kamukta hindi stories 1 भाभी की चूत चुदाई उनके मायके में fun

भाभी की चूत चुदाई उनके मायके में kamukta hindi stories

kamukta hindi stories: पड़ोसन भाभी मेरे घर आई तो भाभी की गांड को देख मेरे मन में हलचल होने लगी. मैंने भाभी की गांड पर लंड लगा दिया. क्या मैं भाभी की चूत चुदाई कर पाया?

दोस्तो, मेरा नाम देवा है. मैं मध्य प्रदेश राज्य का रहने वाला हूं. यह हिन्दी सेक्स स्टोरी मेरी व मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी के बारे में है. मैं Mast Hindi Story का नियमित पाठक हूं और मेरी कहानी करीबन आज से 5 साल पहले की है.

उस समय मेरी उम्र 21 साल की थी. मेरे लंड का साइज़ 6 इंच है. दिखने में भी ठीक हूं और बॉडी भी सही है. ज्यादा हैंडसम तो नहीं मगर औरतों व लड़कियों को पसंद आ जाता हूं. अब आपका ज्यादा समय न लेते हुए मैं अपनी कहानी शुरू करना चाहता हूं.

मेरी पड़ोसन भाभी का नाम सोनी (बदला हुआ) है. वो देखने में एकदम से मस्त माल है. मेरी भाभी की शादी 18 वर्ष की उम्र में ही हो गयी थी. उस वक्त मेरे मन में मेरी भाभी को लेकर सेक्स वाले विचार नहीं आते थे क्योंकि तब मेरी उम्र बहुत कम थी. मगर उस वक्त मेरा लंड खड़ा होना शुरू चुका था.

जैसे जैसे मैं जवान होता गया तो मेरे मन में भी औरत के जिस्म की तरफ आकर्षण प्रबल हो रहा था. फिर मैंने इंडियन सेक्स गर्ल की नंगी पिक्स देखना शुरू कर दिया.

मैं रोज उनको देख कर मुठ मारता था. Mast Hindi Story पर हिन्दी सेक्स कहानी पढ़ते हुए भी हस्तमैथुन का मजा लेता था. मगर फिर मेरा लंड चुदाई के लिए तड़पने लगा था. मुझे अब किसी की चूत चाहिए थी. धीरे धीरे मेरे मन में भाभी के जिस्म की तरफ भी वही आकर्षण आ रहा था.
उस वक्त भाभी से मेरी थोड़ी बहुत बात होती थी.

फिर एक दिन ऐसा हुआ कि मेरे घर पर कोई नहीं था. मैं अपने घर में बिल्कुल अकेला था. पापा तो काम से बाहर गये थे और मां कहीं रिश्तेदारी में गयी हुई थी. जाते समय मेरी मां ने मेरी भाभी को मेरे लिये खाना बनाने के लिए कह दिया था.

kamukta hindi stories

मां और पापा के जाने के घंटे भर बाद भाभी मेरे घर आ गयी. उसने मुझसे कुछ बातें कीं और फिर रसोई में मेरे लिये खाने बनाने गयी.
चूंकि उसको हमारे रसोई के बारे में ज्यादा पता नहीं था इसलिए वो बार बार मुझसे ही पूछ रही थी. मैं उनकी मदद कर रहा था. उनको बता रहा था कि कौन सा सामान कहां पर रखा हुआ है.

उनको घर में अकेली पाकर मेरे मन में सेक्स के ख्याल आने शुरू हो गये थे. भाभी की गांड काफी मस्त थी. मैं उसकी चूचियों में झांकने की कोशिश कर रहा था. मैंने उनको बहाने से छूना शुरू कर दिया. कभी भाभी की गांड पर हाथ लग जाता था तो कभी उनके कंधे को सहला देता था.

ये सब मैं जानबूझकर कर रहा था. भाभी भी मेरे इशारों को समझ चुकी थी लेकिन शायद कुछ बोलना नहीं चाह रही थी. जब मैंने देखा कि भाभी कुछ नहीं बोल रही है तो मैंने उनके पीछे आकर बहाने से अपने लंड को उनकी गांड पर टच करवा दिया.

मेरा लंड पहले से ही तना हुआ था. मैंने भाभी की गांड पर लंड लगाया तब भी भाभी ने कुछ नहीं कहा. बल्कि वो थोड़ी सी पीछे होकर अपनी गांड को मेरे लंड पर दबाने लगी.

यह मेरे लिये ग्रीन सिग्नल के जैसा था. मैंने अपने लंड को भाभी की गांड पर सटा दिया. भाभी ने तब भी कुछ नहीं कहा. मेरी हिम्मत और बढ़ गयी.

मैंने भाभी को अपनी बांहों में जकड़ लिया तो भाभी भी मेरी तरफ घूम गयी. उन्होंने मुझे देखा और मैंने उनको देखा. मैंने उनके होंठों को चूसने के लिए आगे गर्दन की तो उन्होंने मुझे रोक दिया.

kamukta hindi stories

एक बार तो मैं समझ नहीं पाया.
वो बोली- आज नहीं, ये सब अभी करना ठीक नहीं है. यहां पर किसी के आने का डर है. वैसे भी ये तुम्हारा घर है. अगर किसी ने देख लिया तो बेवजह बदनामी होगी.

भाभी बोली- कल मैं अपने मायके में जा रही हूं. यहां से मेरा मायका ज्यादा दूर नहीं है. तुम भी वहीं आ जाना. वहां पर आगे का काम करेंगे. वहां मैं अपने घर में तुम्हें बुला लूंगी.
इतना बोलकर भाभी ने मुझे अपना नम्बर दे दिया.
उसके बाद वो खाना बना कर चली गयी.

मैं भी खुश हो गया कि भाभी पट गयी है. रात हुई तो मेरे लंड ने मुझे परेशान करना शुरू कर दिया. मेरा लौड़ा खड़ा हो गया. मैंने अंडरवियर में हाथ डाल कर उसको सहलाना और हिलाना शुरू कर दिया. फिर उस रात को मैं भाभी के नाम की मुठ मार कर सो गया. अगले दिन मैं उठा और भाभी के फोन का इंतजार करने लगा.

भाभी ने बताया था कि उनका मायका यहां से 20 किलोमीटर दूर है. दोपहर 2 बजे के करीब भाभी का फोन आया. वो मुझे अपने मायके में बुला रही थी.
आधे घंटे के अंदर मैं उनके वहां पहुंच गया. वहां जाकर देखा तो उनके घर में कोई नहीं था.

उसने सब कुछ पहले से ही प्लान कर लिया था. मेरे जाने के बाद वो मेरे लिये पानी लेकर आई. फिर मेरे साथ ही आकर बैठ गयी. मेरा लंड तो पहले से ही उत्तेजना में था.

मैंने भाभी को किस करना शुरू कर दिया और वो भी मेरा साथ देने लगी.

kamukta hindi stories

काफी देर तक हम दोनों एक दूसरे को किस करते रहे. मैं भाभी के बूब्स को दबाने लगा. उनके होंठों को चूसते हुए मुझे भाभी के मीडियम साइज के बूब्स दबाने में काफी मजा आ रहा था.

भाभी की चूत चुदाई उनके मायके में kamukta hindi stories

फिर मैंने भाभी की साड़ी को उतारना शुरू कर दिया. उनकी साड़ी का पल्लू उतरते ही उनके बूब्स की गहराईयां मुझे दिखने लगीं. मैंने जोर से उसके बूब्स को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाना शुरू कर दिया.

भाभी अब गर्म होने लगी थी. वो मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लंड पर हाथ रख कर उसको दबा रही थी. भाभी मेरे लंड को सहलाने लगी और मैं उनकी चूचियों को दबाने लगा.

कुछ देर तक ऐसे ही चूमा चाटी चलती रही. उसके बाद मैंने उनको ब्लाउज उतारने के लिए कहा. जैसे ही भाभी ने ब्लाउज उतारा उनकी मस्त सी चूचियां मेरे सामने नंगी हो गयीं.

मैं उनकी नंगी चूचियों पर झपट पड़ा. पहले तो मैंने भाभी के बूब्स को हाथों में भरा और जोर से उनको भींच कर देखा. उनके नर्म मुलायम बूब्स को दबाते हुए मुझे बहुत मजा आ रहा था. भाभी इस बीच में मेरी गर्दन को चूम रही थी.

फिर मैंने भाभी को लिटा दिया और उनकी साड़ी को खोल दिया. भाभी अब केवल पेटीकोट में रह गयी थी. उसके बाद मैंने उनके पेटीकोट भी उतार दिया. नीचे से भाभी ने लाल रंग की पैंटी पहनी हुई थी.

kamukta hindi stories

भाभी की पैंटी उसकी गोरी जांघों पर बहुत मस्त लग रही थी. उसके बाद मैंने उसकी पैंटी पर किस कर दिया. मैं भाभी की पैंटी को चाटने लगा. भाभी की चूत गर्म हो चुकी थी. उसकी चूत से भीनी भीनी खुशबू आ रही थी.

मैंने भाभी की पैंटी को खींच कर उतार दिया. भाभी की चूत नंगी हो गयी. मैंने उसकी चूत पर हाथ से सहला कर देखा.

भाभी की चूत चुदाई उनके मायके में kamukta hindi stories

चुदासी हो चुकी भाभी की चूत गीली हो गयी थी. बाहर से देखने पर चूत का रंग सांवला दिख रहा था.

फिर मैंने उसकी चूत की फांकों को खोल कर देखा. उसकी चूत अंदर से बिल्कुल लाल दिखाई दे रही थी. मैंने चूत की फांकों को अपनी उंगलियों से अलग कर लिया और अपनी जीभ को उसकी चूत के अंदर चलाने लगा.

भाभी कसमसाने लगी. मैंने भाभी की चूत में जीभ से चोदना शुरू कर दिया. उसके बाद मैंने जोर से काफी देर भाभी की चूत को चूसा और भाभी सिसकारियां लेने लगी.

वो बोली- आह्ह .. देवा, तुमने इस तरह से चूत को चाटना कहां से सीखा है?
मैं बोली- बस भाभी ऐसे ही पोर्न सेक्स वीडियो देख कर सीखा है.
वो बोली- मेरे पति ने मेरी चूत को कभी इस तरह से नहीं चाटा. मेरी चूत को और जोर से चाटो. मुझे बहुत मजा आ रहा है. kamukta hindi stories

मैं तेजी के साथ भाभी की चूत में जीभ को चलाने लगा. भाभी जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी. वो मेरे मुंह को अपनी चूत में दबाने लगी. वो इतनी जोर से मेरे मुंह को चूत में दबा रही थी कि मुझसे सांस नहीं लिया जा रहा था.

भाभी बहुत कामुक हो गयी. मैं अभी भी उसकी चूत में जीभ को चला रहा था. फिर मैंने हांफते हुए जीभ को बाहर निकाल लिया. मेरे लंड का हाल बुरा हो गया था.

मैं उठा और अपने कपड़े निकालने लगा. मैंने शर्ट उतार दी. उसके बाद बनियान भी उतार दी. जैसे ही मैं पैंट को खोलने लगा तो भाभी उठी और मेरे लंड को पैंट के ऊपर से पकड़ने लगी.

मेरे लंड को सहलाते हुए उसने मेरी पैंट खोल दी. मैंने फिर पैंट को टांगों से अलग कर दिया. मेरा लंड मेरी अंडरवियर में तना हुआ था. भाभी ने मेरी अंडरवियर को नीचे कर दिया और मेरा लंड उसके मुंह के सामने उछल कर आ गया.

भाभी ने मेरे लंड को हाथ में लेकर पकड़ लिया. उसको दबा कर देखने लगी. ऐसा लग रहा था जैसे मेरा लंड फटने वाला है. मैंने भाभी को लंड चूसने के लिए इशारा किया तो भाभी मुंह बनाने लगी.
मैंने भाभी को रिक्वेस्ट की. वो आनाकानी करती रही. मेरे लंड से पानी छूटने लगा था जिससे लंड का टोपा गीला हो गया था. फिर मैंने उनके होंठों पर लंड को रगड़ दिया. उसने मेरी तरफ देखा और उसके बाद भाभी ने मेरे लंड को एकदम से मुंह में ले लिया और मैं जैसे स्वर्ग की सैर करने लगा.

मेरे लंड पर मुंह चलाते हुए भाभी मेरा लंड चूसने लगी. वो मेरे लंड को चूसती रही. मैं भी लंड चुसवाने के मजे लेता रहा.

जब मुझसे रहा न गया तो मैंने भाभी को लिटा दिया और उसकी टांगों को फैला दिया. मैंने उसकी चूत में उंगली डाल दी और तेजी के साथ भाभी की चूत में उंगली करने लगा.

kamukta hindi stories

भाभी की चूत पानी छोड़ छोड़ कर बिल्कुल चिकनी हो चुकी थी. ऐसा लग रहा था जैसे मैं किसी गर्म भट्टी में हाथ दे रहा हूं.

मैंने भाभी की चूत को कुरेदा तो भाभी सिसकारने लगी. वो बोली- बस … आ्हह … अब डाल दे. मेरी चूत को चोद दे. मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है.
मैंने तेजी के साथ भाभी की चूत में उंगली को चलाना शुरू कर दिया.
भाभी पागल सी हो उठी और मुझे अपने ऊपर खींचने लगी.

उसके बाद मैंने भाभी के बूब्स को जोर से दबाया और उसके होंठों को चूसने लगा. फिर हम 69 की पोजीशन में आ गये. भाभी ने मेरे लंड को मुंह में ले लिया और उसे जोर से चूसने लगी.

मैं भी भाभी की चूत को जीभ से ही चोदने लगा. मैं अपनी गांड को उठा उठा कर भाभी के मुंह में लंड को धकेल रहा था. भाभी भी मेरे लंड को चूस-चाट रही थी. दोनों ही पागल से हो गये थे.

ऐसे ही चूसते हुए मैंने भाभी के मुंह में ही माल छोड़ दिया क्योंकि मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ. भाभी के मुंह में मेरा सारा वीर्य निकल गया. भाभी ने भी चूत का पानी छोड़ दिया. मैंने उसकी चूत को चाट लिया. उसकी चूत का सारा पानी पी लिया.

फिर भाभी उठी और मेरे माल को उसने बाहर थूक दिया. कुछ देर के लिए हम शांत हो गये. मगर फिर दोबारा से मैंने भाभी की चूत को सहलाना शुरू कर दिया. वो भी मेरे लंड को पकड़ कर हाथ से सहलाने लगी.

कुछ ही देर के बाद हम दोनों फिर से गर्म हो गये. मैंने भाभी की चूत में दो उंगली डाल दी. कुछ ही देर के बाद भाभी के मुंह से फिर से सिसकारियां निकलने लगीं. वो अपनी टांगों को फैलाने लगी. मेरा लंड भी अब खड़ा हो चुका था.

kamukta hindi stories

भाभी बोली- अब चोद दो मुझे. मेरी चूत को फाड़ दो.
मैंने भाभी की चूत को हथेली से रगड़ दिया और उसकी टांगों को चौड़ी कर दिया.
उसको नीचे लिटा कर मैंने अपने लंड को भाभी की चूत पर सेट कर दिया.

मैंने भाभी की चूत पर अपने लंड को सेट कर दिया और धक्का लगाने लगा. मगर मेरा लंड उसकी चूत पर से फिसल गया. भाभी की चूत काफी चिकनी हो चुकी थी. फिर भी मैंने लंड पर थोड़ी सी क्रीम लगाई और दोबारा से उसकी चूत पर लंड सेट कर दिया. भाभी ने मेरे लंड को पकड़ कर खुद अपनी चूत के छेद पर सेट करवा लिया.

भाभी की चूत चुदाई उनके मायके में kamukta hindi stories

लौड़े को चूत पर रख कर मैंने जोर से एक धक्का दिया तो फिसल कर आधा लंड भाभी की चूत में उतर गया. चूत में लंड जाते ही भाभी के मुंह से आह्ह … करके एक चीख सी निकल गयी.

वो बोली- ऐसे नहीं बोला था कुत्ते … वापस निकाल इसको मादरचोद. फाड़ दी मेरी चूत आह्ह … बहुत दर्द हो रहा है. इसे निकाल बाहर!
भाभी कराहने लगी मगर मैंने भाभी की एक न सुनी और दोबारा से एक शॉट उसकी चूत में लगा दिया. मैंने पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

उसकी चूत दर्द से कुलबुला उठी और भाभी मुझे पीछे धकेलने लगी. उसके बाद मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. होंठों को चूसते हुए मैं भाभी के नंगे जिस्म पर लेट गया.

कुछ देर के बाद जब उसको थोड़ी राहत मिली तो मैंने धीरे धीरे करके उसकी चूत में लंड को चलाना शुरू कर दिया.
जब मैंने स्पीड बढ़ाई तो भाभी के मुंह से हल्की दर्द भरी आवाजें निकलने लगीं- आह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह … आराम से।
मैं धीरे धीरे उसकी चूत को चोदने लगा.

kamukta hindi stories

थोड़ी ही देर के बाद भाभी की चूत को मैंने तेजी के साथ चोदना शुरू कर दिया. मैं अब जोर से उसकी चूत में धक्के लगा रहा था. भाभी के मुंह से अब मादक सिसकारियां निकल रही थीं.

वो अब मेरा पूरा साथ दे रही थी. उसके मुंह से कामुक आवाजें निकलने लगीं- आह्ह … और तेज … आह्ह … मजा आ रहा है … चोदो … देवा … और तेजी से … ओह्सश् मसल दो मेरी चूत को.

मैं भी भाभी की चूत को मस्ती में पेलने लगा. अब वो गांड उठा उठा कर मेरे लंड को अपनी चूत में लेने लगी. मैं उसकी चूत में धक्के लगा रहा था और चुदक्कड़ भाभी नीचे से अपनी गांड उठा कर मेरे लंड की तरफ चूत को धकेल रही थी. दोनों ही आनंद में डूब गये थे.

बीस मिनट तक भाभी की चूत को पेलने के बाद वो एकदम से झड़ने लगी. उसकी चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया. मेरा लंड अभी भी उसकी चूत में अंदर बाहर रहा था. चुदाई के कारण चूत से पच पच की आवाज होने लगी. मैं चोदता रहा और भाभी बेसुध सी होकर चुदती रही.

फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी. मैंने तेजी के साथ फच-फच करते हुए भाभी की चूत में लंड को पेलना शुरू कर दिया. मैं जोर से उसकी चिकनी चूत को पेलने लगा. उसके बाद मेरा भी वीर्य निकलने को हो गया. 15-20 शॉट जोर से लगाने के बाद मैंने भाभी की चूत में ही वीर्य छोड़ना शुरू कर दिया.

मेरा पूरा बदन अकड़ गया. मैंने सारा वीर्य चूत में छोड़ दिया और भाभी के ऊपर हांफते हुए गिर गया. वो मेरी पीठ को सहलाने लगी. दो मिनट तक हम ऐसे ही एक दूसरे के ऊपर पड़े रहे.

kamukta hindi stories

उसके बाद हम दोनों उठ गये. हमने एक दूसरे को साफ किया. फिर हम अपने अपने कपड़े पहनने लगे.
भाभी बोली- अब मेरी मां आने वाली होंगी. अब तुम्हें निकल जाना चाहिए.

फिर मैंने भाभी को हग किया और उन्होंने मुझे किस किया. भाभी के चेहरे पर खुशी अलग से ही दिखाई दे रही थी. फिर मैं उनको बाय बोल कर वहां से निकल आया. भाभी ने अपने ही घर में अपनी चूत चुदवा ली. मुझे बहुत मजा आया.

यह घटना होने के कुछ दिन के बाद फिर मैं मुंबई चला गया. मुंबई में मैं जॉब करने लगा और कभी कभार ही घर जाता था. मगर इस दौरान मैं भाभी से मिल कर ही जाता था.

हमें मौका मिलता था तो हम चुदाई भी कर लिया करते थे. अभी भी यह सिलसिला चल रहा है. मुझे भाभी के साथ सेक्स का पूरा मजा मिलता है. मैंने कई लड़कियों की चूत मारी है लेकिन भाभी के साथ जो मजा आता है वो किसी के साथ नहीं आया मुझे.

मैं आप सभी पाठकों के लिए जल्दी ही फिर से कोई नयी सेक्स कहानी लेकर लौटूंगा. इसके साथ ही मैं भाभी की गांड चुदाई की कहानी भी आप लोगों के साथ शेयर करूंगा.
आप मुझे नीचे दी गई मेल आईडी पर मैसेज कर सकते हैं.
[email protected]

दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपनी राय जरूर दें. कहानी पर कमेंट करना न भूलें कि आपको कहानी पसंद आई या नहीं. मुझे आप लोगों के रेस्पोन्स का इंतजार रहेगा. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.

भाभी की चूत चुदाई उनके मायके में kamukta hindi stories

Read in English

Bhabhi ki chut chudai unke myake me kamukta Hindi stories

kamukta Hindi stories: Neighboring sister-in-law came to my house, seeing the ass of sister-in-law started stirring in my mind. I put cocks on her ass. Have I been able to fuck her pussy?

Friends, my name is Deva. I am from the state of Madhya Pradesh. This Hindi sex story is about Mary and sister-in-law living in my neighborhood. I am a regular reader of Mast Hindi Story and my story is about 5 years ago kamukta Hindi stories.

At that time, I was 21 years old. The size of my cock is 6 inches. I am also good in appearance and my body is also right. Not much handsome, but I like women and girls. Now I do not want to take too much of your time, I want to start my story about kamukta Hindi stories.

My neighbor’s sister-in-law’s name is Soni (changed). He is absolutely cool looking. My sister-in-law got married at the age of 18. At that time, I did not have sexual thoughts about my sister-in-law because then I was very young. But at that time my cock had started erecting the kamukta Hindi stories.

As I got younger, the attraction towards woman’s body was getting stronger in my mind. Then I started watching naked pics of Indian sex girl like kamukta Hindi stories.

I used to see them every day and fist. I used to enjoy masturbation while reading Hindi sex story on Mast Hindi Story. But then my cock was craving for fuck. I wanted someone’s pussy now. Gradually the same attraction was coming in my mind towards the law of sister-in-law.
At that time, I used to talk a little bit with sister-in-law enjoy kamukta Hindi stories.

Then one day it happened that there was no one at my house. I was all alone in my house kamukta Hindi stories. The father had gone out of work and the mother had gone into a relationship somewhere. On the way, my mother told my sister-in-law to cook for me.

kamukta hindi stories
Sister-in-law came to my house after an hour of leaving mother and father. He talked to me and then went to the kitchen to cook for me and kamukta Hindi stories.
Since she did not know much about our kitchen, she was asking me again and again. I was helping them. It was telling them which item is kept where on kamukta Hindi stories.

Having found him alone at home, I started thinking about sex in my mind. Bhabi’s sister was quite cool. I was trying to peep into her pussy. I started touching them with excuses. Sometimes the sister-in-law used to get her hands on her ass and sometimes used to rub her shoulder like kamukta Hindi stories.

I was doing all this intentionally. Sister-in-law had also understood my gestures but probably did not want to speak anything. When I saw that the sister-in-law was not saying anything, I came after them and made excuses to touch my cock on her ass about kamukta Hindi stories.

cript>

My cock was already taut. Even after I put cocks on her ass, her sister did not say anything. Rather she came back a little and started pressing her ass on my cock for kamukta Hindi stories.

It was like a green signal for me. I placed my cock on the sister-in-law’s ass. Sister-in-law still did not say anything. My courage increased the kamukta Hindi stories.

When I held her in my arms, sister-in-law also turned towards me. They saw me and I saw them. When I necked forward to suck his lips, he stopped me on kamukta Hindi stories.

kamukta hindi stories
I could not understand once.
She said – not today, it is not right to do all this now. There is a fear of someone coming here. Anyway, this is your home. If anyone sees it then it will be needless slander like kamukta Hindi stories.

Sister-in-law said- Tomorrow I am going to my maiden. My maternal uncle is not far from here. You also come there. We will do further work there. I’ll call you at my house there.
Speaking so much, sister-in-law gave me her number on the kamukta Hindi stories.
After that she went to cook.

I also became happy that the sister-in-law has gotten married. It was night, my cock started bothering me. My Aloda stood up. I put my hand in my underwear and started caressing and shaking her. Then that night I slept with the name of sister-in-law. The next day I got up and started waiting for her sister-in-law’s phone then kamukta Hindi stories.

Sister-in-law had told that her maternal uncle is 20 km from here. Around 2 in the afternoon, her sister-in-law received a call. She was calling me in her maternal home and kamukta Hindi stories.
I reached his place within half an hour. There was no one in his house after going there then kamukta Hindi stories.

He had already planned everything. She brought water for me after I left. Then she came and sat with me. My cock was already in excitement for kamukta Hindi stories.

I started kissing her sister-in-law and she also started supporting me.

kamukta hindi stories
We both kissed each other for a long time. I started pressing on her sister’s boobs. While sucking their lips, I was enjoying a lot of pressing of medium size of her sister-in-law for kamukta Hindi stories.

kamukta Hindi stories Then I started removing the sister-in-law’s sari. As the pallu of her sari came off, I saw the depths of her boobs. I started pressing her boobs loudly on top of the blouse.

Sister-in-law was now getting hot. She was pressing her hand on top of my pants on my cock. Sister-in-law started caressing my cock and I started pressing her pussy on kamukta Hindi stories.

For some time, the kissed chaati kept going. After that I asked him to take off the blouse. As soon as the sister-in-law took off the blouse, her cool boobs got naked in front of me like kamukta Hindi stories.

I pounced on her naked pussy. At first, I saw the sister-in-law’s boobies in her hands and squeezed them vigorously. I was having a lot of fun while pressing her soft soft boobs. Sister-in-law was kissing my neck in the meantime the kamukta Hindi stories.

Then I laid down the sister-in-law and opened her sari. Sister-in-law was now left only in a petticoat. After that I also removed his petticoat. The sister-in-law was wearing a red panty from below the kamukta Hindi stories.

kamukta hindi stories The sister-in-law’s panties looked very cool on her white thighs. After that I kissed her panties. I started licking sister-in-law’s panties. Bhabhi’s pussy was hot. She felt very good with her pussy like kamukta Hindi stories.

I pulled her sister’s panty off. Sister-in-law’s pussy became naked. I looked at her pussy with her hand about kamukta Hindi stories.

Chudasi had got her pussy wet. On seeing from outside, the color of the pussy was looking dark kamukta Hindi stories.

Then I saw her pussy opened. Her pussy was looking completely red from inside. I separated the slices of the pussy with my fingers and started running my tongue inside her pussy then kamukta Hindi stories.

Sister-in-law started swearing. I started fucking with the tongue in her sister’s pussy. After that I loudly sucked her sister’s pussy for a long time and started taking her sister-in-law for kamukta Hindi stories.

She bid- Ahhh .. Deva, where have you learned to lick pussy like this?
I bid – just learned by watching such a porn sex video and enjoy kamukta Hindi stories.
She said – My husband never licked my pussy like this. Lick my pussy more vigorously. I am enjoying it very much kamukta hindi stories
I quickly started to run her tongue in law. Sister-in-law started taking Siskaris loudly She started pressing my mouth in her pussy. She was pressing my mouth so hard that I was not breathing.

Sister-in-law became very sexy. I was still moving the tongue in her pussy. Then I pulled out the tongue while panting. The condition of my cock was bad then enjoy kamukta Hindi stories.

I got up and started removing my clothes. I took off my shirt. After that also removed the vest. As soon as I started to open the pants, sister-in-law got up and started grabbing my cock on top of the pants.

She opened my pants while stroking my cock. I then separated the pants from the legs. My cock was taut in my underwear. Sister-in-law put down my underwear and my cock bounced in front of her mouth.

Sister-in-law grabbed my cock in my hand. She started looking at him. It seemed like my cock was about to explode. When I gestured for her to suck cocks, she started making her mouth.
I requested sister-in-law. She continued to ignore The water from my cock was starting to get wet due to which the head of the cock had become wet. Then I rubbed the cocks on his lips. He looked at me and after that sister-in-law took my cock right away in my mouth and started walking like heaven.

Sister-in-law had told that her maternal uncle is 20 km from here. Around 2 in the afternoon, her sister-in-law received a call. She was calling me in her maternal home.
I reached his place within half an hour. There was no one in his house after going there.

He had already planned everything. She brought water for me after I left. Then she came and sat with me. My cock was already in excitement.

I started kissing her sister-in-law and she also started supporting me.

kamukta hindi stories
We both kissed each other for a long time. I started pressing on her sister’s boobs. While sucking their lips, I was enjoying a lot of pressing of medium size of her sister-in-law.

use
Then I started removing the sister-in-law’s sari. As the pallu of her sari came off, I saw the depths of her boobs. I started pressing her boobs loudly on top of the blouse.

Sister-in-law was now getting hot. She was pressing her hand on top of my pants on my cock. Sister-in-law started caressing my cock and I started pressing her pussy.

For some time, the kissed chaati kept going. After that I asked him to take off the blouse. As soon as the sister-in-law took off the blouse, her cool boobs got naked in front of me.

I pounced on her naked pussy. At first, I saw the sister-in-law’s boobies in her hands and squeezed them vigorously. I was having a lot of fun while pressing her soft soft boobs. Sister-in-law was kissing my neck in the meantime.

Then I laid down the sister-in-law and opened her sari. Sister-in-law was now left only in a petticoat. After that I also removed his petticoat. The sister-in-law was wearing a red panty from below.

kamukta hindi stories
The sister-in-law’s panties looked very cool on her white thighs. After that I kissed her panties. I started licking sister-in-law’s panties. Bhabhi’s pussy was hot. She felt very good with her pussy.

I pulled her sister’s panty off. Sister-in-law’s pussy became naked. I looked at her pussy with her hand.

use
Chudasi had got her pussy wet. On seeing from outside, the color of the pussy was looking dark.

Then I saw her pussy opened. Her pussy was looking completely red from inside. I separated the slices of the pussy with my fingers and started running my tongue inside her pussy.

Sister-in-law started swearing. I started fucking with the tongue in her sister’s pussy. After that I loudly sucked her sister’s pussy for a long time and started taking her sister-in-law.

She bid- Ahhh .. Deva, where have you learned to lick pussy like this?
I bid – just learned by watching such a porn sex video.
She said – My husband never licked my pussy like this. Lick my pussy more vigorously. I am enjoying it very much kamukta hindi stories
I quickly started to run her tongue in law. Sister-in-law started taking Siskaris loudly She started pressing my mouth in her pussy. She was pressing my mouth so hard that I was not breathing.

Sister-in-law became very sexy. I was still moving the tongue in her pussy. Then I pulled out the tongue while panting. The condition of my cock was bad.

I got up and started removing my clothes. I took off my shirt. After that also removed the vest. As soon as I started to open the pants, sister-in-law got up and started grabbing my cock on top of the pants.

She opened my pants while stroking my cock. I then separated the pants from the legs. My cock was taut in my underwear. Sister-in-law put down my underwear and my cock bounced in front of her mouth.

Sister-in-law grabbed my cock in my hand. She started looking at him. It seemed like my cock was about to explode. When I gestured for her to suck cocks, she started making her mouth.
I requested sister-in-law. She continued to ignore The water from my cock was starting to get wet due to which the head of the cock had become wet. Then I rubbed the cocks on his lips. He looked at me and after that sister-in-law took my cock right away in my mouth and started walking like heaven….

After grinding her sister’s pussy for twenty minutes, she started to fall completely away. His pussy left a lot of water. My cock was still inside her pussy. Due to fuck, there was a voice of pussy. I kept fucking and sister-in-law kept on fucking like a fool.

Then I increased my speed. I started pounding cocks into her sister’s pussy while fudging with speed. I started sucking her smooth pussy vigorously. After that, I also had semen discharge. After applying 15-20 shots vigorously, I started releasing semen in her sister’s pussy like kamukta hindi stories.

My whole body swung I left all the semen in the pussy and fell on her sister in panting. She started caressing my back. We lay on top of each other for two minutes.

kamukta hindi stories
After that we both got up. We cleaned each other. Then we started wearing our own clothes.
Sister-in-law said – Now my mother will be coming. Now you should leave.

Then I hag bhabhi and they kissed me. Happiness was clearly visible on her sister’s face. Then I left them by speaking to them. Sister-in-law took her pussy in her own house. I enjoyed it very much.

Then I moved to Mumbai after a few days of this incident. I started working in Mumbai and rarely used to go home. But during this time I used to go to meet her sister-in-law.

If we had a chance, we used to do chudai. This trend is still going on. I get full enjoyment of sex with sister-in-law. I have killed many girls but the fun that I have with sister-in-law has not come with anyone.

I will soon return with a new sex story for all of you readers. With this, I will also share the story of sister-in-law’s ass fuck with you.
You can message me at the mail ID given below.
[email protected]

Friends, how did you like my story, please give me your opinion about it. Be sure to comment on the story whether you liked the story or not. I will be waiting for your response. And to read sex videos and new story, telegram group can join.

Read more chudai Story-

Hindipornstory दो भाइयों ने की 1 भाभी की चुदाई Best Sex Fun

Mastram antarvasna भाभी ने करवाई 1 पड़ोसी से चुदाई Free Sex

Desi antarvasna 1 भाभी की चुदाई उनके मायके में जाकर Best Sex

Leave a Comment

org/tools/popad.js">