Bua ki chudai बड़ी बुआ की चूत चुदाई का मज़ा 1 Real Sex Story

बड़ी बुआ की चूत चुदाई का मज़ा Bua ki chudai

Bua ki chudai: मैंने अपनी बुआ की चुदाई कैसे की, पढ़ें इस इन्सेस्ट सेक्स कहानी में … मुझे बड़ी उम्र की औरतों में दिलचस्पी है क्योंकि उनका बदन भरा पूरा और उनके स्तन, गांड बहुत बड़े होते हैं।

मेरा नाम राहुल सिंह है, मैं पटना का रहने वाला हूं। मेरा क़द 5’6″ है और मेरा शरीर एथलेटिक है। मेरे लंड का साइज 6 इंच लंबा और 2 इंच मोटा है। मैं इंजीनियरिंग फाइनल ईयर का छात्र हूँ। मेरी एक गर्लफ्रैंड भी है जो बहुत खूबसूरत और हॉट है। उसका फिगर 34-28-36 है। उसे सेक्स बहुत पसंद है, मैंने उसके साथ बहुत बार चुदाई की है।

लेकिन मुझे शुरू से ही बड़ी उम्र की औरतों में ज़्यादा दिलचस्पी थी। आंटी और भाभी मुझे ज़्यादा आकर्षक और उत्तेजित करती थी क्योंकि उनका बदन भरा पूरा रहता था और उनके स्तन और गांड बहुत बड़े होते हैं। किसी हॉट आंटी को देखते ही मेरा लंड सलामी देना शुरू कर देता था।

यह बात है सर्दियों की जब मेरी बुआ मेरे घर पर आई हुई थी। हमारा परिवार बहुत छोटा है जिसमें मेरा भाई, एक बहन और मम्मी पापा हैं।
मेरी बुआ 10 दिन के लिए रहने आयी थी। उनका नाम शालिनी है और उनकी उम्र लगभग 45 साल है। वो कद में नाटी हैं। उनकी हाइट लगभग 5फुट 2 इंच है लेकिन उनका फिगर बहुत मस्त है. उनके स्तनों का साइज 36 इंच है और उनकी गांड लगभग 35 इंच की होगी।

मेरे फूफाजी ज़्यादातर शहर से बाहर ही रहते थे जिसके कारण बुआ को बहुत कम समय दे पाते थे. वो अपने दो बच्चों के साथ रहती थी जिनमें एक बेटा और एक बेटी थी। उनका मन भी पति से दूर रहकर तड़पता होगा। फूफाजी 4 से 5 महीने पर एक बार घर पर आते थे।

bua ki chudai

जब बुआ हमारे घर रहने आयी हुई थी तब मेरा पूरा परिवार किसी शादी में लखनऊ जाना था. पर मैं नहीं गया क्योंकि बुआ के साथ एक जने का रहना जरूरी था। मैंने कहा कि मैं बुआ के पास रुक जाता हूँ तो सब लोग मुझे और बुआ को घर में छोड़ कर लखनऊ चले गए. उस समय मैं अपने सेमेस्टर एग्जाम ब्रेक में घर आया हुआ था।

मैं अपनी बुआ के साथ बात करने में बहुत फ्रैंक था, मैं उनसे कोई भी बात करने में संकोच नहीं करता था। मैं बुआ को बहुत पसंद करता था और मैं उनके साथ सेक्स करना चाहता था. पर समझ नहीं आ रहा था कि कैसे किया जाए। मैं उनकी मुस्कान पर फिदा था, उनकी मुस्कान बहुत ही खूबसूरत थी, वो जब हँसती थी तो मेरा दिल उनको देख कर और उनके प्यार में पागल हो जाता था।

मेरी आदत थी कि मैं हमेशा घर के बाहर नाले के पास पेशाब किया करता था और वो जगह मेरे घर के छत से साफ दिखती थी.

एक बार मैं वहां मूत रहा था तो बुआ ने छत से मेरा लंड देख लिया था। मेरा लंड 6 इंच का ही है लेकिन है काफी मोटा।

बुआ की चुदाई की तैयारी bua ki chudai

एक दिन की बात है जब बुआ हमारे घर में नहा रही थी। हमारे घर में एक हैंडपंप है और बुआ को हैंडपंप के पास ही नहाना पसंद था। मैं उस समय अपने कमरे में था और टीवी देख रहा था।
तभी बुआ ने आवाज़ लगाई- राहुल … ज़रा आकर हैंडपंप चला कर बाल्टी भर दे।
तो मैं चला गया और हैंडपंप चलाने लगा.

और उसी समय मेरी नज़र बुआ के गदराये बदन पर पड़ी। हाय क्या बदन था बिल्कुल शीशे जैसा … मैं दंग था कि इस उम्र में भी उन्होंने इतना अपने फिगर को मेन्टेन किया हुआ है। उस वक़्त वो पेटीकोट में थी जिससे उनके स्तनों की चूचियां साफ दिख रही थी और पेटीकोट गीली होने की वजह से उनके गोल गोल गांड भी साफ दिख रही थी।

यह नज़ारा देख कर मैं बेक़ाबू हो रहा था और मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था। मैं जैसे तैसे हैंडपंप चला रहा था।

तभी बुआ ने कहा- मेरी पीठ पर साबुन लगा दे.
तो मैं उनकी पीठ पर साबुन लगाने लगा।

शायद बुआ को मेरा मोटा लंड याद आ रहा था और शायद उनका मुझसे चुदाई का मन बन रहा था जिसके लिए वो मुझे उत्तेजित कर रही थी।
क्या मुलायम बदन था बुआ का … जी कर रहा था कि उसी वक़्त उनको चोद दूँ.

bua ki chudai

पर मैंने किसी तरह कंट्रोल किया। फिर मैंने जाकर बाथरूम में मुठ मारी और फिर उनके साथ खाना खाया और सो गया।

फिर शाम को बुआ ने बताया कि उनके पैर और पीठ में दर्द हो रहा है.
तो मैंने उनसे पूछा- क्या मैं तेल मालिश कर दूं?
तो उन्होंने मना कर दिया. परन्तु मैंने जैसे तैसे करके उनको मना लिया।

मैं सोच रहा था कि इसी बहाने कहीं बुआ की चुदाई करने का मौका मिल जाये तो मेरी ख्वाहिश पूरी हो जाएगी। मैं जाकर तेल गर्म कर के ले आया।
मैंने उनको बोला- आप पेट के बल लेट जाइए!
तो वो लेट गई।

मैंने उनकी साड़ी को घुटनों तक ऊपर कर दिया और मालिश करने लगा। जैसे कि मैंने पहले ही बताया कि मेरी बॉडी एथेलेटिक है और मैं कसरत भी करता था जिसके कारण मैंने उनकी ज़ोरदार मालिश करना शुरू कर दिया।

कुछ देर में बुआ को काफी अच्छा लगने लगा और वो बोली- तू तो बहुत अच्छी मालिश करता है, तेरे हाथ भी बहुत सख्त हैं।

थोड़ी देर बाद मैंने उनकी साड़ी को उनके कूल्हों तक सड़क दिया और मालिश करने लगा. धीरे धीरे करते हुए मैं ऊपर बढ़ता गया जिससे उनकी लाल पैंटी दिखने लगी जो उन्होंने पहनी थी।
लेकिन उसके आगे बढ़ने की मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी।

bua ki chudai

पर उसके बाद कुछ ऐसा हुआ जिससे मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बुआ ने खुद से साड़ी को पीठ तक सरका दिया और बोली- जांघों के ऊपर भी मालिश कर।
मैंने शुरू कर दिया और कुछ देर बाद मैं उनकी जांघों के बीच तेल लगाने लगा।

मुझे उनकी चूत की गर्मी महसूस हो रही थी। ऐसा लग रहा था कि बुआ आज मुझसे चुदने का मन बना रही हैं। वैसे भी कई दिनों से उनकी चूत की प्यास किसी ने नहीं बुझाई थी, फूफाजी 4 महीनों से घर नहीं आये थे।

मैं तेल लगाने में व्यस्त था, तभी उन्होंने अपने ब्लाउज और ब्रा की हुक खोल दी और कहा- पीठ पर तेल लगा दे।
तो मैं वैसे ही करने लगा।

धीरे धीरे उनका बदन गर्म और मेरा लौड़ा कड़क हो रहा था। मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उनको बोल दिया- बुआ, मैं आपको पसंद करता हूं और आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं।
इतना कहकर में चुप हो गया और थोड़ा डर भी गया कि शायद वो नाराज़ न हो जायें और ये सब पापा से न बोल दें।

कुछ देर बाद बुआ ने कहा- मैं ये सब इसीलिये कर रही थी कि तुम मुझसे सेक्स करने क़े लिए तैयार हो जाओ।
यह सुनकर मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा और मैंने उनको गले से लगा लिया.

उसके बाद मैंने उनको किस करना शुरू किया और अपने होंठ उनके होठों पर रखकर चूसने लगा। वाह … क्या रसीले होंठ थे उनके … मैंने उसको 10 मिनट तक चूसा।

bua ki chudai

फिर मैंने उनकी ब्लाउज और ब्रा उतारकर दूर फेंक दिया और उनके स्तनों को निहारने लगा, क्या मोटे मोटे स्तन थे।
मुझसे रहा न गया और मैं उनको पागलों की तरह चूसने और चाटने लगा। उनके मुंह से सिसकियाँ निकालनी शुरू हो गई- आआआ आह आअ आह राहुल … और ज़ोर से चूसो!
तो मैं और कस के उनको दबाने और चूसने लग गया।

उनकी चुचियों के निप्पल फूल कर बेर के आकार के हो गये तो मैं समझ गया कि वो गर्म हो चुकी हैं।

उसके बाद मैंने बुआ की पैंटी उतार दी. अब वो पूरी नंगी थी.
क्या नंगा बदन था उनका … सब कुछ एकदम कड़क।

फिर मैंने अपनी जीन्स और चड्डी उत्तर दी और नंगा हो गया। मेरा लंड फुदकता हुआ बाहर आ गया।
तब मैंने उनको बोला- बुआ मेरा लंड चूसो!
तो उन्होंने चूसना शुरू किया. मुझे बहुत ज़्यादा मज़ा आने लगा.

bua-ki-chudai-real-chudai-stories-best-chudai-story

bua ki chudai

कुछ देर तक चाटने के बाद बुआ ने कहा- अब और मत तड़पा और अपना मोटा लंड डाल दे मेरी चूत में। मैं इससे चुदने के सपने कई दिन से देख रही थी जब मैंने तुम्हें पेशाब करते हुए देखा था।

फिर मैंने अपने लंड पर कंडोम लगाया और उसके सुपारे को उनकी चूत के ऊपर रख दिया और रगड़ने लगा जिससे वो और तड़पने लगी और बोली- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … बेटा बस अब डाल दे इस मूसल को अपनी रांड बुआ की चूत में और फाड़ दे।

बस फिर क्या था … मैंने हल्का सा झटका लगाया और थोड़ा लंड उनकी चूत में दाखिल हो गया. बुआ की चीख निकल गयी और वो बोली- निकाल इसे बाहर!

पर मैं कहाँ सुनने वाला था, एक जोरदार झटका लगाया मैंने और पूरा लंड बुआ की चूत में समा गया और शुरू हो गयी बुआ की चुदाई.

उनकी आंखों से आंसू निकल गए। बुआ की चुत शादी के इतने साल बाद भी काफी टाइट थी। मैंने अपने लंड को थोड़ी देर वैसे ही रोक के रखा, फिर धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू कर दिए।

bua ki chudai

अब उनको भी मज़ा आने लगा था और अपनी गांड उठा कर मेरा साथ देने लगी थी

मैंने अपनी चोदन गति बढ़ानी चालू की और उनके मुंह से आवाज़ें आनी शुरू हो गई- राहुल लल … आह बेटे … ऐसे ही ऐसे ही चोदो … अपनी रंडी बना लो मुझे। आज मेरी चूत की प्यास बुझा दो … फाड़ दो इस चूत को। कितने दिनों से मेरी चूत एक लंड के लिए तरस रही थी … आज सब कसर मिटा दे बेटा … आह आह आह आह … तेरे फूफाजी भी कभी ऐसी चुदाई नहीं कर पाते हैं और कुछ देर में ही झड़ जाते हैं। इसलिये आज तक मैंने कभी चुदाई के असली सुख को नहीं भोगा। आज मुझे वो मिल रहा है आह आह आह उफ्फ उफ्फ उफ्फ्फ।

bua ki chudai

15 मिनट तक मैं बुआ की चुदाई करता रहा, फिर वो झड़ गई. मैंने अपने लंड पर गर्म लावे से कुछ महसूस किया, वो उनका वीर्य था।
पर मैं लगा रहा और कुछ देर औऱ चुदाई करने के बाद मैं भी उनकी चूत में झड़ गया।

बुआ ने कहा कि मैंने उन्हें संतुष्ट किया है जो वो फूफाजी से कभी नहीं हो पाई।
उसके बाद हमने पेशाब किया और एक दूसरे से चिपक कर सो गए।

उस दिन के बाद हम बुआ भतीजा ने कई बार एक दूसरे की प्यास बुझाई।

प्रिय पाठको, आपको कैसी लगी मेरी बुआ की चुदाई की इन्सेस्ट सेक्स कहानी?
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

bua ki chudai

Read in English

Badi Bhua ki chudai ka majaa Bua ki chudai

Bua ki chudai: How did I fuck my aunt, read in this incest sex story… I am interested in older women because their body is full and their breasts and ass are very big.

My name is Rahul Singh, I am from Patna. My height is 5’6 ″ and my body is athletic. The size of my penis is 6 inches long and 2 inches thick. I am a student of engineering final year. I also have a girlfriend who is very beautiful and hot. His figure is 34–28–36. She loves sex very much, I have fuck with her many times, bua ki chudai.

But from the beginning, I was more interested in women of old age. Aunt and sister used to make me more attractive and excited because their body is full and their breasts and ass are very big. My cock used to salute me as soon as I saw a hot aunt, bua ki chudai.

This is the winter when my aunt came to my house. Our family is very small with a brother, a sister and a mother and father.
My aunt came to live for 10 days. His name is Shalini and he is about 45 years of age. She is short in stature. His height is about 5 feet 2 inches but his figure is very cool. The size of her breasts is 36 inches and her ass will be about 35 inches and bua ki chudai.

Most of my aunts lived outside the city, due to which they could give very little time to aunt. She lived with her two children, a son and a daughter. Her mind will also be suffering from being away from her husband. Fufaji used to come home once every 4 to 5 months.

bua ki chudai
When Bua came to live in our house, then my whole family had to go to Lucknow for some wedding. But I did not go because it was necessary to stay with a aunt. I said that if I stay near Bua then everybody left me and Bua at home and went to Lucknow. At that time, I was home in my semester exam break, bua ki chudai.

I was very frank talking with my aunt, I did not hesitate to talk to them. I loved aunt very much and I wanted to have sex with her. But I could not understand how to do it. I was fascinated by her smile, her smile was very beautiful, when she used to laugh, my heart would get mad at her and in love with her, bua ki chudai.

My habit was that I always used to urinate near the drain outside the house and that place was clearly visible from the roof of my house.

Once I was mooting there, the aunt had seen my cock from the terrace. My cock is only 6 inches but is quite thick.

Bua ki chudai preparations bua ki chudai
There was a day when aunt was taking bath in our house. There is a hand pump in our house and Bua loved bathing near the hand pump. I was in my room at the time and watching TV.
Then aunt called out – Rahul… come and fill the bucket with a hand pump.
So I went and started running the hand pump. and bua ki chudai.

And at the same time my eyes were on the aunt’s body. Hi Kya Badan was exactly like a mirror… I was stunned that even at this age, he has maintained so much of his figure. At that time, she was in a petticoat, which showed the tits on her breasts, and because of the wet petticoat, her round ass was also visible, bua ki chudai.

Seeing this scene, I was getting disoriented and my cock was full. Like I was running a hand pump.

Then aunt said – put soap on my back.
So I started applying soap on his back.

Maybe aunt was missing my fat cock and maybe she was making me feel like fuck for which she was provoking me.
Was Mulayam’s body… Bua was… that I should fuck him at the same time.

bua ki chudai
But I controlled somehow. Then I went to the bathroom and then ate and slept with them.

Then in the evening aunt said that her legs and back are hurting.
So I asked him- Should I massage the oil?
So he refused. But I somehow convinced them and bua ki chudai.

I was thinking that if I get a chance to fuck the aunt somewhere on this excuse, my wish will be fulfilled. I went to heat the oil and brought it.
I told them – Lie on your stomach!
So she lay down.

I put her sari up to my knees and started massaging. Like I already told that my body is atheletic and I used to exercise also due to which I started massaging them vigorously and bua ki chudai.

After some time, the aunt started feeling very good and she said – You are very well massaged, your hands are also very tough.

After a while, I gave her sari the road to her hips and started massaging. Slowly, I moved up, showing her red panties that she was wearing.
But I did not dare to move forward.

bua ki chudai
But after that something happened that did not stop my happiness. Aunt herself shrugged the sari to the back and said – Massage the thighs too.
I started and after some time I started applying oil between her thighs, bua ki chudai.

I was feeling the heat of her pussy. It seemed that Aunt is making up her mind to fuck me today. Anyway, no one had quenched the thirst of her pussy for many days, the aunt did not come home for 4 months.

I was busy applying oil, then they opened their blouse and bra hook and said – apply oil on the back.
So I started doing the same.

Gradually his body was getting hot and my aloda was hardening. I could not stay and I spoke to them – Auntie, I like you and want to have sex with you.
After saying this, I got quiet and even got a little scared that they might not get angry and should not speak to father and bua ki chudai.

After some time, the aunt said – I was doing all this so that you get ready to have sex with me.
Hearing this, I was not happy and I embraced them, bua ki chudai.

After that I started kissing them and kept my lips on their lips and started sucking. Wow… he had juicy lips… I sucked him for 10 minutes.

bua ki chudai
Then I took off her blouse and bra and threw it away and started looking at her breasts, what were the fat breasts.
I could not keep up and I started sucking and licking them like crazy. Siskians started to get out of their mouths – aaa ah aa aa ah Rahul… and suck it out loud!
So I started pressing and sucking them more tightly, bua ki chudai.

The nipples of her nipples swollen to the size of a plum, so I understood that she is hot.

After that I removed aunt’s panties. Now she was completely naked.
What was his naked body… everything hard.

Then I answered my jeans and tights and got naked. My cock came out puffing.
Then I told them – aunt suck my cock!
So they started sucking. I started having a lot of fun.

bua ki chudai
After licking for some time, aunt said – Do not torture anymore and put your fat cock in my pussy. I have been seeing Chudane’s dreams for many days when I saw you urinating and bua ki chudai.

Then I put condom on my cock and put her betel nut on top of her pussy and started rubbing it so that she started to yearn and said- Ummh… Ahhh… Hahh… Oh… Son just put this pestle in my rand bua ki pussy And tear it down.

What was it then… I took a slight shock and a little cock entered her pussy. Aunt’s scream went out and she bid – get it out!
But where I was going to listen, I took a tremendous shock and the whole cock settled in Bua’s pussy and started Bua’s fuck.

Tears came out of his eyes. Aunt’s aunt was very tight even after so many years of marriage. I kept my cock for a while, then slowly started to bang.
Now he too was having fun and started picking up his ass and supporting me.

I started increasing my fuck speed and the voices started coming from his mouth – Rahul Lal… Ah son… just like that… make me your idol. Today quench the thirst of my pussy… tear this pussy. For a long time, my pussy was craving for a cock… today, erase all cancer, son… ah ah ah ah… even your faufaji are never able to do such a fuck and they fall in a while. That is why till today I have never enjoyed the real pleasure of sex. Today I am getting that ah ah ah uff uff uff uff.

bua ki chudai
For 15 minutes I continued to fuck aunt, then she collapsed. I felt something hot on my cock, that was their semen.
But I kept on and after some time and fuck I also fell into her pussy and bua ki chudai.

Aunt said that I have satisfied her, which she has never been able to do with her husband.
After that we urinated and fell asleep clinging to each other.

After that day, our aunt nephew quenched each other’s thirst several times.

Dear readers, how did you feel about my aunt’s sex story?
[email protected]

More hindi sex story-

बुआ की चूत में दिया अपना लंड | bua ki chudai – hindi sex story

खेत में बुआ ने मेरा लंड चूसा | bua xxx story – mast hindi story

mosi ki beti ke saath sex मौसी की बेटी को लंड चुसवाया

Leave a Comment