Follow my blog with BloglovinHindi sax khani पहला सेक्स एक्सप्रियंस चाची के साथ1 Real Fun

Hindi sax khani पहला सेक्स एक्सप्रियंस चाची के साथ1 Real Fun

पहला सेक्स एक्सप्रियंस चाची के साथ hindi sax khani

hindi sax khani: मेरी चाची मेरे पड़ोस में ही रहती हैं. मैं उन्हें पसंद करता था और उनके पास काफी जाता था. मैं चाची की चूत चुदाई करना चाहता था. मेरी यह तमन्ना कैसे पूरी हुई?

सभी पाठकों को मेरा नमस्कार।
यह मेरी पहली कहानी है. अगर कोई गलती तो क्षमा कीजियेगा और मुझे मेरी गलतियों से अवगत कराइयेगा।

मेरा नाम रॉकी (काल्पनिक) है, मैं रोहतक में रहता हूँ और पढ़ाई करता हूँ.
मेरी उम्र 24 साल और शरीर नार्मल ही है, मैं कोई बॉडीबिल्डर नहीं हूँ, मेरे लंड का साइज 6 इंच है।

अब वक़्त बर्बाद न करते हुए कहानी पर आता हूँ, ये कहानी मेरे और मेरे चाची के बीच हुए सेक्स सम्बन्ध के बारे में है।

मेरी चाची मेरे पड़ोस में ही रहती हैं और चाचा की दुकान है। मेरी चाची एक घरेलू महिला हैं और उनके 2 बच्चे हैं. उनका हाइट 5 फ़ीट है और शरीर से थोड़ी मोटी है पर उनके चुच्चे काफी बड़े हैं जो मुझे बहुत ही ज्यादा पसंद हैं।

मैं उनकी तरफ शुरू से ही आकर्षित था और हमेशा उनके आस पास रहने की कोशिश करता था. चाची भी मुझे पसंद करती थी और भतीजे की तरह प्यार करती थी.

यह बात पिछले साल की नवंबर महीने की है, एक बार हमारी रिश्तेदारी में किसी की मौत हो गयी तो चाचा और पापा को जाना पड़ा और वहीं पर रुकना पड़ा।

ऐसा पहली बार हुआ था कि चाचा घर पर नहीं थे. वो कभी भी बाहर नहीं रुकते थे. तो चाची ने रात में मुझे उनके घर पर सोने के लिए बोला और मेरी दादी ने भी उनकी हाँ में हाँ मिला दी.
तो मुझे चाची के घर जाना पड़ा।

hindi sax khani

रात को करीब 10 बजे जब हम सब सोने के लिए कमरे में गए तो एक बेड पर चाची और उनके दोनों बच्चे सो गए और एक पलंग पर मैं!
थोड़ी ही देर में वो सब सो गए पर मुझे नींद नहीं आ रही थी क्योंकि ऐसा मौका शायद ही फिर कभी मिलना था तो मैं बस लेटा रहा और सोचता रहा.

ऐसे ही रात के 12 बज गए. अब मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रहा था तो मैं उठ कर चाची के बेड के पास गया.
पहले तो मैं उन्हें सोते हुए देखता रहा, फिर थोड़ी सी हिम्मत करके मैंने उनके चूचों को छूने की सोची और उन पर एक हाथ रख दिया आराम से।

ओह्ह्ह … क्या मस्त फीलिंग थी! मैं उस पहली फीलिंग को शब्दो में बयां नहीं कर सकता.

थोड़ी देर मैंने अपने हाथ को ऐसे ही रहने दिया अब मुझे उत्तेजना भी हो रही थी और साथ साथ मेरी गांड भी फट रही थी कि अगर चाची उठ गयी तो क्या होगा।
थोड़ी देर बाद जब मुझसे कण्ट्रोल नहीं हुआ तो मैंने धीरे से चाची की चूची को सहलाना शुरू कर दिया और जैसे ही मैंने ये किया, वही हुआ जिसका डर था।
जब तक मुझे कुछ समझ आता चाची मुझे एक थप्पड़ मार चुकी थी और मुझे खा जाने वाली नजरो से देख रही थी।

चाची ने मुझे बोला कि सुबह वो ये बात मेरे पापा को बतायेंगी.
और अभी सो जाने के लिए बोला.

मेरी सारी हिम्मत हवा हो चुकी थी और कुछ समझ नहीं आ रहा था तो मैं चुपचाप लेट गया और सुबह होने वाले काण्ड के बारे में सोचता रहा.
और मुझे पता ही नहीं चला कब मेरी आँख लग गयी।

hindi sax khani

सुबह चाची ने ही मुझे 7 बजे उठाया और घर जाने के लिए बोला.

मैं घर जाकर नहा धो कर तैयार हुआ और पढ़ाई करने के लिए निकल गया.

दिन भर मेरी फटी रही और शाम को जब घर पहुंचा तो पापा और चाचा आ चुके थे लेकिन उन्हें देख कर लग ही नहीं रहा था कि जैसे उन्हें कुछ पता हो।

उस दिन सब पहले जैसे ही था और मैं अपने काम करता रहा.

पर अब भी मुझे डर भी लग रहा था तो मैंने चाची के घर पर जाना बंद कर दिया.
ऐसे ही 10-15 दिन बीत गए लेकिन मैं उधर नहीं जा रहा था.

तो फिर एक दिन चाची ने मुझे घर पर बुलाया और पूछा- क्या बात? आजकल इधर नहीं आ रहा है तू?
मैंने कहा की बस ऐसे ही चाची और फिर मेरा उधर आना जाना दोबारा चालू हो गया.

लेकिन इस बार चाची भी कुछ बदली हुई सी लग रही थी।

ऐसे ही एक दिन मैं सुबह मेरी छुट्टी होने की वजह से चाची के घर चला गया. तब चाची फर्श पर पौंछा लगा रही थी और मैं उनके चूचे घूरे जा रहा था.

तभी चाची ने मुझे देख लिया लेकिन कुछ बोला नहीं!
चाची काम खत्म करके नहाने के लिए चली गयी और जब वो नहाकर आयी तो अलग ही लग रही थी.

hindi sax khani

फिर चाची इधर उधर की बातें करने लग गयी।
अचानक चाची ने मुझसे पूछा- क्या मेरी कोई गर्लफ्रेंड है?
तो मैंने कहा- नहीं!
तब चाची ने कहा- तभी तेरी ऐसे हरकतें हैं?
मैं एकदम से सकपका गया.

फिर चाची ने मुझसे पूछा- कैसी गर्लफ्रेंड चाहिए चुझे?
तो मैं बात को टालने लगा.

चाची भी बार बार पूछने लगी तो मैंने ऐसे ही बोल दिया- आप जैसी।
तो चाची ने पूछा- मुझ में ऐसा क्या है?
अब मैं भी थोड़ा हल्का महसूस कर रहा था तो मैं चाची की तारीफ करने लगा.

फिर मैंने सोचा कि जब बात इतनी बढ़ ही रही है तो और थोड़ा बढ़ा के देखने में क्या हर्ज़ है.
मैंने कहा- चाची, अगर आप मेरी चाची ना होती तो मैं आपको ही अपनी गर्लफ्रेंड बना लेता.
तो चाची हल्का हल्का मुस्कुराने लगी.

मुझे लगा कि शायद बात बन सकती है तो मैंने ऐसे ही मस्ती मस्ती में घुटनों के बल उन्हें अपनी गर्लफ्रेंड बनने के लिए कहा.
और पता नहीं कैसे चाची ने भी हाँ बोल दिया.
मुझे तो जैसे पंख लग गए थे.

फिर चाची ने बोला- सिर्फ नाम की गर्लफ्रेंड हूँ, फ़ालतू कुछ मत सोचना.

hindi sax khani

थोड़ी देर बाद चाचा भी खाना खाने आ गए तो थोड़ी देर बातें करके घर आ गया.
पर अब मुझे चैन कहाँ था तो थोड़ी देर बाद मैं फिर से चाची के घर चला गया और उनसे बातें करने लगा.
वो भी काम करते करते बातें कर रही थी.

फिर मैंने उनसे बोला- चाची, अब मेरी गर्लफ्रेंड बन ही गयी हो तो एक किस ही दे दो.
मुझे लगा था कि चाची गुस्सा करेंगी लेकिन उन्होंने कहा- अपनी कोई और गर्लफ्रेंड ढूंढ ले अगर ये सब करना है तो!
अब मुझे लगा कि चाची कुछ नहीं कहेगी तो मैंने कहा- अब तो जो हो आप ही हो! और मैं तो सब कुछ आप ही के साथ करूँगा.

चाची ने कुछ नहीं बोला और बात को घुमाने लगी.
तो मैंने दोबारा कहा- चाची, एक किस तो देना पड़ेगा.
तो चाची मना करने लगी लेकिन उन्होंने गुस्सा नहीं किया.

मैंने सोचा यही सही मौका है और मैंने उन्हें गाल पर एक किस कर ली.
जिस पर उन्होंने कहा- हो गयी मन की? अब तो खुश है?
मैंने कहा- अभी कहाँ … अभी असली किस तो बाकी है.

तो चाची मना करने लगी लेकिन मैं कहाँ ऐसे मानने वाला था और मैंने चाची को जबरदस्ती एक किस करने की कोशिश की और उन्होंने मुझे पीछे धकेल दिया लेकिन कुछ कहा नहीं!

मैं उनके कमरे में लेट गया चुपचाप!
थोड़ी देर बाद चाची आयी और कहने लगी- नहीं, ये सब गलत है, हम ये सब नहीं कर सकते.

hindi sax khani

इससे अच्छा मौका मेरे लिए नहीं हो सकता था तो मैं इतना कहते ही चाची को एक किस करने लग गया. चाची हल्का विरोध कर रही थी लेकिन वो सिर्फ दिखावा था.
तभी चाची ने कहा- कोई आ जायेगा.

मुझे पता था चाचा तो अभी खाना खाकर दूकान पे गया है और बच्चे मामा के घर पर हैं. लेकिन फिर भी मैं दरवाजा लॉक करके आ गया और उन्हें किस करने लगा.
ये मेरी जिंदगी का पहला किस था.

पहला सेक्स एक्सप्रियंस चाची के साथ hindi sax khani

चाची हल्का हल्का विरोध अब भी कर रही थी. लेकिन मुझे हटा भी नहीं रही थी. मैंने किस करते करते अपना एक हाथ उनकी दायीं चूची पर रख दिया और हल्का हल्का सहलाने लगा.
और दूसरे हाथ से मैं उनके पिछवाड़ा सहलाने लगा.

चाची भी गर्म होती जा रही थी लेकिन वो अब भी हल्का हल्का विरोध कर रही थी।

अब मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रहा था तो मैं चाची की चूची को जोर से दबाने लगा. चाची ने एक हलकी सी आह भरी और मुझसे कहा- रुक जा … ये सब गलत है.

मैंने दोबारा चाची के होंठों पे होंठ रख दिए और उन्हें किस करने लगा. और मैं एक हाथ से चूची और दूसरे से पिछवाड़ा दबाने लगा.

hindi sax khani

10 मिनट तक ऐसा करने के बाद मैंने अपना मुंह चाची की एक चूची पर लगा दिया और कपड़ों के ऊपर से चूसने लगा और दूसरी को दबाता रहा.

अब चाची सिसकारियां ले रही थी और वो मदहोश होती जा रही थी.

इसी का फायदा उठाते हुए मैंने उनके कमीज को निकाल दिया. अब चाची सफ़ेद रंग की ब्रा में थी.

पहला सेक्स एक्सप्रियंस चाची के साथ hindi sax khani

मैं उनको जगह जगह किस करने लगा और अपने हाथ पीछे ले जाकर उनकी ब्रा का हुक खोलने की कोशिश करने लगा लेकिन वो मुझसे खुल नहीं रहा था.
तभी चाची ने अपने हाथ पीछे ले जाकर ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा को एक तरफ रख दिया.

अब तो मैं बस चाची की चूचियों पर टूट पड़ा और कभी उनकी एक चूची को तो कभी दूसरी को चूसने लगा, मैं बीच में हल्का हल्का काट भी लेता था जिससे चाची की एक सिसकारी निकल जाती थी.

ऐसे करते करते मैंने अपना एक हाथ धीरे से चाची की चूत पर रख दिया तो चाची ने मेरा हाथ पकड़ लिया. मैंने अपने हाथ को वहीं रहने दिया और चाची की चूचियों को चूसने और काटने लग गया.

थोड़ी देर में ही चाची की पकड़ ढीली हो गयी तो मैंने चाची की चूत को सलवार के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया.
अब चाची सिसकारियां ले रही थी.

मैं एक तरफ उनके चूचे चूस रहा था और एक तरफ चाची की चूत सहला रहा था.

अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैंने जल्दी से चाची की सलवार का नाड़ा खोल दिया और सलवार को पेंटी के साथ निकलाने लगा.
चाची ने भी मेरा साथ दिया।

मैंने भी जल्दी से अपने सारे कपड़े निकाले और पूरा नंगा हो गया. चाची कुछ नहीं बोल रही थी.

hindi sax khani

अब मैंने धीरे से चाची को बेड पर लिटाया और उनकी जांघें चौड़ी करके उनके बीच में बैठ कर अपना खड़ा लंड चाची की चूत पर रखा और धक्का दिया. लेकिन मेरा लंड अंदर गया ही नहीं और फिसल गया. मैंने दोबारा कोशिश की, तब भी यही हुआ.
तब चाची ने अपने हाथ से पकड़ कर मेरे लंड को अपनी चूत पर रखा और मैंने एक धक्का दिया.

पहला सेक्स एक्सप्रियंस चाची के साथ hindi sax khani

मेरे लंड का आगे का मोटा सुपारा चाची की चूत के अंदर चला गया.
आह वो एहसास … अद्भुत … अकथनीय लाजवाब!

फिर मैं धीरे धीरे दबाव बढ़ाता गया और पूरा लंड अंदर कर दिया. चाची हल्की हल्की सिसकारी ले रही थी.

मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने चालू किये. क्योंकि मैं पहली बार कोई चूत चोद रहा था तो मुझे चुदाई करनी नहीं आती थी. शुरू शुरू में एक दो बार मेरा लंड
चाची की चूत में से बाहर आ गया था लेकिन मैं जल्दी ही सीख गया और धक्के लगाने लगा.
चाची बस वासना से ओतप्रोत आवाजें निकाल रही थी और मजा लिये जा रही थी.

मैं थोड़ी देर में जल्दी जल्दी धक्के लगाने लगा और 5 मिनट में चाची की चूत में ही झड़ गया. मैं थक कर नंगी चाची के ऊपर ही लेट गया और चाची मुझे प्यार करने लगी.

फिर उस दिन चाचा के आने का टाइम हो गया था तो चाची ने मुझे हटा दिया और कपड़े पहनने लगी और मैं भी समय की नजाकत को समझते हुए कपड़े पहन कर वहां से निकल लिया.

hindi sax khani

लेकिन आने से पहले मैंने चाची के होंठों को खूब चूसा, चाची को प्यार किया और वादा लिया चाची से कि वे भाद में भी मुझे अपनी चूत की चुदाई का मौक़ा देती रहेंगी और मुझे अच्छी तरह से चोदन करना सिखाएंगी.

तो दोस्तो ये थी चाची की चूत चुदाई की मेरे पहले सेक्स की कहानी! आप अपने कीमती सुझाव या शिकायत मुझे [email protected] पर मेल कर सकते हैं. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.

पहला सेक्स एक्सप्रियंस चाची के साथ hindi sax khani

Read in English

First time sex with chachi hindi sax khani

hindi sax khani: My aunt lives in my neighborhood. I liked him and used to go to him a lot. I wanted to fuck aunty’s pussy. How did my wish come true?

My greetings to all readers.
This is my first story. If there is any mistake then excuse me and make me aware of my mistakes.

My name is Rocky (Fantasy), I live and study in Rohtak for Hindi sax Khani.
I am 24 years old and my body is normal, I am not a bodybuilder, the size of my penis is 6 inches.

Now, while not wasting time, I come to the story, this story is about the sex relationship between me and my aunt.

My aunt lives in my neighborhood and has an uncle shop. My aunt is a domestic woman and has 2 children. His height is 5 feet and is slightly thicker than his body but his feet are quite big which I like very much like Hindi sax Khani.

I was attracted to him from the beginning and always tried to be around him. Auntie also liked me and loved her like a nephew.

This is in the month of November of last year, once someone died in our relationship, uncle and father had to go and stay there for Hindi sax Khani.

This was the first time that uncle was not at home. He never stopped outside. So aunt told me to sleep at her house at night and my grandmother also mixed her yes.
So I had to go to my aunt’s house.

hindi sax khani
When we all went to the room to sleep at 10 o’clock at night, my aunt and her two children slept on a bed and on a bed in Hindi sax Khani.
They all fell asleep in a while, but I was not able to sleep because I rarely had to meet such an opportunity, so I just lay down and kept thinking like Hindi sax Khani.

It was 12 o’clock in the night. Now I could not control, so I got up and went to aunt’s bed.
At first I kept watching them sleeping, then with a little courage, I thought of touching their feet and laid a hand on them comfortably for Hindi sax Khani.

Ohhhh… what a great feeling! I cannot describe that first feeling in words on Hindi sax Khani.

For a while, I let my hand remain like this, now I was getting excited and my ass was bursting as well, what would happen if aunt got up for Hindi sax Khani.
After a while when I could not control, I started gently stroking my aunt’s nipple and as soon as I did this, the same thing happened that was afraid the Hindi sax Khani.
By the time I understood something, aunt had slapped me and was looking at me with an eye.

Aunt told me that in the morning she will tell this thing to my father.
And said to go to sleep now.

All my courage had evaporated and I could not understand anything, so I lay down quietly and kept thinking about the morning scandal in Hindi sax Khani.
And I did not know when my eye caught.

hindi sax khani
My aunt picked me up at 7 in the morning and said to go home.

I got ready after taking a shower and went out to study.

I was torn throughout the day and when I reached home in the evening, my father and uncle had arrived, but I could not seem to see them as if they knew anything then Hindi sax Khani.

That day everything was like before and I kept doing my work.

But even now I was afraid, so I stopped going to aunt’s house.
10-15 days passed like this but I was not going there in Hindi sax Khani.

Then one day aunt called me at home and asked- What is the matter? You are not coming here nowadays?
I said that just like this aunt and then my going back and forth started again like Hindi sax Khani.

But this time the aunt also looked a bit changed.

One day I went to my aunt’s house in the morning because of my leave. Then aunt was laying on the floor and I was going to stare at her cunt the Hindi sax Khani.

Then aunt saw me but did not say anything!
Aunty finished work and went to take a bath and when she came to take a bath, she looked different.

hindi sax khani
Then aunt started talking here and there.
Suddenly aunt asked me – do I have a girlfriend?
So I said no!
Then aunt said – then you have such actions?
I was shocked.

Then aunt asked me – what kind of girlfriend should I have?
So I started avoiding the matter on Hindi sax Khani.

My aunt started asking again and again, I spoke like this – just like you.
So Aunty asked- What is it in me?
Now I was feeling a little lighter so I started praising my aunt.

Then I thought that when the matter is increasing so much, what is the harm in seeing it a little more like Hindi sax Khani.
I said – Aunty, if you had not been my aunt, I would have made you my girlfriend.
So Auntie smiled lightly.

I felt that maybe the thing could be done, so in such fun, I asked them to be their girlfriends on their knees on Hindi sax Khani.
And do not know how aunt also said yes.
I felt like wings.

Then aunt said – I am just a girlfriend, do not think anything extra.

hindi sax khani
After a while uncle also came to eat food, then after talking for a while he came home.
But where was the rest of me, then after a while I again went to my aunt’s house and started talking to her in Hindi sax Khani.
She was also talking while working.

Then I said to him – aunt, now that I have become my girlfriend, then give one to whom.
I thought aunt would get angry but she said – if you want to find another girlfriend, then all this!
Now I thought that aunt will not say anything, then I said – now whatever you are! And I will do everything with you like Hindi sax Khani.

Aunt did not say anything and started to talk.
So I said again – Aunty, you have to give one kiss on Hindi sax Khani.
So Auntie refused but she did not get angry like Hindi sax Khani.

I thought this was the right opportunity and I kissed them on the cheek.
To which he said – Is there a mind? Is you happy now?
I said – where now… the real kiss is left.

So auntie refused but where was I going to believe that and I tried to force aunt to kiss one and they pushed me back but did not say anything!

I lay quietly in their room!
After a while aunt came and started saying- No, this is all wrong, we cannot do all this.

hindi sax khani
This could not be a good opportunity for me, so I used to say so much to my aunt. Aunty was protesting lightly, but he was just showing off.
Then aunt said – someone will come.

I knew that the uncle has just gone to the store after having food and the children are at maternal uncle’s house. But still I came to lock the door and started kissing them.
This was the first kiss of my life.

use
Aunty was still protesting lightly. But I was not even removed. When I kissed, I put my one hand on his right nipple and started caressing it slightly.
And with the other hand I started caressing their backyard.

Aunt was also getting hot but she was still resisting lightly.

Now I could not control, so I started pressing aunt’s nipple hard. Aunty gave a slight sigh and told me – wait… it is all wrong.

I again put lips on aunt’s lips and started kissing them. And I started titting with one hand and pressing backward with the other.

hindi sax khani
After doing this for 10 minutes, I put my mouth on one of aunt’s nipples and started sucking on top of clothes and pressing the other.

Now aunt was taking Siskaria and she was getting drunk.

Taking advantage of this, I removed his shirt. Now aunty was in white bra.

use
I started kissing them all over the place and trying to open their bra hook by moving their hands behind, but it was not opening from me.
Then aunt took her hand behind and opened the hook of the bra and kept the bra aside.

Now I just broke on aunt’s pussy and sometimes I started sucking one of her nipples, sometimes I used to take a small bite in the middle, so that one of the aunt’s sigmas was removed.

While doing so, I put my hand gently on the aunt’s pussy, then the aunt held my hand. I let my hand remain there and started sucking and biting aunt’s tits.

In a short time, the aunt’s grip became loose, so I started caressing aunty’s pussy from above the salwar.
Now aunt was taking Siskaria.

I was sucking his cock on one side and was stroking my aunt’s pussy on one side.

Now I could not bear it, so I quickly opened the pulse of aunt’s salwar and started removing salwar with panty.
Aunty also supported me.

I too quickly removed all my clothes and became completely naked. Aunt was not saying anything.

hindi sax khani
Now I gently put my aunt on the bed and widened their thighs and sat in the middle of them, put my erect cock on aunt’s pussy and pushed it. But my cock did not go in and slipped. I tried again, the same thing happened.
Then aunt held my hand and put my cock on her pussy and I pushed one.

use
The fat supra of my cock went inside aunty’s pussy.
Ah that feeling… amazing… inexplicable awesome!

Then I slowly increased the pressure and put the whole cock inside. Aunty was taking light cigarettes.

I slowly started to push. Because the first time I was fucking any pussy, I could not know how to fuck. Start a couple of times my cock
Came out of my aunt’s pussy, but I soon learned and started banging.
The aunt was simply making loud voices out of lust and was having fun.

I started banging in a while and in 5 minutes, Aunty’s pussy got clutched. I tired and lay down on my naked aunt and aunt started loving me.

Then it was time for uncle to come that day, then aunt removed me and started wearing clothes and I also understood the fragility of the time and took clothes out of there.

hindi sax khan
But before coming, I sucked my aunt’s lips a lot, loved my aunt and took a promise from aunt that she will continue to give me a chance to fuck her pussy in the fire and will teach me to fuck well.

So friends, this was my first sex story of aunt’s pussy fuck! You can mail me your valuable suggestions or complaints at [email protected] And to read sex videos and new story, telegram group can join.

Read more chudai Stories-

xxx kahani 1 मकान मालिकन आंटी की चूत और गांड चुदाई Sex Fun

Chachi ki chudai story 1 चाची की गीली चुत को चाट के Sex

Desi antarvasna 1 दोस्त की चाची की गांड फाड़ी Fun With Chachi

Leave a Comment