Desi aunty story 1 आंटी की गांड और चूत चटाई का आनंद Best Sex

आंटी की गांड और चूत चटाई का आनंद Desi aunty story

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory: कानपुर स्टेशन पर मिली एक आंटी की गांड का मजा मैंने उनके घर जाकर कैसे लिया, पढ़ें इस कहानी में! ट्रेन में आंटी से दोस्ती हो गयी थी और थोड़ा मजा मैंने ट्रेन में ले लिया था.

मेरे MastHindiStory के दोस्तो … मैं आप लोगों के साथ अपनी कहानी शेयर करने जा रहा हूं.

जब मैं ग्रेजुएशन कर रहा था. उसी बीच मैंने एक सरकारी नौकरी के लिए एग्जाम दिया था. मैं उसका एग्जाम देने कोलकाता गया था. जब मैं पेपर देकर वापस आया, तो मैंने हावड़ा से दिल्ली के लिए टिकट ली हुई थी. मैं ट्रेन में बैठ गया.

मेरा सफ़र मस्ती से चल रहा था. जैसे ही मेरी ट्रेन ने बिहार को क्रॉस किया और मैं यूपी में घुसकर यूपी के कानपुर के पास आया. तभी ट्रेन की गति धीमी हो गई. ट्रेन इधर रुक गई, इस ट्रेन का आखिरी स्टेशन कानपुर ही था.

मैं कानपुर स्टेशन पर उतर गया. मुझे काफी भूख भी लग रही थी, क्योंकि मैं बिना कुछ खाए पिए कोलकाता से दिल्ली के लिए चला था.

जैसे ही मैं कानपुर स्टेशन पर उतरा तो मुझे काफी सारी दुकानें दिखीं. आप लोगों ने देखा होगा स्टेशन के पास चाय कॉफी की दुकानें बनी रहती हैं, तो मैं पास में ही एक दुकान पर चला गया. मैंने वहां से एक चाय ली और चाय पीने के लिए वहीं पड़ी एक कुर्सी पर बैठ गया.

वहां पर काफी भीड़ थी. बहुत यात्री जाने के लिए बैठे थे. मैं चाय पीते पीते इधर-उधर घूमने लगा. उसमें से एक आंटी मुझे दिखीं. वह बहुत गोरी और लंबी थीं. उनकी गांड एकदम बड़ी-बड़ी अलग से दिख रही थीं.

उनकी भी नजर मेरे पर पड़ी और वे मुझे देख कर न जाने क्यों मुस्कुरा दीं. मैंने भी हल्की सी मुस्कान बिखेर दी और कुर्सी पर चाय पीते हुए बैठ गया.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

आंटी भी शायद अकेली थीं. वे भी घूमते हुए वहीं एक कुर्सी खाली थी, वहीं पास में बैठ गई. उन्होंने मुझसे पूछा- बेटा, यहां दिल्ली के लिए अभी कोई ट्रेन है?
मैंने बताया कि हां आंटी अभी आएगी.

थोड़ी देर में उन्होंने मुझसे पूछा- आपको कहां जाना है?
मैंने बताया- मैं आंटी पेपर देकर आ रहा हूँ … मुझे भी दिल्ली जाना था.
आंटी बोलीं- आप किस ट्रेन से जाओगे?
मैंने कहा- देखता हूं … जो भी मिल जाए.

वे बोलीं- मैं अकेली हूं और पहली बार ट्रेन से दिल्ली के लिए जा रही हूं, तो जिस ट्रेन से आप जाओ, मुझे भी बता देना. मैं भी उसी ट्रेन से चली जाऊंगी.
मैंने कहा- ठीक है … आंटी आप मेरे साथ चले चलना.
उन्होंने कहा- ठीक है.

फिर वो आंटी बैठ गईं और चाय पीने लगीं. हम में दोनों बात करने लगे. जैसे ही एक ट्रेन आने का अनाउंसमेंट हुआ.

मैंने कहा- चलो आंटी ट्रेन आ रही है, हम उसी में बैठते हैं.
उन्होंने कहा- ठीक है … मेरा बैग आप पकड़ लो.

मैंने आंटी का बैग उठा लिया.

ट्रेन आई तो आंटी चढ़ने लगीं और बोलीं- पहले मैं ट्रेन में चली जाती हूं.
मैंने उनको सहारा दिया और वे ट्रेन में चढ़ गईं.

अन्दर आंटी एक सीट पर बैठ गईं, मैं भी उनका बैग लेकर उनके पीछे पीछे आ गया और मैं भी बैठ गया. हम दोनों पास-पास ही बैठे हुए थे और भीड़ भी काफी थी. हम दोनों को जैसे तैसे ही सीट मिल पाई थी.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

फिर दस मिनट बाद ट्रेन चली. थोड़ी देर बाद शाम हो गई. अब करीब 9:00 बज गए थे. ट्रेन में लाइट भी बंद हो गई थी.

मैंने आंटी को टच किया, तो उन्होंने कुछ नहीं बोला. मैंने आंटी की जांघ पर हाथ रख दिया, अब भी आंटी ने कुछ नहीं कहा. फिर मैंने अपने हाथ की एक उंगली से आंटी की जांघ को कुरेद सा दिया.
आंटी ने सिसकारी ले ली, मैं समझ गया कि मामला फिट है. आंटी जल्दी ही गरम हो जाएंगी. अगर मैंने दोबारा फिर से कुछ किया.

अब मैंने आंटी से पूछा- आंटी, आपके घर में कौन-कौन रहता है?
उन्होंने बताया कि वो रहती हैं और उनके पति और दो छोटे बच्चे हैं. दोनों बच्चे स्कूल में पढ़ते हैं.
मैंने ‘हम्म..’ कहा.

फिर आंटी ने बोला- आप दिल्ली में कहां रहते हो?
मैंने आंटी को जहां मैं रहता हूं, वहां का एड्रेस बताया कि मैं दिल्ली में यहां पर रहता हूं.
आंटी ने मेरे से बोला- अरे मैं भी आपके पास ही रहती हूं … आपके बगल में जो कॉलोनी है, उसी में.

आंटी ने कॉलोनी का नाम बताया. मैं समझ गया कि ये तो बिल्कुल पास का ही पता है. हम दोनों हंसने लगे.

मैंने आंटी की जांघ सहलाते हुए कहा- आंटी यह तो बहुत अच्छी बात है … हम लोग मिल गए हैं और आप भी मेरे पास ही रहती हो. क्या हम लोग दोस्त बन सकते हैं?
आंटी मेरे बात का मर्म समझ गईं, उन्होंने कहा- हां बिल्कुल बन सकते हैं. आपने मेरी मदद भी की है.
मैंने आंटी को बोला- अरे आंटी ऐसी कोई बात नहीं है, ये तो मेरा फर्ज़ था. मैं तो ऐसा करता ही रहता हूं.
आंटी ने भी हंस कर कहा- ठीक है … इस मदद को चैक करना पड़ेगा. अब तो हमारा स्टेशन आ ही गया है, अब चलते हैं. Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

मैंने आंटी से बोला- आंटी अब तो रात हो गई … 11 बज चुके हैं. आप क्या करोगी … आप थक भी गई होंगी. थोड़ी देर आराम कर लीजिए.
उन्होंने कहा- नहीं नहीं, मेरे हस्बैंड आ जाएंगे.
मैंने पूछा- कब आएंगे?
उन्होंने बताया- वह बच्चों को लेकर दादा दादी के यहां पर गए हैं, परसों आएंगे.
मैंने पूछा- आंटी क्यों ना आप मेरे रूम पर चलो या मैं आपके रूम पर चले चलता हूँ.
उन्होंने कहा- ठीक है, आप मेरे घर चलो … वहीं कुछ बातें करेंगे.

आंटी भी खुल चुकी थीं. हम दोनों आंटी के घर चल दिए और घर में बैठ कर बिस्तर पर कुछ ऐसे ही इधर उधर की बातें करने लगे.

मैंने पूछा- आंटी आप तो बहुत गर्म लग रही हो … आपके हस्बैंड इतने दिन तक बाहर रहते हैं.
उन्होंने बोला- नहीं नहीं बाहर नहीं रहते … वह दादा दादी के यहां पर गए हैं बच्चों को लेकर … बस 2 दिन बाद आ जाएंगे.
मैंने बोला- आंटी तब तक आप अकेली रहोगी?
उन्होंने बोला- अकेली कहां हूँ … अब तुम आ गए हो न.

इतना कहते हुए वो मेरे ऊपर झुक सी गईं. उसी समय मैंने आंटी को गर्दन पर किस कर दिया.
आंटी ने एकदम आह भरी और बोलीं- बहुत जोर से करो …

आंटी अब इतनी अधिक खुल चुकी थीं और बहुत प्यारी लग रही थीं.
मैंने कहा- आंटी आप चिंता मत करो … मैं आपको अभी मस्त कर देता हूं.

मैं उठा और आंटी की गर्दन पर किस करने लगा और उनके कान में जीभ डाल कर चाटने लगा.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

थोड़ी देर बाद आंटी बहुत गर्म हो गईं और वह मेरा लंड पकड़ रही थीं.

मैंने कहा- आंटी रुको तो सही … मैं आपको चोद दूंगा … हमारे पास सारी रात है … आप चिंता मत करो … इतनी जल्दी क्या है.
उन्होंने कहा- अब रुका नहीं जाता … जल्दी से एक बार कर दो.
मैंने कहा- नहीं आंटी … पूरी रात पड़ी है … पूरा मजा तो लेने दो.
आंटी बोलीं कि ठीक है.

अब मैं खड़ा हुआ और आंटी को भी खड़ा कर दिया. मैं उनकी साड़ी खोलने लगा.

दोस्त मैं आपको एक बात बताना भूल गया कि आंटी की उम्र 45 साल की रही होगी लेकिन वो देखने में 30-32 से ज्यादा की नहीं लग रही थीं. उनकी गांड बहुत मोटी और चौड़ी थी. स्टेशन पर तो उनकी भरी पूरी गांड ही देखकर मेरे मुँह में पानी आ गया था. मुझे तो ऐसा लग रहा था कि इनको अभी ही गिराकर इनके ऊपर चढ़ जाऊं, इनकी गांड में जीभ डाल दूं और चाटने में लग जाऊं.

मैंने आंटी की साड़ी उतारने के बाद उनका पेटीकोट उतारा. जैसे ही मैंने पेटीकोट उतारा और देखा, तो पाया कि उन्होंने नीचे पेंटी ही नहीं पहन रखी थी. ऊपर ब्लाउज को ध्यान से देखा तो आंटी ने ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी.

फिर मैंने उनका ब्लाउज उतारा. अब आंटी मेरे सामने बिल्कुल नंगी हो गई थीं. आंटी खुद को मेरे सामने नंगा पाकर एकदम से शर्माने लगीं.

मैंने आंटी से कहा- आंटी आप शरमाओ मत यार … आप खुलकर मजा करोगी, तो ज्यादा अच्छा लगेगा.
उन्होंने मेरे सीने पर हाथ फेरते हुए कहा- ठीक है. लेकिन आप भी नंगे हो जाओ तो हम दोनों बराबर हो जाएंगे. कोई दिक्कत भी नहीं होगी और मुझे शर्म भी नहीं लगेगी.
मैंने कहा- आंटी आप ही खुद ही उतार दो न..!

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

आंटी ने पहले मेरा पेंट उतारा और अंडरवियर उतारा. आंटी ने जैसे ही मेरा 8 इंच लंबा और काला मोटा लंड देखा, वो एकदम से घबरा गईं और पीछे हट गईं.

Desi aunty story - free aunty anal sex stories - xxxhindistory

आंटी बोलीं- बाप रे … इतना बड़ा … यह तो मैं कभी नहीं घुसवा पाऊंगी … मैं तो बस इसको चूस ही सकती हूं, ये चूत में नहीं घुसवा पाऊंगी … मैंने इतना बड़ा अभी तक कभी नहीं लिया.
मैंने कहा- आंटी आप चिंता मत करो … अभी जब मैं आपकी चुदाई करूंगा … तो आपको बहुत मजा आएगा. देखती जाओ आप … मैं इससे आपकी गांड भी मारूंगा.

आंटी ने डरते हुए मेरे लंड को छुआ, तो लंड ने एकदम से फुंफकार मारी, जिससे आंटी ने घबरा कर लंड छोड़ दिया. मुझे हंसी आ गई. मुझे हंसता देख कर आंटी भी हंस दीं.

अब आंटी को मैंने बिस्तर पर लेटाया और उनकी गांड पर टूट पड़ा. मैं उनकी टांगों को हवा में उठा कर आंटी की गांड के छेद को अपनी जीभ से चाटने लगा.

Mast aunty ki chudai - kamvasna hindi story - desi xxx kahani

मैं काफी देर तक उनकी गांड का छेद चाटता रहा. मैंने आंटी की गांड को चाट चाट कर लाल कर दिया था. उसके बाद मैंने आंटी को डॉगी स्टाइल में होने को बोला. आंटी झट से कुतिया बन गईं. मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी गांड को फैला दिया. फिर मैं उनकी गांड के छेद में अपनी लंबी जीभ पूरी घुसा घुसा कर चाटने लगा. मैं जीभ को गांड के अन्दर बाहर करके चाट रहा था. मुझे बहुत मजा आ रहा था.

मुझे औरतों की गांड में जीभ डाल कर चाटने में बहुत अच्छा लगता है और मैं यह सब लगातार काफी देर तक कर सकता हूँ.

जैसे ही मेरी जीभ आंटी की गांड के छेद में पूरी घुसती थी, आंटी को बहुत मजा आता था. आंटी मस्ती में आहा आहा कर रही थीं. Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

कुछ देर बाद आंटी ने बोला- इससे पहले ऐसा अनुभव मैंने कभी नहीं किया … मेरी गांड में आज तक किसी ने भी इस तरह कभी नहीं किया.
मैंने पूछा- क्यों आपके पति आपकी गांड नहीं मारते?

उन्होंने कहा- मेरे पति मेरी चूत में ही सिर्फ 2 मिनट में झड़ जाते हैं … गांड लायक उनका कड़क ही हो पाता.
मैंने आंटी से कहा- आंटी मुझे औरतों में सबसे ज्यादा उनका बदन चाटने में बहुत अच्छा लगता है … खासकर उनकी गांड में जीभ डाल कर चाटने में तो मेरा मजा चौगुना हो जाता है.
उन्होंने कहा- तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो. तुम मेरी चूत को भी इसी तरह चाटना.

मैंने आंटी से कहा- आंटी मैं नीचे लेट जाता हूं … आप मेरे मुँह पर अपनी चूत रखकर चटवाओ मुझसे … जब तक आपका दिल न भर जाए, आप उठना मत. जबरदस्ती से पूरी ताकत से मेरे मुँह पर बैठी रहना.

आंटी मेरे मुँह पर अपनी चुत लगा कर बैठने लगीं. आंटी ने अपनी चूत को अपने दोनों हाथों से खोल कर मेरे मुँह पर लगा दी और बैठ गईं.

मुझसे आंटी ने चूत चाटने को बोला. मैं अपनी लंबी जीभ से उनकी चूत चाटने लगा था. लगातार कई मिनट तक चूत चटवाने के बाद आंटी मेरे मुँह में झड़ गईं. उनका नमकीन माल मेरे मुँह में आ गया और मैं उसे सारा पी गया.
आंटी के चेहरे पर एक मुस्कान थी.

तब आंटी ने मुझको खड़ा किया और कहा कि अब तुम बिस्तर पर लेट जाओ, मैं तुम्हारे मुँह पर गांड रख कर चटवाऊंगी. Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

मैं फिर से बिस्तर पर लेट गया. आंटी मेरे मुँह पर अपनी गांड रखकर बैठ गईं और उन्होंने मुझसे बोला- तुम मेरी गांड चाटते रहो, तब तक मैं अपने बच्चों से फोन पर बात कर लेती हूँ.
आंटी ने बहुत देर तक फोन पर बात की. इस फौरान उनकी गांड मेरे मुँह पर आगे पीछे होती रही और मैं लगातार उनका छेद चाटता रहा.

फिर उन्होंने फोन काटा और मेरे से बोलीं- कैसा लगा मेरी गांड का स्वाद?
मैंने बताया- आंटी बहुत अच्छा लगा, मैं तो हमेशा आपकी गांड के नीचे रहना चाहता हूं.

आंटी ने कहा- तुम चिंता मत करो, तुम किराए पर ही रहते हो न … मैं अपने घर पर तुमको कभी भी बुला लूंगी. बल्कि मैं तुमको अपने घर में ही एक कमरा किराए पर दे दूंगी. फिर तुम ऐसे ही गांड और चूत चाटते रहना.
मैंने खुश होकर कहा- ठीक है आंटी.

अब आंटी ने मेरा लंड पकड़ा और अपने मुँह में डाल कर चूसने लगीं. आंटी ने काफी देर तक लंड चूसा.

तब मैंने कहा- आंटी अब आपकी पहले गांड की चुदाई होगी, फिर चूत की.
आंटी गांड मरवाने को तैयार नहीं थीं. मैंने जैसे तैसे उनको मनाया. थोड़ी देर बाद आंटी तैयार हो गईं.

मैं आंटी की गांड में फिर से जीभ डाल कर चूसने लगा. दो मिनट तक गांड चाटी और फिर उनकी गांड मारने के लिए मैंने आंटी को घोड़ी बना दिया. मैंने अपने लंड में थूक लगाया और उनकी गांड पर रख दिया.

Mom fuck son story - xxx story Hindi me - hindisexstoris

मैं धीमे-धीमे लंड अन्दर डालने लगा. अभी मेरे लंड का टोपा ही अन्दर घुस पाया था कि आंटी दर्द से चिल्लाने लगीं.
मैंने कहा- आंटी आप चिंता मत करो … धीमे धीमे ही अन्दर डालूंगा.
उन्होंने कहा- ठीक है धीमे धीमे ही डालना, मैंने कभी गांड नहीं मरवाई है.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

मैं आंटी के चूचे सहलाते हुए धीमे धीमे लंड अन्दर डालने लगा. कुछ ही देर में लंड पूरा अन्दर चला गया था.

मैं आंटी की गांड को चोदने लगा. आंटी को मजा आने लगा. फिर मैंने धक्के तेज लगाना शुरू कर दिए. बीस मिनट बाद मैं उनकी गांड में ही झड़ गया.

आंटी बहुत कामुक हो चुकी थीं, उन्होंने कहा- तू तो गांड में ही झड़ गया. मेरी चूत कैसे शांत होगी?
फिर मैंने उनको बोला- आंटी अब आप अपनी चूत चटवा लो … तब तक मेरा लंड फिर से खड़ा हो जाएगा. तब मैं आपकी चूत मारूंगा.
तो उन्होंने कहा- ठीक है.

फिर मैंने आंटी को बोला- आप लेट जाइए, इस बार मैं लेट कर आपकी चूत चाट लूंगा.
उन्होंने कहा- ठीक है.

मैं नीचे बैठ गया, आंटी को लेटाया और उनकी चूत की खुशबू लेने लगा. फिर उसके बाद मैंने उनकी चूत में जीभ लगाई और चूत चाटने लगा. मैं पूरी जीभ अन्दर तक घुसा रहा था और लगातार चाट रहा था. मैंने देर तक आंटी की चूत चाटी. फिर मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैंने आंटी को डॉगी स्टाइल में उल्टा लिटा दिया और पीछे से लंड को उनकी चूत में लगाकर एक झटके में पूरा घुसा दिया. आंटी की मीठी आह निकल गई. मेरा लंड बड़ा था इसलिए आंटी को दर्द हो रहा था. कुछ देर बाद आंटी की चूत ने लंड को सैट कर लिया था और वे भी चूत चुदवाने के मजे लेने लगी थीं.

मैं आंटी की लगातार चुदाई कर रहा था. कुछ देर बाद मेरा माल निकल गया और हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर लेट गए.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

फिर थोड़ी देर बाद जब मैं उठा, तो मैंने उनसे पूछा- आपको कैसा लगा?
उन्होंने बताया- बहुत अच्छा लगा.
फिर मैंने बोला- आंटी अब मैं आपके घर आता रहूंगा, जब आपके पति नहीं होंगे.
आंटी ने कहा- हां मैं तुमको बुला लिया करूंगी.

इस तरह दोस्तो … मैंने इन आंटी की गांड चोदी और गांड में जीभ और चूत चाटी. बाद में आंटी ने मुझे अपने घर में ही एक कमरा दे दिया. अब मुझे जब तब आंटी को बजाने का मौका मिलता रहता है.

आप लोग मुझे मेल करके बताना कि आंटी की गांड और चूत की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, आप अपनी राय जरूर देना. मेरा मेल है.
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

Desi aunty story - free aunty anal sex stories - xxxhindistory

Read In English

Aunty’s ass and pussy mat enjoy xxxhindistory

xxxhindistory: How I enjoyed the ass of an aunt found at Kanpur station, read in this story! I had befriended the aunt on the train and I had a little fun in the train

Friends of my MastHindiStory… I am going to share my story with you guys.

When i was doing graduation Meanwhile, I had given an exam for a government job. I went to Kolkata to give her exam. When I returned with the paper, I took a ticket from Howrah to Delhi. I sat on the train. Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

I was traveling with fun. As soon as my train crossed Bihar and I entered UP and came to Kanpur in UP. Then the speed of the train slowed down. The train stopped here, the last station of this train was Kanpur.

I landed at Kanpur station. I was feeling very hungry too, because I had gone from Kolkata to Delhi without eating anything. xxxhindistory

As soon as I landed at Kanpur station, I saw many shops. You must have seen that there are tea coffee shops near the station, so I went to a shop nearby. I took a tea from there and sat in a chair lying there to drink tea Desi aunty story.

There was a lot of crowd there. Many passengers were sitting to go. I roamed around drinking tea. I saw one of them. She was very fair and tall. His ass was seen very differently.

He too caught sight of me and smiled not knowing why. I too spread a slight smile and sat down on the chair drinking tea Desi aunty story.

Aunt was also probably alone. While walking around, a chair was empty and sat nearby. He asked me – son, is there any train here for Delhi?
I told that yes aunt will come now. xxxhindistory

cript>

In a while they asked me – where do you want to go?
I told – I am coming by giving aunty paper… I also had to go to Delhi.
Auntie Bolin- By which train will you go?
I said – I see… whatever I get.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

She said – I am alone and for the first time going to Delhi by train, so tell me the train you go with. I will also leave the same train.
I said – Okay… aunt you go with me.
He said- Okay Desi aunty story.

Then the aunt sat down and started drinking tea. Both of us started talking. As soon as the announcement of arrival of a train took place. xxxhindistory

I said – Come aunt train, we sit in it.
He said – Okay… you grab my bag.

I lifted the bag of the aunt Desi aunty story.

When the train arrived, the aunt started climbing and said- First I go on the train.
I supported them and they boarded the train. xxxhindistory

In the aunt sat on a seat, I also took his bag and followed him and I also sat down. Both of us were sitting close by and the crowd was also quite large. Both of us got a seat just like that Desi aunty story.

Then the train started after ten minutes. It was evening after a while. It was almost past 9:00. The light in the train was also turned off Desi aunty story.

When I touched the aunt, they didn’t say anything. I laid my hand on the thigh of the aunt, still the aunt did not say anything. Then with one finger of my hand, I thrashed the thigh of aunt like a bit.
Aunt took Siskiari, I understood that the matter is fit. Aunt will get hot soon. If I did anything again.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

Now I asked aunt – aunt, who lives in your house?
She told that she lives and has a husband and two small children. Both children study in school.
I said ‘hmm…Desi aunty story.

Then aunt said – where do you live in Delhi?
I told the address of the aunt where I live that I live here in Delhi.
Auntie said to me – oh I also live with you… in the colony next to you. xxxhindistory

Aunt told the name of the colony. I understood that this is a very close address. We both started laughing for Desi aunty story.

I rubbed the thigh of the aunt and said – aunt this is a very good thing… We have met and you too live with me. Can we be friends?
Aunty understood the point of my talk, he said – Yes, you can be absolute. You have also helped me. xxxhindistory
I told the aunt – Oh aunt, there is no such thing, it was my duty. I keep doing this.
The aunt also laughed and said – Okay… this help will have to be checked. Now our station has come, now let’s go.

I said to the aunt – it is now night… It is 11 o’clock. What will you do… You must be tired too. Take some rest. Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory
They said – no no, my husband will come.
I asked – when will you come?
He told- He has gone to the grandparents’ place with the children, will come the day after tomorrow.
I asked – aunt, why don’t you come to my room or I go to your room.
He said – Okay, you come to my house… will talk some things there.

Aunt was also opened. We both walked into the aunt’s house and sat in the house and started talking about something similar here and there on the bed. xxxhindistory

I asked – aunt you are looking very hot… your husband stays outside for so many days.
He said – no no don’t stay out … He has gone to grandparents here with children … will come after just 2 days.
I said – aunt will you be alone till then?
He said – Where am I alone… Now you have come, no the Desi aunty story.

Saying this, she bent over me. At the same time, I kissed the aunt on the neck.
Aunt sighed and said – Do it very loudly… xxxhindistory

Aunt was now so much opened up and looked very cute.
I said, aunt, don’t you worry… I just let you down.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

I woke up and kissed the aunt’s neck and started licking her by putting a tongue in his ear.

After a while aunt became very hot and she was holding my cock in Desi aunty story.

I said – wait aunt, I am right… I will give you Chod… We have all night… You do not worry… what is so soon.
He said – now does not stop… do it quickly.
I said – no aunt… have been up all night… let the fun be there.
Auntie said that is fine Desi aunty story.

Now I stood up and raised the aunt as well. I started to open her sari. xxxhindistory

Friend, I forgot to tell you one thing that aunt must have been 45 years old but she was not looking more than 30-32. His ass was very thick and wide in Desi aunty story. Seeing only his full ass at the station, my mouth was watery. It seemed to me that I should just drop them and climb on top of them, put tongue in their ass and start licking them Desi aunty story.

After removing the aunt’s sari, I removed her petticoat. As soon as I took off the petticoat and looked, I found that he was not wearing any panty at the bottom of Desi aunty story. When she looked carefully at the blouse above, the aunt was not even wearing a bra.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

Then I removed her blouse. Now aunt was completely naked in front of me. Auntie embarrassed herself by finding herself naked in front of me.

I told the aunt – don’t you be shy, friend… if you enjoy it openly, you will feel better.
He shook hands on my chest and said- Okay. But if you also get naked then both of us will become equal. There will be no problem and I will not feel shy.
I said – Aunt you yourself, do not take off ..! Desi aunty story

Aunt first removed my paint and removed my underwear. As soon as the aunt saw my 8 inch long and thick black cocks, she panicked and backed away.

Auntie Bolin – father,… so big… I will never be able to penetrate it… I can only suck it, I will not be able to penetrate it in the pussy… I have never taken it so far.
I said – aunt you do not worry… Now when I fuck you… then you will enjoy it. Go see you… I will kill your ass with this too Desi aunty story.

When the aunt touched my cock fearing, then the cocks whimpered, so that the aunt left the cocks in panic. I laughed. On seeing me laughing, the aunt smiled too Desi aunty story.

Now I put the aunt on the bed and broke her ass. I lifted his legs in the air and started licking the aunt’s ass hole with my tongue.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

I licked his ass hole for a long time. I licked Auntie’s ass by licking it. After that I told Aunt to be in Doggy style. Aunt quickly became a bitch Desi aunty story. I spread his ass with both my hands. Then I got my long tongue penetrated into his ass hole and started licking. I was licking the tongue out inside the ass. I was enjoying it very much.

I love to lick a woman’s ass with a tongue and I can do all this continuously for a long time Desi aunty story.

As soon as my tongue penetrated the ass hole of aunt, aunt used to enjoy it a lot. Aunt was blissfully

After some time the aunt said – I have never experienced this before… till date, nobody has ever done this in my ass then Desi aunty story.
I asked – why your husband does not kill your ass?

He said- My husband falls in my pussy in only 2 minutes… His worthless ass would have been hard.
I told the aunt – aunt I love her most in women lick her body… especially by putting tongue in her ass lick my enjoyment is four times.
He said- I like you very much. You lick my pussy in the same way Desi aunty story.

I told the aunt – aunt I lie down… you put your pussy on my mouth lick me… until your heart is full, you do not get up. Forcibly sitting on my face with full force like Desi aunty story.

Aunt started sitting on my mouth with her pussy. The aunt opened her pussy with both her hands and put it on my mouth and sat down.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

Aunt told me to lick pussy. I started licking his pussy with my long tongue. After licking pussy for several minutes continuously, aunt fell in my mouth. His salty material came in my mouth and I drank it all.
The aunt had a smile on her face Desi aunty story.

Then the aunt raised me and said that now you lie down on the bed, I will lick you by putting ass on your mouth.

I lay in bed again. Auntie sat with her ass on my mouth and she said to me – you keep licking my ass, till then I talk to my children on the phone.
Aunt talked on the phone for a long time. During this time, his ass kept going back and forth on my mouth and I constantly licked his hole Desi aunty story.

Then he cut the phone and said to me – how did I taste my ass?
I told the aunt very nice, I always want to stay under your ass then Desi aunty story.

The aunt said, don’t you worry, you stay on rent, don’t you … I will call you anytime at my house. I’d rather rent you a room in my house. Then you keep licking ass and pussy like this.
I said happily- Okay aunt.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

Now the aunt grabbed my cock and started sucking it after putting it in her mouth. Aunty sucked cocks for a long time Desi aunty story.

Then I said – aunt will now fuck your ass first, then pussy.
Aunty was not ready to kill the ass. I somehow celebrated him. After a while aunts were ready.

I started sucking tongue by putting tongue in aunt’s ass again. I licked the ass for two minutes and then I made the aunt a mare to kill her ass. I spit in my cock and put it on his ass Desi aunty story.

I slowly started putting cocks in. Right now the top hat of my cock was penetrated in that aunt started screaming with pain Desi aunty story.
I said don’t worry you aunty, I will put it in slowly.
He said – ok, pour it slowly, I have never killed an ass.

I slowly started stroking the aunt’s cock slowly. In a while, the cocks had gone inside.

I started fucking Aunty’s ass. Aunt started having fun. Then I started pushing fast. Twenty minutes later I fell into his ass. Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

Aunt had become very sensual, she said – you have fallen in the ass itself. How will my pussy calm down?
Then I told them – Aunty, now you lick your pussy… By then my cock will stand again. Then I will kill your pussy.
So they said- Okay.

Desi aunty story – free aunty anal sex stories – xxxhindistory

Then I told the aunt – you lie down, this time I will lie down and lick your pussy.
He said- Okay and Desi aunty story.

I sat down, rolled the aunt and started taking the scent of her pussy. Then after that I put tongue in her pussy and started licking her pussy. I was penetrating the whole tongue and licking continuously. I licked the aunt’s pussy for a long time. Then my cock got erected Desi aunty story.

I put the aunt upside down in doggy style and put the cocks in her pussy from behind and completely rammed them in one stroke. Aunt’s sweet sigh came out. My cock was big, so the aunt was in pain. After some time the aunty’s pussy had set the cocks and they too started enjoying the chudwane Desi aunty story.

I was constantly fucking aunt. After some time my goods went out and we both clung to each other and lay down.

Then after a while when I woke up, I asked him – how did you feel?
He told – very nice.
Then I said – Aunty, now I will keep coming to your house, when you will not have husband.
Aunt said – yes I will call you Desi aunty story.

In this way, friends… I licked the ass and ass of these aunts in tongues and pussy. Later the aunt gave me a room in her house. Now when I get an opportunity to play aunt Desi aunty story.

You guys send me a mail and tell how you liked the story of aunt’s ass and pussy fuck, you must give your opinion. My mail is
[email protected]

Read More Sex Story-

hindi sexy aunty stories आंटी को चोद के दिया सुकून भरा दर्द

Maa xxx kahani दोस्त की माँ को चोदने का मजा kamvasna story

Mother sex stories माँ की चूत का पानी पिया 1 Real Best Sex

Leave a Comment

org/tools/popad.js">