lesbian story Hindi | दीदी का राज़ | mallu lesbian stories

दीदी का राज़ lesbian story Hindi

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories: आज मैं एक कहानी कहने जा रही हूँ जो बिल्कुल सच्ची है।

मेरा नाम शिखा है, उमर २२ साल, कद लम्बा, करीब ५ फ़ुट ३ इंच, रंग गोरा, बटाला और मैं अंग्रेज़ी से एम ए में पहले साल में हूँ और मेरी बहिन ऋचा उम्र २३ साल कद मुझ से थोड़ा छोटा ५ फ़ुट, मुझ से एक साल बड़ी है और वह मुंबई में कॉल सेण्टर में नौकरी करती है।

आज जो बात लिखने जा रही हूँ मुझ को बताते हुए बड़ी शर्म आ रही है।

बात आज से एक महीने पहले की है।

मेरी बहन एक महीने पहले ऑफिस से छुट्टी लेकर आई हुई थी। जब हम दोनों सो रहे थे तो दीदी के मोबाइल पर रात के करीब १०:३० बजे एक मिस्ड कॉल आई। तब दीदी ने कॉल देखी और उसी नंबर पर कॉल कर के बात करने लगी कि अभी तो मुझ को मासिक-धर्म ठीक से हुआ है अगर जरुरत पड़ी तो गोली ले लूँगी।

मैने पूछा- क्या बात है दीदी ऐसी बातें आप किस से कर रही हो?

दीदी- कुछ नहीं ! तू सो आराम से !

बस इतनी बात कर मैं भी सो गई।

अगले दिन हमारा चाचे का बेटा, नाम रोहन, उम्र २७ साल, कद ५ फुट ७ इंच, रंग सांवला अपनी नौकरी के सिलसिले में आया हुआ था। वह अब एक अच्छा डॉक्टर बन चुका था और एक सरकारी नौकरी पाने के लिए इंटरव्यू देने आया था। वह हम सबसे मिलने सुबह करीब ११ बजे आया।

नमस्ते ताया जी ! नमस्ते ताई जी ! क्या हाल है ? रोहन ने मम्मी पापा को बड़े जोश से पूछा।

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories

बिलकुल ठीक है पुत्तर – दोनों ने कहा।

शिखा और ऋचा कहाँ पर हैं ?

मेरी मम्मी ने कहा- बेटा, अपने कमरे में होंगी, जा के देख ले, अच्छा बाकी सब बता, सब ठीक है? तेरी इंटरव्यू कैसी हुई? मैन्नू तेरी माँ दा फ़ोन आया सी, ताँ तो पता चला कि तू आ रहा है।

ओह ! ओह ! इतने सारे सवाल ! पहले शिखा और ऋचा से तो मिल लूं !

यह कहता हुआ रोहन हमारे कमरे में बिना दरवाज़ा खटकाए घुस आया।

मैं आगे खड़ी थी और वह एकदम से गले लग गया और जोर से उसने मेरे बूब्स को अपनी छाती साथ लगाया। एकदम से मेरे बदन में करंट दौड़ गया, मैंने एकदम से उसको अपने से पीछे हटाया- क्या कर रहे हो रोहन ?

ओह ! सॉरी मैं भूल गया था कि तुम जवान हो गई हो !

फिर वह दीदी के पास जाने लगा तो दीदी ने आगे बढ़ कर कर उस के गालों पर चूम लिया।

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories

दीदी बोली- अब ठीक है !

रोहन बोला- मजा आ गया !

इतनी देर मैं मम्मी रोहन के लिए दूध ले कर आ गई।

रोहन बोला- क्या ताई ! यह उम्र क्या दूध पीने की है ? सेब खिलाओ, सेब !

सेब इन दिनों मैं कहाँ से लाऊँ ? मार्केट में बस केले ही मिल रहे हैं – मम्मी बोली रोहन से।

क्या ताई घर में ६ सेब मौजूद हों तो बाहर से खाने की क्या पड़ी है ? – रोहन बोला।

क्या मतलब ? मम्मी ने रोहन से बड़ी हैरानी से पूछा।

ताई दो सेब तो ताया जी चूसते हैं ! दो सेब आपने मुंबई भेज दिये और दो सेब यहाँ पर हैं वोह मुझ को दे दो !- रोहन

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories

मम्मी से बोला।

मुझ को तेरा मतलब समझ नहीं आया ? मम्मी ने रोहन को पूछा।

क्या ताई आप भी बड़ी भोली बनती हो?- रोहन आगे बढ़ा और मम्मी के ब्लाऊज़ के अन्दर देखने लगा।

क्योंकि मम्मी ने गहरे गले वाला ब्लाऊज़ पहन रखा था और जिसके अन्दर से मम्मी की ब्रा साफ़ साफ़ दिख रही थी और मम्मी के बूब्स आधे नंगे थे, क्योंकि हमारे घर में कोई लड़का नहीं था तो मम्मी ने भी कभी ऐसा ब्लाऊज़ न पहनने का न सोचा।

तभी मम्मी ने एकदम से ब्लाऊज़ को अपनी साड़ी के पल्लू से ढाका- चल हट ! शरारती कहीं का ! मम्मी ने थोड़ा हंस के और थोड़ा शरमा कर उसको पीछे किया।

तब सारे हँस दिए और बात को ख़त्म कर दिया गया। मगर सच बात यह थी कि उस वक़्त मुझ को रोहन की बात समझ नहीं आई थी, बाकियों को हँसता हुआ देख मैं भी हँस दी, मगर मेरे मन में बात चलती रही कि बात क्या हुई।

इस तरह से एक हफ्ता बीत गया।

फिर उसी तरह से दीदी को रात को करीब १०:३० बजे कॉल आई।

अब ठीक है ! परेशानी की कोई बात नहीं – दीदी ने कहा और फ़ोन काट दिया।

मैंने फिर दीदी से पूछा- क्या बात है?

मगर दीदी ने फिर वही जवाब दिया कि तुम सो जाओ !

मगर मैं सोती कैसे ! मेरे मन में बेचैनी थी कि पता नहीं बात क्या है !

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories

सो मैने भी ठान ली कि आज बात जान कर ही रहूंगी ! मेरे सोचते सोचते २० मिनट निकल गए।

तब मैंने देखा कि दीदी उठी, तब शायद रात के १२:१५ बजे ही थे, कमरे में अँधेरा था, अंधेरे में ही दीदी ने मुझको टटोला कि क्या मैं अच्छी तरह से सो गई हूँ। मगर मैं सोई नहीं थी, मैने तो सिर्फ अपनी आँखें बंद कर रखी थी।

मैंने ध्यान से देखा की दीदी ने तब अपनी नाईटी उतार दी और फिर अपनी ब्रा और पैंटी भी उतार दी। अब वह पूरी तरह से नंगी थी और फिर उसने हमारे कमरे को अन्दर से लॉक कर दिया, फिर वह हमारे बेड पर आ गई, फिर उसने अपना मोबाइल उठाया और कुछ देखने लग गई।

मोबाइल की रोशनी से दिख रहा था कि दीदी पूरी तरह से नंगी हुई हुई थी, यह देख मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मगर उठती कैसे, क्योंकि मैंने दीदी को इस अवस्था में पहली बार देखा था। दीदी ने अपना मुँह मेरे से उल्टी तरफ किया और अब दीदी की नंगी पीठ मेरी तरफ थी। मेरे मन में उत्तेज़ना थी कि क्या हो रहा है !

तब मैने बड़ी मुश्किल से हिम्मत जुटाई और देखा कि मोबाइल में क्या चल रहा है !

वह देख मैं तो दंग रह गई- मोबाइल में लड़कों और लड़कियों की नंगी तस्वीरें थी। तब दीदी की नज़र मुझ पर पड़ी और एकदम से घबरा गई। फिर हम दोनों में १ मिनट की चुप्पी छाई रही और फिर दीदी एकदम से मेरे ऊपर चढ़ गई और मेरे नाईट-गाऊन के सारे बटन खोल दिए। दीदी जानती थी कि मैं रात को ब्रा और पैंटी नहीं पहनती क्योंकि मुझ को रात को इससे बड़ा आराम मिलता है।

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories

अब मैं और मेरी दीदी पूरी तरह से नंगे थे और दीदी मेरे ऊपर थी। मुझे बहुत अजीब सा और अच्छा भी लग रहा था।

फिर दीदी ने मेरे बाएँ स्तन को चूसना शुरू किया।

ओह ! मैंने कहा- दीदी यह क्या कर रही हो?

क्यों मजा नहीं आ रहा ? दीदी ने मुझ से पूछा।

अब मैं उसको ना , ना कह सकी ! असल में मजा तो आ रहा था। मैं चुप रही।

फिर क्या था, उसने अपने होंट मेरे होंटों पर रख दिए और चूसने लगी।

बहुत मजा आ रहा था। दीदी ने फिर मेरे बूब्स को चाटा, फिर उनको चूसा !

फिर मेरे पेट को अपनी जीभ से साफ़ किया, फिर वह नीचे बढ़ी और मेरी घुटनों से पकड़ कर मेरी टाँगें खोल दी।

lesbian-hindi-sex-story-xnxx-kahani-xxx-ki-kahani lesbian story Hindi - mallu lesbian stories

यह क्या ? बड़े बाल हैं साफ़ नहीं करती क्या ? उफ़ ! – दीदी ने कहा।

“सारा मजा खराब कर दिया !” फिर से कहा दीदी ने !

फिर दीदी रुकी और मेरे साइड पर बैठ गई और बोली, ” यार तेरे सेब बहुत मीठे हैं, तुझको मेरे कैसे लगे ?

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories

मैंने उसको बड़ी हरानी से देखा,” अरे ! तेरे बूब्स तेरे सेब हैं ! रोहन इन सेबों की बात कर रहा था ! अरे यार, मम्मी के सेब रोज पापा चूसते हैं। इस उम्र में तुझको पता होना चाहिये। इस लिए तो रोज उन को कमरा बंद होता है। और तू फ़ोन कॉल की बात पूछ रही थी तो सुन मेरे से एक गलती हो गई, मैं भी अपने सेब चुसवा चुकी हूँ !”

यह कह कर उस ने मेरी तरफ देखा- हां, मैं जानती हूँ कि तुझ को यह बात सुन कर अजीब लग रहा होगा, मगर मैं सच कहूं तो मैं यह करना नहीं चाहती थी, बस हो गया ! दीदी ने कहा।

मगर हुआ कैसे ? मैने पूछा।

“मेरे ऑफिस में एक मेरा दोस्त है सुमित, मुझ को काफी अच्छा लगता है, फिर हम दोनों में दोस्ती हो गई।

फिर इक दिन १४ फरवरी को उसने मुझ को काफ़ी पीने के लिए आमंत्रित किया। हम एक रेस्तरां में चले गए। वहाँ पर जा के देखा कि वह अपना पर्स घर पर भूल आया है। मैने पैसे देने के लिए कहा, मगर वह माना नहीं इसलिए वह मुझ को पर्स लाने के बहाने से अपनी घर ले गया।

मगर जब घर के अन्दर गई तो पता लगा कि वह अकेला है। यह देख मुझको घबराहट हुई, उसने कहा कि घबराओ मत ! यह कह कर वह मुझको अपने कमरे में ले गया और कहा कि वह मेरे लिए पीने के लिए पानी लाता है। वह बाहर गया तब मैं कमरे में अकेली थी।

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories

मैंने देखा कि उसके बेड पर नंगी तस्वीरों वाली मैगजीन थी। अभी मैं उसको देख ही रही थी कि वह पीछे से आ गया !” दीदी ने कहा।

फिर क्या हुआ ? मैंने दीदी से पूछा।

फिर क्या ? फिर उसने मुँह से सीधा-सीधा पूछ लिया,”क्या तुम मेरे साथ सेक्स करोगी? मैं वायदा करता हूँ कि यह बात मैं किसी से नहीं कहूंगा और तुमसे ही शादी करूंगा।”- दीदी ने कहा।

फिर ? उस के बाद क्या हुआ दीदी ?- मैंने पूछा।

सच कहूं तो उस वक्त तो मैं पूरी तरह से गरम थी और मैं उसके साथ सेक्स करना चाहती थी। मैंने उसको कुछ ना कहा मगर वह मेरे मन की बात समझ गया। तब मैंने उसके साथ सेक्स किया… वाह ! …… कितना मज़ा था उसमें ! … क्या आग थी !”

“अब मुझको यह तो नहीं पता कि वही तेरा जीजू बनता है या नहीं ! लेकिन मुझसे गलती तो हुई है !” दीदी ने कहा।

चल छोड़ उसको हम अपना मजा करते हैं – फिर से दीदी ने कहा।

फिर वह उठी, मेरे ऊपर पहले चद्दर दी और मुझ को इन्तज़ार करने के लिए कहा। फिर दीदी ने मेरा नाईट गाऊन पहना और फ़्रिज से बर्फ ले आई और कमरा बंद कर फिर से पूरी नंगी हो गई और मेरी चद्दर भी उतार दी।

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories

अब हम दोनों फिर से नंगे थे !

फिर दीदी ने मेरी टाँगें खोली और मेरे चूत पर बर्फ मली।

उफ़ ! मैंने कहा।

क्या हुआ ? दीदी ने पूछा।

कुछ नहीं ! अच्छा लगा ! मैंने कहा और मैं हंस पड़ी।

मेरी बहन जवान हो गई है ! अगर मन करे तो अपनी सेब रोहन से चुसवा लियो ! अच्छा लड़का है ! दीदी ने कहा।

फिर हमने काफ़ी मस्ती की और कपड़े पहन कर सो गए।

मैं आज भी उस दिन को नहीं भूल पाई जिस दिन दीदी ने मुझ को अपना राज बताया और मुझ को भी बड़ा मजा दिया।

मैं यह मजा फिर से लेना चाहती हूँ।

आजकल रोहन बहुत याद आता है।

आप ही बताओ कि उस साथ करुँ या नहीं !

और जो मजा मैंने दीदी साथ लिया किसके साथ लूँ ?

आपको यह कहानी केसी लगी मुझे telegram में जरूर बताये

Read In English

Sister sex story mallu lesbian stories

lesbian story Hindi – mallu lesbian stories: Today I am going to tell a story which is absolutely true.

My name is Shikha, Omar 22 years, tall, about 5 feet 3 inches, color blonde, Batala and I am in English from MA in my first year and my sister Richa age 23 years is 5 feet younger than me, than me She is a year old and works at a call center in Mumbai.

Today I am feeling ashamed to tell what I am going to write.

It was a month before today.

My sister was away from office a month ago. While both of us were sleeping, a missed call came on Didi’s mobile at around 10:30 pm. Then Didi saw the call and started calling the same number and said that I have had my menstrual period right now, I will take the pill if needed.

I asked- What is the matter, sister, to whom are you talking?

Sister- Nothing! You sleep comfortably!

I too fell asleep just talking.

The next day our Chache’s son, Naam Rohan, age 24 years, 5 feet 4 inches, Rang Samwala came in connection with his job. He had now become a good doctor and came to interview for a government job. He came to meet us at around 11 in the morning.

Hello Taaya Ji! Hello Tai Ji! How are you ? Rohan asked Mummy Papa with great enthusiasm.

lesbian story hindi – mallu lesbian stories

All right, son – both said.

Where is Shikha and Richa?

My mother said- son, be in your room, go and see, okay tell everyone else, is everything okay? How was your interview? Mannu your mother da phone call, I came to know that you are coming.

Oh, is that so ! Oh, is that so ! So many questions! First I should meet Shikha and Richa!

Saying this, Rohan entered our room without knocking on the door.

I stood in front of him and he hugged me and he pressed my boobs with his chest. Immediately the current ran in my body, I immediately overtook him – what are you doing Rohan?

Oh, is that so ! Sorry I forgot that you are young!

Then when he started going to the sister, Didi went ahead and kissed his cheeks.

lesbian story hindi – mallu lesbian stories

Sister bid – now it’s fine!

Rohan said – Enjoyed it!

For so long I brought milk for mother Rohan.

Rohan said – What Tai! What age is it to drink milk? Feed the apple, apple!

Where do I get apples these days? Only bananas are available in the market – Mummy Boli from Rohan.

If there are 4 apples present in the Tai house, what is there to eat from outside? – Rohan said.

what do you mean ? Mummy asked Rohan with great surprise.

Tai two apples suck Taiya Ji! You sent two apples to Mumbai and two apples are here, give them to me! – Rohan

lesbian story hindi – mallu lesbian stories

He spoke to his mother

I do not understand what you mean? Mummy asked Rohan.

Do you also become very innocent? – Rohan went ahead and looked inside Mummy’s blouse.

Because the mother was wearing a deep-necked blouse and the inside of the mother’s bra was clearly visible and the mother’s boobs were half naked, because there was no boy in our house, the mother never thought of wearing such a blouse. .

Then the mother immediately draped the blouse from the pallu of her sari – moving! Naughty somewhere! Mummy laughed a little and blushed and followed him.

Then all laughed and the matter was over. But the truth was that at that time I did not understand Rohan’s words, I also laughed seeing the others laughing, but I kept talking about what happened.

A week passed like this.

Then in the same way Didi got a call at around 10:30 pm.

It’s fine now ! No problem – Didi said and hung up.

I then asked Didi – what’s the matter?

But Didi then gave the same answer that you sleep!

But how do I sleep? I was nervous that I do not know what is the matter!

lesbian story hindi – mallu lesbian stories

So I also decided that I will be able to know it today! 20 minutes passed while thinking of me.

Then I saw that Didi woke up, then it was probably at 12:15 in the night, it was dark in the room, in the darkness, Didi approached me whether I slept well. But I was not asleep, I just kept my eyes closed.

I watched carefully that Didi then removed her nightcloth and then removed her bra and panties too. Now she was completely naked and then she locked our room from inside, then she came to our bed, then she picked up her mobile and started looking at something.

It was visible from the light of the mobile that Didi was completely naked, I was not going to see it, but how did I get up, because I saw Didi for the first time in this state. Didi turned her face to the opposite side of me and now Didi’s naked back was towards me. I had excitement about what was happening!

Then I gathered courage with great difficulty and saw what was going on in the mobile!

I was stunned to see that – the mobile had naked pictures of boys and girls. Then Didi’s eyes fell on me and she was terrified. Then there was silence of 1 minute in both of us and then Didi immediately climbed on me and opened all the buttons of my night-gown. Didi knew that I do not wear bra and panty at night because it gives me much comfort at night.

lesbian story hindi – mallu lesbian stories

Now me and my sister were completely naked and my sister was on top of me. I felt very strange and nice too.

Then Didi started sucking my left breast.

Oh, is that so ! I said- What are you doing, sister?

Why not enjoy it? Didi asked me.

Now I could say no to her, no! Actually it was fun. I kept quiet.

What was it then, he put his lips on my lips and started sucking.

It was a lot of fun. Sister licked my boobs again, then sucked them!

Then cleaned my stomach with my tongue, then she went down and grabbed by my knees and opened my legs.

What is this ? Do you have big hair? Oops ! – Didi said.

“Spoiled all the fun!” Didi said again!

Then the sister stopped and sat on my side and said, “Dude, your apples are very sweet, how do you like me?

lesbian story hindi – mallu lesbian stories

I smiled at him, “Hey! Your boobs are your apple! Rohan was talking about these apples! Hey man, Papa suck mother’s apple everyday. You should know at this age. That is why their room is closed every day. And when you were asking about the phone call, then I made a mistake, I have even got my apple sucked! “

Saying this, he looked at me – yes, I know that you must have felt strange to hear this, but if I tell you the truth, I did not want to do this, that’s all! Didi said.

But how did it happen? I asked

“I have a friend in my office, Sumit, I like it a lot, then both of us became friends.

Then on the 14th of February, he invited me to drink a lot. We walked into a restaurant. After going there, he saw that he had forgotten his purse at home. I asked for money, but he did not agree, so he took me home with the excuse of bringing me purse.

But when she went inside the house, she found out that she is alone. I was nervous to see this, he said do not panic! Saying this, he took me to his room and said that he brings water for me to drink. When he went out, I was alone in the room.

lesbian story hindi – mallu lesbian stories

I noticed that there was a magazine with naked pictures on his bed. Right now I was watching him come from behind! ” Didi said.

what happened then ? I asked Didi.

Then what ? Then he asked her directly, “Will you have sex with me?” I promise that I will not say this to anyone and will marry you only. ”- Didi said.

Again ? Didi happen after that? – I asked.

To be honest, at that time I was completely hot and I wanted to have sex with her. I did not say anything to him, but he understood my mind. Then I had sex with her… Wow! …… how fun it was! … What a fire! ”

“Now I don’t know if he becomes your brother-in-law or not!” But I made a mistake! ” Didi said.

Let us have fun with him – Didi said again.

Then she got up, put the first coverlet on me and asked me to wait. Then Didi wore my night gown and brought the ice from the fridge and closed the room and became completely naked again and removed my cloak.

lesbian story hindi – mallu lesbian stories

Now we were both bare again!

Then Didi opened my legs and rubbed ice on my pussy.

Oops ! I said.

What happened ? Didi asked.

nothing ! It was nice ! I said and I laughed.

My sister is young! If you want, then give your apple rohan a kiss! Good boy! Didi said.

Then we had a lot of fun and went to sleep wearing clothes.

Even today I could not forget the day didi told me her secret and gave me a lot of fun too.

I want to enjoy this fun again.

Nowadays, Rohan misses a lot.

You tell me whether to do it or not!

And with whom did I take the fun with Didi?

How did you find this story in the telegram?

follow on

Hindi sex story group

Read more chuda kahani –

antarvasna 2 भाई ने बहन को लंड दिखा कर की मजेदार चुदाई

baap beti xxx story बाप बेटी की चुदाई -Real chudai stories

hot lesbian sex story – सहेली के साथ सेक्स का पहला अनुभव kamvasna story

3 thoughts on “lesbian story Hindi | दीदी का राज़ | mallu lesbian stories”

Leave a Comment