Follow my blog with BloglovinApni maa ki chudai अपनी माँ को चोदने का अहसास 1 Tru Sex

Apni maa ki chudai अपनी माँ को चोदने का अहसास 1 Tru Sex

अपनी माँ को चोदने का अहसास | Apni maa ki chudai

apni maa ki chudai: हाय दोस्तों, में हु सतीश और में गुजरात से हु. मेरे घर में टोटल तिन लोग रहते हे में, मेरा भाई और मेरी माँ. मेरे पिताजी गुजरे हुए चार साल हो गये हे. आज में आप लोगो को बताऊंगा की मैने मेरी माँ को कैसे चोदा. लेकिन उस से पहले मेरी माँ के बारे में आप लोगो को बता दू. मेरी माँ की उमर ३८ साल हे और उसका फिगर का साइज़ ३२-३६-३२ हे.

वह दिखने में बहोत ही गोरी और सेक्सी हे.में मेरी माँ के साथ जब भी बहार जाता या बस में से जाता तो हमारी आस पास के सभी लोग मेरी माँ को घुरके देखते रहते थे. में मेरी माँ के बड़े बड़े बूब्स और उसके फिगर का दिवाना था. में उसके बूब्स और गांड देखने की बहोत कोशिश करता रहता था और कई बार में कामयाब भी हो जाता था लेकिन आज जो में आप लोगो को बताने जा रहा हु वह बात मैने मेरे सपने में भी नही सोचा था.

और दोस्तों मुज में ये सब करने की हिम्मत इस साईट पर सेक्स स्टोरी पढ के ही आयी थी. अब हम लोग स्टोरी की और चलते हे. मेरे पिताजी के गुजर जाने के बाद मेरी माँ एकदम अकेली सी हो गयी थी और मेरी माँ तो एकदम पहले से ही सेक्स की भूखी थी.

मेरे पापा उसको हमारे सो जाने के बाद चोदते थे, हम लोग किराये के मकान में रहते थे इसीलिए हमारा घर बहोत छोटा था और हमे एक ही रूम में सोना पड़ता था. जब हम दोनों भाई सो जाते थे तब पापा उसको किसी करते थे और उसके ऊपर चढ़ जाते थे पर ये सब लाईट बंद होने के कारण ठीक तरीके से दिखाई नहीं देता था पर जितना दिखाई देता और जब वो सेक्स करते थे

तब माँ की चूत की और मुह की आवाज सुन के मेरे दिल में कुछ कुछ होता था. में तो काई बार सोने का नाटक कर के उसे देखता रहता था. पर अब तो माँ एकदम अकेली थी और उसकी सेक्स की भूख को मिटाने वाला अब कोई भी नही था. ये कई महीनों पहले की बात हे जब हम सो जाते थे तो मेरी माँ अकेले ही आपने आप को शांत कर लेती थी.

apni maa ki chudai

मैने कई दफा मेरी माँ को उसकी चूत में उंगली करते देखा था, और एक दिन मैने सोच लिया की मुजे मेरी माँ की हवस को मिटाना ही होगा इस से पहले की वो कही बहार जा कर इसको मिटाने की कोशिश करे. एक दिन मेरे घर में से मेरा भाई उस के एक दोस्त के पास रात को पढ़ाई करने गया हुआ था और घर में सिर्फ में और मेरी माँ दोनों लोग ही थे.

फिर में जल्दी से खाना खा के सोने का नाटक करने लगा क्योंकी मुजे पता था की मेरी माँ उसकी चूत में उंगली किये बगेर नही सोएगी. और जैसे ही मैने सोने का नाटक किया मेरी माँ को लगा के में सो गया हू और फिर माँ ने उसकी नाईटी को ऊपर किया और उसकी चूत में उंगली करना चालू कर दिया, दोस्तों एक और बात माँ कभी कभी उसकी चूत में ककड़ी और बेलन भी डाल देती थी.

जैसे ही माँ ने उंगली करना चालू कर दिया में थोड़ी देर बाद उठ गया और मैने उसके हाथ को पकड लिया तो माँ बहोत घबरा गई. मैने उसे कहा की यह क्या कर रही हो तुम माँ? माँ ने कहा कुछ नहीं खुजली हो रही थी तू सो जा. मैने कहा नहीं सच बताओ तुम्हे रोज हमारे सो जाने के बाद यहाँ पे खुजली होती हे?

तो माँ कुछ भी नही बोली क्योकी मैने उसको रंगे हथो पकड लिया था. अब मुझे मेरे काम को अंजाम देने के लिए मुझे मेरी माँ को थोडा डराना था इसीलिए मैने माँ से कहा आपको जरा भी शर्म नहीं आती आप इस उमर में ऐसे ऐसे काम करती हो अब तो हम भी बड़े हो गये हे और पिताजी नहीं रहे तो क्या तुम ऐसे कम करोगी? अब वो खूब जोर से रोने लगी थी.

मैने माँ से कहा की में अब बड़ा हो गया हु और मुझे पता हे की तुम यह क्या कर रही थी में यह भी समज सकता हु की तुम्हारी चूत की आग को मिटाने वाला अब कोई भी नही हे ऐसे कर के मैने माँ की चूत में धीरे से मेरी उंगली डाल दी तो माँ ने कहा की यह तुम क्या कर रहे हो सतीश? में तुम्हारी माँ हु.

apni maa ki chudai

तो मैने कहा की हा मुझे पता हे और में इसीलिए कर रहा हु की जिस से घर की बात घर में ही रहे. इससे किसी को कुछ भी पता नही चलेगा और तुम्हारी हवस भी पूरी हो जाएगी. माँ अब ना नहीं कर रही थी और मैने उसका कुछ सुने बिना उसे किस करना शुरू कर दिया और उसने थोड़ी देर तक मेरा विरोध किया.

लेकिन जब उसे भी मजा आने लगा तो वह भी मेरा साथ देने लगी. फिर मैने किस करते करते माँ के कपडे उतार दिये और माँ अब मेरे सामने एकदम नंगी हो चुकी थी उकसे बूब्स का तो में पहले से ही दीवाना था और मुझे उसकी चूत को देखने के बाद रहा नहीं गया क्या मस्त पिंक चूत थी उसकी?

में उसे किस करते करते उस की चूत तक पहोंचा और मैने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया और अब तो वह भी मेरा साथ देने लगी थी. जेसे में चूत चाट रह था वह अहहह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हू हुह्ह ममं उम्म्म अम्म्म अहः अम्मम्म औह्ह्ह अम्म्म कम ओन बेटा उह्ह्ह उम्म्म्म येस्स्स्स और कर असे कह रही थी.

apni maa ki chudai

फिर में खड़ा हो गया और मेरे कपडे उतार दिए और मैने मेरा 8 इंच लंड मैने मेरी माँ के सामने खड़ा कर दिया, मेरे लंड को देख के माँ बोली के इतना बड़ा अब तो तुम बहोत बड़े हो गये हो बेटा. और ऐसे बोलके वह मेरे लंड को पकडे के मुह में डाल के चूसने लगी माँ ऐसे चूस रही थी जैसे की भूखे कुत्ते को एक हड्डी मिल गयी हो.

अपनी माँ को चोदने का अहसास – mom ki chudai stories - hindi sex stories apni-maa-ki-chudai-Hindi-sex-stories-mom-ki-chudai-stories

मुझे बहोत मजा आ रहा था, मुझे आज तक ऐसा मजा कभी भी नही आया था और अब मेरे मुह से आवाज आ रही थी आहा हाहा अम्म्म औम्म्म अह्ह्ह अमम्म मोम्म्म्म अम्म आह्ह मम्मम येस्स्स्स कम ओन मा अह्ह्ह्ह और चुसो अब माँ भी गर्म हो चुकी थी अब उससे रहा नही जा रहा था.

उस ने अपनी टाँगे फेलाई और मेरा लंड पकड के चूत पर रख लिया और उस ने मुझे अन्दर डालने को कहा तो मैने भी धीरे से धक्का मारा और मेरा पूरा लंड अंदर चला गया और माँ के मुह से आवाजआई आह हहह्ह

apni maa ki chudai

मैने धीरे धीरे धक्का मारना शुरू कर दिया और माँ कहने लगी और जोर से बेटा मेरी फाड़ दे आज तू और जोर से मार मुझे आज तेरी माँ की चूत को तू फाड़ दे

Apni maa ki chudai

और मेरी प्यास बूजा दे और मैने आपना काम चालू रखा और माँ के मुह से आवाज आ रही थी आह्ह अमम ममं ओम्म अहः ह्ह्ह ओह बेटा चोद मुझे आह्ह औम्म्म और जोर से चोद आह्ह अम्मम्म येस्स्स्स ओह्ह्ह येस्स्स्स और हम लोग तक़रीबन १५ मिनिट तक सेक्स करते रहे और अब मेरा पानी निकलने वाला था और माँ ने मुझे अंदर ही छोड़ने को कहा और अब में जड चूका था. .. और इस तरह मैने अपनी माँ को चोदा और अब रोज रात को चोदता हु.

मुजे आशा हे मित्रो आप लोगो को मेरी स्टोरी पसंद आई होगी.. इस के बाद मैने अपनी कजिन भाभी को कैसे चोदा वह में आपको अगली कहानी में बताऊंगा..

Join Telegram Group

Read in English

Apni Maa ko chodne ka ehsaas | Apni maa ki chudai

apni maa ki chudai: Hi friends, I am from Satish and I am from Gujarat. Total three people live in my house, my brother and my mother. It has been four years since my father passed. Today, I will tell you how I have fuck my mother. But before that, let me tell you about my mother. My mother’s age is 37 years and her figure size is 32-32-32.

He is very fair and sexy in appearance. Whenever I used to go out with my mother or go by bus, all the people around us kept staring at my mother. I was crazy about my mother’s big boobs and her figure. I used to try a lot to see her boobs and ass and was successful in many times but today, what I am going to tell you, I did not even think about it in my dreams, apni maa ki chudai.

And friends, the courage to do all this came to me from reading a sex story on this site. Now we go on with the story. After my father passed away, my mother had become very lonely and my mother was already hungry for sex and apni maa ki chudai.

My father used to fuck her after we slept, we used to live in a rented house, so our house was very small and we had to sleep in the same room. When our two brothers went to sleep, the father used to do it to someone and climbed on top of it, but all this was not visible properly due to the closure of the light but as much as it used to be and when they had sex with apni maa ki chudai.

Then there was something in my heart after hearing the voice of mother’s pussy and mouth. I used to keep watching him after pretending to sleep several times. But now the mother was completely alone and there was no one to satisfy her sex appetite. This was several months ago, when we used to sleep, my mother used to calm you down alone.

apni maa ki chudai
I had seen my mother finger in her pussy many times, and one day I thought that I have to erase my mother’s lust before she goes anywhere outside and try to erase it. One day my brother went to study at night with his friend from my house and there was only me and my mother in the house.

Then I started pretending to eat fast after eating food, because I knew that my mother would not sleep without her finger in her pussy. And as soon as I pretended to sleep, my mother felt that I slept and then the mother upstaged her beauty and started fingering her pussy, friends. Another thing, mother sometimes cucumber and cylinder in her pussy too. Used to put and apni maa ki chudai.

As soon as my mother started fingering, I got up after a while and I caught her hand, my mother got very nervous. I told her, what are you doing, mother? Mother said nothing was itching you go to sleep. I said no, tell me the truth, do you have itching here after we sleep every day?

So mother did not say anything because I caught her red-handed. Now I had to scare my mother a little to carry out my work, that’s why I told my mother, you don’t feel ashamed at all, you do such things in this age, now we too have grown up and what if my father is not there? Will you do less like this? Now she started crying very loudly and apni maa ki chudai.

I told my mother that I have grown up now and I know what you were doing, I can also understand that there is no one to erase the fire of your pussy. When I put my finger on it, mother said, what are you doing, Satish? I am your mother

apni maa ki chudai
So I said that I know and I am doing this so that the matter of the house remains at home. No one will know anything with this and your lust will also be fulfilled. Mother was no longer doing it and I started kissing her without listening to her and she opposed me for a while, apni maa ki chudai.

But when she started enjoying it too, she also started supporting me. Then when I kissed, I removed the clothes of the mother and the mother was now completely naked in front of me, so she was already crazy about the boobs and I was not able to see her pussy after seeing her pussy was her pink pussy?

When I kissed her, I reached her pussy and I started licking her pussy and now she was also beginning to support me. Like she was licking pussy, she was saying Ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh she was saying uhhhhhhhhhhhhhh uhhhhhhhhhhhhhhhhhhh.

apni maa ki chudai
Then I stood up and took off my clothes and I put my 4 inch cocks in front of my mother, looking at my cock, my mother said that now you have grown so much, son. And speaking like this, she put my cock in the mouth and started sucking her mother as if a hungry dog ​​had found a bone.

Feeling of fucking your apni maa ki chudai.
I was having a lot of fun, I have never had such fun till today and now the voice was coming from my mouth. Now he was not going to do it.

He spread his legs and put my cock on the cat’s pussy and he asked me to put it in, so I also pushed slowly and my whole cock went inside and the voice came from mother’s mouth ahhhhh and apni maa ki chudai.

apni maa ki chudai
I started pushing slowly and mother started saying and son tear me hard today and you beat me harder today tear your mother’s pussy and give me thirst and I kept working and mother’s mouth The sound was coming from Ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh ohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh ohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh

better and I was going to have sex for about 15 minutes. Said and now I was stuck. .. And thus I fuck my mother and now every night at night, apni maa ki chudai.

Mujhe Asha, you guys must have liked my story .. After this, how will I tell my cousin-in-law Choda she in the next story ..

Maa ki chudai ki aur kahaniya:

मॉम की चुदाई की सेक्स स्टोरी | apni maa ki chudai – hindi sexstory

जंगल में माँ की गांड को चोदा | maa bete ki gandi kahani – mom son story hindi

सोती हुई माँ की चूत और गांड मारी | mom san xxx story – xxx mom story

2 thoughts on “Apni maa ki chudai अपनी माँ को चोदने का अहसास 1 Tru Sex”

Leave a Comment