Follow my blog with BloglovinLesbian sex story सहलीयों ने करवाई 1 डिल्डो से Best चुदाई

Lesbian sex story सहलीयों ने करवाई 1 डिल्डो से Best चुदाई

सहलीयों ने करवाई डिल्डो से चुदाई Lesbian sex story

Lesbian sex story: लेखिक -नेहा वर्मा. आज मेरे पास कोई काम नहीं था. मैं यूँ ही साथ वाले घर में अपनी सहेली कोमल से मिलने चली गयी. मेरी इस कहानी की नायिका कोमल है. उसकी शादी हुए लगभग ५ महीने हो गए थे. वहां हम सभी ने यानि कोमल, उसके पति रमेश और मैंने सुबह का नाश्ता किया. बातों बातों में कोमल ने बताया कि रमेश ३ दिनों के लिए दिल्ली जा रहा है. उसने मुझे तीन दिनों के लिए अपने यहाँ रुकने के लिए कहा. मैंने उसे अपनी स्वीकृति दे दी.

शाम को ८ .३० पर रमेश की गाड़ी थी. हम दोनों रमेश को स्टेशन पर छोड़ कर ९ .३० तक घर लौट आयी. हमने घर आकर अपने रात को सोने के कपड़े पहने. और बिस्तर ठीक करने लगे. फिर हम दोनों ही बिस्तर पर लेट गए. कोमल मुझे अपनी शादी के बाद के उन दिनों के किस्से सुनाती रही.

उन दोनों ने कैसे अपनी सुहाग रात मनाई और … उसके बाद की बातें भी बताई. मैं बड़े शौक से ये सब सुनती रही और रोमांचित होती रही. वो ये सब बताते हुए उत्तेजित भी गयी. मुझे इन सारी बातों का कोई अनुभव नहीं था. पर मान में ये सब सुन कर मुझे लगा की इसका अनुभव कितना सुखद होगा. ये सोचते सोचते मैं जाने कब सो गयी.

मेरी नींद रात को अचानक खुल गयी. मुझे लगा कि मेरे बदन पर कोमल के हाथ स्पर्श कर रहे थे. मैं उसके हटाने ही वाली थी कि मुझे लगा कि इसमे आनंद आ रहा है. मैं जान कर के चुपचाप लेटी रही. मैं रात को सोते समय पेंटी और ब्रा नहीं पहनती हूँ. इसलिए उसका हाथ जैसे मेरे नंगे बदन को सहला रहा था.

उसका हाथ कपडों के ऊपर से ही मेरी चुन्चियों पर आ गया और हलके हाथों से वो सहलाने लगी. मुझे सिरहन सी उठने लगी. फिर उसका हाथ मेरी चूत की तरफ़ बढने लगा. मैंने अपनी टांगे थोड़ी सी और चौड़ी कर दी. अब उसके हाथ मेरी चूत पर फिसलने लगे. मैं आनंद से काम्पने लगी. उसने धीरे से उठ कर मेरे होटों का चुम्बन ले लिया. उसका हाथ मेरी चूत को सहला रहे थे.

lesbian sex story

मैं कब तक सहती …मेरे बदन के रोगंटे खड़े होने लगे थे. उसने मेरी चूत को हौले हौले से दबानी चालू कर दी … आखिर मेरे मुंह से सिसकारी निकल ही पड़ी.

कोमल को मालूम पड़ गया की मेरी नींद खुल गयी है, लेकिन मेरे चुप रहने से उसकी हिम्मत और बढ़ गयी. उसने मेरा टॉप ऊपर करके मेरे उरोज दबाने चालू कर दिए. मेरे मुंह से सिसकी निकल पड़ी -“कोमल … क्या कर रही है … सो जा न …”

“नहीं नेहा … मुझे तो रोज़ ही चुदवाने की आदत हो गयी है … करने दे मुझे ..प्लीज़ .”

मेरा मन तो कर रहा था कि वो मुझे खूब दबाये. ये सुन कर मैं भी उसे अपनी तरफ़ खीचने लगी – “कोमल … मुझे पहले ऐसा किसी ने नहीं किया … अच्छा लग रहा है …”

“हाँ … स्वर्ग जैसा आनंद आता है … नेहा तू भी कुछ कर ना …”

मैं भी उस से लिपट गयी. उसकी चुंचियां दबाने लगी.

Lesbian sex story

उसके होंट अब मेरे होंट से जुड़ गए. वो मेरे निचले होंट को चूस रही थी और काट भी लेती थी. फिर उसने अपनी जीभ मेरे मुंह में घुसा दी. एक अलग सा आनंद मन में भरने लगा था. मेरी चूत पानी छोड़ने लगी थी. उसने मेरा टॉप उतार दिया, फिर मेरा ढीला सा पजामा भी उतार दिया.

मैं उसे रोकती रही. पर ज्यादा विरोध नही किया. मुझे भी आनंद आने लगा था. मैं भी दूसरे के सामने नंगी होने का रोमांच महसूस करना चाहती थी. कोमल ने अपने कपड़े भी उतार दिए. अब हम दोनों बिल्कुल नंगी हो गयी थी. मेरे मन में हलचल होने लगी थी. मेरे स्तनों की नोकें कड़ी हो गयी थी.

कोमल बिस्तर पर लेट गयी और अपनी टांगें ऊपर कर ली. बोली,”नेहा अपनी दोनों उन्गलियां मेरी चूत में डाल कर मुझे मस्त कर दे…”

lelesbian sex story

मैंने उसकी चूत में पहले एक उंगली डाली तो लगा- इसमें तो दो क्या तीन भी कम हैं।…मैंने अपनी दो उंगलियां उसकी चूत में डाल दी और गोल गोल घुमाने लगी। वो सिसकारियां भरती रही। मैंने अपने दूसरे हाथ की एक उंगली उसकी गाण्ड के छेद पर रखी और उसे सहलाने लगी।

lesbian-sex-story-Dildos-se-chuai-girl-sex-story Lesbian sex story

वो बोल उठी,”नेहा ! हाय राम ! गाण्ड में घुसा दे ! मज़ा आ जाएगा !”

अब मेरे दोनो हाथ चलने लगे थे। वो बिस्तर पर तड़प रही थी, और मेरा हाल उससे भी खराब था …

मुझे भी लग रहा था कि मेरे साथ भी वो ऐसा ही करे..

मैं उसके हर अंग को मसल रही थ.. चोद रही थी… और कोमल मस्ती से सिसकारियां भर रही थी। वो बोली,”बस अब रुक जा … अब तेरी बारी है … लेट जा … अब मैं तुझे मसलती हूं”

कोमल के ऐसे कहने भर से मेरी चूत में पानी भरने लगा … पहला अनुभव बड़ा रोमांचक होता है।

मुझे बिस्तर पर लिटा कर उसने मेरे स्तनों को मसलना चालू कर…पर उसका मसलने का प्यारा अनुभव था। वो जानती थी कि मज़ा कैसे आता है। उसने सबसे पहले मेरी गाण्ड में थूक लगा कर उसे चिकना किया और अपनी एक उंगली धीरे से घुसा दी… फ़िर उसने धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया। पहले तो मुझे अजीब सा लगा…

पर बाद में मीठा मीठा सा मज़ा आने लगा। अब उसने मेरी गाण्ड में दो उंगलियां घुसा दी थी… और मेरी गाण्ड के छेद को घुमा घुमा कर चोद रही थी। मैंने अपनी आंखें बंद कर ली।

lesbian sex story

अचानक मुझे लगा कि मेरी गाण्ड के छेद में लण्ड जैसा कुछ घुस गया है। मैंने तुरन्त सर उठा कर देखा… तो कोमल बोली,”लेटी रहो…ये किसी मर्द का लण्ड नहीं है … यह तो डिल्डो है…”

उसने लण्ड और अन्दर सरका दिया … मुझे दर्द होने लगा…”कोमल इस से तो दर्द होता है … निकाल दे इसे…”

” हां हां ..अभी निकालती हूं… पर पहले इसका मज़ा तो ले ले…”

” उसने मेरी गाण्ड के छेद में थोड़ा थूक लगाया, और फ़िर अन्दर बाहर करने लगी। चिकनाहट से मुझे थोड़ा आराम मिला… और धीरे धीरे मज़ा बढने लगा।

“नेहा अपनी चूत का हाल तो देख … पानी ही पानी…भीगी पड़ी है …”

मैं तो मदहोश हो रही थी… टांगें ऊंची कर रखी थी…”कोमल .. मुझे नहीं पता… बस करती रह …”

उसने मेरी गाण्ड से लण्ड निकाल लिया और मेरी चूत से उसे लगा दिया और बाहर से ही ऊपर नीचे घिसने लगी। मैंने कोमल का हाथ पकड़ कर डिल्डो को चूत में घुसा लिया और उछल पड़ी …”हाय कोमल यह तो बहुत मोटा है…”

“इसी से तो अभी गाण्ड चुदाइ है… वहां तो झेल लिया …यहां क्या हो गया…?”

“बहुत भारि लग रहा है…”

“अरे इसे झेल ले… यही तो मज़ा देगा…”

lesbian sex story

कोमल ने लण्ड अन्दर बाहर करना चलू कर दिया। मैं आनन्द से अपनी कमर उछालने लगी। उसका हाथ तेज़ी से चलने लगा। मैं आनन्द और मस्ती से इधर उधर करवटें बदलती रही… और चुदती रही।

‘कोमल …हाय… तू कितनी अच्छी है रे… मज़ा आ गया … हाय रे जीजू से भी चुदवा दे… हाय …”

उसने मेरे होंठों पर उंगली रख दी – “रानी अभी तो चुदा लो… फ़िर देखेंगे तुम्हारे जीजू को भी…”

मैं जाने क्या क्या बोलती रही और सीत्कार भरती रही… मुझे खुद नहीं पता था… पर अब मुझे लगा कि मैं झड़ने वाली हूं…”हाय.. हाय… कोमल … हाय … मैं गई … मेरा निकला …कोमल … आऽऽऽऽ ईऽऽऽई … मैं गई … मर गई … मेरी मांऽऽऽ … हाय रे…। रे… ये… ये… गई …”

lesbian sex story

कहते हुए मैंने कोमल का हाथ पकड़ लिया… और मेरा पानी छूट गया… और पूरी झड़ गई…

पर अभी बस कहां…

कोमल मुझे छोड़ कर बिस्तर पर उल्टी लेट गई … “नेहा अब तू चालू हो जा…”

वो घोड़ी बन गई… मैंने डिल्डो उसकी गाण्ड के छेद पर रखा… और थोड़ा सा जोर लगाया…

वो तो सरसराता हुआ अन्दर ऐसे गया जैसे कि पहले से ही रास्ता जानता हो… वो आहें भरने लगी …

मैं जिस तरह पहले चुदी थी … उसी अन्दाज़ में उसे भी चोदती रही… फ़िर उसकी चूत में डिल्डो डाल कर उसकी मस्ती बढाने लगी … वो डिल्डो से चुदा कर शान्त हो गई। उसका मन अब भर गया था … वो सन्तुष्ट हो गई थी …

पर मैं … मुझे बहुत अच्छा लगा था… मैंने कोमल को प्यार किया …और कोशिश करने लगी कि मुझे नींद आ जाए…

पाठको ! अपने विचार भेजें-

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा.

Lesbian sex story

Read in English

Sahli se saath Lesbian sex story

Lesbian sex story: author-neha verma. Today I had no work. I went to meet my friend Komal in the same house. My heroine of this story is soft. He had been married for almost 5 months. All of us there ie Komal, her husband Ramesh and I had breakfast in the morning. Komal told me that Ramesh is going to Delhi for 3 days. He asked me to stay here for three days. I gave him my approval.

Ramesh had a car at 9.30 in the evening. We both left Ramesh at the station and returned home by 9.30. We came home and wore gold clothes in our night. And started fixing the bed. Then both of us lay down on the bed. Komal kept telling me stories of those days after her marriage and lesbian sex story.

How did both of them celebrate their happy night and… after that, they also told. I kept listening to all this with great passion and was thrilled. She got excited saying all this. I had no experience in all these things. But after listening to all this, I felt how pleasant it would be to experience. Thinking about when I fell asleep and got lesbian sex story.

My sleep suddenly opened up at night. I felt that Komal’s hands were touching my body. I was about to remove it, I thought I was enjoying it. Knowing I lay quietly. I do not wear panties and bras at night. So his hand was like my bare body then lesbian sex story.

Her hand came from the top of my clothes and I started caressing with light hands. I started getting headlong. Then his hand started moving towards my pussy. I widened my legs a little more. Now his hands started sliding on my pussy. I started shaking with joy. He got up slowly and kissed my hot lips. His hands were caressing my pussy.

lesbian sex story
How long did I bear… My body was starting to stand. He started to press my pussy gently… After all, my mouth started coming out.

Komal came to know that my sleep has opened up, but my courage increased with my silence. He started pressing my Uros by raising my top. Sob came out of my mouth – “Komal… what are you doing… don’t sleep…lesbian sex story.

“No Neha… I am used to fucking you every day… Let me .. Please.”

I was feeling that he had to press me a lot. Hearing this, I also started to pull him towards me – “Gentle … No one has done this to me before … I feel good …”

“Yes… Enjoys like heaven… Neha you don’t do anything…”

I also hugged him. He started pressing his fingers. His hots have now joined my hont. She was sucking my lower horn and used to bite. Then he inserted his tongue in my mouth. A different joy was beginning to fill in the mind. My pussy was starting to drop water. He removed my top, then also removed my loose pajamas then lesbian sex story.

I kept stopping her. But did not resist much. I too started enjoying. I also wanted to feel the thrill of being naked in front of others. Komal also took off her clothes. Now both of us were completely naked. There was a stir in my mind. The tips of my breasts were tightened.

Komal lay down on the bed and lifted her legs. She said, “Neha put both my fingers in my pussy and make me cool …”

lelesbian sex story
I first put a finger in her pussy, I thought – two or three are less in it… I put my two fingers in her pussy and started rolling round. She kept on sobbing. I put one finger of my other hand on his Gand hole and started caressing it.

lesbian-sex-story-dildos-se-chuai-girl-sex-story
She said, “Neha! Hi Ram! Get into the Gand! Will be fun! “

Now both my hands started moving. She was in bed, and my condition was worse…

I also felt that he should do the same with me…lesbian sex story.

I was rubbing every part of her .. she was fucking me… and she was filling hers with soft fun. She said, “Just stop now … Now your turn is … Lie down … Now I squeeze you”

With the saying of Komal, the water started filling my pussy… The first experience is very exciting.

She started rubbing my breasts while lying on my bed… but she had a lovely experience of mashing. She knew how to have fun. He first spit into my gand and smoothed it and slowly inserted his finger… then he slowly started to get in and out. At first I felt strange…lesbian sex story.

But later on, it started being sweet and sweet. Now he had inserted two fingers into my Gand… and was rubbing my Gand hole by twisting. I close my eyes.

lesbian sex story
Suddenly I felt that something like LND had entered my Gand hole. I immediately raised my head and then looked softly, “Keep lying down … This is not a man’s lund … This is a dildo …”

He moved LND and inside… I started to ache… ”Gentle it hurts… Remove it…”

“Yes, yes … I just take it out… but first enjoy it…”

“She put a little spit in my Gand hole, and then started going out inside.” The smoothness gave me a little rest… and slowly the fun started increasing the lesbian sex story.

“Neha see the condition of your pussy… water only water… is wet…”

I was getting drunk… kept my legs elevated… ”soft… I don’t know… just keep doing…lesbian sex story.

He took LND out of my Gand and attached it to my pussy and started rubbing it down from outside. I grabbed Komal’s hand and inserted the dildo into her pussy and jumped … “Hi Komal it is too fat…lesbian sex story.

“That is why Gand is still chudai… I have suffered there… what has happened here…?”

“I feel very…”

“Hey, handle it… that’s what will give fun…”

lesbian sex story
Komal started moving in and out of LND. I started bouncing my waist with joy. His hand started moving fast. I kept turning around with joy and fun… and kept chudti.

‘Komal… Hi… You are so good, Re… Enjoyed… Hi, give me Chudwa from Jiju… Hi… ”

He put a finger on my lips – “Take the queen right now… then see your brother-in-law too…the lesbian sex story.

I knew what she was saying and continued to entertain me… I did not know myself… but now I felt that I was going to fall… ”Hi .. Hi… Komal… Hi… I went… My exit… Komal… Aaee… I went … Died… my mother… Hi Ray…. Ray… this… this… gone… ”

lesbian sex story
Saying, I held Komal’s hand… and I lost my water… and I fell completely…

But just where…

Komal left me and lay down on the bed… “Neha, now you go on…”

She became a mare… I put the dildo on her Gand hole… and thrust a little bit…lesbian sex story.

He went in cursory as if he already knew the way… he started sighing…

The way I was before sex… in the same way she kept fucking her… Then she started increasing her fun by putting a dildo in her pussy… she got quiet with a dildo. Her mind was filled now… she was satisfied…lesbian sex story.

But I… I loved it… I loved Komal… and started trying to make me sleepy…

Readers! Send your thoughts –

Read More Sex Story –

buaa ki chudai बुआ को चोदा शादी से पहले real chudai stories

family ki chudai मुझे और मेरी मम्मी को अंकल ने चोदा hindi saxy story

hindi sexy aunty stories आंटी को चोद के दिया सुकून भरा दर्द

1 thought on “Lesbian sex story सहलीयों ने करवाई 1 डिल्डो से Best चुदाई”

Leave a Comment