Antervasna hindi stories बहन की सहेली की चूत की खुदाई 1 best

बहन की सहेली की चूत की खुदाई Antervasna hindi stories

Antervasna hindi stories: मैं अपने मामा के यहां गया हुआ था. वहां पर मेरी मुलाकात मेरी बहन की सहेली से हुई. उसको मैंने पटा लिया और रात को उसकी चूत की चुदाई भी कर डाली.

कैसे हो दोस्तो! मेरा नाम राज है और मैं राजस्थान के सीकर जिले से हूं. Mast Hindi Story पर यह मेरी पहली कहानी है चूत की चुदाई की. मैं आशा करता हूं कि आपको मेरे जीवन की ये पहली कहानी पसंद आयेगी. अगर कहानी में कोई गलती हो जाये तो उसके बारे में मुझे बतायें जरूर.

यह घटना मेरे साथ कुछ दिन पहले ही हुई थी. मैं अपने ननिहाल गया हुआ था. मेरे मामा के वहां पर जाकर मैं मामा के परिवार से मिला और कुछ बातें कीं. उसके बाद मैं अपने मामा की लड़कियों के साथ बातें करने लगा.

मेरे मामा की दो लड़कियां हैं और दोनों से मेरी अच्छी बनती है. उनको मैं बहन कह कर बुलाता हूं. उनका नाम तो मैं यहां पर नहीं बता सकता हूं इसलिए उसके लिए सॉरी.

हम तीनों लोग बातें कर ही रहे थे कि तभी पड़ोस की एक लड़की मेरी बहनों के पास आ गयी. वो उनकी सहेली थी. मैंने उसको देखा तो देखता ही रह गया. वो देखने में बहुत सुंदर थी और मेरे मामा की बड़ी लड़की की सहेली थी. उसका नाम पायल (बदला हुआ) था.

दोस्तो, जब मैंने पहली बार उसको देखा था तो उसको देखता ही रह गया था. उसके जाने के बाद मैंने अपनी बहन से बात की तो उसने बताया कि वो उसके कॉलेज की सहेली है और उनके एग्जाम आने वाले हैं.

उस दिन सारी रात मैं उसके बारे में ही सोचता रहा. मेरा मन कर रहा था कि वो मेरी आंखों के सामने ही रहे.

अगले दिन सुबह अचानक ही मामी के मायके में किसी की डेथ हो गयी. सब लोग वहां पर चले गये. घर में केवल मेरी बड़ी सिस्टर और मैं ही थे. कुछ देर के बाद पायल भी आ गई. उसके आने के बाद मैं अपने रूम में चला गया.

फिर दोपहर के टाइम पर मैंने देखा कि पायल मेरी बहन के रूम में अकेली थी. मेरा मन कर रहा था कि जाकर उसको आइ लव यू बोल दूं लेकिन मेरी हिम्मत नहीं हुई.

Antervasna hindi stories

फिर वो अपने घर चली गई. शाम को वो दोबारा से वापस आ गयी. मेरी बहन ने बताया कि आज रात को यह हमारे साथ ही रहेगी. मैं पायल से बात करना चाह रहा था लेकिन कुछ कर नहीं पा रहा था.

मैंने उसको रसोई में काम करते हुए देखा तो मैं भी रसोई में चला गया. मेरी बहन हॉल में टीवी देख रही थी.

मैंने रसोई में जाकर पायल का हाथ पकड़ लिया तो एकदम से घबरा गई लेकिन मैंने उसको तभी कह दिया कि मैं तुमको पसंद करने लगा हूं. क्या तुम मुझसे दोस्ती करोगी?
पायल ने कोई जवाब नहीं दिया और वहां से बाहर चली गई.
मुझे अपने किये पर पछतावा हुआ कि ये मैंने क्या कर दिया. शायद पायल को नाराज कर दिया था मैंने.

अगली सुबह फिर वो घर के काम में लगी हुई थी. मेरी सिस्टर सो रही थी. जब वो मेरे कमरे में चाय देने के लिए आई तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उससे कल वाली बात के बारे में पूछा.
मैंने कहा- मैं अपने जवाब का इंतजार कर रहा हूं.
उसने कुछ नहीं कहा और शरमा कर वापस चली गई.

मुझे अब ग्रीन सिग्नल मिल गया था. मैं जल्दी से फ्रेश हो गया और नहा धोकर तैयार हो गया. उस वक्त मेरी बहन बाजार में सब्जी लेने के लिए गई हुई थी. घर पर कोई नहीं था. पायल मेरी बहन के कमरे में थी.

मैंने जाकर उसको बांहों में भर लिया और उसको गालों पर किस करते हुए उसको ‘आइ लव यू’ कह दिया.
वो बोली- मैं भी तुम्हें पहले दिन से ही पसंद करने लगी थी लेकिन बोल नहीं पायी.

Antervasna hindi stories

यह सुन कर मैं खुश हो गया और हम दोनों वहीं पर खड़े होकर किस करने लगे. मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया और हम दोनों किस करने में खो गये.

बहन की सहेली की चूत की खुदाई Antervasna hindi stories

काफी देर तक हम दोनों एक दूसरे को किस करते रहे. मगर गेट खुला हुआ था. हमें किस करते हुए बीस मिनट हो गये थे और तभी मेरी बड़ी बहन कमरे में आ गयी.

उसने हम दोनों को देखा तो हम दोनों का चेहरा शर्म से लाल हो गया.
मेरी बहन बोली- ओह्ह, तो बात यहां तक पहुंच गई है.

मैं बहाना बना कर अपने कमरे में चला गया. फिर उसके बाद उन दोनों की क्या बात हुई मुझे नहीं पता.
उस दिन मैं अपने कमरे से बाहर नहीं निकला.

रात को खाना खाने के समय ही बाहर आया. खाना खाकर मैं चुपचाप अपने कमरे में चला गया. मेरी बहन को सब पता चल गया था लेकिन मुझे उसके सामने जाने में शर्म आ रही थी. फिर सारा काम खत्म करके पायल मुझे दूध देने के लिए आई और मैंने उसका हाथ पकड़ लिया.
मैं बोला- अपना दूध कब पिलाओगी?
वो बोली- रात को, तुम्हारी बहन के सोने के बाद.
मैं ये सुनकर खुश हो गया.

रात को 11 बजे के करीब जब मेरी बहन सो गयी तो पायल मेरे कमरे में आ गयी. उसने दरवाजा बंद कर लिया. मैं उसी का इंतजार कर रहा था. उसने कमीज और सलवार पहना हुआ था. वो आकर बेड पर मेरे पास बैठ गई.

Antervasna hindi stories

मैंने उसको आते ही अपने आगोश में ले लिया और उसको होंठों पर किस करने लगा. वो भी मेरा साथ देने लगी. हम दोनों काफी देर तक एक दूसरे के होंठों का रस पीते रहे.

पायल मेरी जिन्दगी में पहली लड़की थी जिसको मैंने होंठों पर किस किया था. मुझे उसके होंठों को छोड़ने का मन ही नहीं कर रहा था. हम दोनों आधे घंटे तक एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे.
उसके बाद मैंने पायल को बेड पर लेटा लिया और उसकी गर्दन को चूमने लगा. वो भी मुझे बांहों में लेकर प्यार कर रही थी. कभी मेरे गालों पर किस कर रही थी तो कभी मेरे माथे पर चूम रही थी.

अब मेरे अंदर की हवस जागने लगी थी. मैंने उसके चूचों पर हाथ रख कर उनको दबाया तो मुझे और मजा आया. मैंने उसके चूचों को जोर से दबाना शुरू कर दिया. कभी मैं उसके होंठों पर किस करता और फिर दोबारा से उसके स्तनों को दबाने लगता. वो भी अब काफी गर्म हो चुकी थी और मेरी पीठ पर हाथ से सहला रही थी.

चूत की चुदाई की शुरुआत

मैंने उसके कमीज को उतरवा दिया. उसके कमीज को उतारा तो मुझे उसकी ब्रा दिखाई देने लगी. पायल की ब्रा को देख कर मेरे अंदर की वासना और ज्यादा भड़क गई और मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके दूधों को दबाने लगा. वो भी सिसकारियां लेने लगी.

उसके दूधों को दबा दबा कर मैंने उसकी चूचियों को खूब मसला. फिर मैंने पायल को ब्रा उतारने के लिए कहा. उसने ब्रा उतार दी और उसके अमरूद मेरे सामने थे. मैंने पल भर की देरी किये बिना ही उसके चूचों को अपने मुंह में भर लिया और उसके अमरूदों को बारी बारी से चाटने लगा.

बहन की सहेली की चूत की खुदाई Antervasna hindi stories

कभी उसके निप्पलों को चूसता और कभी उसके होंठों को.

पांच-सात मिनट तक मैंने उसके चूचों को पीया और उसके बाद उसकी सलवार को उतारने लगा. वो मना करने लगी लेकिन मैंने उससे कहा कि एक बार बस मुझे अपनी मुनिया को देखने दो. मेरे कहने पर वो मान गयी.

मैंने उसकी सलवार को उतारा और उसकी पैंटी को खींच कर नीचे कर दिया. उसकी चूत पर काफी बाल थे. मैंने उसकी चूत के बालों में मुंह लगा दिया और उसको सूंघने लगा.

Antervasna hindi stories

वो जोर से सिसकारने लगी. मैंने अपनी जीभ निकाली और उसकी चूत को ऊपर से चाटने लगा. मेरे मुंह में उसकी चूत के बाल चले गये जिनको मैंने फिर बाहर थूक दिया. उसकी चूत अंदर से गीली हो चुकी थी.

फिर मैंने उसे लेटाया और उसकी चूत में उंगली से सहलाने लगा तो वो मदहोश होने लगी. वो साथ में मना भी कर रही थी लेकिन मुझे पता था कि वो दिखावटी विरोध कर रही है. उसको बहुत मजा आ रहा था.

उसकी चूत को अपनी उंगली से चोदना शुरू किया तो वो अपने चूचों को मसलने लगी. उसके दोनों हाथ उसके चूचों को दबा रहे थे और मैं उसकी चूत में उंगली कर रहा था.

फिर वो बोली- मेरे साथ तो सब कुछ कर लिया. अपना भी कुछ दिखाओ.
मैं बोला- तुम खुद ही देख लो.

पायल ने मेरी टीशर्ट को उतारवा दिया. उसके बाद उसने मेरी गर्दन पर किस किया. वो ऐसे किस कर रही थी जैसे मर्दों के जिस्म की प्यासी हो. उसने मेरी छाती को चूमा और फिर मेरी लोअर पर हाथ फिराने लगी. मेरे लंड को सहलाने लगी. उसने दो मिनट तक अपने हाथों से ही मेरे लोअर में तने हुए लंड को सहलाया.

उसके बाद उसने मेरी लोअर को निकलवा दिया. फिर वो मेरे अंडरवियर को उतारने लगी.

मैं देख रहा था कि वो क्या करने वाली है. उसके बाद उसने मेरे अंडरवियर को उतार दिया. मेरा लौड़ा देख कर उसके चेहरे पर मुस्कान आ गई. मुझे उसकी हरकतों से पता चल गया था कि वो पहले भी सेक्स कर चुकी है.

मैंने उसको लंड चूसने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया. मैंने कई बार उसको बोला लेकिन वो लंड चुसाई करने के लिए तैयार नहीं हुई. उसके बाद उसने मेरे लंड को हाथ में पकड़ कर दबाया.
वो बोली- ये तो बहुत बड़ा है.
मैंने कहा- नहीं, आराम से जायेगा.

Antervasna hindi stories

पायल को मैंने बेड पर गिरा लिया और उसकी टांगों को उठा लिया उसकी चूत में लंड को लगा दिया और उसके ऊपर दबाव बनाने लगा. उसकी बालों वाली चूत में मुझे छेद का पता नहीं लग रहा था. एक दो बार कोशिश की लेकिन उसको दर्द हुआ. फिर उसने खुद ही अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के मुंह पर रखवा लिया.

बहन की सहेली की चूत की खुदाई Antervasna hindi stories

मेरे लंड का सुपारा धीरे धीरे उसकी चूत में जाने लगा. आधा लंड उसकी चूत में गया तो उसने हाथ से मुझे रोकने की कोशिश की. मगर मैंने उसके हाथों को हटा दिया और अपनी गांड का पूरा भार उसकी चूत पर डालते हुए उसकी चूत में लंड को उतारने लगा. साथ ही उसके होंठों को चूसने लगा. उसके होंठों को चूसते हुए मैंने धीरे धीरे करके पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

वो मुझे वापस निकालने के लिए कहने लगी मगर मुझे बहुत मजा आ रहा था. मैंने दो मिनट तक कुछ नहीं किया, बस ऐसे ही उसकी चूत में लंड को डाल कर उसके ऊपर लेटा रहा. कुछ देर के बाद वो खुद ही मेरी गर्दन को चूमने लगी. उसकी चूत ने लंड को एडजस्ट कर लिया था.

मैंने उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिये. उसकी चूत में लंड जाते हुए मुझे स्वर्ग सा आनंद आ रहा था. जब उसकी चूत में धक्के लग रहे थे तो उसके मुंह आह्ह निकल जाती थी. मैंने उसकी बालों वाली चूत में लंड को पेलते हुए चूत की चुदाई की स्पीड तेज कर दी.

बहन दूसरे कमरे में सो रही थी. हमें ये सब करते हुए काफी टाइम हो गया था. मैंने पंद्रह मिनट तक उसकी चूत को चोदा और फिर वो खुद ही अपनी गांड को उठा कर अपनी चूत की चुदाई करवाने लगी.
कुछ पल के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. मुझे मेरे लंड पर उसकी चूत का गर्म पानी महसूस हुआ. मेरी उत्तेजना और ज्यादा बढ़ गई.

Antervasna hindi stories

उसके बाद मैंने उसकी टांगों को अपने हाथों से ऊपर उठा लिया और उसकी चूत में तेजी के साथ लंड को पेलने लगा.
‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह … उई मां … उफ्फ’ करते हुए वो मेरे लंड के धक्कों को झेलती हुई चूत की चुदाई करवाने लगी.

मुझे बहुत मजा आ रहा था. मैंने तीन-चार मिनट तक इसी रफ्तार से पायल की चूत की चुदाई की और फिर जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने पूछा कि कहां पर निकालूं?
वो बोली- बाहर निकालना.
मेरा मन तो नहीं कर रहा था लेकिन उसकी बात मान कर मैंने वीर्य निकलने से पहले लंड को उसकी चूत से निकाल लिया.

पायल की चूत से जैसे ही लंड बाहर आया मेरे लंड से पिचकारी छूटने लगी जो सीधी उसके चूचों तक जाकर लगी. वो मेरे लंड से निकलती हुई पिचकारियों को देख रही थी. मैं उसके पेट के ऊपर ही पूरा झड़ गया. फिर उसने अपनी पैंटी से मेरे वीर्य को साफ कर दिया.

इस तरह पायल की चूत की चुदाई पूरी हुई.
वो अपने कपड़े पहनने लगी लेकिन मैंने उसको मना कर दिया.
वो बोली- तुम्हारी दीदी उठ जायेगी.
मैंने कहा- जब उसने किस करते हुए देख लिया था तो क्या फर्क पड़ता है.

फिर हम दोनों नंगे ही लेटे रहे. मैं उसकी चूचियों को सहलाता रहा और उसे किस करता रहा. मुझे उसके साथ नंगे लेटे हुए बहुत मजा आ रहा था.

दस मिनट के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. वो खुद ही मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी. उसने मेरे लंड की मुठ मारना शुरू कर दी. मुझे मजा आने लगा. मैंने उसकी चूत में उंगली करनी शुरू कर दी.

Antervasna hindi stories

कुछ देर में ही हम दोनों फिर से गर्म हो गये. मैंने उसको किस करना शुरू कर दिया. वो तेजी से मेरे लंड को सहलाने लगी और मेरा लंड फिर से एकदम टाइट हो गया.

मैंने पायल को घोड़ी बना लिया और उसकी चूत में पीछे से लंड डाल दिया. उसकी चूत में लंड को डाल कर मैं उसकी चूत की चुदाई करने लगा. वो भी मजे लेते हुए मेरे लंड से चुदने लगी. इस बार हमारी चुदाई का राउंड 35 मिनट तक चला और मैंने उसकी चूत को रगड़ दिया. उसने दो बार पानी छोड़ दिया.

जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने उसकी चूत में ही वीर्य छोड़ दिया. वो गुस्सा हो गई लेकिन मैंने उसको मना लिया.

इस तरह उस रात मैंने दो बार बहन की सहेली की चूत की चुदाई की. फिर जब तक मैं वहां रहा उसने अपनी चूत चुदवाई लेकिन उसने कभी दोबारा चूत की चुदाई में चूत में वीर्य नहीं गिराने दिया. उसके बाद फिर मैं अपने घर आ गया.

आज भी हम दोनों बातें करते रहते हैं लेकिन अभी तक दोबारा वहां जाकर उसकी चूत की चुदाई का मौका नहीं मिल पाया है.

दोस्तो, आपको मेरी चूत की चुदाई स्टोरी में मजा आया हो तो मुझे मैसेज करना और स्टोरी पर कमेंट करके बताना कि स्टोरी में कहीं कोई गलती न हो गई हो. मुझे आपके मैसेज का इंतजार रहेगा. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.
[email protected]

बहन की सहेली की चूत की खुदाई Antervasna hindi stories

Read in English

Behan ki sehli ki chut ki khudai Antervasna Hindi stories

Antervasna Hindi stories: I went to my maternal uncle’s place. I met my sister’s friend there. I beat him and made him fuck his pussy at night.

How are you guys My name is Raj and I am from Sikar district of Rajasthan. This is my first story on Chudai Chudai. I hope you will like this first story of my life. If there is any mistake in the story, then tell me about it.

This incident happened to me a few days ago. I went to my maternal grandfather. After visiting my maternal uncle’s place, I met the maternal uncle’s family and spoke a few things. After that I started talking with my maternal uncle’s girls on Antervasna Hindi stories.

My maternal uncle has two girls and both make me good. I call them as sisters. I cannot tell his name here, so sorry for that.

All three of us were talking that when a girl from the neighborhood came to my sisters. She was his friend. When I saw him, he stopped watching. She was very beautiful to look at and was the friend of my maternal uncle’s elder girl. His name was Payal (changed).

Friends, when I saw him for the first time I was left looking at him. After he left, I talked to my sister, then she told that she is her college friend and her exams are going to come on Antervasna Hindi stories.

That night, I kept thinking about it all night. I felt that he should remain in front of my eyes like Antervasna Hindi stories.

The next morning someone suddenly died in Mama’s maternal uncle. Everybody went there. Only my elder sister and I were at home. After a while Payal too came. After that, I went to my room then Antervasna Hindi stories.

Then at noon time I saw that Payal was alone in my sister’s room. I felt like going and telling him I love you but I did not dare.

Antervasna hindi stories
Then she went to her home. She came back again in the evening. My sister told that it will stay with us tonight. I wanted to talk to Payal but could not do anything like Antervasna Hindi stories.

When I saw him working in the kitchen, I also went to the kitchen. My sister was watching TV in the hall.

When I went to the kitchen and grabbed Payal’s hand, I got very nervous but I told him that I started liking you. Will you be friendship with me?
Payal did not respond and went out from there.
I regret what I have done. Perhaps I had offended Payal like Antervasna Hindi stories.

The next morning again she was engaged in household work. My sister was sleeping When she came to my room to give me tea, I held her hand and asked her about yesterday’s talk.
I said – I am waiting for my answer on Antervasna Hindi stories.
She did not say anything and blushed and went back.

I now got the green signal. I quickly got refreshed and washed and got ready. At that time my sister went to the market to get vegetables. There was no one at home. Payal was in my sister’s room then Antervasna Hindi stories.

I went and filled him in the arms and kissed him on the cheeks and called him ‘I love you’.
She said- I too started liking you from day one but could not speak like Antervasna Hindi stories.

Antervasna hindi stories
I was happy to hear this and we both started standing there and kissing. I started sucking her lips and we both got lost in kissing.

We both kissed each other for a long time. But the gate was open. It was twenty minutes while kissing us, and then my elder sister came in the room then Antervasna Hindi stories.

When he saw both of us, the face of both of us turned red with shame.
My sister said- Ohhh, the matter has reached here on Antervasna Hindi stories.

I went to my room making excuses. Then what happened to both of them after that I do not know.
That day I did not get out of my room like Antervasna Hindi stories.

Dinner came out at dinner time. After eating food, I quietly went to my room. My sister had come to know everything but I was ashamed to go in front of her. Then after finishing all the work Payal came to give me milk and I held her hand then Antervasna Hindi stories.
I said – when will you drink your milk?
She said – at night, after your sister sleeps.
I was happy to hear that like Antervasna Hindi stories.

cript>

When my sister fell asleep around 11 o’clock at night, Payal came to my room. He closed the door. I was waiting for the same. He was wearing a shirt and a salwar. She came and sat beside me on the bed.

Antervasna hindi stories
I took him in my lap as soon as he came and kissed him on the lips. She also started supporting me. We both drank each other’s lips for a long time.

Payal was the first girl in my life whom I kissed on the lips. I did not feel like leaving her lips. We both sucked each other’s lips for half an hour then Antervasna Hindi stories.
After that I put Payal on the bed and started kissing his neck. She was also loving me with her arms. Sometimes she was kissing me on the cheeks and sometimes kissing my forehead like Antervasna Hindi stories.

Now the lust inside me started waking up. I put my hands on her tits and pressed them, so I enjoyed it more. I started pressing her boobs very hard. Sometimes I would kiss on her lips and then start pressing her breasts again. She was also quite hot now and was stroking my hand on her back on Antervasna Hindi stories.

Pussy fuck start
I took her shirt off. When I removed her shirt, I started seeing her bra. Seeing Payal’s bra, the lust inside me got further infatuated and I started pressing her milk from above her bra. She also started taking hers then Antervasna Hindi stories.

Pressing her milk, I licked her tits. Then I asked Payal to take off the bra. He removed the bra and his guava was in front of me. I filled his mouths without delaying a moment and started licking his guavas alternately on Antervasna Hindi stories.

Sometimes sucking her nipples and sometimes sucking her lips then Antervasna Hindi stories.

For five-seven minutes I drank her nipples and after that she started removing her salwar. She started to refuse but I told her that once just let me see my Muniya. She agreed to what I said then enjoy Antervasna Hindi stories.

I removed her salwar and pulled her panty down. He had enough hair on his pussy. I put my mouth in her pussy hair and started sniffing her.

Antervasna hindi stories
She started giggling loudly. I took out my tongue and started licking her pussy. Her pussy hair went in my mouth, which I then spit out. Her pussy was wet from inside.

Then I rolled her and started caressing her pussy, then she started getting drunk. She was also refusing together but I knew that she was protesting the show. He was enjoying it very muchon Antervasna Hindi stories.

When she started fucking her pussy with her finger, she started rubbing her pussy. Both her hands were pressing her hips and I was finger in her pussy like Antervasna Hindi stories.

Then she said – I have done everything with me. Show me something of yours.
I said – see yourself.

Payal took off my T-shirt. After that he kissed me on the neck. What was she doing as if she was thirsty for men? He kissed my chest and then started to shake my lower hand. Started caressing my cock. For two minutes, he stroked the cocks taut in my lower hand.

After that, he removed my lower. Then she started taking off my underwear then enjoy Antervasna Hindi stories.

I was looking at what she was going to do. After that he removed my underwear. Seeing my Aloda, a smile came on his face. I came to know from her antics that she has had sex before on Antervasna Hindi stories.

When I asked him to suck cocks, he refused. I spoke to her several times but she was not ready to lick the cocks. After that he pressed my cock in his hand then Antervasna Hindi stories.
She said – this is very big.
I said – no, will go easy.

Antervasna hindi stories
I dropped Payal on the bed and lifted her legs, put the cocks in her pussy and started putting pressure on her. I could not find a hole in her hairy pussy. Tried a couple of times but it hurt. Then he himself grabbed my cock with his hand and got it placed on the mouth of his pussy.

Antervasna Hindi stories My cocks are slowly going in her pussy. When half the cock went into her pussy, she tried to stop me by hand. But I removed her hands and started putting the load of my ass on her pussy, removing the cocks in her pussy. Simultaneously started sucking her lips. While sucking her lips, I slowly removed the entire cock in her pussy.

She started asking me to withdraw but I was enjoying it. I did nothing for two minutes, just putting cocks in her pussy and lying on her. After some time, she herself started kissing my neck. His pussy had adjusted the cocks on Antervasna Hindi stories.

I started pushing her in the pussy. I was enjoying paradise while moving cocks in her pussy. When his pussy was getting hit then his mouth used to sigh. I increased the speed of pussy fuck by licking her hairy pussy then Antervasna Hindi stories.

Sister was sleeping in another room. We had a long time doing all this. I fuck her pussy for fifteen minutes and then she herself started picking her ass and getting her pussy fucked.
After a few moments her pussy left water. I felt the hot water of her pussy on my cock. My excitement increased more.

Antervasna hindi stories
After that I lifted his legs above my hands and started licking the cocks with a fast in his pussy.
While doing ‘Ummh… Ahhh… Hah… Oh… Ui Maa… Uffhh’, she started to fuck me with the bumps of my cock.

I was enjoying it very much. I fuck Payal’s pussy with this speed for three to four minutes and then when I had to get my semen, I asked where to remove it?
That quote – get out.
I was not feeling like it, but obeying it, I removed the cocks from her pussy before releasing the semen.

As soon as the cocks came out from Payal’s pussy, my cock started to leave the atomizer which started going directly to her hips. She was watching the pitchers coming out of my cock. I fell completely on top of his stomach. Then she cleaned my semen with her panties.

This way Payal’s pussy fuck was complete.
She started wearing her clothes but I refused her.
She said – your sister will get up.
I said – what difference does it make when he has seen what he is doing.

Then both of us lay bare. I kept stroking her pussy and kissing her. I was enjoying lying naked with her.

After ten minutes my cock was erect again. She herself grabbed my cock and started caressing it. He started licking my cock. I started having fun. I started fingering her pussy.

Antervasna hindi stories
In a short while, we both got hot again. I started kissing him. She started caressing my cock fast and my cock got tight again.

I made Payal a mare and put cocks in her pussy from behind. Putting cocks in her pussy, I started fucking her pussy. She also started having fun with my cock. This time our fuck round went on for 35 minutes and I rubbed her pussy. He left the water twice.

When I was about to release my semen, I left the semen in her pussy. She got angry but I refused her.

In this way that night I twice fuck my sister’s pussy. Then as long as I stayed there, she gave her pussy but she never let her pussy fall into her pussy. After that I again came to my house.

Even today, we both keep talking, but still have not been able to go there again and get a chance to fuck her pussy.

Friends, if you enjoyed my Chudai story, then message me and comment on the story and tell me that there has been no mistake in the story. I look forward to your message. And to read sex videos and new story, telegram group can join.
[email protected]

Read more chudai story –

Hindi Saxi Story बहन को लंड दिखा के मस्त चुदाई 1 best sex

Antarvasna 2 भतीजी की चूत की सील तोड़ी Real Best Sex Story

Antarvasna 2 भतीजे ने चाची की चूत की प्यास बुझाई Best Sex

Leave a Comment

org/tools/popad.js">