Maa ki Chudai Bete se मां की चुदाई की इच्छा 1 बेटे से fun

मां की चुदाई की इच्छा बेटे से Maa ki Chudai Bete se

Maa ki chudai bete se: मेरे पति का देहांत कम उम्र में ही हो गया था. मेरी सेक्स की इच्छा दब कर रह गयी थी. कई साल बाद मेरी चूत में फिर से वासना जगी. मेरी चूत की अधूरी इच्छा कैसे पूरी हुई?

मेरा नाम शालिनी है. मेरी उम्र 43 साल है. मैं एक विधवा हूं. मेरे पति काफी टाइम पहले गुजर गये. अब मैं, मेरी सासू माँ और मेरा 23 साल का बेटा विशाल हम तीनों ही घर पर रहते हैं.

शरीर से मेरा बेटा विशाल वैसे दुबला पतला है लेकिन उसकी हाइट 6 फिट 2 इंच है. मैं भी जॉब करती हूं. मैं शाम को 7 बजे तक घर आती हूं. हम अच्छे खासे रईस हैं. पैसे की कुछ खास चिंता नहीं है फिर भी सोचती हूं कि खाली दिमाग शैतान का घर न बन जाये इसलिये जॉब करती हूं और थोड़ा दिल भी बहल जाता है.

ऑफिस की सहेलियों से मैंने कुछ किस्से सुने हुए थे. गीता नाम की मेरी एक सहेली है. हम दोनों बहुत अच्छी दोस्त हैं. एक दिन ऑफिस से निकलते वक्त गीता ने मुझे उसके घर पर बुलाया. मेरे ऑफिस और घर के बीच ही गीता का घर लगता है, तो मैं चली गयी. हमने चाय पी और फिर इधर उधर की थोड़ी बातें की.

गीता ने कहा- अरे शालिनी, क्या तुझे मालूम है कि हमारे ऑफिस में क्या चल रहा है?
मैंने कहा- नहीं.
वो बोली- तू किसी को बतायेगी तो नहीं?
मैंने कहा- बात तो बता कि हुआ क्या है?

वो बोली- प्रीति का बाहर एक अपनी उम्र से बड़े आदमी के साथ अफेयर चल रहा है. शीला का अफेयर तो एक ऐसे लड़के के साथ चल रहा है जिसकी उम्र उसके बेटे के जितनी है. उज्जवला तो एक पार्लर से लड़के लेकर आती है. उसका एक पार्लर वाली के साथ कॉन्टेक्ट है जहां से यंग लड़के आते हैं. वो उन लड़कों के साथ मजे लेती है.

मैंने कहा- क्या बात कर रही है तू? ये सब तो शादीशुदा हैं और अच्छे घर से ताल्लुक रखती हैं.
गीता बोली- एक बार जब बाहर का खाना खाने की आदत लग जाती है तो घर का खाना बेस्वाद लगने लगता है.
मैंने कहा- बात तो तेरी ठीक है. फिर भी यार कैसे कर लेती हैं ये लोग ये सब.
वो बोली- सब चलता है. कुछ नहीं होता यार!

उस दिन जब मैं घर आई तो मेरे दिमाग में गीता के मुंह से सुनी हुई बातें ही चल रही थीं. रात को भी मैं करवट बदलती रही. मुझे नींद नहीं आ रही थी. मैं सोच सोच कर परेशान सी होने लगी.

फिर मेरे दिमाग में कुछ आया और मैं अपने बेटे विशाल के रूम की ओर चली. मैं आपको बता दूं कि मेरी हाइट 5.5 फीट है. शरीर से प्लस साइज की हूं. चबी हूं. मेरे स्तन 41 के हैं. डबल डी की ब्रा पहनती हूं. मेरी कमर 38 की है और गांड 48 की है.

मेरे बेटे विशाल के जन्म लेने के बाद डॉक्टर ने मेरे लिए सेक्स के लिये मनाही कर दी थी. डॉक्टर का कहना था कि सेक्स करने से मेरी चूत में इन्फेक्शन हो सकता है. इसलिए मेरे पति और मेरे बीच सेक्स होना बंद हो गया था.

विशाल के पैदा होने के कुछ महीने के बाद ही मेरे पति की मृत्यु हो गयी थी हार्ट अटैक के कारण. उसके बाद फिर मैं घर को संभालने में लग गयी और सेक्स की ओर कभी ध्यान ही नहीं गया.

तो जब मैं विशाल के रूम में गयी तो उसके हाथ में कोई किताब थी. मुझे देख कर उसने किताब को तकिये के नीचे रख दिया.
मैंने कहा- विशाल तुम पढ़ रहे हो क्या?
वो बोला- नहीं अम्मा, बताओ क्या बात है.

मैं बोली- कुछ नहीं, मुझे तुमसे कुछ बात करनी थी.
उसने कहा- हां, तो कहो अम्मा.
मैंने कहा- क्या तुम लाईट ऑफ कर सकते हो? नहीं तो मैं बात नहीं कर पाऊंगी.

वैसे आते वक्त मैंने अंदर से कुंडी लगा दी थी. मेरे कहने पर विशाल ने लाइट ऑफ कर दी.
मैंने कहा- बेटा, बात थोड़ी अजीब है, ये हम दोनों के बीच में ही रहनी चाहिए.
उसने कहा- ठीक है.

मैं बोली- मैं चाहती हूं कि तुम मेरे साथ …
ये कहते कहते मैं रुक गयी.
उसने कहा- आपके साथ… क्या?
मैंने कहा- मेरे साथ…. वो!
उसने कहा- हां बताओ तो, क्या आपके साथ?
मैंने कहा- मैं चाहती हूं कि तू मेरे साथ सेक्स करे!

ये बात सुन कर विशाल ने कुछ नहीं कहा. मेरी भी कुछ और हिम्मत नहीं हो रही थी कुछ कहने की. हम दोनों कुछ देर के लिए चुप हो गये.

फिर मैंने दोबारा से बात शुरू करते हुए कहा- तुम्हारे पिताजी को गुजरे हुए काफी वक्त हो चुका है. तुम मेरी इच्छा को समझ सकते हो. उस समय डॉक्टर ने कहा था कि अगर मैं सेक्स करूंगी तो वैजाइना में संक्रमण हो सकता है. इसलिए तेरे पिताजी के साथ भी मैं सेक्स नहीं कर पा रही थी. अब मैं 43 की हो गयी हूं और मेरे अंदर सेक्स करने की इच्छा फिर से जाग गयी है.

रूम एकदम शांत था और पूरा अंधेरा था.
मैंने कहा- क्यों क्या हुआ… तू भी तो जवान और समझदार है अब, और मुझे मालूम है एक बात. तू इंटरनेट पर किस टाईप की साईट देखता है. एक दिन मैं तेरे रूम में सफाई कर रही थी, तब तू नहाने गया था और मेरा हाथ गलती से तेरे कम्प्यूटर के माऊस पर लगा. मैंने देखा कि उसमें एक दुबला पतला लड़का मोटी औरत के साथ चुदाई कर रहा था.

उसके बाद एक दिन जब तू बाहर गया हुआ था तो मैं तेरे रूम में साफ-सफाई कर रही थी और मुझे कुछ अश्लील किताबें मिलीं. उसमें भी एक पतला सा लड़का मोटी औरत के साथ सेक्स कर रहा था.
मैं जानती हूं कि तू अभी भी वही किताब देख रहा था. तू किताबों में अश्लील फोटो देखता है और मैं तेरे सामने आज एक खुली किताब बन कर आयी हूं.

रूम में अंधेरा ही था और विशाल ने तुरंत अपना हाथ मेरे मुंह की ओर किया और मेरे मुंह को अपनी ओर करके मेरे होंठों को चूसने लगा.

Maa ki chudai ki eicha apne bete se Maa ki Chudai Bete se

कुछ पल के बाद ही उसने मेरी साड़ी के पल्लू को दोनों हाथों से उतारते हुए मेरे ब्लाउज के ऊपर से मेरे दोनों बोबले (बूब्स) दबा दिये.

उसने मेरे ब्लाउज को खींच कर फाड़ दिया क्योंकि अंधेरे में ब्लाउज खोलना पॉसीबल नहीं था. मेरे बूब्स को नंगा करके वो उनको जोर जोर से दबाने और मसलने लगा. वो काफी उत्तेजित हो गया था.

उसने वैसे ही मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी साड़ी ऊपर की और मेरे ऊपर चढ़ गया. एक तरफ वो मेरे मुंह में मुंह लगा कर मेरी जीभ को खींच रहा था और दूसरी ओर मेरे मोटे मोटे बोबलों को कस कर मसल रहा था. वो कुछ ज्यादा ही एग्रेसिव हो रहा था. मैंने सोचा कि इसको थोड़ा रोकना होगा.

मैंने कहा- आराम से विशाल… आह्ह … धीरे करो बेटा, सब कुछ होगा लेकिन आहिस्ता-आहिस्ता।
मेरी बात सुनकर वो रुक गया.

मगर तब तक उसकी उत्तेजना इतनी ज्यादा बढ़ गयी थी कि उसका वीर्य उसकी पैंट में ही निकल गया. मैंने उसके लंड पर हाथ लगा कर देखा तो उसकी पैंट गीली हो गयी थी. इस पर मेरी हँसी निकल गयी.

उसको प्यार से समझाते हुए कहा- कोई बात नहीं, आज के लिये इतना ही बहुत है. बाकी हम लोग कल कर लेंगे.
उसने कहा- कल, पक्का? प्रॉमिस?
मैंने कहा- हां प्रॉमिस, लेकिन एक बात और भी है”.

उसने पूछा- एक बात और क्या?
मैंने कहा- तुझे मेरी बुर नहीं, तुझे मेरी गांड मारनी होगी.
उसने कहा- जो भी है, मुझे अच्छा लगेगा.

वो रात वैसे ही गयी. रात भर हम दोनों बेड पर पड़े रहे. उसने अपने लंड को मेरी जांघों के बीच में ही पड़े रहने दिया. फिर सुबह जल्दी उठ कर मैं अपने रूम में गयी. मैंने अपना पल्लू संभालते हुए ऊपर कर लिया. रात में उसने मेरा ब्लाउज फाड़ दिया था.

अगले दिन फिर मैं ऑफिस नहीं गयी.
वो किचन में आया और बोला- आज आप ऑफिस नहीं जा रही क्या?
मैंने कहा- नहीं, आज नहीं जा रही हूं. आज तुम भी कॉलेज नहीं जा रहे हो?
उसने कहा- कॉलेज में स्पोर्ट्स चल रहा है और हमारा मैच नहीं है. इसलिए मैं नहीं जा रहा.

फिर उसने मेरी गर्दन को चूमा और मेरे बूब्स को दबा दिया. मेरे मुंह से आह्ह … निकल गया.
मैंने कहा- क्या कर रहा है, बाहर तेरी दादी है.
मगर उसने फिर से मेरे बूब्स को दबा दिया और किस करने लगा.
मैंने उसको पीछे किया और फिर नाश्ता तैयार किया.

कुछ देर के बाद घर में कुछ मेहमान आ गये. वो उनके साथ बैठा और फिर बाहर चला गया.
जाते वक्त उसने कहा- मैसेज पर ऑनलाइन रहना.

फिर मेरी सासू मां खाना खाकर उन मेहमानों के साथ बाहर चली गयी. दोपहर के 2 बजे का वक्त हो गया था.
मैंने विशाल को मैसेज किया- कहां है तू?
वो बोला- मैं अभी बाहर हूं, अभी थोड़ा टाइम लगेगा.
मैंने कहा- ठीक है, मैं जरा बाहर जा रही हूं, देर शाम तक लौटूंगी. सासू मां भी मेहमानों के साथ में गयी हुई है. कल सुबह ही लौटेगी.

विशाल ने ये मैसेज पढ़कर स्मायली भेजा.
फिर मैंने सोचा कि आज कुछ अलग करते हैं. मैंने विशाल को भी ये मैसेज भेज दिया कि आज कुछ नया करेंगे.
विशाल से मैंने कहा कि जैसा मैं कहूं तुम वैसे ही करना.
उसने भी रिप्लाइ किया कि ठीक है.

मैं बाहर गयी और आते वक्त मैंने शॉपिंग की. शाम के 5 बज गये थे. विशाल घर में ही सोया था. वो उठ गया. उठते ही वो मेरे पास आ गया और मेरे बदन के साथ खेलने लगा.

उससे मैंने कहा- पहले तुम नहा लो और मगर अंदर जाने से पहले ये दूध पी लो.
मैंने कह कर दूध का गिलास टेबल पर रख दिया.
वो बोला- मुझे तो आपका दूध पीना है अम्मा.
मैंने कहा- मेरा दूध भी मिलेगा लेकिन अभी तुम ये ही पियो.

मेरे कहने पर उसने दूध पीया. उसने कहा कि उसका स्वाद कुछ अजीब सा लग रहा है.
मुझे आयुर्वेद का ज्ञान था तो मैंने उस दूध में कुछ जड़ी-बूटी मिला दी थी. मैंने ऐसा इसलिए किया कि ताकि विशाल के अंदर सेक्स का स्टेमिना ज्यादा देर तक बना रहे और हम दोनों मां-बेटा अपनी चुदाई का मजा ज्यादा देर तक ले पायें.

दूध पीने के बाद विशाल नहाने के लिए चला गया. फिर मैंने मैसेज किया कि नहाने के बाद वो अपने रूम में ही रहे और गद्दी बिछाये रखे. मुझे मालूम था कि दूध पीने के बाद उसका असर जरूर होगा.

मैंने भी अपने दूध वही बूटी मिलाई और पी गयी. मैं जानती थी कि दूध पीने के बाद विशाल एकदम से शैतान की तरह उत्तेजित हो जायेगा और मुझे बुरी तरह से चोदेगा.

उसके बाद मैं नहाने के लिए चली गयी. नहा कर मैंने घर के सारे खिड़की दरवाजे चेक किये कि सब अच्छी तरह से बंद हैं. मैंने देखा कि सोसाइटी के बच्चों के खेलने का शोर भी कम हो गया था.

नहाने के बाद मैंने नेट ड्रॉप वेल पहन लिया. मैंने वो शॉपिंग करते टाइम खरीदा था. ऐसा पहनावा क्रिश्चियन वधू शादी के टाईम पेहनती है, जालीवाला वो जो सिर से लेकर जमीन तक होता है. पीछे की तरफ वो बिल्कुल नीचे तक था और आगे की ओर मैं नंगी थी.

शाम के 7.30 बज चुके थे. मैं विशाल के रूम में गयी. वो सामने गद्दी पर ही बैठा हुआ था. वो पूरा नंगा था. मैं उसके सामने खड़ी हुई थी. आधी अधूरी नंगी थी मैं. एकदम वासना से भरी हुई.

कुछ देर तक वो मेरी ओर देखता रहा. फिर उठकर मेरे पास आया और मेरे होंठों पर होंठ रख दिये. फिर मेरे बूब्स को उसने पकड़ लिया. मेरे बोबले जोर से दबाते हुए वो मेरे होंठों को किस करने लगा और हम मां बेटे एक दूसरे के होंठों का रस पीने लगे.

मेरा हाथ उसके लंड पर पहुंच गया. उसका लंड पहले से ही तना हुआ था. उसका लंड आज ज्यादा जोश में लग रहा था. बहुत ही दमदार तरीके से उठा हुआ था उसका लंड. दूध का पूरा असर हुआ था उस पर. मैं उसके लंड को सहलाने लगी.

फिर वो मेरा हाथ पकड़ कर नीचे गद्दी पर ले गया मुझे. मैं नीचे गद्दी पर पैर फैलाकर लेट गयी. मैं जान गयी थी कि आज मेरे बेटे का लंड उसकी मां की चूत जरूर फाड़ेगा.

जैसे मैंने टांगें फैलायी विशाल ने मेरी चूत में मुंह लगा दिया और मेरी चूत को चाटने लगा. मैं मदहोश होने लगी. मेरे मुंह से अपने आप ही आवाजें आने लगीं- हू … आ… ओ … आऊच करके मैं अपनी चूत को चटवा रही थी.

Maa ki chudai ki eicha apne bete se Maa ki Chudai Bete se

अब उसने अपना लंड मेरी चूत के होल पर रखा और एक हल्का सा धक्का दिया. मैं हल्के से चिल्लायी और फिर उसने दोबारा से धक्का दे दिया. उसका लंड थोड़ा अंदर गया और फिर उसने बाहर निकाल लिया.

वो बोला- आपको तो अंदर दिक्कत है.
मैंने कहा- कोई बात नहीं. तुम पूरा मत डालना, आधा ही डालना. हल्के हल्के से ही आगे पीछे करना ताकि तुझे भी चूत चोदने का आनंद मिले और मुझे भी लंड से चुदने का आनंद मिले.

कुछ देर तक विशाल ने ऐसा ही किया. वो हल्के हल्के धक्के लगाता रहा. मुझे मजा आने लगा. फिर मुझसे रुका न गया. मेरा मन कर रहा था कि बेटे के लंड को अपनी चूत में पूरा घुसवा लूं मगर अंदर इंफेक्शन का डर था.

मैंने विशाल से कहा- चल बेटा, अब मेरी गांड को चोद दे.
उसने मेरे पैर ऊपर किये और मेरी गांड में लंड को घुसाने की कोशिश करने लगा. मेरी गांड बहुत ज्यादा मोटी थी. इसलिए पोजीशन जम नहीं रही थी.

वो बोला- अम्मा, डॉगी स्टाइल में हो जाओ.
मैंने कहा- तुम्हारा मतलब, मैं तुम्हारी कुतिया बन जाऊं.
वो बोला- हां, मैं तुम्हें कुत्ते की तरह चोदूंगा.

उसके कहने पर मैं घुटनों पर बैठ गयी. मेरे चूतड़ ऊपर की ओर थे. उसने मेरी ड्रेस को ऊपर किया और फिर अपने लंड को मेरी गांड के छेद पर रखा. फिर उसने अपने लंड पर थूक लगाया और मेरी गांड में लंड का धक्का दे दिया.

मैं चिल्लायी- आह्ह, आऊच … आराम से विशाल. दर्द हो रहा है.
मगर अब वो नहीं रुका. उसने लंड को अंदर घुसेड़ना चालू रखा. उसका आधे से ज्यादा लंड मेरी गांड में जा चुका था. फिर मैंने कमर को हिला कर उसके लंड को गांड में एडजस्ट किया.

Maa ki chudai ki eicha apne bete se Maa ki Chudai Bete se

आधा लंड ही गया था. फिर उसने अपने लंड पर थूका और फिर से जोर लगाया. उसका पूरा लंड मेरी गांड में चला गया. अब मुझे भी मजा आने लगा. उसका लंड मेरे चूतड़ों में दर्द भी दे रहा था और मजा भी.

मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी. हम दोनों ही अपने अपने चूतड़ों और कमर को हिलाकर चुदाई का मजा लेने लगे. मुझे गांड चुदवाने में मजा आने लगा. विशाल भी मेरी गांड को मस्त होकर चोद रहा था.

कुछ देर के बाद वो बोला- अम्मा, मेरा होने वाला है.
मैंने कहा- हां बेटा, निकाल दे. अपना पूरा पानी मेरी गांड में निकाल दे. मेरे चूतड़ों को अपने वीर्य से भर दे.

उसकी स्पीड बढने लगी. वो तेजी से मेरी गांड में धक्के लगाने लगा. मेरी गांड को चोदते हुए वो मेरे बोबले भी दबा रहा था. फिर उसने अपने शरीर का पूरा वजन मेरे ऊपर डाल दिया और मुझे जकड़ लिया.

मैं समझ गयी कि उसका पानी निकल रहा है. मेरे चूतड़ उसके वीर्य से भरने लगे. मैं उसके गर्म वीर्य को अपने चूतड़ों में महसूस कर रही थी. फिर वो मेरे ऊपर लेट गया. कुछ देर तक वो ऐसे ही पड़ा रहा.

मुंह घुमाकर मैंने घड़ी में टाइम देखा तो रात के 9 बज चुके थे. उसने मुझे पौना घंटा चोदा. उसके बाद फिर उस रात को मेरे बेटे ने मेरी चुदाई लगभग 6 बार की. मेरी गांड फट गयी. मगर मुझे मजा भी बहुत आया अपने बेटे के लंड से चुद कर.

मेरी सासू मां के आने तक हम मां-बेटे ने कई बार चुदाई की. जब उसकी दादी वापस आ गयी तो फिर नॉर्मल ही रहने लगे. जब भी हमें चान्स मिलता था हम लोग चुदाई करने लगे.

रात को मैं विशाल के रूम में चुदने के लिए चली जाती थी और सुबह को सासू मां की नींद खुलने से पहले वापस आ जाती थी. एक दिन तो सासू मां घर पर ही थी. उस दिन तो हमने बाथरूम में चुदाई की.

इस तरह से मेरे बेटे ने मेरी वासना को पूरी किया. अब वो मेरा बेटा ही नहीं, मेरा बॉयफ्रेंड और मेरा पति भी है. अब हम दोनों लवर के जैसे हो गये हैं. वो मेरी हर बात का खयाल रखता है और मैं भी उसको अपने पति के जैसे रखती हूं.

आप लोगों को मां-बेटे की ये चुदाई की कहानी कैसी लगी, इसके बारे में मुझे नीचे दी गयी ईमेल आईडी पर जरूर बताना. हो सकता है कि आप लोगों के साथ भी लाइफ में कुछ ऐसा हुआ है. मुझे आपके मैसेज का इंतजार रहेगा. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.
[email protected]

Maa ki chudai ki eicha apne bete se Maa ki Chudai Bete se

Read in English

Maa ki chudai ki eicha apne bete se Maa ki Chudai Bete se

Maa ki chudai bete se: My husband died at an early age. My sex desire was suppressed. After many years, my pussy aroused lust again. How did my pussy’s unfulfilled wish come true?

My name is Shalini. I am 43 years old. I am a widow My husband passed away a long time ago. Now I, my mother-in-law and my 23-year-old son Vishal all three of us live at home.

By body my son Vishal is thin like lean but his height is 6 feet 2 inches. I also do a job. I come home by 7 in the evening. We are very rich There is nothing special about money, yet I think that the empty mind does not become the home of the devil, so I do a job and a little heart gets lost then start Maa ki Chudai Bete se.

I had heard some stories from office friends. I have a friend named Geeta. We are both very good friends. One day while leaving office, Geeta called me to her house. Geeta’s house seems to be between my office and home, so I left. We drank tea and then talked a little here and there.

Geeta said – Hey Shalini, do you know what is going on in our office?
I said no forn Maa ki Chudai Bete se.
She said – will you tell anyone?
I said – tell me what happened?

That quote – Preity is having an affair with a man older than her age. Sheela’s affair is going on with a boy who is as old as her son. Ujjwala brings boys from a parlor. He has a contact with a parlor from where the young boys come. She enjoys having fun with those boys like Maa ki Chudai Bete se.

I said – what are you talking about? They are all married and belong to a good home.
Geeta said – Once you get used to eating outside food, then the home food starts to taste tasteless.
I said – you are fine Still, how do these people do this man?
That quote – everything goes. Nothing happens man for Maa ki Chudai Bete se.

That day when I came home, only the things heard from Geeta’s mouth were going on in my mind. Even at night, I kept turning. I was not feeling sleepy. I started getting upset after thinking.

Then something came to my mind and I walked towards my son Vishal’s room. Let me tell you that my height is 5.5 feet. I am plus size from my body. Am chubby My breasts are 41. I wear a double D bra. My waist is 38 and ass is 48 in Maa ki Chudai Bete se.

After the birth of my son Vishal, the doctor refused sex for me. The doctor said that having sex can cause infection in my pussy. Therefore, my husband and I had sex.

My husband died a few months after Vishal was born due to a heart attack. After that, I started taking care of the house again and never paid attention to sex like Maa ki Chudai Bete se.

So when I went to Vishal’s room, he had a book in his hand. On seeing me, he put the book under the pillow.
I said – Vishal are you studying?
He said – No Amma, tell me what is the matter in Maa ki Chudai Bete se.

I said nothing, I had to talk to you.
He said – Yes, then say Amma.
I said – can you light off? Otherwise I will not be able to talk for Maa ki Chudai Bete se.

By the way, I had put a latch inside. Vishal turned off the light at my behest.
I said, son, this thing is a bit strange, it should remain between us.
He said – okay for Maa ki Chudai Bete se.

I bid – I want you to be with me…
I stopped saying this
He said – with you… what?
I said – with me…. they!
He said- If you say yes, is it with you?
I said – I want you to have sex with me then Maa ki Chudai Bete se.

Hearing this, Vishal did not say anything. I too could not dare to say anything. We both kept quiet for a while.

Then I started talking again and said – It has been a long time since your father passed. You can understand my wish At that time, the doctor said that if I have sex, there can be an infection in Vagina. That’s why I was not able to have sex even with your father. Now I am 43 and my desire to have sex has rekindled in Maa ki Chudai Bete se.

The room was very quiet and it was completely dark.
I said – what happened… You too are young and intelligent now, and I know one thing. What type of site do you see on the Internet. One day I was cleaning in your room, then you went to take a bath and accidentally put my hand on the mousse of your computer. I saw a thin skinny boy fucking him with a fat woman on Maa ki Chudai Bete se.

After that one day when you went out, I was cleaning in your room and I got some pornographic books. In it too, a thin boy was having sex with a fat woman for Maa ki Chudai Bete se.
I know that you were still watching the same book. You see pornographic photos in books and I have come in front of you today as an open book.

cript>

It was dark in the room and Vishal immediately put his hand towards my mouth and started sucking my lips by turning my mouth towards him about Maa ki Chudai Bete se.

After a few moments, she took down the pallu of my saree with both hands and pressed both my bobbles (boobs) on top of my blouse.

She pulled and tore my blouse because it was not possible to open the blouse in the dark. Nude of my boobs, he started pressing and mashing them harder. He was very excited for Maa ki Chudai Bete se.

He likewise laid me on the bed and lifted up my sari and climbed on top of me. On one hand, he was pulling my tongue in my mouth and on the other hand, I was crushing my thick thick bobbles tightly. He was becoming more aggressive. I thought it would have to be stopped a little bit ane enjoy Maa ki Chudai Bete se.

I said – comfortably huge… Ahhh… slow down son, everything will happen but slowly – slowly.
He stopped listening to me.

But by then his excitement had increased so much that his semen came out in his pants. When I tried my hand at his cock, his pants had become wet. I laughed at this in Maa ki Chudai Bete se.

Explaining him lovingly, he said- Never mind, that is enough for today. We will do the rest tomorrow.
He said – tomorrow, sure? Promise?
I said – yes promise, but there is one more thing in Maa ki Chudai Bete se.

He asked- What else?
I said – you are not my bad, you have to kill my ass.
He said- Whatever it is, I would love it.

That night went the same way. Throughout the night we both lay on the bed. He let his cock lie between my thighs. Then I got up early in the morning and went to my room. I took my pallu up. He tore my blouse at night on Maa ki Chudai Bete se.

The next day I did not go to office again.
He came to the kitchen and said – are you not going to office today?
I said – no, I am not going today. Today you are not going to college too?
He said – Sports are going on in college and we do not have a match. So I’m not going to Maa ki Chudai Bete se.

Then he kissed my neck and pressed my boobs. Ahh… out of my mouth.
I said – what is your grandmother doing outside.
But he again pressed my boobs and started kissing and enjoy Maa ki Chudai Bete se.
I followed him and then prepared breakfast.

After some time some guests arrived in the house. He sat with them and then went out.
On the go, he said – stay online on the message for Maa ki Chudai Bete se.

Then my mother in law went out with those guests after having dinner. It was 2 o’clock in the afternoon.
I messaged Vishal – where are you?
He said – I am out now, it will take some time now in Maa ki Chudai Bete se.
I said – OK, I am going out a little, I will return till late evening. Mother-in-law has also gone with the guests. Will return tomorrow morning.

Vishal read this message and sent a smiley on Maa ki Chudai Bete se.
Then I thought let’s do something different today. I also sent a message to Vishal that today he will do something new.
I told Vishal that you should do as I say.
He also replied that it is fine about Maa ki Chudai Bete se.

I went out and I did shopping while coming. It was 5 in the evening. Slept in the huge house itself. he rose. As soon as he got up, he came to me and started playing with my body the Maa ki Chudai Bete se.

I told him- first take a bath and drink this milk before going inside.
I said and put the glass of milk on the table.
He said – I have to drink your milk Amma asking Maa ki Chudai Bete se.
I said – I will get my milk too, but you drink it right now.

He drank milk at my request. He said that his taste looks a bit strange.
If I had knowledge of Ayurveda, then I had added some herbs in that milk Maa ki Chudai Bete se.

I did this so that the sex stamina inside Vishal would remain for a long time and both of us mother and son could enjoy our sex for a long time of Maa ki Chudai Bete se.

After drinking milk, Vishal went for a bath. Then I messaged that after bathing, he should stay in his room and keep the cushion. I knew that after drinking milk it would definitely have an effect on Maa ki Chudai Bete se.

I also mixed my milk with the same herb and drank it. I knew that after drinking milk, Vishal would get excited like a devil and would fuck me badly the Maa ki Chudai Bete se.

After that I went for a bath. Taking a shower, I checked all the window doors in the house to ensure that all are well closed. I noticed that the noise of the society’s children playing was also reduced the Maa ki Chudai Bete se.

I took a net drop well after taking a bath. I bought it while shopping. Such a dress is the time of Christian bride marriage, the nethergist is the one who is from head to the ground Maa ki Chudai Bete se.

At the back it was all the way to the bottom and towards the front I was naked on Maa ki Chudai Bete se.

It was already 7.30 in the evening. I went to Vishal’s room. He was sitting on the throne in front. He was completely naked. I was standing in front of her. I was half incomplete naked. Full of lust for Maa ki Chudai Bete se.

He kept looking at me for a while. Then got up and came to me and put lips on my lips. Then he caught my boobs. While pressing my bobble loudly, he started kissing my lips and we mother son started drinking juice of each other’s lips and perform Maa ki Chudai Bete se.

My hand reached his cock. His cock was already taut. His cock seemed more excited today. His cock was lifted in a very powerful way. Milk had its full effect. I started caressing his cock and enjoy Maa ki Chudai Bete se.

Then he took my hand and took me down on the throne. I lay down on the cushion with my legs spread. I knew that today my son’s cock will definitely tear his mother’s pussy in Maa ki Chudai Bete se.

As I spread my legs, Vishal put my mouth in my pussy and started licking my pussy. I started getting drunk. Voices started coming from my mouth on my own – hoo… come… o… I was licking my pussy after ouch then Maa ki Chudai Bete se.

Now he put his cock on the hole of my pussy and pushed it a little bit. I shouted lightly and then she pushed again. His cock went a little bit and then he pulled it out Maa ki Chudai Bete se.

He said – you have a problem inside on Maa ki Chudai Bete se.
I said – no problem. You do not pour whole, half pour. Do it lightly back and forth so that you too will enjoy pussy fucking and I will also enjoy fucking with cocks.

Vishal did this for a while. He kept pushing lightly. I started having fun. I was not stopped again. I was feeling that I should completely penetrate the son’s penis in my pussy, but I was afraid of infection on Maa ki Chudai Bete se.

I told Vishal – son, now give my ass to Chod.
He put my feet up and started trying to penetrate the cocks in my ass. My ass was very thick. Therefore the position was not freezing the Maa ki Chudai Bete se.

He said – Amma, get in doggy style.
I said – you mean, I should become your bitch.
He said- Yes, I will fuck you like a dog Maa ki Chudai Bete se.

At her insistence, I sat on my knees. My butts were upwards. He put my dress up and then put his cock on my ass hole. Then he spit on his cock and pushed the cock in my ass Maa ki Chudai Bete se.

I shouted – Ahhh, Ouch… comfortably huge. Its paining.
But now he did not stop. He continued to penetrate the cocks inside. More than half of his cock had gone into my ass. Then I shook my waist and adjusted his cock in the ass Maa ki Chudai Bete se.

Half the cocks had gone. Then he spit on his cock and thrust again. All his cocks went into my ass. Now I also started having fun. His cock was giving pain in my pussy and also fun Maa ki Chudai Bete se.

I was also giving her full support. We both started to enjoy our sexes by shaking our pussy and waist. I started to enjoy ass fucking. Vishal was also fucking my ass.

After some time he said – Amma, I am going to be mine.
I said – yes son, remove it. Drain all your water in my ass. Fill my pussy with your semen.

His speed started increasing. He started to hit my ass fast. While fucking my ass, he was also pressing my bobble. Then he put all the weight of his body on me and held me Maa ki Chudai Bete se.

I understood that its water was draining. My butts started filling her with semen. I was feeling her hot semen in my pussy. Then he lay down on me. He stayed like this for a while Maa ki Chudai Bete se.

Turning my face, I saw the time in the clock and it was already 9 o’clock in the night. He made me miss a quarter of an hour. After that again that night my son made me fuck about 6 times. My ass was torn. But I also enjoyed a lot with my son’s cock Maa ki Chudai Bete se.

Until the arrival of my mother-in-law, we mother-son fuck many times. When his grandmother returned, he started living normal again. Whenever we got a chance, we started fucking Maa ki Chudai Bete se.

At night, I used to go to Chudha in Vishal’s room and in the morning I would come back before Sasu Maa’s sleep opened. One day mother-in-law was at home. That day we fuck in the bathroom Maa ki Chudai Bete se.

In this way my son fulfilled my lust. Now he is not only my son, but also my boyfriend and my husband. Now both of us have become like lovers. He takes care of my everything and I also keep him like my husband Maa ki Chudai Bete se.

How did you feel about this mother-son chudai story, tell me about it on the email id given below. It is possible that something like this has happened with your life too. I look forward to your message. And to read sex videos and new story, telegram group can join.
[email protected]

Read more Sex Story-

Desi xxx kahani पति समझ माँ ने चुदाई की अपने बेटे से 1 best

Maa beta kahani मॉम की चूत का रस पीकर चुदाई 1 Real Sex Fun

Chudi ki khani मसाज करके मां की चुदाई 1 Real Family Sex Fun

Leave a Comment

org/tools/popad.js">