Gand ki chudai तेल लगा के पड़ोसन भाभी की मारी गांड 1 fun

तेल लगा के पड़ोसन भाभी की मारी गांड Gand ki chudai xxx kahani

Gand ki chudai xxx kahani: लड़की की चूत चुदाई के बाद मेरी नजर मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी पर थी. एक रात उसके साथ मुझे अपनी तमन्ना पूरी करने का मौका मिल गया. कैसे?

मेरा प्यार का नाम प्रिंस है. मैं दिल्ली के पास फरीदाबाद का रहने वाला हूँ. आजकल नौकरी के चलते गुड़गाँव में रह रहा हूँ।

मैं अन्तर्वासना का एक पुराना पाठक हू. मेरी पिछली कहानी
मेट्रो में मिली लड़की को होटल में चोदा
की सफलता के चलते और आप लोगों के प्यार की वजह से मुझे अपनी अगली कहानी लिखने की प्रेरणा मिली.
उसके बाद मेरी जिन्दगी जैसे बदल सी गयी है. इसलिए मैं आप लोगों के लिए अपनी नयी कहानी लेकर आया हूं.

कहानी शुरू करने से पहले मैं अपने बारे में बताना चाहता हूँ. मेरी उम्र 22 साल है. मेरा कद 5 फीट व 8 इंच है. दिखने में अच्छा दिखता हूं. रंग भी गोरा है और साथ ही राष्ट्रीय खिलाड़ी होने की वजह से बहुत चुस्त और फिट हूँ। मेरे लंड का साइज 6.5 इंच है जो कि किसी भी आंटी, औरत और भाभी व लड़की की प्यास बुझाने के लिये काफी है.

मेरे साथ वो घटना होने के बाद मुझे लड़कियों के साथ सेक्स करने में ज्यादा मजा नहीं आता था. अब मेरी नजर भाभी और आंटियों पर ही रहती थी. मैं किसी शादीशुदा औरत की चुदी हुई चूत चोदने का शौकीन सा हो गया था.

उन दिनों मैं गुड़गांव (हरियाणा) में रह रहा था. मेरे पड़ोस में ही एक भाभी रहती थी. उनका नाम रानी (बदला हुआ) था. उनको रोज ही ताड़ता रहता था मैं. उनके साथ चुदाई की प्लानिंग करने लगा था कि किसी तरह से भाभी की चूत चोदने के लिए मिल जाये.

34-28-36 के फीगर के साथ ही बहुत कातिल सी अदा थी रानी भाभी की. उसकी मोटी गांड चलते हुए बॉल की तरह हिलती थी. उसके पति एक बिजनेसमैन थे जो कि ज्यादातर घर से बाहर ही रहते थे. रानी भाभी के घर में उसकी बूढ़ी सास थी तथा रानी की दो साल की लड़की भी थी.

चूंकि हम दोनों पड़ोसी थे तो धीरे धीरे भाभी से मेरी बात होना शुरू हो गयी थी. कभी कभी मैं उनके घर भी चला जाया करता था. उनके घर में सब लोग मुझे जान गये थे. यहां तक कि आसपास के लोगों को भी पता था कि मैं भाभी के साथ अच्छे पड़ोसी वाला व्यवहार रखता हूं.

इस तरह से बातें बातें होते होते रानी और मेरे बीच में एक अच्छी दोस्ती वाला रिश्ता बन गया था. अब मैं रानी के बारे में लगभग सब कुछ जान गया था. रानी भी मेरे साथ घुल मिल गयी थी.

फिर कुछ दिन बीत गये. एक बार उसका जन्मदिन आने वाला था. रानी भाभी ने मुझे भी अपने जन्मदिन के बारे में बताया था. मैं उसके बर्थडे वाले दिन उसके लिए केक और एक प्यारा सा गिफ्ट लेकर चला गया.

उसकी कुछ दोस्त भी आई हुई थी. हम सब ने मिल कर रानी भाभी का बर्थडे मनाया. उसके बाद मैंने उनको गिफ्ट दिया. रानी अपना गिफ्ट देख कर बहुत खुश हो गयी.

फिर हम लोगों ने साथ में खाना खाया. खाना खाने तक रात के 10-11 बजे का समय हो गया था. फिर मैं अपने घर जाने लगा. तब तक रानी की बाकी दोस्त भी जा चुकी थी. सिर्फ मैं ही बचा हुआ था.

उसकी बूढ़ी सास काफी देर पहले ही सो चुकी थी. उसकी बेटी भी उसकी सास के साथ सो गयी थी. जब मैं जाने लगा तो रानी ने मुझे रोक लिया.
वो बोली- कल सुबह चले जाना. आज रात को यहीं पर रुक जाओ.

पहले तो मैं मना करने लगा. मैं नहीं चाहता था कि रानी और मेरे बारे में लोगों के मन में कोई गलत बात आये.
मगर रानी नहीं मानी. उसने मुझे उसके घर में ही सोने के लिए जोर दिया. बहुत कहने पर मैं उसके घर में सोने के लिये राजी हो गया. रानी ने मुझे उसके घर में उसके साथ वाला कमरा बता दिया.

लेटने के कुछ देर के बाद ही मुझे नींद आ गयी. फिर मुझे कुछ पता नहीं चला. रात के 12-1 बजे के करीब मेरी आंख किसी आहट से खुल गयी. मैंने उठ कर देखा तो रानी मेरे पास ही बेड पर बैठी हुई थी.

मैं उठ कर बैठ गया.
मैंने कहा- अरे भाभी, आप इस वक्त? सब ठीक तो है न?
वो मेरी तरफ देख रही थी.

फिर वो बोली- हां सब ठीक है. मैं तो बस ऐसे ही चली आयी थी. मुझे अपने कमरे में नींद नहीं आ रही थी.
हम दोनों बैठ कर बातें करने लगे. रानी ने बातों ही बातों में अपने पति के बारे में बात छेड़ दी. रानी ने बताया कि उसका पति उसकी तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं देता है.

वो बोली- देखो पैरी, आज मेरा बर्थडे था लेकिन आज सुबह से रात हो गयी है. मेरे पति ने मुझे फोन करके मुझे जन्मदिन की बधाई भी देना जरूरी नहीं समझा. वो मुझे बिल्कुल भी प्यार नहीं करता है. मेरी परवाह ही नहीं है उसको.

इतना कह कर वो रोने लगी. फिर मैंने उसको चुप कराया. उसने मेरे कंधे पर सिर रख लिया. मैंने उसकी पीठ को सहलाना शुरू कर दिया. रात का वक्त था और मैं तो पहले से ही रानी की ओर आकर्षित था. मेरे लंड में हलचल होने लगी. मैं उसकी पीठ पर प्यार से सहलाता रहा. उसकी ब्रा की पट्टी मुझे मेरी उंगलियों पर महसूस हो रही थी.

रानी मेरे गले से लग गयी. मेरा लंड खड़ा होने लगा. उसकी चूचियों का स्पर्श मेरे बदन पर मुझे महसूस हो रहा था. फिर उसने मेरी ओर देखा. मैंने उसकी ओर देखा. उसके बाद रानी ने मेरे होंठों को करीब अपने होंठों को कर दिया.

मैंने भी रानी के होंठों से अपने होंठों को मिला दिया और हम दोनों एक दूसरे के होंठों का रस पीने लगे. कुछ ही देर के बाद रानी की लार मेरे मुंह में आ रही थी और मेरी लार रानी के मुंह में जा रही थी.

हम दोनों एक दूसरे को गर्मजोशी में स्मूच करने लगे. मेरा लंड एकदम से तन कर रॉड की तरह हो गया था. मेरा लंड मेरी पैंट में तंबू बना कर उछल रहा था. रानी को मैंने अपनी बांहों में भर लिया और जोर से उसके होंठों को पीने लगा.

हम दोनों ही गर्म हो चुके थे. मेरे हाथ रानी की चूचियों तक पहुंच गये थे. मैंने उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया. उसके बूब्स को जोर से दबाते हुए मैं उसके होंठों के रस का आनंद लेता रहा. वो भी जैसे खुद को मेरी बांहों में सौंप देना चाह रही थी.

कुछ देर तक मैं उसकी चूचियों को उसके कमीज के ऊपर से ही दबाता रहा. वो भी मजे से चूचियों को दबवाती रही. उसके बाद उसने मेरे लंड को पकड़ लिया. मेरा लंड पहले से ही तना हुआ था.

मेरे लंड को पकड़ कर वो सहलाने लगी. मेरा लंड फटने को हो गया. फिर उसने मेरी पैंट को खोल दिया. वो मेरी पैंट को खोल कर नीचे करने लगी. मैंने उसकी मदद की. अब मैं नीचे से केवल अंडरवियर में रह गया था.

फिर उसने मेरे अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को हाथ में लेकर देखा. मेरा लंड किसी लोहे की रॉड की तरह तप रहा था. वो मेरे लंड को नापने लगी. उसको दबाने लगी. कभी उसको उंगलियों में भींच रही थी तो कभी उसकी मुट्ठी बना कर दबा देती थी.

ऐसा लग रहा था कि उसने बहुत दिनों से लंड का स्पर्श नहीं लिया था. फिर उसने मेरे कच्छे को नीचे कर दिया. मुझे नीचे से बिल्कुल ही नंगा कर दिया. मेरा लंड नंगा हो गया और उछल कर एकदम से बाहर आ गया.

वो भूखी शेरनी की तरह मेरे लंड पर टूट पड़ी. उसने मेरे लंड को सीधा अपने मुंह में भर लिया.

तेल लगा के पड़ोसन भाभी की मारी गांड Gand ki chudai xxx kahani

वो मेरे लंड को पूरा मुंह में लेकर चूसने लगी. उसके गर्म मुंह में लंड गया तो मैं जैसे हवा में उड़ने लगा. मुझे बहुत मजा आ रहा था.

रानी भाभी मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी जैसे वो लंड न हो बल्कि कोई लॉलीपोप हो. वो कभी मेरे लंड के सुपारे को जीभ से चाट रही थी तो कभी मेरे लंड को पूरा मुंह में ले लेती थी. मैं तो दो-तीन मिनट में ही उत्तेजना के शिखर पर पहुंच गया.

अभी भी वो मेरे लंड को जैसे खाने पर उतारू थी. फिर मैंने उसके सिर को पकड़ लिया. अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था. मैं उसके सिर को पकड़ कर अपने लंड पर उसके मुंह को दबाने लगा. मेरा लंड पूरा का पूरा उसके गले में उतर रहा था.

उसके बाद मैंने उसके मुंह को अपने लंड पर जोर से दबाना शुरू कर दिया. मैं जैसे कि जन्नत में था. मुझे लंड चुसवाने में बहुत ज्यादा मजा आता है. इसलिए मैं रानी के मुंह को लंड से ही जैसे चोदने लगा था.

रानी के मुंह से गूं … गूं … करके आवाज आ रही थी. बीच बीच में वो लंड को निकाल कर सांस ले लेती थी और फिर मेरा साथ देने लगती थी.
वो लंड को निकाल कर कहती- आह्ह … बहुत रसीला लौड़ा है पैरी तुम्हारा.
रानी मुझे प्यार से पैरी कहकर बुलाया करती थी.

दस मिनट तक वो मेरे लंड को लगातार चूसती रही और एकाएक मैंने रानी के मुंह में पिचकारी मारनी शुरू कर दी. मेरे लंड से गर्म गर्म वीर्य की धार रानी के मुंह में गिरने लगी. जिस पल में वीर्य लंड से निकल रहा था उससे ज्यादा आनंदित करने वाला अहसास दूसरा कोई नहीं लगता मुझे.

मैंने रानी भाभी को अपना सारा माल पिला दिया. वो भी माल को अंदर गटक गयी.
पूरा माल चाटने के बाद वो बोली- आह्ह … बहुत ही गाढ़ा और स्वादिष्ट है.

उसके बाद उसने कहा- देख मैंने तुझे खुश कर दिया है. अब तेरी बारी है मुझे खुश करने की.
मैं भाभी का इशारा समझ गया था. उसने जल्दी से अपने कपड़े निकालना शुरू कर दिये.

वो ऊपर से नंगी हो गयी. उसकी चूचियां बहुत ही मस्त थीं. मैंने उसकी चूचियों को अपने हाथ में लेकर दबाना शुरू कर दिया. तभी वो नीचे हाथ ले जाकर अपनी सलवार का नाड़ा खोलने लगी.

उसने एक मिनट में ही अपनी सलवार को भी अपनी जांघों से नीचे करके अपनी टांगों से बाहर निकाल लिया. अब उसकी चूत पर केवल एक काली पैंटी रह गयी थी. मैंने उसकी पैंटी को सूंघा तो उसकी पैंटी से कामरस की मादक खुशबू आ रही थी. मेरा लंड चूसते हुए उसकी चूत गीली सी हो गयी थी.

मैंने रानी भाभी की पैंटी को खींच कर उसकी चूत को नंगी कर दिया. उसके बाद मैंने उसकी चूत पर मुंह लगा दिया. उसकी कुंवारी और गुलाबी सी चूत एकदम से अनछुई सी लग रही थी. ऐसा लग रहा था कि उसने काफी दिनों से अपनी चूत में लंड नहीं लिया है.

तेल लगा के पड़ोसन भाभी की मारी गांड Gand ki chudai xxx kahani

जैसे ही मैंने उसकी चूत पर जीभ चलानी शुरू की तो भाभी की सिसकारी निकलने लगी. वो पागल सी होने लगी. अब मैं भी बड़े मजे से चूत को चूस रहा था. उसकी चूत के रस का स्वाद अपने मुंह में ले रहा था. पांच मिनट तक मैं उसकी चूत को जीभ से चोदता रहा और उसका बदन अकड़ गया.

रानी भाभी झड़ गयी. मैंने उसकी चूत का सारा रस पी लिया. फिर वो मेरे बदन से लिपट कर लेट गयी. मेरे सोये हुए लंड को सहलाने लगी. उसके कोमल हाथों में जाते ही लंड में फिर से गुदगुदी होने लगी. उसकी चूचियां मेरी छाती से लगी हुई थीं.

तीन-चार मिनट तक लंड को सहलाने के बाद मेरे लंड में फिर से तनाव आना शुरू हो गया. उसने दोबारा से मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया. दो मिनट के बाद मेरा लंड एकदम से रॉड के जैसा हो गया.
वो बोली- बस फाड़ दे अब मेरी चूत को पैरी.

मैंने उसी वक्त उसकी चूत पर लंड को लगा दिया और अंदर धकेल दिया. उसकी चूत को चीरता हुआ लंड अंदर चला गया. वो मुझसे लिपट गयी और मैं उसके होंठों को पीने लगा.

कुछ पल का विराम देने के बाद मैंने उसकी चूत में धक्के लगाने शुरू कर दिये. उसकी टाइट चूत को चोदते हुए मुझे गजब का मजा आ रहा था. वो भी मेरे लंड को अपनी चूत में फील करते हुए गांड को बार बार ऊपर उठा रही थी.

tel laga ke padosan bhaabhee kee maaree gaand Gand ki chudai xxx kahani

पांच मिनट की चुदाई के बाद ही वो झड़ गयी. मगर मेरा अभी नहीं हो रहा था. मैंने उसको घोड़ी बना लिया और उसकी चूत में पीछे से लंड को पेल दिया. फिर मैंने उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया.
उसके मुंह से आह्ह आह्ह … करके सिसकारी निकल रही थी मगर मैंने उससे कहा कि थोड़ा आराम से आवाज करे. घर में उसकी सास और दो साल की बेटी भी थी.

फिर वो मुंह को बंद करके चुदवाने लगी. मैंने अगले दस मिनट तक उसकी चूत में लंड को पेला और इस दौरान वो तीसरी बार झड़ गयी. अब मेरा मन उसकी गांड चुदाई करने के लिए हुआ.
मैंने तेल की शीशी उठाई और उसकी गांड के छेद में उंगली से तेल लगाने लगा. मैंने उसकी गांड में उंगली दे दी और उसको अंदर तक चिकनी कर दिया.

उसके बाद मैंने अपने लंड को भी तेल से सराबोर कर लिया और उसकी गांड के छोटे से छेद पर लंड को सेट कर लिया. मैंने उसकी गांड को थाम लिया और उसकी गांड में लंड को अंदर धकेलने लगा.
वो तिलमिला उठी लेकिन मैंने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और उसके होंठों को चूसने लगा.

धीरे धीरे करके मैंने पूरा लंड उसकी गांड में उतार दिया.

tel laga ke padosan bhaabhee kee maaree gaand Gand ki chudai xxx kahani

फिर कुछ देर रुक कर मैंने उसकी गांड चोदनी शुरू कर दी. फिर उसको मजा आने लगा. अब वो खुद ही अपनी गांड को पीछे धकेल रही थी.

गांड बहुत टाइट थी इसलिए अब मेरा भी वीर्य निकलने को हो गया. मैंने उसकी गांड में से लंड को निकाला और उसकी चूत में घुसा दिया. फिर दो चार धक्कों के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया. हम दोनों बुरी तरह से थक गये थे.

उसके बाद कुछ देर तक वो मेरे पास लेटी फिर अपने कपड़े पहन कर अपने रूम में चली गयी. अगली सुबह मैं उठ कर अपने घर चला गया. जब हम दोबारा से मिने तो रानी ने मुझे अपनी खुशी जताई. वो मेरे लंड से बहुत खुश हो गयी थी.

फिर तो उसने अपनी कई सहेलियों को भी मुझसे मिलवाया. मैंने भाभी की कई सहेलियों की चूत मारी. रानी की सहेलियां मुझे फोन करके बुला लिया करती थीं. मैं एक प्लेब्वॉय बन गया था अब.

काफी दिनों तक मैंने शादीशुदा चूत चोदने के मजे लिये. फिर रानी दुबई चली गयी. मैं उसके बाद फिर से अकेला हो गया. मगर मुझे यकीन है कि रानी मेरे लंड से हुई चुदाई को जरूर याद रखेगी.

मैं आशा करता हूं आप सभी पाठकों का प्यार यूं ही बना रहेगा. मेरी इस कहानी के बारे में अपना प्रतिक्रयाओं के जरिये भी अपना प्यार जाहिर करें. मुझे आप लोगों के मैसेज का इंतजार रहेगा. नीचे दी गयी मेल आईडी पर मेल करें. मैं पूरा प्रयास करूंगा कि प्रत्येक पाठक के मेल का उत्तर दे सकूं. . और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.
[email protected]

tel laga ke padosan bhaabhee kee maaree gaand Gand ki chudai xxx kahani

Read in English

tel laga ke padosan bhaabhee kee maaree gaand Gand ki chudai xxx kahani

Gand ki chudai xxx kahani: ladakee kee choot chudaee ke baad meree najar mere pados mein rahane vaalee bhaabhee par thee. ek raat usake saath mujhe apanee tamanna pooree karane ka mauka mil gaya. kaise?

mera pyaar ka naam prins hai. main dillee ke paas phareedaabaad ka rahane vaala hoon. aajakal naukaree ke chalate gudagaanv mein rah raha hoon Gand ki chudai xxx kahani.

main antarvaasana ka ek puraana paathak hoo. meree pichhalee kahaanee
metro mein milee ladakee ko hotal mein choda
kee saphalata ke chalate aur aap logon ke pyaar kee vajah se mujhe apanee agalee kahaanee likhane kee prerana milee Gand ki chudai xxx kahani.
usake baad meree jindagee jaise badal see gayee hai. isalie main aap logon ke lie apanee nayee kahaanee lekar aaya hoon.

kahaanee shuroo karane se pahale main apane baare mein bataana chaahata hoon. meree umr 22 saal hai. mera kad 5 pheet va 8 inch hai. dikhane mein achchha dikhata hoon. rang bhee gora hai aur saath hee raashtreey khilaadee hone kee vajah se bahut chust aur phit hoon. mere land ka saij 6.5 inch hai jo ki kisee bhee aantee, aurat aur bhaabhee va ladakee kee pyaas bujhaane ke liye kaaphee hai Gand ki chudai xxx kahani.

mere saath vo ghatana hone ke baad mujhe ladakiyon ke saath seks karane mein jyaada maja nahin aata tha. ab meree najar bhaabhee aur aantiyon par hee rahatee thee. main kisee shaadeeshuda aurat kee chudee huee choot chodane ka shaukeen sa ho gaya tha Gand ki chudai xxx kahani.

un dinon main gudagaanv (hariyaana) mein rah raha tha. mere pados mein hee ek bhaabhee rahatee thee. unaka naam raanee (badala hua) tha. unako roj hee taadata rahata tha main. unake saath chudaee kee plaaning karane laga tha ki kisee tarah se bhaabhee kee choot chodane ke lie mil jaaye Gand ki chudai xxx kahani.

34-28-36 ke pheegar ke saath hee bahut kaatil see ada thee raanee bhaabhee kee. usakee motee gaand chalate hue bol kee tarah hilatee thee. usake pati ek bijanesamain the jo ki jyaadaatar ghar se baahar hee rahate the. raanee bhaabhee ke ghar mein usakee boodhee saas thee tatha raanee kee do saal kee ladakee bhee thee Gand ki chudai xxx kahani.

choonki ham donon padosee the to dheere dheere bhaabhee se meree baat hona shuroo ho gayee thee. kabhee kabhee main unake ghar bhee chala jaaya karata tha. unake ghar mein sab log mujhe jaan gaye the. yahaan tak ki aasapaas ke logon ko bhee pata tha ki main bhaabhee ke saath achchhe padosee vaala vyavahaar rakhata hoon Gand ki chudai xxx kahani.

is tarah se baaten baaten hote hote raanee aur mere beech mein ek achchhee dostee vaala rishta ban gaya tha. ab main raanee ke baare mein lagabhag sab kuchh jaan gaya tha. raanee bhee mere saath ghul mil gayee thee Gand ki chudai xxx kahani.

phir kuchh din beet gaye. ek baar usaka janmadin aane vaala tha. raanee bhaabhee ne mujhe bhee apane janmadin ke baare mein bataaya tha. main usake barthade vaale din usake lie kek aur ek pyaara sa gipht lekar chala gaya Gand ki chudai xxx kahani.

usakee kuchh dost bhee aaee huee thee. ham sab ne mil kar raanee bhaabhee ka barthade manaaya. usake baad mainne unako gipht diya. raanee apana gipht dekh kar bahut khush ho gayee Gand ki chudai xxx kahani.

phir ham logon ne saath mein khaana khaaya. khaana khaane tak raat ke 10-11 baje ka samay ho gaya tha. phir main apane ghar jaane laga. tab tak raanee kee baakee dost bhee ja chukee thee. sirph main hee bacha hua tha Gand ki chudai xxx kahani.

usakee boodhee saas kaaphee der pahale hee so chukee thee. usakee betee bhee usakee saas ke saath so gayee thee. jab main jaane laga to raanee ne mujhe rok liya.
vo bolee- kal subah chale jaana. aaj raat ko yaheen par ruk jao Gand ki chudai xxx kahani.

pahale to main mana karane laga. main nahin chaahata tha ki raanee aur mere baare mein logon ke man mein koee galat baat aaye.
magar raanee nahin maanee. usane mujhe usake ghar mein hee sone ke lie jor diya. bahut kahane par main usake ghar mein sone ke liye raajee ho gaya. raanee ne mujhe usake ghar mein usake saath vaala kamara bata diya Gand ki chudai xxx kahani.

letane ke kuchh der ke baad hee mujhe neend aa gayee. phir mujhe kuchh pata nahin chala. raat ke 12-1 baje ke kareeb meree aankh kisee aahat se khul gayee. mainne uth kar dekha to raanee mere paas hee bed par baithee huee thee Gand ki chudai xxx kahani.

main uth kar baith gaya.
mainne kaha- are bhaabhee, aap is vakt? sab theek to hai na?
vo meree taraph dekh rahee thee Gand ki chudai xxx kahani.

phir vo bolee- haan sab theek hai. main to bas aise hee chalee aayee thee. mujhe apane kamare mein neend nahin aa rahee thee.
ham donon baith kar baaten karane lage. raanee ne baaton hee baaton mein apane pati ke baare mein baat chhed dee. raanee ne bataaya ki usaka pati usakee taraph bilkul bhee dhyaan nahin deta hai Gand ki chudai xxx kahani.

vo bolee- dekho pairee, aaj mera barthade tha lekin aaj subah se raat ho gayee hai. mere pati ne mujhe phon karake mujhe janmadin kee badhaee bhee dena jarooree nahin samajha. vo mujhe bilkul bhee pyaar nahin karata hai. meree paravaah hee nahin hai usako Gand ki chudai xxx kahani.

itana kah kar vo rone lagee. phir mainne usako chup karaaya. usane mere kandhe par sir rakh liya. mainne usakee peeth ko sahalaana shuroo kar diya. raat ka vakt tha aur main to pahale se hee raanee kee or aakarshit tha. mere land mein halachal hone lagee. main usakee peeth par pyaar se sahalaata raha. usakee bra kee pattee mujhe meree ungaliyon par mahasoos ho rahee thee Gand ki chudai xxx kahani.

raanee mere gale se lag gayee. mera land khada hone laga. usakee choochiyon ka sparsh mere badan par mujhe mahasoos ho raha tha. phir usane meree or dekha. mainne usakee or dekha. usake baad raanee ne mere honthon ko kareeb apane honthon ko kar diya Gand ki chudai xxx kahani.

mainne bhee raanee ke honthon se apane honthon ko mila diya aur ham donon ek doosare ke honthon ka ras peene lage. kuchh hee der ke baad raanee kee laar mere munh mein aa rahee thee aur meree laar raanee ke munh mein ja rahee thee Gand ki chudai xxx kahani.

ham donon ek doosare ko garmajoshee mein smooch karane lage. mera land ekadam se tan kar rod kee tarah ho gaya tha. mera land meree paint mein tamboo bana kar uchhal raha tha. raanee ko mainne apanee baanhon mein bhar liya aur jor se usake honthon ko peene laga Gand ki chudai xxx kahani.

ham donon hee garm ho chuke the. mere haath raanee kee choochiyon tak pahunch gaye the. mainne usakee choochiyon ko dabaana shuroo kar diya. usake boobs ko jor se dabaate hue main usake honthon ke ras ka aanand leta raha. vo bhee jaise khud ko meree baanhon mein saump dena chaah rahee thee Gand ki chudai xxx kahani.

kuchh der tak main usakee choochiyon ko usake kameej ke oopar se hee dabaata raha. vo bhee maje se choochiyon ko dabavaatee rahee. usake baad usane mere land ko pakad liya. mera land pahale se hee tana hua tha Gand ki chudai xxx kahani.

mere land ko pakad kar vo sahalaane lagee. mera land phatane ko ho gaya. phir usane meree paint ko khol diya. vo meree paint ko khol kar neeche karane lagee. mainne usakee madad kee. ab main neeche se keval andaraviyar mein rah gaya tha Gand ki chudai xxx kahani.

phir usane mere andaraviyar ke oopar se hee mere land ko haath mein lekar dekha. mera land kisee lohe kee rod kee tarah tap raha tha. vo mere land ko naapane lagee. usako dabaane lagee. kabhee usako ungaliyon mein bheench rahee thee to kabhee usakee mutthee bana kar daba detee thee Gand ki chudai xxx kahani.

aisa lag raha tha ki usane bahut dinon se land ka sparsh nahin liya tha. phir usane mere kachchhe ko neeche kar diya. mujhe neeche se bilkul hee nanga kar diya. mera land nanga ho gaya aur uchhal kar ekadam se baahar aa gaya Gand ki chudai xxx kahani.

vo bhookhee sheranee kee tarah mere land par toot padee. usane mere land ko seedha apane munh mein bhar liya.

vo mere land ko poora munh mein lekar choosane lagee. usake garm munh mein land gaya to main jaise hava mein udane laga. mujhe bahut maja aa raha tha Gand ki chudai xxx kahani.

raanee bhaabhee mere land ko aise choos rahee thee jaise vo land na ho balki koee loleepop ho. vo kabhee mere land ke supaare ko jeebh se chaat rahee thee to kabhee mere land ko poora munh mein le letee thee. main to do-teen minat mein hee uttejana ke shikhar par pahunch gaya Gand ki chudai xxx kahani.

abhee bhee vo mere land ko jaise khaane par utaaroo thee. phir mainne usake sir ko pakad liya. ab mujhase kantrol nahin ho raha tha. main usake sir ko pakad kar apane land par usake munh ko dabaane laga. mera land poora ka poora usake gale mein utar raha tha Gand ki chudai xxx kahani.

usake baad mainne usake munh ko apane land par jor se dabaana shuroo kar diya. main jaise ki jannat mein tha. mujhe land chusavaane mein bahut jyaada maja aata hai. isalie main raanee ke munh ko land se hee jaise chodane laga tha Gand ki chudai xxx kahani.

raanee ke munh se goon … goon … karake aavaaj aa rahee thee. beech beech mein vo land ko nikaal kar saans le letee thee aur phir mera saath dene lagatee thee.
vo land ko nikaal kar kahatee- aahh … bahut raseela lauda hai pairee tumhaara.
raanee mujhe pyaar se pairee kahakar bulaaya karatee thee Gand ki chudai xxx kahani.

das minat tak vo mere land ko lagaataar choosatee rahee aur ekaek mainne raanee ke munh mein pichakaaree maaranee shuroo kar dee. mere land se garm garm veery kee dhaar raanee ke munh mein girane lagee. jis pal mein veery land se nikal raha tha usase jyaada aanandit karane vaala ahasaas doosara koee nahin lagata mujhe Gand ki chudai xxx kahani.

mainne raanee bhaabhee ko apana saara maal pila diya. vo bhee maal ko andar gatak gayee.
poora maal chaatane ke baad vo bolee- aahh … bahut hee gaadha aur svaadisht hai.

usake baad usane kaha- dekh mainne tujhe khush kar diya hai. ab teree baaree hai mujhe khush karane kee Gand ki chudai xxx kahani.
main bhaabhee ka ishaara samajh gaya tha. usane jaldee se apane kapade nikaalana shuroo kar diye.

vo oopar se nangee ho gayee. usakee choochiyaan bahut hee mast theen. mainne usakee choochiyon ko apane haath mein lekar dabaana shuroo kar diya. tabhee vo neeche haath le jaakar apanee salavaar ka naada kholane lagee Gand ki chudai xxx kahani.

usane ek minat mein hee apanee salavaar ko bhee apanee jaanghon se neeche karake apanee taangon se baahar nikaal liya. ab usakee choot par keval ek kaalee paintee rah gayee thee. mainne usakee paintee ko soongha to usakee paintee se kaamaras kee maadak khushaboo aa rahee thee. mera land choosate hue usakee choot geelee see ho gayee thee Gand ki chudai xxx kahani.

mainne raanee bhaabhee kee paintee ko kheench kar usakee choot ko nangee kar diya. usake baad mainne usakee choot par munh laga diya. usakee kunvaaree aur gulaabee see choot ekadam se anachhuee see lag rahee thee. aisa lag raha tha ki usane kaaphee dinon se apanee choot mein land nahin liya hai Gand ki chudai xxx kahani.

jaise hee mainne usakee choot par jeebh chalaanee shuroo kee to bhaabhee kee sisakaaree nikalane lagee. vo paagal see hone lagee. ab main bhee bade maje se choot ko choos raha tha. usakee choot ke ras ka svaad apane munh mein le raha tha. paanch minat tak main usakee choot ko jeebh se chodata raha aur usaka badan akad gaya Gand ki chudai xxx kahani.

raanee bhaabhee jhad gayee. mainne usakee choot ka saara ras pee liya. phir vo mere badan se lipat kar let gayee. mere soye hue land ko sahalaane lagee. usake komal haathon mein jaate hee land mein phir se gudagudee hone lagee. usakee choochiyaan meree chhaatee se lagee huee theen Gand ki chudai xxx kahani.

teen-chaar minat tak land ko sahalaane ke baad mere land mein phir se tanaav aana shuroo ho gaya. usane dobaara se mere land ko choosana shuroo kar diya. do minat ke baad mera land ekadam se rod ke jaisa ho gaya.
vo bolee- bas phaad de ab meree choot ko pairee Gand ki chudai xxx kahani.

mainne usee vakt usakee choot par land ko laga diya aur andar dhakel diya. usakee choot ko cheerata hua land andar chala gaya. vo mujhase lipat gayee aur main usake honthon ko peene laga Gand ki chudai xxx kahani.

kuchh pal ka viraam dene ke baad mainne usakee choot mein dhakke lagaane shuroo kar diye. usakee tait choot ko chodate hue mujhe gajab ka maja aa raha tha. vo bhee mere land ko apanee choot mein pheel karate hue gaand ko baar baar oopar utha rahee thee Gand ki chudai xxx kahani.

paanch minat kee chudaee ke baad hee vo jhad gayee. magar mera abhee nahin ho raha tha. mainne usako ghodee bana liya aur usakee choot mein peechhe se land ko pel diya. phir mainne usakee choot ko chodana shuroo kar diya Gand ki chudai xxx kahani.
usake munh se aahh aahh … karake sisakaaree nikal rahee thee magar mainne usase kaha ki thoda aaraam se aavaaj kare. ghar mein usakee saas aur do saal kee betee bhee thee.

phir vo munh ko band karake chudavaane lagee. mainne agale das minat tak usakee choot mein land ko pela aur is dauraan vo teesaree baar jhad gayee. ab mera man usakee gaand chudaee karane ke lie hua.
mainne tel kee sheeshee uthaee aur usakee gaand ke chhed mein ungalee se tel lagaane laga. mainne usakee gaand mein ungalee de dee aur usako andar tak chikanee kar diya Gand ki chudai xxx kahani.

usake baad mainne apane land ko bhee tel se saraabor kar liya aur usakee gaand ke chhote se chhed par land ko set kar liya. mainne usakee gaand ko thaam liya aur usakee gaand mein land ko andar dhakelane laga.
vo tilamila uthee lekin mainne usakee choochiyon ko pakad liya aur usake honthon ko choosane laga Gand ki chudai xxx kahani.

dheere dheere karake mainne poora land usakee gaand mein utaar diya.

phir kuchh der ruk kar mainne usakee gaand chodanee shuroo kar dee. phir usako maja aane laga. ab vo khud hee apanee gaand ko peechhe dhakel rahee thee Gand ki chudai xxx kahani.

gaand bahut tait thee isalie ab mera bhee veery nikalane ko ho gaya. mainne usakee gaand mein se land ko nikaala aur usakee choot mein ghusa diya. phir do chaar dhakkon ke baad main usakee choot mein hee jhad gaya. ham donon buree tarah se thak gaye the Gand ki chudai xxx kahani.

usake baad kuchh der tak vo mere paas letee phir apane kapade pahan kar apane room mein chalee gayee. agalee subah main uth kar apane ghar chala gaya. jab ham dobaara se mine to raanee ne mujhe apanee khushee jataee. vo mere land se bahut khush ho gayee thee Gand ki chudai xxx kahani.

phir to usane apanee kaee saheliyon ko bhee mujhase milavaaya. mainne bhaabhee kee kaee saheliyon kee choot maaree. raanee kee saheliyaan mujhe phon karake bula liya karatee theen. main ek plebvoy ban gaya tha ab Gand ki chudai xxx kahani.

kaaphee dinon tak mainne shaadeeshuda choot chodane ke maje liye. phir raanee dubee chalee gayee. main usake baad phir se akela ho gaya. magar mujhe yakeen hai ki raanee mere land se huee chudaee ko jaroor yaad rakhegee Gand ki chudai xxx kahani.

main aasha karata hoon aap sabhee paathakon ka pyaar yoon hee bana rahega. meree is kahaanee ke baare mein apana pratikrayaon ke jariye bhee apana pyaar jaahir karen. mujhe aap logon ke maisej ka intajaar rahega. neeche dee gayee mel aaeedee par mel karen. main poora prayaas karoonga ki pratyek paathak ke mel ka uttar de sakoon. . aur seks vidiyo aur naiw kahaanee padhane ke liye tailaigram grup join kar sakate hai.
[email protected]chom

Read more bhabhi sex story-

Desi gand xxx मेरी किराएदार भाभी की गांड चुदाई 1 best story

Maa ki Chudai Bete se मां की चुदाई की इच्छा 1 बेटे से fun

Hindisexstory चाची की गांड और चूत मारी 1 Real Best Sex कहानी

Leave a Comment