सगे रिश्तों में चूत चुदाई का आनंदमिये सुख Best antarvasna 2

सगे रिश्तों में चूत चुदाई का आनंदमिये सुख Best antarvasna 2

Best antarvasna 2:यह सत्य घटना मेरी खुद की है जिसमें मेरी सगी बहन, मौसेरी बहन और मेरी भांजी के साथ सेक्स किया और आज तक कर रहा हूँ. मेरे परिवार की लड़कियों की चुदाई का मजा लें.

दोस्तो मैं अजय, आपके सामने अपने जीवन की एक सच्ची घटना लेकर आया हूं. इसे आप कोई साधारण सेक्स कहानी समझकर मत पढ़ना, क्योंकि मैं जो कुछ भी लिखने जा रहा हूं, वो पूरी तरह से सत्य घटना है.
यह कहानी मेरी खुद की है, जिसमें मेरी सगी बहन नन्दिनी, चचेरी बहन ज्योति और मेरी भांजी कविता शामिल हैं. मैंने इन तीनों के साथ कैसे सेक्स किया और आज तक कर रहा हूँ, ये सभी बातें मैं आपके साथ शेयर करना चाहता हूँ.

मैं इन तीनों लड़कियों की चुत चुदाई के बारे में एक ही सेक्स स्टोरी में बताने जा रहा हूं इसलिए थोड़ा संक्षिप्त में बता रहा हूं.

मेरी उम्र 29 साल की है. नन्दिनी दीदी 32 साल की है, वो शादीशुदा है. वो मुझे बड़ी मोहक लगती थी. मेरी बहन होने के कारण मैं अक्सर उसके घर जाया करता था. नन्दिनी और जीजाजी शहर में रहते हैं और उनके सास ससुर गांव में रहते हैं.

एक दिन जीजाजी को कुछ काम से 5 दिन के लिए अपने गांव जाना पड़ा. उस वजह से उन्होंने मुझे घर पर रहने के लिए बुला लिया. मैं जिस दिन उनके घर गया, उसके पहले ही जीजाजी गांव जा चुके थे. अपनी दीदी के घर पर सिर्फ मैं और नन्दिनी दीदी ही थे.

रात के समय जीजाजी के ना होने से नन्दिनी दीदी को अकेले सोने में डर लग रहा था. तो वो मेरे कमरे में आकर बोली- अजय भाई मैं भी इसी रूम में सोऊँगी.

मैंने भी हां कह दिया. मेरी सगी बहन नन्दिनी और मैं एक ही बिस्तर पर सो गए. थोड़ी देर बाद मुझे सेक्स करने की बहुत इच्छा होने लगी. मेरा लंड खड़ा हो चुका था.

दोस्तो, अगर किसी लौड़े को चुत चोदने की इच्छा होती है, तो वह सिर्फ चुत का छेद तलाशता है. वो यह नहीं देखता कि वह किसकी चुत है. उस समय चुत किसी की भी हो, उससे लंड को कोई फर्क नहीं पड़ता.

मैं पूरी तरह से सेक्स के लिए चुत को लेकर सोचने लगा था और मेरे ठीक बाजू में मेरी बहन सोई हुई थी. दीदी मेरी तरफ पीठ करके सोई हुई थी और मैं भी उसी पोजीशन में नन्दिनी दीदी की तरफ मुँह करके सोया हुआ था. मैं अभी सोच ही रहा था कि नन्दिनी दीदी थोड़ा पीछे को सरक आई. अब मेरा लौड़ा दीदी की तरफ था और नन्दिनी की गांड मेरी तरफ होने की वजह से जैसे ही वो पीछे को सरकी, तो मेरा लौड़ा उसकी गांड को टच करने लगा.

ऐसी हालत में मैं और क्या करता. लंड चुत की तलाश में था और छेद उससे टच हो रहा था. मैंने बिना कुछ सोचे दीदी को पीछे से कसकर पकड़ लिया. मुझे उस समय सिर्फ सेक्स करने की इच्छा हो रही थी. मैंने दीदी के स्तनों पर हाथ डाला और उनको दबाने लगा.

शायद नन्दिनी दीदी नींद में थी. जब मैं नन्दिनी को कसकर चिपक गया और जोर से उसके मुम्मे दबाने लगा, तो उसकी नींद खुल गई.

मेरी यह हरकत देखकर वह पीठ के बल हो गई. लेकिन मैं अब कन्ट्रोल से बाहर जा चुका था. मैं उसके ऊपर चढ़ गया. वो पूरी तरह से जाग चुकी थी. मैं उसके होंठों का चुम्बन लेने लगा और उसी प्रकार किस करते हुए मैं उसके स्तनों को दबाने लगा.

उस समय नन्दिनी दीदी ने टी-शर्ट और हाफ पैंट पहनी हुई थी. मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर किया. उसके नीचे उसने ब्रा नहीं पहनी थी. मैं उसके बड़े बड़े स्तनों को चूसने लगा.

use

कुछ देर तक तो दीदी कुनमुनाती रही. मगर ताज्जुब की बात ये थी कि उसने मेरी हरकत का कोई ख़ास विरोध नहीं किया और न ही वो चीखी या चिल्लाई. इतना सब होने पर नन्दिनी दीदी में मेरा साथ देने लगी थी और बाद में मैंने उसे उस रात चोद ही लिया था.

जीजाजी 5 दिन नहीं आने वाले थे, इस वजह से उन 5 दिनों तक सुबह से शाम तक जब मन हुआ, मैंने नन्दिनी के साथ बहुत मजा किया मतलब सेक्स किया.

अब पूरी चुदाई का किस्सा नहीं बताऊँगा क्योंकि अभी दो लड़कियों के बारे में भी बताना है. पर आप यह जान लो कि उस दिन से मैं जब भी नन्दिनी दीदी के घर जाता हूं और मेरा जब भी दिल करता था मैं मौका देखकर उसकी चुदाई कर लेता था. वो भी मुझसे हमेशा चुदने को रेडी रहती है.

दूसरी सेक्स कहानी मेरी भांजी के साथ चुदाई की कहानी है. वो अभी 19 साल की हुई है. उसे भी मैंने उसी प्रकार पटाया था. मेरी दूसरी बहन शीला की बेटी कविता, जो मेरी भांजी लगती है. मेरी दो बहनें हैं, एक नन्दिनी दीदी, जिसे मैं चोद चुका हूँ, उसकी उम्र 32 साल है. वो बिस्तर में मेरी फेवरेट है और मुझसे खुल कर सेक्स संबंध बनाती है.

दूसरी बहन शीला, उसकी उम्र 38 साल है. शीला की बेटी कविता, जो मेरी भांजी है. वो मुझे बेहद दिलकश लगती थी. मैं हमेशा कविता से मिलने बड़ी दीदी के घर जाया करता था.

एक दिन मैं कविता से मिलने उसके घर गया था. उस समय वो घर पर अकेली ही थी. शीला दीदी और जीजाजी किसी काम से बाहर गए थे और रात को देर से आने वाले थे.

चूंकि मैं कविता को चोदना चाहता था, लेकिन मैंने इस बात को उसे अभी तक नहीं बताया था. आज के दिन उससे अपने प्यार का इजहार करने का मेरे पास मौका था और उसी दिन मैंने अपने प्यार का इजहार कर दिया.

मुझे लगा कविता मुझे नहीं अपनाएगी. लेकिन मेरे दिल में उसके लिए जो फीलिंग थी, वही फीलिंग उसके भी दिल में थी. उसने तुरंत मुझसे हां कर दी. मैं उसके पास गया और उसे अपनी बांहों मे पकड़ कर उसके होंठों पर होंठों को रखकर उसे चूमने लगा. उसके पूरे बदन पर मैं अपना प्यार जताने लगा. मेरा लंड अब खड़ा हो चुका था. वो भी मानो मुझसे लंड की आग मांग रही थी. मैं उसके स्तनों को दबाने लगा.

बाद में मैंने उसका टॉप और लोअर उतार दिया. वो मेरे सामने ब्रा पेंटी में आ गई थी. बड़ी मस्त माल लग रही थी, मेरे लंड ने तो मानो सब्र ही खत्म कर दी थी.

मैं उसकी ब्रा पैन्टी को उतारने का सोच ही रहा था कि तभी अचानक उसे न जाने क्या हुआ कि वो मना करने लगी. शायद उसे डर लग रहा था.

मैंने उसे कसके पकड़ा और भरोसा दिलाया कि मैं उसे बहुत प्यार से पेलूंगा. वो मेरी बात से सहमत ही नहीं हो रही थी.

मैंने उससे कहा- तुमको किसी न किसी से तो चुदना ही है. बाहर वाले से खतरा ज्यादा रहता है, मेरे साथ घर में चुद कर मजा ले सकती हो. फिर मैं तुम्हारी ये जरूरत हमेशा पूरी करूंगा और किसी से कहूंगा भी नहीं.
वो बोली- आप रिश्ते में मेरे मामा लगते हो.

उसकी बात सही थी मगर मैंने उसे बताया कि घर की बात घर में ही रहेगी. मैं तुम्हें पूरी तरह से संतुष्ट करूंगा.

मगर मेरी प्यारी भांजी मान ही नहीं रही थी. यहां मेरा लौड़ा चुत की खातिर मर रहा था.

मैं कविता के पास हुआ और समझाते हुए उसे पकड़ कर चूमने लगा. मैंने उसका लंबा किस लिया. किसिंग करते हुए मैंने अपना हाथ उसकी चड्डी में डाल दिया. और उसकी चड्डी को नीचे कर दिया.

बाद में मैंने उनकी चड्डी को निकाल दिया. मैं समझ चुका था कि आज का मौका छोड़ा, तो फिर कभी ये मुझे चोदने नहीं देगी.

मैंने जैसे ही भांजी की चड्डी निकाली, वो गर्म होने लगी. मैं उसे चूमते हुए बिस्तर पर ले गया. उसे बिस्तर पर लिटा कर मैं उसकी चुत में उंगली करने लगा.

use

बस वो गरमा गई और अब चुदने को राजी हो गई. मैंने अपना तना हुआ लंड बाहर निकाला और उसकी चुत में डालने लगा.

उसका ये पहली बार था इसलिए लौड़ा अन्दर घुस ही नहीं रहा था. दो तीन बार अन्दर बाहर करने पर लंड अन्दर घुस गया. उसकी दर्द के मारे आह निकल गई.

फिर मैंने एक जोर का झटका मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चुत के अन्दर घुसता चला गया.

अह्ह. .. कोरी चुत चोदने में क्या मजा आ रहा था. उसकी दर्द के मारे बुरी हालत हो गई थी. मैंने चूची चूस कर उसको मस्त किया और धकापेल चुदाई करके माल बाहर निकाल दिया. एक बार भांजी को चोद कर मैंने कपड़े पहन लिए. कविता ने भी कपड़े पहन लिए.

इसके बाद कविता ने शीला दीदी को फोन लगाया और मेरे आने की खबर दी. दीदी बोलीं- अच्छा हुआ कि मामा घर पर आ गया है. अब रात भी होने वाली है. मैं चाहती हूं कि आज के दिन यहीं रुक जाऊं.
कविता ने खुश होते हुए कहा- मम्मी आप मेरी चिंता मत करना, मामा घर पर हैं, आप आराम से कल आ जाना.

फिर कविता ने हम दोनों के लिए खाना बनाया. खाने के बाद हम दोनों एक ही बिस्तर पर आ गए. मुझे थकान के कारण नींद आने लगी थी, तो मैं सो गया.

रात को तकरीबन 12 बजे कविता मुझे उठाने लगी और कहने लगी- मामा, प्लीज़ एक बार और मेरी चूत रगड़ दो.

बाप रे बाप उसके मुँह से चुत रगड़वाने की बात सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा. मैंने पहले उसे एक पॉर्न मूवी दिखाई. उसमें एक लड़की मर्द का लौड़ा चूस रही थी. ये देखकर उसका भी लंड चूसने का मन करने लगा. उसने मेरे लंड को पकड़ा और चूसना शुरू कर दिया.

बाद में मैं भी उसकी चुत को चाटने लगा. उसकी चुत पहले से गीली थी. कामुक होने के कारण पानी छोड़ रही थी.

जब कमसिन चुत पानी छोड़ती है, तब चुत चाटने में बड़ा मजा आता है.

use

उसके स्वाद की अलग ही महक होती है. लेकिन वह स्वाद लड़की के खाने पीने पर डिपेंड होता है. जो लड़की पौष्टिक खाना खाती है, उस लड़की की चुत भी स्वादिष्ट रस छोड़ती है.

उसके बाद मैंने कविता के चूचों को दबाया … चाटा … सब कुछ किया.

पूरी रात सिर्फ मैं और कविता ही घर में थे. हम दोनों ने चुदाई की धूम मचा दी.
हम दोनों सुबह 4 बजे सोए. रात भर मैंने कविता की ताबड़तोड़ चुदाई की थी.

सुबह दीदी और जीजाजी देर से आए. दीदी आने के बाद कविता से पूछने लगीं कि रात को अच्छे से नींद आई ना!
कविता ने कहा- हां मम्मी मामा घर पर थे इसलिए कोई परेशानी नहीं हुई.

मैं अब भी कभी कभार मेरी प्यारी भांजी कविता को चोद लेता हूं.

अब तीसरी लड़की है मेरी मौसेरी बहन ज्योति. मैं पहले से ज्योति की फिगर का दीवाना था. उसके स्तन बड़े बड़े थे. और उसके गुलाबी होंठ मुझे दीवाना बनाने की वजह बन चुके थे.

मैंने उसे मोबाईल की मदद से पटाया. उसने नया मोबाइल लिया था और मैं कभी कभार उससे चैटिंग किया करता था. बातों ही बातों में मैं उसके बहुत करीब आ गया था. हम दोनों सेक्स चैट भी करने लगे थे. हम दोनों की चैट में सनी लियोनि और दूसरी पोर्न एक्ट्रेस की चुदाई की चर्चा खुल कर होती थी. हालत ये हो गई थी कि जिस दिन मैं उससे चैट ना करूं, उस दिन मेरा किसी काम में मन नहीं लगता था. उसे भी मुझसे चैटिंग की आदत सी लग चुकी थी.

एक दिन वो मुझे मिलने मेरे घर आई. तो ऐसे ही बातें होने लगीं. घर के सब लोग अपने अपने काम में लगे थे तो मैं ज्योति को अपने रूम में लेकर आ गया. ज्योति मेरी मौसेरी बहन थी. लेकिन मैं उसे उस रिश्ते से नहीं देखता था. मैं तो उसके हुस्न का दीवाना था.

रूम में ले जाकर मैंने उसे मेरे दिल की बात बताई. इस पर वो कहने लगी कि तुम मेरे भाई हो … और ये सब गलत है.
मैंने उससे कहा कि सिर्फ एक बार मुझे इन होंठों को चूमने दो. उसके बाद मैं तुमसे कभी कुछ भी नहीं मागूंगा.
पर वो मान ही नहीं रही थी.

मैंने उसे कसकर पकड़ लिया और उसके गुलाबी होंठों पर अपने होंठ रगड़ने लगा. जैसे जैसे मैं उसे चूमता गया, वैसे वो कामुक होने लगी.
फिर मैंने उसे छोड़ दिया और बोला- जा अब निकल जा यहां से.

लेकिन अब तो उल्टा हो गया था. वो मेरे पास आई और कहने लगी- मुझे माफ कर दो.
वो मेरे गले से लग कर मेरे होंठों को चूमने लगी और कहने लगी- तुम तो मेरे चचेरे भाई हो.

use

और मैं तो मेरे सगे भाई से तक प्यार करती हूं. भाई के प्यार की वजह से मैं तुम्हारे और करीब आना चाहती हूं. मैं चाहती हूँ कि हमारा मिलन भी हो जाए.

मैं समझ गया कि ज्योति मेरी दीवानी हो चुकी है. यही सही मौका है.

उस दिन मैंने मौके का फायदा उठाकर उसे चोद डाला. वो पहले से चुदी हुई थी. लेकिन उसको मेरे लंड से चुदने में असीम आनन्द आया. उसके साथ चुदाई के बहुत ही हसीन पल थे. मेरे रूम में मैं और ज्योति ही थे. घर वाले घर पर थे लेकिन किसी को कुछ खबर नहीं लग पाई थी. उस दिन से मैं ज्योति को हमेशा चोदता रहता हूं.

दोस्तो, शीला दीदी की बेटी कविता, मेरी बहन नन्दिनी दीदी और मौसेरी बहन ज्योति … तीनों घर की लड़कियां हैं. मैंने इनकी चुत चोद कर मजा किया है. अगर हमारे परिवार में इतनी खूबसूरत लड़कियां हों, तो क्यों कोई बाहर की लड़की को चोदना चाहेगा.

मैंने इन तीनों को चोदा था और आज भी चोदता हूं. क्योंकि मेरे पास लड़की पटाने का हुनर है.

दोस्तो, जिंदगी एक बार ही मिलती है इसलिए फुल मस्ती करो और हो सके तो घर की ही लड़कियां पटाओ और चोदो.

यह कोई फेक स्टोरी नहीं है बल्कि सच में मैंने अनुभव किया है. पहले मैं भी डरता था.. लेकिन अब पता चला कि सेक्स किसी के भी साथ संभव है. वो हमारी सगी बहन हो या चचेरी. उनको भी चुदने का मन करता है और वो बाहर वाले से ज्यादा किसी घर वाले से चुदना सुरक्षित समझती हैं.

रिश्तों में चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है

use

Read in English

sage rishton mein choot chudaee ka aanandamiye sukh Best antarvasna 2

Best antarvasna 2: This is a true incident of my own in which I had sex with my real sister, cousin sister and my niece and to this day I am having sex. Enjoy the fuck of my family girls.

Friends, I have brought you Ajay, a true incident of my life. Do not read this as an ordinary sex story, because whatever I am going to write is a completely true event.
This story is my own, which includes my real sister Nandini, cousin Jyoti and my niece Kavita. I wanted to share all these things with you, how I had sex with these three and am still doing it till today Best antarvasna 2.

I am going to tell about the sex of these three girls in the same sex story, so I am telling you in a little brief.

I am 29 years old. Nandini didi is 32 years old, she is married. She looked very seductive to me. Being my sister, I used to visit her house often. Nandini and brother-in-law live in the city and their mother-in-law live in the village Best antarvasna 2.

One day the brother-in-law had to go to his village for 5 days for some work. Because of that, they called me to stay at home. Brother-in-law had already gone to the village the day I went to his house. There were only me and Nandini Didi at her sister’s house Best antarvasna 2.

Nandini didi was afraid to sleep alone due to absence of brother-in-law at night. So she came to my room and said – Ajay bhai I will sleep in this room too.

I also said yes. My real sister Nandini and I slept on the same bed. After a while I started to have a lot of desire to have sex. My cock was erect Best antarvasna 2.

Friends, if a lore has the desire to fuck it, he only seeks out the hole. He does not see whose pussy he is. At that time, no matter what the pussy is, it does not matter to the cocks.

I started thinking about sex for sex completely and my sister was sleeping next to me. Sister was asleep sleeping on my back and I was sleeping in the same position with my face towards Nandini didi. I was just thinking that Nandini didi moved slightly backwards. Now my aloda was towards didi and due to Nandini’s ass being on my side, as soon as she moved backwards, my aloda started touching her ass Best antarvasna 2.

What else would I do in such a situation. Lund was looking for pussy and the hole was touching it. I held the sister tightly from behind without thinking anything. I just wanted to have sex at that time. I put my hands on Didi’s breasts and started pressing them Best antarvasna 2.

Perhaps Nandini didi was asleep. When I clutched Nandini tightly and started pressing her head very hard, her sleep was opened.

Seeing this action of mine, she became back on her back. But now I was out of control. I climbed on top of that. She was fully awake. I started kissing her lips and in the same way, I started pressing her breasts Best antarvasna 2.

Nandini Didi was wearing a T-shirt and half pants at that time. I topped her t-shirt. She did not wear a bra under her. I started sucking her big breasts.

Didi kept quivering for a while. But it was surprising that she did not protest against my actions, nor did she scream or shout. After all this, Nandini started supporting me in Didi and later on that night I had taken Chod Best antarvasna 2.

Brother-in-law was not going to come for 5 days, due to this, when I felt like that from morning to evening for those 5 days, I had a lot of fun with Nandini meaning sex.

Now, I will not tell the story of complete sex because now I have to tell about two girls too. But you know that from that day whenever I go to Nandini didi’s house and whenever I used to do my heart, I used to see her and fuck her. She is always ready to fuck me Best antarvasna 2.

The second sex story is the story of Chudai with my niece. She is just 19 years old. I had beaten him in the same way. My second sister Sheela’s daughter Kavita, who seems to be my niece. I have two sisters, one Nandini Didi, whom I have been Chod, her age is 32 years. She is my favorite in bed and openly makes sex with me Best antarvasna 2.

Sheila, the second sister, is 38 years old. Sheila’s daughter Kavita, who is my niece. She looked very attractive to me. I used to always visit Kavita’s elder sister’s house.

One day I went to meet Kavita at her house. At that time she was alone at home. Sheela Didi and brother-in-law went out for some work and were supposed to come late at night Best antarvasna 2.

Since I wanted to fuck Kavita, but I had not told her this thing yet. Today I had the opportunity to express my love to him and on the same day I expressed my love.

I thought poetry would not follow me. But the feeling I had for him in my heart, the same feeling was also in his heart. He immediately said yes to me. I went to her and held her in my arms and started to kiss her by placing lips on her lips. I started expressing my love for his whole body. My cock was now erected. It was as if I was asking for fire of cocks. I started pressing her breasts Best antarvasna 2.

Later I removed her top and lower. She came in bra panty in front of me. I was feeling very good stuff, my cock had finished patiently.

I was thinking of removing her bra panty, then suddenly she did not know what happened that she started to refuse. Maybe he was scared Best antarvasna 2.

I held her tightly and assured her that I would love her very dearly. She was not agreeing with me.

I told him – you have to fuck someone or something. The danger is more than the outside, you can enjoy it with me in the house. Then I will always fulfill your need and will not ask anyone.
She said – You seem to be my uncle in the relationship Best antarvasna 2.

He was right, but I told him that the matter of the house would remain in the house. I will satisfy you completely.

But my beloved niece could not agree. Here my Aloda was dying for the sake of the pussy.

I approached Kavita and caught her while kissing and started kissing. I took her long kiss. While kissing, I put my hand in his tights. And put his trunks down Best antarvasna 2.

Later I removed his trunks. I had understood that if I miss the opportunity today, it will never let me fuck again.

As soon as I took the niece’s tights out, it started heating up. I took him to bed kissing. Lying on the bed, I began to finger her pussy Best antarvasna 2.

She just got hot and now agreed to fuck. I took out my taut cocks and started putting in her pussy.

This was his first time, so Aloda was not entering inside. When inside out two or three times, cocks got inside. He sighed due to his pain.

Then I hit a loud blow and my whole cock penetrated inside his pussy.

Ahh ..What fun I was having in Corey Chutodane. He was in bad condition due to pain. I sucked on her nipple and sucked her and threw the goods out. Once I caught the niece and I put on clothes. Kavita also wore clothes Best antarvasna 2.

After this Kavita called Sheela Didi and informed me about her arrival. Didi said- It is good that maternal uncle has come home. Now night is also going to happen. I want to stop here today.
Kavita said being happy- Mother, don’t worry about me, uncle is at home, you should be comfortable tomorrow Best antarvasna 2.

Then Kavita cooked food for both of us. After eating, we both came to the same bed. I started sleeping due to fatigue, so I fell asleep.

Around 12 o’clock in the night, Kavita started lifting me and said – uncle, please rub my pussy once more.

I am very happy to hear the father rubbing the mouth of his father. I first showed him a porn movie. A girl was sucking a man’s aloda in it. Seeing this, he also felt like sucking cocks. He grabbed my cock and started sucking Best antarvasna 2.

Later I also started licking his pussy. His pussy was already wet. Was leaving water due to being sensual.

When the kamasin leaves a lot of water, then there is great fun in licking it.

use
His taste has a different smell. But that taste depends on the girl eating the food. The girl who eats nutritious food also leaves delicious juices Best antarvasna 2.

After that I pressed the words of Kavita… Licked… I did everything.

All night only me and Kavita were at home. We both made fun of sex.
We both slept at 4 in the morning. Throughout the night, I had a riff of poetry.

Didi and brother-in-law came late in the morning. After Didi, she started asking Kavita that she slept well at night.
Kavita said- Yes Mama uncle was at home so there was no problem Best antarvasna 2.

I still occasionally take my beloved niece’s poem.

Now the third girl is my cousin Jyoti. I was already crazy about Jyoti’s figure. Her breasts were very big. And her pink lips became the reason for making me crazy.

I cracked it with the help of mobile. He had taken a new mobile and I used to chat with him occasionally. I had come very close to him in many ways. We both started having sex chat too. In both of our chats, the discussion of Sunny Leonie and other porn actresses was open Best antarvasna 2. The situation had become such that the day I did not chat with him, on that day I did not feel like doing any work. He too got used to chatting with me.

One day she came to my house to meet me. So similar things started happening. Everyone at home was engaged in their work, so I brought Jyoti to my room. Jyoti was my cousin. But I did not see him from that relationship. I was crazy about his beauty Best antarvasna 2.

Taking him into the room, I told him about my heart. At this she started saying that you are my brother… and this is all wrong.
I told him to let me kiss these lips only once. After that I will never ask you for anything.
But she was not agreeing Best antarvasna 2.

I held her tightly and started rubbing her lips on her pink lips. As soon as I kissed her, she started getting sexier.
Then I left it and said – Now go out of here.

But now it was reverse. She came to me and started saying – forgive me.
She started kissing my lips with a hug and said- You are my cousin Best antarvasna 2.

And I also love my real brother. I want to come closer to you because of my brother’s love. I want that we also meet.

I understood that Jyoti is my lover. This is the right opportunity.

That day I took advantage of the opportunity and put him on. She was already fucked. But he had immense pleasure in fucking me with cocks. There were very beautiful moments of fuck with him. There was only me and Jyoti in my room. The housemates were at home but no one could find any news. From that day onwards, I am always fucking Jyoti Best antarvasna 2.

Friends, Sheila Didi’s daughter Kavita, my sister Nandini Didi and Mouseri sister Jyoti… are girls from all three houses. I have fun by fucking them. If there are so many beautiful girls in our family, then why would anyone want to fuck an outside girl Best antarvasna 2.

I had all three of them and still fuck today. Because I have the skills to impress a girl.

Friends, life is available only once, so have full fun and if possible, get the girls of the house and fuck them.

This is not a fake story but in fact I have experienced it. Earlier I was also afraid .. But now it is known that sex is possible with anyone. She is our real sister or cousin. She also likes to fuck and she feels safer to fuck with a houseman than outside Best antarvasna 2.

How did you like the story of sex in relationships, I will definitely wait for your comment and message on Telegram. Apart from this, you can also give your opinion by commenting on the story below. And to read sex videos and new story, telegram group can join

Read more Family Sex Stoies –

Hot sister hindi story रातभर बहन की चूत में लंड रखा 1 sex

लंड दिखा कर 1 मामी की मारी चूत best xxx kahani mamisexstory

माँ बेटे की सुहागरात की कहानी 1 best New Mom Sex Story

1 thought on “सगे रिश्तों में चूत चुदाई का आनंदमिये सुख Best antarvasna 2”

Leave a Comment