Follow my blog with BloglovinHindi chudai story 1 दोस्त की मौसी की बड़ी गांड चाटी Best

Hindi chudai story 1 दोस्त की मौसी की बड़ी गांड चाटी Best

दोस्त की मौसी की बड़ी गांड चाटी Hindi chudai story

Hindi chudai story: मेरे ऑफिस के एक दोस्त की बहन की शादी थी. उसने सबको शादी में बुलाया था. शादी में मेरी मुलाकात उसकी मस्त और सेक्सी मौसी से हुई. मौसी ने मेरे साथ क्या किया?

हाय दोस्तो, कैसे हो आप सब! दोस्तो मैं MastHindiStory का नियमित पाठक हूं।
अब तक जितनी भी कहानियां यहाँ प्रकशित हुई हैं मैंने सभी पढ़ी हैं और पढ़कर बहुत मजे लिये हैं. आज मैं आप लोगों को अपनी कहानी भी बताना चाहता हूं.

लेकिन उसके पहले मैं आपको अपने बारे में बता दूं. मेरा नाम सनी शर्मा है और मैं मूल रूप से मध्यप्रदेश के एक शहर खंडवा से हूं. जहां तक मेरी कद-काठी की बात है तो मेरी हाइट पांच फीट और नौ इंच है. मेरा शरीर गठीला है और तंदुरुस्त है. मेरा रंग थोड़ा सा सांवला है लेकिन अपने मजबूत शरीर को बनाये रखने के लिए मैं नियमित रूप से जिम जाता हूं.

पढ़ाई ख़त्म करके मैं नौकरी की तलाश में भोपाल आया था तो मुझे मेरी किस्मत के चलते नौकरी भी लग गयी. वहां पर मेरी सभी से अच्छी दोस्ती हो गयी.

एक बार हमारे ऑफिस के एक दोस्त की बहन की शादी फिक्स हुई. शादी दिसंबर में ही होनी थी. दिसंबर महीने में भोपाल में काफी ठंड होती है.

शादी वाले दिन हम सुबह से ही उसके घर जाकर काम-काज में लगे हुए थे. सभी को कुछ न कुछ काम दिये गये थे. मुझे भी एक काम दिया गया था. मुझे स्टेशन से उसके रिश्तेदारों को घर तक लेकर आना था.

तभी उसकी मौसी भी स्टेशन पर आ पहुंची थी. दोस्त ने मुझे कहा कि मौसी स्टेशन पर आ गई है और मैं उसे जाकर स्टेशन से जाकर ले आऊं.

मैं उसकी मौसी को स्टेशन से लेने के लिए चला गया. रेलवे स्टेशन पर जाकर मैंने कॉल किया तो मैंने मौसी से कहा कि मैं टिकट काउंटर के पास खड़ा हुआ हूं. मौसी ने मुझे वहीं पर रुकने के लिए कहा.

hindi chudai story

कुछ देर के बाद मुझे किसी ने पीछे से आवाज दी तो मेरे दोस्त की मौसी ही थी. वो एक 47-48 साल की सांवली-सलोनी लेकिन खूबसूरत महिला थी. उनका नाम मधुबाला था. नाम की तरह ही वो काफी सुंदर थी. चेहरा लम्बा, उस पर बड़ी सी बिंदी और आंखें बड़ी-बड़ी. उनके लिप्स बिल्कुल अप्सरा की तरह बड़े और उस पर रेड लिपस्टिक और लिप्स के ऊपर बड़ा सा काला तिल था.

बला की खूबसूरत थी वो. उन्होंने काला सा ब्लाउज पहना हुआ था. ब्लाउज बिल्कुल टाइट था जिससे उनकी दोनों चूचियों के आपस में सट जाने के कारण एक लाइन बन रही थी. उन्होंने गले में बस एक मोटी सी सोने की चेन पहनी हुई थी जो कि उनके उभारों के बीच फंसी हुई थी.

उनकी गांड का साइज 42 के करीब था. उनकी गांड को देख कर लग रहा था कि जैसे पहाड़ उठे हुए हों. चूचियां इतनी बड़ी कि हाथों में ही न आएं. उनको देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो सकता था. उनका जो साड़ी पहनने का तरीका था उसमें भी एक खासियत थी. वो अपनी साड़ी को अपनी नाभि के लगभग तीन इंच नीचे पहनती थी. इस कारण उनकी नाभि बिल्कुल साफ दिखाई देती थी.
उनकी नाभि इतनी बड़ी थी कि उसमें दो उंगलियां आराम से चली जायें.

कुल मिला कर दोस्त की मौसी बिल्कुल कयामत थी. उनको देख कर मेरा लंड भी टाइट हो गया था. मेरे लंड का आकार मेरी पैंट के ऊपर से ही नजर आने लगा था. उन्होंने भी शायद मेरे तने हुए लंड को देख लिया था. मगर उन्होंने इस बारे में कुछ भी महसूस नहीं होने दिया कि उनको भी मेरी उत्तेजना के बारे में पता चल गया है.

मगर जब वो अजीब से ढंग से मुस्कराई तो मुझे इसका अंदाजा हो गया था. मैं भी उनको देख कर मुस्कराने लगा.

मुझे मुस्कराता हुआ देख कर मौसी पूछने लगी- क्या हुआ, क्यों मुस्करा रहे हो?
मैंने कहा- कुछ नहीं मौसी.

उसके बाद मैंने मौसी की तरफ नहीं देखा क्योंकि मेरी चोरी पकड़ी गई थी. फिर हम दोनों कार में बैठ गये. चलने लगे तो थोड़ी दूर चलने के बाद मौसी ने मुझसे पूछने लगी- तुम्हारी शादी हो गई है क्या?
मैंने कहा- नहीं मौसी.

hindi chudai story

मौसी बोली- क्यों, तुम तो जवान हो गये हो और स्मार्ट भी हो. फिर शादी क्यों नहीं कर रहे?
मैंने कहा- बस मौसी, अभी तो मैं करियर को लेकर फोकस कर रहा हूं. शादी का समय आने पर शादी भी कर लूंगा.

तब मैंने मौसी से पूछा- आपकी फैमिली में कौन-कौन है?
मौसी बोली- मेरा एक बेटा है अजय. वो दिल्ली में जॉब करता है. मैं देहरादून में अकली रहती हूं.
ऐसे ही आपस में बातें करते हुए हम लोग दोस्त के घर पहुंच गये.

घर जाने के बाद सब लोग इधर-उधर के कामों में बिजी हो गये. शादी के बड़े से बैंक्विट हॉल में थी. वहां पर जाने के लिए सब लोग ही तैयार होने लगे. तभी दोस्त की मां मेरे पास आई कि मौसी को एक बार ब्यूटी पार्लर तक छोड़ आओ.

मैं मौसी को छोड़ने के लिए चला गया. फिर मैं वापस आ गया. उसके बाद मौसी को वापस लेने गया. लेकिन मौसी तब तक तैयार ही नहीं हुई थी. वो कहने लगी कि मेरी साड़ी और ब्लाउज तो घर पर ही रह गया है. फिर हम दोनों वापस घर आये.

जब हम घर वापस आये तो सब लोग घर से जा चुके थे. घर पर कोई भी नहीं था. मौसी अंदर जाकर चेंज करने लगी और मैं बाहर ही मौसी का इंतजार करने लगा. फिर मौसी ने मुझे आवाज लगाई.
मैं रूम में गया तो मौसी के हाथ पीछे उनकी पीठ पर नहीं पहुंच पा रहे थे. मौसी को ब्लाउज के हुक बंद करने में दिक्कत हो रही थी. एक बार तो मैं घबरा सा गया क्योंकि घर पर हम दोनों के अलावा कोई और नहीं था. ऐसी हालत में मैं मौसी के साथ कमरे में अकेला था और उनका ब्लाउज खुला हुआ था.

मगर तुरंत ही मेरे मन में मौसी के प्रति चूत चुदाई की हवस जागने लगी. मैंने मौके का फायदा उठाने की सोची. मैं मौसी के करीब गया और हुक बंद करने में उनकी मदद करने लगा. मौसी की गांड को देख कर मेरा लंड तो पहले से ही तनाव में आना शुरू हो गया था. उस पर उनकी पीठ भी नंगी दिख रही थी. उन्होंने नीचे से रेड कलर की ब्रा पहनी हुई थी और नीचे पेटीकोट पहना हुआ था.

hindi chudai story

मैं मौसी के करीब पहुंचा तो मेरा तना हुआ लंड मौसी की गांड पर टच होने लगा. उसके बाद जो हुआ मुझे उसकी उम्मीद भी नहीं थी. मौसी ने पीछे हाथ लाकर मेरे तने हुए लंड को मेरी पैंट के ऊपर से ही अपने हाथ में पकड़ लिया. उनकी मुट्ठी मेरे लंड पर कस गई थी.

अब तो जैसे मेरे बदन में आग लग गई और मैंने वहीं पर मौसी को अपनी बांहों में भर कर उनको किस करना शुरू कर दिया.

मौसी फिर मेरी तरफ घूम गई और हम दोनों के होंठों ने एक दूसरे के मुंह का रस पीना शुरू कर दिया. मैंने मौसी के होंठों को कई मिनट तक चूसा. फिर मौसी के हाथों को ऊपर उठा लिया और मौसी की बगलों को चाटने लगा. उनकी बगलों की खुशबू ने मुझे पागल कर दिया. मेरी यह हरकत मौसी को भी काफी पसंद आई.

फिर मैंने मौसी के पेटीकोट के नाड़े को नीचे खींच दिया. नाड़ा खींचते ही पेटीकोट नीचे गिर गया और मौसी नीचे से नंगी हो गई. उन्होंने नीचे पैंटी नहीं पहनी थी. मेरी नजर मौसी की चूत पर गई. उनकी चूत पर बड़े-बड़े बाल थे.
मुझे ऐसी बालों वाली चूत को देखने और चाटने का बहुत मन करता था. मैं कई बार इंटरनेट पर पॉर्न देखते हुए ऐसी बालों वाली चूत देखना ही पसंद करता हूं.

मैंने सीधे उनकी चूत पर अपने होंठ रख दिये. मैंने उनकी चूत में जीभ दे दी. मौसी की सिसकारी निकल गई- आह्ह …
वो मेरे सिर को अपनी चूत में धकेलने लगी.

फिर मौसी ने मुझे कंधों से पकड़ कर ऊपर उठने का इशारा किया. ऊपर उठते ही मौसी ने मेरी शर्ट के बटन खोलना शुरू कर दिये. मौसी ने मेरी शर्ट उतार कर मेरी छाती को नंगी कर दिया और मेरी छाती को चूमने लगी. वो मेरे निप्पलों को काटने लगी.

मुझे अजीब सा नशा होने लगा लेकिन साथ ही हल्की सी गुदगुदी भी हो रही थी. काफी देर तक वो मुझे चूसती काटती रही.

hindi chudai story

उसके बाद मौसी के हाथ मेरी पैंट की तरफ बढ़े. उन्होंने मेरी पैंट को अपने हाथों से खोला और मेरी पैंट को नीचे सरका दिया. मेरा लंड मेरी चड्डी में तना हुआ था. मौसी तुरंत नीचे बैठ गई और मेरी चड्डी के ऊपर से ही मेरे लंड को चाटने लगी. वो लंड की काफी प्यासी लग रही थी क्योंकि इस तरह की कामुक हरकतें वही महिलाएं करती हैं जिनको महीनों भर से लंड नसीब न हुआ हो.
उन्होंने मेरी चड्डी के ऊपर से मेरे लंड को चाटते हुए मेरे अंडवियर को पूरा गीला कर दिया.

इधर मेरी हालत खराब हो रही थी. लंड की नसें जैसे फटने वाली थीं.

फिर मौसी ने मेरी हालत पर तरस खाकर मेरी चड्डी को नीचे किया और जैसे उनको मेरे लंड के दर्शन हुए वो पहले तो मेरे मोटे लम्बे लंड को हाथ में लेकर उसका मुआइना करने लगी और फिर एक दो बार उसको अपने हाथ में लेकर सहलाया और फिर उसको अगले ही पल मुंह में भर लिया. मौसी पागलों की तरह मेरे लंड को चूसने लगी.

वो जोर-जोर से मेरा लंड चूस रही थी. मैं मौसी को रोक देना चाहता था क्योंकि मैं पहले ही उत्तेजना में था और मौसी की चुसाई इतनी तेज थी कि मेरा वीर्य निकलने वाला था.

hindi chudai story

लेकिन पता नहीं मैं मजा लेता रहा और अचानक ही मेरा वीर्य निकलने को हो गया और मैंने सारा वीर्य मौसी के मुंह में ही छोड़ दिया. मौसी ने मेरे वीर्य को अंदर ही पी लिया. कुछ देर तक मेरा लंड शांत हो गया.

मौसी को काफी तजुरबा था. उनको मेरा वीर्य निकालने का कोई मलाल नहीं था. वो मुझे बेड पर लेकर आराम से लेटी रही और हम दोनों एक दूसरे को चूमते रहे.

कुछ देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा. मौसी ने अपने हाथ में लेकर मेरे लंड का तनाव चेक किया. अभी लंड में पूरा तनाव नहीं आया था. फिर मैंने मौसी की गांड चाटने की इच्छा जताई. मौसी तैयार हो गई.

दोस्तो, मुझे आंटियों और लड़कियों की गांड की खुशबू लेना और चाटना बहुत पसंद है. मैं मौसी की गांड को चाटने लगा. मौसी भी गांड चटवाने का आनंद लेने लगी.

hindi chudai story

जब कई मिनट तक गांड को चाटता रहा तो मौसी ने कहा- ये सब किसी और दिन कर लेना. अभी हमारे पास ज्यादा वक्त नहीं है. जल्दी से चुदाई निपटा लेते हैं. मेरी चूत में लंड को लेने की आग लगी हुई है. जल्दी से अपने लंड को मेरी चूत में डाल कर इसकी आग को शांत कर दो.

मैंने मौसी के पैरों को फैला दिया और उनकी बड़ी सी चूत मेरे सामने थी. मुझे मौसी की चूत के बाल बहुत ही पसंद आ रहे थे. मैंने एक बार मौसी की चूत को किस किया और फिर अपने लंड को मौसी की बालों वाली चूत पर फिराने लगा. स्स्स … मजा आ रहा था. मौसी की चूत गीली हो चुकी थी.

मैंने फिर से मौसी की चूत की पप्पी ली और अपने लंड से उनकी चूत पर थपकी देने लगा.
फिर मौसी जी ने कहा- बस कर सनी … आ अब चोद इसे! चोद-चोद कर सारा पानी निकाल दे! बहुत तंग करती है रे ये! क्या करूँ!

मौसी जी ने अपने पैर ऊपर उठा लिए और मेरा लण्ड पकड़ कर अपनी चूत में डाल लिया, मेरा लण्ड आसानी से मौसीजी की चूत में चला गया क्योंकि उनकी चूत काफी बड़ी थी.
लंड अंदर गया तो मौसी ने हल्का सा उई किया बस!

mosi-xxx-story-mosi-ki-chudai-hindi-chudai-story

मैं अब धक्के लगाने लगा, मौसी भी मेरे हर धक्के का जवाब अपने धक्के से दे रही थी. वो कह रही थी- चोद सनी चोद! उईई … उफ् … उफ्फ … जोर से! मजा आ रहा है और जोर से बेटा …
फच-फच कर रही थी मौसी की चूत चुदाई के वक्त! बहुत मजे से हम दोनों चुदाई कर रहे थे.

काफी देर तक मैंने उनकी चुदाई की और मौसी फिर मेरे ऊपर आकर चुदने लगी. मौसी मेरे लंड पर जोर जोर से कूद रही थी, ऐसा लग रहा था जैसे पलंग टूट जायेगा. मौसी की लंडखोर चूत की प्यास अच्छे से बुझाने की पूरी कोशिश कर रहा था मैं. मैंने काफी देर तक मौसी की चूत को जोर से धक्के दे देकर चोदा. मौसी भी पूरे रिदम में मेरे लंड पर उछलती रही. पच-पच की आवाजों से कमरा गूंज उठा. अब मेरा वीर्य निकलने के करीब हो गया था.

hindi chudai story

उसके बाद मैंने मौसी से कहा- मेरा निकलने वाला है, कहां पर निकालूं?
तो मौसी बोली कि इसके बारे में तुम्हें चिन्ता करने की जरूरत नहीं है. मैंने पहले से ही ऑपरेशन कराया हुआ है. तुम बेफिक्र होकर मेरी चूत को अपने माल से भर दो! हाय … मेरी चूत आह्ह … मर गयी …
कहते हुए मौसी और जोर से मेरे लंड पर कूदने लगी.

hindi chudai story

ऐसा लग रहा था कि मौसी मेरे लंड को तोड़ ही डालेगी.

“आह्ह् … मैं तो गई …” कहते हुए मौसी की चूत से पानी बहने लगा.

मौसी बोली- जल्दी निकालो, मैं तुम्हारे गर्म वीर्य को चूत में महसूस करना चाहती हूं.

मैंने भी दो तीन धक्कों के बाद मौसी की चूत में वीर्य छोड़ना शुरू कर दिया. मैंने अपना सारा लावा मौसी की चूत में भर दिया. मौसी की चुदास शांत हो गई थी और मैं भी थक गया था.

मैंने फोन उठा कर देखा तो दोस्त के दस मिल कॉल आये हुए थे. उसके बाद हम दोनों जल्दी से उठे दोनों साथ में ही नहाये. फिर मौसी जी तैयार हुई और हम सीधे होटल जा पहुंचे.

मेरा दोस्त पूछने लगा- तुम लोग इतना लेट कैसे हो गये?
इसी बीच मौसी बोल पड़ी- वो मेरे पैर में मोच सी आ गई थी. तो हम एक बार डॉक्टर के पास चले गये थे.
मेरे दोस्त ने कहा- मौसी का ध्यान रखने के लिए थैंक्स सनी.

उसके बाद मौसी और मैं साथ में खाना खाने लगे. मैंने मौसी का नम्बर ले लिया और मौसी ने मेरा नम्बर ले लिया. उसके बाद मैं अपने घर आ गया.

hindi chudai story

दोस्तो, आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी. आप नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स में अपने विचार जरूर बतायें. मैं आपके लिए आगे भी ऐसी गर्म कहानियां लिखने का प्रयास करूंगा. आप मुझे मैसेज भी कर सकते हैं. मैंने अपना मेल आई-डी नीचे दिया हुआ है.
आपका अपना दोस्त सनी शर्मा
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा.

hindi chudai story

Read in English

Mosi ki Gand chati aur chudai hindi chudai story

Hindi chudai story: My office friend had a sister’s wedding. He invited everyone to the wedding. At the wedding, I met her cool and sexy aunt. What did my aunt do to me?

Hi friends, how are you all! Friends, I am a regular reader of MastHindiStory.
I have read all the stories published here till now and have enjoyed a lot by reading. Today I want to tell my story to you too and hindi chudai story.

But before that, let me tell you about myself. My name is Sunny Sharma and I am originally from Khandwa, a city in Madhya Pradesh. As far as my height is concerned, my height is five feet and nine inches. My body is firm and healthy. My complexion is a bit dark but to maintain my strong body I go to the gym regularly.

After finishing my studies, I came to Bhopal in search of a job, so I got a job due to my luck. I had a good friendship with everyone there a hindi chudai story.

Once the wedding of the sister of a friend of our office was fixed. The wedding was to be held in December only. It is very cold in Bhopal in December.

On the wedding day, we went to his house from morning to work. Everybody was given some work. I was also given a job. I had to bring his relatives home from the station hindi chudai story.

Then her aunt also reached the station. The friend told me that Aunty has come to the station and I should go and fetch her from the station and start hindi chudai story.

I went to pick up her aunt from the station. When I called at the railway station, I told my aunt that I was standing near the ticket counter. Auntie asked me to stay there.

hindi chudai story
After some time, if someone gave me a voice from behind, then my friend’s aunt was there only. She was a 47-48 year old Sanoli-Saloni but beautiful woman.

His name was Madhubala. Like the name, she was quite beautiful. Face long, big dot on it and big eyes. His lips were big like nymph and had red lipstick on them and a big black mole on top of the lips on the hindi chudai story.

She was beautiful He was wearing a black blouse. The blouse was absolutely tight due to which a line was being formed due to both of them getting tied together. He was wearing just a thick gold chain around his neck which was stuck between his bulges and hindi chudai story.

His ass size was close to 42. Seeing his ass, it seemed as if the mountains were up. Tits are so big that they don’t come in your hands. Seeing them, anyone’s cock could be erected to the hindi chudai story.

The way he wore his sari was also a specialty. She wore her sari about three inches below her navel. Because of this, his navel was clearly visible to the hindi chudai story.
His navel was so big that two fingers could move comfortably in it.

Overall, the friend’s aunt was absolutely doom. Seeing them, my cock was also tight. The size of my cock was visible from the top of my pants. They too had probably seen my taut cocks. But he did not let anything feel about him that he too came to know about my excitement in hindi chudai story.

But when he smiled awkwardly, I had an idea. I smiled seeing them too.

Seeing me smiling, aunt started asking – what happened, why are you smiling?
I said – nothing aunt.

After that I did not look at my aunt because my theft was caught. Then both of us sat in the car. After walking a little distance, aunt started asking me – are you married?
I said no mother.

hindi chudai story
Aunty said- Why, you have become young and you are also smart. Why not marry again?
I said – Just auntie, for now I am focusing on the career. When the time of marriage comes, I will also get married.

Then I asked my aunt – who are in your family?
Aunty said – I have a son Ajay. He works in Delhi. I live in Dehradun.
While talking among ourselves, we reached the friend’s house like hindi chudai story.

After getting home, everyone got busy with things here and there. The elder of the wedding was in the banquet hall. Everyone started getting ready to go there. Then the friend’s mother came to me to leave her aunt once in the beauty parlor.

I went to leave my aunt. Then I came back. After that aunt went to take back. But aunt was not ready till then. She started saying that my sari and blouse have remained at home. Then we both came back home to the hindi chudai story.

When we came back home, everyone had left home. There was no one at home. Aunty started changing inside and I started waiting for aunty outside. Then auntie called me.
When I went to the room, my aunt’s hands were unable to reach her back then hindi chudai story.

Aunty was having trouble in closing the blouse’s hook. Once I got nervous because there was nobody else at home other than us. In such a situation, I was alone in the room with my aunt and her blouse was open and start hindi chudai story.

But immediately the lust of pussy fuck towards my aunt started waking up. I thought of taking advantage of the opportunity. I got close to my aunt and started helping her to get off the hook. Seeing aunt’s ass, my cock had already started getting tense. His back was also seen naked on it. He was wearing a red color bra at the bottom and a petticoat below.

hindi chudai story
When I reached close to my aunt, my taut cock started touching my aunt’s ass. I did not even expect what happened after that. Auntie brought her back and grabbed my trunk cocks in my hand from the top of my pants. His fist was tight on my cock.

Now as if my body caught fire and I started kissing my aunt in my arms there like hindi chudai story.

Aunty then turned towards me and the lips of both of us started drinking each other’s mouth juice. I sucked my aunt’s lips for several minutes. Then lifted her aunt’s hands up and started licking aunt’s side. The fragrance of their sides made me mad. My aunt also liked this act very much.

Then I pulled down the pulse of aunt’s petticoat. As soon as the pulse was drawn, the petticoat fell down and the aunt became naked from below. He did not wear panties below. My eyes went to aunt’s pussy. He had big hair on his pussy hindi chudai story.
I used to feel like watching and licking such hairy pussy. I like to watch such hairy pussy while watching porn on internet many times.

I put my lips directly on her pussy. I gave her tongue in her pussy. Aunty’s sig got out – Ahh…
She started pushing my head in her pussy and hindi chudai story.

Then auntie held me by the shoulders and indicated to rise. As soon as I got up, my aunt started unbuttoning my shirt. Auntie took off my shirt and bare my chest and started kissing my chest. She started biting my nipples like hindi chudai story.

I started getting strangely intoxicated but at the same time was getting a little tickle. She kept on sucking me for a long time.

hindi chudai story
After that aunt’s hands moved towards my pants. He opened my pants with his hands and shrugged my pants down. My cock was stretched in my pantyhose. Aunty immediately sat down and started licking my cock from the top of my tights. She was feeling quite thirsty for cocks because such sexual acts are done by women who have not had cocks for months.
He made my underwear completely wet by licking my cock on top of my tights but I got hindi chudai story.

My condition was getting worse here. The nerves of cocks were about to explode.

Then my aunt pity on my condition, took down my trunks and as he came to see my cock, he first took my thick long cock in his hand and inspected it and then took it twice in his hand and caressed it. The next moment he filled his mouth. My aunt started sucking my cock like crazy then hindi chudai story.

She was sucking my cock loudly. I wanted to stop Aunty because I was already in excitement and aunt’s kiss was so fast that my semen was going to come out. But I do not know, I continued to enjoy and suddenly my semen came out and I left all the semen in my aunt’s mouth. Auntie drank my semen inside. For some time, my cock got quiet in hindi chudai story.

Aunty had a lot of experience. He had no qualms about extracting my semen. She lay down comfortably with me on the bed and we both kissed each other.

After some time, my cock started standing again. Auntie in my hand checked the tension of my cock. Right now there was no tension in the cocks. Then I expressed my desire to lick my aunt’s ass. Aunty got ready to hindi chudai story.

Friends, I love the ass and lick of aunts and girls. I started licking Aunty’s ass. Aunty also started enjoying ass licking.

hindi chudai story
When she licked the ass for several minutes, her aunt said – do all this on another day. We do not have much time yet. Quickly settle the fuck. There is a fire to take cocks in my pussy. Put your cock in my pussy quickly and calm its fire.

I spread my aunt’s legs and her big pussy was in front of me. I was loving aunt’s pussy hair very much. I kissed aunty’s pussy once and then started to move my cock on aunty’s hairy pussy. Sss… I was enjoying. Aunty’s pussy was wet in hindi chudai story.

I took aunty’s pussy again and started to slap her pussy with my cock.
Then Aunty said – just do it Sunny… now Chod it! Remove all the water after fucking it! It bothers me a lot! What to do the hindi chudai story.

Aunty lifted her legs and grabbed my Lund and put it in her pussy, my Lund went easily into Mausiji’s pussy because his pussy was very big.
When the cock went inside, aunty did a little bit of oozing in hindi chudai story.

mosi-xxx-story-mosi-ki-chudai-hindi-chudai-story
Now I started to push, my aunt was also answering my every blow with her blow. She was saying- Chod Sunny Chod! Uui… Uff… Uff… Loud! Enjoying and loud son…Hindi chudai story.
Fucca was doing aunty’s pussy while fucking! We were both fucking very interestingly.

I fuck him for a long time and aunt came again and started fucking me. My aunt was jumping very hard on my cock, it seemed as if the bed would break. I was trying my best to quench the thirst of lustful pussy of aunty. I banged my aunt’s pussy for long enough. Aunty also kept jumping on my cock in the whole rhythm. The room was echoed by the sounds of digging. Now my semen was close to being released.

hindi chudai story
After that I told my aunt – I am going to leave, where do I get out?
So Auntie said that you do not need to worry about it. I have already had the operation done. You carelessly fill my pussy with your goods! Hi… my pussy ah… died…hindi chudai story.
Saying aunt and loudly started jumping on my cock.

It seemed that my aunt would break my cock.

Saying “Ahh… I have gone…”, water started flowing from aunt’s pussy.

Aunty quote- Get out soon, I want to feel your hot semen in the pussy and hindi chudai story.

I also started dropping cum in aunt’s pussy after two to three bumps. I filled all my lava in Aunty’s pussy. Aunty’s chudas calmed down and I was also tired but hindi chudai story.

When I picked up the phone, I saw ten calls from friends. After that we both got up quickly and both took baths together. Then Aunty got ready and we went straight to the hotel.

My friend started asking – how did you guys get so late?
Meanwhile, auntie spoke – she had sprained my leg. So we went to the doctor once.
My friend said – Thanks Sunny for taking care of my aunt miss the hindi chudai story.

After that aunt and I started eating together. I took aunt’s number and aunt took my number. After that I came to my house.

hindi chudai story
Friends, how did you like this story of mine. You should definitely tell us your thoughts in the comment box given below. I will try to write such hot stories for you even further. You can also message me. I have given my mail id below in hindi chudai story.
Your own friend sunny sharma
[email protected]

More Hot Sex Story-

ऑफिस की पंजाबन आंटी की चुदाई | hot aunty sex stories

चाची की गीली चुत को चाट के चुदाई | chachi ki chudai story – real chudai stories

नाईटी खोल चाची की गांड को चाटा – Chachi xxx Story – Chachi ki khani

3 thoughts on “Hindi chudai story 1 दोस्त की मौसी की बड़ी गांड चाटी Best”

Leave a Comment