Follow my blog with BloglovinHindi kamuk kahaniya मौसी की बेटी की सील तोड़ चुदाई 1 Fun sex

Hindi kamuk kahaniya मौसी की बेटी की सील तोड़ चुदाई 1 Fun sex

मौसी की बेटी की सील तोड़ चुदाई Hindi kamuk kahaniya

Hindi kamuk kahaniya: ये सेक्सी स्टोरी मेरी मौसी की बेटी और मेरे बीच बने चुदाई सम्बन्धों की है. मेरी मौसेरी बहन की चुत चुदाई की कहानी पढ़ कर मजा लें कि मैंने कैसे उसकी चूत चोदी.

प्रिय दोस्तो, मेरी ये सेक्स कहानी एक सच्ची घटना पर आधारित है, इसमें कुछ रोचकता डालने के लिए शब्द संकलन किया गया है, बाकी सब कुछ सत्य है.

मेरा नाम राज है और ये घटना मेरी मौसी की बेटी और मेरे बीच बने सम्बन्धों की है.

मैं बता दूं कि मैं दिखने में थोड़ा ज्यादा अच्छा हूँ, मगर अपनी तारीफ खुद करना कुछ ग़लत लगता है. फिर भी बता देना शायद परिचय के लिए जरूरी है. मेरी हाइट 6 फीट है और मस्क्युलर बॉडी है … मेरी उम्र 26 साल है.

ये बात कुछ एक साल पहले की है. मेरे भैया और भाभी लखनऊ शहर में दो कमरे का घर लेकर रहते हैं. मेरे भैया की वहां नौकरी है.

मेरी मौसी की लड़की अपनी पढ़ाई लखनऊ शहर में ही कर रही थी. उसका नाम है प्रीति. उसके बारे में बता दूँ, उसके दूध बहुत ही बड़े और मस्त हैं. उसके चूतड़ों की छटा तो देख कर ही लंड सलामी देने लग जाता था. आपको भी उसकी झलक दिख जाए, तो आपका भी उसके साथ सेक्स करने का मन करने लगेगा.

वो ये बात दीपावली की छुट्टी की है, तो अपने घर जाने से पहले वो एक दिन के लिए भैया के घर आई. इत्तेफ़ाक से मैं भी वहां पर था.

हालांकि आज से पहले मेरे दिल में प्रीति के लिए कोई ग़लत विचार नहीं था, पर कुछ महीनों पहले प्रीति एक बार भैया के मेरे घर आई थी. हम बचपन से ही बहुत अच्छे दोस्त रहे हैं, तो हमारे बीच ऐसे ही मज़ाक चलता रहता था.

Hindi kamuk kahaniya

उस दिन मज़ाक में मेरे हाथ प्रीति के दूध में जा लगे और मैंने उसे गलती से पकड़ लिया और उसी समय उसका दूध दब भी गया. मुझे तो मानो तरन्नुम आ गई. मेरे हाथ में मानो मक्खन का गोला आ गया हो.
दूध के दब जाने से उसकी उई … की आवाज निकल गई और मैंने अगले ही पल उसके दूध को छोड़ दिया.
उसने कुछ कहा नहीं, बस मुस्कुरा दी.

तब से मैं उसकी लेने की फिराक में लग गया. मेरी आंखों में उसकी चुत बस गई थी. ये वाकिया हो जाने के बाद मैं लगातार मौके की तलाश में था.

अबकी बार मौका अच्छा था. प्रीति घर आई और मुझे देख कर खुश हो गयी. फिर हम सब, मतलब भैया भाभी और मैं घूमने जाने के लिए तैयार होने लगे.

जब प्रीति तैयार हो कर आई, तो मैं उसे देखता रह गया. क्या मस्त लग रही थी. उसने स्लीवलैस टॉप पहना था, जिसकी साइड से उसके थोड़े थोड़े दूध नज़र आ रहे थे. मस्त फंटिया लग रही थी.

हम सब काफी देर तक घूमे. मैं बार बार प्रीति के करीब जाता. कार में भी बॅक सीट पर कभी उसके दूध छूता, कभी उसकी कमर पर हाथ रखता … पर प्रीति ने कोई विरोध नहीं किया

अब हम खाना बाहर खा कर घर पहुंचे, तो बात सोने की आई. जैसे कि भैया का घर छोटा था, उनके एक कमरे में ही सोने की व्यवस्था थी.

मैंने कहा- मैं और प्रीति नीचे सो जाएंगे. भैया और भाभी आप दोनों ऊपर बिस्तर पर सो जाएं.
भैया ने कहा- ठीक है सो जाओ.

Hindi kamuk kahaniya

बस फिर क्या था … मैं और प्रीति एक साथ एक गद्दे पर आ गए थे.

प्रीति आई और मेरे हाथ पर सर रख कर लेट गयी. कमरे की लाइट्स ऑफ हो गयी थीं. भैया भाभी सो गए थे और मैं प्रीति के दूध और चूतड़ों को अपने आधे जिस्म पर महसूस कर पा रहा था.

मैंने अपने आपको थोड़ा और आगे को किया और एक करवट लेकर अपना पैर प्रीति के ऊपर रख कर हाथ उसके दूध के ऊपर रख दिया. इसका उसने कोई विरोध नहीं किया.

मैंने एक मिनट तक सिर्फ हाथ रख कर समझा कि बंदी के मन में क्या है … जब कुछ नहीं हुआ, तो मैंने उंगली से उसके निप्पल को छेड़ा. उसका निप्पल कड़क हो गया था. जिसका मतलब था कि प्रीति भी गर्म होने लगी थी.

बस फिर क्या था … मैं धीरे धीरे उसके दूध को सहलाने लगा और अपना पैर उसकी जांघ पर रगड़ने लगा. मुझे लगा था कि वो बस यूं ही सोने का ड्रामा करती रहेगी, पर थोड़ी ही देर में उसने मेरी टी-शर्ट को पकड़ लिया, मेरी तरफ मुँह कर लिया और मेरे से चिपक गयी.

मैं एक पल के लिए अवाक रह गया था. अब उसकी गर्म गर्म सांसें मैं अपने सीने पर महसूस कर सकता था.

तभी एकदम से भैया उठे … उनकी आहट पाते ही मैं डर गया और तुरंत करवट ले कर दूसरी तरफ मुँह करके लेट गया. भैया उठे और वॉशरूम चले गए थे. दो मिनट बाद वे वापस आए और सो गए.

मैंने मन में सोचा कि हाथ से बहुत अच्छा मौका चला गया … अब मेरी हिम्मत नहीं हुई कि मैं फिर से पलट कर उसकी करीब जाऊं. पर उस दिन किस्मत मुझ पर मेहरबान थी. थोड़ी देर में प्रीति भी उठी और मेरी तरफ मुँह करके मेरे करीब होकर लेट गयी.

Hindi kamuk kahaniya

अब मैं समझ गया था कि भट्टी में आग लग चुकी है. मैंने बिना देरी किये, उसके दूध दबाना चालू कर दिए. जैसे ही मैंने अपना हाथ उसके दूध पर रखा, उसने तुरंत मेरे होंठ अपने मुँह में ले लिए और हम दोनों ऐसे ही बहुत देर तक एक दूसरे के होंठ चूमते रहे. मैं उसके दूध दबाता रहा.

थोड़ी देर बाद मैंने उसके हाथ में अपना लंड दे दिया. मेरा लंड 6 इंच लम्बा है और मोटा थोड़ा ज़्यादा है.

जब मैंने प्रीति के हाथों में अपना लंड दे दिया, तो वो बेहिचक मेरे लंड से खेलने लगी. वो मेरे सामान से खेलने में इतनी मस्त हो गई कि ऐसा लग ही नहीं रहा था कि प्रीति को लंड से कोई परहेज है.

इधर मैं उसके दूध से खेल रहा था. भैया भाभी ऊपर बेड पर थे … और हम नीचे मजा ले रहे थे. इस वजह से हम दोनों ज़्यादा कुछ कर नहीं पा रहे थे. पर मैंने धीरे से हाथ उसके लोवर के अन्दर डाल दिया. हमारे अन्दर तो जैसे आग लगी हो. उसकी चुत इतनी गर्म हो रही थी कि बस किसी भी पल बिस्फोट होने वाला हो.

मैंने धीरे धीरे उसकी क्लिट तो सहलाया, तो उसकी कमर ने बेहद तेजी से थिरकना शुरू कर दिया. उसकी चुत गीली होना शुरू हो गई थी. अब हम दोनों एक दूसरे को हाथ से ख़त्म करने की कोशिश में लगे हुए थे. मैंने धीरे से एक उंगली को चुत के अन्दर डाल दिया और अन्दर की दीवारों को रगड़ा. इससे उसके मुँह से सिसकारी निकल गयी.

use

ये आवाज तेज हो पाती, उससे पहले ही मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और हम दोनों मजा लेने लगे.

थोड़ी ही देर में हम दोनों झड़ गए. फिर दोनों सो गए.

मुझे अफ़सोस इस बात का था कि कुछ कर नहीं पाया … क्योंकि भैया भाभी भी कमरे में थे.

Hindi kamuk kahaniya

फिर सुबह प्रीति ने उठ कर ऐसे बर्ताव किया, जैसे मेरे उसके बीच में कुछ हुआ ही नहीं था. कुछ देर बाद वो अपने घर चली गयी.

इसके बाद मैं उसे चोदने का मौका ढूंढता ही रहा. अब तक सफलता हासिल नहीं हुई है, लेकिन जिस तरह का माहौल बन चुका है, उससे उम्मीद हो गई थी कि चुत लंड का मिलन जरूर होगा.

अब मैं प्रीति को चोदने का मौका ढूँढ रहा था, पर वो मुझसे बहुत नॉर्मली बात कर रही थी. खैर मैं बस मौके की तलाश में था.

दो महीने बाद प्रीति का मैसेज आया कि वो घर जाने वाली है. उसकी ट्रेन कल की है और उसकी छुट्टी आज से हो गयी है.

उसने मुझसे कहा कि वो भैया भाभी के घर नहीं रुकना चाहती है.
उसकी इस बात से मुझे तो समझो हरी झंडी मिल गयी थी.

मैंने उससे होटल में रुकने को कहा, पर उसने पहले तो मना किया. फिर मैंने उसे मना लिया.

अब मेरे दिन काटे नहीं कट रहे थे. आख़िर वो दिन आ ही गया. प्रीति मुझसे मिली. पहले हम दोनों लोग घूमे फिरे खाया पिया और रात में हम होटल पहुंच गए. मगर आज बात ये थी कि प्रीति की तरफ से कोई ऐसा सिग्नल नहीं मिल रहा था कि ये मुझसे चुदना चाहती है. मुझे उसके इस रुख को देख कर एक बार डर भी लग रहा था कि कहीं पहल की और साली कुछ बकने लगी, तो इज्जत की माँ चुद जाएगी.

खैर … हम दोनों खाना आदि सब निबटा कर होटल के कमरे में आए और लेटने जा ही रहे थे. मैंने जीन्स उतार दी और सिर्फ़ चड्डी में लेटने लगा.

Hindi kamuk kahaniya

प्रीति ने कुछ नहीं कहा और मुझे देख कर बस मुस्करा दी.

मैंने लाइट्स बंद करने का कहा और लेट गया. बिस्तर पर एक ही कम्बल था. दोनों एक ही कम्बल में घुस गए थे. मैं धीरे धीरे उसके करीब गया और उसको अपनी बांहों में भर लिया … क्योंकि अब मुझसे सब्र नहीं हो रहा था. शायद प्रीति भी मेरी तरफ से कुछ होने का इन्तजार कर रही थी. वो तुरंत मेरे ऊपर आ गयी.

मैंने कहा- ये मिजाज इतनी देर में ऐसा क्यों हुआ?
वो बोली- यही, मैं तुमसे पूछना चाहती हूँ.

बस मेरी समझ में आ गया कि ये तो राजी थी मेरी ही गांड फट रही थी.

अगले ही पल हम दोनों के बीच आपस में हूल-गद्दा शुरू हो गया. हम दोनों ने एक दूसरे को चूमना चालू कर दिया. मैं देरी ना करते हुए उसके कपड़े उतारने लगा और उसके दूध बाहर निकाल कर चूसने लगा. अब उसके मुँह से मस्त सिसकारियों की आवाज़ आ रही थी.

मैंने धीरे से उसका निप्पल काटा और उसने मेरे बाल पकड़ लिए. मैंने भी अपना लंड निकाल कर उसके हाथों में दे दिया. वो लंड से खेलने लगी. फिर मैंने उससे अपना लंड मुँह में लेने को कहा, तो वो राज़ी नहीं हुई. बहुत मनाने के बाद उसने मेरा लंड मुँह में लिया और फिर थोड़ी देर बाद मैंने उसकी चूत चाटना चालू कर दी. अब प्रीति बिल्कुल चरम पर थी.

use

उसने मुझसे कहा- और ना तड़पाओ … पेल कर चोद दो मुझे!

मैं भी एक भूखे शेर की तरह उस पर चढ़ गया और अपना लंड उसकी चुत में डालने लगा. जैसे ही मैंने पहला धक्का मारा, तो लंड अन्दर नहीं गया. पर मैंने थोड़ी मेहनत करके दुबारा से लंड थोड़ा सा अन्दर घुसेड़ा, तो प्रीति की चीख निकल गयी. उसकी आंखों से आंसू आ गए. ये पहली बार चूत चुदाई का मौक़ा था उसका. मैं पहले कई बार सेक्स कर चुका था. मेरी बहन की चुत से खून आ गया, वो दर्द से तड़प रही थी.

hot-hindi-kahani-hindi-sax-kahani

मैंने कुछ पल रुकने के बाद धीरे धीरे धक्का लगाना शुरू किए. थोड़ी देर में प्रीति भी मज़े लेने लगी.
अब उसके मुँह से ‘आह … आह..’ की आवाजें आ रही थीं.

Hindi kamuk kahaniya

फिर मैंने अपनी रफ्तार और बढ़ाई. अब वो बोल रही थी- आंह और तेज़ … और तेज़!
यही कुछ 15-20 मिनट में हम दोनों झड़ गए.

उस रात मैंने प्रीति को तीन बार चोदा.

अब मुझे जब भी मौका मिलता है, मैं मेरी मौसेरी बहन को बुला कर उसकी चूत मारता हूँ.

आपको मेरी यह मौसेरी बहन की चुत चुदाई की सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.
[email protected]

Read in English

Mosi ki Ladki ki seal todi – Hindi kamuk kahaniya

Hindi kamuk kahaniya: This sexy story is about the sexual relations between my aunt’s daughter and me. After reading the story of my cousin’s kiss, I enjoyed how I got her pussy.

Dear friends, this sex story of mine is based on a true incident, the word has been compiled to add some interestingness to it, everything else is true on Hindi kamuk kahaniya.

My name is Raj and this incident is about the relationship between my aunt’s daughter and me.

Let me tell you that I am a bit better in appearance, but it feels wrong to praise myself. Still, telling is probably necessary for introduction. My height is 6 feet and my body is muscular… I am 26 years old like Hindi kamuk kahaniya.

This thing happened some one year ago. My brother and sister-in-law live in a two-room house in Lucknow city. My brother has a job there.

My aunt’s girl was studying in Lucknow city itself. His name is Preeti. Let me tell you about that, his milk is very big and cool. Seeing the prick of his cocks, he used to salute the cocks. If you also get a glimpse of him, then you will also feel like having sex with him then Hindi kamuk kahaniya.

She said this is a holiday for Diwali, so before going to her house she came to Bhaiya’s house for a day. I was also there by coincidence.

Although before today, I did not have any wrong idea for Preity, but a few months ago, Preity once came to my house of brother. We have been very good friends since childhood, so we used to have such fun like Hindi kamuk kahaniya.

That day jokingly my hands started going into Preeti’s milk and I caught her by mistake and at the same time her milk got suppressed. Believe me, a tarannum has come. As if a ball of butter has come in my hand on Hindi kamuk kahaniya.
Due to the suppression of milk, the sound of her Ui… came out and I left her milk the next moment.
She did not say anything, just smiled.

Since then, I started looking for him. Her pussy had settled in my eyes. After this incident happened, I was constantly looking for opportunity then Hindi kamuk kahaniya.

This time the opportunity was good. Preeti came home and was happy to see me. Then we all, meaning brother-in-law and I started getting ready to go.

When Preity came ready, I kept looking at her. Did you look cool He wore a sleeveless top, with a little milk on his side. Looked cool on Hindi kamuk kahaniya.

We all went around for a long time. I used to get close to Preity again and again. In the car too, he would never touch her milk on the back seat, sometimes put his hand on her waist… But Preity did not protest on the Hindi kamuk kahaniya.

Now when we reached home after eating food, the matter came to sleep. As the brother’s house was small, there was a provision for sleeping in one of his rooms like Hindi kamuk kahaniya.

I said- I and Preeti will sleep downstairs. Brother and sister-in-law both of you sleep on the bed.
Brother said – okay go to sleep.

What was it then… Me and Preity had come together on a mattress.

Preeti came and lay down with her head on my hand. The lights of the room were switched off. Brother-in-law had fallen asleep and I was able to feel Preity’s milk and herds on half my body the Hindi kamuk kahaniya.

I made myself a little further and after taking a turn, put my foot over Preeti and put her hands on her milk. He did not object to this.

I held my hand for a minute and understood what is in the mind of the captive… When nothing happened, I pierced her nipple with a finger. His nipple was hard. Which meant that Preeti was also getting hot then Hindi kamuk kahaniya.

What was it then… I slowly started caressing her milk and rubbing my leg on her thigh. I thought that she would just continue to do the gold drama, but in a short time she grabbed my T-shirt, faced me and clung to me.

I was speechless for a moment. Now I could feel his hot hot breaths on my chest.

At that moment, my brother woke up… I was scared as soon as I heard his call and immediately turned to face and lay down on the other side. Brother got up and went to the washroom. Two minutes later he came back and slept like Hindi kamuk kahaniya.

I thought in my mind that a great opportunity has gone by hand… Now I did not dare to turn around again and go closer to it. But luck was kind to me that day. In a while, Preeti also woke up and lay close to me, facing me on Hindi kamuk kahaniya.

Now I understood that there was a fire in the furnace. I started pressing milk without delay. As soon as I put my hand on her milk, she immediately took my lips in her mouth and we both kept kissing each other for such a long time. I kept pressing her milk like Hindi kamuk kahaniya.

After a while I gave my cock in his hand. My cock is 6 inches long and it is a bit thick.

When I gave my cock in Preeti’s hands, she started playing with my cock without any reason. She was so busy playing with my stuff that it did not seem like Preity had any problem with cocks then Hindi kamuk kahaniya.

Here I was playing with his milk. Brother-in-law was on the bed above… and we were having fun below. Because of this, both of us were unable to do much. But I slowly put my hand inside his lower. As if there is a fire in us. His pussy was getting so hot that just about to explode at any moment on Hindi kamuk kahaniya.

I slowly stroked her clit, then her waist started twitching very fast. His pussy was starting to get wet. Now both of us were trying to finish each other by the hand. I gently put a finger inside the pussy and rubbed the inner walls. This led to his sobbing the Hindi kamuk kahaniya.

Before this voice could get louder, I pressed her lips to my lips and we both started having fun.

We both collapsed shortly. Then both fell asleep.

I was sorry to be able to do anything… because brother-in-law was also in the room then Hindi kamuk kahaniya.

Then in the morning Preeti got up and behaved as if nothing had happened in her midst. After some time she went to her house like Hindi kamuk kahaniya.

After this I kept looking for an opportunity to fuck him. Till now, success has not been achieved, but the kind of atmosphere that has been created, it was expected that there will be a meeting of hot cocks on Hindi kamuk kahaniya.

Now I was looking for an opportunity to fuck Preeti, but she was talking to me very normally. Well I was just looking for opportunity in Hindi kamuk kahaniya.

After two months, Preeti’s message came that she was going to go home. His train is tomorrow and his holiday has started today I got Hindi kamuk kahaniya.

She told me that she does not want to stay at brother-in-law’s house.
I understand that he got the green signal from this on Hindi kamuk kahaniya.

I asked him to stay at the hotel, but he refused at first. Then I convinced him like Hindi kamuk kahaniya.

Now my days were not cut. Finally that day has come. Preeti met me. First we both went around and ate and drank and reached the hotel at night. But today the thing was that no such signal was being received from Preity that she wants to fuck me on Hindi kamuk kahaniya. Seeing this attitude of mine, I once felt scared that if I took the initiative and the sister-in-law started talking about something, Izzat’s mother would be chud.

Well… both of us came to the hotel room after settling all the food etc. and were going to lie down. I took off the jeans and just started lying in the tights on Hindi kamuk kahaniya.

Preity did not say anything and just smiled upon seeing me and enjoy Hindi kamuk kahaniya.

I asked to turn off the lights and lay down. There was only one blanket on the bed. Both entered the same blanket. I slowly got close to him and filled him in my arms… because now I was not being patient. Perhaps Preity was also waiting for something from my side. She immediately came over me and enjoy Hindi kamuk kahaniya.

I said – why did this mood happen in such a long time?
She said- That’s it, I want to ask you.

I just understood that it was agreeable that my ass was bursting the Hindi kamuk kahaniya.

The very next moment, a hull-up between us started. We both started kissing each other. Without delay, I started removing her clothes and sucking her milk out. Now the voice of cool Siskar was coming from his mouth.

I gently bit her nipple and she held my hair. I also removed my cock and gave it to her hands. She started playing with cocks. Then I asked her to take my cock in her mouth, then she did not agree. After much persuasion, she took my cock in her mouth and then after a while I started licking her pussy. Now Preity was at the peak.

He told me – no more torture… Pay me Chod!

I also climbed on him like a hungry lion and started putting my cock in his pussy. As soon as I hit the first push, the cock did not go inside. But after a little hard work I again licked the cocks in a little bit, then Preeti’s scream came out. Tears came from his eyes. This was her first time to fuck pussy. I had sex many times before. Blood came from my sister’s pussy, she was suffering from pain.

After pausing for a few moments, I started pushing slowly. In a while, Preeti also started having fun.
Now the sound of ‘ah … ah ..’ was coming from his mouth.

Then I increased my speed further. Now she was speaking – more fast… more fast!
In the same 15-20 minutes, we both collapsed.

That night I got Preeti three times.

Now whenever I get a chance, I call my cousin sister and kill her pussy.

How did you like the real sex incident of my cousin’s kissing me, I must wait for your comment and message on Telegram. Apart from this, you can also give your opinion by commenting on the story below. And to read sex videos and new stories, the telegram group can join.
[email protected]

Read more chudai Story-

Hindi Saxi Story बहन को लंड दिखा के मस्त चुदाई 1 best sex

Hindi saxy kahani मसाज कर 1 दोस्त की मम्मी को चोदा best sex

kamukta hindi stories 1 भाभी की चूत चुदाई उनके मायके में fun

Leave a Comment