Bhabhi ki Antarvasna पड़ोसन भाभी के साथ पहली बार सेक्स 1 fun

पड़ोसन भाभी के साथ पहली बार सेक्स Bhabhi ki Antarvasna

Bhabhi ki Antarvasna: ये कहानी पड़ोस में रहने वाली भाभी की चुदाई की है. एक बार मैंने उनके फोन में पोर्न ब्लू विडियो देखी तो मुझे लगा कि भाभी की वासना बढ़ी हुई है. मैंने भाभी को चोदा! कैसे?

Mast Hindi Story के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. चूत की रानियों को मेरे लंड का प्यार भरा चुम्बन. Mast Hindi Story पर यह मेरी पहली सेक्स कहानी है और यह मेरे साथ घटी हुई भाभी की वासना और चुदाई कीसच्ची कहानी है, जो 7-8 साल पहले मेरे साथ घटी थी.

मैं अपने बारे में बता देता हूं. मेरा नाम राजवीर है और मैं राजस्थान के जयपुर शहर में रहता हूँ. मेरा लंड 6.5 इंच का है, जो किसी भी चूत का पानी निकालने के लिए काफी है. मैं सेक्स का बहुत शौकीन हूँ और मुझे चूत चाटना बहुत ज्यादा पसंद है. लंड चटवाना भी बहुत पसंद है मगर कभी इसका मौका नहीं मिला.

मैं 5 फुट 10 इंच कद का हूँ और सामान्य चेहरे मोहरे का 26 साल का एक युवक हूँ. मैं अन्य लोगों की तरह झूठ नहीं बोलूँगा कि मेरा लंड 8-9 इंच लम्बा है. मैं औसत 6.5 इंच लम्बे और 2.5 इंच मोटे लंड का मालिक हूँ, लेकिन मैं अपने इसी सामान्य लंड से काफी महिलाओं की जरूरत पूरी करने की कोशिश करता हूँ.

मुझे शादीशुदा भाभियां चोदना बहुत पसंद है. उसका कारण है … एक तो उनका सेक्स करने का तरीका बड़ा मस्त होता है. वे चूंकि लंड की प्यासी होती हैं, इसलिए खुल कर चुदाई का मजा देती हैं. दूसरे उनके मोटे मोटे मम्मे बड़ा मजा देते हैं. मुझे बड़े चुचे चूसना और मसलना बहुत पसंद हैं.

ये कहानी है हमारे पड़ोस में रहने वाली वंदना भाभी की चुदाई की. वंदना भाभी हमारे पड़ोस में अपने पूरे परिवार के साथ रहती हैं. वंदना भाभी को मैं बचपन से देखता आ रहा हूँ. मैं उनकी शादी में भी गया था. पहले मेरे मन में भाभी के लिए कोई गंदे विचार नहीं थे. बाद में उनकी मस्त जवानी को देखते देखते कब लंड ने आन्दोलन करना शुरू कर दिया, मुझे याद नहीं है.

ये बात है लगभग 2011 के आस पास की है, जब लोगों के पास चायना के फीचर फ़ोन हुआ करते थे.

एक दिन भाभी हमारे घर आईं, तो मैंने उनका मोबाइल गाने सुनने के लिए ले लिया. उनका फोन मैं पहले भी कई बार ले चुका था. उन्होंने मुझे फोन दे दिया.

मैं फोन लेकर गाने चला ही रहा था कि अचानक मैंने देखा कि फ़ोन में कोई वीडियो भी है. जो अलग किस्म का है. मैं वहां से उठ कर अकेले में जाकर वो वीडियो देखने लग गया. बाद में मुझे मालूम हुआ कि वो वीडियो दरअसल में ब्लू फिल्म थी. मुझे विश्वास नहीं हुआ कि भाभी इतना गंदा वीडियो देखती हैं.

मैं वीडियो देख ही रहा था कि भाभी जी आ गईं और उन्होंने मुझसे मोबाइल छीन लिया. शायद भाभी को शक हो गया था कि मैंने वीडियो देख लिया है. भाभी उसके बाद अपने घर चल गयीं.

शायद यही वो टर्न था, जब मेरी नजरें भाभी के मदमस्त जिस्म की तरफ बदलना शुरू हो गई थीं. अब तो मैं इसी जुगाड़ में लगा रहता था कि कैसे भाभी को चोदा जाए.

इस बात को काफी दिन हो गए थे. मुझे इस दौरान भाभी जी की नजरें कुछ इस तरह से दिखने लगी थीं, जैसे वो मुझे देख कर शरमा रही हों. मैंने सोचा कि शायद भाभी जी उसी बात से शर्मिन्दा हैं … इसलिए मुझे नजरें मिलाते समय शर्मा रही हैं.

मैं उस समय तक कुछ इस विचारधारा का था कि सभी को अपनी सेक्स लाइफ खुल कर जीने का हक है और भाभी जी ने यदि कोई सेक्स क्लिप देखने के मोबाइल में रखी है, तो ये उनका निजी मामला है. इस बात को सोच कर मैंने भाभी जी से सामान्य रहकर बातचीत करना ठीक समझा ताकि वे इस बात को भूल जाएं.

मगर न तो भाभी जी की शर्म कम हुई और न ही मेरी अन्तर्वासना, मेरी उस सोच को कम होने दे रही थी कि भाभी को कैसे चोदा जाए. मैं बस भाभी से बातचीत करते समय उनकी चूचियों को ही देखता रहता था. जिनको भाभी जी अब शायद कुछ ज्यादा ही दिखाने लगी थीं. उनसे बातचीत करते समय उनकी मुस्कराहट मुझे उनकी तरफ आकर्षित करती ही जा रही थी.

एक दिन मैं भाभीजी के घर पर गया और मैंने उनसे वही वीडियो साथ में देखने के लिए कहा. पहले तो उन्होंने मना किया कि उनके पास ऐसा कोई वीडियो नहीं है. पर मेरे ज्यादा जोर देने पर वो मेरे साथ वो वीडियो देखने के लिए मान गईं.

मेरी तो जैसे लॉटरी ही निकल गयी थी. मुझे उम्मीद ही नहीं थी कि भाभी मेरे साथ ब्लू फिल्म देखने को राजी हो जाएंगी.

ये तो बाद में मुझे समझ आया था कि शायद भाभी ने मुझे मोबाइल दिया ही इसीलिए था कि मैं उनके मोबाइल में ब्लू फिल्म देख सकूँ और उनके साथ मेरे सेक्स सम्बन्ध हो सकें. मगर ये बात मुझे बहुत देर में समझ आई थी.

अब इधर मैं आपको वंदना भाभी के बारे में बता देता हूं. वंदना भाभी कोई ख़ास सुंदर तो नहीं, बस एक काली सी औरत हैं. उनकी फिगर भी नार्मल ही है. पर उनके पास एक खास चीज थी, जो मुझे उनकी तरफ आकर्षित कर रही थी. वो उनकी उठी हुई टाईट चूचियां थी.

भाभी की चूचियों के अलावा के उनके पास एक चूत भी थी जिसे मुझे चोदना था. लेकिन उनकी वो चुत मैंने अब तक देखी नहीं थी. जब चुदाई करते समय चुत के दीदार करूंगा, तब बताऊंगा.

खैर … मैं और भाभी मूवी देखने लगे. उस समय वो घर पर अकेली थीं. कुछ देर मूवी देखने के बाद मैंने देखा कि भाभी चूत में खुजलाने लगीं.

मैं समझ गया कि राजवीर लोहा गर्म है हथौड़ा मार देना चाहिए. मैं भाभी के साथ बिल्कुल चिपक गया और उनकी जांघ पर हाथ रख दिया. चूंकि ब्लू फिल्म साथ में देख रहे थे, तो मानसिकता तो सेक्स करने की बन ही गई थी. इसलिए भाभी ने इसका कोई विरोध नहीं किया.

मैं समझ गया और मैंने तुरंत भाभी को एक किस कर दिया. बस इतना करते ही भाभी पागल सी हो गईं और मुझसे खींचते हुए मुझे जोर जोर से किस करने लगीं. उनकी चुम्मियों के साथ उनकी वो आवाज भी निकली, जिससे मुझसे समझ आ गया कि बेटा राजवीर तूने नहीं, तुझे ही भाभी ने सैट किया है.

भाभी मुझे चूमते हुए कह रही थीं- कितने दिन लगा दिए इशारा समझने में … मैं समझ रही थी कि आप ब्लू फिल्म देखने के बाद ही मुझे चोदने आ जाओगे … मगर बहुत देर से मिले हो.
उनकी बात सुनकर मैंने भी उनकी चूचियां दबाते हुए कह दिया- इतनी ही आग लगी थी भाभी … तो ब्लू फिल्म दिखाने की जगह सीधे चुत ही दिखा देतीं.

भाभी हंसती हुए बोलीं- अभी इतनी बेशर्मी के लिए समय नहीं आया था. हां नहीं आते, तो मुझे चुत ही खोल कर दिखाना पड़ती.
मैं भी हंस दिया. मैंने उनको चूमते हुए कह दिया- हाय मेरी काजोल … कितनी मस्त बातें करती हो आप.
भाभी बोलीं- मैं और काजोल … भला वो कैसे? मैं तो कितनी काली हूँ.
मैंने कहा- शुरुआत में जब काजोल फिल्म लाइन में आई थी, तब वो काली ही थी.

उसी समय मुझे अपने साथ सुबह घूमने वाले एक अंकल की बात याद आ गई, जो वे अपने साथ घूमने वाले एक दूसरे अंकल से बात करते हुए कह रहे थे.

उनके अनुसार लड़की या औरत की खूबसूरती का कोई मतलब नहीं होता. रात में जब उसके साथ चुदाई की तैयारी की जाती है, तो बिजली बंद कर दी जाती है. फिर जब अँधेरे में चुदाई करने में चुत में लंड जाता है,तब काहे की खूबसूरती देखना. सिर्फ लंड के लिए चुत ही काफी होती है.

उन अंकल की बात को जब मैंने भाभी जी को बताई, तो वो भी खूब हंसी.

हम दोनों बातें करते हुए आपस में चूमाचाटी करते जा रहे थे. कुछ मिनट के किस करने के बाद मैंने वक़्त खराब न करते हुए भाभी को खड़ा किया और उनकी साड़ी और पेटीकोट उतार दिया.

भाभी ने नीचे कुछ नहीं पहना था.

अब उनकी काली उभरी हुई चूत मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी. अब चुत की खूबसूरती ऐसी थी कि मानो काला रसगुल्ला सामने हो … जिस पर गरी चिपकी हो. मतलब भाभी की काली चुत पर भूरे रंग की छोटी छोटी झांटें एकदम अलग लुक दे रहे थे.

Padoson bhabhi ke saath pehli baar sex Bhabhi ki Antarvasna

मैं चुत देखता रहा … अनाड़ी आदमी जो था … क्योंकि ये मेरा पहला सेक्स अनुभव था.
भाभी ने लंड हिलाते हुए कहा- अब क्या मुहूर्त निकाल कर चुदाई शुरू करोगे?

मैंने भाभी की बात का कोई जबाव नहीं दिया. बस सबसे पहले भाभी को बिस्तर पर लेटा कर सीधा किया. फिर चुदाई की पोजीशन सैट करके तुरंत ही उनकी चूत में लंड डाल दिया.

Padoson bhabhi ke saath pehli baar sex Bhabhi ki Antarvasna

एक झटके में पूरा लंड घुसने से भाभी एकदम से सकपका गयीं. वो मुझसे बोलीं- राज अनाड़ी हो क्या? मैं कहीं भागी जा रही हूँ क्या … आराम से करो.
मैंने कहा- वंदना भाभी सॉरी … मैंने पहले कभी किसी को चोदा नहीं न.
भाभी बोलीं- अच्छा ये बात है … कोई बात नहीं … मैं तुम्हें दो चार बार में ही सब कुछ सिखा दूँगी.

मैं भाभी की चूत में लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करता रहा. अब शायद भाभी को भी धीरे धीरे मजा आने लगा था. वो नीचे से गांड उठाकर मेरा पूरा साथ दे रही थीं.

करीब 15-20 मिनट तक मैंने भाभी की जमकर चुदाई की, फिर मैंने अपना सारा रस भाभी जी की चूत में ही छोड़ दिया.

कुछ देर तक हम दोनों एक साथ यूं ही पड़े रहे. फिर मैंने देखा कि भाभी जी बाथरूम में जाने के लिए उठ रही हैं. मैं भी उनके साथ उठ गया. हम दोनों एक साथ बाथरूम में आ गए. वहां आकर भाभी जी शॉवर खोला और उसके नीचे खड़े होकर नहाने लगीं.

मैं भी भाभी जी के साथ फव्वारे के नीचे खड़ा हो गया. हम दोनों एक दूसरे के साथ नंगे नहा रहे थे. मेरा लंड खड़ा होने लगा. तभी भाभी नीचे बैठ कर मेरे लंड को चूसने लगीं.

Padoson bhabhi ke saath pehli baar sex Bhabhi ki Antarvasna

मुझे लंड चुसाने में असीम आनन्द मिलने लगा. मैंने भाभी की चूचियां मसलना चालू कर दीं और भाभी जी मेरे आंडों से खेलते हुए मेरे लंड की चुसाई चालू रखी. कुछ ही देर में हम दोनों गर्म हो गए और कमरे में आ गए. मैंने भाभी जी को लिटाया और उनकी चुत पर अपना मुँह लगा दिया.

भाभी जी की आह निकल गई और वो टांगें खोल कर चुत की चुसाई करवाने लगीं. कुछ ही देर में हम दोनों 69 में आ गए और लंड चुत की चुसाई आरम्भ हो गई.

भाभी मुझे बता रही थीं कि जीभ को किधर लगाओ और दाने को कैसे खींच कर चूसो.

बस दस मिनट के इस चुत लंड की चुसाई के मजे के बाद हम दोनों फिर से चुदाई करने में लग गए.

उस दिन मैंने भाभी जी को 3 बार चोदा था.

उसके बाद मेरे को और वंदना भाभी को जब भी मौका मिलता था. मैं वंदना भाभी को हचक कर चोदता था.

फिर अचानक भाभी मुझसे कुछ उखड़ी उखड़ी सी रहने लगीं.

मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने कहा कि उनके पति को सब पता चल गया है. उन्होंने रात को उनकी पिटाई भी की थी.
उन्होंने कहा- अब हम दोनों कभी भी चुदाई नहीं करेंगे.

मैंने ये सोचकर हां बोल दिया कि किसी की बनी बनायी गृहस्थी में क्यों आग लगाना. वैसे भी मुझे जो चाहिए था, वो मुझे मिल चुका था.

एक कहावत है कि अगर औरत संतुष्ट है, तो कितनी भी भीड़ में छोड़ दो, वो कुछ नहीं करेगी. लेकिन अगर वो अपने पति से संतुष्ट नहीं है, तो भले ही उसे चारदीवारी में बंद कर दो, वो कुछ भी करके लंड ले ही लेगी.

दोस्तो, उम्मीद करता हूँ कि आपको भाभी की वासना और चुदाई की मेरी यह सच्ची सेक्स कहानी पसंद आई होगी. यदि हां, तो कहानी पर कमेंट करके अपना प्यार दें … मुझे मेल के जरिये भी आप मुझे मैसेज कर सकते हैं. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है. [email protected]

Padoson bhabhi ke saath pehli baar sex Bhabhi ki Antarvasna

Read in English

Padoson bhabhi ke saath pehli baar sex Bhabhi ki Antarvasna

Bhabhi ki Antarvasna: This story is about the sex of a sister-in-law living in the neighborhood. Once I saw the porn blue video in his phone, I felt that his lust has increased. I fucking sister-in-law! how?

My greetings to all the readers of Mast Hindi Story. The queens of pussy kiss my cock full of love. This is my first sex story on Mast Hindi Story and it is the story of lust and chudai kischi, which happened with me 7-8 years ago to the Bhabhi ki Antarvasna.

I will tell about myself. My name is Rajveer and I live in Jaipur city of Rajasthan. My cock is 6.5 inches, which is enough to remove any pussy water. I am very fond of sex and I like to lick pussy very much. Licking cocks is also very much, but never got a chance.

I am 5 feet 10 inches in height and am a 26 year old young man of ordinary face. I will not lie like other people that my cock is 8-9 inches long. I am the owner of average 6.5 inch long and 2.5 inch thick cocks, but I try to fulfill the need of a lot of women with my normal cocks about Bhabhi ki Antarvasna.

I love married bhabhi fucking. The reason for that is… one, their way of having sex is very cool. Since they are thirsty for cocks, they openly enjoy sex. Others give a lot of fun to their thick mums. I like to suck and spice them very much.

This story is about Chudai of Vandana Bhabhi living in our neighborhood. Vandana Bhabhi lives with her entire family in our neighborhood. I have been watching Vandana Bhabhi since childhood. I went to his wedding too. At first I had no dirty thoughts for sister-in-law. Later, when Lund started looking at his cool youth, I do not remember on Bhabhi ki Antarvasna.

This thing is around 2011, when people used to have feature phones from China.

One day sister-in-law came to our house, so I took her mobile song to listen. I had taken his phone many times before. He gave me a call.

I was playing songs with a phone that suddenly I saw that there is a video in the phone. Which is different type. I got up from there and started watching that video alone. Later I came to know that the video was actually a blue film. I couldn’t believe that sister-in-law watches such a dirty video for Bhabhi ki Antarvasna.

I was watching the video that sister-in-law came and she took away the mobile from me. Perhaps sister-in-law suspected that I had seen the video. Sister-in-law went to her house after that.

Perhaps this was the turn when my eyes started changing towards the sister-in-law of her sister-in-law. Now I used to stay in this jugaad how to fuck sister-in-law like Bhabhi ki Antarvasna.

It had been a long time for this. During this time, the eyes of sister-in-law were starting to look like this, as if they were blushing upon seeing me. I thought that maybe sister-in-law is ashamed of the same thing… so I am ashamed while watching my eyes Bhabhi ki Antarvasna.

Till that time, I was of some ideology that everyone has the right to live their sex life freely and if Bhabhi ji has kept any sex clip on mobile, then it is her personal matter. Thinking about this, I thought it better to talk to my sister-in-law in general so that they forget this Bhabhi ki Antarvasna.

But neither the sister-in-law’s shame reduced me nor did my conscience reduce my thinking of how to fuck her. I used to keep looking at her aunts while talking to her sister-in-law. Whose sister-in-law was now probably showing too much. While talking to him, his smile kept attracting me towards him Bhabhi ki Antarvasna.

One day I went to Bhabhiji’s house and I asked him to watch the same video together. At first he denied that he did not have any such video. But after my emphasis, she agreed to watch the video with me.

My lottery was like that. I did not expect that sister-in-law would agree to watch the blue film with me Bhabhi ki Antarvasna.

It was later understood to me that perhaps the sister-in-law had given me a mobile, so that I could watch the blue film on her mobile and I could have sex relations with her. But I realized this in a very long time.

Now here, let me tell you about Vandana Bhabhi. Vandana Bhabhi is not particularly beautiful, just a black woman. His figure is also normal. But he had a special thing, which was attracting me to him. She was his raised tit tease Bhabhi ki Antarvasna.

Apart from sister-in-law’s pussy, she also had a pussy which I had to fuck. But I had not seen that picture yet. I will tell you when I fuck you while doing sex.

Well… I and Bhabhi started watching movies. At that time she was alone at home. After watching the movie for a while, I saw that her sister-in-law started scratching her pussy Bhabhi ki Antarvasna.

I understood that Rajveer is hot iron should hit the hammer. I stuck with sister-in-law and put her hand on her thigh. Since Blue was watching the film together, the mindset had become sexual. So sister-in-law did not oppose it Bhabhi ki Antarvasna.

I understood and I immediately gave the sister-in-law a kiss. Just after doing so, the sister-in-law became mad and kissing me started to kiss me loudly. Along with his kisses, his voice also came out, which made me understand that you are not the son Rajveer, but you are the sister-in-law Bhabhi ki Antarvasna.

Sister-in-law was kissing me, saying how many days it took to understand the gesture… I was thinking that you will come to Chodne only after watching the blue film… but you have met very late.
Hearing her talk, I too said while pressing her teaspoon – there was such a fire … So instead of showing blue film, I would have shown it directly Bhabhi ki Antarvasna.

Sister-in-law said with a laugh – The time had not yet come for such shamelessness. If not, then I had to open my pussy.
I also laughed. I kissed him and said- Hi my Kajol… You talk so much fun.
Sister-in-law said – me and Kajol… how is that? I am so black.
I said – Initially, when Kajol came in the film line, it was black Bhabhi ki Antarvasna.

At the same time, I remembered an uncle walking with me in the morning, who was talking to another uncle who was walking with him.

According to him, the beauty of a girl or woman has no meaning. At night, when the preparation is made for sex with him, the power is turned off. Then when you go to fuck in the dark to fuck, then see the beauty of the body. Pussy is enough for cocks only Bhabhi ki Antarvasna.

When I told that uncle’s thing to my sister-in-law, he also laughed a lot.

We were going to kiss each other while talking. After kissing for a few minutes, I made the sister-in-law not spoil the time and removed her sari and petticoat.

Sister-in-law did not wear anything below the Bhabhi ki Antarvasna.

Now his black bulging pussy was completely naked in front of me. Now the beauty of Chut was such that black rasgulla is in front… on which it is stuck. That means, the small brown jaunts were giving a completely different look on the black pussy of the sister-in-law.

This image has an empty alt attribute; its file name is wet-pussy-nude-desi-babe.jpg
I kept watching … a clumsy man that was … because it was my first sex experience for Bhabhi ki Antarvasna.
The sister-in-law said while shaking the cocks- now what will you do by removing muhurta and start fucking?

I did not respond to sister-in-law. Just put the sister-in-law on the bed and made it straight. Then after setting the position of Chudai, he immediately put cocks in her pussy.

use
Sister-in-law was completely shocked by entering the whole cock in one stroke. She spoke to me – Are you clumsy? I am running somewhere… Do it comfortably bhabhi ki Antarvasna.
I said – Vandana sister-in-law… I have never seen anyone before.
Sister-in-law said, this is good… Never mind… I will teach you everything in two to four times.

cript>

I used to put the cocks in the sister’s pussy slowly inside. Now perhaps sister-in-law was also slowly enjoying it. She was supporting me by lifting my ass from below.

For about 15-20 minutes, I fuck her fiercely, then I left all my juices in her sister’s pussy Bhabhi ki Antarvasna.

For a while, we both stayed together like this. Then I saw that sister-in-law is getting up to go to the bathroom. I also got up with him. We both came to the bathroom together. After coming there, sister-in-law opened the shower and started standing under it and taking bath Bhabhi ki Antarvasna.

I also stood under the fountain with sister-in-law. We were both taking a naked bath with each other. My cock started getting erect. Then sister-in-law sat down and started sucking my cock Bhabhi ki Antarvasna.

I started getting immense pleasure in licking cocks. I started munching on her sister’s pussy and sister-in-law kept on sucking my cock while playing with my eggs. In a while we both got hot and came into the room. I lie down on sister-in-law and put my mouth on her pussy Bhabhi ki Antarvasna.

Sister-in-law’s sigh came out and she opened her legs and started to kiss the pussy. In a while, both of us came to 69 and started kissing Lund Chut Bhabhi ki Antarvasna.

Sister-in-law was telling me where to stick the tongue and pull the grain and suck it.

After just ten minutes of the fun of this licking cock, we both started doing sex again Bhabhi ki Antarvasna.

That day, I had bhabi ji 3 times.

After that my wife and Vandana Bhabhi used to get a chance whenever. I used to fuck Vandana sister-in-law.

Suddenly, sister-in-law started staying disgusted with me.

When I asked her, she said that her husband has come to know everything. They also beat him up at night.
He said- Now both of us will never fuck Bhabhi ki Antarvasna.

I said yes wondering why to set fire to a house made by someone. Anyway, I got what I wanted.

There is a saying that if the woman is satisfied, then leave it in the crowd, she will do nothing. But if she is not satisfied with her husband, even if she is locked in the boundary wall, she will do anything and take cocks Bhabhi ki Antarvasna.

Friends, I hope that you have liked this true sex story of my sister-in-law and sex. If yes, then give your love by commenting on the story… You can also message me through mail. Apart from this, you can also give your opinion by commenting on the story below. And to read sex videos and new story, telegram group can join. [email protected]

Read more bhabhi sex story –

xxx kahani बारिश की रात मेरी भाभी की चुदाई के साथ 1 best sex

Antarvasnasex Stories होली में भाभी की टाईट चूत को खोला1 fun

Besthindisexstories पोर्न जैसी चुदाई की भाभी के साथ1 fun sex

Leave a Comment

org/tools/popad.js">