Follow my blog with BloglovinCousin sex story चाचा की बेटी को चोदा 1 real Sex fun

Cousin sex story चाचा की बेटी को चोदा 1 real Sex fun

चाचा की बेटी को चोदा cousin sex story

cousin sex story: मेरी कजिन सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने चाचा की हॉट जवान बेटी की कुंवारी बुर की चुदाई की. वो 22 साल की थी और एकदम गदराये जिस्म की थी.

दोस्तो, मेरा नाम आदित्य है. मैं इंदौर (मध्य प्रदेश) का रहने वाला हूं. मेरी उम्र 24 साल है। मेरे लंड का आकार काफी बड़ा है. मेरा लंड 7.5 इंच लम्बा और करीब 3 तीन इंच मोटा है.
आज मैं आप लोगों को आज अपने साथ हुई एक सच्ची घटना के बारे में बताने जा रहा हूं. आशा करता हूं कि आप लोगों को मेरे साथ हुई ये कजिन सेक्स कहानी पढ़ने में मजा आयेगा.

इंदौर में मेरे चाचा का घर हमारे घर के पास ही है और उनके घर में तीन बेटी और एक लड़का है. मैं आपको एक बार अपनी तीनों कजिन के बारे में बता देता हूं.
उनकी सबसे बड़ी बेटी का नाम मेघा है जो मुझसे एक साल बड़ी है और उसकी 6 महीने पहले ही शादी हो चुकी है।

मेरी दूसरी कजिन का नाम तन्वी है लेकिन सब उसे तनु कहकर ही बुलाते हैं। तनु की उम्र 22 साल है। वो बहुत ही खूबसूरत है. उसका फिगर कुछ 34-28-36 का होगा। एकदम गदराया हुआ बदन है तनु का.
उसके सीने पर आम के आकार के दो चूचे ऐसे लगे हुए हैं जिनको देख कर उनको बस दबाने और पीने का मन कर जाता है.

तीसरी कजिन का नाम है पायल। पायल की उम्र 20 साल है। वो अभी अभी जवान हुई है लेकिन वो तन्वी से भी ज्यादा खूबसूरत दिखती है उसके चूचे थोड़े छोटे हैं, लेकिन सबसे ज्यादा उसकी तरफ आकर्षित करने वाली चीज उसकी गांड है।

cousin sex story

उफ्फ्फ… क्या गांड है, बहुत ही मस्त। जब वो अपनी गांड को मटका कर चलती है तो किसी का लौड़ा भी सांप की तरफ फनफना जाये उसकी गांड के बिल में घुसने के लिए।

मेरे चाचा का सबसे छोटा बेटा है आयुष जिसकी उम्र पायल से करीब पांच साल कम है अभी.

यह कजिन सेक्स कहानी मेरे और तन्वी के बीच हुई चुदाई के बारे में है. यानि कि मैं और मेरे चाचा की बीच वाली लड़की. मेरी कजिन काफी खुले मिजाज वाली है और सबसे घुल मिल कर रहती है. हर वक्त हंसी मजाक करती रहती है.

चूंकि मैं भी थोड़ा सा मजाकिया किस्म का बंदा हूं तो मेरी और तन्वी की काफी बनती है. यह घटना आज से करीब सात महीने पहले की है. यानि कि चाचा की बेटी मेघा की शादी के ठीक एक महीना पहले की.

मेघा की शादी फिक्स हो गयी थी और घर में शादी की तैयारियां चल रही थीं. यहां तक कि शादी के कार्ड भी बांटने शुरू कर दिये थे हम लोगों ने. कार्ड बांटने के काम में मैं भी उन लोगों की मदद कर रहा था.

एक तरफ चाचा जी कार्ड बांटने जा रहे थे तो दूसरी तरफ मैं बाकी की रिश्तेदारियों में कार्ड बंटवाने जा रहा था.
मेरी कजिन तन्वी ने कहा कि उसे भी उसके दोस्तों के यहां कार्ड बांटने के लिए जाना है.
चाचा ने अपनी बेटी तन्वी से कहा- तुम आदि को ले जाओ अपने साथ.
मैं और मेरी कजिन तन्वी दोनों साथ में जाने के लिए तैयार हो गये. दोपहर के करीब तीन बजे मैं और तन्वी कार्ड बांटने के लिए निकल गये.

cousin sex story

तन्वी ने उस दिन जीन्स व फुल टाइट टॉप पहना था. उस दिन तो वो एकदम माल लग रही थी और उस दिन ही मैंने अपनी कजिन को पहली बार सेक्स भरी गंदी नजर से भी देखा था।
बाइक पर बैठे हुए वो बिल्कुल मेरे पास चिपक कर बैठी थी जिससे उसके चूचे मेरी पीठ से टकरा रहे थे.

उसके चूचों के टकराने की वजह से मेरा लंड खड़ा हो गया था. मुझे भी मजा आ रहा था जब उसके चूचे मेरी पीठ के साथ सट रहे थे. हम लोग ऐसे ही बातें करते हुए जा रहे थे.

जब कभी स्पीड ब्रेकर आता तो मैं जान बूझ कर ब्रेक नहीं लगाता था. इस वजह से उसके चूचे मेरी पीठ से बिल्कुल सट जाते थे. वो एकदम मेरी पीठ से चिपक जाती थी.

मेरी कजिन भी शायद इस बात को समझ रही थी कि मैं जानबूझ कर ब्रेक नहीं लगा रहा हूं. वो कुछ नहीं बोल रही थी. थोड़ी ही देर के बाद हम लोग इंदौर शहर में पहुंच गये. हम लोगों ने उसके दोस्तों के यहां पर शादी के कार्ड दिये और उसके बाद शाम के करीब 7 बजे हम लोग वापस आने लगे.

आते हुए भी मैंने वैसा ही किया. उसके चूचों को अपनी पीठ से सटाये रखा. मेरा लंड पूरे रास्ते भर तना रहा. मुझे तो मजा आ रहा था लेकिन रास्ते भर उसने भी कुछ नहीं कहा. हम आठ बजे के करीब घर वापस पहुंच गये.

अगले दिन मुझे और मेरी कजिन को इंदौर से दूर पालदा जाना था. पालदा में तन्वी की दो सहेलियां रहती थीं. वो उसकी काफी खास सहेलियां थीं. तन्वी मुझे ही उसके साथ चलने के लिए कहा.
अगले दिन हम सुबह के वक्त ही निकल गये थे क्योंकि हमें काफी दूर जाना था.

cousin sex story

यहां पर मैं बता दूं कि इंदौर और पालदा के बीच में कुछ दूरी का सुनसान इलाका पड़ता है. गाड़ियां तो चलती रहती हैं लेकिन बिल्कुल ही न के बराबर चलती हैं. हम दोनों उसी इलाके से गुजर रहे थे.

जब हम घर से निकले थे तभी से मुझे मेरी कजिन का मिजाज कुछ बदला हुआ सा लग रहा था. आज मुझसे कुछ ज्यादा ही सट कर बैठी हुई थी. इससे पहले दिन जब हम इंदौर गये थे तो उसने बाइक पर जाते हुए उसने अपने हाथ मेरे कंधे पर रखे हुए थे लेकिन आज वही हाथ उसने मेरी कमर पर रखे हुए थे.

मैं भी इस बात को सोच कर काफी उत्तेजित हो रहा था. उसका सिर भी मेरे कंधे पर रखा हुआ था. वो बिल्कुल ऐसे चिपक कर बैठी हुई थी जैसे एक प्रेमिका अपने प्रेमी से चिपक कर बैठी हुई होती है. मेरा लंड भी उसके चूचों के बारे में सोच कर और उसके चूचों के टच होने के कारण तना हुआ था.

आज मैंने एक बात और नोटिस की थी कि जब भी बाइक का ब्रेक लगता था तो तन्वी बिल्कुल मेरे बदन से और ज्यादा चिपक जा रही थी. जैसे तैसे करके हम लोग पालदा में कार्ड देने के बाद वापस आते हुए इंदौर पहुंच गये.

हम लोग सुबह से ही निकले हुए थे इसलिए हमें भूख लग रही थी. इधर तन्वी ने कहा कि जब शहर आये हैं तो शॉपिंग भी कर लेते हैं. मैंने उसकी बात मान ली. मगर मैंने कहा कि पहले कुछ खा लेते हैं और उसके बाद हम शॉपिंग कर लेंगे.
वो भी मेरी बात को मान गयी.

मेरी कजिन ने कहा कि पास में ही दोस्त का रूम है. वहां पर चल कर थोड़ी देर आराम कर लेते हैं. मैं थकी हुई सी हूं.
मैंने भी कह दिया कि सुबह से बाइक चला कर मैं भी थक गया हूं. हम दोस्त के रूम पर ही कुछ खाने का सामना मंगवा लेंगे.
उसने भी इस बात से इनकार नहीं किया.

cousin sex story

दोस्त को फोन करके उसने अपनी दोस्त के कमरे की चाबी मंगवा ली. चाबी को लकर हम लोग उसकी दोस्त के रूम पर चले गये. कमरे पर पहुंच कर हम लोगों ने खाना ऑर्डर कर दिया. उसके बाद दोनों फ्रेश होने लगे. जब मैं हाथ-मुंह धोकर बाहर निकला तो वो आइने के सामने अपने बालों को संवार रही थी.

उस समय मेरी कजिन देखने में काफी हॉट लग रही थी जैसे किसी फिल्म की नायिका खुद को किसी सीन के लिए तैयार कर रही हो.

पता नहीं मेरे मन में एकदम से एक तूफान सा उठा. उसको देख कर मेरा लंड तन गया और मैंने पीछे से जाकर उसको अपनी बांहों में भर लिया. मेरे हाथ सीधे उसके चूचों पर चले गये. जब तक वो संभल पाती मेरे हाथों ने उसको चूचों को कई बार दबा दिया था.
तन्वी एकदम से आगे होकर बोली- ये क्या कर रहे हो आदि? मैं तुम्हारी बहन के जैसी हूं. ये सब गलत है.
मैंने कहा- बहन के जैसी हो. बहन तो नहीं हो. वैसे भी मैं तुम्हें बहुत पसंद करने लगा हूं.

ये कह कर मैं दोबारा से आगे बढ़ गया. मैंने उसकी गर्दन को पकड़ लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर उनको चूसने लगा. वो दोबारा से पीछे हटी. वो हैरानी से मेरी तरफ देख रही थी. उसने मेरी आंखों में देखा और फिर मेरी पैंट में तने हुए मेरे लंड को देखा.

उसके बाद मैंने दोबारा से उसको अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों का रस पीने लगा. अब रिश्ते की मर्यादा को भूल कर उसने भी मेरा साथ देना शुरू कर दिया. मैं जानता था कि हवस तो उसके अंदर भी भरी हुई थी लेकिन वो बस दिखावा कर रही थी दूर हटने का.

cousin sex story

हम दोनों कजिन सेक्स से पागल होकर एक दूसरे को किस कर रहे थे. मेरे हाथ उसकी गांड को दबा रहे थे. पांच मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे को हमने चूसा और फिर दरवाजे की बेल बजी. हम अलग हो गये और दरवाजा खोला तो खाना आ गया था. डिलीवरी बॉय खाना देकर वापस चला गया.

मैंने खाने को टेबल पर एक तरफ रख दिया क्योंकि अभी खाने की नहीं बल्कि हवस की भूख लगी हुई थी. मैंने वापस उसके पास जाकर उसके कपड़ों को उतारना शुरू कर दिया. अगले दो मिनट में वो ब्रा और पैंटी में ही मेरे सामने खड़ी थी.

उसके कपड़ों को उतारने के बाद मैंने भी फटाफट अपने कपड़े उतार डाले और सिर्फ मैं अंडरवियर में आ गया था. मेरा सात इंच से ज्यादा का लंड मेरे अंडरवियर से बाहर आने के लिए जैसे तड़प रहा था. उसने मेरे अंडरवियर को एकदम से उठा रखा था.

मैं तन्वी के पास गया और मैंने उसको गोद में उठा कर पास ही बेड पर पटक दिया और उसके ऊपर चढ़ गया. उसको किस करते हुए उसकी ब्रा को उतारने लगा. मेरे अंदर इतनी हवस जाग चुकी थी कि जल्दी से जल्दी मैं उसको पूरी तरह से नंगी कर देना चाह रहा था. लेकिन उसके ब्रा के हुक नहीं खुल रहे थे.

जब ब्रा उतरने में देर होती दिखी तो मैंने जोश में आकर उसकी ब्रा को खींच कर फाड़ दिया और उसके चूचों को नंगे कर दिया. उसके आम जैसे चूचे एकदम से बाहर आ गये. मैं उनको देख कर पगला गया और उन पर टूट पड़ा.

cousin sex story

जल्दी से मैंने उसके एक चूचे को मुंह में भर लिया और दूसरे को अपने हाथ से दबाते हुए पहले वाले को चूसने लगा. वो भी दो मिनट के अंदर ही सिसकारियां भरने लगी थी. फिर मैंने दूसरे चूचे को मुंह में भरा और पहले वाले को हाथ से दबाने लगा.

cousin sex story

मेरी कजिन सेक्स की आग से जल रही थी, अब और ज्यादा गर्म हो गयी थी और मेरी पीठ को सहलाते हुए अपने चूचों को चुसवाने का मजा ले रही थी. कुछ देर तक उसके चूचों को पीने के बाद मैंने उसकी पैंटी पर हाथ लगाया तो वो गीली हो चुकी थी. मैंने उसकी पैंटी को निकाल दिया.

जब मैंने अपनी कजिन की बुर को देखा तो देखता ही रह गया. मस्त बुर थी साली की. उसकी बुर पर छोटे-छोटे बाल थे. उसकी बुर पूरी तरह से गीली हो चुकी थी. करीब 10 मिनट तक उसकी बुर चूसता रहा मैं और वो अपने हाथों से मेरा सिर उसकी बुर पर दबाये जा रही थी।

थोड़ी देर में उसकी बुर ने रस छोड़ दिया जो मैं सारा का सारा पी गया. उसका टेस्ट कुछ अजीब सा नमकीन सा था लेकिन हवस की आग में सब अच्छा लग रहा था.

उसके बाद मैं खड़ा हो गया. तन्वी मेरे सामने बेड पर पूरी नंगी पड़ी हुई तड़प रही थी और जोर से हांफ रही थी. उसके बाद मैंने अपने लंड को भी आजाद कर दिया. मैंने अपना अंडरवियर उतार कर एक तरफ फेंक दिया और उसकी गीली बुर पर अपना चिकना हो चुका लौड़ा लगा कर उसकी बुर में धक्का दे दिया.
तन्वी की चीख निकली- मम्माह उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मर गई!

cousin sex story

मेरी कजिन बहन की सील पैक बुर में लंड गया तो मजा आ गया. उसकी बुर काफी टाइट थी. मैं ज्यादा जल्दबाजी नहीं कर रहा था. बल्कि धीरे-धीरे उसकी बुर को चोद रहा था. वो भी अब दोबारा से सिसकारियां लेने लगी थी.

मैंने धक्के थोड़े तेज किये तो वो उछल जाती थी. उसको शायद दर्द हो रहा था. मगर अभी तक केवल आधा लंड ही उसकी बुर में घुसाया था मैंने. मैं उसकी बुर में पूरा लंड घुसाना चाह रहा था.

थोड़ा सा मौका देख कर मैंने एक जोर का धक्का मारा तो उसकी चीख निकल गई और वो मुझे वापस धकेलने लगी.
बोली- वापस निकालो यार, बहुत दर्द हो रहा है.
मगर मैं तो जैसे जन्नत में पहुंच गया था. अब लंड को बाहर निकालना संभव नहीं था. मैं उसके ऊपर लेट गया और उसके होंठों को चूसने लगा. मैंने पूरा लंड उसकी बुर में घुसा दिया था.

cousin sex story - real chudai stories - family ki chudai

पांच मिनट के बाद उसका दर्द कुछ कम हुआ तो मैंने अपना लन्ड अंदर बाहर करना चालू कर दिया। थोड़ी देर बाद उसे भी मजा आने लगा और वो भी सिसकारियों के साथ मजे लेने लगी.
आहहह … याहह् … ओहह्ह … करते हुए हम दोनों ही कजिन सेक्स का मजा लेने लगे.

वो बोली- और जोर से आदि… बहुत मजा आ रहा है. फाड़ डालो मेरी बुर को.
मैंने भी उसको गाली देते हुए कहा- हां रंडी, आज मैं तेरी बुर को चोद कर इसका भोसड़ा बना दूंगा. बहुत खुजली हो रही थी तेरी बुर में.
वो बोली- हां, आज इसकी सारी खुजली मिटा दो यार… आह्ह … चोदो, और जोर से चोदो … अपने चाचा की जवान बेटी की चुदाई करो!

cousin sex story

मैं तेजी से उसकी बुर को चोदने लगा. वो भी अब गांड उठा कर चुदने लगी थी. करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना सारा वीर्य उसकी बुर में ही निकाल दिया।

सारा वीर्य उसकी बुर में भर कर मैं उसके ऊपर निढाल होकर लेट गया. थोड़ी देर तक ऐसे ही पड़ा रहा मैं। थोड़ी देर के बाद मैं उठा और फ्रेश होने के लिए चला गया.

वापस आने के बाद मैंने उससे भी फ्रेश होने के लिए कहा तो वो बोली- मुझसे चला नहीं जा रहा है.
फिर मैं ही उसको उठा कर बाथरूम में ले गया और उसकी साफ-सफाई की. उसको नहलाया और साफ किया.

बाहर आने के बाद मैं बोला- चलो, अब जल्दी से तैयार हो जाओ. हम लोगों को घर के लिए भी निकलना है. हम फिर खाना खाकर वहां से निकल गये. मैंने रास्ते में उसको गर्भ निरोधक गोली खिला दी.

तो दोस्तो, इस तरह से मैंने और मेरी कजिन ने सेक्स का मजा लिया.

आपको मेरी यह कजिन सेक्स कहानी कैसी लगी इसके बारे में अपने विचार जरूर बतायें. मुझे आपको मैसेज का इंतजार रहेगा. नीचे दी गई मेल आईडी आप पर मेल जरूर करें और चाचा की जवान बेटी की चुदाई की कहानी पर कमेंट करके भी अपनी प्रतिक्रिया दें. आप मुझे बताएं कि क्या आप भी कजिन सेक्स पसंद करते हैं?

cousin sex story

मैं अपनी अगली सेक्स कहानी लेकर जल्दी ही आऊंगा.
धन्यवाद.
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा.

cousin sex story

Read in English

chacha ki ladki ki chudai cousin sex story

cousin sex story: In my cousin sex story, read how I fuck the virgin bur of my uncle’s hot young daughter. She was 22 years old and had a very deep body.

Friends, my name is Aditya. I am from Indore (Madhya Pradesh). I am 24 years old. The size of my cock is quite big. My cock is 7.5 inches long and about three to three inches thick.
Today I am going to tell you about a true incident that happened to me today. Hope you guys enjoy reading this cousin sex story that happened to me in cousin sex story.

My uncle’s house is near our house in Indore and he has three daughters and a boy in his house. Let me tell you about my three cousins ​​once.
His eldest daughter is named Megha who is one year older than me and she has been married 6 months ago to get a cousin sex story.

My second cousin’s name is Tanvi, but everyone calls her as Tanu. Tanu is 22 years old. She is very beautiful His figure will be some 34-28-36. Tanu’s body is absolutely dead.
There are two mango shaped balls on his chest, which on seeing them, he just feels like pressing and drinking in cousin sex story.

The third cousin is Payal. Payal is 20 years old. She is still young but she looks more beautiful than Tanvi, her legs are a little smaller, but the thing that attracts her most is her ass.

cousin sex story
Uffff… what an ass, very cool. When she moves with her ass, then someone’s Aloda should be beaten towards the snake to get into her ass bill.

My uncle’s youngest son is Ayush who is almost five years younger than Payal in cousin sex story.

This cousin sex story is about the sex between me and Tanvi. That is, the girl between me and my uncle. My cousin is very open-minded and lives in perfect harmony. Laughter keeps joking all the time.

Since I am also a little funny type of person, so much of mine and Tanvi are made. This incident is about seven months ago. That is, exactly one month before the marriage of uncle’s daughter Megha then cousin sex story.

Megha’s marriage was fixed and wedding preparations were going on in the house. Even we started distributing wedding cards. I was also helping those people in the work of distributing cards.

On one side, uncle was going to distribute the card, on the other hand I was going to distribute the card among the remaining relatives on the cousin sex story.
My cousin Tanvi said that he too has to go to his friends to distribute the cards.
The uncle told his daughter Tanvi – Take Adi with you.
Both me and my cousin Tanvi agreed to go together. Around three o’clock in the afternoon, Tanvi and I left to distribute the cards.

cousin sex story
Tanvi wore jeans and full tight top that day. That day she was looking absolutely good, and on that day itself, I saw my cousin for the first time with sex-filthy eyes too cousin sex story.
While sitting on the bike, she was sitting right next to me, due to which her cocks were hitting my back.

My cock was erected due to his banging. I was also enjoying it when his cocks were sticking with my back. We were going talking like this.

Whenever the speed breaker came, I did not deliberately apply the brake. Because of this, his cocks used to be very close to my back. She used to stick to my back on cousin sex story.

My cousin was also probably realizing that I am not deliberately applying brakes. She was not saying anything. After a while, we reached Indore city. We gave wedding cards to his friends here and after that at around 7 pm, we started coming back.

I did the same despite coming. He kept his hips close to his back. My cock was stretched all the way. I was enjoying it but he did not say anything all the way. We reached home around eight o’clock then cousin sex story.

The next day, me and my cousin were to move away from Indore to Palda. Tanvi’s two friends lived in Palada. She was his very special friends. Tanvi only asked me to go with her cousin sex story.
The next day we left early in the morning because we had to go far enough.

cousin sex story
Here, let me tell you that there is a secluded area between Indore and Palada. Trains continue to run, but they run at little. We were both going through the same area.

Ever since we left home, I felt like my cousin had changed a bit. Today I was sitting very close to me. Earlier in the day when we went to Indore, he was going on a bike, he was keeping his hands on my shoulder, but today he was keeping the same hand on my waist in the cousin sex story.

I too was getting very excited thinking about this. His head was also placed on my shoulder. She was sitting clinging exactly as if a girlfriend is sitting clinging to her lover. My cock was also tense thinking about her boobs and because of her touch the cousin sex story.

Today I did notice one more thing that whenever the bike brake, Tanvi was absolutely clinging to my body more. Like how we came back to Indore after giving the card in Palada.

We were leaving since morning so we were hungry. Here Tanvi said that when cities have come, they also do shopping. I obeyed him. But I said that we eat something first and after that we will go shopping for cousin sex story.
She too agreed with me.

My cousin said that there is a friend’s room nearby. Let’s walk there and relax for a while. I am tired
I also said that I am tired from riding the bike since morning. We will get face to face some food at friend’s room itself cousin sex story.
He too did not deny this.

cousin sex story
Calling a friend, he asked for the key to his friend’s room. Taking the key, we went to his friend’s room. On reaching the room, we ordered food. After that both started being fresh. When I got out after washing my hands and mouth, she was grooming her hair in front of the mirror.

At that time, my cousin was very hot to watch, as if the heroine of a film was preparing herself for a scene in cousin sex story.

I don’t know that a storm arose in my mind. Seeing him, my cock got tanned and I went from behind and filled it in my arms. My hands went straight to her legs. By the time I could get it, my hands had suppressed her many times in cousin sex story.
Tanvi immediately went ahead and said – what are you doing etc. I am like your sister This is all wrong.
I said – be like a sister. You are not a sister. Anyway, I like you very much.

After saying this, I again moved forward. I grabbed her neck and put her lips on her lips and started sucking them. She backtracked again. She was looking at me with surprise. He looked into my eyes and then saw my cock stretched in my pants on cousin sex story.

After that I again pulled him towards me and started drinking the juice of his lips. Now forgetting the dignity of the relationship, he also started supporting me. I knew that the lust was filled inside her too, but she was just pretending to move away.

cousin sex story
We were kissing each other after getting mad with cousin sex. My hands were pressing her ass. We sucked each other like this for five minutes and then the doorbell rang. When we separated and opened the door, food had arrived. The delivery boy went back after giving food.

I put the food aside on the table because I was hungry for lust, not food. I went back to him and started removing his clothes. In the next two minutes she was standing in front of me in bra and panty in cousin sex story.

After taking off his clothes, I also took off my clothes immediately and only I came in underwear. More than seven inches of my cock was craving to come out of my underwear. He had lifted my underwear completely for the cousin sex story.

I went to Tanvi and I picked her up in her lap and slammed her on the bed nearby and climbed on top of it. Kissing her, she started removing her bra. There was so much lust in me that I wanted to completely bare her as soon as possible. But her bra hooks were not opening the cousin sex story.

When the bra was seen getting late, I got excited and pulled her bra and tore her nipples naked. Her mango-like feet came out completely. I got mad at them and broke down on them.

cousin sex story
Quickly I filled one of her mouths and started sucking the other while pressing the other with my hand. Within two minutes, she had started filling hers. Then I filled the second cock in the mouth and started pressing the first one with the hand.

My cousin was burning with the fire of sex, now it had become more hot and was enjoying kissing her pussy while rubbing my back. After drinking her boobs for a while, I put her hand on her panties and she was wet. I removed her panty like cousin sex story.

When I saw my cousin’s burr, I kept looking. Mast Bur Bur was the sister’s. He had short hair on his bur. His evil was completely wet. I kept sucking her bur for about 10 minutes and she was pressing my head on her bur with her hands on cousin sex story.

After a while, his burp left juice, which I drank all of Sara. His test was a bit salty but everything looked good in the fire of lust.

After that I stood up. Tanvi was torturing me naked on the bed in front of me and was panting loudly. After that I freed my cock too. I took off my underwear and threw it on one side and pushed my burr on it with its smooth Aloda on the cousin sex story.
Tanvi’s scream came out – Mamma Ummh… Ahhh… Hah… Oh… she died!

cousin sex story
My cousin’s sister pack went to Lund in Burr and enjoyed it. His bur was very tight. I was not in a hurry. Rather slowly it was fucking his bur. She too had started taking Siskariya again.

If I accelerated the strike a little, it would bounce. He was probably in pain. But till now only half of the cocks had been inserted into his bur. I was trying to get the whole cock in her bur.

Seeing a small chance, I hit a loud push, then she screamed and she started pushing me back.
Quote- withdraw man, it is very painful.
But I had just reached heaven. Now it was not possible to get the cocks out. I lay on her and started sucking her lips. I inserted the whole cock in his bur.

cousin sex story – real chudai stories – family ki chudai
After five minutes, his pain subsided a bit, so I started to pull my land inside out. After a while, she too started having fun and she too started having fun with Siskaris.
Ahhhh… yahhh… ohhhhh… while doing both of us started enjoying cousin sex.

She said loudly – and loudly…. Enjoying it. Tear my Bur.
I also abused him and said- Yes, pickup, today I will fuck your Bur and make it Bhosda. It was very itchy in your bur
She said- Yes, erase all the itching today man… Ahhh… fuck you, and fuck loudly… Fuck your uncle’s young daughter!

cousin sex story
I started fucking his burp fast. She too started to lift her ass. After about 15 minutes of fucking, I removed all my semen into his bur.

After filling all the semen in his bur, I lay down on him and lay down. I stayed like this for a while. After a while I woke up and went to fresh.

After coming back, I asked her to be fresh too, so she said – I am not going.
Then I picked him up and took him to the bathroom and cleaned him. Bathed and cleaned him.

After coming out, I said- Come on, get ready quickly. We have to leave for home also. We left after eating food again. I fed her the contraceptive pill on the way.

So friends, in this way, my cousin and I enjoyed sex.

Please tell me your thoughts about how this cousin liked my sex story. I look forward to your message. Make sure to mail the mail id given below and also give your feedback by commenting on the story of the uncle’s young daughter’s fuck. Can you tell me if you like cousin sex too?

cousin sex story
I will come soon with my next sex story.
Thank you.
[email protected]

Read More Hot Sex Story-

बड़ी दीदी भारती की चुदाई | sister xxx story – antarvasna sister brother

रातभर बहन की चूत में लंड रखा | Hot Sister Hindi Story – hindisistersex

mosi ki beti ke saath sex मौसी की बेटी को लंड चुसवाया

Leave a Comment