Chachi chudai चाची के साथ चुदाई का मस्ती भरा सफर-1 best sex

चाची के साथ चुदाई का मस्ती भरा सफर-1 Chachi chudai xxx hindi story

Chachi chudai xxx hindi story: मैं चाची चाची के घर रहता था. मैं अपनी चचेरी बहन की चूत चोदना चाहता था. एक बार मैं चाची के साथ स्लीपर बस में था. हम दोनों साथ लेटे थे और मुझे बहन की याद आ रही थी.

दोस्तो, मेरा नाम राहुल है. मैं अपने चाचा चाची के साथ पुणे में रहता हूं. मैंने 12वीं तक की पढ़ाई अभी पूरी की है. अभी मैं ग्रेजुएशन करने वाला हूं।

यह घटना मेरे साथ थोड़े दिन पहले ही हुई थी. कुछ दिनों पहले की ही बात है जब मैं अपनी चाची के साथ सोया था.

करीब 2 साल से मैं अपने चाचा चाची और उनकी बेटी के साथ पुणे में रहता हूं. मेरी चाची का नाम गायत्री है और वह दिखने में बहुत सुंदर है. यूं तो लगता ही नहीं कि उनकी उम्र करीब 40 साल के आसपास होगी.

चाची मुझे अपने बेटे जैसा ही मानती है और उनके अपने बच्चे की तरह ही मेरा खयाल भी रखती है. मेरे चाचा बीमा कंपनी में बीमा एजेंट है जिसके कारण वह कई बार शहर से बाहर रहते हैं। मेरी चाची एक हाउसवाइफ है और उनकी बेटी अभी पढ़ रही है.

वैसे तो वह उम्र में काफी बड़ी है 19 साल की … लेकिन कुछ साल पूर्व बीमार हो जाने के कारण वह दसवीं कक्षा में है. चाची और उनकी बेटी दोनों ही दिखने में बहुत मस्त हैं.

पहले तो मैं सिर्फ मेरी सेक्सी चचेरी बहन पर अपनी आंख जमाए बैठा था क्योंकि वह दिखने में काफी सुंदर है. 34-28-36 की फिगर के साथ गजब की शेप में है और वह काफी माल लगती है. मैं अक्सर उसके नाम की मुठ मारा करता हूं।

दोस्तो, मैं अब आपको अपनी अलग ही कहानी के बारे में बताता हूं जो कि मेरे साथ हुई एक सच्ची घटना है. यह घटना मेरे साथ कुछ दिन पहले ही हुई है. दरअसल मैं अभी कुछ दिनों पहले ही मेरी चाची के साथ नागपुर आया हुआ था.

यह सिलसिला तब शुरू हुआ था जब चाचा ने कहा था कि चाची को लेकर नागपुर जाना है. दरअसल चाची के भाई की लड़की की शादी नागपुर में थी और इसीलिए चाची चाहती थी कि चाचा और उनकी बेटी भी उनके साथ चले लेकिन मेरी बहन के एग्जाम होने के कारण वह नहीं आ पा रही थी.

मेरे चाचा भी किसी काम में व्यस्त थे तो चाचा ने मुझसे कहा- तुम चाची के साथ नागपुर चले जाना।
पहले तो मुझे भी जाने का मन नहीं था, फिर बाद में मैंने सोचा कि ठीक है, वैसे भी मैं घर पर बोर हो रहा हूं. इस बहाने ही थोड़ा घूमना हो जाएगा. इसलिए मैंने चाची को आने के लिए हां भर दी.

अब ट्रेन की टिकट नहीं मिल रही थी. बहुत बार ट्राई करने के बाद भी ट्रेन की टिकट कन्फर्म नहीं हो पा रही थी. इसीलिए मैंने सोचा कि अब कैसे भी करके नागपुर तो जाना ही है इसलिए मैंने चाची से कहा कि हम ट्रेवलर (बस) से नागपुर चले जाते हैं तो चाची ने भी हां कर दी।

जब मैं टिकट निकालने अपने दोस्त की दुकान पर गया तो उसने बताया कि उसमें सिंगल सिंगल सीट उपलब्ध नहीं है केवल जुड़वा सीट ही उपलब्ध हैं जबकि मैं नहीं चाहता था कि चाची मेरे साथ एक ही सीट पर सोए.

इसका कारण यह था कि मैं रात को मोबाइल पोर्न फिल्म देखने का आदी था. रात को पोर्न सेक्स वीडियो देखकर ही मुझे चैन मिलता था. मुझे मुठ मारने की आदत थी.

अपनी चचेरी बहन की भी कई सारी फोटो मैंने फोन में सेव कर रखी थी इसलिए मैं नहीं चाह रहा था कि चाची को उसके बारे में पता चले. मेरे पास मेरी बहन की कई सारी नंगी फोटो थी जो मैं रोज रात को देखता था. मुझे रात को लंड हिलाए बिना नींद नहीं आती थी.

टिकट बुक करवाते हुए पता लगा कि सिंगल सीट उपलब्ध नहीं हो पायेगी. दूसरी परेशानी ये थी कि ज्वाइंट सीट भी केवल एक या दो ही बची हुई थी. हमें किसी भी हाल में नागपुर पहुंचना था. मौके की मजबूरी थी इसलिए मुझे हां करनी पड़ी. टिकट और सीट बुक हो गयी.

मैं अभी भी उदास था क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि चाची मेरे साथ सोए. चाची के साथ सफर का सारा मजा खराब होने वाला था. मुझे बहुत अजीब ही लग रहा था. मैं घर आ गया और चाची को कह दिया कि आज रात में ही निकलेंगे।

रात के करीब 8:00 बजे थे और हमारी पैकिंग पूरी हो चुकी थी। 9 बजे के करीब हम लोग गाड़ी से नागपुर के लिए निकल गए। मेरा मूड ऑफ था क्योंकि चाची साथ में ही बैठी थी. मुझे नंगी फिल्म देखने की तलब लगी हुई थी. मुठ मारने का मन कर रहा था.

मैं बहुत उदास सा बैठा हुआ था. बोर हो रहा था. ऐसे ही दो घंटे बीत गये थे. रात के करीब 11:00 बजे थे और मुझे नींद नहीं आ रही थी. रोज की मेरी मुट्ठ मार कर सोने की आदत मुझे आज बहुत तकलीफ दे रही थी.

ऐसे ही मैं लेट गया. चाची भी लेट गयी थी. मरे मन से मैं बार बार करवट बदल रहा था. फिर भी मैं सोने की कोशिश कर रहा था और मेरी बाजू में मेरी चाची आराम से सो रही थी. एकदम से पता नहीं मेरे दिल में क्या हुआ लेकिन मेरा दिल कर रहा था कि मैं अपनी चाची को देखता ही रहूं।

चाची ने पीले रंग की साड़ी पहन रखी थी जिसमें वह काफी अच्छी लग रही थी. उनका पल्लू उनकी छाती पर से थोड़ा सा सरक गया था और इस वजह से मैं उनके ब्लाउज के हुक देख पा रहा था.

मेरी चाची का वो रूप देखकर मुझे अजीब सा फील होने लगा. दिल कर रहा था कि एक ही बार में उनकी सारी हुक निकाल दूं। लेकिन हिम्मत नहीं हो रही थी क्योंकि चाची मुझे अपने बेटे जैसा मानती थी.

उनके स्तनों को नंगा देखने की चाहत में मेरा लंड खड़ा होने लगा था. मन ही मन मुझे हुक निकालने की इच्छा होने लगी। मैंने पर्दे लगा दिये. अब बाहर से कुछ दिख नहीं रहा था. थोड़ी सी हिम्मत जुटाकर मैंने चाची के ब्लाउज का सबसे नीचे वाला हुक निकाल दिया और चुपचाप से उनके बाजू में पड़ा रहा.

थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि चाची को इस बात की भनक तक नहीं लगी थी. फिर तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई. मैंने धीरे से चाची का नीचे से दूसरा वाला हुक भी निकाल दिया. अब उनकी ब्लाउज थोड़ी सी ढीली हो गई थी. मेरा लंड टाइट हो गया था. उत्तेजना में तन गया था.

धीरे धीरे करके मैंने चार हुक में से 3 हुक निकाल दिए. फिर मैंने एक साइड का ब्लाउज हल्के से उठा दिया. ब्लाउज को हटा दिया जिसकी वजह से चाची का एक स्तन बाहर आ गया था.

नंगा स्तन देख कर मैं बहुत उत्तेजित हो गया. चाची को इस हालत में मैंने पहली बार ही देखा था. मेरी इच्छा होने लगी कि मैं चाची के स्तन को पकड़ कर चूस लूं.

मैं चाह रहा था कि उनका स्तन दबाते हुए मैं उसको दबोच दूं और उसका दूध निकाल दूं. उसके स्तन का दूध पी जाऊं. धीरे से मैंने चाची के स्तन को हाथ में पकड़ लिया. फिर हल्के से उनके करीब हो गया.

चाची के साथ चुदाई का मस्ती भरा सफर-1 Chachi chudai xxx hindi story
Chachi chudai xxx hindi story.

मेरी धड़कनें तेज हो रही थीं. मैंने पहली बार चाची के स्तन को छुआ था. फिर मैं अपने मुंह को उनके चूचे के पास ले गया. मैंने अपनी जीभ को धीरे से बाहर निकाला और चाची की चूची को जीभ से छूने लगा. मुझे मस्त सी फीलिंग आने लगी.

मेरा 7 इंची लंड अब फटने को हो गया. मेरी पैंट से बाहर आने की कोशिश कर रहा था. मैंने दूसरे हाथ से अपने लंड को पैंट के अंदर से मसलना शुरू कर दिया. मैं चाची की चूची पर जीभ चला रहा था.

जब मुझसे रुका न गया तो मैंने चाची की टांग पर अपने लंड को टच करवाना शुरू कर दिया. मैं अपने लंड को उसकी जांघ पर धकेलने लगा. मुझे डर भी लग रहा था मगर उत्तेजना भी बहुत ज्यादा हो रही थी. मैं खुद को रोक ही नहीं पा रहा था.

मुझे डर भी लग रहा था कि कहीं चाची जाग न जाये. इसलिए मैं धीरे धीरे अपने लंड को चाची की जांघ से सहला रहा था. कंट्रोल करना बहुत मुश्किल हो रहा था.

मैं हल्के हल्के चाची के स्तन को पीता रहा. फिर मैंने कुछ देर तक चाची के स्तन को पीने के बाद उसके ब्लाउज के बंद बचे हुए आखिरी हुक को भी खोल दिया. अब चाची के दोनों ही स्तन उनके ब्लाउज से बाहर आ गये थे.

हिम्मत करके मैंने धीरे से चाची की चूचियों अपने दोनों हाथों में थाम लिया. चाची के दोनों स्तन बिल्कुल बाहर आ गये थे. अब मैं धीरे धीरे चाची के दोनों स्तन मसलने लगा।

बारी बारी से अब मैं खुद को रोकते हुए आहिस्ता से दोनों ही स्तनों को चूस रहा था.
तभी अचानक से चाची ने अपनी आंखें खोल दीं.
मेरी तो जैसे जान निकल गई. मेरी तो गांड फट गयी थी. सोच रहा था कि पता नहीं चाची अब क्या करने वाली है.

मगर वो बहुत ही लचीले अंदाज से नर्म से लहजे में बोली- राहुल, बहुत गर्मी हो रही है.
इतना बोल कर चाची ने अपनी साड़ी को भी ऊपर कर लिया. उनकी जांघें नंगी हो गयीं. उन्होंने अपने नंगे पैर को उठा कर मेरी टांग पर रख दिया.

अब मैं चाची की पैंटी को भी देख सकता था। चाची दरअसल मुझे हरी झंडी दिखा रही थी. वो चाह रही थी कि मैं उनके साथ और आगे बढूं. मुझे ये बात समझ में आ गयी थी.
मैंने अपना हाथ उनकी साड़ी के अंदर डाल दिया और चाची की गांड को सहलाने लगा.

मैंने मदहोशी भरे से स्वर में कहा- चाची, आपके बदन में सच में बहुत गर्मी हो गयी है. आपकी पैंटी काफी गीली हो गई है.
चाची ने गर्दन हिलाकर हां कहा।

फिर मैंने उनकी पैंटी को पीछे की तरफ से पकड़ कर धीरे धीरे नीचे सरका दिया और उसे निकाल दिया। चाची अब मेरे आगे करीब करीब नंगी हो गई थी।

अब तो मुझसे रुका ही नहीं गया और मैंने चाची की सहमति के बिना ही उनकी चूत को रगड़ना शुरू कर दिया. पहली बार मुझे चाची के जिस्म की ओर इतना आकर्षण महसूस हो रहा था. मैं बहुत ज्यादा उत्तेजना महसूस कर रहा था.

मेरा लंड मेरी पैंट के अंदर से ही चाची को चुभ रहा था. लंड की हालत भी बुरी हो गयी थी. इतनी देर से खड़ा होकर वो दर्द करने लगा था. मैं चाह रहा था कि अब मेरा लंड आजाद हो जाये.

तभी चाची ने मेरी पैंट का हुक खोलना शुरू कर दिया. उन्होंने मेरी पैंट के हुक को खोल कर अपना हाथ अंदर दे दिया. मेरे अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ लिया.

मेरे लंड को पकड़ कर चाची उसे अपने हाथ से सहलाने लगी. इस वजह से मैं आनंद में गोते लगाने लगा. ऐसा लग रहा था कि इससे ज्यादा सुख और दूसरा नहीं है. मैं चाची की ओर गांड को धेकल कर उनके हाथ पर लंज को रगड़वा रहा था. चाची भी उत्तेजना में मेरे लंड को मसल रही थी.

फिर तो मुझसे बिल्कुल कंट्रोल नहीं हुआ. मैंने चाची के ब्लाउज को बिल्कुल ही निकाल दिया. उनकी साड़ी को भी अलग कर दिया. पर्दे लगे हुए थे इसलिए अंदर बाहर का कुछ दिखाई नहीं दे रहा था.

मैंने चाची को बिल्कुल नंगी कर लिया. बदले में चाची ने मेरी पैंट को भी निकाल दिया. मेरे अंडरवियर को भी निकाल दिया. फिर मैंने अपनी शर्ट भी उतार दी. हम दोनों के दोनों पूरे ही नंगे हो गये.

चाची ने मुझे नीचे लिटा लिया और खुद उठ कर मेरे ऊपर आ गयी. वो मेरे लंड को हाथ में लेकर दबाते हुए अपनी चूत पर लगाने लगी. मैं तो पागल सा हो उठा. फिर चाची मेरे लंड पर चूत को रख कर बैठ गयी.

chaachee ke saath chudaee ka mastee bhara saphar-1 Chachi chudai xxx hindi story
Chachi chudai xxx hindi story.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… मेरा लंड गच से चाची की चूत में चला गया. दोनों पैर फैलाते हुए चाची ने पूरा लंड अपनी चूत में ले लिया. अब चाची धीरे धीरे आगे पीछे होने लगी. मेरा लंड चाची की चूत में अंदर बाहर होने लगा. मुझे उम्मीद नहीं थी कि सब कुछ इतना जल्दी हो जायेगा. दोनों सेक्स में डूब गये थे.

अभी तक तो मैं केवल अपनी चचेरी बहन की तरफ ही ध्यान दिया करता था. उसको चोदने की सोचा करता था. चाची की तरफ तो मेरा ध्यान कभी गया ही नहीं था. मुझे नहीं पता था कि चाची भी चुदने के लिए तैयार हो जायेगी.

वो बहुत ज्यादा उत्तेजित लग रही थी. मेरा लंड चाची की चूत की गर्मी को महसूस कर रहा था. काफी गर्म चूत थी उसकी. मैं ऊपर से चाची के स्तनों को मसल रहा था. साथ ही उनको पीते हुए मजा भी ले रहा था.

चाची के स्तनों को मैं इस तरह से पी रहा था जैसे उनसे दूध निकालने की कोशिश कर रहा था. तभी मैंने चाची के स्तन का निप्पल अपने दांत से काट लिया. मुझे बहुत उत्तेजना हो रही थी.

उसकी चीख निकल गयी. हम दोनों को ही ध्यान नहीं रहा कि हम ट्रेवल कर रहे हैं. फिर चाची ने अपने मुंह पर हाथ रख लिया. वो ऐसे ही मेरे लंड पर आगे पीछे होती रही.

चाची का पूरा बदन तप रहा था. मैं भी जैसे हवा में उड़ रहा था. चाची की चूत में लंड अंदर बाहर हो रहा था. मुझे बहुत मजा आ रहा था.

कुछ देर तक चाची मेरे लंड पर ऐसे ही आगे पीछे होती रही और मुझसे कंट्रोल करना मुश्किल हो गया. मेरा वीर्य निकलने को हो गया मैंने चाची की गांड को थाम लिया और उसकी गांड को पकड़ कर अपनी ओर चाची की चूत को खींचने लगा.

तभी मेरे लंड से वीर्य छूट पड़ा. मैं चाची की चूत में ही स्खलित होने लगा. बहुत ही आनंद मिल रहा था चाची की चूत में वीर्य छोड़ते हुए. इतना आनंद मुझे मुठ मारते हुए कभी नहीं मिला था.

चाची अभी भी मेरे लंड पर आगे पीछे हो रही थी. कुछ देर तक वो ऐसे ही करती रही. फिर उन्होंने मेरे लंड को चूत से बाहर कर लिया. मेरा लंड पूरा गीला हो गया था.

अपनी पैंटी से चाची ने मेरे लंड को साफ किया. मुझे लगा कि चाची अब कुछ नहीं करने वाली है. मेरा वीर्य तो निकल चुका था. मैं अपनी आंखें बंद करके ऐसे ही लेट गया. मगर मेरे लंड को साफ करने के बाद चाची ने मेरे लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

chaachee ke saath chudaee ka mastee bhara saphar-1 Chachi chudai xxx hindi story
Chachi chudai xxx hindi story.

मुझे गुदगुदी होने लगी. कुछ ही देर में चाची ने मेरे लंड को फिर से खड़ा कर दिया. वो मेरे लंड को पूरा तनाव में आने तक चूसती रही. मैं चाची की चूत को चोदने के लिए फिर से तैयार हो गया.

फिर मैंने पूरी रात चाची की चुदाई की. हम दोनों पूरी रात नंगे एक दूसरे के साथ चुदाई का मजा लेते रहे. नागपुर आने तक मैंने चाची की चूत कम से कम 3 बार चोदी. चाची भी पूरी थक गयी थी और मैं भी बुरी तरह से थक गया था.

कहानी का अगला भाग: चाची के साथ मस्ती भरा सफर-2

फिर हम वैसे ही पड़े रहे. सुबह होने ही वाली थी इसलिए हमने अपने कपड़े समेटने शुरू कर दिये.
कहानी अगले भाग में जारी रहेगी. कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप नीचे दी गयी मेल आईडी का प्रयोग करें. मुझे आप लोगों की प्रतिक्रयाओं का इंतजार रहेगा.
[email protected]

chaachee ke saath chudaee ka mastee bhara saphar-1 Chachi chudai xxx hindi story

Read in English

chaachee ke saath chudaee ka mastee bhara saphar-1 Chachi chudai xxx hindi story

Chachi chudai xxx hindi story: main chaachee chaachee ke ghar rahata tha. main apanee chacheree bahan kee choot chodana chaahata tha. ek baar main chaachee ke saath sleepar bas mein tha. ham donon saath lete the aur mujhe bahan kee yaad aa rahee thee.

dosto, mera naam raahul hai. main apane chaacha chaachee ke saath pune mein rahata hoon. mainne 12veen tak kee padhaee abhee pooree kee hai. abhee main grejueshan karane vaala hoon.

yah ghatana mere saath thode din pahale hee huee thee. kuchh dinon pahale kee hee baat hai jab main apanee chaachee ke saath soya tha Chachi chudai xxx hindi story.

kareeb 2 saal se main apane chaacha chaachee aur unakee betee ke saath pune mein rahata hoon. meree chaachee ka naam gaayatree hai aur vah dikhane mein bahut sundar hai. yoon to lagata hee nahin ki unakee umr kareeb 40 saal ke aasapaas hogee Chachi chudai xxx hindi story.

chaachee mujhe apane bete jaisa hee maanatee hai aur unake apane bachche kee tarah hee mera khayaal bhee rakhatee hai. mere chaacha beema kampanee mein beema ejent hai jisake kaaran vah kaee baar shahar se baahar rahate hain. meree chaachee ek hausavaiph hai aur unakee betee abhee padh rahee hai Chachi chudai xxx hindi story.

vaise to vah umr mein kaaphee badee hai 19 saal kee … lekin kuchh saal poorv beemaar ho jaane ke kaaran vah dasaveen kaksha mein hai. chaachee aur unakee betee donon hee dikhane mein bahut mast hain Chachi chudai xxx hindi story.

pahale to main sirph meree seksee chacheree bahan par apanee aankh jamae baitha tha kyonki vah dikhane mein kaaphee sundar hai. 34-28-36 kee phigar ke saath gajab kee shep mein hai aur vah kaaphee maal lagatee hai. main aksar usake naam kee muth maara karata hoon Chachi chudai xxx hindi story.

dosto, main ab aapako apanee alag hee kahaanee ke baare mein bataata hoon jo ki mere saath huee ek sachchee ghatana hai. yah ghatana mere saath kuchh din pahale hee huee hai. darasal main abhee kuchh dinon pahale hee meree chaachee ke saath naagapur aaya hua tha Chachi chudai xxx hindi story.

yah silasila tab shuroo hua tha jab chaacha ne kaha tha ki chaachee ko lekar naagapur jaana hai. darasal chaachee ke bhaee kee ladakee kee shaadee naagapur mein thee aur iseelie chaachee chaahatee thee ki chaacha aur unakee betee bhee unake saath chale lekin meree bahan ke egjaam hone ke kaaran vah nahin aa pa rahee thee Chachi chudai xxx hindi story.

mere chaacha bhee kisee kaam mein vyast the to chaacha ne mujhase kaha- tum chaachee ke saath naagapur chale jaana.
pahale to mujhe bhee jaane ka man nahin tha, phir baad mein mainne socha ki theek hai, vaise bhee main ghar par bor ho raha hoon. is bahaane hee thoda ghoomana ho jaega. isalie mainne chaachee ko aane ke lie haan bhar dee Chachi chudai xxx hindi story.

ab tren kee tikat nahin mil rahee thee. bahut baar traee karane ke baad bhee tren kee tikat kanpharm nahin ho pa rahee thee. iseelie mainne socha ki ab kaise bhee karake naagapur to jaana hee hai isalie mainne chaachee se kaha ki ham trevalar (bas) se naagapur chale jaate hain to chaachee ne bhee haan kar dee Chachi chudai xxx hindi story.

jab main tikat nikaalane apane dost kee dukaan par gaya to usane bataaya ki usamen singal singal seet upalabdh nahin hai keval judava seet hee upalabdh hain jabaki main nahin chaahata tha ki chaachee mere saath ek hee seet par soe Chachi chudai xxx hindi story.

isaka kaaran yah tha ki main raat ko mobail porn philm dekhane ka aadee tha. raat ko porn seks veediyo dekhakar hee mujhe chain milata tha. mujhe muth maarane kee aadat thee.

apanee chacheree bahan kee bhee kaee saaree photo mainne phon mein sev kar rakhee thee isalie main nahin chaah raha tha ki chaachee ko usake baare mein pata chale. mere paas meree bahan kee kaee saaree nangee photo thee jo main roj raat ko dekhata tha. mujhe raat ko land hilae bina neend nahin aatee thee Chachi chudai xxx hindi story.

tikat buk karavaate hue pata laga ki singal seet upalabdh nahin ho paayegee. doosaree pareshaanee ye thee ki jvaint seet bhee keval ek ya do hee bachee huee thee. hamen kisee bhee haal mein naagapur pahunchana tha. mauke kee majabooree thee isalie mujhe haan karanee padee. tikat aur seet buk ho gayee Chachi chudai xxx hindi story.

main abhee bhee udaas tha kyonki main nahin chaahata tha ki chaachee mere saath soe. chaachee ke saath saphar ka saara maja kharaab hone vaala tha. mujhe bahut ajeeb hee lag raha tha. main ghar aa gaya aur chaachee ko kah diya ki aaj raat mein hee nikalenge Chachi chudai xxx hindi story.

raat ke kareeb 8:00 baje the aur hamaaree paiking pooree ho chukee thee. 9 baje ke kareeb ham log gaadee se naagapur ke lie nikal gae. mera mood oph tha kyonki chaachee saath mein hee baithee thee. mujhe nangee philm dekhane kee talab lagee huee thee. muth maarane ka man kar raha tha Chachi chudai xxx hindi story.

main bahut udaas sa baitha hua tha. bor ho raha tha. aise hee do ghante beet gaye the. raat ke kareeb 11:00 baje the aur mujhe neend nahin aa rahee thee. roj kee meree mutth maar kar sone kee aadat mujhe aaj bahut takaleeph de rahee thee Chachi chudai xxx hindi story.

aise hee main let gaya. chaachee bhee let gayee thee. mare man se main baar baar karavat badal raha tha. phir bhee main sone kee koshish kar raha tha aur meree baajoo mein meree chaachee aaraam se so rahee thee. ekadam se pata nahin mere dil mein kya hua lekin mera dil kar raha tha ki main apanee chaachee ko dekhata hee rahoon Chachi chudai xxx hindi story.

chaachee ne peele rang kee sari pahan rakhee thee jisamen vah kaaphee achchhee lag rahee thee. unaka palloo unakee chhaatee par se thoda sa sarak gaya tha aur is vajah se main unake blauj ke huk dekh pa raha tha Chachi chudai xxx hindi story.

meree chaachee ka vo roop dekhakar mujhe ajeeb sa pheel hone laga. dil kar raha tha ki ek hee baar mein unakee saaree huk nikaal doon. lekin himmat nahin ho rahee thee kyonki chaachee mujhe apane bete jaisa maanatee thee Chachi chudai xxx hindi story.

unake stanon ko nanga dekhane kee chaahat mein mera land khada hone laga tha. man hee man mujhe huk nikaalane kee ichchha hone lagee. mainne parde laga diye. ab baahar se kuchh dikh nahin raha tha. thodee see himmat jutaakar mainne chaachee ke blauj ka sabase neeche vaala huk nikaal diya aur chupachaap se unake baajoo mein pada raha Chachi chudai xxx hindi story.

thodee der baad mainne dekha ki chaachee ko is baat kee bhanak tak nahin lagee thee. phir to meree himmat aur badh gaee. mainne dheere se chaachee ka neeche se doosara vaala huk bhee nikaal diya. ab unakee blauj thodee see dheelee ho gaee thee. mera land tait ho gaya tha. uttejana mein tan gaya tha Chachi chudai xxx hindi story.

cript>

dheere dheere karake mainne chaar huk mein se 3 huk nikaal die. phir mainne ek said ka blauj halke se utha diya. blauj ko hata diya jisakee vajah se chaachee ka ek stan baahar aa gaya tha.

nanga stan dekh kar main bahut uttejit ho gaya. chaachee ko is haalat mein mainne pahalee baar hee dekha tha. meree ichchha hone lagee ki main chaachee ke stan ko pakad kar choos loon Chachi chudai xxx hindi story.

main chaah raha tha ki unaka stan dabaate hue main usako daboch doon aur usaka doodh nikaal doon. usake stan ka doodh pee jaoon. dheere se mainne chaachee ke stan ko haath mein pakad liya. phir halke se unake kareeb ho gaya Chachi chudai xxx hindi story.

meree dhadakanen tej ho rahee theen. mainne pahalee baar chaachee ke stan ko chhua tha. phir main apane munh ko unake chooche ke paas le gaya. mainne apanee jeebh ko dheere se baahar nikaala aur chaachee kee choochee ko jeebh se chhoone laga. mujhe mast see pheeling aane lagee Chachi chudai xxx hindi story.

mera 7 inchee land ab phatane ko ho gaya. meree paint se baahar aane kee koshish kar raha tha. mainne doosare haath se apane land ko paint ke andar se masalana shuroo kar diya. main chaachee kee choochee par jeebh chala raha tha Chachi chudai xxx hindi story.

jab mujhase ruka na gaya to mainne chaachee kee taang par apane land ko tach karavaana shuroo kar diya. main apane land ko usakee jaangh par dhakelane laga. mujhe dar bhee lag raha tha magar uttejana bhee bahut jyaada ho rahee thee. main khud ko rok hee nahin pa raha tha Chachi chudai xxx hindi story.

mujhe dar bhee lag raha tha ki kaheen chaachee jaag na jaaye. isalie main dheere dheere apane land ko chaachee kee jaangh se sahala raha tha. kantrol karana bahut mushkil ho raha tha.

main halke halke chaachee ke stan ko peeta raha. phir mainne kuchh der tak chaachee ke stan ko peene ke baad usake blauj ke band bache hue aakhiree huk ko bhee khol diya. ab chaachee ke donon hee stan unake blauj se baahar aa gaye the Chachi chudai xxx hindi story.

himmat karake mainne dheere se chaachee kee choochiyon apane donon haathon mein thaam liya. chaachee ke donon stan bilkul baahar aa gaye the. ab main dheere dheere chaachee ke donon stan masalane laga Chachi chudai xxx hindi story.

baaree baaree se ab main khud ko rokate hue aahista se donon hee stanon ko choos raha tha.
tabhee achaanak se chaachee ne apanee aankhen khol deen.
meree to jaise jaan nikal gaee. meree to gaand phat gayee thee. soch raha tha ki pata nahin chaachee ab kya karane vaalee hai Chachi chudai xxx hindi story.

magar vo bahut hee lacheele andaaj se narm se lahaje mein bolee- raahul, bahut garmee ho rahee hai.
itana bol kar chaachee ne apanee sari ko bhee oopar kar liya. unakee jaanghen nangee ho gayeen. unhonne apane nange pair ko utha kar meree taang par rakh diya Chachi chudai xxx hindi story.

ab main chaachee kee paintee ko bhee dekh sakata tha. chaachee darasal mujhe haree jhandee dikha rahee thee. vo chaah rahee thee ki main unake saath aur aage badhoon. mujhe ye baat samajh mein aa gayee thee Chachi chudai xxx hindi story.
mainne apana haath unakee sari ke andar daal diya aur chaachee kee gaand ko sahalaane laga.

mainne madahoshee bhare se svar mein kaha- chaachee, aapake badan mein sach mein bahut garmee ho gayee hai. aapakee paintee kaaphee geelee ho gaee hai.
chaachee ne gardan hilaakar haan kaha Chachi chudai xxx hindi story.

phir mainne unakee paintee ko peechhe kee taraph se pakad kar dheere dheere neeche saraka diya aur use nikaal diya. chaachee ab mere aage kareeb kareeb nangee ho gaee thee.

ab to mujhase ruka hee nahin gaya aur mainne chaachee kee sahamati ke bina hee unakee choot ko ragadana shuroo kar diya. pahalee baar mujhe chaachee ke jism kee or itana aakarshan mahasoos ho raha tha. main bahut jyaada uttejana mahasoos kar raha tha Chachi chudai xxx hindi story.

mera land meree paint ke andar se hee chaachee ko chubh raha tha. land kee haalat bhee buree ho gayee thee. itanee der se khada hokar vo dard karane laga tha. main chaah raha tha ki ab mera land aajaad ho jaaye Chachi chudai xxx hindi story.

tabhee chaachee ne meree paint ka huk kholana shuroo kar diya. unhonne meree paint ke huk ko khol kar apana haath andar de diya. mere andaraviyar ke oopar se mere land ko pakad liya.

mere land ko pakad kar chaachee use apane haath se sahalaane lagee. is vajah se main aanand mein gote lagaane laga. aisa lag raha tha ki isase jyaada sukh aur doosara nahin hai. main chaachee kee or gaand ko dhekal kar unake haath par lanj ko ragadava raha tha. chaachee bhee uttejana mein mere land ko masal rahee thee Chachi chudai xxx hindi story.

phir to mujhase bilkul kantrol nahin hua. mainne chaachee ke blauj ko bilkul hee nikaal diya. unakee sari ko bhee alag kar diya. parde lage hue the isalie andar baahar ka kuchh dikhaee nahin de raha tha.

mainne chaachee ko bilkul nangee kar liya. badale mein chaachee ne meree paint ko bhee nikaal diya. mere andaraviyar ko bhee nikaal diya. phir mainne apanee shart bhee utaar dee. ham donon ke donon poore hee nange ho gaye Chachi chudai xxx hindi story.

chaachee ne mujhe neeche lita liya aur khud uth kar mere oopar aa gayee. vo mere land ko haath mein lekar dabaate hue apanee choot par lagaane lagee. main to paagal sa ho utha. phir chaachee mere land par choot ko rakh kar baith gayee Chachi chudai xxx hindi story.

ummh… ahah… hay… yaah… mera land gach se chaachee kee choot mein chala gaya. donon pair phailaate hue chaachee ne poora land apanee choot mein le liya. ab chaachee dheere dheere aage peechhe hone lagee. mera land chaachee kee choot mein andar baahar hone laga. mujhe ummeed nahin thee ki sab kuchh itana jaldee ho jaayega. donon seks mein doob gaye the Chachi chudai xxx hindi story.

abhee tak to main keval apanee chacheree bahan kee taraph hee dhyaan diya karata tha. usako chodane kee socha karata tha. chaachee kee taraph to mera dhyaan kabhee gaya hee nahin tha. mujhe nahin pata tha ki chaachee bhee chudane ke lie taiyaar ho jaayegee Chachi chudai xxx hindi story.

vo bahut jyaada uttejit lag rahee thee. mera land chaachee kee choot kee garmee ko mahasoos kar raha tha. kaaphee garm choot thee usakee. main oopar se chaachee ke stanon ko masal raha tha. saath hee unako peete hue maja bhee le raha tha Chachi chudai xxx hindi story.

chaachee ke stanon ko main is tarah se pee raha tha jaise unase doodh nikaalane kee koshish kar raha tha. tabhee mainne chaachee ke stan ka nippal apane daant se kaat liya. mujhe bahut uttejana ho rahee thee Chachi chudai xxx hindi story.

usakee cheekh nikal gayee. ham donon ko hee dhyaan nahin raha ki ham treval kar rahe hain. phir chaachee ne apane munh par haath rakh liya. vo aise hee mere land par aage peechhe hotee rahee.

chaachee ka poora badan tap raha tha. main bhee jaise hava mein ud raha tha. chaachee kee choot mein land andar baahar ho raha tha. mujhe bahut maja aa raha tha Chachi chudai xxx hindi story.

kuchh der tak chaachee mere land par aise hee aage peechhe hotee rahee aur mujhase kantrol karana mushkil ho gaya. mera veery nikalane ko ho gaya mainne chaachee kee gaand ko thaam liya aur usakee gaand ko pakad kar apanee or chaachee kee choot ko kheenchane laga Chachi chudai xxx hindi story.

tabhee mere land se veery chhoot pada. main chaachee kee choot mein hee skhalit hone laga. bahut hee aanand mil raha tha chaachee kee choot mein veery chhodate hue. itana aanand mujhe muth maarate hue kabhee nahin mila tha Chachi chudai xxx hindi story.

chaachee abhee bhee mere land par aage peechhe ho rahee thee. kuchh der tak vo aise hee karatee rahee. phir unhonne mere land ko choot se baahar kar liya. mera land poora geela ho gaya tha Chachi chudai xxx hindi story.

apanee paintee se chaachee ne mere land ko saaph kiya. mujhe laga ki chaachee ab kuchh nahin karane vaalee hai. mera veery to nikal chuka tha. main apanee aankhen band karake aise hee let gaya. magar mere land ko saaph karane ke baad chaachee ne mere land ko munh mein le liya aur choosane lagee Chachi chudai xxx hindi story.

mujhe gudagudee hone lagee. kuchh hee der mein chaachee ne mere land ko phir se khada kar diya. vo mere land ko poora tanaav mein aane tak choosatee rahee. main chaachee kee choot ko chodane ke lie phir se taiyaar ho gaya Chachi chudai xxx hindi story.

phir mainne pooree raat chaachee kee chudaee kee. ham donon pooree raat nange ek doosare ke saath chudaee ka maja lete rahe. naagapur aane tak mainne chaachee kee choot kam se kam 3 baar chodee. chaachee bhee pooree thak gayee thee aur main bhee buree tarah se thak gaya tha Chachi chudai xxx hindi story.

kahaanee ka agala bhaag: chaachee ke saath mastee bhara saphar-2

phir ham vaise hee pade rahe. subah hone hee vaalee thee isalie hamane apane kapade sametane shuroo kar diye Chachi chudai xxx hindi story.
kahaanee agale bhaag mein jaaree rahegee. kahaanee par apanee raay dene ke lie aap neeche dee gayee mel aaeedee ka prayog karen. mujhe aap logon kee pratikrayaon ka intajaar rahega.
[email protected]

Read more chudai story-

Desi antarvasna 1 दोस्त की चाची की गांड फाड़ी Fun With Chachi

Chachi ki chudai story 1 चाची की गीली चुत को चाट के Sex

Chachi xxx story नाईटी खोल चाची की गांड को चाटा100% real sex

Leave a Comment

org/tools/popad.js">