Follow my blog with BloglovinMastram antarvasna भाभी ने करवाई 1 पड़ोसी से चुदाई Free Sex

Mastram antarvasna भाभी ने करवाई 1 पड़ोसी से चुदाई Free Sex

भाभी ने करवाई 1 पड़ोसी से चुदाई Mastram antarvasna

Mastram antarvasna: एक सेक्सी प्यासी भाभी के पति उसे रोज नहीं चोदते थे जबकि वो कॉलेज में अपने यारों से रोज चुदती थी. तो उसने अपने पड़ोस के लड़के से यारी कर ली.

मेरा नाम सुनीता है. मेरा जिस्म और मेरा फिगर बहुत सेक्सी है. मैं एक हाउसवाइफ हूँ. मेरी शादी से पहले भी मेरे कई ब्वॉयफ्रेंड थे इसलिए मैं रोज किसी ना किसी के साथ सेक्स कर लेती थी.

मेरे पति जब मुझे नहीं चोदते हैं, तो मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ चुदने की बात करती हूँ. मैं रोज सेक्स का मजा करना चाहती हूँ, लेकिन मेरे पति रोज मेरे साथ सेक्स नहीं करते हैं.

मैं ससुराल में ब्वॉयफ्रेंड भी नहीं बना सकती हूँ क्योंकि अगर ये बात मेरे पति को पता चल जाये तो हम दोनों के बीच झगड़ा होने लगेगा. वैसे मेरे पड़ोस में कई लोग मुझे लाइन मारते हैं, लेकिन मैंने ये बात अपने पति को नहीं बताई है क्योंकि मुझे उनमें से कुछ मर्द पसंद थे और मैं चाहती थी कि ये मुझे चोद कर मेरी सेक्स की प्यास को बुझाएं.

मुझे ब्लू फिल्म देखने की आदत है. मेरा एक ब्वॉयफ्रेंड मुझे हमेशा ब्लू फिल्म दिखाता था. मेरे पति जिस दिन मुझे नहीं चोदते हैं, उस दिन मैं अपने मोबाइल में ब्लू देख लेती हूँ और अपनी चूत में उंगली कर लेती हूँ.

मेरी जब शादी हुई थी, तब मैं सोचती थी कि अपने पति के साथ ही सेक्स करूंगी और अपने ब्वॉयफ्रेंड लोग को भूल जाऊँगी. लेकिन ये मेरा दुर्भाग्य निकला कि मेरे पति मुझे रोज नहीं चोदते थे. इसी के चलते मेरा चक्कर मेरे पड़ोस के एक लड़के से चलने लगा.

यह लड़का शादीशुदा था और मेरे घर के बगल में ही रहता था. वो मुझे बहुत दिन से लाइन मार रहा था. मैंने भी उसको देख कर मुस्कुराना शुरू कर दिया. मुझे चूंकि अपने पति से चुदाई का मजा नहीं मिल रहा था, तो मैंने सोच लिया था कि मैं अपने इस पड़ोसी से चुदूंगी और अपनी चूत की प्यास को शांत करूंगी.

मेरे पति जब ऑफिस निकल जाते थे, तो मेरा और उस पड़ोसी लड़के के बीच में नजरों से बात होने लगी थी. उसका नाम संजय था. वो बिज़नेसमैन था. वो मुझे अच्छा भी लगता था.

Mastram antarvasna

वो तो मुझे बहुत पहले से ही लाइन दे रहा था, मैं ही अपने पति के कारण रुकी हुई थी. जब पति से मैं संतुष्ट नहीं हुई, तो मैं भी उसको लाइन देने लगी.

ये बात आप भी जानते हैं कि जब दो लोग एक दूसरे को चाहने लगते हैं, तो बात बन जाती है. हम दोनों लोग की भी बात बन गयी.

हम दोनों का घर बगल बगल में था इसलिए हम दोनों छत पर जाकर एक दूसरे से बात करने लगे. वो अपनी छत से मुझसे बात करता था और मैं अपनी छत से उससे बात करती थी. अब हम दोनों बहुत जल्द एक दूसरे के करीब आ गए.

लेकिन इसी बीच मेरे पति को शक होने लगा था कि मैं उनके जाने के बाद किसी से बात करती हूँ. इसलिए कुछ दिन तक हम दोनों ने ठीक से बात नहीं की.
पर जब भूसा और पेट्रोल का साथ हो तो आग कब तक नहीं लग सकेगी.

मैं और संजय, हम दोनों एक दूसरे से करीब आते गए. संजय को मेरी बॉडी का फिगर भी पता चल गया था. मैंने उसको अपने बारे में बता दिया था.

हम दोनों में रोज सेक्स और चुदाई वाली बातें होने लगी थीं. उसने मुझे बहुत बार ब्रा और पेंटी गिफ्ट भी किया था.
मेरे पति पूछते थे कि ये कहाँ से आई.
मैं बोल देती थी कि मैं खरीद कर लायी हूँ.

संजय मुझसे बोलता था कि मुझे तुमको ब्रा और पेंटी में देखना है.
मैं उसको बोल देती थी कि जिस दिन मौका मिलेगा, उस दिन ब्रा और पेंटी पहन कर दिखा दूंगी.

Mastram antarvasna

मेरे पति दिन पर दिन अपने ऑफिस के काम में व्यस्त रहने लगे थे. उनको अब घर से कोई लेना देना नहीं रह गया था. वो सुबह खाना खाकर ऑफिस चले जाते थे और पूरा दिन वहीं रहते थे.
इधर मैं और संजय हम दोनों छत पर जाकर बात करते थे. संजय के घर में उसकी बीवी के होने के कारण वो मेरे घर में आकर मुझे नहीं चोद पा रहा था. दिन में बहुत से लोग आते भी थे, इसलिए भी मैं उसको अपने घर नहीं बुला पा रही थी.

जब कभी हम दोनों रास्ते में मिल जाते थे, तो लोगों की नजरों से छुप कर एक दूसरे से बात कर लेते थे. संजय मुझे चोदना चाहता था. क्योंकि वो हमेशा मुझे हवस भरी नजरों से देखता था. मेरे अन्दर भी चुदास थी. मैंने बहुत दिनों से अपने पति के साथ सेक्स नहीं किया था, तो मुझे भी सेक्स करने का बड़ा मन कर रहा था.

हम दोनों को बस मौका नहीं मिल पा रहा था कि कैसे मिल कर सेक्स कर लें. इस बीच सिर्फ एक दो बार छत पर ही किस वगैरह किया था. इससे तो मेरे अन्दर की चुदास और भी ज्यादा भड़क गई थी. संजय अपनी छत से मेरी छत पर आ जाता था और मुझे अपनी बांहों में कस कर खूब किस करता था.


वो मेरे होंठों को इतना अच्छे से चूसता था कि मैं गरम हो जाती थी. साथ ही संजय मेरे मम्मों को खूब मींजता था. इस सबसे तो मुझे ऐसा लगता था कि वो मुझे छत पर ही नंगा करके चोद दे. मगर आजू बाजू की छत से सब कुछ खुला दिखता था, इसलिए मैं मनमसोस कर रह जाती थी

इसी तरह दिन कट रहे थे. मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि किस तरह से अपनी चुत का पानी निकलवा लूं.

फिर एक दिन मेरे पति को ऑफिस के काम से बाहर जाना पड़ा. वैसे तो वो हमेशा ही कभी कभी बाहर जाते रहते थे. लेकिन इस बार काफी दिनों बाद उनका बाहर जाना हो रहा था.

वो दो दिन के बाद ऑफिस के काम से बाहर चले गए. उनको कुछ दिनों तक बाहर ही रहना था. मैं उनको छोड़ने के लिए स्टेशन गयी थी. उनको छोड़ कर मैं घर वापस आ गई और घर में अकेली थी.

Mastram antarvasna

आज मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. मेरा मन कर रहा था कि अभी संजय को बुला लूं और उसके लंड से चुदवा कर अपनी चूत को शांत कर लूं.

मेरे पति दो चार दिन के बाद आने वाले थे, तो मैं सेक्स करने के लिए एकदम फ्री थी. मैंने ये बात संजय को भी बता दी कि मेरे पति ऑफिस के काम से बाहर गए हैं.

वो भी खुश हो गया. संजय रात को छत के रास्ते से मेरे घर आ गया. मैं घर में अकेली थी. मैं और संजय हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे. संजय ने मेरी मैक्सी निकाल दी. मैं ब्रा और पेंटी में हो गयी.

मैंने आज संजय की दी हुई ब्रा और पेंटी पहनी थी. वो मुझे ब्रा और पेंटी में देख कर बहुत खुश हुआ. वो मुझे किस करने लगा और मेरे जिस्म को चूमने लगा.

उसने मेरी ब्रा और पेंटी को निकाल दिया और मैं उसके सामने नंगी हो गयी. वो मेरी चूची को चूसने लगा और मैं चुदासी होने लगी. वो मेरी चूची को चूसने के बाद मेरी चूत को चाटने लगा. मेरी चूत से पानी निकलने लगा. मेरी चूत का नमकीन पानी वो कुत्ते की तरह चाट कर रहा था.

मैं अब पूरी तरह से चुदासी हो गयी थी. मैं संजय के सामने बिल्कुल नंगी हो गई थी. मेरे ही साथ में वो भी नंगा हो गया था. वो मेरी चूत चाटने के बाद अपना लंड हिलाने लगा. संजय मुझे हवस भरी नजरों से देख रहा था.

फिर संजय मुझे अपना लंड चूसने के लिए कहने लगा.

Mastram antarvasna

मैं उसका लंड मुँह में लेकर चूसने लगी. वो मजे से अपना लंड चुसवा रहा था और मैं उसका लंड चूस रही थी.

भाभी ने करवाई 1 पड़ोसी से चुदाई Mastram antarvasna

संजय का लंड चूसने के बाद उसका लंड एकदम खड़ा हो गया और मेरी चुत में घुसने को बेताब दिखने लगा.

संजय ने मुझे चुदाई की मुद्रा में लिटाया और अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा.

उसका लंड लेते ही मैं मदहोश होने लगी. वो मेरी चूत में अपना पूरा लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा. मैं चुदासी हो कर उससे गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी.

आज संजय से चुदवाते समय मैं सोच रही थी कि हम दोनों नंगे हो कर मेरे बिस्तर पर सेक्स कर रहे हैं और मेरे पति ऑफिस के काम से बाहर गए हैं. मैं कैसी मस्ती से अपनी चूत चुदवा रही हूँ और हम दोनों एक दूसरे को सेक्स का मजा दे रहे हैं.

हालांकि ये बेबफाई थी, लेकिन मैं क्या करूं.. मेरे पति मुझे रोज नहीं चोदते थे, इसलिए आज मुझे अपने पड़ोसी से चुदना पड़ा.

Mastram antarvasna

मैं आज अपनी चुत में संजय का लंड लेकर बहुत अच्छा महसूस कर रही थी. मेरा पड़ोसी संजय मेरी चूत को चोद कर मेरे अन्दर की चुदास को मिटा रहा था. बहुत दिन के बाद मिले लंड से चुदने का मजा ही कुछ और था.

चुदाई करते हुए हम दोनों का जिस्म एकदम गर्म हो गया था और हम दोनों पसीने से भीग रहे थे. कुछ देर सेक्स करने के बाद हम दोनों अलग हुए और हांफने लगे.

दो मिनट बाद मैंने कूलर और पंखा दोनों लोग एक साथ में फुल पर कर दिए, जिससे हम दोनों की गर्मी शांत हो जाए.

दस मिनट बाद वो फिर से मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा. मेरी चूत को चोदते हुए वो मेरी चूची को भी चूस रहा था.

भाभी ने करवाई 1 पड़ोसी से चुदाई Mastram antarvasna

मैं मादक सिस्कारियां ले रही थी और मदहोश होकर उससे चुदवाए जा रही थी.

हम दोनों लोग पूरी मस्ती से सेक्स कर रहे थे. काफी देर हो गई थी. अब हम दोनों सेक्स करते करते थक गए थे. आखिरकार मेरा पानी निकल गया और मैं संजय से अलग हो गई.

झड़ जाने बाद मैं जल्दी से रसोई में गयी और दो गिलास ठंडा पानी लेकर आ गई. संजय बहुत प्यासा हो गया था. हम दोनों पानी पीने के बाद एक दूसरे को किस करने लगे और उसके बाद फिर से चुदाई करने लगे.

दस मिनट तक चुदाई का मजा लेने के बाद संजय झड़ गया और हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर लेट गए. मैंने घड़ी की तरफ देखा, तो संजय मुस्कुरा दिया. मुझे उसकी मुस्कराहट का राज समझ नहीं आया.

Mastram antarvasna

मैं ये समझ रही थी कि संजय को अपने घर जाना होगा. उसकी बीवी उसका इंतजार कर रही होगी. यही सोच कर मैं संजय से ज्यादा से ज्यादा मजा ले लेना चाह रही थी.

हालांकि इस वक्त रात थी और मुझे किसी बात की कोई चिंता नहीं थी. पति को आना नहीं था और रात में घर पर आने वाला भी कोई नहीं होता था. इसलिए मैं तो बेफिक्र थी, बस मुझे संजय की चिंता लग रही थी.

इधर संजय मेरी चूत को फिर से चाटने लगा. मैंने टांगें खोल दीं और चुत चटवाने का मजा लेने लगी.

भाभी ने करवाई 1 पड़ोसी से चुदाई Mastram antarvasna

संजय ने मेरी चूत को चाट कर साफ़ कर दिया और उसके बाद वो अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे चोदने लगा. चुदाई के कारण हम दोनों बहुत ज्यादा पसीने से भीगते जा रहे थे.

इस बार चुदाई करते हुए संजय ने बताया कि उसकी पत्नी अपने मायके गयी है.
यह जानते ही मैं एकदम खुश हो गई और अपनी टांगों से संजय की कमर को जकड़ कर उससे मस्ती से चुदवाने लगी.

मतलब ये था कि संजय भी अपने घर में अकेला था और मैं भी अपने घर में कुछ दिन के लिए अकेली थी.

संजय अपना लंड मेरी चूत में पूरा अन्दर तक डाल कर धक्के मार रहा था और साथ में मैं भी उसकी पीठ पर अपने नाख़ून गड़ा रही थी.

करीब बीस मिनट बाद मैं सेक्स करते हुए झड़ने लगी. संजय ने मेरी गांड के नीचे के तकिया रख दिया और मेरी दोनों लोग टांगों को अपने कंधे पर ले लिया. अब वो मेरी चूत में अपना लंड जल्दी जल्दी अन्दर बाहर करने लगा और हम दोनों लोग तेज गति से सेक्स करने लगे.

Mastram antarvasna

कुछ ही मिनट बाद हम दोनों झड़ने लगे और हम दोनों का पानी एक साथ ही निकल गया.

सेक्स करने के बाद बड़ी थकान होने लगी थी. मैं संजय को अपनी बांहों में लेकर बिस्तर पर गिर गई और हम दोनों सो गए.

एक घंटे बाद हम दोनों फिर से सेक्स करने लगे. इसके बाद भूख लग आई थी, तो मैं रसोई में खाना लेने के लिए चली गयी. हम दोनों ने खाना खाया और उसके बाद हम सो गए.

हम दोनों जब सुबह उठे, तो हम दोनों बिस्तर पर नंगे पड़े थे. हम दोनों लोग एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा रहे थे. आज मुझे बहुत दिन के बाद अच्छी नींद आई थी. सेक्स करने के बाद सोने का मजा ही कुछ और है.

मैं और संजय हम दोनों ने एक दूसरे को किस किया और उसके बाद मैं घर का काम करने लगी.

इस वक्त भी हम दोनों नंगे थे. मैं नंगी ही रसोई में गयी और संजय के लिए और अपने लिए कॉफ़ी बना कर ले आई. उसके बाद हम दोनों ने कॉफ़ी पी. कॉफ़ी पीने के बाद हम दोनों ही बाथरूम में गए और एक साथ नहाए. उसके बाद नाश्ता हुआ और संजय अपने काम पर चला गया.

मैंने अपने घर का काम किया और शाम होते ही संजय के आने का इन्तजार करने लगी.

जब तक मेरे पति बाहर से वापस नहीं आ गए, तब तक हम दोनों लोग रात में सेक्स का मजा करते थे.

कुछ दिन के बाद मेरे पति आ गए, तो मैं संजय के घर दिन में जाकर चुदवा लेती थी.. क्योंकि उसकी बीवी अभी नहीं आई थी.

Mastram antarvasna

[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूंगी. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं. और नई सेक्स स्टोरी और video को देखने के लिये हमारा Telegram ग्रुप को join कर सकते है.

भाभी ने करवाई 1 पड़ोसी से चुदाई Mastram antarvasna

Read in English

Bhabhi ki karwai chudai apne padosi se – Mastram antarvasna

Mastram antarvasna: The husband of a sexy thirsty sister-in-law did not fuck her every day while she used to fuck her daily in college with her dares. So he got married to the boy in his neighborhood.

My name is Sunita. My body and my figure are very sexy. I am a housewife. Before my marriage, I had many boyfriends, so I used to have sex with someone everyday for Mastram antarvasna.

When my husband does not fuck me, I talk about fucking with my boyfriend. I want to enjoy sex everyday, but my husband does not have sex with me every day.

I can’t even make a boyfriend in my in-laws’ place because if my husband comes to know about this then there will be a quarrel between us. Although many people in my neighborhood hit me lines, but I have not told this to my husband because I loved some of them and I wanted them to fuck me and quench my thirst for sex.

I am used to watching blue films. I had a boyfriend always show me a blue film. The day my husband does not fuck me, on that day I see blue in my mobile and finger my pussy on Mastram antarvasna.

When I was married, I used to think that I would have sex with my husband and forget my boyfriends. But it turned out to be my misfortune that my husband did not fuck me every day. Due to this, my affair started with a boy in my neighborhood like Mastram antarvasna.

This boy was married and lived next to my house. He was hitting the line for a long time. I also started seeing him and started smiling. Since I was not enjoying the fuck with my husband, I had thought that I would kiss this neighbor and calm my pussy thirst for Mastram antarvasna.

When my husband used to go out of the office, there was a conversation between me and the neighbor boy. His name was Sanjay. He was a businessman. I used to like it too.

Mastram antarvasna
He was giving me the line long back, I was stuck because of my husband. When I was not satisfied with my husband, I started giving him the line.

You also know that when two people start liking each other, it becomes a matter. It became a matter for both of us like Mastram antarvasna.

We both had a house next door, so we both went to the terrace and started talking to each other. He used to talk to me from his roof and I used to talk to him from my roof. Now we both came very close to each other then Mastram antarvasna.

But in the meantime, my husband began to suspect that I would talk to someone after he left. So for a few days we both did not talk properly like Mastram antarvasna.
But when straw and petrol are together, how long will the fire not start?

Me and Sanjay, we both came closer to each other. Sanjay also came to know the figure of my body. I told him about myself then Mastram antarvasna.

Both of us were having sex and sex talk everyday. She also gifted me bra and panty many times.
My husband used to ask where did this come from like Mastram antarvasna.
I used to say that I had bought it.

Sanjay used to tell me that I have to see you in bra and panty the Mastram antarvasna.
I used to tell her that on the day I get a chance, I will show it by wearing a bra and panty.

Mastram antarvasna
My husband was busy with his office work day by day. Now he had nothing to do with the house. He used to go to the office after having food in the morning and lived there all day.
Here, both I and Sanjay used to talk on the terrace. Due to his wife being in Sanjay’s house, he was not able to come to my house and fuck me. Many people used to come during the day, so even I was not able to call her at my house for Mastram antarvasna.

Whenever both of us used to meet on the way, we used to hide from the eyes of people and talk to each other. Sanjay wanted to fuck me. Because he always looked at me with lustful eyes. I had sex in me too. I had not had sex with my husband for a long time, so I too had a big desire to have sex on Mastram antarvasna.

Mastram antarvasna: The husband of a sexy thirsty sister-in-law did not fuck her every day while she used to fuck her daily in college with her dares. So he got married to the boy in his neighborhood.

My name is Sunita. My body and my figure are very sexy. I am a housewife. Before my marriage, I had many boyfriends, so I used to have sex with someone everyday like Mastram antarvasna.

When my husband does not fuck me, I talk about fucking with my boyfriend. I want to enjoy sex everyday, but my husband does not have sex with me every day in Mastram antarvasna.

I can’t even make a boyfriend in my in-laws’ place because if my husband comes to know about this then there will be a quarrel between us. Although many people in my neighborhood hit me lines, but I have not told this to my husband because I loved some of them and I wanted them to fuck me and quench my thirst for sex like Mastram antarvasna.

I am used to watching blue films. I had a boyfriend always show me a blue film. The day my husband does not fuck me, on that day I see blue in my mobile and finger my pussy then Mastram antarvasna.

When I was married, I used to think that I would have sex with my husband and forget my boyfriends. But it turned out to be my misfortune that my husband did not fuck me every day. Due to this, my affair started with a boy in my neighborhood.

This boy was married and lived next to my house. He was hitting the line for a long time. I also started seeing him and started smiling. Since I was not enjoying the fuck with my husband, I had thought that I would kiss this neighbor and calm my pussy thirst for Mastram antarvasna.

When my husband used to go out of the office, there was a conversation between me and the neighbor boy. His name was Sanjay. He was a businessman. I used to like it too.

Mastram antarvasna
He was giving me the line long back, I was stuck because of my husband. When I was not satisfied with my husband, I started giving him the line.

You also know that when two people start liking each other, it becomes a matter. It became a matter for both of us like Mastram antarvasna.

We both had a house next door, so we both went to the terrace and started talking to each other. He used to talk to me from his roof and I used to talk to him from my roof. Now we both came very close to each other in Mastram antarvasna.

But in the meantime, my husband began to suspect that I would talk to someone after he left. So for a few days we both did not talk properly in Mastram antarvasna.
But when straw and petrol are together, how long will the fire not start?

Me and Sanjay, we both came closer to each other. Sanjay also came to know the figure of my body. I told him about myself.

Both of us were having sex and sex talk everyday. She also gifted me bra and panty many times.
My husband used to ask where did this come from.
I used to say that I had bought it Mastram antarvasna.

Sanjay used to tell me that I have to see you in bra and panty.
I used to tell her that on the day I get a chance, I will show it by wearing a bra and panty.

Mastram antarvasna My husband was busy with his office work day by day. Now he had nothing to do with the house. He used to go to the office after having food in the morning and lived there all day.
Here, both I and Sanjay used to talk on the terrace. Due to his wife being in Sanjay’s house, he was not able to come to my house and fuck me. Many people used to come during the day, so even I was not able to call her at my house then Mastram antarvasna.

Whenever both of us used to meet on the way, we used to hide from the eyes of people and talk to each other. Sanjay wanted to fuck me. Because he always looked at me with lustful eyes. I had sex in me too. I had not had sex with my husband for a long time, so I too had a big desire to have sex….

Mastram antarvasna
I was thinking that Sanjay would have to go to his house. His wife must be waiting for him. Thinking of this, I wanted to have more and more fun with Sanjay in Mastram antarvasna.

However it was night and I was not worried about anything. The husband did not have to come and there was nobody to come home at night. That’s why I was carefree, just I was worried about Sanjay on Mastram antarvasna.

Here Sanjay started licking my pussy again. I opened my legs and started enjoying the chatter.
Sanjay licked my pussy and cleaned it and after that he put his cock in my pussy and started fucking me. Both of us were getting wet with sweat due to fuck like Mastram antarvasna.

This time Sanjay told that his wife has gone to her maternal home.
Knowing this, I became very happy and started clapping Sanjay’s waist with my legs and started fucking him with fun.

This meant that Sanjay was also alone in his house and I too was alone in my house for a few days.

Sanjay was pushing his cock in my pussy all the way to the inside and together I was also biting my nails on his back.

After about twenty minutes I started having sex. Sanjay put a pillow under my ass and took both my legs on his shoulder. Now he started putting his cock in my pussy in and out quickly and both of us started having sex at a fast pace.

Mastram antarvasna
After a few minutes both of us started to fall and both of us got out of the water simultaneously.

There was a lot of fatigue after having sex. I fell on the bed with Sanjay in my arms and we both fell asleep.

After an hour we both started having sex again. After this I felt hungry, so I went to the kitchen to get food. We both ate food and after that we slept.

When we both woke up in the morning, we were both lying in bed. Both of us were smiling seeing each other. Today I had a good sleep after a long day. Having sex after sex is something else.

Both me and Sanjay kissed each other and after that I started doing housework.

Even at this time both of us were naked. I went naked to the kitchen and made coffee for Sanjay and myself. After that we both drank coffee. After drinking coffee, we both went to the bathroom and took a shower together. After that breakfast was done and Sanjay went to his work.

I did my housework and started waiting for Sanjay’s arrival in the evening.

Until my husband returned from outside, both of us used to enjoy sex at night.

After a few days, my husband came, so I used to go to Sanjay’s house in the day and get a kiss .. Because his wife had not come yet.

Mastram antarvasna
[email protected]

How did you like my true sex incident, tell me on Telegram, I will wait for your comment and message. Apart from this, you can also give your opinion by commenting on the story below. And to see the new sex story and video, we can join our Telegram group.

Read more chudai Story –

Antervasna Hindi Story 1 पड़ोसन आंटी को अंधरे में चोदा Free

Kamuk stories 1 पड़ोसन भाभी को उन्के घर में जाके चोदाSex fun

Desi antarvasna 1 भाभी की चुदाई उनके मायके में जाकर Best Sex

Leave a Comment