Follow my blog with BloglovinDesi Hindi Stories नौकरानी की झांट वाली चूत की चुदाई 1 free

Desi Hindi Stories नौकरानी की झांट वाली चूत की चुदाई 1 free

नौकरानी की झांट वाली चूत की चुदाई Desi Hindi Stories

Desi Hindi Stories: यह इंडियन सेक्स स्टोरी मेरे मकानमालिक की घरेलू नौकरानी के साथ चुदाई की है. मैं उसको नहाते हुए देखा करता था. मैंने उसको पटा कर उसकी चूत की चुदाई करनी चाही लेकिन …

Mast Hindi Story के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. दोस्तो, मैं Mast Hindi Story का बहुत बड़ा और पुराना प्रशंसक हूँ और अपनी कहानी आप तक पहुँचाना चाहता हूँ. लेकिन बहुत दिनों के बाद आज मौका मिला है। अगर कुछ त्रुटि हो गयी हो तो माफ कीजियेगा.

यह बात काफी पुरानी है, उस वक़्त मैं अपने गाँव से दूर रांची में में अपने परिवार के साथ किराये के मकान में रहता था. पापा की पोस्टिंग रांची में थी तो हम लोग वहीं पर साथ में रहते थे.

जिस मकान में मैं रहता था उस मकान का मालिक एक बहुत बड़ा बिजनेसमैन था. सौ एकड़ जमीन थी उसकी लगभग। घर के आस पास बहुत सारे आम के बगीचे थे और बगीचे से बाहर खेत ही खेत थे. उसमें समय समय पर अनाज उगाए जाते थे।

मैं मकान के सबसे नीचे वाले फ्लोर पर रहता था और मकान मालिक ऊपर के फ्लोर पर रहता था. मकान मलिक के यहां ज्यादा लोग नहीं रहते थे. मकान मालिक व मालकिन, उसका एक लड़का और एक नौकरानी।
नौकरानी जिसका नाम सोनाली था दिखने में बहुत अच्छी थी. उसकी उम्र 25 साल की थी और मैं 21 साल का था. उस समय मेरा कॉलेज शुरू होने वाला था और मैं घर पर उन दिनों फ्री ही रहता था.

एक दिन सुबह जल्दी उठा और बगीचे में घूमने चला गया. जब मैं बगीचे में गया तो अचानक देखा कि सोनाली एक पेड़ के पीछे बैठ कर मूत्र त्याग कर रही थी. जब मैं उसके आगे बढ़ा तो वो हड़बड़ा कर उठी और कपड़े सही करने लगी. वो मेरी तरफ देख कर वो शर्म से पानी पानी हो रही थी और फिर वो चली गई.

उसके चले जाने के बाद मैंने देखा कि जहां वो बैठी थी वहां पर जमीन में पानी के निशान हो गये थे. वो जमीन उसके पेशाब से भीग गयी थी. पता नहीं उसके बाद से मेरे अंदर उस नौकरानी की चूत को लेकर एक कामुकता सी जाग उठी थी.

Desi Hindi Stories

अब मैं रोज सुबह जल्दी उठ कर सोनाली को ही देखता रहता था. सबसे पहले घर में वही उठती थी और बगीचे की तरफ का ताला खोल कर काम में लग जाती थी.

मैंने एक दो दिन ध्यान से देखा कि वो रोज बगीचे की तरफ पहले पेशाब करने के लिए जाती थी. जैसे ही पेड़ के पीछे बैठती थी तो मैं समझ जाता था कि वो मूत कर रही है. कई दिनों तक यह बात नोटिस करने के बाद मैं भी ब्रश करने के बहाने बगीचे में पहुंच जाता था ताकि उसको मूतते हुए देख सकूं. उसकी गांड के दर्शन कर सकूं. लेकिन हर रोज ऐसा करना संभव नहीं हो पा रहा था क्योंकि कई बार मैं सवेरे जल्दी नहीं उठ पाता था. लेकिन जिस दिन भी उठता था मैं उसकी गांड के दर्शन जरूर करता था.

जिस दिन मैं उसको नीचे से नंगी नहीं देख लेता था उस दिन मेरे मन में बेचैनी सी रहती थी. मैं उसके हर कार्यकलाप पर नजर रखने लगा था कि वो किस टाइम क्या काम करती है. मेरा ये सिलसिला रोज का बन गया था.

और एक दिन सोनाली को नहाते हुए देख ही लिया। वो हमेशा बाथरूम में नहीं नहाती थी. जब उसके नहाने का टाइम होता तो वो नहाने के लिए हमारे कमरे के पीछे जो स्टोर रूम था, ठीक उसी के पास खुली जगह पर एक हैंड पंप लगा हुआ था, वो उसी पर नहाती थी.

दरअसल वो हैंड पंप बाउंड्री के भीतर में था और बाउंड्री में एक छोटा सा छेद था जिसके ठीक सामने हैंड पंप लगा हुआ था. मैं उसी बाउंड्री के बाहर से ठीक उसी हैंड पंप के सामने वाले छेद से छिप कर उसे नहाते हुए देखा करता था। जब वो नहाती थी तो ऊपर के सारे कपड़े पहन कर रखती थी. बाकी नीचे का कपड़ा खोल कर तौलिया लपेट लेती थी और नहाने लगती थी।

Desi Hindi Stories

इस वजह से मैं उसके नीचे के हिस्से को तो नंगा देख पाता था लेकिन उसके चूचों को कभी मैंने नंगा नहीं देखा था. यहां तक कि मैंने उसकी चूत को भी नहीं देखा था क्योंकि वो तौलिया के नीचे से अपनी चूत पर साबुन लगाती थी और वो छेद थोड़ा सा ऊपर की तरफ था. इसलिए पूरा का पूरा नीचे तक का नजारा मुझे दिखाई नहीं पड़ता था. बस मैं इतना देख पाता था कि वो तौलिया को उठा कर नीचे बैठ जाती थी.

मेरा बहुत मन करता था कि उस पार जाकर अभी उसकी चूत को चूस लूं और उसकी गीली चूत की चुदाई कर दूं लेकिन अभी मेरे अंदर इतनी हिम्मत नहीं आई थी. मैं बस अपने लंड को हिला कर ही काम चला लेता था. नहाने के बाद वो कपड़े बदलने के लिए उसी स्टोर रूम में जाती थी और दरवाजे को अंदर से बंद कर लेती थी. मैंने उसको कभी बाहर कपड़े बदलते हुए भी नहीं देखा था.

काफी दिनों तक यही अधूरी प्यास का सिलसिला चलता रहा.

अब मैंने दिमाग लगाना शुरू किया और सोचा कि अगर मैं किसी तरह स्टोर रूम के अंदर घुस जाऊं तो मैं उसको शायद कपड़े बदलते हुए भी देख सकता हूं. हो सकता है मुझे उसके पूरे नंगे बदन को देखने का मौका भी मिल जाये. एक दिन इसी फिराक में मैं स्टोर रूम में पहुंच गया यह देखने के लिए कि वहां छिपने के लिए कोई जगह है भी या नहीं.

अगले दिन मैं नजर बचा कर चेंजिंग रूम में घुस गया. उस वक्त सोनाली बाहर नहा रही थी. मैंने रूम में अंदर जाकर देखा कि उसकी ब्रा और पैंटी हैंगर पर टंगी हुई थी. उनको देखते ही मेरा लंड तन गया.

फिर समय न गंवाते हुए मैं वहीं पर चौकी के नीचे छिप गया. मैं उसके आने का इंतजार करने लगा. हर रोज की तरह ही सोनाली नहाने के बाद अंदर रूम में आई और उसने दरवाजा बंद कर लिया. मगर इधर मेरा पूरा शरीर कांपने लगा. मुझे डर था कि कहीं कुछ गड़बड़ हो गई लेने के देने पड़ जायेंगे.

Desi Hindi Stories

मैंने देखा कि उसने अपने गीले कपड़े एक एक करके अपने बदन से अलग करने शुरू कर दिये. दो मिनट के अंदर ही मेरे सामने वो पूरी की पूरी नंगी खड़ी हुई थी. मैंने अपने जीवन में पहली बार किसी लड़की को इस तरह से नंगी देखा था. जब वो अपने शरीर को पौंछ रही थी तो उसके चूचे उछल रहे थे. उसकी चूत तो बालों के नीचे ढकी हुई थी लेकिन बाकी का बदन देख कर मैं हैरान रह गया था.

मन तो कर रहा था कि अभी बाहर आकर उसके साथ चिपक जाऊं और उसको चोद डालूं. मगर मैं वहीं पर अपने लंड को सहलाने लगा. मुझसे कंट्रोल हो ही नहीं रहा था. जब उसने अपनी भीगी हुई चूत को पौंछने के लिए एक पैर उठा कर चौकी पर रखा तो उसकी चूत के बालों के नीचे मुझे उसकी चूत की फांकें भी दिखाई दे गईं. मन करने लगा कि अभी लंड को इसके अंदर डाल दूं.

खैर, मैं अब उसके कपड़े पहनने का इंतजार करने लगा. उसने अपनी ब्रा और पैंटी को उतारा और अपने जिस्म में फंसा कर पहनने लगी. ब्रा का हुक उससे बंद नहीं हो रहा था. फिर कुछ देर के बाद उसने ब्रा को भी बंद कर लिया.

उसके बाद उसने नीचे झुक कर पैंटी पहननी शुरू की तो मुझे लगा कि जैसे उसने मुझे देख लिया हो लेकिन वो शायद मुझे नहीं देख पाई थी.

फिर उसने अपनी कुर्ती और पजामी उतारी और जब पजामी पहनने के लिए वो नीचे झुकी तो फिर से उसका ध्यान शायद चौकी के नीचे गया लेकिन उसने अनदेखा कर दिया.

सारे कपड़े पहनने के बाद जब वो फर्श पर पड़े हुए अपने गीले कपड़े उठाने लगी तो मैं सरक कर खुद को अच्छी तरह छिपाने की कोशिश करने लगा और इस सुगबुगाहट में उसका ध्यान शायद मेरी तरफ चला गया.
उसने अंदर झांक कर देखा तो मैं उसको पहले तो दिखाई नहीं दिया लेकिन फिर जब उसने ध्यान से अंधेरे में देखा तो मैं उसको दिख गया और वो एकदम से डर गई.

Desi Hindi Stories

लेकिन फिर उसने मुझे पहचान लिया. वो मुझे बाहर आने के लिए कहने लगी.
मेरी गांड फट रही थी. घबरा गया था मैं. उसने यहां पर छिपे होने का कारण पूछा तो मैंने बहाना बना दिया कि मैं अपने भाई से झगड़ा करके यहां पर छिपा हुआ था. वो कहने लगी कि तुम्हें इतने बड़े घर में छिपने के लिए और कोई जगह नहीं मिली?

उसको शायद शक हो गया था कि मैं झूठ बोल रहा हूं.
फिर मैंने बता ही दिया कि मैं तुम्हें देखने के लिए यहां पर आया था.
वो कहने लगी- मैं तुम्हारी शिकायत तुम्हारे पापा से करूंगी. तुम नंगी लड़की को ऐसे छिप कर देख रहे थे.

मैंने उससे कहा- ठीक है कर देना.
उसको मैंने अपनी बातों में फंसाने की कोशिश करते हुए कहा कि अगर तुम मेरी शिकायत करोगी तो मैं भी मकान मालिक से तुम्हारी शिकायत कर दूंगा कि तुम घर में क्या क्या करती हो.
इतना कह कर जब मैं रूम से बाहर जाने लगा तो वो मुझे रोकते हुए बोली- अच्छा ठीक है. यह बात किसी और तक नहीं पहुंचनी चाहिए.

अब मैं समझ गया कि वो लाइन पर आ रही है.

फिर वो बोली- तो तुमने यहां पर छिप कर क्या क्या देखा?
मैंने कहा- तुम्हारी जांघों के बीच का घोंसला.
वो बोली- तो फिर और कुछ नहीं देखना है क्या?

मैंने कहा- तुमने मना कर ही दिया तो और क्या देखूं मैं …
वो बोली- जब इतना सब कुछ देख ही लिया है तो फिर जो मन करे वो देख लो लेकिन किसी को बताना मत.

Desi Hindi Stories

मैंने इतना सुनते ही उसको अपनी तरफ खींचा और उसके चूचों पर हाथ रख कर उनको जोर-जोर से दबाने लगा. वो जल्दी ही लाइन पर आ गयी और मेरा साथ देने लगी. मैं जोर से उसके चूचों को मसलने लगा. फिर उसने भी मेरी पैंट में हाथ डाल दिया और मेरे पहले से तने हुए लंड को हाथ में पकड़ लिया.
वो बोली- तुम्हारा लंड तो बहुत टाइट और मोटा है.

उसने मेरे लंड को पैंट से बाहर निकाल लिया. बाहर निकालने के बाद उसको ध्यान से देखने लगी.
मैंने कहा- तुमने पहले कभी लंड नहीं देखा है क्या?
वो बोली- नहीं, ऐसा लंड नहीं देखा है.
मैंने कहा- तो फिर इसको अब किस भी कर दो.

मेरे कहने पर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया और उसको चूसने लगी. मेरे लंड को प्यार करते हुए वो मजे से मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. वो ऐसे चूस रही थी जैसे मेरा लंड नहीं बल्कि कोई लॉलीपोप हो.

Nokarani ki jhant wali chut ki chudai ki Desi Hindi Stories

मैंने भी धीरे-धीरे उसके सारे कपड़ों को उतारना शुरू कर दिया. वो अब ब्रा और पैंटी में थी. फिर मैंने उसे उतारने के लिए कहा तो कहने लगी कि खुद ही उतार लो. मैंने अपने हाथों से उसकी ब्रा और पैंटी को उतार कर उसको पूरी नंगी कर दिया.

उसकी चूत के घने बाल मुझे अब मुझे पास से दिखाई दे रहे थे. मैंने कहा- तुम इस घोंसले को अपनी चूत के ऊपर हटाती नहीं हो क्या?
वो बोली- मुझे ये सब करने का टाइम नहीं मिलता है.
मैंने कहा- तो मैं कर देता हूं.

Desi Hindi Stories

वो बोली- हां ठीक है कर लेना लेकिन अभी तुम्हें जो करना है वो जल्दी कर लो नहीं तो फिर मकान मालिक मुझे बुलाने लगेगा.

मैंने उसकी चूत के बालों को हटाते हुए उसमें उंगली डाल दी तो वो कराह उठी. उसकी चूत काफी टाइट थी और कुंवारी सी लग रही थी.

मैंने उसकी चूत में उंगली करनी शुरू की तो उसको दर्द होने लगा. फिर थोड़ी देर में मेरी उंगली आराम से उसकी चूत में जाने लगी. वो अब चुदाई के लिए तड़प उठी और कहने लगी- अब चूत में लंड को डालो. उंगली बहुत कर ली.

Nokarani ki jhant wali chut ki chudai ki Desi Hindi Stories

मैं उसकी चूत में लंड को डालने लगा तो मेरा मोटा लंड उसकी चूत में नहीं जा रहा था.
मैंने कहा- मेरे लंड को एक बार अपने मुंह में लेकर गीला कर दो. वरना ये अंदर नहीं जा पायेगा.
वो मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी और पूरा गीला कर दिया.

लंड गीला होने के बाद मैंने फिर से लंड को घुसाने की कोशिश की लेकिन लंड नहीं जा रहा था.

तभी मकान मालिक की आवाज आई और अलग होकर अपने कपड़े पहनने लगी और वहां से जल्दी से बाहर निकल गई.
उस दिन मैं अधूरा रह गया और मुझे मुठ मार कर काम चलाना पड़ा.

मैं रात भर उसकी चूत और चूचियों के बारे में सोचता रहा. मन ही मन काफी अफसोस हो रहा था कि हाथ में आई हुई चूत नहीं मिल पाई.

मुझे कुछ समझ नहीं आया, मैं उस रात सो नहीं पाया और सुबह का इंतजार करने लगा. आज मैंने तय कर लिया था कि लंड डाल के ही छोडूंगा. सुबह जैसे ही उसके नहाने का टाइम हुआ तो वो खिड़की पर आ गई. मैं समझ गया कि वो चुदाई के लिए बुला रही है. मैं भी चुपके से उसके नहाने वाली जगह पर चला गया और फिर हमेशा की तरह जब वो अंदर आई तो हम दोनों शुरू हो गये.
अचानक सोनाली ने मुझे पूरी तरह से पकड़ लिया और मुझे किस करने लगी. मैं भी जोश में आकर उसको किस करने लगा.

Desi Hindi Stories

तभी सोनाली ने मेरे सिर के पीछे से मुझे अपनी पूरी ताकत से अपनी ओर खींच लिया. मैंने भी उसको किस करते हुए दीवार पर टिका दिया. फिर अपना एक हाथ उनकी दोनों जाँघों के बीच उसकी मुलायम नर्म चूत को छूते हुए उसकी गांड की तरफ से निकाल कर उसको दीवार के सहारे ऊँचा कर दिया. इसी पोज में मैं उसको चौकी तरफ ले आया.

दोस्तो, मैं आपको यहां बताता चलूँ कि मुझे यहां रहते हुए दो साल का समय हो चला था और सोनाली से मेरी बात भी बहुत बार हुई थी. वो भी बहुत ही फॉर्मल तरीके से. हमारे बीच सच कहूँ तो सिर्फ चुदाई वाली प्यास थी और चुदाई की चाहत थी, जिससे हम एक दूसरे की आँखों में देख कर महसूस कर लेते थे.

जिसे मैं एक साल से सिर्फ सोचता आया, वो मेरे सपनों की तरह नंगी पूरी जोश में भरी हुई मेरी बांहों में थीं. उस दिन मुझे लग रहा था कि मेरे लंड की नसें जैसे फटने वाली हों. मैंने अपने लंड को, जिसके ऊपर सोनाली की गांड और चूत थी, उसकी चड्डी के ऊपर से ही रगड़ने लगा.

सिर्फ छह-सात बार आगे पीछे करने से मैं बुरी तरह से गर्म हो गया. फिर सोनाली मुझे कहने लगी कि अब जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो.
लेकिन मेरा लंड मोटा होने की वजह से चूत में नहीं घुस पा रहा था.
कई बार कोशिश करने के बाद उस दिन भी मेरा लंड सोनाली की चूत में नहीं घुस पाया और हम अधूरे ही रह गये क्योंकि तभी मकान मालकिन ने उसको बुला लिया.

उस दिन के बाद हम दोनों की प्यास बढ़ गई थी. अब हम दोनों ने ही ठान लिया था कि चूत और लंड का मिलन करके ही रहेंगे. फिर उस रात को मैं यही सोचता रहा कि आखिर मेरा लंड सोनाली की चूत में जा क्यों नहीं रहा है.

बहुत सोचा मैंने तो एकदम से मेरा माथा ठनका. मुझे ध्यान आया कि कहीं उसके झांट तो बीच में नहीं आ रहे? ऐसा ख्याल मुझे इसलिए आया क्योंकि जब मैं उसकी चूत में उंगली करता था तो चूत में उंगली आराम से चली जाती थी. मगर जब लंड डालने की कोशिश करता था तो जैसे लंड बीच में ही कहीं अटक जा रहा था.

Desi Hindi Stories

मैंने सोनाली की चूत की सफाई करने का सोचा. अगले दिन जब मैं उससे मिला तो मैं रेजर लेकर गया. जब वो नहा कर आई तो मैंने उसको कहा कि मैं तुम्हारी चूत के ऊपर से इस घोंसले को हटा देना चाहता हूं.
वो बोली- नहीं, मुझे डर लगता है. कहीं कट गयी तो?
मैंने कहा- अगर तुम अपने हाथ से करोगी तो कट जायेगी लेकिन मैं करूंगा तो आराम से सफाई कर दूंगा.

पहले तो वो मना करती रही लेकिन फिर मैंने उसको पकड़ कर चूसना शुरू कर दिया. उसकी चूत को अपनी हथेली से सहलाने लगा और वो गर्म होने लगी. फिर वो कहने लगी कि चूत में लंड डालो तो मैंने कहा कि अगर तुम सफाई करने दोगी तो ही मैं डालूंगा.
इस तरह से मैंने उसको मनाया.

मैंने उसकी चूत के बालों पर क्रीम लगा दी और रेजर में ब्लेड लगा कर उसकी चूत के बालों पर हल्के से चलाने लगा. उसकी चूत के बाल काफी मोटे थे. बहुत दिनों से उसने चूत को साफ नहीं किया था. मैंने उसकी चूत से बाल हटाये तो नीचे से चूत फूली हुई लग रही थी.

रेजर के छूते ही वो सिसक पड़ती थी. उसकी चूत को साफ करते हुए मेरा भी बुरा हाल हो रहा था. मेरे लंड ने पानी छोड़ छोड़ कर मेरा अंडरवियर गीला कर दिया था लेकिन उससे बुरा हाल तो उसकी चूत को हो रहा था.

उसकी चूत ने काफी सारा कामरस निकाल दिया था. मैंने उसकी चूत से धीरे-धीरे करके सारे के सारे लम्बे-लम्बे बाल हटा दिये और उसकी चूत एकदम साफ हो गई. साफ होने के बाद मैंने ध्यान से देखा तो वो अंदर से लाल थी लेकिन बाहर से उसकी चूत के होंठ काले थे. खैर मुझे क्या करना था. मैं तो बस उसकी चुदाई करना चाह रहा था.

मैंने सफाई करने के बाद अपनी पैंट निकाली और उसको वहीं नीचे लेटा दिया. उसकी टांगों को पकड़ कर अलग किया और उसने दोनों टांगों को दोनों दिशाओं में फैला दिया. फिर मैंने अपने लंड को उसकी पानी छोड़ रही चूत के मुंह पर फेरा तो वो कामुक हो उठी.

Desi Hindi Stories

वो मुझे अपने ऊपर खींचने लगी. मैंने लंड को निकाल कर उसकी चूत पर सेट किया और अपने सुपाड़े को उसकी चूत की फांकों के बीच में लगा कर एक झटका मारा तो लंड उसकी चूत को फैलाता हुआ अंदर घुस गया. मगर अभी पूरा लंड नहीं गया था. मैंने दूसरा झटका मारा तो लंड पूरा घुस गया.

Nokarani ki jhant wali chut ki chudai ki Desi Hindi Stories

उसकी चूत में मेरा पूरा लंड समा गया. लंड काफी मोटा था लेकिन आज चूत की चिकनाई कुछ ज्यादा ही थी इसलिए लंड फिसलता हुआ चूत में उतर गया. वो एक बार दर्द से छटपटाई, उसकी दर्द भारी सिसकारियाँ निकलने लगी ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’ लेकिन फिर नॉर्मल हो गई. फिर मैंने उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया. कई दिनों की कोशिश के बाद उसकी चूत में लंड गया था इसलिए मैं भी कु्त्ते की तरह उसकी चूत को गांड हिलाकर चोदने लगा.

दस मिनट तक उसकी चूत को जबरदस्त तरीके से रगड़ा और फिर मैंने उसकी चूत में अपना माल गिरा दिया. मुझे उसका पता नहीं चला कि वो झड़ी या नहीं लेकिन मैंने तो अपना माल छोड़ दिया था.

चुदाई के बाद वो पूछने लगी कि आज लंड कैसे चला गया?
मैंने कहा- मेरा लंड तुम्हारे उस घोंसले में फंस कर रह जाता था.
वो बोली- वो कैसे?

मैंने कहा- जब मैं तुम्हारी चूत की फांकों को हाथ से हटा कर उसमें उंगली करता था तो आराम से उंगली चली जाती थी लेकिन जब मैं उसमें अपना मोटा लंड डालता था तो झांट आपस में उलझ कर लंड को रोक लेते थे. इसलिए आज मैंने जब सफाई करके चूत को चिकनी करके लंड डाला तो लंड सट से अंदर सरक गया.

Desi Hindi Stories

उस दिन के बाद वो अपनी चूत को साफ रखने लगी. फिर हमारी चुदाई रोज ही होती थी. मैं उसके चूचों को दबा दबा कर उसकी चूत मारता था. कभी उसको बगीचे में पकड़ लेता था तो कभी पीछे स्टोर रूम में हैंड पंप के पास.

आपको मेरी यह इंडियन सेक्स स्टोरी कहानी कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.
[email protected]

Nokarani ki jhant wali chut ki chudai ki Desi Hindi Stories

Read in English

Nokarani ki jhant wali chut ki chudai ki Desi Hindi Stories

Desi Hindi Stories: This Indian sex story is with my landlord’s domestic maid. I used to see him taking a bath. I tried to fuck her pussy by beating her but…

My greetings to all the readers of Mast Hindi Story. Friends, I am a big and old fan of Mast Hindi Story and want to convey my story to you. But after a long time, I got a chance today. I apologize if something has gone wrong the Desi Hindi Stories.

This thing is very old, at that time I used to live with my family in a rented house in Ranchi, far from my village. Father’s posting was in Ranchi, so we used to live there together like Desi Hindi Stories.

The owner of the house where I lived was a very big businessman. He had almost a hundred acres of land. There were a lot of mango orchards around the house and only fields outside the garden. Grains were grown from time to time in it Desi Hindi Stories.

I lived on the lowest floor of the house and the landlord lived on the top floor. There were not many people living in house Malik. Landlord and mistress, a boy and a maid Desi Hindi Stories.
The maid, whose name was Sonali, was very good in appearance. He was 25 years old and I was 21 years old. At that time my college was about to start and I used to stay free at home those days for Desi Hindi Stories.

One day he woke up early in the morning and went for a walk in the garden. When I went to the garden, I suddenly saw that Sonali was passing urine behind a tree. When I moved ahead of her, she got up and started correcting clothes. He was looking at me and he was watering with shame and then he left the Desi Hindi Stories.

After she left, I saw that there were water marks on the ground where she was sitting. That land was drenched with his urine. Do not know since then a sensuality arose inside me about that maid’s pussy.

Desi Hindi Stories
Now I used to wake up early in the morning and see Sonali. First she used to get up in the house and used to open the lock on the side of the garden like Desi Hindi Stories.

I watched carefully for a couple of days that she used to go to the garden everyday to urinate first. As soon as she sat behind the tree, I understood that she is moot. After noticing this for several days, I used to reach the garden on the pretext of brushing so that I could see it mooting. I can see his ass. But it was not possible to do it everyday because at times I could not get up early in the morning. But the day I used to get up, I used to see his ass then Desi Hindi Stories.

The day I could not see her naked from below, on that day there was a restlessness in my mind. I began to monitor every activity of her at what time she works. This sequence of mine had become a routine the Desi Hindi Stories.

And one day saw Sonali taking a bath. She did not always take bath in the bathroom. When it was time for her bath, there was a hand pump in the open space near the store room, which was behind our room for bathing, she used to take a bath on it and enjoy Desi Hindi Stories.

Actually the hand pump was inside the boundary and there was a small hole in the boundary in front of which the hand pump was installed the Desi Hindi Stories. I used to see him from outside the same boundary hiding in front of the same hand pump and taking a bath. When she was taking bath, she used to wear all the clothes above. The rest used to open the bottom cloth and wrap the towel and take bath.

Desi Hindi Stories
Because of this, I was able to see her bottom part naked, but I had never seen her hips naked. I had not even seen her pussy because she used to apply soap on her pussy from under the towel and that hole was a little upwards. Therefore, I could not see the whole bottom view. All I could see was that she used to sit down with the towel lifted the Desi Hindi Stories.

I used to feel that going across that, I should just suck her pussy and fuck her wet pussy but I had not got so much courage in it. I used to work only by shaking my cock. After bathing, she used to go to the same store room to change clothes and lock the door from inside. I had never seen him changing clothes outside the Desi Hindi Stories.

This cycle of unfulfilled thirst continued for a long time.

Now I started brainstorming and thought that if I enter inside the store room somehow, I can see it maybe even changing clothes. May be I also get a chance to see his whole naked body. One day I reached the store room in this fashion to see if there was any place to hide on Desi Hindi Stories.

The next day I sneaked into the changing room after saving my eyes. At that time Sonali was taking a bath. I went inside the room and saw that her bra and panty were hanging on the hanger. Seeing them, my cock got tanned the Desi Hindi Stories.

Then, without losing time, I hid there under the garrison. I looked forward to his arrival. Like every day, Sonali came inside the room after bathing and closed the door. But here my whole body started shivering. I was afraid that something went wrong and would have to be taken.

Desi Hindi Stories
I noticed that he started stripping his wet clothes one by one from his body. Within two minutes, she stood completely naked in front of me. For the first time in my life, I saw a girl naked in this way. When she was wiping her body, her boobs were bouncing. His pussy was covered under the hair, but I was surprised to see the rest of his body like Desi Hindi Stories.

I was thinking that I would just come out and stick with him and add him. But I started caressing my cock right there. I could not control it. When she lifted one leg to wipe her wet pussy and put it on the checkpoint, I saw her pussy slits under her pussy hair. Wanted to put cocks inside it now for Desi Hindi Stories.

Well, I now started waiting for him to wear his clothes. She took off her bra and panty and started wearing it in her body. The bra hook was not closing. Then after some time she also closed the bra Desi Hindi Stories.

After that she started to wear panties by bending down and I felt as if she had seen me but she could not see me.

Then he took off his kurti and pajamis and when he bowed down to wear pajamis, again his attention might have gone under the post but he ignored it on Desi Hindi Stories.

After wearing all the clothes, when she started lifting her wet clothes lying on the floor, I moved and tried to hide myself well and in this fragrance, her attention might have gone towards me.
When she looked inside, I could not see her at first, but then when she looked carefully in the dark, I saw her and she was scared the Desi Hindi Stories.

Desi Hindi Stories
But then he recognized me. She started asking me to come out.
My ass was bursting. I was terrified. When he asked the reason for hiding here, I made an excuse that I was hiding here after quarreling with my brother. She started saying that you could not find any other place to hide in such a big house?

He might have suspected that I am lying like Desi Hindi Stories.
Then I told you that I came here to see you.
She started saying- I will complain to your father. You were looking at a naked girl like this for Desi Hindi Stories.

I told him – ok, let’s do it.
I tried to trap him in my words and said that if you complain to me, I will also complain to the landlord about what you do in the house the Desi Hindi Stories.
After saying this, when I started going out of the room, he stopped me and said- Okay, okay. This matter should not reach anyone else.

Now I understand that she is coming on the line like Desi Hindi Stories.

Then she said – so what did you see hiding here?
I said – nest between your thighs for Desi Hindi Stories.
She said, then what else is there to see?

I said – if you refuse, what else can I see?
She said – When you have seen everything, then see what you want, but do not tell anyone.

Desi Hindi Stories
As soon as I heard this, he pulled him towards me and kept his hands on his hips and started pressing them vigorously. She soon came on the line and started supporting me. I started rubbing her tits very hard. Then he too put his hand in my pants and held my already stretched cocks in my hand on Desi Hindi Stories.
She said – your cock is very tight and thick.

He took my cock out of the pants. After taking it out, she started to look at him carefully.
I said – Have you never seen a cock before?
She bid – No, I have not seen such cocks in Desi Hindi Stories.
I said – then do it now anyway.

At my behest, he took my cock in his mouth and started sucking it. While loving my cock, she started sucking my cock with fun in her mouth. She was sucking like no lollipop but my cock like Desi Hindi Stories.

I also slowly started taking off all his clothes. She was in bra and panty now. Then I asked him to take off and then started saying that take it off yourself. I removed her bra and panty with my hands and made her completely naked the Desi Hindi Stories.

The thick hair of her pussy was now visible to me. I said – do not you remove this nest on top of your pussy?
That quote – I do not get time to do all this kind on Desi Hindi Stories.
I said – so I do it.

Desi Hindi Stories
That quote- Yes, it is okay to do it, but what you have to do now, hurry otherwise, then the landlord will call me.

I removed her pussy hair and put a finger in it, then she groaned. Her pussy was very tight and looked like a virgin on Desi Hindi Stories.

When I started fingering her pussy, then she started hurting. Then in a while, my finger started going comfortably in her pussy. She now yearned for sex and started saying – Now put the cocks in the pussy. Took a lot of finger like Desi Hindi Stories.

If I started putting cocks in her pussy, then my fat cock was not going in her pussy.
I said – wet my cock once in your mouth. Otherwise, it will not be able to go inside.
She started sucking my cock with her mouth and made it completely wet on Desi Hindi Stories.

After wetting the cocks, I tried to insert the cocks again, but the cocks were not going like Desi Hindi Stories.

Then the voice of the landlord came and started separating and put on his clothes and got out quickly from there like Desi Hindi Stories.
That day I remained unfinished and I had to run my hand and work.

I kept thinking about her pussy and tits all night. In my mind I was feeling very sorry that the pussy that came in my hand could not be found on Desi Hindi Stories.

I could not understand anything, I could not sleep that night and started waiting for morning. Today I had decided that I would leave only after putting cocks. As soon as it was time for her bath in the morning, she came to the window. I understood that she is calling for sex. I too secretly went to her bathing place and then as usual, when she came in, we both started then Desi Hindi Stories.
Suddenly, Sonali caught me completely and started kissing me. I too got excited and started kissing him.

Desi Hindi Stories
Then Sonali pulled me towards the back of my head with all her strength. I also kissed him and put him on the wall. Then, touching his soft soft pussy between his two thighs, removed his hand from the side of his ass and raised it up against the wall. In this pose, I brought him to the outpost on Desi Hindi Stories.

Friends, let me tell you here that it had been two years since I lived here and I had a lot of talk with Sonali. That too in a very formal way. To tell the truth among us, there was only a thirst for fuck and a desire for fuck, which made us feel in each other’s eyes like Desi Hindi Stories.

The one whom I have been thinking about for a year, like my dreams, was in my arms filled with full enthusiasm. That day I felt that the veins of my penis were going to explode. I started rubbing my cocks on top of Sonali’s ass and pussy then Desi Hindi Stories.

By just back and forth six or six times, I got badly heated. Then Sonali started telling me that now quickly put your cock in my pussy the Desi Hindi Stories.
But my cock was not able to penetrate the pussy due to its fat.
After trying many times that day, my cock could not penetrate into Sonali’s pussy and we were left incomplete because only then the landlady called her Desi Hindi Stories.

After that day both of us had increased thirst. Now both of us had decided that we will continue to meet cocks and cocks. Then that night I kept thinking that why my cock is not going in Sonali’s pussy.

I thought very much, I immediately took my head off. I noticed that his pranks are not coming in the middle? Such a thought came to me because when I used to finger her pussy, finger used to go comfortably. But when I tried to insert cocks, it was as if the cocks were getting stuck somewhere in the middle.

Desi Hindi Stories
I thought of cleaning Sonali’s pussy. The next day when I met him, I took the razor. When she took a bath, I told her that I want to remove this nest from the top of your pussy.
She said- No, I am scared. If cut somewhere?
I said – if you do it with your hand, it will be cut, but if I do, I will clean it up comfortably.

At first she kept refusing but then I caught her and started sucking. Started caressing her pussy with her palm and she started getting hot. Then she started saying that if you put cocks in my pussy, I said that if you let me clean then only I will put it.
This is how I celebrated him.

I put cream on her pussy hair and put a blade in the razor and started running lightly on her pussy hair. Her pussy hair was very thick. He had not cleaned her pussy for a long time. When I removed the hair from her pussy, the pussy seemed swollen from the bottom.

She would sob as soon as the razor touched. I was also having a bad condition while cleaning her pussy. My cock left the water and made my underwear wet, but his pussy was getting worse than that.

His pussy had removed a lot of work. I slowly removed all the long and long hair from her pussy and her pussy became very clean. After getting clean, I looked carefully if she was red from inside but her pussy lips were black from outside. Well what did I have to do. I just wanted to fuck her.

After cleaning, I took off my pants and laid them down there. Holding his legs apart, he spread both legs in both directions. Then I turned my cock on her pussy leaving her water, then she became erotic.

Desi Hindi Stories
She started pulling me on top of her. I removed the cocks and set it on her pussy and hit my flick with a slap between the slices of her pussy, then the cocks penetrated inside, spreading her pussy. But the whole cocks had not gone yet. When I hit the second blow, the cocks entered completely.

I got all my cocks in her pussy. Lund was very thick, but today the smoothness of the pussy was too much, so the cock slipped and landed in the pussy. He once splattered with pain, his pain started coming out with heavy sigmas, ‘Ummh… Ahhh… Hah… Oh… ’but then became normal. Then I started fucking her pussy. After trying for several days, there was cocks in her pussy, so I too started to fuck her pussy like a dog.

For ten minutes she rubbed her pussy in a tremendous way and then I dropped my goods in her pussy. I did not know whether that showers or not, but I had left my goods.

After chudai she started asking how did the cocks go today?
I said – my cock was stuck in that nest of yours.
She said – how is she?

I said- When I used to remove the slices of your pussy and finger in it, then the finger used to move comfortably, but when I used to put my thick cocks in it, Jant used to stop the cocks by getting tangled among themselves. So today, when I cleaned and inserted the cocks after cleaning the pussy, the cocks moved inside the cot.

Desi Hindi Stories
After that day she started keeping her pussy clean. Then we used to have sex everyday. I used to press her pussy and hit her pussy. Sometimes he would catch it in the garden, sometimes in the store room behind the hand pump.

How did you like my Indian sex story story, I will definitely wait for your comment and message on Telegram. Apart from this, you can also give your opinion by commenting on the story below. And to read sex videos and new story, telegram group can join.
[email protected]

Read more chudai Story-

Sax kahaniya 1 कामवाली सेक्सी लड़की की मज़ेदार चुदाई Best Sex

xxx kahane कामवाली आंटी ने चोदना सिखाया 1 Best sex story

Aunty ki chudai कामवाली आंटी की मोटी गांड की चुदाई 1st Sex

1 thought on “Desi Hindi Stories नौकरानी की झांट वाली चूत की चुदाई 1 free”

  1. Many of your competitors are sitting at home and doing nothing.

    Its perfect time to plan your marketing strategy. You have created good website but your site will not in Google until content and images are optimized correctly. We need to optimize your website for search engines and make it search engine friendly.

    I have analyzed your site in-depth and you can view your website audit report at

    https://businesspromoted.websiteauditserver.com/masthindistory.com

    Your website is the reflection of your business. Without optimizing your website for search engines, you will not get any traction from any digital marketing channels such as Facebook, Google, LinkedIn, etc.

    We can fix all these issues and run successful backlink building campaign for a monthly fee of $500.

    Please let me know a good time and phone number to reach out to you and we will discuss plan of action. I will also include discount coupon and show you how to replicate competitor’s online marketing strategy.

    Looking forward to working with you.

    Sam D.
    Business Development Manager
    Business Promoted

    Reply

Leave a Comment