Bhabhi ki hot story भाभी की नरम नरम चूत को चाटा 100 real sex

भाभी की नरम नरम चूत Bhabhi ki hot story

Bhabhi ki hot story: यह जो इंसिडेंट मैं आज आपको बताने जा रहा हूं एकदम सच है. यह एक सिर्फ साधारण कहानी नहीं है, बल्की मेरे जीवन की सबसे खूबसूरत यादों में से एक है. क्योकि तब मैंने पहली बार किसी ओरत का स्पर्श किया था. में इस कहानी को हमेशा से आपसे शेयर करना चाहता था. मैंने भाभी से पूछकर यह कहानी आप सबसे शेयर करने का डिसाइड किया.दोस्तों इस कहानी में कुछ झूठ नहीं लिखूंगा. यह इंसिडेंट आज से 3 साल पहले हुआ था.

मैं 22 साल का हूं, और मेरी हाइट 6 फुट 4 इंच है और देखने में एक एवरेज लड़का जैसा हूं मेरी बॉडी भी अच्छी है. मैं मुंबई का रहने वाला हूं.मेरे घर के बगल में एक भाभी रहती है जिनका नाम स्वर्णा है. उनकी एज 26 साल है, रंग स्वर्ण है और उनका फिगर ३४-२८-३२ होगा. वह बहुत स्लिम है. उनकी स्माइल बहुत प्यारी है. कोई भी लड़का अगर उनको देखेगा तो उन्हें अपना दिल दे देगा. भाभी की शादी 21 साल की उम्र में ही हो गई थी और उन्हें एक चार साल की बेटी भी हे.

स्वर्णा भाभी की मेरी मम्मी से बहुत अच्छी दोस्ती थी इसलिए वह हमेशा मेरे घर आती थी. मैंने कभी उन्हें गलत नजर से नहीं देखा था. दरअसल मैं बहुत शर्मीला लड़का हूं और मैं लड़कियों से बात करने में भी बहुत शर्माता हूं. मैंने भाभी से ज्यादा बात नहीं करता था बस कभी कभी स्माइल पास कर देता था.

एक दिन शाम को मैं घर आया तो मम्मी ने कहा अनुराग स्वर्णा की तबीयत खराब हे, तू जा और उसे डॉक्टर को दिखा ला. मैंने भी पूछा क्यों उनके पति नहीं ले जा सकते? इस पर मम्मी ने मुझे डांटा और कहां जितना बोला है उतना कर

Bhabhi ki hot story

मैं भी बिना मन के भाभी को लेकर अपनी बाइक पर डॉक्टर के पास ले गया. डॉक्टर ने बताया कि उन्हें पिछले 1 हफ्ते से बुखार है जिसकी वजह से उन्हें अब कमजोरी हो गई है. वापस आते समय मैंने भाभी से पूछा कि 1 हफ्ते से बुखार है तो डॉक्टर के पास पहले जाना चाहिए था ना इस पर वो कुछ नहीं बोली.

मैंने अपनी मां से कहा कि भाभी को ऐसे ही इंसान को छोड़ देना चाहिए मेरी मां ने कहा कि एक औरत के लिए ये करना आसान नहीं होता. और तुम दूसरों के घर के मामले में मत पड़ो.

दोस्तों सच बता रहा हूं मैं उस रात बिल्कुल नहीं सोया. और उस दिन के बाद मेरे मन में भाभी के लिए एक कोने में जगह बन गयी. मेरे मन में उनके लिए कोई वासना या प्यार की भावना नहीं थी पर उनको दुखों के लिए एक दर्द था. हर औरत हसते अपने दर्द को छुपा लेती है और समाज को पता भी नहीं चलता.

उस दिन के बाद धीरे धीरे मैंने भाभी और उनके बच्चे से दोस्ती कर ली. मैं हमेशा उनकी बेटी के लिए खिलौना लाता. उसे पढ़ाई में मदद करता. अब भाभी से भी मेरी अच्छी दोस्ती हो गई थी उन्हें अगर मार्केट से कुछ सामान लाना होता तो मैं लाकर दे देता. या उन्हें मार्केट जाना होता तो मैं अपनी बाइक पर ले जाता.

हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे भाभी ने एक बार मुझे बताया कि कैसे उन्हें पढ़ने का बहुत शौक था लेकिन उनके घर वालों ने ग्रेजुएशन के सेकंड ईयर में ही शादी करवा दी. पर वह हमेशा मुझे झूठ कहती है कि वह अपने पति के साथ बहुत खुश है. वह मजाक मजाक में मुझसे कहती कि अगर आप मुझे पहले मिले होते तो मैं आप के साथ शादी कर लेती मैं भी यह बात हंसी में उड़ा देता था.

Bhabhi ki hot story

एक सुबह मैं घर पर अकेला था मेरे घर के सभी लोग बाहर गए थे अपने अपने कामों से. तभी मुझे भाभी के घर से लड़ाई की आवाज आई मैं डर गया. मैंने सोचा क्या मैं उनके घर जाऊं या नहीं? तभी मैंने देखा कि भइया अपने बाइक पर शायद ऑफिस चले गए. मैं 5 मिनट के बाद भाभी के घर गया थोड़ी देर डोर बेल बजाने के बाद भाभी ने दरवाजा खोला और मुझे देख कर कहा

अनुराग तुम्हे कुछ काम है क्या? आओ अंदर बैठो.

मैं देख सकता था की भाभी की आँखे रोने की वजह से थोड़ी लाल हो गई थी. और उनका गाल भी लाल लग रहा था मतलब उनके पति ने उन्हें मारा भी था. मैंने उनसे कहा कि मैंने कुछ आवाजें सुनी यह सुनकर वह थोड़ी परेशान हो गई. फिर उन्होंने बात बदलते हुए कहा कि आवाजे टीवी से आ रही थी.

मैंने कहा नहीं भाभी आप झूठ मत बोलिए.

वह बोली अरे मैं झूठ क्यों बोलूंगी?

आप झूठ बोल रहे हैं अच्छा बताइए आप की आँख क्यों लाल है आप रो रही थी?

उसने कहा नहीं वह तो आंख में कचरा चला गया था.

मैं सोफे पर उनके पास जाकर बैठ गया और उनके गाल को हाथ लगाकर पूछा यह कैसे हुआ? इस पर वह एकदम चुप हो गई मैंने कहा था कि मुझे सब पता है आपके और भाई के बारे में झूठ मत बोलो. अगर आप मुझे अपना दोस्त मानती हो तो अपना दर्द बता नहीं सकती?

Bhabhi ki hot story

यह बात सुनकर हो मुझे पकड़कर रोने लगी और बताया कि कैसे उनके के बेटी के स्कूल जाने के बाद उनके पति ने उनसे झगड़ा शुरु कर दिया? क्योंकि उन्होंने अपने खर्चे के लिए कुछ पैसे मांगे, उन्होंने बताया कि कैसे उनका पति हमेशा से ऐसे ही झगड़ा करके उन्हें मारता है,

उन्होंने कहा कि उनके घर वालों ने जबरदस्ती भाभी की शादी करा दी और उनका पति शुरू से उन्हें अपने मुट्ठी में काबू कर के रखने की कोशिश करता है. और वह बेचारी भी अपने घर वालों की इज्जत के डर से कुछ कर नहीं सकती. इतना बताने के बाद वह जोर जोर से रोने लगी उनका दर्द सुनकर मेरी आंखों में आंसू आ गए.

तभी मुझे उनके गाल के दर्द का एहसास हुआ तो मैं फटक से जाकर घर से आइस क्यूब ले आया मैंने वह क्यूब उन्हें दी पर वह लगातार रोये जा रही थी, इसलिए वह क्यूब लेकर मैं उनके पास बैठ गया.

मैंने सोचा कि मैं उन्हें रोने देता हूं क्योंकि रोने से उनका दर्द निकल जाएगा. उन्होंने मेरी तरफ देखा और कहा मैंने किसी का कभी कुछ बुरा नहीं किया तो मेरे साथ ऐसा क्यों हो रहा है? और वहां मुझे पकड़ कर रोने लगी.

उनके इस सवाल का मेरे पास कोई जवाब नहीं था. मैंने आइस क्यूब ली और उनके गाल पर लगाने लगा भाभी के आंसू रुक नहीं रहे थे और रोने की वजह से उनका आंख भी लाल हो गए थे. मैंने अपने हाथों से उनके आंसू पोछते हुए कहा अब बस करो आप और रोयेंगी तो तबीयत खराब हो जाएगी. उन्होंने मुझे देखा और कहा तुम्हें उससे क्या? तबियत मेरी खराब होगी. मैं तो ऐसे ही मर जाना चाहती हूं. इस बात पर मैंने उन्हें डांटा और बोला चुप हो जाओ भाभी वरना.

Bhabhi ki hot story

वह चिल्ला कर बोली “वरना वरना क्या? तुम हो कौन मुझ पर चिल्लाने वाले, वैसे भी मैं किसी के लिए कुछ मायने नहीं रखती, कोई मुझसे प्यार नहीं करता. मैंने उनकी आंखों में आंखें डाल कर कहा आप मेरी दोस्त है, मेरे लिए आप इंपॉर्टेंस रखती हे. भाभी और मैं बहुत पास बैठे थे और वह मुझे एक टक देखे जा रही थी. पूरे रूम में एक अजीब सी शांति थी. तभी अचानक पता नहीं क्या हुआ? वह मेरी तरफ बढ़ी और मेरे लिप्स को किस करने लगी. मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या हुआं मेरे लिए यह सब नया था. मेरे दिल की धड़कन तेज होने लगी मुझे कुछ फिल नहीं हो रहा था.

तभी मुझे किस कर रही थी और मैं पुतले की तरह बेजान था. अभी थोड़ी देर में मुझे होश आया मैंने उससे कहा भाभी आप यह क्या कर रही हैं? यह गलत है आप शादीशुदा हैं आपकी एक बेटी है. ऐसा कह कर मैं जाने लगा. तभी पीछे से उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली.

प्लीज मत जाओ मैं जानती हूं यह गलत है पता नहीं क्यों मुझे यह सही लग रहा है. मैंने कभी सच्चे प्यार का एहसास नहीं किया पर तुम पास हो तो लग रहा है कि यह दिल हमेशा से तुम्हे ही चाहता था. आज प्लीज मेरे प्यार के लिए नहीं तो दोस्ती के लिए रुक जाओ इतना कहकर वह मेरे सामने आ गई और मेरी हाथ को पकड़कर अपने कमर पर रख दिया और बोली

मैंने कभी सच्चे प्यार का एहसास नहीं किया शादी के बाद सिर्फ एक इंसान के लिए हवस का का भोग बनी हूं. आज मुझसे मेरा प्यार मत छीनो ऐसा कहकर वह मुझे किस करने लगी उनकी बातों का असर मुझ पर भी हुआ और जाने अनजाने में मैं भी उनका साथ देने लगा.

Bhabhi ki hot story

मैं पहली बार किसी को किस कर रहा था. मैं उनके नरम नरम होंठों को महसूस करने लगा हम दोनों ने एक दूसरे को कस के पकड़ लिया था और दूसरे को जबरदस्त किस कर रहे थे. मैं कभी उसके जीभ का स्वाद ले रहा था तो कभी वह मेरी जीभ का स्वाद ले रही थी. हमने एक दूसरे को लगातार 15 मिनट तक किस किया होगा.

उसके बाद सभी ने मुझे सोफे पर गिरा दिया और मुझे मुझ पर चढ़ गई और मेरे कान और गर्दन पर पागलों की तरह किस करने लगी. मैं भी अपने हाथों को उनकी चिकनी पतली कमर पर चलाने लगा और एक हाथ से उनके छोटे प्यारे ब्रेस्ट को ब्लाउज के ऊपर से दबाने लगा. उनकी गर्म सांसों ने मुझे पागल बना दिया था. तभी भाभी ने मेरे शर्ट को एक झटके में खोल दिया और मेरे बनियान को फाड़कर मेरे चेस्ट को चूमने लगी. मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था

मैं उनके बालों में हाथ फेरने लगा और उनकी रेशमी बालों को खोल दिया अब मुझ में भी एक जोश सी आ गयी थी. मेरा दिन घोड़े की तेजी से दौड़ रहा था. उपर से भाभी की मीठी खुशबू और गरम सांसो ने मेरे अंदर एक उबाल सा पैदा कर दिया था. मैंने भाभी को उनके बालों से पकड़कर खींचा और अब मैं उनको पागलों की तरह किस करने लगा उनके गाल, गर्दन, सर सब कुछ और हर जगह मैंने किस की.

ओके हल्की हल्की सिसकियां लेने लगी. मेरे कानों में उनकी आः अह्ह्ह हहह म्मम्म उम्म्म्म ओह्ह्ह्ह एस येस्स्स्स अह्ह्ह्ह आम्म्म उम्म्म्म ओह्ह्ह्ह हल्की आवाजें आ रही थी. मैंने उन्हें गोदी में उठाया और ले जाकर उन को बेड पर पटक दिया और उन पर टूट पड़ा.

मैंने उनकी साड़ी निकाल कर फेंक दी मेरे सामने सिर्फ ब्लाउज और पेटीकोट में थी. मेरी नजर उसकी चिकनी कमर पर पड़ी और क्या बताऊं दोस्तों? उसके जैसी कमर किसी की नहीं होगी एकदम स्लिम, गोरी और नर्म और उस पर उस की बेली बटन यह सब देख कर मुझ से रहा नहीं गया.

Bhabhi ki hot story

मैंने सीधा उसके कमर को चूमना शुरू कर दिया, अब स्वर्णा की आवाजें भी बढ़ने लगी थी. भाभी के कमर को जितने तेजी से चुम रहा था उतने ही तेजी से कमरे में स्वर्णा की आवाजे भी बढ़ रही थी. वह मेरे एक हाथ से अपनी चूची को उसकी ब्लाउज के उपर से ही दबा रही थी. और दुसरे हाथ से मेरे बालो में अपना हाथ फेर रही थी. मेरा एक हाथ भी बहोत जोर से स्वर्णा की चूची को दबा रहा था और दूसरा उसके पेटीकोट के उपर से उनकी चूत को सहला रहा था.

चिकनी कमर को चुमते चुमते मैं नीचे पहुंचा. मैं अपने हाथों से भाभी की चूत की गर्मी महसूस कर सकता था. मैं जोर-जोर से उनकी चूत मसलने लगा वह जोर जोर से चिल्लाने लगी प्लीज अहह्ह्ह हहह अम्मम्म प्लीज़ धीरे आह्ह्ह्ह उम्म्मम्म अगग्ग्ग हह्ह्ह्ह करो अनू अह्ह्ह्ह अम्मम्म इआईइ अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्ह ऊम्म्मम्म प्लीज अनु.

मैंने पटक से भाभी के ब्लाउज को खोज दीया और उसकी चुचियो में अपना मुंह डाल दिया और जोर जोर से ब्रा के ऊपर से ही उन्हें चूसने लगा. फिर मैंने उसकी ब्रा भी गुस्से में फाड़ दी. और चुचियां को चूसने लगा.

तभी मेरे मुंह में दूध आया यह देखकर स्वर्णा हंसने लगी मुझे और गुस्सा आया और मैंने दूध चूसने लगा बीच बीच में उसकी चुचियो को जोर से काट देता वह जोर से चिल्लाती मत कर अह्ह्ह अम्म्म उम्म्म्म ओह्ह्ह आह्ह्ह य्रस्स्स्स येस्स अह्ह्ह्ह ऐम्म्म्म ओह्ह्ह्ह आह पिलो ऊऊओ मेराआआ और मेरे सर को अपनी चुचियों पर दबाने लगे उनका दूसरा हाथ ट्राउजर के अंदर मेरे लंड से खेल रहा था.

जब भी मैं उनकी चुचियों को काट देता वह जोर से मेरा लंड दबा देती. मैंने भी अपना एक हाथ उनके पैंटी में डाल दिया. मैं महसूस कर सकता था कि उनके चूत पर बहुत छोटे छोटे बाल थे, और भाभी की चूत बहुत गीली हो गई थी मैं अपने हाथ से चूत को रगड़ने लगा तभी अचानक से दो उंगली चूत में डाल दी और फिंगरिंग करने लगा मेरी उंगलियों का यह वार भाभी संभाल नहीं पाई और चिल्लाई आह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह पागल हो क्या? आःह हाहाह हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह धीरे रुककक्क जाओऊऊऊ. मैं नहीं रुकने वाला था. मैंने भाभी की चुचियों को चूस चूस के निचोड़ दिया था.

Bhabhi ki hot story

फिर मैं धीरे धीरे भाभी को किस करते हुए नीचे आया. मैंने उनकी पेटीकोट और पेंटिं एक ही झटके में उतार दी. अब मेरे सामने भाभी का प्यारा सा गिला चूत था हल्की हल्की बालों वाली मैंने पोर्न मूवीस में देखा था लड़कों को चूत चाटते हुए. मैं भी बिना कुछ सोचे समझे उस पर टूट पड़ा और उसे चाटने लगा. भाभी मेरा सर उसमें दबाने लगी.

Bhabhi ki hot story.

मैं मजे से चूत चाट रहा था और भाभी के नमकीन पानी का मजा ले रहा था. जब मैं अपनी जीभ चूत में अंदर डालता भाभी अपने गांड उठाकर सिसकियां लेती अह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह्ह येस्स्स्स अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह येस्स्स्स अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उम्म्म्म अहह्ह्ह येस्स्स्स ऐईईई आह्ह्ह्ह येस्सस्सस्स अह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह्ह येस्स्स्स अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह येस्स्स्स अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उम्म्म्म अहह्ह्ह येस्स्स्स ऐईईई आह्ह्ह्ह येस्सस्सस्स अनुराग वह चुतीया तो मेरी सिर्फ चुदाई करता था उसने ऐसा कभी भी नही किया और मेरे सर को और जोर से दबाने लगी. मैं भी दोनों हाथों से उसके चुचे मसल रहा था और चूत चाट रहा था.

थोड़ी देर में भाभी ने मुझे अपने पैरों से जकड़ लिया और मेरे सर को पूरा अपनी चूत पर दबा दिया. अब मुझे भी घुटन से होने लगी और मेरा सांस फूलने लगा. इतने में वह सिसकिया लेते हुए जड गई और मैंने उन का सारा रस पी लिया.

और फिर मैं बगल में सो गया. हम दोनों हांफ रहे थे पूरे कमरे में गर्मी हो गई थी. और एकदम शांति थी बस हमारे सांस लेने की आवाज आ रही थी. हम दोनों पसीने से भीग चुके थे. थोड़ी देर की शांति के बाद भाभी बोली अनुराग आई लव यू अब मुझसे नहीं रहा जाता जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो, और मेरी चूत की गर्मी को मिटा दो. 1 घंटे में श्रुति की स्कूल बस भी आ जाएगी.

इतना कहकर वह पेड़ पर घोड़ी बन कर तैयार हो गई और अपने गांड मटकाते हुए बोली आजा मेरे राजा अपने मोटे लंड से फाड़ दी मेरी चूत ऐसा सुनकर मुझ में भी जोश आ गया मैं भाभी के पीछे आ गया उन्होंने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर सेट किया और बोली मार दे धक्का.

Bhabhi ki hot story

मैने भी उसे कमर से पकड़ा और एक धक्का मारा और एक ज़टके में मेरा ६ इंच का लंड उनके चूत के अंदर चला गया. मेरा यह पहली बार था तो मुझे थोडा दर्द हुआ पर मैने अपनी स्पीड बढ़ा दी और उन्हें ठका ठक चोदने लगा. में अपने एक हाथ से उसके बालो को खीचने लगा और दुसरे हाथ से उसकी गांड पर थप्पड़ मारने लगा. वो दर्द से मुझे गालिया देने लगी अह्ह्ह हहह हरामी की ओलाद आह्ह्ह हह्ह्ह अम्म्म्मुह उह्ह्हह्ह कुत्ते मम्म्म्मा माअराआ मार माआआत मुझे अहहह्ह उम्म्मम्म उह्ह्ह्हह्ह हाहाह.

Bhabhi ki hot story

दस मिनिट तक डौगी स्टाइल में करने के बाद मैने भाभी को सीधा घुमाया और उनके लेग्स को अपने कंधे पर रखा और स्टार्ट कर दिया अब में अपने हाथ से उसके बूब्स भी मसल सकता था और वह भी बहोत मजे लेकर अपनी गांड उठा उठा कर मजे से चुदवा रही थी.

१५ मिनिट के बाद उसकी बोडी अकड़ने लगी और वह आआह्ह माम्म्म्म तोह्ह्ह्ह जड़ने आआह्ह आज्ज्ज अम्म्म वाली अआहः ममं हु आह्ह्ह और वह जड गई और थोड़ी देर बाद मैने भी उनके चूत में जड़ दिया और उनके ऊपर गिर गया. अब मेरा लंड एकदम लाल हो गया था और दर्द कर रहा था. भाभी ने मुझे गले लगाया और कहा बाबु आज से में तुम्हारी हु, में जिन्दगी भर बस तुमसे ही प्यार करुँगी. अभी तुम जाओ श्रुति आ जाएगी स्कुल से. और में भी उसे किस करके और उसे आय लव यु बोलके उसके घर से निकल गया.

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

Bhabhi ki hot story.

Read in English

bhabhi ki chut chudai Bhabhi ki hot story

Bhabhi ki hot story: This incident which I am going to tell you today is absolutely true. This is not just a simple story, but one of the most beautiful memories of my life. Because then for the first time I touched some lady. I always wanted to share this story with you. I asked the sister-in-law to disseminate this story to you all. Friends, I will not write anything false in this story. This incident happened 3 years ago.

I am 22 years old, and my height is 6 feet 4 inches and I am like an average boy and my body is also good. I am a resident of Mumbai. There is a sister-in-law named Swarna next to my house. His age is 26 years, the color is golden and his figure will be 37–24–32. He is very slim. His smile is very sweet. If any boy sees them, he will give them his heart. Sister-in-law got married at the age of 21 and she also has a four-year-old daughter. Bhabhi ki hot story.

Swarna Bhabhi had a very good friendship with my mother so she always used to come to my house. I had never seen him wrong. Actually I am a very shy boy and I am also very shy to talk to girls. I did not talk much to her sister-in-law, she would sometimes pass a smile, Bhabhi ki hot story.

One day when I came home in the evening, my mother said that Anurag Swarna’s health is bad, you go and show it to the doctor. I also asked why her husband cannot take her? The mother scolded me and said as much as I could.

Bhabhi ki hot story
I also took my sister-in-law to the doctor on my bike. The doctor told that he has a fever for the past 1 week, due to which he has become weak now. While coming back, I asked her sister-in-law that if she had fever for 1 week, she should have gone to the doctor earlier, nor did she say anything on it.

I told my mother that sister-in-law should leave such a person, my mother said that it is not easy for a woman to do this. And you do not get into the matter of the house of others, Bhabhi ki hot story.

Friends telling the truth, I did not sleep at all that night. And after that day, there was a place in my mind for sister-in-law. I had no feelings of lust or love for him, but he had a pain for sorrows. Every woman hides her pain and society does not even know, Bhabhi ki hot story.

After that day, I slowly befriended her sister-in-law and her child. I always brought a toy for his daughter. Helps him in his studies. Now I had a good friendship with her sister-in-law, if she had to bring some goods from the market, I would have brought it. Or if they had to go to the market, I would have taken them on my bike, Bhabhi ki hot story.

We had become very good friends, sister-in-law once told me how she was very fond of reading, but her family got her married in the second year of graduation. But she always tells me a lie that she is very happy with her husband. She would jokingly tell me that if you had met me earlier, I would have got married with you, I would have made this thing laugh.

Bhabhi ki hot story
One morning I was alone at home, all the people in my house had gone out of their jobs. That’s when I heard the sound of a fight from the sister-in-law’s house. I thought should I go to their house or not? Then I saw that brother may have gone to office on his bike. After 5 minutes I went to the sister-in-law’s house. After playing the doorbell for a while, the sister-in-law opened the door and looking at me said, Bhabhi ki hot story.

Anurag, do you have some work? Come sit inside

I could see that her eyes had turned a bit red due to crying. And her cheek also looked red, meaning her husband had killed her. I told him that I heard some voices hearing that, Bhabhi ki hot story.

Got upset Then he changed the talk and said that the voice was coming from TV.

I said no, do not lie.

She said, why will I lie?

You are lying, tell me why is your eye red, you were crying?

He said no, he had gone to the trash in the eye.

I sat near him on the couch and put his hand on his cheek and asked how did this happen? She became very silent on this, I said that I know everything, do not lie about you and your brother. If you consider me your friend then you can’t tell your pain?

Bhabhi ki hot story
Hearing this, Ho caught me and started crying and told how her husband started quarreling with her after her daughter went to school? Because she asked for some money for her expenses, she told how her husband always kills them by quarreling like this,

He said that the people of his house forcefully got the sister-in-law married and her husband tries to keep them in his fist from the beginning. And that poor thing also cannot do anything for fear of respect of her family members. After telling this much, she started crying loudly, tears came in my eyes after listening to their pain, Bhabhi ki hot story.

Then I realized the pain of his cheeks, so I went to the gate and brought the ice cube from home. I gave him that cube, but she was constantly crying, so I sat with her with that cube.

I thought that I would let them cry because crying would relieve their pain. He looked at me and said that I have never done anything bad to anyone, so why is this happening to me? And holding me there started crying, Bhabhi ki hot story.

I had no answer to his question. I took an ice cube and put it on his cheek. The sister-in-law’s tears were not stopping and her eyes had also turned red due to crying. I wiped their tears with my hands and said, now just do it and if you cry, then your health will get worse. He looked at me and said what do you want him to do? I will feel bad I just want to die like this. I rebuked them and said shut up sister-in-law otherwise.

Bhabhi ki hot story
She shouted and said “Otherwise what else? You are the ones who shout at me, I mean nothing to anyone, no one loves me. I put eyes in their eyes and said, “You are my friend, you keep imports for me.” Sister-in-law and I were sitting very close and she was watching me tuck. There was a strange peace in the whole room. Then suddenly do not know what happened? She moved towards me and kissed my lips. I could not understand what happened, it was all new to me. My heart started pounding, I was not getting anything, Bhabhi ki hot story.

Then what was doing to me and I was lifeless like an effigy. Just a short time I was aware that I told her, what are you doing? This is wrong. You are married. You have a daughter. After saying this, I started going. Then he grabbed my hand from behind and said Bhabhi ki hot story.

Please do not go I know it is wrong I do not know why I feel it right. I never realized true love but if you are near then it seems that this heart always wanted you. Today please not for my love, then stop for friendship, saying this, she came in front of me and held my hand and put it on her waist and said

I never realized true love, I have become a lust of lust for only one person after marriage. Today, do not snatch my love from me, saying that she started kissing me, her words also affected me and I also inadvertently started supporting her.

Bhabhi ki hot story
I was kissing someone for the first time. I started to feel his soft soft lips, both of us had caught each other tightly and were kissing each other tremendously. Sometimes I was tasting her tongue, sometimes she was tasting my tongue. We must have kissed each other for 15 minutes continuously, Bhabhi ki hot story.

cript>

After that everyone dropped me on the couch and made me climb on me and kissed me madly on my ear and neck. I also started to run my hands on his smooth thin waist and with one hand pressed his little lovely breast over the blouse. His hot breaths made me mad. Then sister-in-law opened my shirt in a jolt and tore my vest and started kissing my chest. I was feeling very good, Bhabhi ki hot story.

I started turning my hand in his hair and opened his silky hair, now I too had a passion. My day was running fast with a horse. The sweet fragrance and hot breath of the sister had created a boil in me. I grabbed the sister-in-law with her hair and now I kissed her like crazy, kissed her cheeks, neck, head, everything and everywhere.

Ok, I started taking small sobs. His ears were coming in my ears. Ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhmmmmmmmm ohhhhhh yes Yesss Ahhhhhhhhhhhhhhhhhh. I picked them up in the dock and took them and slammed them on the bed and broke them, Bhabhi ki hot story.

I threw her sari out and threw it in front of me only in blouse and petticoat. My eyes fell on her smooth waist and what should I tell friends? No one will have a waist like her, very slim, fair and soft and her belly button on it did not stop me from seeing all this.

Bhabhi ki hot story
I started kissing her waist straight, now Swarna’s voice was also increasing. Swarna’s voice was also increasing in the room as fast as she was kissing her waist. She was pressing her nipple with my one hand over her blouse. And with the other hand I was turning my hand in my hair. My one hand was also very hard pressing Swarna’s nipple and the other was stroking her pussy over her petticoat.

I reached down to kiss the smooth waist. I could feel the heat of sister-in-law’s pussy with my hands. I started rubbing her pussy loudly, she started screaming loudly please Ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh uhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh …Bhabhi ki hot story.

I discovered the sister-in-law’s blouse from the slab and put my mouth in her pussy and started sucking them from the top of the bra. Then I also tore her bra in anger. And started sucking nipples, Bhabhi ki hot story.

Just then, milk came in my mouth and seeing this, Swarna started laughing and I started to get angry and I started sucking milk in the middle, she would cut her fingers in the middle. She should not scream loudly, Ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh. And pressing my head on my fingers, his second hand was playing with my cock inside the trouser, Bhabhi ki hot story.

Whenever I used to cut her pussy she would press my cock hard. I also put one hand in their panties. I could feel that she had very short short hair on her pussy, and sister-in-law’s pussy became very wet. I started rubbing pussy with my hand, then suddenly put two fingers in pussy and started fingering my fingers. Bhabhi could not handle and shouted Ahhhhhhhhhhhhhhhhhhh you mad. Ahhhhhhhhhhhhhhhhh Ahhhhh slowly go to stop. I was not going to stop. I had sucked her sister’s pussy by sucking it.

Bhabhi ki hot story
Then I came down slowly kissing her sister-in-law. I removed his petticoat and painting in one stroke. Now in front of me, sister-in-law’s cute little pussy was light-haired, I had seen in porn movies licking boys pussy. I too broke on him without thinking anything and started licking him. Sister-in-law started pressing me in it. Bhabhi ki hot story.

I was licking pussy with fun and was enjoying salty water of sister-in-law. When I put in my tongue pussy law takes Siskian up your ass Ahhh Ahhh Ohh Ahhh Ohhhh Yessss Ahhhh Ohh Yessss Ahhhh Uhhhh ummmm Ahhhh Yessss Aeiii Ahhhh Yessssss Ahhh Ahhh Ohh Ahhh Ohhhh Yessss Ahhhh Ohh Yessss Ahhhh Uhhhh ummmm Ahhhh Yessss Aeiii Ahhhh Yessssss affection he Chutiya used to fuck me only, he never did this and started pressing my head harder. I was also rubbing her pussy with both hands and licking her pussy. Bhabhi ki hot story.

In a while, sister-in-law grabbed me with her feet and pressed my head completely on her pussy. Now I too started getting suffocated and I started breathing. During this, she went to bed taking a sip and I drank all her juice.

And then I slept next to it. Both of us were panting and the whole room was hot. And there was complete peace, just the sound of our breathing was coming. We were both drenched with sweat. After a while of peace, sister-in-law Anurag I love you, now I am no longer fast, put your cock in my pussy, and erase the heat of my pussy. Shruti’s school bus will also come in 1 hour. Bhabhi ki hot story.

Saying so, she got ready to become a mare on the tree and said while chuckling her ass, Aaja my king tore with his thick cock, my pussy got excited even after hearing this, I came behind the sister-in-law, he grabbed my cock and put it on my pussy Set and bid to give a push.

Bhabhi ki hot story
I also caught him by the waist and hit one and in a pot, my 6 inch cock went inside his pussy. This was my first time, so I had some pain, but I increased my speed and started fucking them. I started pulling his hair with one hand and slapping his ass with the other hand. She started abusing me with pain Ahhhhhhhh Haraami’s hail ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh.

After doing it for ten minutes in Dougie style, I turned the sister upright and placed her legs on her shoulder and started, now I could even mash her boobs with my hand and she too could very easily pick up her ass. Was getting fuck, Bhabhi ki hot story.

After 15 minutes, her body started twitching and she came to Aaahh mmmmm tohhhhhhhhh aaaahhh ajjj ammm wali aaaah: mmm hu ahhhh and she got stuck and after a while I rooted them in her pussy and fell on them. Now my cock had turned very red and was aching. Sister-in-law gave me a hug and said, Babu, from today onwards I am yours, I will love you for the whole life. Now you go, Shruti will come from school. And also I kissed him and I came to love him and left his house. Bhabhi ki hot story.

Read हॉट bhabhi Sex Story-

पड़ोसन भाभी ने मुझे सेक्स करना सिखाया – bhabhi xxx kahani – bhabhi ki stories

xxx desi kahani सगी भाभी के मम्मों की चुसाई bhabhisexstory

Desi bhabhi sex – भाभी की चूत चुदाई का मजा chudi ki khani

Bhabhi xxx story – छत पर देवर भाभी को चोदा – sax kahaniya

Leave a Comment

org/tools/popad.js">