Sax kahaniya पापा के दोस्त की बेटी की सीलतोड़ चुदाई1 Best Sex

पापा के दोस्त की बेटी की सीलतोड़ चुदाई Sax kahaniya

Sax kahaniya: मेरे पापा के एक दोस्त की बेटी मेरी क्लास में पढ़ती थी. वो मुझे पसंद करती थी और मैं तो उसे चोदना चाहता ही था. एक दिन उसने मुझे अपने घर बुलाया तो …

सबसे पहले आप सभी को चोदुओं और चुदक्कड़ लौंडियों को मेरा खड़े लंड का सलाम.

दोस्तो, मैं Mast Hindi Story का एक पुराना पाठक हूँ और मेरा नाम राजेन्द्र है. मैं भोपाल से हूँ और प्राइवेट नौकरी करता हूँ. मैंने आप सब लोगों की सेक्स कहानी पढ़ी हैं. कुछ कहानी हकीकत में सही लगती हैं और कुछ कल्पनाओं से भरी होती हैं, लेकिन सभी में मजा बहुत ज्यादा आता है.

आप लोगों की कहानियां पढ़ कर मैंने सोचा कि मैं भी अपनी कहानी आप लोगों को बताऊं ताकि मेरे जो पुरुष और महिला मित्र हैं, वो मज़ा लें और अपने लंड और चूत का पानी निकाल दें. मेरी सेक्स कहानी पढ़ कर आप लोग मुझको मेल करके जरूर बताएं कि कहानी कैसी लगी.

ये बात उस समय की है, जब मैं पढ़ रहा था और उस समय मेरी आयु भरपूर जवानी की हो चुकी थी. उस समय इंटरनेट नहीं था इसलिए मैं उस समय सिनेमाघर में सेक्स वाली पिक्चरों को छुप कर देखा करता था. पिक्चर देखने के बाद मुझे चुदाई का मज़ा लेने का मन करने लगता तो मुठ मार कर लंड हिला लेता था.

उन दिनों मेरे साथ एक लड़की पढ़ती थी, उसका नाम सीमा था. वो मेरे पिता के दोस्त की बेटी थी, हम दोनों साथ में एक ही क्लास में पढ़ते थे. मैं उसके घर जाता रहता था.

वो मेरी तरफ आकर्षित थी, उसका रंग गोरा था. वो भी जवानी की तरफ कदम रख रही थी. उसका बदन बहुत ही मस्त था, उसकी चूचियां संतरे के आकार की थीं और गांड भी बहुत ही मस्त थी. जब चलती थी, तो उसकी मटकती गांड देख कर मेरा लंड मचल उठता था.

Sax kahaniya

वो भी मेरी नजरें देख कर समझ गई थी कि मैं उसको चोदने की सोचता हूँ. उसको चोदने का मौका मुझको जल्दी ही मिल गया.

हम लोगों के पेपर शुरू होने वाले थे तो उसने मुझको कहा कि उसका गणित कमजोर है, तो मैं उसकी घर पर आकर मदद कर दूँ.
मैंने हां कर दी.
मुझे समझ आ गया था कि ये वैसे तो पढ़ने में तेज है, इसने आज तक कभी मुझसे ऐसी बात नहीं कही है. इसका मतलब है कि मेरी भी मुराद पूरी होने वाली है.

अगले दिन ही मैं सीमा के घर चला गया. मैंने घर की बेल बजाई, तो सीमा ने दरवाज़ा खोला. उसने स्कर्ट और टॉप पहना हुआ था. मुझको देख कर वो मुस्कुरा दी. आज वो बहुत ही मस्त लग रही थी.

उसने अन्दर आने को कहा.
मैंने पूछा- और कौन है घर में?
वो बोली- कोई नहीं है … मैं अकेली हूँ. सब बाहर गए हैं, शाम तक ही वापस आएंगे.

सीमा के घर मैं उसके पापा, मम्मी, भाई भाभी और एक बड़ी बहन भी है. उसकी भाभी और बहन भी बहुत मस्त और कामुक दिखती हैं.

सीमा मुझको अपने रूम में लेकर गई. उस दिन वो बहुत मस्त लग रही थी. उसके टॉप में से उसके संतरे जैसे चुचे बहुत मस्त लग रहे थे और निप्पल भी अंगूर के दाने के बराबर थे. मेरा मन उनको दबा कर चूसने करने लगा.

Sax kahaniya

सीमा ने मुझसे चाय का पूछा, मैंने मना कर दिया. मैंने कहा कि तुमको क्या पूछना है गणित में, मैं बता देता हूँ. तुम अपनी बुक दे दो.
उसने कहा- अभी दे दूंगी … अभी आज मेरा मन पढ़ने का नहीं है.
मैंने कहा- फिर मुझको तुमने बुलाया किसलिए था?
सीमा बोली- तुमसे मुझे कुछ दूसरा काम है … इसलिए बुलाया.
मैंने पूछा- दूसरा काम क्या है, बताओ?

सीमा मेरे पास आई और मुझसे लिपट गई. उसने अपने लबों को मेरे लबों पर रख दिए और किस करने लगी. उसने मुझको कसके जकड़ रखा था. उसके चुचे मेरे सीने पर गड़े जा रहे थे.

मैं भी सीमा को चूमने लगा. मेरा लंड भी खड़ा हो चुका था. सीमा को भी मेरे खड़े लंड का अहसास हो चुका था. वो अपनी चुदासी चूत पर मेरे लंड का दवाब महसूस कर रही थी. हम एक दूसरे जोरदार तरीके से चूम रहे थे.

Papa ke Dost ki ladki ke seal todi - Sax kahaniya

मैंने सीमा की एक चूची को दबाना शुरू कर दिया और अपने दूसरे हाथ से उसकी गांड को दबाने लगा. सीमा को भी मज़ा आ रहा था. वो आहें भरने लगी थी.
सीमा गर्म हो चुकी थी. मैं समझ गया था कि वो चुदना चाहती है.

मैंने सीमा से पूछा- तुम्हारे परिवार वाले सब गए, तुम उनके साथ क्यों नहीं गईं?

दोस्तो, सीमा ने जो बताया, उसे सुन कर मेरा लंड पैंट फाड़ बाहर आने को बेताब होने लगा.

सीमा बोली- कल रात को मैं सोने जा रही थी, तो मैंनेँ अपने भैया के कमरे से कुछ आवाजें सुनी थीं. मैं कमरे के दरवाजे के पास गई, तो अन्दर से चुदाई की आवाजें आ रही थीं. मैंने देखना चाहा कि अन्दर क्या हो रहा है, तो मैं पास में रखी एक टेबल पर चढ़ गई और दरवाजे के ऊपर की खिड़की से झांक कर देखा.

अन्दर का नजारा देख कर तो मेरे होश ही उड़ गए थे. मेरा भाई, मेरी भाभी की जोरदार तरीके से चुदाई कर रहा था. भाभी भी मस्त होकर चुदाई का मज़ा ले रही थी. Sax kahaniya

मैंने सीमा की बातों का रस लेते हुए उससे पूछा- फिर क्या हुआ?
सीमा- भाभी जोर जोर से बोल रही थी कि चोदो राजा … जोर जोर से चोदो … फाड़ दो मेरी चूत, भोसड़ा बना दो, मेरी चूत का … इस तरह से भाभी आह्ह्ह उईईईई आह्ह्ह कर रही थी. भाई का लंड भी भाभी की चूत में तेज़ी से अन्दर बाहर हो रहा था. भाभी भी गांड उछाल उछाल कर मज़ा ले रही थी.

मैंने सीमा की चूची दबाते हुए पूछा- और क्या हो रहा था?
सीमा बोली- भाई ने भाभी को दो बार चोदा था, यार उन दोनों की चुदाई देख कर मैं गर्म हो गई थी. मेरी भी चूत गर्म हो गई थी और पानी छोड़ने लगी थी. उस रात मैंने चूत में उंगली डाल कर दो बार पानी निकाला था.

Papa ke Dost ki ladki ke seal todi - Sax kahaniya

सीमा की चुदाई की बातें सुन कर मैं और जोश में आ गया. मैं सीमा को पागलों की तरह चूमने लगा. वो भी मुझको चूमने लगी.

मैंने सीमा के कपड़े उतारने शुरू कर दिए. अब वो सिर्फ ब्रा पैंटी में थी. उसने लाल रंग की ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी.
दोस्तो, मैंने सेक्स वाली पिक्चर में ही ऐसा देखा था, पर यह सब मेरे साथ हकीकत में हो रहा था.

सीमा को मैंने बेड पर लेटाकर उसके पूरे बदन को चूमना शुरू कर दिया. क्या संगमरमर की तरह गोरा बदन था. उसकी लाल ब्रा को खोल कर मैं उसके मम्मों को चूसने लगा. सीमा मस्त हुए जा रही थी और मेरा पूरा साथ दे रही थी.

सीमा के मुँह से कामुक आवाज़ निकल रही थी. मैं उसकी नाभि और जाघों को चूम और चाट रहा था. मैं पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चूमने लगा.

Sax kahaniya

सीमा उछलने लगी और ‘आह आह आह अह्ह्ह उफ्फ्फ …’ करने लगी. अब मैं सीमा की चूत को देखना चाहता था. मैंने पैंटी निकाल दी. उसकी मुलायम और नर्म चूत देख कर मैं दंग रह गया. मैंने अब तक गंदी फिल्मों में ही चूत देखी थी. उसकी चूत एकदम चिकनी और बिना बालों की थी. उसकी चुत से बहुत ही मदहोश करने वाली खुशबू आ रही थी … और चूत से रस भी निकल रहा था.

सीमा की चूत पावरोटी की तरह फूली और मोटी थी. मैंने झुकते हुए चूत को चाटना चालू कर दिया.

चुत पर मेरी जीभ का अहसास पाते ही सीमा भी मस्त होकर आहें भरने लगी. वो मस्ती में बोल रही थी- आह्ह्ह्ह … चाट लो मेरी चूत … खा जाओ चूत को … आआह्ह्ह उफ्फ … हाय हाय उफ्फ!

सीमा गांड उछाल उछाल कर अपनी चूत चटवा रही थी. उसने मेरा सर पकड़ रखा था और मैं चूत को अपनी जीभ से चोद रहा था. अपनी पूरी जीभ मैंने चूत के अन्दर डाल रखी थी. कुछ ही देर में सीमा का बदन अकड़ने लगा.
सीमा बोली- आह … मैं झड़ने वाली हूँ.
मैं ये सुनकर भी नहीं हटा और जोर से सीमा की चूत के लाल दाने को भी चाटने लगा था.

Papa ke Dost ki ladki ke seal todi - Sax kahaniya

तभी सीमा फिर से बोली- आह … मेरा पानी छूट रहा है.
अगले ही पल सीमा की चूत ने अपना पानी छोड़ दिया. मैं अब भी चूत को चाट रहा था. सीमा निढाल होकर पड़ी थी और सिसकारियां ले रही थी.

मैंने पहली बार चूत का नमकीन पानी का स्वाद चखा था. मुझे बड़ा मस्त लग रहा था, इसलिए मैंने लगातार चुत को चाटा और उसको एकदम साफ़ कर दिया.

अब तक मैंने अपने कपड़े नहीं उतारे थे. मैंने सीमा से कहा- तुम मुझको भी नंगा कर दो.
उसने मेरे कपड़े निकालना शुरू कर दिए. कुछ ही देर में मैं सिर्फ चड्डी में रह गया था. मेरा लंड चड्डी में टेंट की तरह तना हुआ था.

Sax kahaniya

सीमा चड्डी के ऊपर से ही लंड को चूमने लगी और सहलाने लगी.
मैंने लंड को बाहर निकालने को कहा, तो उसने मेरी चड्डी उतार दी. जैसे साँप बिल से बाहर आता है, वैसे ही मेरा लंड भी चड्डी से बाहर आ गया.

मेरा 8 इंच का लंड गुलाबी सुपारा देख कर सीमा खुश हो गई. वो बोली- आह तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है.

मेरे लंड को हाथ में लेकर सीमा उसको सहलाने लगी. सीमा ने मुझको बेड पर लेटा दिया और वो भी बेड पर मेरे ऊपर आ गई. सीधा खड़ा हुआ लंड उसके सामने था. सीमा ने लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. वो मस्ती से लंड को चूस रही ही थी. मेरे अंडकोष को भी मुँह ले रही थी.

Papa ke Dost ki ladki ke seal todi - Sax kahaniya

अब कमरे में मेरी और सीमा की कामुक आवाजें गूंज रही थीं. सीमा मजे ले लेकर लंड चूस रही थी.

मैं ब्लू फिल्म के हीरो की तरह अपना लंड चुसवा रहा था. मैंने सीमा से कहा- आह और जोर से लंड को चूसो … जोर जोर चूसना शुरू कर दे, मेरा माल निकलने वाला है.
सीमा बोलने लगी- राज मुझको लंड का माल पीना है … प्लीज़ जल्दी से मेरे मुँह में अपना माल गिरा दो.

मैं बेड पर खड़ा हो गया और सीमा को मुँह खोलने को कहा. मैं लंड को सीमा के मुँह के पास लाया और अपने हाथ से मुठ मारनी चालू कर दी. दो मिनट के बाद मेरे मुँह से आह की आवाज़ निकली और इसी के साथ मेरे लंड से जोरदार पिचकारी की तरह मेरा माल सीमा के मुँह के अन्दर गिरने लगा,
लंड का माल गर्म और गाढ़ा, सफेद रंग का था. मेरे लंड से लगातार माल गिर रहा था. सीमा का मुँह माल से पूरा भर गया था.

कुछ माल उसके मम्मों पर गिर गया, जिसे सीमा ने मलना शुरू कर दिया. वो मेरा पूरा माल पी गई. उसे मेरे माल का स्वाद बहुत अच्छा लगा.

Sax kahaniya

फिर उसने मेरे लंड को हाथ में ले लिया और सुपारे पर अपनी जीभ फेरने लगी. अभी तक हम दोनों ने एक दूसरे के माल का ही मज़ा लिया था, चुदाई नहीं की थी. इस बीच सीमा ने मुझको अपने ऊपर लिटा लिया था. हम दोनों झड़ चुके थे, सीमा ने मुझको आई लव यू कहा और चूमने लगी.

मैं भी उसको चूम रहा था. उसके मम्मों को मुँह में लेकर निप्पल पर जीभ फेरने लगा. वो भी मेरी गांड पर हाथ फेरने लगी. इधर मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा.

मैं सीमा के ऊपर लेटा था, सीमा को लंड का सख्त होना समझ आ गया था. वो भी अब चुदने को तैयार थी.
मैंने पोजीशन लेते हुए अपने लंड को चूत पर टिकाया और जोर से धक्का दे मारा. सीमा जोर से सीत्कार उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… हाय मर गई … मेरी चूत फाड़ दी!

Papa ke Dost ki ladki ke seal todi - Sax kahaniya

मेरा लंड अभी आधा ही चूत में घुस पाया था. तभी मैंने दूसरा जोरदार धक्का दे मारा. अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समा गया.
सीमा दर्द से कराह उठी- उईईईईई माँ … मर गई मैं!

मैंने एक पल रुक कर लंड को सैट होने दिया और इसके बाद उसको चोदना शुरू कर दिया. मैं तेजी से लंड को चूत में अन्दर बाहर करने लगा.
सीमा के मुँह से भी मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं- अआह आह्ह आह्ह्ह उफ्फ उफ उईईईई आह्ह्ह्ह.
उसने मुझको जकड़ रखा था.

Sax kahaniya

मैंने अब अपनी चोदने की स्पीड तेज कर दी. सीमा बोलने लगी- राज प्लीज़ थोड़ा रुक जाओ … मुझको बहुत दर्द हो रहा है.
उसकी बात मान मैंने चुदाई रोक दी और लंड को चूत में से बाहर निकाल लिया.

उसकी नजर मेरे लंड पर गई, तो वो हैरान रह गई. मेरा लंड खून से लाल हो गया था. उसकी चूत से भी खून निकल रहा था.

एक पल घबराने के बाद वो खुश हो गई और मुझको चूम कर फिर से चोदने को कहने लगी.

मैंने लंड को चूत में डाल कर चोदने लगा. अब उसको दर्द में भी मज़ा आने लगा.

सीमा ‘आह ओह उफ्फ्फ उफ्फ्फ उईईई उईईई आह आह..’ की आवाज़ करती हुई चुदाई का मज़ा ले रही थी. वो मेरे चूतड़ों को पकड़ कर दबा रही थी और गांड में अपनी उंगली डाल कर मुझको और ज्यादा जोश दिला रही थी.

मैं तेजी से उसको चोद रहा था.
‘हां और तेजी से चोदो … उफ आह अह आह..’ वो बोले जा रही थी.

मैं उसके मम्मों को चूसते हुए लंड को तेजी से चूत में अन्दर बाहर करने लगा. वो भी अब मेरा साथ अपनी गांड को नीचे से उछाल उछाल कर देने लगी. वो चुदाई का पूरा मज़ा ले रही थी. कमरे में हम दोनों की आवाजें गूंज रही थीं. उसकी चूत से फच फच फच की आवाज़ निकल रही थी. चूत के रस से मेरा लंड पूरा भीग रहा था, जिससे हम दोनों को चुदाई का मज़ा आ रहा था.

Sax kahaniya

इस बीच सीमा दो बार झड़ गई थी, पर मैं अभी भी चुदाई कर रहा था. हम दोनों अब चरम सीमा पर पहुंच गए थे.
मैंने सीमा से कहा- मेरा भी पानी निकलने वाला है.
वो बोली- चूत में ही छोड़ दो.

करीब 25 मिनट की चुदाई हो चुकी थी. थोड़ी देर के बाद लंड ने चूत के अन्दर ही पानी छोड़ दिया. सीमा को ऐसा लगा कि जैसे गर्म लावा चूत के अन्दर डाल दिया हो. मैं निढाल होकर उसके ऊपर ही लेट गया.

मेरा लंड अभी चूत के अन्दर ही था. हम दोनों गहरी गहरी सांस ले रहे थे.
सीमा ने कहा- आज मुझे बहुत मज़ा आया.

थोड़ी देर के बाद दोनों उठ गए और बाथरूम में जाकर एक दूसरे की सफाई करने लगे. हम दोनों अपने अपने कपड़े पहन कर तैयार हो गए.

मैंने सीमा को चूमा और उससे उसकी भाभी की चूत को चुदवाने की बात की.
वो हंस कर बोली- ठीक है … अपनी भाभी को भी तुमसे चुदवा दूँगी.

मैंने फिर से सीमा को चूमा और घर आ गया. आज मुझे बहुत ही मज़ा आया था. मुझको फिल्म वाली चुदाई से नहीं, सीमा की चुदाई करने में ज्यादा मजा आया था.

दोस्तो, ये थी मेरी सीमा के साथ चुदाई की कहानी … आपको सेक्स कहानी कैसी लगी, मेल करके जरूर बताएं. फिर अगली कहानी में मैं आप लोगों को बताऊंगा कि कैसे मैंने सीमा की भाभी की चुदाई की. तब तक के लिए चूत चोदो और चुत चुदाओ … मस्त रहो. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.
मेरी मेल आईडी है [email protected]

Read in English

Papa ke Dost ki ladki ke seal todi – Sax kahaniya

Sax kahaniya: The daughter of a friend of my father used to study in my class. She liked me and I wanted to fuck her. One day he called me to his house and…

First of all, salute to all of you Chodoos and Chudkad Laundries.

Friends, I am an old reader of Mast Hindi Story and my name is Rajendra. I am from Bhopal and do a private job. I have read the sex story of you all. Some of the stories seem true and some are full of imagination, but all have a lot of fun Sax kahaniya.

After reading the stories of your people, I thought that I should also tell my story to you so that the men and women who are friends of mine can enjoy it and drain their cocks and pussy water. After reading my sex story, you guys send me a mail and tell me how the story was like Sax kahaniya.

This is the time when I was studying and at that time, I was very young. There was no internet at that time, so I used to hide the pictures of sex in the cinema at that time. After watching the picture, I used to feel like enjoying sex, then I would shake the cocks by hitting the mouth on Sax kahaniya.

A girl used to study with me in those days, her name was Seema. She was the daughter of my father’s friend, we both used to study in the same class together. I used to go to his house for Sax kahaniya.

She was attracted to me, her color was fair. She was also stepping towards youth. His body was very cool, his cunt was orange in shape and the ass was also very cool. When he used to walk, I used to get cock after seeing his sloppy ass.

Sax kahaniya
Seeing my eyes, she also understood that I think of fucking her. I got a chance to fuck him soon.

When we were about to start the paper, he told me that his math is weak, so I should help him by coming home then Sax kahaniya.
I said yes
I understood that although it is fast to read, it has never said such thing to me till date. This means that my wish too is going to be fulfilled the Sax kahaniya.

The next day I went to Seema’s house. When I rang the house bell, Seema opened the door. He was wearing a skirt and top. She smiled upon seeing me. Today she looked very cool.

He asked to come in.
I asked- Who else is at home?
She said – no one… I am alone. Everyone has gone out, will come back by evening only.

She has a father, mother, brother-in-law and an elder sister in Seema’s house. Her sister-in-law and sister also look very cool and sensual like Sax kahaniya.

Seema took me to her room. She looked very cool that day. Her oranges like oranges from her top looked very cool and the nipples were also like grapes. My mind started sucking and sucking them.

Sax kahaniya
Seema asked me for tea, I refused. I said what you have to ask in mathematics, I will tell you. You give your book like Sax kahaniya.
He said – I will give it now… I am not ready to read it today.
I said – then you called me for what?
Seema said – I have some other work for you… so called.
I asked – what is the second job, tell me?

cript>

Seema came to me and hugged me. He put his lips on my lips and started kissing. He held me tightly. His legs were being buried on my chest like Sax kahaniya.

I also started kissing Seema. My cock was also erected. Seema had also realized my standing cocks. She was feeling the pressure of my cock on her pussy. We were kissing each other vigorously in Sax kahaniya.

I started pressing a nipple of Seema and pressing her ass with my other hand. Seema was also enjoying it. She started sighing.
The border was hot. I understood that she wants to fuck Sax kahaniya.

I asked Seema – all your family went, why didn’t you go with them?

Friends, listening to what Seema told me, I started getting desperate to tear my cock pants out like Sax kahaniya.

Seema Boli – Last night I was going to sleep, so I heard some voices from my brother’s room. When I went to the door of the room, the sound of fuck was coming from inside. I wanted to see what was happening inside, so I climbed on a table nearby and looked through the window above the door. Seeing the view inside, my senses were blown away then Sax kahaniya.

My brother was fucking my sister-in-law vigorously. Sister-in-law was also enjoying chudai Sax kahaniya.
Taking juice from Seema, I asked her, what happened then?
Seema- Sister-in-law was speaking loudly that Chodo Raja… Chodo loudly… Tear my pussy, make Bhosra, my pussy… In this way sister-in-law was ahhh UEEEE. Brother’s cock was also getting out inside the sister-in-law’s pussy. Sister-in-law was also having fun bouncing ass like Sax kahaniya.

I started removing Seema’s clothes. Now she was only in bra panties. She was wearing a red bra and panties and enjoy Sax kahaniya.
Friends, I saw this in the picture of sex, but it was happening to me in reality like Sax kahaniya.

I lay on the bed and started kissing her entire body. Was the blonde body like marble? Opening her red bra, I started sucking her mums. Seema was going over and supporting me hot in Sax kahaniya.

A sensual voice was coming out of Seema’s mouth. I was kissing and licking her navel and thighs. I started kissing her pussy from above the panties.

Sax kahaniya
Seema started bouncing and started saying ‘Ah ah ah ahhh uhffh…’. Now I wanted to see Seema’s pussy. I removed the panties. I was stunned to see her soft and soft pussy. I had only seen pussy in dirty films till now. Her pussy was very smooth and hairless. Her pussy smelled very seductive… and juice was also coming out of her pussy amazing Sax kahaniya.

Seema’s pussy was puffy and thick like Pavarotti. I started to lick pussy while bending on Sax kahaniya.

As soon as I felt my tongue on the pussy, Seema also started filling her sigh. She was speaking in fun- Ahhhhh… lick my pussy… go eat pussy… aaaahh uff… hi hi uff!

Seema was licking her pussy by bouncing ass. He was holding my head and I was fucking pussy with my tongue. I had put my whole tongue inside the pussy. Within a short time, the body of the border began to swell on Sax kahaniya.
Seema Bid – Ah… I am going to fall.
Hearing this, I could not remove it and started licking the red rash of Seema’s pussy loudly.

use
Then Seema again said – Ah… I am missing water.
The next moment Seema’s pussy left her water. I was still licking pussy. Seema was lying down and taking sibs Sax kahaniya.

I tasted the taste of salted water for the first time. I felt very good, so I constantly licked the pussy and cleaned it completely on Sax kahaniya.

Till now I had not removed my clothes. I told Seema – You make me naked too.
He started removing my clothes. I was left in only a few tights. My cock was stretched like a tent in tights.

Sax kahaniya
Seema started kissing and caressing the cocks from above the tights.
I asked to take the cocks out, so he removed my tights. Just as the snake comes out of the bill, my cock also came out of the trunks Sax kahaniya.

Seema was happy to see my 8 inch cocks pink supara. She said – ah your cock is very big and thick on Sax kahaniya.

With my cock in hand, Seema started caressing her. Seema laid me on the bed and she too came over me on the bed. The erect penis was in front of him. Seema took the cocks in her mouth and started sucking. She was sucking the cocks out of fun. Was also facing my testicles for Sax kahaniya.

use
Now me and Seema’s erotic voices were echoing in the room. Seema was sucking cocks with fun like Sax kahaniya.

I was sucking my cock like a hero of a blue film. I told Seema – ah and suck the cocks harder… start sucking harder, my goods are going to come out the Sax kahaniya.
Seema started speaking – Raj I have to drink the goods of cocks… please quickly drop your goods in my mouth.

I stood on the bed and asked Seema to open her mouth. I brought the cocks near the mouth of Seema and started licking the Mutha with my hand. After two minutes, the sound of ah came out of my mouth and with this, my goods started falling inside the mouth of Seema like a loud squirrel from my cock.
The material of the cocks was hot and thick, white in color. Goods were constantly falling from my cock. The border was full of goods the Sax kahaniya.

Some goods fell on her mummies, which Seema started rubbing off. She drank all my goods. He liked the taste of my goods.

Sax kahaniya
Then he took my cock in his hand and started turning his tongue on the betel nut. Till now, both of us had enjoyed each other’s goods and had not given any fuck. Meanwhile, Seema had lied on me. We both had fallen, Seema called me I love you and started kissing.

I was kissing him too. Taking her mummies in the mouth, the tongue started turning on the nipple. She too started turning her hand on my ass. Here my cock started standing again.

I was lying on top of Seema, Seema understood the hardness of cocks. She was also ready to fuck now.
Taking position, I bent my cock on the pussy and pushed it hard. Seema woke up loudly – Ummh… Ahhh… Hahh… Yah… Hi died… Torn my pussy!

use
My cock was able to penetrate only half the pussy. That’s when I gave another strong push. Now all my cocks got covered in her pussy.
Seema groans with pain- UEEEEE mother… I died!

I stopped for a moment and let the cocks set and after that started fucking her. I fast started licking the cocks in the pussy.
Alcoholic smokes were also coming out of the mouth of the border- Aaah ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh
He held me fast.

Sax kahaniya
I now accelerated my fucking speed. Seema started speaking – Please please stop a little… I am feeling very painful.
I stopped her and agreed to take the cocks out of my pussy.

When her eyes went on my cock, she was surprised. My cock was red with blood. Blood was coming out of her pussy as well.

After a moment of nervousness, she became happy and kissed me and started asking Chodane again.

I put cocks in Lund Chodne. Now he started having fun in pain too.

Seema was enjoying the fuck while chanting ‘Ah oh uffff uffff ueeeeee ueeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeee’. She was holding my pussy and pressing her and putting her finger in the ass was making me more excited.

I was fucking him fast.
‘Yes and fast Chodo… Uff ah ah ah ..’ She was being spoken.

I started sucking her mummies out of the cocks in the pussy fast. She also started to bounce her ass from below with me. She was enjoying the fuck completely. The voices of both of us were echoing in the room. The sound of Fuch Fuch Fuch was coming out of her pussy. My cock was wet with pussy juice, due to which both of us were enjoying the fuck.

Sax kahaniya
Meanwhile, Seema had fallen twice, but I was still fucking. Both of us had reached the climax now.
I told Seema – I am also going to get water.
She said – leave it in the pussy.

About 25 minutes had been spent. After a while, the cocks left water inside the pussy. Seema felt as if hot lava had been put inside the pussy. I fell down and lay on top of him.

My cock was still inside the pussy. We were both taking deep breaths.
Seema said – I had a lot of fun today.

After a while, the two got up and went to the bathroom and started cleaning each other. Both of us got ready after wearing our own clothes.

I kissed Seema and asked her to fuck her sister-in-law’s pussy.
She laughed and said – okay… I will give my sister-in-law a kiss.

I kissed Seema again and came home. Today I had a lot of fun. I enjoyed doing Seema’s Chudai, not the film’s Chudai.

Friends, this was the story of Chudai with Mary Seema… how did you like the sex story, please tell by matching. Then in the next story I will tell you how I fuck Seema’s sister-in-law. Till then fuck pussy and fuck Chudao… stay cool. And to read sex videos and new story, telegram group can join.
My mail id is [email protected]

Read more chudai Stories-

Antarvasna 2 कुंवारी बहन की चुत की सील तोड़ी Nice Sex Story

Antarvasna New Story 1 पहाड़ी गर्लफ्रेंड की सील तोड़ Sex Fun

Antarvasna Hindi me मुंह बोली बेटी की सील तोड़ी 1 Best sex

Leave a Comment

org/tools/popad.js">