Follow my blog with BloglovinAntarvasna 2 भाई ने बहन को लंड दिखा की चुदाई 1 Best Sex

Antarvasna 2 भाई ने बहन को लंड दिखा की चुदाई 1 Best Sex

भाई ने बहन को लंड दिखा कर की मजेदार चुदाई antarvasna 2

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories: MastHindiStory पर मैंने भाई बहन की चुदाई की कहानियां बहुत मजा लेकर पढ़ी. पर मुझे नहीं पता था कि एक दिन मेरे साथ भी ऐसी ही कोई घटना घटित होने वाली है.

मेरा नाम निधान है और मैं MastHindiStory का एक नियमित पाठक हूं. मुझे रिश्तों में चुदाई की कहानियां बहुत पसंद है. मगर मैं ये नहीं जानता था कि एक दिन मेरे साथ भी ऐसा ही हो जायेगा. आज मैं आपको अपने जीवन की उसी घटना के बारे में बताने जा रहा हूं.

कहानी पर आने से पहले मैं आपको अपने बारे में कुछ बता देता हूं. मेरी उम्र 28 साल है. मैं मूल रूप से कानपुर का रहने वाला हूं. वर्तमान समय में मैं हैदराबाद में रह रहा हूं. वहीं पर एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम करता हूं.

कानपुर वाले घर में मेरी मां, पापा और छोटी बहन रहती थी. मेरी बहन का नाम सुषमा है. उम्र में वो मुझसे तीन साल छोटी है. वो घर में सबकी लाडली है. ये कहानी जो मैं आप लोगों को आज बताने जा रहा हूं, यह करीबन दो साल पुरानी है.

उस वक्त मेरी बहन ने अपनी एमबीए की पढ़ाई पूरी की थी. पढ़ाई में हम दोनों भाई-बहन ही अच्छे थे. एमबीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद मेरी बहन अब जॉब की तलाश में थी.

चूंकि मैं हैदराबाद जैसे बड़े शहर में रह रहा था तो मैंने उससे कहा कि तुम मेरे ही शहर में जॉब ढूंढ लो. मेरी यह बात मेरे माता-पिता को भी ठीक लगी. मेरे शहर में रहने से उनको भी अपनी बेटी की सेफ्टी की चिंता करने की आवश्यकता नहीं थी.

हैदराबाद में पी.जी. रूम लेकर मैं रह रहा था. मगर अब सुषमा भी साथ में रहने वाली थी तो मैंने एक बीएचके वाला फ्लैट ले लिया. कुछ दिन के बाद बहन भी मेरे साथ मेरे फ्लैट में शिफ्ट हो गई.

anantarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

सुषमा के बारे में आपको बता दूं कि वो काफी खुलकर बात करने वालों में से है. उसकी हाइट 5.6 फीट है और मेरी हाइट 6 फीट के लगभग है. मेरी बहन के बदन की बात करूं तो उसकी गांड काफी उठी हुई है. जब वो अपनी कमर को लचकाते हुए चलती है तो किसी भी मर्द को घायल कर सकती है.

मेरी बहन का फीगर 36-30-38 का है. आप अंदाजा लगा सकते हैं कि उसकी चूचियां भी कितनी बड़ी होंगी. उसकी चूचियां हमेशा उसके कपड़ों से बाहर झांकती रहती थीं. मैंने सुना था कि जवान लड़की की चूत चुदाई होने के बाद उसकी चूचियों का साइज भी बढ़ जाता है.

अपनी बहन की चूचियों को देख कर कई बार मेरे मन में ख्याल आता था कि कहीं यह भी अपनी चूत चुदवा रही होगी. मगर मैं इस बारे में विश्वास के साथ कुछ नहीं कह सकता था. मेरी बहन खुले विचारों वाली थी तो दोनों तरह की बात हो सकती थी.

जब वो मेरे साथ फ्लैट में रहने लगी तो अभी उसके पास जॉब वगैरह तो थी नहीं. वो अपना ज्यादातर समय फ्लैट पर ही बिताती थी. मैं सुबह ही अपने काम पर निकल जाता था. पूरा दिन फ्लैट पर रह कर वो बोर हो जाती थी.

एक रोज वो कहने लगी कि वो सारा दिन फ्लैट पर रह कर बोर हो चुकी है. उसका मन कहीं बाहर घूमने के लिए कर रहा था. उसने मुझसे कहीं बाहर घूमने चलने के लिए कहा.
मैंने कह दिया कि हम लोग मेरी छुट्टी वाले दिन चलेंगे.

फिर वीकेंड पर मैंने अपनी बहन के साथ बाहर घूमने का प्लान किया. अभी तक मेरे मन में मेरी बहन के लिए कोई गलत ख्याल नहीं था. हम लोग पास के ही एक मॉल में घूमने के लिए गये. मेरी बहन उस दिन पूरी तैयार होकर बाहर निकली थी.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

उसके कुर्ते में उसकी चूचियां पूरे आकार में दिखाई दे रही थीं. हम लोगों ने साथ में घूमते हुए काफी मस्ती की और फिर घर वापस लौटने लगे. मगर रास्ते में बारिश होने लगी. इससे पहले कि हम लोग बारिश से बचने के लिए कहीं रुकते, हम दोनों ऊपर से लेकर नीचे तक पूरे भीग चुके थे.

बारिश काफी तेज थी इसलिए मैंने सोचा कि बारिश रुकने का इंतजार करना ही ठीक रहेगा. हम दोनों बाइक रोक कर एक मकान के छज्जे के नीचे खड़े हो गये. सुषमा के बदन पर मेरी नजर गई तो मैं चाह कर भी खुद को उसे ताड़ने से नहीं रोक पाया.

उसकी मोटी चूचियों की वक्षरेखा, जिस पर पानी की बूंदें बहती हुई अंदर जा रही थी, मेरी नजरों से कुछ ही इंच की दूरी पर थी. उसको देख कर मेरे लौड़े में अजीब सी सनसनी होने लगी. मैंने उसकी सलवार की तरफ देखा तो उसकी भीगी हुई गांड और जांघें देख कर मेरे लंड में और ज्यादा हलचल होने लगी.

मैं बहाने से उसको घूरने लग गया था. ऐसा मेरे साथ पहली बार हो रहा था. फिर कुछ देर के बाद बारिश रुक गयी और हम अपने फ्लैट के लिए निकल गये. उस दिन के बाद से मेरी बहन के लिए मेरा नजरिया बदल गया था.

अपनी बहन की चूचियों को मैं घूरने लगा था. बहन की गांड को ताड़ना अब मेरी आदत बन चुकी थी. मेरी हाइट उससे ज्यादा थी तो जब भी वो मेरे सामने आती थी उसकी चूचियां ऊपर से मुझे दिखाई दे जाती थीं. कई बार हंसी-मजाक में मैं उसको गुदगुदी कर दिया करता था.

इस बहाने से मैं उसकी चूचियों को छेड़ दिया करता था. कभी उसकी गांड को सहला देता था. यह सब हम दोनों के बीच में अब नॉर्मल सी बात हो गई थी. जब भी वो नहा कर बाहर आती थी तो वह तौलिया में होती थी. ऐसे मौके पर मैं जानबूझकर उसके आस-पास मंडराने लगता था.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

जब मैं उसके साथ छेड़खानी करता था तो वो मेरी हर हरकत को नोटिस किया करती थी. उसको मेरी हरकतें पसंद आती थीं. इस बात का पता मुझे भी था. जब भी मैं उसको छेड़ता था तो वो मेरी हरकतों को हंसी में टाल दिया करती थी.

वो भी कभी-कभी मुझे यहां-वहां से छूती रहती थी. कई बार तो उसका हाथ मेरे लंड पर भी लग जाता था या फिर यूं समझें कि वो मेरे लंड बहाने से छूने की कोशिश करने लगी थी. अब आग दोनों तरफ शायद बराबर की ही लगी हुई थी.

ऐसे ही मस्ती में दिन कट रहे थे. एक दिन की बात है कि मैं उस दिन ऑफिस से जल्दी आ गया. हम दोनों के पास ही फ्लैट की एक-एक चाबी रहती थी. मैंने बाहर से ही लॉक खोल लिया था.

जब मैं अंदर गया तो उस वक्त सुषमा बाथरूम के अंदर से नहा कर बाहर आ रही थी. मैंने उसे देख लिया था मगर उसकी नजर मुझ पर नहीं पड़ी थी. उसने अपने बदन पर केवल एक टॉवल लपेटा हुआ था.

वो सीधी कबॉर्ड की तरफ जा रही थी. मैं भी उसको जाते हुए देख रहा था. अंदर जाकर उसने अलमारी से एक ब्रा और पैंटी को निकाला. उसने अपना टॉवल उतार कर एक तरफ डाल दिया. बहन के नंगे चूतड़ मेरे सामने थे.

मेरे सामने ही वो ब्रा और पैंटी पहनने लगी. उसका मुंह दूसरी तरफ था इसलिए उसकी नंगी चूत और चूचियां मैं नहीं देख पाया. मगर जल्दी ही उसको किसी के होने का आभास हो गया और वो पीछे मुड़ गई.

जैसे ही उसने मुझे देखा वो जोर से चिल्लाई और मैं भी घबरा कर बाहर हॉल में आ गया. कुछ देर के बाद वो कपड़े पहन कर बाहर आई और मुझ पर गुस्सा होते हुए कहने लगी कि भैया आपको नॉक करके आना चाहिए था.

मैंने उसकी बात का जवाब देते हुए कहा- अगर मैं नॉक करके आता तो क्या तुम मुझे वैसे ही अंदर आने देती?
उसने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया. मैं समझ गया कि उसकी इस खामोशी में उसकी हां छुपी हुई है.

aantarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

अब मैंने थोड़ी हिम्मत की और उसके करीब आकर उसको अपनी बांहों में भर लिया. वो मेरी तरफ हैरानी से देख रही थी. मैंने उसकी आंखों में देखा और देखते ही देखते हम दोनों के होंठ आपस में मिल गये. मैंने उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया.

पहले तो मेरी बहन दिखावटी विरोध करती रही. फिर कुछ पल के बाद ही उसने विरोध करना बंद कर दिया. शायद उसको भी इस बात का अंदाजा था कि आज नहीं तो कल ये सब होने ही वाला है. इसलिए अब वो मेरा पूरा साथ दे रही थी.

दस मिनट तक हम दोनों एक दूसरे के होंठों को पीते रहे. उसके बाद मैंने उसके कपड़ों उतारना शुरू कर दिया. उसका टॉप उतारा और उसको ब्रा में कर दिया. फिर मैंने उसकी जीन्स को खोला और उसकी जांघों को भी नंगी कर दिया.

अब मैंने उसकी ब्रा को खोलते हुए उसकी चूचियों को नंगी कर दिया. उसकी मोटी चूचियां मेरे सामने नंगी हो चुकी थीं. उसकी चूचियों को मैंने अपने हाथों में भर लिया.

antarvasna 2 - sister brother sex story - sister chudai stories

उसके नर्म-नर्म गोले अपने हाथ में भर कर मैंने उनको दबा दिया. अब एक हाथ से उसकी एक चूची को दबाते हुए मैं दूसरे हाथ को नीचे ले गया. उसकी पैंटी के अंदर एक उंगली डाल कर मैंने उसकी चूत को कुरेद दिया.

बहन की चूत पानी छोड़ कर गीली हो रही थी. मैंने उसकी चूत को कुरेदना जारी रखा. उसका हाथ अब मेरे लंड पर आ गया था. मेरा लंड भी पूरा तना हुआ था. वो अब मेरे लंड को पैन्ट के ऊपर से ही पकड़ कर सहला रही थी.

मैं भी उत्तेजित हो चुका था और मैंने अपनी पैंट को खोल दिया. पैंट नीचे गिर गयी. सुषमा ने मेरी पैन्ट को मेरी टांगों में से निकलवा दिया. वो अब खुद ही आगे बढ़ रही थी. उसने मेरे अंडरवियर को भी निकाल दिया.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

मेरे लंड को पकड़ कर वो उसकी मुठ मारने लगी. मैं तो पागल ही हो उठा. मैं उसकी चूचियों को जोर से भींचने लगा. फिर मैंने झुक कर उसकी चूचियों को मुंह में भर लिया और उसके निप्पलों को काटने लगा.

इतने में ही मेरी बहन ने अपनी पैन्टी को खुद ही नीचे कर लिया. उसकी चूत अब नंगी हो गई थी. मैं उसकी चूचियों को चूस रहा था. उसके निप्पलों को काट रहा था. बीच-बीच में चूचियों के निप्पलों को दो उंगलियों के बीच में लेकर दबा रहा था.

सुषमा अब काफी उत्तेजित हो गई थी. अचानक ही वो मेरे घुटनों के बीच में बैठ गई और अपने घुटनों के बल होकर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया. मेरी बहन मस्ती से मेरे 8 इंची लंड को चूसने लगी. ऐसा लग रहा था जैसे उसको मेरा लंड बहुत पसंद है.

antarvasna 2 - sister brother sex story - sister chudai stories

वो जोर से मेरे लंड को चूसती रही और मेरे मुंह से अब उत्तेजना के मारे जोर की आवाजें सिसकारियों के रूप में बाहर आने लगीं. आह्ह … सुषमा, मेरी बहन, मेरे लंड को इतना क्यों तड़पा रही हो!
मैंने उसके सिर को पकड़ कर अपने लंड पर अंदर दबाना और घुसाना शुरू कर दिया.

दो-तीन मिनट तक लंड को चुसवाने के बाद मैं स्खलन के करीब पहुंच गया. मैंने बहन के मुंह में लंड को पूरा घुसेड़ दिया और मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी बहन के मुंह में जाकर गिरने लगी.

मेरी बहन मेरा सारा माल पी गयी. मैंने उसको बेड पर लिटा लिया और उसकी चूत में उंगली करने लगा. वो तड़पने लगी. उसकी चूत पानी छोड़ रही थी. मगर उसकी चूत की चुदाई शायद पहले भी हो चुकी थी. चूत भले ही टाइट थी लेकिन कुंवारी चूत की बात ही अलग होती है. मुझे इस बात का अन्दाजा हो गया था.

aantarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

मैं उसकी चूत को चाटने लगा. उसकी चूत का सारा रस मैंने चाट लिया.
जब उससे बर्दाश्त न हुआ तो वो कहने लगी- भैया, अब चोद दो मुझे… आह्ह … अब और नहीं रुका जा रहा मुझसे.
मैंने उसकी चूत में अन्दर तक जीभ घुसेड़ दी और वो मेरे मुंह को अपनी चूत पर जोर से दबाने लगी.

फिर मैंने मुंह हटा लिया. अब उसकी टांगों को मैंने बेड पर एक दूसरे की विपरीत दिशा में फैला दिया. बहन की चूत पर अपने लंड को रख दिया और रगड़ने लगा.

antarvasna 2 - sister brother sex story - sister chudai stories

मेरा लंड फिर से तनाव में आ गया. देखते ही देखते मेरा पूरा लंड तन गया.

मैंने अपने तने हुए लंड के सुपाड़े को चूत पर रखा और एक झटका दिया. पहले ही झटके में लंड को आधे से ज्यादा उसकी चूत में घुसा दिया. वो दर्द से चिल्ला उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…
मगर मैं अब रुकने वाला नहीं था. मैंने लगातार उसकी चूत में झटके देना शुरू कर दिया. बहन की चूत की चुदाई शुरू हो गई.

सुषमा की चूत में अब मेरा पूरा लंड जा रहा था. वो भी अब मजे से मेरे लंड को अंदर तक लेने लगी थी. मैं पूरे लंड को बाहर निकाल कर फिर से पूरा लंड अंदर तक डाल रहा था. दोनों को ही चुदाई का पूरा आनंद मिल रहा था.

अब मैंने उसको बेड पर घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी चूत में लंड को पेलने लगा. उसकी चूत में लंड घुसने की गच-गच आवाज होने लगी. मेरे लंड से भी कामरस निकल रहा था और उसकी चूत भी पानी छोड़ रही थी इसलिए चूत से पच-पच की आवाज हो रही थी.

फिर मैंने उसको सीधी किया और उसके मुंह में लंड दे दिया. मेरे लंड पर उसकी चूत का रस लगा हुआ था. वो फूल चुके लंड को चूसने-चाटने लगी. उसकी लार मेरे लंड पर ऊपर से नीचे तक लग गई.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

अब दोबारा से मैंने उसकी टांगों को फैलाया और उसकी चूत में जोर से अपने लंड के धक्के लगाने लगा. पांच मिनट तक इसी पोजीशन में मैंने उसकी चूत को चोदा और वो झड़ गई. अब मेरा वीर्य भी दोबारा से निकलने के कगार पर पहुंच गया था.

मैंने उसकी चूत में तेजी के साथ धक्के लगाना शुरू कर दिया. उसकी चूत मेरे लंड को पूरा का पूरा अंदर ले रही थी. फिर मैंने दो-तीन धक्के पूरी ताकत के साथ लगाये और मैं अपनी बहन की चूत में ही झड़ने लगा. उसकी चूत को मैंने अपने वीर्य से भर दिया.

mausi-ki-chudai-story-real-sex-story-hindi-sex-stor

हम दोनों थक कर शांत हो गये. उस दिन हम दोनों नंगे ही पड़े रहे. शाम को उठे और फिर खाना खाया. उसके बाद रात में एक बार फिर से मैंने अपनी बहन की चूत को जम कर चोदा. उसने भी मेरे लंड को चूत में लेकर पूरा मजा लिया और फिर हम सो गये.

उस दिन के बाद से हम भाई-बहन में अक्सर ही चुदाई होने लगी. अब उसको मेरे साथ रहते हुए काफी समय हो गया है लेकिन हम दोनों अभी भी चुदाई करते हैं. मुझे तो आज भी ये सोच कर विश्वास नहीं होता है कि मैं इतने दिनों से अपनी बहन की चूत की चुदाई कर रहा हूं.

तो दोस्तो, यह थी मेरी कहानी. हम भाई-बहन की सेक्स स्टोरी आपको पसंद आई तो मुझे मैसेज करके बताना. मुझे आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा. मैसेज करने के लिए आप नीचे दी गई ई-मेल आइडी का प्रयोग करें.
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

bhabhi Hindi sex story group

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

Read In English

bhaee ne bahan ko land dikha kar kee chudaee sister brother sex story

sister brother sex storyantarvasna 2 – sister chudai stories: On MastHindiStory, I read a lot of siblings’ stories of fun. But I did not know that one day a similar incident is going to happen to me.

My name is Nidhan and I am a regular reader of MastHindiStory. I love stories of sex in relationships. But I did not know that one day the same will happen to me. Today I am going to tell you about the same incident in my life Before coming to the story, let me tell you something about myself Antarvasna 2.

My mother, father and younger sister used to live in Kanpur house. My sister’s name is Sushma. She is three years younger than me. She is dear to everyone in the house. This story that I am going to tell you today, it is about two years old Antarvasna 2.

My sister had completed her MBA at that time. Antarvasna 2 Both of our brothers and sisters were good at studies. After completing MBA studies, my sister was now looking for a job.

Since I was living in a big city like Hyderabad, I told him to find a job in my own city. My parents also liked this thing about me. By living in my city, he also did not have to worry about his daughter’s safety Antarvasna 2.

PG in Hyderabad I was staying with the room. But now Sushma was also going to live together, so I took a BHK flat. After a few days, sister also shifted with me to my flat.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

Let me tell you about Sushma that she is among those who talk very openly. His height is 5.6 feet and my height is about 6 feet. Talking about my sister’s body, her ass is quite raised. When she walks while strapping her waist, she can injure any man Antarvasna 2.

My sister’s figure is 36-30-38. You can guess how big her Tits will be. Her tits would always peep out of her clothes. I had heard that after the fuck of a young girl, the size of her tits also increases Antarvasna 2.

Seeing my sister’s Tits many times I used to think that somewhere it must have been her pussy. But I could not say anything with confidence about this. If my sister was open-minded, then both kinds of things could happen Antarvasna 2.

When she started living in the flat with me, she still did not have a job etc. She used to spend most of her time at the flat. I used to go out to my work in the morning. She used to be bored all day by staying on the flat Antarvasna 2.

One day she started saying that she was bored all day by staying on the flat. His mind was trying to hang out somewhere. He asked me to go out somewhere Antarvasna 2.
I said that we will go on my vacation day.

Then on weekends I planned to hang out with my sister. Till now I had no wrong care for my sister. We went for a walk in a nearby mall. My sister came out that day fully prepared Antarvasna 2.

Her nipples in her kurta were seen in full size. We had a lot of fun walking together and then started returning back home. But it started raining on the way. Before we stopped somewhere to avoid the rain, both of us were wet from top to bottom.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

The rain was very strong, so I thought it would be okay to wait for the rain to stop. We both stopped the bike and stood under the balcony of a house. If I saw Sushma’s body, I could not stop myself from trying to chastise her like Antarvasna 2.

The thick line of her thick pussy, on which the drops of water were going in, was just a few inches away from my eyes. Seeing him, a strange sensation started in my Alore. When I looked at his salwar, seeing his soaked ass and thighs, my cock started to stir more Antarvasna 2.

I started staring at him with excuses. This was happening to me for the first time. Then after some time the rain stopped and we left for our flat. From that day onwards, my outlook for my sister had changed like Antarvasna 2.

I started staring at my sister’s pussy. Thrashing sister’s ass was now my habit. My height was more than that, so whenever she used to come in front of me, her cunts were visible to me from above. Many times I used to tickle him in laughter Antarvasna 2.

I used to tease her Titsi with this excuse. Sometimes used to rub her ass. All this had become a normal thing between us. Whenever she used to take a bath, she used to be in the towel. On such occasions I used to deliberately hover around him Antarvasna 2.

When I used to seduce her, she used to notice my actions. Antarvasna 2 He liked my actions. I was also aware of this. Whenever I used to tease her, she used to defy my antics in laughter.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

Sometimes she used to touch me from here to there. Many times, her hand could also touch my cock or it should be understood that she was trying to touch my cock with excuses. Now the fire was probably equal on both sides of Antarvasna 2.

Days were spent in such fun. It is a matter of one day that I arrived early from the office that day. Both of us used to have every key to the flat. I opened the lock from outside Antarvasna 2.

When I went inside, Sushma was coming out of the bathroom after bathing. I had seen him but his eyes were not on me. He had only one towel wrapped on his body.

She was going straight towards the cordon. I was also watching him go. Going inside, she removed a bra and panty from the cupboard. He removed his towel and put it aside. Sister’s bare butts were in front of me then Antarvasna 2.

She started wearing bra and panty in front of me. His mouth was on the other side, so I could not see his naked pussy and tits. But soon she realized that someone was there and she turned back.

As soon as she saw me she shouted loudly and I too panicked and came out in the hall. After some time she came out wearing clothes and started getting angry at me and said that brother, you should have come knocking Antarvasna 2.

I replied to that and said – if I had come knocking, would you have allowed me to enter in the same way?
He did not reply to me. I understood that his yes is hidden in his silence.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

Now I dared a little and came close to him and filled him in my arms. She was looking at me with surprise I looked into his eyes and both of us got lips together on seeing this. I started kissing her lips.

At first, my sister kept protesting. Then after a few moments he stopped protesting. Perhaps he too had an idea that this is going to happen tomorrow, if not today. So now she was giving me full support Antarvasna 2.

For ten minutes we both kept drinking each other’s lips. After that I started removing her clothes. Took off her top and made her into a bra. Then I opened her jeans and stripped her thighs too.

Now I opened her bra and stripped her nipples. Her thick tits were naked before me. I filled her pussy in my hands Antarvasna 2.

Filling his soft shells in my hand, I pressed them. Now pressing one of her nipples with one hand, I took the other hand down. Putting a finger inside her panty, I crushed her pussy Antarvasna 2.

The sister’s pussy was getting wet leaving water. I continued to scrape her pussy. His hand was now on my cock. My cock was also taut. She was now holding my cock on top of the pant Antarvasna 2.

I was also excited and I unbuttoned my pants. The pants fell down. Sushma got my pant out of my legs. She was now moving on her own. He also removed my underwear.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

Holding my cock, she started hitting her mouth. I got mad. I started squeezing her pussy as well. Then I bent down and filled her nipples in my mouth and started biting her nipples.

In due course, my sister took her panty down herself. Her pussy was now naked. I was sucking her pussy. Was cutting her nipples. Between the two fingers between two fingers was pressing between nipples Antarvasna 2.

Sushma was very excited now. Suddenly she sat between my knees and on the strength of her knees, she filled my cock in her mouth. My sister started sucking my 8 inch cock with fun. It seemed like he liked my cock very much Antarvasna 2.

She kept sucking my cock vigorously and now the loud sounds of excitement started coming out of my mouth in the form of askaris. Ahh… Sushma, my sister, why are you torturing my cock so much!
I grabbed her head and started pressing on my cock and penetrating Antarvasna 2.

After licking the cocks for two-three minutes, I reached near the ejaculation. I pushed the cocks in the sister’s mouth and the semen started falling in my sister’s mouth.

My sister drank all my goods. I lay on her bed and started fingering her pussy. She started to suffer. Her pussy was leaving the water. But the fuck of her pussy was probably done earlier also. Even though the pussy was tight, but the matter of virgin pussy is different. I got the idea of ​​this thing. I started licking her pussy Antarvasna 2.
When she could not bear it, she started saying – Brother, now give me Chod… Ahhh… I am not being stopped anymore.
I pushed my tongue inside her pussy and she started pressing my mouth hard on her pussy.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

Then I lifted my mouth. Now I spread her legs in opposite direction of each other on the bed. Put his cock on sister’s pussy and started rubbing. My cock got tense again. My whole cock got tanned on seeing it. antarvasna 2

I put my taut cocks’ spade on the pussy and gave a blow. In the first jerk, more than half of the cocks got into her pussy. She cried out in pain – Ummh… Ahhh… Hahh… Jah…
But I was not going to stop now. I started jerking her pussy continuously. Fucking of sister’s pussy started.

Now my whole cock was going in Sushma’s pussy. Now she too had started taking my cock inside. I was putting the whole cocks out and putting the whole cocks in again. Both of them were enjoying full fuck.

Now I made him a mare on the bed and started licking cocks in his pussy from behind. There was a clamor of cocks in her pussy. Kamras was also coming out of my cock and her pussy was also releasing water, so there was a loud sound from her pussy Antarvasna 2.

Then I straightened it and put cocks in his mouth. Her pussy juice was on my cock. She started sucking and licking the cocks she had swollen. His saliva started to fall from top to bottom on my cock

Now again I spread her legs and started to bang my cock in her pussy. In this position for five minutes, I fuck her pussy and she fell. Now my semen too had reached the verge of being released again.

I started banging her pussy fast. Her pussy was taking the whole inside of my cock. Then I hit two-three strikes with full force and I started to fall in my sister’s pussy. I filled her pussy with my semen.

antarvasna 2 – sister brother sex story – sister chudai stories

We both got tired and tired. That day both of us lay bare. Woke up in the evening and ate food again. After that, once again, I tightened my sister’s pussy in the night. She also enjoyed taking my cock in her pussy and then we slept.

From that day onwards, we began to have sex with our brothers and sisters. Now it has been a long time for me to be with her, but we both still fuck. Even today I do not believe thinking that I have been fucking my sister’s pussy for so many days. antarvasna 2

So, friends, this was my story. If you liked the sex story of our brothers and sisters, please message me. I look forward to your responses. Use the email id given below to message.
[email protected]

Read More Sex Story-

sex stories bhai behan दीदी की चुदाई की तमन्ना भाई ने पूरी की

Sister chudai stories गाँव वाले भाई से चुदाई xxx desi kahani

Desi aunty story आंटी की गांड और चूत चटाई का आनंद 0-

3 thoughts on “Antarvasna 2 भाई ने बहन को लंड दिखा की चुदाई 1 Best Sex”

Leave a Comment