Follow my blog with BloglovinFamily ki chudai मुझे और मेरी मम्मी को अंकल ने चोदा 1Sex Fun

Family ki chudai मुझे और मेरी मम्मी को अंकल ने चोदा 1Sex Fun

मुझे और मेरी मम्मी को अंकल ने चोदा family ki chudai

family ki chudai: अदिति रॉय, मैं और मेरा भाई कॉलेज में पढ़ते हैं. एक दिन मैंने अपने घर में अलग ही नजारा देखा. और उसके बाद अपनी बहन की कुंवारी बुर को भाई ने चोदा. कैसे?

दोस्तो, मेरा नाम अदिति है और मैं बिहार के एक शहर से हूँ. MastHindiStory पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है और ये बिल्कुल सच्ची घटना है. ये घटना मेरे घर में ही घटी थी … इसलिए मेरी आप सभी से इल्तिजा है कि आप इसे ढेर सारा प्यार देना न भूलना.

मेरी उम्र 21 साल है और मैं कॉलेज की स्टूडेंट हूँ. मेरे अलावा मेरे घर में मम्मी पापा और एक छोटा भाई है, जिसकी उम्र अभी 19 साल है.

पापा अक्सर काम के सिलसिले में घर से बाहर ही रहते हैं. वो जब भी घर आते हैं, तो 10-15 दिन ही घर में रुकते हैं.

यह कहानी मेरी, मेरी मम्मी, मेरे भाई और एक अंकल और उनकी बीवी की है. पहले मैं आप सबको इस घटना से जुड़े हुए सभी लोगों से परिचित करवा देती हूँ.

मेरा नाम तो आप जानते ही हो, अदिति है, मेरी मम्मी का नाम सुनीता है. मम्मी की उम्र 41 वर्ष है. मेरे भाई का नाम अनिल है … उसकी उम्र मैं बता चुकी हूँ. मेरे अंकल वरुण 45 साल के हैं, आंटी का नाम आरती है और वे 42 साल की हैं.

ये कहानी अभी कुछ महीने ही पहले की है. मैं और मेरा भाई अनिल एक ही कॉलेज में पढ़ते हैं. हर दिन की तरह उस दिन भी मैं और भाई एक साथ ही कॉलेज के लिए निकले.

आधे रास्ते जाने के बाद भाई ने कहा- दीदी तुम कॉलेज चली जाओ, मैं नहीं जा पाऊंगा.
मैंने पूछा- क्यों नहीं जाएगा?

family ki chudai
उसने बोला- मेरी तबियत ठीक नहीं लग रही है … इसलिए मैं वापस घर जा रहा हूँ, तुम चली जाओ.
मैंने उससे बोला कि ठीक है … चल मैं तुम्हें घर तक छोड़ देती हूँ. तू अकेला कैसे जाएगा, तुम्हारी तबियत भी ठीक नहीं है.
इस पर उसने एकदम से बोला- नहीं दीदी तुम चली जाओ … मैं अकेले घर चला जाऊंगा.
मैं उसे आश्चर्य से देखते हुए बोली- ठीक है, अच्छे से चले जाना.

उसके बाद मैं कॉलेज आ गई. कॉलेज आने के बाद पता चला कि कॉलेज में कोई मीटिंग हो रही है, जिसके कारण आज कॉलेज में छुट्टी हो गई है.

उसके बाद मैं वहां से सीधे घर आ गई, घर में किसी को नहीं पता था कि मेरे कॉलेज में छुट्टी हो गई है … और मैं इतनी जल्दी घर आ जाऊंगी.

मैं घर आयी, तो देखा कि मेरे घर के आगे वरुण अंकल की कार लगी हुई है. अंकल की कार देख कर मुझे लगा कि जरूर पापा आए होंगे … क्योंकि पापा जब भी आते हैं, तो वरुण अंकल ही उन्हें घर तक छोड़ने आते हैं.

मैं तो काफी खुश हो गई थी … क्योंकि पापा जब भी आते हैं, तो मेरे लिए कुछ न कुछ जरूर लाते हैं.

मैं जल्दी से घर की ओर बढ़ी. घर पहुंचते ही मैंने दरवाजा खटखटाया, पर किसी ने दरवाजा नहीं खोला. तब मैंने अपनी दूसरी चाबी से गेट खोला और अन्दर आ गई.

घर में कोई नहीं था. मुझे लगा सब ऊपर वाले रूम में होंगे. मैं जैसे ही ऊपर गई तो मुझे कुछ आवाजें सुनाई देने लगीं.
ध्यान दिया, तो ये कुछ कराहने की आवाजें थीं ‘आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह.’

family ki chudai

मुझे लगा कि ये मम्मी को क्या हुआ … क्योंकि वो मम्मी की आवाजें थीं. मैं उस रूम की तरफ गई, तो देखा कि रूम का दरवाजा थोड़ा सा खुला था. उससे झांक कर मैंने अन्दर का नजारा जो देखा, मेरे तो पैरों तले की जमीन खिसक गई. मुझे समझ ही नहीं आया कि ये मेरे घर में क्या हो रहा है. मम्मी बेड पर नंगी लेटी हुई थीं और वरुण अंकल मम्मी के ऊपर चढ़े हुए थे … वो भी नंगे ही थे. वरुण अंकल मेरी मम्मी को चोद रहे थे.

ये सब देख कर मुझे तो गुस्सा आने लगा कि मम्मी एक पराये मर्द के साथ ये क्या कर रही हैं.

हालांकि मुझे उन दोनों में मस्ती का आलम दिखा, तो समझ में आ गया कि मेरी मम्मी और अंकल की सैटिंग है. बस ये सोचते ही मैंने भी उनकी चुदाई को देखने में मन लगा लिया. मैंने सोचा कि चलो देखते हैं कि ये दोनों और क्या-क्या करते हैं. मैं वहीं गेट के साइड में खड़े होकर उन दोनों की चुदाई देखने लगी.

मम्मी बेड पर अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर लेटी हुई थीं और अंकल उन्हें धकापेल चोद रहे थे. मम्मी के मुँह से बस ‘आह्ह आह्ह उफ्फ ऊह्ह आह्ह’ की आवाजें निकल रही थीं.

अंकल का लंड इतना लंबा था कि देख कर तो मुझे डर लग रहा था कि मम्मी इतना लंबा और इतना मोटा लंड अपनी चुत में घुसवा कैसे रही हैं.

मम्मी की चुत में अंकल का लंड बड़ी तेजी से अन्दर बाहर हो रहा था और मम्मी लंड से चुदने के मजे ले रही थीं.

ये कामुक सीन देख कर मेरे हाथ खुद ब खुद अपनी चुत की तरफ रेंग गए.

family ki chudai

कुछ देर तक मम्मी की चुत चोदने के बाद अंकल ने कहा- सुनीता चल उठ … अब आज तेरी गांड मारता हूँ.
मम्मी इठला कर बोलीं- आज क्या इरादा है … चुत और गांड एक ही दिन फाड़ दोगे क्या?
अंकल- अरे नहीं मेरी जान गांड में आराम आराम से डालूंगा … बस थोड़ा सा दर्द होगा.
मम्मी- अरे यार … मैंने इससे पहले कभी गांड नहीं मरवाई है … नहीं आज गांड मत मारो … फिर कभी मार लेना. आज बस चुत ही चोद लो, मुझे गांड में बहुत दर्द होगा.

मम्मी थोड़ा नखरा दिखाने लगीं.

अंकल- प्लीज जानेमन, तुम्हारी गांड को देख कर मन करता है कि तुम्हारी गांड खा जाऊं. अगर मैं तुम्हारा पति होता, तो हमेशा तुम्हारी गांड में ही अपना मुँह डाले रहता.
मम्मी बस ‘नहीं … नहीं …’ करती रहीं.

इतने में अंकल गुस्सा हो गए और उन्होंने मम्मी के दोनों पैर पकड़ कर उनको उल्टा कर दिया. फिर अंकल ने मम्मी की गांड में थूक कर एक ही बार में अपना मोटा लंड पेल दिया.

मम्मी की चीख निकल गई … मम्मी रोने लगीं और खुद को छुड़ाने की कोशिश करने लगीं. पर अंकल काफी हट्टे-कट्टे थे, इसलिए मम्मी उनसे नहीं छूट पाईं.

अंकल जोर जोर से मम्मी की गांड चोदे जा रहे थे और साथ में ही बहुत गंदी गंदी गालियां भी दे रहे थे- साली छिनाल रंडी प्यार से बोल रहा था … तो भैन की लौड़ी मान नहीं रही थी … ले अब भुगत मेरे लंड की मार को.
मेरी प्यारी मम्मी बस चिल्ला रही थी.

family ki chudai

मैंने देखा कि मम्मी की गांड से जरा सा खून निकल आया था, मैं मम्मी का दर्द समझ सकती थी कि उनको कितना दर्द हो रहा होगा.

उन लोगों की चुदाई देखते देखते, मेरी चुत भी पानी छोड़ने लगी थी. मैं भी गर्म हुए जा रही थी. मेरा तो मन कर रहा था कि अभी अन्दर घुस जाऊं और अंकल के सामने अपनी चुत पसार कर लेट जाऊं. फिर उनसे बोलूं कि लो अब आप मेरी चुत को फाड़ो.

सच कहूँ, तो मम्मी की चुदाई देख कर मेरा भी चुदने का मन करने लगा था.

मम्मी की चुदाई देखने में मैं इतनी मशगूल हो गई थी कि कब मेरा भाई मेरे पीछे आकर खड़ा हो गया, मुझे बिल्कुल पता नहीं चला. वो मेरी करतूत देख ही रहा था कि मैं भी कितनी कामुक हो गई हूँ. मैं उस समय अपनी चुत में उंगली कर रही थी.

मैं भाई को देख कर अचानक से डर गई. पर भाई मुझे देख कर हंसने लगा और मेरा हाथ पकड़कर मुझे रूम के अन्दर ले गया. इतने में मम्मी और अंकल की नज़र मुझ पर पड़ी, तो वो दोनों भी कुछ पल के लिए डर गए.

लेकिन भाई ने बोला- डरो मत मम्मी … आज हम लोगों के साथ मेरी बहन भी चुदेगी.

मैं अपने भाई के मुँह से ऐसी बात सुनकर दंग रह गई कि ये क्या बोल रहा है. पर सच तो ये था कि मेरा मन तो खुद ही चुदने को करने ही लगा था. इसलिए मैं भी पूरे जोश में आ गई थी.

मैंने देखा कि अंकल भी मुझे देख कर काफी खुश हो गए थे, पर मम्मी नहीं चाहती थीं कि मैं उन लोगों के साथ मस्ती करूं.

family ki chudai

तभी मेरे भाई ने मेरा हाथ पकड़ कर खींच लिया और उसके बाद वो मुझे किस करने लगा. पहले तो मैं बहुत मना करने लगी कि भाई छोड़ दो, मैं तेरी बहन हूँ.

लेकिन भाई ने बोला- जब मैं अपनी मम्मी को चोद सकता हूँ. … तो तू फिर एक लड़की ही है.
मैं उसके मुँह से ये सुनते ही सन्न रह गई कि मम्मी न सिर्फ़ अंकल से चुदती हैं … बल्कि ये तो मेरे भाई से भी चुदवाती हैं.

इसी बीच भाई ने मेरा टॉप उतार दिया. वो मेरे मम्मों को दबाने लगा और एक को चाटने भी लगा. वो बिल्कुल पागलों की तरह मुझे चाट रहा था और अंकल फिर से मम्मी की गांड मारने में लग गए थे.

मैंने भाई से पूछा- भाई तुम मम्मी को कब से चोद रहे हो?
इस पर भाई ने कुछ नहीं बोला, वो चुप रहा.
तब अंकल बोले- तेरी मम्मी को पहले वो नहीं चोदता था. उसे मैंने ही पहले चोदा था.

मैं ये सुनकर मम्मी को देखने लगी.

लेकिन मम्मी चुप रहीं और उनकी जगह अंकल ने ही कहा- साला तेरा भाई, मेरी बीवी को चोदता था. एक दिन मैंने इन दोनों को पकड़ लिया था. फिर इसने बोला कि मुझे मारना मत. मैंने बोला कि चल ठीक है, इसके बदले तू अपनी मम्मी की चुत मुझे दिलाएगा.

ये बात सब लोग सुन रहे थे. इसी बीच भाई ने मुझे पूरी तरह से नंगी कर दिया था और वो नीचे होकर मेरी चुत चाट रहा था. मैं बिस्तर पर पड़ी मेरी मम्मी की चुत चाट रही थी.

family ki chudai
अंकल मम्मी की गांड चोद रहे थे.

भाई- चल अब तू सीधी हो जा, मैं तेरी चुत में अपना लंड डालूंगा.
उसके बाद उसने जैसे ही मेरी चुत में अपना लंड डाला, मुझे बहुत दर्द हुआ. मगर मेरे भाई को तो जैसे चुदाई का भूत सवार था. वो लंड पेलता गया. जिससे मेरी बुर से खून निकलने लगा.

sex-stories-teacher-xxx-story-hindi-me-hindisex-stori
family ki chudai

वो मुझे धकापेल चोदने लगा. कुछ देर के दर्द के बाद मुझे भी मजा आने लगा और मैं चुत चुदाई का मजा लेने लगी.

उसके बाद भाई ने कुछ देर अपना लंड बाहर निकाला और लंड की मुठ मारता हुआ उसने लंड रस मेरे मुँह में डाल दिया … जिसे मैंने पी लिया.

उसके बाद अंकल मेरे ऊपर चढ़ गए और मेरी चुत में अपना लौड़ा डालने लगे. परंतु अंकल का लंड मेरी चुत में नहीं ही गया क्योंकि भाई की चुदाई से मेरी चुत अभी ढीली नहीं हुई थी और अंकल का लंड तो समझो गधे के लंड जितना बड़ा लंड था.

family ki chudai - hindi saxy story - bhai behan ki chudai stories
family ki chudai

अंकल की बहुत कोशिश करने के बाद भी जब मेरी बुर में लौड़ा नहीं गया, तो मम्मी मेरे पास आईं और मेरी चुत को चाटने लगीं, जिससे मेरी चुत गीली हो गई.

फिर अंकल ने अपना लंड मेरी चुत पर टिकाया और एक जोरदार झटका दे दिया, जिससे अंकल का लंड मेरी चुत में पूरा अन्दर तक चला गया. उनका लंड क्या घुसा, मेरी तो आंखों की पुतलियां ही फ़ैल गईं … मेरी हालत ही खराब हो गई थी. मैं रोने लग गई.

मम्मी अंकल से बोलीं- आराम से करो यार … मेरी बेटी को दर्द हो रहा है.
पर अंकल ने उनकी एक नहीं सुनी और मेरी जोरदार चुदाई करते रहे. उधर मेरा भाई मम्मी की चुत चाटने में लग गया. इधर अंकल मुझे चोदे जा रहे थे.

family ki chudai

दस मिनट तक ताबड़तोड़ चुदाई करने के बाद अंकल बोले- मेरा निकलने वाला है … बोल मेरी अदिति रंडी … मैं अपना माल कहां निकालूं?
मैं कराहते हुए बोली- आपने अपने मन की ही की है … अब भी क्या पूछते हो … आप मेरी चुत में ही गिरा दो … कुछ तो राहत मिलेगी.

अंकल ने ऐसे ही चोदते हुए अपना सारा वीर्य मेरी चुत में ही भर दिया. एक घंटे बाद अंकल और भाई दोनों ने मिलकर मेरी गांड की भी चुदाई की. उस दिन हम माँ-बेटी की जोरदार चुदाई हुई. मेरी तो उस दिन 4 बार चुदाई हुई … मैं बिस्तर पर नंगी बेदम सी पड़ी थी.

जब शाम हुई, तो अंकल अपने घर चले गए. अब मैं और मम्मी अपने ही घर में रंडी बन गए थे. जो भी आता है हम दोनों को चोद कर चला जाता.

पिछले दिनों भाई के 2 दोस्त आए थे, वो दोनों भी मुझे और मम्मी को चोद कर गए थे. उन दोनों के लंड से चुदने में मुझे बहुत मजा आया था.

हम सभी के खुल जाने के बाद से तो हम सब मिलकर आज भी खूब चुदाई करते हैं.

मैं इसके बाद आप सभी को एक और गंदी कहानी बताऊंगी कि कैसे मेरे भाई ने अंकल से चुदने के लिए मम्मी को मनाया था. इसमें ख़ास बात ये थी कि अंकल का लंड इतना जबरदस्त होने के बावजूद भी मेरे भाई अनिल ने आंटी को पटा कर चोद दिया था.

family ki chudai

आपको सेक्स कहानी कैसी लगी, आप मुझे मेल करके जरूर बताइएगा.
आप सबकी प्यारी अदिति
[email protected]

आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे Telegram पर जरूर बताना, और मुझ से कुछ जानकारी चाहिये तो Telegram पर message कर देना.

Read in English

Uncle ne ki meri aur maa ki chudai – family ki chudai

family ki chudai: Aditi Roy, me and my brother study in college. One day I saw a different view in my house. And after that, his brother’s virgin Bur Choada. how?

Friends, my name is Aditi and I am from a city in Bihar. This is my first sex story on MastHindiStory and it is absolutely true. This incident took place in my house… so it is my request to all of you not to forget to give it a lot of love in family ki chudai.

I am 21 years old and I am a college student. Apart from me, I have a mother and a younger brother in my house, who is 19 years old.

Fathers often stay out of the house in connection with work. Whenever he comes home, he stays at home only for 10-15 days then family ki chudai.

This story is of mine, my mother, my brother and an uncle and his wife. First let me introduce you to all the people associated with this incident.

You know my name, it is Aditi, hears my mother’s name. Mom’s age is 41 years. My brother’s name is Anil… I have told his age. My uncle Varun is 45 years old, aunt’s name is Aarti and she is 42 years old and family ki chudai.

This story is just a few months ago. Me and my brother Anil study in the same college. Like every day, on that day also I and my brother went out to college together.

After going half way, brother said- “Didi you go to college, I will not be able to go.
I asked – why not go?

family ki chudai
He said – I do not feel well… so I am going back home, you go.
I told him that okay… Let me leave you home. How will you go alone, your health is also not good.
On this, he immediately said – No sister, you leave… I will go home alone.
Looking at her with surprise, I said – Okay, go well at family ki chudai.

After that I came to college. After coming to college, we came to know that a meeting is being held in the college, due to which the college has been discharged today family ki chudai.

After that I came straight home from there, nobody in the house knew that my college has been discharged… and I will come home so soon.

When I came home, I saw that Varun Uncle’s car was in front of my house. Seeing Uncle’s car, I thought that Papa must have come… because whenever Father comes, Varun Uncle comes to leave him home, family ki chudai.

I was very happy… because whenever father comes, he definitely brings something for me.

I quickly headed home. On reaching home I knocked on the door, but no one opened the door. Then I opened the gate with my second key and came inside and family ki chudai.

There was no one at home. I thought everyone would be in the upstairs room. As soon as I went up, I started to hear some voices.
If noticed, these were the sounds of some groaning ‘Ah Ummh… Ahhh… Hahh… Yahh… Ohhhh. ’

family ki chudai
I thought what happened to the mother… because she was the voice of the mother. I went towards that room, and saw that the door of the room was a little open. Seeing what I saw inside, looking at it, the ground under my feet slipped. I could not understand what was happening in my house. Mummy was lying naked on the bed and Varun was climbing over Uncle Mummy… He was also naked. Varun Uncle was fucking my mother.

Seeing all this, I started getting angry about what the mother was doing with a foreign man and family ki chudai.

Although I could see the fun of both of them, it was understood that my mother and uncle had a setting. Just thinking about this, I too decided to see his fuck. I thought, let’s see what these two do. I stood at the side of the gate and started seeing the fuck of both of them family ki chudai.

Mummy was lying on her bed with both her legs lifted in the air and Uncle was banging them. The voice of ‘Ahh ah uhf uhhh ahhh’ was coming out of the mother’s mouth.

Uncle’s cocks were so long that I was afraid to see how the mother was getting so long and so thick cocks penetrated her pussy like family ki chudai.

Uncle’s cock was getting in and out of the mother’s pussy very fast and the mother was enjoying sex with cock.

Seeing this erotic scene, my hands crawled on their own.

family ki chudai
After fucking Mom’s uncle for a while, Uncle said- Sunita chal woke up… Now today I kill your ass.
Mother said with a shrug – what is the intention today… Will Chut and ass tear apart on the same day? family ki chudai.
Uncle- Oh no, I will put my life in the ass comfortably… just a little pain.
Mummy- Oh man… I have never killed an ass before… No, do not kill an ass today… Never kill again. Today just take a fuck, I will have a lot of pain in the ass.

Mother started showing a little tantrum.

Uncle – please sweetheart, after seeing your ass, I feel like eating your ass. If I were your husband, I would always put my face in your ass.
Mummy just kept saying ‘No… No…’.

Uncle got angry in this and grabbed both the legs of the mother and turned them upside down. Then Uncle spit in Mummy’s ass and gave his fat cock in one go and family ki chudai.

Mom’s scream started… Mom started crying and trying to redeem herself. But Uncle was very tough, so Mommy could not spare him.

Uncle was going loudly to the mother’s ass and was also giving very filthy abuses – sister-in-law Chhinalal Randi was speaking with love… So Bhain’s lord was not agreeing… but now I have to pay my cocks and family ki chudai.
My dear mother was just screaming.

family ki chudai
I saw that a little blood came out from the mother’s ass, I could understand the pain of the mother, how much pain she must have been suffering.

Seeing the fuck of those people, my pussy was also leaving water. I was also getting hot. I was thinking that I should go in now and lay down in front of my uncle. Then tell them that now you tear my pussy.

Frankly, seeing the mother’s fuck, I too started to feel like sex.

I was so engrossed in watching Mummy’s fuck that when my brother came and stood behind me, I did not know at all. He was watching my handiwork and how erotic I have also become. I was finger in my pussy at that time and family ki chudai.

I suddenly got scared after seeing my brother. But brother started laughing after seeing me and took my hand and took me inside the room. In such a situation, my mother and uncle looked at me, so both of them were scared for a moment like family ki chudai.

But the brother said, do not be afraid, mother… today my sister will fuck with us.

I was stunned to hear such a thing from my brother’s mouth, what is he saying. But the truth was that my mind had started to do sex itself. That is why I too got excited for us family ki chudai.

I saw that Uncle was also very happy to see me, but mother did not want me to have fun with them.

family ki chudai
Then my brother grabbed my hand and then he kissed me. At first, I started refusing too much to leave my brother, I am your sister.

But brother said – When I can fuck my mother. … Then you are a girl again.
I was stunned to hear from her mouth that not only does mommy fuck her with Uncle… but she also kisses my brother then family ki chudai.

Meanwhile, brother removed my top. He started suppressing my mother and started licking one. He was licking me like a madman and Uncle was again engaged in killing mother’s ass.

I asked my brother, brother, how long have you been fucking your mother?
The brother did not say anything on this, he kept quiet.
Then Uncle said – He did not fuck your mother before. I was the first one to fuck her.

Hearing this, I started looking at my mother.

But the mother kept quiet and in her place Uncle said – Sala tera bhai, my wife was fucking. One day I caught these two. Then he said don’t kill me. I said that it is okay, instead you will give me your mother’s pussy.

Everyone was listening to this. Meanwhile, brother had completely naked me and he was down and licking my pussy. I was licking my mother’s pussy lying on the bed.

family ki chudai
Uncle Mummy’s ass was fucking.

Brother, now you get straight, I will put my cock in your pussy.
After that, as soon as he put his cock in my pussy, I felt very painful. But my brother was like a ghost of fuck. He was sucking cocks. Due to which blood started coming out of my bur.

sex-stories-teacher-xxx-story-hindi-me-hindisex-stori
family ki chudai
He started banging me. After a while of pain, I also started having fun and I started enjoying sex.

After that, the brother took his cock out for some time and while licking the cocks, he put cocks juice in my mouth… which I drank.

After that Uncle climbed on top of me and started putting his Aloda in my pussy. But Uncle’s cock did not go in my pussy because my pussy was not loose due to brother’s fuck and Uncle’s cock was like big cock like ass’s cock.

Family ki chudai – hindi saxy story – bhai behan ki chudai stories
family ki chudai
Even after trying Uncle’s lot, when my bur was not returned, the mother came to me and started licking my pussy, which made my pussy wet.

Then Uncle put his cock on my pussy and gave a strong blow, which caused Uncle’s cock to go deep inside my pussy. What penetrated his cock, my eyes were spread by the pupils… My condition had worsened. I started crying.

Mother said to Uncle- Take it easy man… my daughter is in pain.
But Uncle did not listen to them and kept chiding me. On the other hand, my brother started licking mother’s pussy. Uncle was going to fuck me here.

family ki chudai
Uncle said after ten minutes of fucking me – I am going to leave… Say my Aditi Mort… Where do I take my goods?
I quote with a groan- You have made up your mind… what do you ask even now… You fall in my pussy… Some relief will come.

Uncle filled his entire semen in my pussy while fucking like this. After an hour, both uncle and brother jointly fuck my ass. That day, we mother-daughter got a big fuck. I was fucking 4 times that day… I was lying naked in bed.

When it was evening, Uncle went to his house. Now I and my mother had become a prostitute in my own house. Whoever comes will fuck us both.

Recently, 2 friends of brother had come, both of them had also fuck me and mother. I had great fun in fucking them with both cocks.

Since we all opened up, we all together do a lot of sex today.

After this, I will tell you another dirty story about how my brother persuaded the mother to fuck her uncle. The special thing in this was that despite my uncle’s penis being so tremendous, my brother Anil had given it to Chod by beating the aunt.

family ki chudai
How did you like the sex story, you will definitely tell me by mailing me.
Aditi aditi all of you
[email protected]

Read More Hot Sex Story- family ki chudai

Real Chudai stories बुआ की बेटी की गांड चुदाई bhai behan sex

baap beti xxx story बाप बेटी की चुदाई -Real chudai stories –

Sister chudai stories गाँव वाले भाई से चुदाई xxx desi kahani

3 thoughts on “Family ki chudai मुझे और मेरी मम्मी को अंकल ने चोदा 1Sex Fun”

Leave a Comment