खुशी से मिले.

Kamvasna hindi story

फिर रात को खाना खाने के बाद हम सब लोग एक साथ बैठ कर टीवी देख रहे थे. चाचा उस समय तक घर नहीं लौटे थे. वो शायद देर से घर आते थे.

चाचा की बेटी सपना और बाकी दोनों बच्चे भी मेरे साथ थे. हम लोगों ने एक ही कम्बल ओढ़ा हुआ था. हम लोग पीछे बेड पर थे जबकि चाची आगे सोफे पर लेटी हुई थी. दादा दादी दूसरे कमरे में काफी देर पहले ही सो चुके थे.

मेरे बगल में सपना थी और उसके बगल में बाकी दो बच्चे थे. मेरा हाथ अनजाने में सपना की जांघ को छू रहा था. मैंने भी इस बात पर ध्यान नहीं दिया. एक दो बार उसकी जांघ को छूने के बाद मेरा ध्यान इस ओर गया.

वो इस बीच में मेरी तरफ देख चुकी थी. मैंने उसकी तरफ ध्यान नहीं दिया था. जब मैंने ध्यान दिया तो उसके चेहरे के भाव बदल चुके थे. वो थोड़ी नर्वस लग रही थी. अब मेरा ध्यान भी वहीं चला गया. मेरा हाथ उसकी जांघ से टच हो रहा था.

इस कारण से मेरा लंड खड़ा होने लगा. एक दो बार ऐसा होने के बाद उसने मेरे हाथ पर अपना हाथ रख दिया. मैं एकदम से सहम सा गया. मगर मैंने कुछ रिएक्ट नहीं किया.

मैं चुपचाप बैठा रहा. मेरा लंड तो पहले से ही तनाव में आना शुरू हो गया था. मैं भी आराम से उसके हाथ को अपने हाथ पर रखवाये रहा. मुझे अन्दाजा भी नहीं था कि सपना एकदम से ऐसी पहल कर देगी.

उसके बाद मैंने उसके हाथ को नीचे कर लिया और उसके हाथ पर अपना हाथ रख दिया. वो भी मेरा इशारा समझ गयी. सब कम्बल के अंदर ही हो रहा था. किसी को बाहर से देखने पर कुछ पता नहीं चल रहा था कि हम दोनों के बीच में क्या हो रहा है.

Kamvasna hindi story

मैंने उसकी पजामी के ऊपर से ही उसकी पैंटी को छूने की कोशिश की. मेरा हाथ उसकी पैंटी पर जा लगा. उसने अपनी टांगें थोड़ी सी खोल दीं. मैंने उसकी पैंटी को पजामी के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया. मैं भी पूरी उत्तेजना में आ गया था.

चाची का मुंह आगे टीवी की तरफ था. बच्चे भी टीवी में ध्यान से देख रहे थे. मगर हम दोनों मजा ले रहे थे. उसकी चूत की शेप मुझे अपनी उंगलियों पर महसूस हो रही थी. मेरा लंड पूरे जोश में आ चुका था.

फिर उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया और अपनी पजामी के अंदर कर दिया. उसकी पैंटी पर सीधा ही मेरा हाथ जा लगा. उसकी पैंटी हल्की सी गीली हो चुकी थी.

मैं उसकी चूत को ऊपर से ही सहलाने लगा. मुझे गजब का मजा आ रहा था. उसकी चूत को छेड़ते हुए मेरा लंड उछल उछल कर ऊपर उठ रहा था. मेरा भी मन कर रहा था कि वो मेरे लंड को पकड़ ले.

फिर मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया. उसके हाथ को मैंने अपनी कैपरी पर रखवा दिया. मेरा लंड तना हुआ था. मैंने उसके हाथ को अपने लंड पर रखवा दिया.

सपना ने आराम से मेरे लंड पर हाथ रख लिया. मैं तो एकदम से आनंद में गोते लगाने लगा. मन कर रहा था कि उसकी चूत में लंड दे दूं. एक हाथ से मैं उसकी चूत को पैंटी के ऊपर से सहला रहा था. साथ ही वो मेरे लंड को मेरी कैपरी के ऊपर से दबा रही थी.

बहुत मजा आ रहा था उसके साथ यह खेल खेलते हुए. फिर जब मुझसे रहा न गया तो मैंने उसकी पैंटी के अंदर ही हाथ दे दिया. उसकी पैंटी में हाथ दिया तो मेरा हाथ उसकी गीली चूत पर लगा. मैं और जोश में आ गया. मन करने लगा कि उसकी चूत को चाट लूं लेकिन ऐसा अभी नहीं हो सकता था. मेरा लंड जोर जोर से उछलने लगा.

Kamvasna hindi story

मैंने अपनी कैपरी की चेन खोल दी और उसके हाथ को अपनी चेन के अंदर दे दिया. उसने मेरे लंड को पकड़ लिया. मगर मैंने नीचे से अंडरवियर पहना हुआ था. मैंने अपनी गांड को थोड़ा सा ऊपर उकसाया और अपने अंडरवियर को अंदर ही अंदर नीचे कर लिया.

अंडरवियर नीचे आते ही मेरा लंड बाहर आ गया. सपना ने मेरे लंड को पकड़ लिया और मैंने उसकी चूत में उंगली दे दी. मैं उसकी चूत को उंगली से कुरेदने लगा. दोनों की ही हालत खराब होने लगी.

हम दोनों से ही काबू करना मुश्किल हो रहा था. सपना मेरे लंड पर हाथ चलाते हुए धीरे धीरे मेरे लंड की मुठ मारने लगी. मैं उसकी चूत में उंगली करता रहा. उसकी चूत पानी छोड़ रही थी. मेरा लंड भी फटने को हो रहा था.

इससे आगे कुछ करने का वहां पर चांस भी नहीं था क्योंकि परिवार के बाकी लोग भी वहीं पर थे. उस दिन हम लोग ऐसे ही बैठे बैठे मजे लेते रहे. फिर थोडी़ देर के बाद चाचा भी आ गये. चाची उठ कर दरवाजा खोलने गई और हमने अपने आप को व्यवस्थित कर लिया.
उस रात को हम ऐसे ही सो गये.

अगले दिन फिर सुबह उठे. चाची अपने घर के काम में लग गयी. चाचा काम पर चले गये. हम सब भाई बहन खेलने लगे.

थोड़ी देर के बाद चाची अपने पड़ोस में किसी के घर चली गयी. हम चारों घर में ही रह गये. अब सपना और मेरे पास अच्छा मौका था. मगर साथ में बाकी दो भी थे. इसलिए हम खुल कर कुछ नहीं कर सकते थे.

फिर हम लोगों ने छिपम छिपाई खेलने का प्लान किया. सभी तैयार हो गये. सपना और मैं दोनों ही मौके की तलाश में थे. जब खेल शुरू हुआ तो हम दूसरे कमरे में जाकर बैठ गये.

Kamvasna hindi story

सपना छिपने के बहाने मेरी गोद में बैठ गयी. हम खुल कर ज्यादा कुछ कर नहीं सकते थे क्योंकि उसका भाई इतना भी छोटा नहीं था कि उसको कुछ पता ही न चले.

जब मेरी जवान बहन सपना मेरी गोद में बैठी थी तो मेरा लंड खड़ा हो गया. मैंने उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया. इतने में ही उसका भाई हमें ढूंढता हुआ आ गया. इस तरह एक दो बार मैंने सपना की चूची दबाई और उसने मेरे लंड को पकड़ा.

हम दोनों ने एक बार किस भी की. इससे ज्यादा कुछ नहीं हो पा रहा था. हम दोनों ही अब सेक्स के लिए बेसब्री तड़प गये थे. मगर मौका मिलता हुआ नजर नहीं आ रहा था.

ऐसे ही कई दिन निकल गये. मगर हमें ज्यादा कुछ करने का मौका नहीं मिल पाया.

एक रात की बात है कि चाची जल्दी सो गयी थी. हम सारे बच्चे टीवी देख रहे थे. उस दिन चाचा भी देर से आने वाले थे.

अब हम इंतजार कर रहे थे कि बच्चों को नींद कब आये. आधे घंटे के अंदर सभी टीवी देखते हुए सो गये. उनके सोने के बाद हमने धीरे से लाइट बंद कर दी. चूंकि हम सब एक ही बेड पर सो रहे थे.

टीवी अभी चल रहा था. हम लोगों ने टीवी ऑन छोड़ दिया था. अभी तक चाचा भी नहीं आये थे इसलिए जागते रहना भी जरूरी था. कमरे में टीवी की हल्की रोशनी थी. हम दोनों ने कम्बल ओढ़ लिया.

मेरा लंड तो पहले से ही खड़ा हुआ था. मैंने अपने लंड को सपना की जांघ से सटा दिया. वो भी मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी. मैंने उसकी पैंटी में हाथ दे दिया.

Kamvasna hindi story

मैंने धीरे से उसके कान में कहा कि वो अपनी पैंटी उतार ले.
मगर उसने कहा- अभी रिस्क है.
वो धीरे से बोली- तुम उंगली से ही करो, मैं हाथ से तुम्हारा (हस्तमैथुन) कर दूंगी.

फिर उसने मेरे लंड की मुठ मारनी शुरू कर दी. मेरा लौड़ा रॉड की तरह सख्त था. वो लंड पर अपने कोमल हाथ से मेरी मुठ मार रही थी.
मैंने उसकी चूत में उंगली करनी शुरू कर दी. उसको भी अब मजा आने लगा.

उसके बाद जब मुझसे रहा न गया तो मैंने कम्बल पूरा ओढ़ लिया. मैंने अंदर जाकर उसकी पजामी उतार दी. उसकी पैंटी को भी खींच दिया. अब मैं दोबारा से बाहर आ गया.

मैंने अपनी लोअर नीचे कर ली और उसकी चूत की ओर घूम गया. मैंने उसे भी अपनी ओर मुंह करने के लिए कहा. वो मान गयी. उसका भी मन कर रहा था कि लंड लेने के लिए.

अंदर ही अंदर मैंने उसकी चूत पर लंड से टच करना शुरू कर दिया. उसको मजा आने लगा और मैं उसके बदन से लिपटने लगा. बच्चे दूसरी तरफ गहरी नींद में सो रहे थे.

हम दोनों टीवी की आवाज का पूरा फायदा उठा रहे थे. चाची दूसरे कमरे में थी. टीवी वाले कमरे में हमारी रास लीला चल रही थी. मैं उसकी चूत पर लंड को रगड़ता रहा.

अब वो खुद ही अपनी चूत में लंड को लेने के लिए तैयार हो गयी. मैंने अपने 7 इंची लंड को बिल्कुल बाहर कर लिया. उसकी चूत के अंदर घुसाने की कोशिश करने लगा.

मगर अभी लंड सही निशाने पर नहीं लग रहा था. फिर मैंने अंदर जाकर उसकी चूत पर लंड को सेट कर दिया. मैंने उसके चूतड़ों को अपने हाथों से अपनी ओर खींच कर लंड को आगे धकेल दिया.

Kamvasna hindi story

मेरा लंड उसकी चूत में घुस गया. मुझे मजा आने लगा और मैं धीरे धीरे उसकी चूत में लंड को घुसाने लगा. वो भी कसमसाने लगी. मेरा 7 इंची लंड उसकी चूत में अंदर बाहर हो रहा था. उसकी चूत पानी छोड़ कर चिकनी हो रही थी इसलिए लंड गप से चूत में उतर जा रहा था.

चूंकि पहली बार मैंने सपना की चूत में लंड दिया था इसलिए मैं ज्यादा देर खुद को रोक नहीं पाया. 2-3 मिनट के अंदर ही मेरा पानी निकल गया. उसके थोड़ी देर के बाद ही चाचा आ गये. हम दोनों फंसते हुए मुश्किल से बचे.

फिर हमने रिस्क नहीं लिया. मैंने सपना से कहा कि मैं तुम्हें एक तरकीब बताता हूं ताकि हम दोनों स्वतंत्र रूप से मजा ले सकें. बिना किसी डर और बिना किसी जल्दबाजी के. वो भी पूछने लगी.

मैंने उसको पूरा प्लान बता दिया. कुछ दिन के बाद उसके छोटे भाई बहन के स्कूल खुलने वाले थे. हमने तभी सब कुछ करने का प्लान किया.
एक दिन मैंने भी अपने कॉलेज से छुट्टी ले ली. सपना को भी मैंने उसी दिन घर पर रहने के लिए बोल दिया. उसने वैसा ही किया.

सपना ने मुझे पहले ही बता दिया था कि चाची उस दिन डॉक्टर के यहां जाने वाली है. दादा को लेकर चेक अप के लिए जाने वाले थे वो लोग. साथ में दादी भी जा रही थी. यह हम दोनों के लिए अच्छा मौका था.

उस दिन मैं तय वक्त पर चाचा के घर पहुंच गया. मेरा अपना ही घर था इसलिए किसी बाहर वाले का डर नहीं था. उसके बाद हमने दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया.

दरवाजा बंद होते ही हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े. हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे. वो मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं उसके होंठों को चूस रहा था.

Kamvasna hindi story

जल्दी ही हम दोनों के दोनों ही नंगे हो गये थे. मैंने उसकी ब्रा और पैंटी को भी निकाल दिया. उसकी चूचियों को मैं दोनों हाथों में लेकर जोर से पीने लगा. वो सिसकारियां लेने लगी.

Chacha ki Ladki ki chudai ka maja Kamvasna hindi story

उसने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया. मैं भी पूरा नंगा था. वो मेरे लंड को हाथ में लेकर सहला रही थी. मैंने उसे टीवी वाले कमरे में बेड पर गिरा लिया. उसकी चूचियों को चूसते हुए मैं नीचे की ओर बढ़ा. वो जल बिन मछली के जैसे तड़पने लगी.

मैंने उसके पेट को चूमा. उसकी नाभि को चूमा. फिर मैं उसकी चूत तक पहुंच गया. उसकी चूत पर हल्के बाल थे. मैंने उसकी जांघों को फैला कर उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया.

इससे पहले मैंने किसी लड़की की चूत को नहीं चाटा था. पहली बार मुझे चूत के रस का स्वाद मिल रहा था. मैं कई मिनट तक उसकी चूत को चाटता रहा. फिर मैंने उठ कर अपने लंड को उसके मुंह की तरफ कर दिया.

वो मेरा इशारा समझ गयी. उसने मुंह खोल दिया और मैंने उसके मुंह में लंड दे दिया. वो मेरे लंड को मस्ती में चूसने लगी. लंड भी मोटा ताजा था. उसको मेरा लंड काफी पसंद था. काफी देर तक उसने मेरे लंड को चूसा.

Chacha ki Ladki ki chudai ka maja Kamvasna hindi story

फिर मैंने उसको पलट लिया. उसकी गांड चाटने का मन कर रहा था मेरा. वो मना करने लगी. वो कहने लगी कि वो जगह अच्छी नहीं है. फिर भी मैंने उसकी गांड के छेद को चाटना शुरू कर दिया.
वो आह्ह… आह्ह… की आवाज करके अपनी गांड चटवाने लगी.

Kamvasna hindi story

मैंने काफी देर तक उसकी गांड के छेद को चाटा. फिर मैं दोबारा से उसकी चूत में जीभ से चाटने लगा. वो जोर से सिसकारियां लेने लगी.
वो बोली- बस … अब डाल दे यार … और नहीं रुका जा रहा.

सपना की टांगों को पकड़ कर मैंने अपनी तरफ खींच लिया. उसकी चूत पर लंड लगा दिया. उसकी चूत मेरे थूक और उसके कामरस से एकदम चिकनी हो गयी थी.

चाची की लड़की की चूत पर लंड को लगा कर मैं उसकी चूत में लंड को धकेलने लगा. उसकी चूत को खोलता हुआ लंड अंदर जाने लगा और उसकी चीख निकलने लगी.

मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. अभी आधा लंड ही गया था. मैंने फिर से उसकी चूत में लंड को धकेलने की कोशिश की और वो उचक गयी. धीरे धीरे करके मैंने पूरा लंड उसकी टाइट चूत में उतार दिया.

Chacha ki Ladki ki chudai ka maja Kamvasna hindi story

उसकी आंखों में पानी आ गया. मेरे होंठ उसके होंठों से मिले हुए थे. फिर मैंने धीरे धीरे उसकी चूत में लंड को चलाना शुरू किया. वो भी थोड़ी देर के बाद मेरा साथ देने लगी.

अब मेरा लंड उसकी चूत में आराम से जा रहा था. मैंने उसकी चूत को चोदना जारी रखा. कुछ देर तक उसकी चूत को चोदने के बाद वो मस्त हो गयी.

फिर मैंने अपनी चचेरी बहन को घोड़ी बना लिया, पीछे से उसकी चूत मारने का मन कर रहा था.
वो बोली- जल्दी करो, मेरे घर वाले कभी भी आ सकते हैं.
मैंने सट्ट से उसकी चूत में पीछे से लंड धकेल दिया.

उसकी गांड को पकड़ कर मैं उसकी चूत को चोदने लगा. हम दोनों के मुंह से ही कामुक आवाजें आने लगीं.
वो सिसकारने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और जोर से .. चोदो … आह्ह … मजा आ रहा है… फाड़ दो इसे … ऐसे बोलते हुए वो अपनी चूत चुदवाने लगी.

Kamvasna hindi story

सर्दी के मौसम में दोनों जिस्म में पसीना आ गया था. मैंने उसकी चूत को कई मिनट तक चोदा. फिर मैं झड़ने के करीब पहुंच गया. मैंने उसकी चूत से लंड निकाल लिया.

उसको मैंने अपना लंड मुंह में लेने के लिए कहा. वो मेरे लंड को चूसने लगी. मैंने उसके मुंह में दो-चार धक्के लगाये और फिर मैं उसके मुंह में ही झड़ गया.
बाद में पता चला कि वो मेरे से पहले ही झड़ चुकी थी.

इस तरह से हमने उस दिन सेक्स का पूरा मजा लिया. फिर मैं अपने घर वापस आ गया. इस तरह से मैंने चाचा की लड़की की चूत पहली बार मारी थी. मुझे बहुत मजा आया था.

उसके बाद कई बार मैंने उसकी चूत चोदी. किसी को कुछ पता नहीं चला. हम दोनों अब भी चुदाई का मजा लेते रहते हैं. [email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

Chacha ki Ladki ki chudai ka maja Kamvasna hindi story

Read in English

Chacha ki Ladki ki chudai ka maja Kamvasna hindi story

Kamvasna hindi story: I went to stay at my uncle’s house. My uncle’s elder daughter was young. One night when we were all sitting in blankets, my hand fell on the cousin’s thigh. after that …

Friends, I am 28 years old, this is my first story so sorry if there is any mistake in writing the story. First of all, I want to tell you that this is a real story of the Kamvasna Hindi story.

Due to privacy, I have changed some things like place names and characters names. I thought it right to write a real name here. Therefore, I am writing only after changing the name of Kamvasna Hindi story.

Before starting the story let me tell you about my family. There are altogether 10 members in our family. We all used to live together at first, but after that uncle Chachi moved to another house. Nevertheless, we had a lot of interaction among ourselves the Kamvasna Hindi story.

The story is related to my uncle’s family, so I will only introduce his family. My uncle aunt has three children. Sapna is the eldest daughter among them. After that they have a son Anuj and lastly another younger daughter Sona like Kamvasna Hindi story.

Uncle’s daughter Sapna was 19 years old. The remaining two children were younger than Sapna. I was also 20 years old at that time. Those days I was staying at home. Was bored at home So thought I would go to uncle’s house. I used to have a good time with my siblings there. My grandparents were also living with them about Kamvasna Hindi story.

They were days of winter. I planned to go to his house. There was a new youth, so in those days, I used to read a lot of sex stories. Cocks used to be read after reading stories like Kamvasna Hindi story.

That day when I reached uncle’s house, everyone was very happy to see me. I got the most Aunty also became very happy. Sapna and her two siblings also met happily.

Kamvasna hindi story
Then after dinner, we all sat together watching TV. The uncle did not return home till that time. He probably used to come home late.

Uncle’s daughter Sapna and the other two children were also with me. We had muffled the same blanket. We were on the back bed while Aunty was lying on the couch in front. The grandparents had slept in the second room long before the Kamvasna Hindi story.

I had a dream next to me and there were two other children next to it. My hand was inadvertently touching Sapna’s thigh. I also did not pay attention to this. After touching her thigh a couple of times, my attention went to this but Kamvasna Hindi story.

She had seen me in the meantime. I did not pay attention to him. When I paid attention, his facial expressions had changed. She was feeling a bit nervous. Now my attention also went there. My hand was touching her thigh in Kamvasna Hindi story.

For this reason my cock started erecting. After this happened twice, he put his hand on my hand. I was absolutely scared. But I did not react anything but Kamvasna Hindi story.

I sat quietly. My cock had already started getting tense. I also kept her hand on my hand comfortably. I had no idea that Sapna would take such an initiative right away for Kamvasna Hindi story.

After that I took her hand down and put my hand on her hand. He too understood my gesture. Everything was happening inside the blanket. On seeing someone from outside, nothing was known about what was happening between us.

Kamvasna hindi story
I tried to touch her panties from above her pajamas. My hand started going to her panties. He opened his legs slightly. I started caressing her panties from over the pajamis. I too came in complete excitement.

Aunt’s face was facing towards the TV. Children were also watching TV carefully. But we were both having fun. I could feel the shape of her pussy on my fingers. My cock was full of passion on Kamvasna Hindi story.

Then he grabbed my hand and put it inside his pajamis. My hand went straight to her panty. Her panties had become a little wet but Kamvasna Hindi story.

I started caressing her pussy from above. I was enjoying it Teasing her pussy my cock was bouncing up and up. I also felt that he would grab my cock in Kamvasna Hindi story.

Then I held her hand. I put his hand on my capri. My cock was taut. I put his hand on my cock.

Sapna laid her hand on my cock comfortably. I immediately started diving in bliss. Wanted to give cocks to her pussy. With one hand, I was stroking her pussy on top of panties. Also, she was pressing my cock over my Capri fir Kamvasna Hindi story.

It was a lot of fun playing this game with him. Then when I could not keep up, I gave my hand inside her panties. If I put my hand in her panties, then my hand was on her wet pussy. I got excited. Wanted to lick her pussy but it could not happen now. My cock started bouncing loudly.

Kamvasna hindi story
I opened my Capri chain and put her hand inside my chain. He caught my cock. But I was wearing underwear from below. I prodded my ass up a bit and lowered my underwear inside.

My cock came out as soon as my underwear came down. Sapna grabbed my cock and I gave her finger in her pussy. I started to scrape her pussy with finger. Both of them started getting worse in Kamvasna Hindi story.

It was difficult to control both of us. Sapna started running my hand on my cock and started licking my cock. I kept finger in her pussy. Her pussy was leaving water. My cock was also going to burst the Kamvasna Hindi story.

There was not even a chance to do anything further because the rest of the family were also there. That day we continued to enjoy sitting in the same way. Then after some time uncle also came. Aunt got up and went to open the door and we arranged ourselves the Kamvasna Hindi story.
That night we slept like this.

Woke up again the next day in the morning. Aunty got involved in her housework. Uncle went to work. We all started playing siblings.

After a while aunt went to someone’s house in her neighborhood. All four of us stayed in the house. Now Sapna and I had a good chance. But the other two were also together. So we could not do anything openly.

Then we planned to play hide and seek. Everyone is ready. Both Sapna and I were looking for opportunity. When the game started, we sat in another room.

Kamvasna hindi story
I sat in my lap on the pretext of hiding the dream. We could not do much more openly because his brother was not too small to know anything.

When my young sister Sapna was sitting on my lap, my cock stood up. I started pressing her boobs. Just then his brother came looking for us. In this way, I pressed Sapna’s tit twice and she caught my cock on Kamvasna Hindi story.

We both did anything once. Nothing more could be done than this. Both of us were now yearning for sex. But I did not see the opportunity the Kamvasna Hindi story.

Many days passed like this. But we could not get a chance to do much.

It was a matter of one night that aunty fell asleep early. All our children were watching TV. Uncle was also late that day like Kamvasna Hindi story.

Now we were waiting for the children to fall asleep. Within half an hour everyone fell asleep watching TV. After they slept, we slowly turned off the light. Since we were all sleeping on the same bed in Kamvasna Hindi story.

TV was still playing. We left TV on. Till now, uncle had not come, so it was important to stay awake. There was light of TV in the room. We both wore blankets the Kamvasna Hindi story.

My cock was already standing. I attached my cock to Sapna’s thigh Kamvasna Hindi story. She also grabbed my cock and started caressing it. I put my hand in her panties.

Kamvasna hindi story
I gently told him to take off his panties.
But he said – still risk.
She said softly – you do it with your finger, I will make you (masturbate) by hand.

Then he started licking my cock. My Alida was hard like a rod. She was beating my mouth with her soft hand on cocks for Kamvasna Hindi story.
I started fingering her pussy. He too started enjoying it now.

After that, when I could not live, I covered the blanket completely. I went in and took off his pajamas. Pulled her panties too. Now I come out again the Kamvasna Hindi story.

I lowered my lower and turned towards her pussy. I also asked him to face me. She agreed He also felt that to take cocks for Kamvasna Hindi story.

Inside, I started touching her pussy with cocks. He started enjoying it and I started to cling to his body. The children were sleeping deeply on the other side.

Both of us were taking full advantage of the sound of TV. Aunt was in another room. Our Raas Leela was going on in the TV room. I kept rubbing cocks on her pussy the Kamvasna Hindi story.

Now she herself agreed to take cocks in her pussy. I took out my 7-inch cock. Started trying to penetrate her pussy in Kamvasna Hindi story.

But right now the cock was not looking at the right target. Then I went inside and set the cocks on her pussy. I pulled his cocks with my hands and pushed the cocks forward.

Kamvasna hindi story
My cock penetrated her pussy. I started having fun and I slowly started inserting cocks into her pussy. She also started swearing. My 7 inch cock was getting inside her pussy. His pussy was getting smooth leaving water, so he was going to get into the pussy with the gossip the Kamvasna Hindi story.

Since the first time I had given Lund in Sapna’s pussy, I could not resist myself for much longer. Within 2-3 minutes my water ran out. Uncle arrived only after a while. We both barely got stuck the Kamvasna Hindi story.

Then we did not take the risk. I told Sapna that I tell you an idea so that we both can enjoy freely. Without any fear and without any hurry. She also started asking for Kamvasna Hindi story.

I told him the complete plan. A few days later, his younger siblings’ schools were about to open. Then we planned to do everything the Kamvasna Hindi story.
One day I too took leave from my college. I also told Sapna to stay at home the same day. He did exactly the same.

Sapna had already told me that aunt is going to visit the doctor that day. Those people were going to check up on Dada. Grandma was also going along. It was a good chance for both of us like Kamvasna Hindi story.

That day I reached uncle’s house on time. I had my own house so there was no fear of any outsider. After that we locked the door from inside.

The two of us broke into each other as soon as the door closed. We both started kissing each other. She was sucking my lips and I was sucking her lips.

Kamvasna hindi story
Soon both of us were naked. I also removed her bra and panties. I took his cunt in both hands and started drinking loudly. She started taking hers.

hot hindi kahani.
He held my cock in his hand. I was also completely naked. She was stroking my cock in her hand. I dropped it on the bed in the TV room. I moved downwards while sucking her pussy. She started to suffer like a fish without water.

I kissed her belly. Kissed her navel. Then I reached her pussy. She had light hair on her pussy. I spread her thighs and started licking her pussy.

Earlier, I had not licked a girl’s pussy. For the first time I was getting the taste of pussy juice. I licked her pussy for several minutes. Then I got up and turned my cock towards her mouth.

She understood my gesture. He opened his mouth and I gave cocks in his mouth. She started sucking my cock in fun. Lund was also fat fresh. He liked my cock very much. He sucked my cock for a long time.

This image has an empty alt attribute; its file name is Hot-babe-naked-indian-xx.jpg
Then I turned it around. I felt like licking his ass. She started refusing She started saying that that place is not good. Still I started licking her ass hole.
She started licking her ass with the sound of ahh… ahhh….

Kamvasna hindi story
I licked her ass hole for a long time. Then I started licking her tongue with her pussy again. She started taking loud Siskaris.
She said- Just… now put it friend… no more stopping.

I grabbed Sapna’s legs and pulled her towards me. Cocks were put on her pussy. Her pussy was very smooth with my spit and her kamaras.

By putting the cocks on the aunt’s girl’s pussy, I started pushing the cocks in her pussy. Opening her pussy, the cocks started going in and her scream started coming out.

I started sucking her lips. Only half a cock was gone. I again tried to push the cocks in her pussy and she shrugged. Gradually, I removed the whole cock in her tight pussy.

This image has an empty alt attribute; its file name is horny-teen-nice-fuck.jpg
He got water in his eyes. My lips met his lips. Then I slowly started to move cocks in her pussy. She also started supporting me after a while.

Now my cock was going comfortably in her pussy. I continued to fuck her pussy. After fucking her pussy for some time, she became cool.

Then I made my cousin a mare, feeling like killing her pussy from behind.
He said- Hurry, my family members can come anytime.
I pushed the cocks in her pussy from Satt.

Holding her ass, I started fucking her pussy. Sensual voices started coming from both of us.
She started giggling – Ummh… Ahhh… Hahh… Yah… and loudly… Chodo… Ahhh… Enjoying… Tear it… She began to fuck her pussy while speaking like this.

Kamvasna hindi story
During the winter season, both the bodies were sweating. I fuck her pussy for several minutes. Then I got close to loss. I took the cocks out of her pussy.

I asked him to take his cock in the mouth. She started sucking my cock. I put two or four shocks in his mouth and then I fell in his mouth.
Later it was found out that she had fallen before me.

In this way, we enjoyed sex that day. Then I came back to my house. In this way I killed the uncle’s girl’s pussy for the first time. I had a lot of fun.

After that many times I fuck her pussy. No one got to know anything. We both still enjoy sex. [email protected]

Read more Sex Story –

bhai bahan ki xxx story भाई के लंड ने दिया परम सुख 1Real Fun

Antarvasna2 मेरी फुफेरी बहन की चुदाई 1 Best Sex Story

Hindisexstoris मौसेरी दीदी की चूत चुदाई Real Sex 1 Fun Story

Leave a Comment