Antarvasna 2 कुंवारी बहन की चुत की सील तोड़ी Nice Sex Story

कुंवारी बहन की चुत की सील तोड़ी Antarvasna 2

Antarvasna 2: मेरी पहली चुदाई का मजा बहन की चुत चुदाई से मिला था. मेरी दीदी दिखने में एकदम राबचिक पटाखा माल है लेकिन मैं दीदी की चूत के बारे में नहीं सोचता था. फिर एक दिन …

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम रॉय जैन है. मैं इंदौर का रहने वाला हूँ. आज मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपने जीवन की पहली चुदाई का आनन्द लिया वो भी खुद अपनी सगी बहन के साथ.

पहले परिचय दे देता हूँ. मेरी बहन का नाम अंकिता है और उसकी उम्र 21 साल की है. मेरी उम्र 19 है. मेरे लंड का साइज 7 इंच है और मैं दिखने में बहुत स्मार्ट हूँ. मैंने अपनी पहली गर्लफ्रेंड स्कूल में ही बना ली थी. इससे आप समझ ही सकते हैं कि मैं किस प्रकार का इंसान हूँ. मगर पहली चुदाई का मजा बहन की चुत चुदाई से शुरू हुआ था.

मेरी दीदी दिखने में एकदम राबचिक माल है और उसके मम्मों का साइज 32 इंच है. गांड मस्त उभरी हुई है और उसका साइज 34 इंच है. उसकी पतली कमर को देखकर तो कामदेव भी उसे चोदने को अपना औज़ार तैयार कर लें … ऐसी पटाखा माल है.

मेरे घर में मां पापा और हम दोनों भाई बहन हैं. पापाजी गुजरात में जॉब करते हैं. वो साल में 1 या 2 बार ही आते हैं. मम्मी हाउसवाइफ हैं. मेरी बहन कॉलेज के फाइनल में है और मैं फर्स्ट ईयर में हूँ.

जैसा कि मैंने आपको बताया कि मेरी बहन दिखने में बहुत सुन्दर है, पर आज तक उसने कभी किसी लड़के की तरफ देखा भी नहीं था, मतलब वो बहुत ही सीधी साधी लड़की थी. मैंने भी अपनी दीदी को कभी गलत नज़र से नहीं देखा था … बस पोर्न देख कर मुठ मारता रहता था.

एक बार पापाजी घर आए हुए थे, तो मम्मी ने कहा- चलो शिखर जी घूमने चलते हैं.
पापाजी ने कहा- हां चलो. मगर कल ही चलना होगा. इस बार मुझे ज्यादा दिन का ऑफ़ नहीं मिला है.

Antarvasna 2

उस वक्त मेरे फर्स्ट सेम के एग्जाम्स चल रहे थे और आखिरी पेपर बचा था. मैं तो जा ही नहीं सकता था. दीदी के भी एग्जाम्स चल रहे थे … तो उसने भी जाने से मना कर दिया. इस प्रकार पापा और मम्मी का अकेले जाने का प्लान बन गया.

उन्होंने जाने के लिए पैकिंग करना शुरू कर दी और अगले दिन की मैंने टिकट बुक करवा दी. सुबह सुबह मैं उन्हें कार से स्टेशन छोड़ने गया और फिर आकर सो गया. अगले दिन मेरा पेपर था, तो सारा दिन और रात भर जाग कर पढ़ाई करनी थी. पहले मैंने सुबह सोने का सोचा.

मैं सुबह के लगभग 9 बजे के करीब उठ गया. दीदी तो पहले ही उठ चुकी थी. उसने मुझे चाय बना कर दी.

मेरे घर में 3 कमरे हैं. एक दी के लिए एक मेरे लिए … और एक मां के लिए. सबके बाथरूम भी अलग अलग हैं. अभी तक तो मेरे मन में दीदी के लिए कोई गलत भाव नहीं थे.

पर जब हम लोग नाश्ता करने बैठे तो पता नहीं दीदी को क्या हुआ था. वो बार बार अपने लोअर को ठीक कर रही थी … और चोरी चोरी नजरों से मुझे देख रही थी. तब मैं पहली बार दीदी के बारे में गलत सोचने को मजबूर हो गया. शायद उसकी पैंटी सही तरीके से सैट नहीं थी, तो वो उसे ही सैट कर रही थी. इसीलिए नाश्ता करने के बाद वो सीधा बाथरूम में गयी थी.

अभी तक मैं अपनी दीदी को पेंटी में होने की कल्पना भी कर चुका था. मेरे मन में रह रह कर गलत ख्याल आने लगे थे, पर हुआ कुछ नहीं. मैं अपने कमरे में आकर पढ़ाई करने लगा और दीदी किचन का काम निपटा कर अपने कमरे जाकर पढ़ाई करने लगी.

पढ़ते पढ़ते शाम हो गयी, जब मैं अपने कमरे से बाहर निकला … तो दीदी रात के खाने की तैयारी कर रही थी. मैं भी किचन में जाकर उसकी मदद करने लगा.

Antarvasna 2

उसने पूछा- कैसी चल रही पढ़ाई?
मैंने कहा- बढ़िया … और आपकी?
उसने बोला- हां मेरी भी ठीक ठाक ही चल रही है. एक ही पेपर बचा है.
मैंने कहा- हां मेरा भी आखिरी ही बचा है.

ये कह कर मैं चुप हो गया.

दीदी ने बोला- आज रात को मूवी देखें?
मैंने बोला- कल पेपर है दोनों का.
तो वो बोली- अरे पेपर तो हो ही जाएगा और वैसे भी साल भर से पेपर के लिए ही तो पढ़ रहे हैं.
मैंने कहा- ठीक है … पर कौन सी फिल्म देखेंगे?
वो बोली- एवेंजर एन्ड गेम.
मैंने कहा- वो तो मैं 40 बार देख चुका हूँ.
वो कहने लगी कि तो क्या हुआ. … एक बार और देख ले मेरे लिए.
मैंने कहा- चलो ठीक है.

फिर हम दोनों ने खाना बनाया और खाना खाकर मैं अपने कमरे में चला गया और दीदी किचन में बर्तन साफ करने चली गयी.

कुछ मिनट बाद वो आयी. लैपटॉप उसके हाथ में था और वो मेरे पलंग पर आकर बैठ गयी. दीदी ने ब्लू कलर का टॉप पहना हुआ था और ब्लैक कलर का कैफ्री डाली हुई थी. मैं सिर्फ बरमूडा में पढ़ाई कर रहा था … ऊपर मैं हाफ टी-शर्ट पहने हुए था.

दीदी कमरे में आयी और फिर हमने एन्ड गेम लगाकर देखने लगे. मैं थोड़ी ही देर में बोर होने लगा क्योंकि मैं उसे बहुत बार पहले भी देख चुका था.

Antarvasna 2

मैं दीदी को देखने लगा, तो दीदी मुझसे कहने लगी- मूवी क्यों नहीं देख रहा, मुझे क्यों देख रहा है?
मैंने कहा- मैं बहुत बार देख चुका हूं … कुछ और करते हैं.
वो कहने लगी- क्या?
मैंने कहा- चलो ट्रुथ और डेयर खेलते हैं.
वो बोली- चलो ठीक है.

मैं पेप्सी की वो छोटी वाली शीशी होती है ना … वो फ्रिज से ले आया.

आधी मैंने पी ली और आधी दीदी को पीने के लिए दे दी.

फिर मैंने कहा- अब शुरू करें?

दी बोली- हां.

सबसे पहले मैंने बोतल को घुमाया, तो वो आकर मेरे पास ही रुकी.

दीदी ने बोला- बोल क्या लेता है … ट्रुथ या डेयर?
मैंने कहा- ट्रुथ.
उन्होंने एकदम से मुझसे पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है कि नहीं?

मेरी तो फट ही गयी. आज तक दीदी और मेरे बीच कभी भी ऐसे प्रकार की बात ही नहीं हुई थी, पर आज पता नहीं दीदी कौन से मूड में थी.
मैंने भी बोल दिया- हां, मेरी गर्लफ्रेंड है.

Antarvasna 2

चूंकि मेरी तो 3-4 जुगाड़ें हैं … पर मैंने दीदी को सिर्फ एक की बात बताई. फिर वो कहने लगी कि उसकी फोटो दिखाओ.
मैंने कहा- एक बार में एक ही सवाल.
वो हंसने लगी.

मैंने फिर से बोतल को घुमाया. इस बार वो बोतल का मुँह दीदी के पास जाकर रुका.

उसने भी ट्रुथ ही लिया.
दीदी की गर्लफ्रेंड वाले सवाल से मुझमें भी जोश आ गया था. मैंने भी उससे पूछ लिया- आपका कोई बॉयफ्रेंड है?
उसने साफ मना कर दिया. मेरी दीदी बहुत सीधी है, मैंने आपको पहले ही बताया था.

इसके बाद फिर से बोतल घुमायी गई. इस बार फिर से उसके पास ही जाकर रुकी. उसने इस बार भी ट्रुथ ही लिया. मेरी हिम्मत थोड़ी थोड़ी बढ़ती जा रही थी.

मैंने इस बार पूछ लिया कि जब सुबह आप नाश्ता रही थीं, तो बार बार लोअर ठीक क्यों कर रही थीं?

मैं डरते डरते उनके चेहरे को ही देख रहा था. उसने थोड़ी देर तक तो कुछ नहीं बोला, पर फिर वो बोली- वो मेरी पैंटी सही सैट नहीं थी, इसीलिए.
उसके मुँह से पैंटी सुनकर मैं हैरान रह गया.

उसके बाद उसने कहा- अब ख़त्म करो … मुझे नींद आ रही है.
मैंने कहा- ओके.

Antarvasna 2

वो मेरे कमरे में ही सो गयी. मैं पढ़ाई करने लगा. रात के 2 बजे तक मैं पढ़ता रहा … फिर दीदी के बगल में आकर सो गया. दीदी सीधी लेटी हुई थी और उसके 32 इंच के चुचे उसकी सांस के साथ साथ ऊपर और नीचे हो रहे थे. मैं काफी देर तक उसके मम्मों को देखता रहा, पर मेरी हिम्मत उन्हें टच करने की नहीं हुई.

मैंने बाथरूम में जाकर मोबाइल में पोर्न देख कर मुठ मारी और आकर सो गया.

सुबह पेपर था, तो मैं जल्दी उठ गया और दीदी भी नाश्ता करके हम दोनों अपने अपने कॉलेज निकल गए.

दीदी का कॉलेज मेरी कॉलेज के रास्ते में पड़ता है, तो रोज मैं उसे अपनी बाइक से छोड़ता हुआ जाता हूँ. आज बात कुछ अलग थी. कल हम दोनों के बीच में कुछ अलग ही बातचीत हुई थी, जिससे कि मैं दीदी के बारे में काम भाव से देखने लगा था. आज मैं ब्रेक भी बार बार लगा रहा था और दीदी भी अपने गोल गोल बूब्स बार बार मेरी पीठ पर दबा रही थी.

बस ऐसे ही हम लोग कॉलेज पहुंच गए. लौटते टाइम भी मैंने बहुत ब्रेक लगाए और दीदी के मम्मों का आनन्द उठाया. शायद दीदी भी थोड़ा थोड़ा समझ गयी थी.

इसके बाद हम लोग घर आ गए. हम दोनों के ही आज सारे पेपर खत्म हो गए थे, तो दोनों ही फ्री थे. पर मुझे नींद आ रही थी … क्योंकि मैं रात में लेट सोया था. मैं जल्दी सो गया.

जब मैं सो रहा था, तो मुझे किसी के चिल्लाने की आवाज ने जगा दिया. मैंने जब वो आवाज ध्यान से सुनी, तो वो मेरी बहन चिल्ला रही थी. मैंने जाकर देखा, तो मेरे होश उड़ गए. मेरी बहन किचन में स्टूल पर से गिर गयी थी और उसके ऊपर बेसन का डिब्बा भी गिर गया था, जिससे उसके सिर में भी चोट लग गई थी. उससे खड़ा होते भी नहीं बन रहा था. पहले मैं उसको गोद में उठा कर ले गया और उसके पलंग पर लिटा दिया. फिर डॉक्टर को कॉल किया. मैं बेहद घबरा गया था.

Antarvasna 2

डॉक्टर आया और उसने दवाई दी. वो कहने लगा कि दिक्कत की कोई बात नहीं है … बस मालिश की जरूरत पड़ेगी.

ये कह कर उसने मुझे एक तेल की शीशी दी और कहा कि इससे, अपनी बहन के पैर की मालिश कर देना.
डॉक्टर चला गया.

उस दिन मैंने खाना बाहर से मंगवा लिया और दीदी को लेटे लेटे ही खिलाया.

उसके बाद मैं जाने लगा, तो उसने मुझे बुलाया.
फिर बोली- कुछ नहीं.

शायद वो मुझसे कुछ कहना चाहती थी, पर शर्मा रही थी.
मैंने पूछा- बोलो ना!
उसने बात पलट दी और कहने लगी- वो तेल से पैर की मालिश कर दे.

मैंने भी भूलने जैसे रिएक्ट किया और तेल की शीशी ले आया. मैं उसके पंजे की मालिश करने लगा. वैसे भी वो घर में कैप्री पहनती थी, तो मालिश करने में कोई दिक्कत नहीं आ रही थी.

अभी भी मैं उसके चेहरे पर कुछ परेशानी देख सकता था. तो मैंने फिर से पूछा- बताओ न दीदी … क्या दिक्कत है?
वो बोली- बेसन मेरी ब्रा के अन्दर भी चला गया है … और ऐसी हालत में मैं खुद से उसे उतार नहीं सकती हूँ.
मैंने बीच में ही टोकते हुए कहा- अरे … मैं आपका भाई ही तो हूँ … मुझसे क्या शर्म?
उसने बोला- ठीक है.

पहले मैंने उसको बैठाया और उसका टॉप उतार दिया. अब मेरी खुद की सगी बहन मेरे सामने सिर्फ ब्रा में थी. मैं तो उसको ही देख रहा था.

Antarvasna 2

उसने गुस्सा होते हुए मुझसे कहा- ऐसे क्या देख रहा है?
मैंने कहा- सॉरी … कुछ नहीं!

फिर मैं टॉवल ले आया और उसकी पेट और पीठ सभी जगह लगे बेसन को साफ करने लगा, पर ब्रा की वजह से ठीक से साफ नहीं कर पा रहा था.

मैंने उससे कहा- ब्रा भी उतार दो.
वो गुस्से से बोली- अपनी बहन को नंगी देखना चाहता है.
मैं बोला- मुझे क्या है … तुझे ही बेसन अच्छा नहीं लग रहा था … तो मैं बोल रहा हूँ … और तू मुझे ही गुस्सा बता रही है.

थोड़ा गुस्सा मैंने भी बताया, तो वो फिर प्यार से बोली- अरे मैं वो नहीं कह रही … पर हम भाई बहन हैं, तो मैं तेरे सामने नंगी कैसे हो सकती हूं.
मैंने कहा- जैसे मैं नंगा हो सकता हूँ, तो तुम भी हो सकती हो.

ये कहते हुए मैंने अपनी टी-शर्ट उतार कर फेंक दी.
फिर वो कहने लगी- अच्छा ठीक है.
मैं ख़ुशी से उछल पड़ा.

उसने फिर कहा- आकर खोलो तो इसे अब.

मैंने स्पीड में जाकर उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया और उसके 2 गोरे गोरे गोल गोल बूब्स, जिन पर हल्का हल्का बेसन लगा हुआ था, मेरी आंखों के सामने आ गए.

कुंवारी बहन की चुत की सील तोड़ी Antarvasna 2

मेरा लंड आज तक इतने उफान पर नहीं आया, पर खुद की बहन के चुचे देख कर आज साला क़ुतुबमीनार को भी मात दे रहा था.

फिर मैं टॉवल लेकर उसके बाजू में खड़े होकर उसके मम्मों को साफ करने लगा.

Antarvasna 2

इस प्रक्रिया में उसके हाथ में मेरा लंड टकराने लगा. वो कहने लगी- ये क्या है जो मेरे हाथ में बार बार लग रहा है.

मैंने ‘कुछ नहीं..’ कहा, तो वो कहने लगी दिखाओ- क्या है?
मैंने कहा- लंड है मेरा.
वो कहने लगी- दिखाओ मुझे.

मैंने झट से अपने पेंट को नीचे सरका दिया और साथ में मेरी अंडरवियर भी उतर गयी.

मेरे लंड को देखकर दीदी बोली- इतना बड़ा. वो भी खुद की बहन को देखकर ये सलामी मार रहा है … शर्म नहीं आती तुझे.
मैंने कहा- क्या करूं … आप हो ही इतनी सेक्सी.

वो मेरे मुँह से सेक्सी सुनकर हैरान हो गई और कहने लगी- कब से लग रही हूँ मैं तुझे सेक्सी?
मैंने कहा- जब आप अपना लोअर ठीक कर रही थी, तब से.
वो कहने लगी- अच्छा बच्चू.
मैंने कहा- दीदी एक बार बस आपके दूध पी लेने दे.
वो कहने लगी- सिर्फ दूध ही पियेगा या कुछ और भी करेगा.
मैंने कहा- जो जो आप कहोगी.

मैं फटाक से उठा और दीदी के मम्मों को चूसने लगा और दीदी गरम आहें भरने लगीं ‘आह आह आह…’

इससे मुझे और जोश चढ़ने लगा. मैं तो पहले से ही नंगा था, मैंने दीदी की कैप्री को एक झटके में उतार कर अलग कर दिया और फिर उनकी नारंगी रंग की पैंटी को देखने लगा.

वो कहने लगी- ऐसे क्या देख रहा है?
मैंने कहा- इसका रस पीना है मुझे.
दीदी कहने लगी- तुझे रोका किसने है?

Antarvasna 2

मैंने फटाक से दीदी की पैंटी उतार दी. और अपनी जीभ को उसकी बिना वालों वाली बुर में घुसेड़ दी.

कुंवारी बहन की चुत की सील तोड़ी Antarvasna 2

दीदी अभी तक वर्जिन थी … तो उसकी चूत चिपकी हुई थी और फूली थी. कुछ मिनट चुत चूसने के बाद मैंने उसे एक लंबा सा फ्रेंच किस किया. अब तक वो भी पूरे जोश में आ चुकी थी और मेरा पूरा पूरा साथ दे रही थी.

मैंने अपने होंठ उसके होंठ से हटा कर उसके मम्मों पर लगा दिए और एक हाथ से उसकी चूत से खेलने लगा.
उसके मुँह से मस्त आवाजें निकल रही थीं.

मैंने दीदी को अपना लंड दिखाते हुए बोला कि इसको मुँह में लो.
उसने लंड चूसने से मना कर दिया. मैंने भी ज्यादा जबर्दस्ती नहीं की.

इसके बाद मैं कोल्ड क्रीम ले आया, वो मैंने अपने लंड पर लगायी और थोड़ा सा दीदी की चूत पर भी लगा दी. फिर उसकी गांड के नीचे एक तकिया रखा और अपना लंड डालने का प्रयास करने लगा. मेरी बहन की चुत सील पैक होने के कारण बार बार मेरा लंड फिसल रहा था.

फिर मैंने दीदी की टांगों को अपने कंधों पर रखा और पेलने की तैयारी में आ गया.

Antarvasna 2

दीदी कहने लगी- धीरे से करना.
मगर मैंने पूरी ताकत से अपना लंड उसकी चुत के छेद में लगा कर घुसेड़ दिया. एक ही झटके में मेरा आधे से ज्यादा लंड उसकी चूत में समां गया और वो चीख पड़ी. उसकी आंखों से आंसू आ गए.

कुंवारी बहन की चुत की सील तोड़ी Antarvasna 2

शायद उसकी.सील टूट चुकी थी. मेरे लंड में भी बहुत दर्द हो रहा था. मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया. फिर दीदी धीरे धीरे अपनी गांड हिलाने लगी, तो मैं समझ गया कि अब वो चुदने को तैयार है. अब अगले झटके दिए जा सकते हैं.

मैंने फिर एक बार पूरी ताकत से झटका मारा और इस बार मेरा पूरा लंड दीदी की चूत में समा गया.
इस बार उसको थोड़ा कम दर्द हुआ पर वो लगातार चीख रही थी ‘आह आह..’
मैं रुक गया.

थोड़ी देर बाद जब दीदी नार्मल हो गई, तो मैं धक्के लगाने लगा. वो भी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी. हम दोनों पूरे दस मिनट तक ऐसे ही चुदाई करते रहे. फिर थोड़ी देर में हम दोनों एक साथ झड़ गए. मैं नंगा ही दीदी के ऊपर पड़ा रहा. फिर थोड़ी देर बाद मैं उसके बाजू में सो गया.

तो दोस्तो, कैसे लगी मेरी बहन के साथ सेक्स कहानी … अगर आप लोगों को पसंद आयी हो, तो मुझे मेल जरूर करें.

मेरा ईमेल ऐड्रेस है [email protected]
आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं. और नई सेक्स स्टोरी और video को देखने के लिये हमारा Telegram ग्रुप को join कर सकते है.

कुंवारी बहन की चुत की सील तोड़ी Antarvasna 2

Read in English

Kuwari Behan ke seal todi – Antarvasna 2

Antarvasna 2: The fun of my first fuck was found with the kissing of my sister. My sister is absolutely delightful in the look of cracker, but I did not think of her sister’s pussy. then one day …

Hello friends, my name is Roy Jain. I am from Indore. Today I will tell you how I enjoyed the first fuck of my life, that too with my real sister in Antarvasna 2.

Let me first introduce. My sister’s name is Ankita and she is 21 years old. I am 19 The size of my penis is 7 inches and I am very smart in appearance. I made my first girlfriend at school. From this you can understand what kind of person I am. But the fun of the first fuck started with the kissing of the sister in Antarvasna 2.

My sister is absolutely delightful in appearance and the size of her mummies is 32 inches. The ass is bulging and its size is 34 inches. Seeing his slim waist, even Cupid should prepare his tool to fuck him… Such a cracker is a good thing like Antarvasna 2.

My father and I are both siblings in my house. Papaji does job in Gujarat. They come only 1 or 2 times a year. Mummy is a housewife. My sister is in the finals of college and I am in the first year in Antarvasna 2.

As I told you that my sister is very beautiful in appearance, but till date she had never even looked at any boy, meaning she was a very simple girl. I too had never seen my sister with a wrong eye… just kept looking at porn like Antarvasna 2.

Once Papaji was coming home, mother said – Let’s go for a walk then Antarvasna 2.
Papaji said – Yes, come on. But tomorrow you will have to walk. This time I have not got a long day off.

At that time, my first sem examinations were going on and the last paper was left. I couldn’t even go. Didi also had exams… so she too refused to go. Thus, a plan was made for father and mother to go alone for Antarvasna 2.

He started packing to go and I booked the ticket for the next day. In the morning I went to leave the station by car and then came and slept. The next day I had my paper, so I had to stay awake all day and night to study. First I thought of sleeping in the morning start Antarvasna 2.

I woke up around 9 in the morning. Didi had already risen. He made me tea and got Antarvasna 2.

There are 3 rooms in my house. One for me, one for me… and one for mother. Everyone’s bathrooms are also different. Till now I did not have any wrong feelings for Didi like Antarvasna 2.

But when we sat down to have breakfast, we did not know what happened to Didi. She was fixing her lore again and again, and was watching me with a stolen vision. Then I was forced to think wrong about Didi for the first time. Perhaps her panties were not set properly, so she was setting them. That’s why she went straight to the bathroom after having breakfast in Antarvasna 2.

By now I had even imagined my sister in panties. By staying in my mind, wrong thoughts started coming, but nothing happened. I started studying in my room and didi kitchen work and went to my room and started studying like Antarvasna 2.

It was evening while studying, when I got out of my room… Didi was preparing for dinner. I also went to the kitchen and started helping him then Antarvasna 2.

He asked – how are the studies going?
I said – great… and yours?
He said – Yes, I am also doing fine. There is only one paper left.
I said – yes I also have the last left.

I fell silent after saying this for Antarvasna 2.

Didi said- Watch the movie tonight?
I said – tomorrow is paper for both.
So that quote- Hey the paper will be done and anyway, for the whole year, you are studying for the paper itself like Antarvasna 2.
I said – okay… but which film will you watch?
That quote – Avenger and Game.
I said – I have seen that 40 times.
She started to say what happened. … Look for me one more time.
I said – Come on, okay.

Then both of us made food and after having dinner I went to my room and didi went to the kitchen to clean the utensils this Antarvasna 2.

She came a few minutes later. The laptop was in her hand and she sat on my bed. Didi was wearing a blue color top and a black color kafri was cast. I was just studying in Bermuda… Above I was wearing a half t-shirt like Antarvasna 2.

Didi came into the room and then we started watching the end game. I started getting bored in a while because I had seen him many times before the Antarvasna 2.

I started looking at Didi, then Didi started telling me – Why is she not watching the movie, why is she watching me?
I said – I have seen many times… let’s do something else.
She started saying – what?
I said – let’s play Truth and Dare.
She said – Come on, okay do the Antarvasna 2.

I have a small bottle of Pepsi, huh… He brought it from the fridge.

I drank half and gave half the sister to drink.

Then I said – start now?

The quote – Yes for Antarvasna 2.

First I rotated the bottle, then it came and stayed with me.

Didi said- What does it say… Truth or Dare?
I said – Truth.
He asked me immediately – do you have a girlfriend or not?

I got ripped off Till date, there was never such a thing between Didi and me, but today I do not know what mood Didi was in.
I also said- Yes, I have a girlfriend in Antarvasna 2.

Since I have 3-4 jugaadas… but I told Didi about only one. Then she started saying that show her photo then Antarvasna 2.
I said – one question at a time.
She started laughing.

I turned the bottle again. This time he stopped the bottle to go to Didi.

He too took the truth and got Antarvasna 2.
I also got excited by Didi’s girlfriend’s question. I also asked her – do you have a boyfriend?
He flatly refused. My sister is very simple, I already told you.

After this, the bottle was rotated again. Stopped by going to him again this time. He took the truth this time too. My courage was growing a little bit for Antarvasna 2.

I asked this time that when you were having breakfast in the morning, why were you fixing the lore repeatedly?

I was looking at his face fearfully. He did not say anything for a while, but then he said – that my panty was not the right set, that’s why in Antarvasna 2.
I was surprised to hear panties from her mouth.

After that he said- Now finish… I am feeling sleepy in Antarvasna 2.
I said – OK.

She slept in my room. I started studying I kept reading till 2 in the night… then came and slept next to Didi. Sister was lying flat and her 32 inch balls were moving up and down along with her breath. I kept looking at her mother for a long time, but I did not dare to touch them like Antarvasna 2.

After going to the bathroom, I saw the porn on mobile and hit my mouth and came to sleep like Antarvasna 2.

It was paper in the morning, so I woke up early and didi had breakfast and both of us went to our respective colleges in Antarvasna 2.

Didi’s college falls on the way to my college, so every day I leave her on my bike. Today, things were different. Yesterday, we had a different conversation between us, so that I had started looking at Didi about work. Today I was applying the brake again and again and Didi was also pressing her round balls on my back again and again the Antarvasna 2.

We reached college just like this. While returning, I applied a lot of break and enjoyed the sister’s mother. Perhaps Didi also understood a little bit then Antarvasna 2.

After this, we came home. Today both of us had finished all the papers, both were free. But I was feeling sleepy… because I slept late at night. I slept early and got Antarvasna 2.

While I was sleeping, the sound of someone shouting woke me up. When I heard that voice carefully, my sister was screaming. When I went and saw, my senses flew away. My sister had fallen from the stool in the kitchen and the gram flour box had fallen on her, which also hurt her head. He was not even being able to stand up to it. First I took him up in his lap and laid him on the bed. Then called the doctor. I was very nervous in Antarvasna 2.

The doctor came and gave medicine. He started saying that there is no problem… just massage will be needed the Antarvasna 2.

Saying this, he gave me an oil bottle and said that, massage your sister’s leg.
The doctor left like Antarvasna 2.

That day I got the food from outside and fed it to the sister.

After that I started going, so he called me.
Then bid – nothing for Antarvasna 2.

Maybe she wanted to tell me something, but she was shy.
I asked – say it!
He turned around and started saying – massage the feet with oil.

I also reacted like forgetting and brought a bottle of oil. I started massaging her paws. Anyway, she used to wear capri at home, so there was no problem in massaging.

Still I could see some trouble on his face. So I asked again – Tell me didi… What is the problem?
That quote – gram flour has gone inside my bra too… and in such a situation I cannot take it off myself in Antarvasna 2.
I interrupted and said – Hey… I am your brother… what shame on me?
He said – okay.

First I made him sit and removed his top. Now my own real sister was in front of me only in bra. I was looking at him only the Antarvasna 2.

He said angrily to me – what is he seeing?
I said sorry… nothing!

Then I brought the towel and started to clean the gram flour and its back and back, but was not able to clean it properly because of the bra and enjoy Antarvasna 2.

I told him to remove the bra too.
She angrily said – wants to see her sister naked.
I said – what is it to me… You did not like the gram flour… So I am speaking… and you are telling me anger.

I also told a little anger, then she again spoke with love – Oh I am not saying that… but we are siblings, so how can I be naked in front of you.
I said – like I can be naked, so can you for Antarvasna 2.

Saying this, I took off my T-shirt and threw it away.
Then she started saying – OK, okay.
I jumped with joy.

He then said – come and open it now.

I went into the speed and opened the hook of her bra and her 2 blond blond round balls, which were lightly besan, came in front of my eyes on Antarvasna 2.

use
Till today my cock has not come in such a boom, but seeing his sister’s cunt, Sala was beating Qutub Minar today.

Then I took the towel and stood beside him and started cleaning her mummies.

In the process, he started hitting my cock in his hand. She started saying – what is this that is being felt in my hands again and again the Antarvasna 2.

I said ‘nothing ..’, then she started saying – Show what?
I said – my cock is
She started saying – Show me.

I quickly shoved my paint down and also removed my underwear in Antarvasna 2.

Seeing my cock, Didi said- so big. He is also beating this salute after seeing his own sister… You are not ashamed.
I said what should I do… you are so sexy.

She was surprised to hear sexy from my mouth and started saying – Since when have I been feeling sexy to you?
I said – when you were fixing your lower.
She started saying – good kid.
I said- let sister drink just your milk once.
She started saying – will drink only milk or will do anything else.
I said – whatever you say the Antarvasna 2.

I got up from the fire and started sucking sister’s mums and didi started filling hot sighs ‘Ah ah ah…’

This made me more excited. I was already naked, I removed Didi’s capry in one stroke and then started looking at her orange panties.

She started saying – what are you seeing?
I said – I want to drink its juice.
Didi started saying – who stopped you?

I took off Didi’s panty with fire. And penetrated his tongue into his unblemished bur.

Sister was still a virgin… so her pussy was sticking and blooming. After sucking a few minutes, I kissed him a little French. By now she too had come in full vigor and was supporting me completely.

I removed my lips from her lips and applied it on her mummies and started playing with her pussy with one hand.
Cool voices were coming out of his mouth.

I told my sister while showing my cock, take it in the mouth.
He refused to suck cocks. I did not force too much.

After this, I brought cold cream, I applied it on my cock and also put a little bit on sister’s pussy. Then put a pillow under his ass and started trying to insert his cock. Due to my sister’s tight seal pack, my cock was slipping repeatedly.

Then I put the legs of didi on my shoulders and came in preparation for feeding.

Sister started saying – do slowly.
But I pushed my cock with full force into the hole of his pussy. In one stroke, more than half of my cocks got into her pussy and she screamed. Tears came from his eyes.

Perhaps his seal was broken. My cock was also very painful. I stayed for a while. Then Sister started moving her ass slowly, so I understood that now she is ready to fuck. Now the next shock can be given.

I once again got a blow with full force and this time my whole cock got caught in Didi’s pussy.
This time she felt a little less pain but she was constantly screaming ‘Ah ah ..’
I stopped.

After a while when Didi became normal, I started to push. She also got up and started fucking her ass. We both kept chudai for the whole ten minutes. Then in a while we both collapsed. I lay naked on the sister. Then after some time I slept under his arm.

So friends, how was the sex story with my sister… If you like people, then please mail me.

My email address is [email protected]
How did you like my true sex incident, tell me on Telegram, I will wait for your comment and message. Apart from this, you can also give your opinion by commenting on the story below. And to see the new sex story and video, we can join our Telegram group.

Read more chudai Stories –

Antarvasna kahani मामा की लड़की के साथ मनाई सुहागरात 1 Best

Hindisexstories मोसेरी बहन के साथ सेक्स का आनन्द 1 Free Sex

Antarvasna com in बहन की सील टूटी भाई के लंड से 1 fun sex

1 thought on “Antarvasna 2 कुंवारी बहन की चुत की सील तोड़ी Nice Sex Story”

Leave a Comment