Girlfriend ki Chudai 1 होटल में गर्लफ्रेंड की चुदाई का fun

होटल में गर्लफ्रेंड की चुदाई का fun – Girlfriend ki Chudai

Girlfriend ki Chudai: मेरी गर्लफ्रेंड चुदाई के लिए तैयार नहीं थी. धीरे धीरे मैंने उससे सेक्स चैट शुरू की. हम दोनों सेक्स के लिए तड़पने लगे तो मैंने गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई कर दी. कैसे?

दोस्तो, मेरा नाम सुमित है। मैं बिहार के एक छोटे से शहर अररिया का रहने वाला हूं। मेरे लंड का साइज 6 इंच है और शरीर से भी मैं ठीक हूं. दिखने में भी ज्यादा स्मार्ट तो नहीं मगर औसत हूं. जब मैं जवान हुआ तो लंड ने मुझे परेशान करना शुरू कर दिया था.

मैंने जल्दी ही एक लड़की पटा ली थी. उसका नाम है आशिमा (बदला हुआ नाम).
उसके साथ मैं रिलेशनशिप में था. अभी तक हम दोनों में सेक्स जैसा कुछ भी नहीं हुआ था. मगर मेरा लंड मुझे चूत के लिए परेशान करता रहता था.

आशिमा मेरी पहली गर्लफ्रेंड थी और उसके साथ मैंने सेक्स करने के लिए ही दोस्ती की थी. मगर वो अभी उसके लिए तैयार नहीं लग रही थी. इसलिए मैं अपनी गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई करने के लिए तड़प रहा था.

आशिमा को देख कर लगता था कि उसकी चूत में अपना लंड पेल दूं. वो देखने में बहुत गोरी थी. उसका फीगर 32-28-34 था. मैंने कई बार उसको सेक्स के लिए उकसाने की कोशिश की लेकिन वो हर बार मना कर देती थी. फिर धीरे धीरे मैंने उसके साथ सेक्स चैट करना शुरू कर दिया. उसको भी सेक्स चैट करने की आदत लगा दी मैंने. अब वो भी मेरे साथ फोन पर सेक्सी बातें किया करती थी. हम दोनों खुल कर एक दूसरे के बारे में गंदी बातें करते थे.

अब हम दोनों ही सेक्स के लिए तड़पने लगे थे. मगर हमें मौका नहीं मिल पा रहा था. मैं फोन पर बात करते हुए ही अपने लंड को हिला लेता था.

कुछ ऐसा ही हाल आशिमा का भी था.

गर्लफ्रेंड होने के बाद भी अभी तक मुझे चूत नसीब नहीं हो पाई थी. हां, मगर जब एक दो बार हम चोरी छिपे मिलते थे तो मैंने उसकी चूचियों को छुआ था. लेकिन कभी चूत चुदाई का मौका नहीं मिल पाया था क्योंकि हम लोग कहीं बाहर ही मिलते थे.

एक दिन सुबह ही उसका फोन मेरे पास आया. वो कहने लगी कि अचानक ही उसके नाना की तबियत काफी खराब हो गई. उसकी पूरी फैमिली को वहां पर जाना पड़ा. आज वो घर में अकेली है. उसका इशारा मैं समझ गया था. वो कहना चाह रही थी कि हमें इस मौके का फायदा उठाना चाहिए.

मगर मैं उसके घर नहीं जा सकता था. वहां पर जाने में रिस्क की बात थी. अगर किसी पड़ोसी को पता लग जाता तो दोनों की ही बदनामी थी क्योंकि मेरे पिता जी भी बहुत सख्त आदमी हैं. अगर ये बदनामी वाली बात मेरे पिताजी तक पहुंच जाती तो वो मुझे जान से मार डालते. वैसे भी अभी मेरी उम्र केवल 21 साल की थी. मैं अभी भी अपने पिताजी से डरता था.

मैंने आशिमा को मना कर दिया. मगर मैं सोच रहा था कि शायद ऐसा मौका फिर शायद पता नहीं कब मिलेगा. अगर हम उसके घर में सेक्स और चुदाई नहीं कर सकते तो क्या हुआ हम किसी और जगह पर जाकर चुदाई कर लेंगे. मैं अपना दिमाग दौड़ाने लगा. फिर मैंने अपने एक दोस्त को फोन किया. दोस्त मेरा करीबी था और उसको भी आशिमा के बारे में पता था. मगर उस दिन वो भी रूम पर नहीं था. अगर वो रूम पर होता तो बात आसानी से बन जाती.

मैं दोस्त के रूम पर गर्लफ्रेंड की चुदाई की बात सोच रहा था. मगर मेरा प्लान बन नहीं सका. उसके बाद मेरे दिमाग में एक आइडिया आया. मेरे शहर के पास ही नेपाल की सीमा लगती थी. नेपाल मेरे शहर से 20-22 किलोमीटर की दूरी पर है. वहां पर होटल बहुत सारे थे. मेरे कई दोस्त अपनी गर्लफ्रेंड को लेकर जाते थे. मेरे पास भी बाइक थी. मैंने सोचा कि अगर आशिमा के घर में नहीं तो होटल में चुदाई तो हो ही सकती है.

यह सोच कर मैंने तुरंत आशिमा को फोन किया. उसको सारा प्लान बता दिया.
मगर वो कहने लगी कि पहले उसे कॉलेज में किसी काम के लिए जाना है.
मैंने उसको बोला कि वो जल्दी की कॉलेज के काम निपटा ले. उसके बाद हम लोग नेपाल के होटल में सेक्स करने के लिए जायेंगे.
वो कहने लगी कि वो जल्दी ही आएगी.

दो घंटे के बाद उसका फोन आया कि वो अपना कॉलेज का काम खत्म करके आ गई है. मैंने तुरंत चलने के लिए तैयारी कर ली. मैं पहले ही से नहा धो कर तैयार बैठा हुआ था. उसका फोन आते ही मैं भी बाइक लेकर निकलने लगा तो पापा पूछने लगे कि कहां जा रहा है. मैंने उनको कह दिया कि एक दोस्त के पास काम से जा रहा हूं.

पापा बोले कि कौन से दोस्त के पास जा रहा है. मुझे अंदर ही अंदर गुस्सा आ रहा था. मेरे पापा मेरे हर दोस्त के बारे में जानते थे. उनको मेरी हर बात के बारे में खबर होती थी. मगर मैंने पहले से ही सारी प्लानिंग कर रखी थी. मैंने अपने दोस्त सुरेश को बता दिया था कि अगर पापा का फोन आये तो वह कह दे कि मैं उसी के पास काम से आया हुआ हूं.

उसके बाद पापा ने मुझे जाने दिया.

मैं जल्दी से बाइक लेकर निकल गया. आशिमा को मैंने बाहर बस स्टैंड से दूर बुला लिया था. अगर बस स्टैंड पर बुलाता तो हो सकता था कि शायद कोई उसको मेरे साथ जाते हुए देख लेता. वो चेहरे पर कपड़ा लपेट कर आ गई थी. मुझे पहले तो पहचान में नहीं आई मगर फिर जब उसने फोन किया तो उसने अपनी ड्रेस के रंग के बारे में बताया.

आशिमा ने उस दिन एक गुलाबी रंग का टॉप पहना हुआ था और नीचे से काले रंग की पजामी पहनी हुई थी. मैंने उसको पहचान लिया और एक सुनसान सी जगह पर जाकर मैंने उसको बाइक पर बैठा लिया. हम दोनों नेपाल की तरफ निकल लिये. रास्ते में बाइक पर जाते हुए आशिमा के चूचे मेरी पीठ पर स्पर्श कर रहे थे.

गर्लफ्रेंड के बूब्स जब मेरी पीठ पर लग रहे थे तो मुजे मजा आ रहा था. मेरा लंड खड़ा होने लगा था. जब हम शहर से थोड़ा बाहर आ गये तो मैंने आशिमा का हाथ अपनी कमर पर रखवा लिया. मेरा लंड खड़ा हुआ था और मैं चाह रहा था कि आशिमा मेरे लंड पर हाथ रख दे, मगर उसको शायद समझ नहीं आ रहा था.

उसके बाद मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी जांघ पर रखवा दिया. उसका हाथ मेरी जांघ पर सहलाने लगा. उसका हाथ बहुत नर्म था. उसके हाथ के स्पर्श से मेरा लंड और भी टाइट होने लगा. कुछ देर तक वो मेरी जांघ पर हाथ रखे हुए बैठी रही तो मैंने अपनी जांघ को हिलाना शुरू कर दिया.

रास्ते में एक सुनसान सा इलाका आ गया था. मैंने अपनी जांघ को हिलाना शुरू कर दिया था. फिर आशिमा ने भी धीरे से मेरी पैंट में उठे हुए मेरे लंड को ढूंढना शुरू कर दिया. उसका हाथ एकदम से मेरे तने हुए लंड पर आ गया. आह्ह … मजा आ गया. उसका नर्म हाथ मेरे लंड पर रखा हुआ था. पहली बार उसने मेरे लंड को हाथ में पकड़ा था.

कुछ देर तक ऐसे ही हाथ से लंड को छूने के बाद उसने मेरे लंड पर हाथ चलाना शुरू कर दिया मगर बीच बीच में वो हाथ को हटा भी लेती थी क्योंकि कोई न कोई रास्ते में देख रहा था. मगर मेरा लंड एकदम से टाइट हो चुका था. अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था.

मैंने बाइक की स्पीड तेज कर दी. मैं जल्दी से होटल पहुंचने के लिए कोशिश कर रहा था. मुझे उसकी चूत को चोदने की धुन सवार थी. पौने घंटे में हम लोग नेपाल की सीमा में दाखिल हो चुके थे. नेपाल पहुंच कर हमने एक होटल में रूम ले लिया. वो होटल ज्यादा अच्छा तो नहीं था मगर इस तरह के कामों के लिए बहुत उपयुक्त था.

रूम की चाबी लेकर हम दोनों होटल के कमरे में चले गये. वहां पर जाते ही मैंने दरवाजे को अंदर से बंद कर दिया. अंदर जाते ही मैं आशिमा पर टूट पड़ा. हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे. आशिमा भी मेरा साथ देने लगी.

मेरी जीभ आशिमा की जीभ से लार खींच कर मेरे मुंह में ला रही थी और मेरी लार को आशिमा की जीभ उसके मुंह में लेकर जा रही थी. हम दोनों का ये पहली बार था इसलिए उत्तेजना बहुत ज्यादा थी. मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की गांड को दबाना शुरू कर दिया. वो भी मुझे बांहों में लेकर जोर से किस करने लगी.

उसके बाद मैंने उसके गुलाबी टॉप को उतरवा दिया. उसका टॉप उतरते ही उसकी गुलाबी ब्रा दिखने लगी. मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तनों को दबाना शुरू कर दिया. वो भी किसी तरह का विरोध नहीं कर रही थी. मैंने उसके स्तनों को खूब जोर से मसला. वो सिसकारियां लेने लगी.

फिर मैंने उसकी ब्रा को खोलना शुरू कर दिया. उसका गोरा बदन देख कर मुझसे रुका नहीं जा रहा था. मैंने जल्दी से उसकी ब्रा के हुक खोलना शुरू कर दिया. मगर बीच में कहीं अटक जा रहे थे. मैंने हड़बड़ी में उसकी ब्रा की इलास्टिक को खींच दिया. उसकी ब्रा की पट्टी खींच दी और वो टूट गई.

उसने कुछ नहीं कहा. उसकी गोरे चूचे उसकी ब्रा से आजाद हो गये. मैंने उसकी ब्रा को एक तरफ बेड पर फेंक दिया. उसके बाद मैंने उसके दूधों को पीना शुरू कर दिया. उसके निप्पलों को अपने मुंह में भर कर चूसना शुरू कर दिया.

Hotel me girlfriend ki chut chudai - Girlfriend ki Chudai

काफी देर तक उसके दूधों को पीने के बाद वो भी गर्म हो गई थी. वो मेरे बालों को खींचने लगी थी. उसके चूचे एकदम से कड़क हो गये थे. उसके चूचे पकड़ कर दबाते हुए मैंने उसके होंठों को एक बार फिर से पीना शुरू कर दिया. अब वो भी मेरे लंड की तरफ हाथ बढ़ाने लगी.

उसने मेरे लंड को मेरी पैंट के ऊपर से मसलना शुरू कर दिया. उसके बाद मैंने उसको बेड पर लेटा दिया. उसकी पजामी को निकाल दिया. उसने काले रंग की पैंटी पहनी हुई थी. उसकी गोरी जांघों में उसकी काली पैंटी देख कर मैं पागल सा हो गया. मैंने कभी उसको पैंटी में नहीं देखा था. मैंने तुरंत उसकी पैंटी को चाटना शुरू कर दिया.

गर्लफ्रेंड की चूत की खुशबू पहली बार मेरी नाक में गई थी. वो खुशबू बहुत ही मनमोहक थी. उसके बाद मैंने कुछ देर तक उसकी पैंटी को चूसा और फिर उसकी पैंटी को निकाल दिया. उसकी चूत नंगी हो गई.

अपनी प्रेमिका की चूत देख कर मैं उस पर टूट पड़ा. मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया. वो जोर से सिसकारियां लेने लगी.

आशिमा पूरी की पूरी नंगी होकर मेरे सामने लेटी हुई थी और मैं उसकी चूत को चाट रहा था. उसके बाद वो उठी और मेरे कपड़े उतारने लगी. उसने मेरी शर्ट उतारी और फिर पैंट भी. उसके बाद उसने मेरे अंडरवियर को भी उतार दिया.

मेरा 6 इंच का लंड देख कर वो मुस्कराने लगी. उसने मुझे लेटा दिया और मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. मैंने उसको रोक दिया. उसको मैंने पलटने के लिए कहा.

अब हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गये. मैंने उसकी चूत में जीभ घुसा दी और दूसरी तरफ से वो मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. काफी देर तक हम दोनों ओरल सेक्स का मजा लेते रहे.

Hotel me girlfriend ki chut chudai - Girlfriend ki Chudai

अब मैंने आशिमा की चूत से जीभ को निकाल दिया. वो अभी भी मेरे मुंह को अपनी चूत में दबाने की कोशिश कर रही थी. उसको काफी मजा आ रहा था और मैं भी उसके मुंह में लंड को देकर मजे ले रहा था. मगर अब मेरा मन उसकी चूत में लंड घुसाने के लिए करने लगा था.

मेरा लंड लम्बाई में तो औसत था लेकिन उसकी मोटाई काफी ज्यादा थी. उसका सुपारा एकदम लाल था जिसको मेरी आशिमा डार्लिंग बिल्कुल लॉलीपोप की तरह चूस रही थी. उसके बाद मैंने उससे लंड को निकालने के लिए कहा तो उसने लंड को छोड़ दिया.

उसकी टांगों को चौड़ी करवा कर मैंने उसकी चूत पर लंड को लगा दिया और उसकी चूत के मुंह पर अपने लंड को सेट कर लिया. मैंने उसकी चूत में एक धक्का लगाया तो उसकी आह्ह निकल गयी. उसकी चूत काफी चिकनी हो चुकी थी क्योंकि काफी देर से उसकी चूत से कामरस निकल रहा था जिसका स्वाद मुझे बहुत पसंद था.

गर्लफ्रेंड की चिकनी चूत में मेरा आधा लंड फंस चुका था. मैंने उसकी चूत में लंड को फंसाया तो वो छटपटाने लगी.

Hotel me girlfriend ki chut chudai - Girlfriend ki Chudai

वो मुझे पीछे धकेलने लगी. वो मेरी पकड़ से छूटना चाह रही थी. मगर मैंने उसको कस कर दबाये रखा. उसके बाद मैंने उसकी चूत में एक और धक्का मारा और पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. उसकी चूत में पूरा लंड उतार कर मैं उसके ऊपर लेट गया.

मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में पूरा लंड गया तो उसकी आंखों में पानी आने लगा. मगर मैं जानता था कि अगर मैंने अब लंड को वापस बाहर निकाला तो वो दोबारा मुझे लंड नहीं डालने देगी. कुछ देर तक मैं उसके ऊपर लेट कर उसको ऐसे ही प्यार करता रहा.

फिर जब वो सामान्य हो गई तो मैंने आशिमा की चूत की चुदाई शुरू कर दी. कुछ देर के बाद वो खुद ही गांड उठा उठा कर मेरे लंड को चूत में लेती हुई आराम से चुदने लगी. दोनों के मुंह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं.
आह्ह … ओह्ह … आह्हह … करते हुए हम दोनों ही सेक्स का मजा ले रहे थे.

करीब दस मिनट तक मैंने उसकी चूत को चोदा और फिर जब मेरा माल निकलने को हुआ तो मैंने उसकी चूत से अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसके मुंह में दे दिया. उसके मुंह में लंड को देकर मैंने उसके मुंह को चोदना शुरू किया और एक मिनट के अंदर ही मेरे लंड ने वीर्य उसके मुंह में छोड़ दिया.

Hotel me girlfriend ki chut chudai - Girlfriend ki Chudai

वो मेरे आधे वीर्य को पी गई और आधा उसने बाहर थूक दिया.

फिर हम दोनों शांत हो गये.

उसके बाद चुदाई का दूसरा राउंड भी हुआ जिसमें मैंने उसकी चूत को बीस मिनट तक चोदा. फिर हम अपने कपड़े पहनने लगे. हमें होटल में आए हुए काफी समय हो गया था इसलिए वापस भी जाना था.

उसके बाद हमने अपने सामान को चेक किया. उसने अपनी ब्रा को बैग में रख लिया. कपड़े पहनने के बाद हम दोनों रूम से बाहर आ गये. गर्लफ्रेंड की चूत चोद कर मुझे सच में बहुत मजा आया.

उसके बाद तो हम दोनों के बीच में काफी बार सेक्स हुआ. फिर कुछ महीने के बाद ही हम दोनों की लड़ाई होने लगी और हमारा ब्रेकअप हो गया. अब मैं एक बार फिर से सिंगल हूं.

तो दोस्तो, ये थी मेरी पहली गर्लफ्रेंड के साथ मेरी चुदाई की कहानी. अगर कहानी में कोई गलती हुई हो तो नजरअंदाज कर देना. साथ ही आपसे कहना चाहता हूं कि थोड़ा समय निकाल कर कहानी पर अपना फीडबैक भी दें.

मुझे बतायें कि आपको मेरी गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई कहानी कैसी लगी. नीचे दी गई मेल आईडी पर मेल करें. मुझे आपके मैसेज का इंतजार रहेगा. और सेक्स विडियो और new कहानी पढने के लिये telegram ग्रुप join कर सकते है.
[email protected]

Hotel me girlfriend ki chut chudai - Girlfriend ki Chudai

Read in English

Hotel me girlfriend ki chut chudai – Girlfriend ki Chudai

Girlfriend ki Chudai: My girlfriend was not ready to fuck. Slowly I started a sex chat with her. When both of us started to crave for sex, then I fucked the girlfriend’s pussy. how?

Friends, my name is Sumit. I belong to Araria, a small town in Bihar. The size of my penis is 6 inches and I am fine with my body. Although not very smart in appearance, but am average. When I was young, cocks started bothering me.

I had a girl soon. Her name is Ashima (changed name).
I was in a relationship with him. So far nothing like sex had happened in both of us. But my cock used to bother me for pussy on Girlfriend ki Chudai.

Ashima was my first girlfriend and I only befriended her for sex. But she was not looking ready for him yet. That’s why I was yearning to fuck my girlfriend’s pussy.

Looking at Ashima, I used to think that I would lick my cock in her pussy. She was very fair to look at. His figure was 32-28-34. I tried to provoke her for sex many times but she refused every time. Then slowly I started having sex chat with him. I also used him to have sex chat. Now she used to talk sexy with me on the phone. We both used to openly talk dirty about each other on Girlfriend ki Chudai.

Now both of us were yearning for sex. But we could not get a chance. I used to shake my cock while talking on the phone.

Ashima also had a similar situation.

Even after having a girlfriend, I still had no luck. Yes, but when we used to meet secretly twice, I touched her Titsi. But could never get a chance to fuck pussy because we used to meet outside somewhere for Girlfriend ki Chudai.

One day his call came to me in the morning. She started saying that suddenly her maternal grandfather’s health deteriorated. His entire family had to go there. Today she is alone at home. I understood his gesture. She was trying to say that we should take advantage of this opportunity like Girlfriend ki Chudai.

But I could not go to his house. There was a risk of going there. If any neighbor would have come to know, both of them were notorious because my father is also a very tough man. If this slanderous thing had reached my father, he would have killed me. Anyway, I was only 21 years old. I was still afraid of my father Girlfriend ki Chudai.

I refused Ashima. But I was thinking that maybe when I will get such an opportunity, I do not know. If we cannot do sex and sex in his house, then what will happen, we will go to some other place and fuck. I started racing my mind. Then I called a friend of mine. A friend was close to me and he also knew about Ashima. But he was not even on the room that day. If he was on the room, it would have become easy Girlfriend ki Chudai.

I was thinking of a girlfriend’s fuck in a friend’s room. But my plan could not be made. After that an idea came to my mind. Nepal’s border used to be near my city. Nepal is 20-22 kilometers from my city. There were lots of hotels there. Many of my friends used to take their girlfriends. I also had a bike. I thought that if not in Ashima’s house, then it can happen in the hotel like Girlfriend ki Chudai.

Thinking this, I immediately called Ashima. He told him the whole plan.
But she started saying that first she has to go to college for some work.
I told him that he should finish his early college work. After that we will go to the hotel in Nepal to have sex for Girlfriend ki Chudai.
She started saying that she would come soon.

After two hours, she received a call that she has finished her college work. I immediately made preparations for walking. I was already sitting ready after taking a shower. As soon as his phone came, I started taking a bike and my father started asking where he was going. I told them that I am going to work with a friend on Girlfriend ki Chudai.

Papa said which friend is going to whom. I was getting angry inside. My father knew about every friend of mine. He used to get news about my everything. But I had already done all the planning. I had told my friend Suresh that if I get a call from my father, then tell him that I have come to work with him Girlfriend ki Chudai.

After that, father let me go.

I quickly left the bike. I had called Ashima away from the bus stand outside. If he had called at the bus stand, it was possible that someone might have seen him going with me. She came with a cloth wrapped on her face. I did not recognize at first, but then when he called, he told about the color of his dress for Girlfriend ki Chudai.

Ashima was wearing a pink colored top and black pajamis from the bottom that day. I recognized him and after going to a secluded place, I made him sit on the bike. We both left for Nepal. On the way, Ashima’s feet were touching my back while going on the bike about Girlfriend ki Chudai.

When the girlfriends’ boobs were seen on my back, I was enjoying. My cock was getting erected. When we came out of the city a little, I placed Ashima’s hand on my waist. My cock was erect and I was wishing that Ashima could lay her hand on my cock, but she might not understand it then Girlfriend ki Chudai.

After that I held her hand and got it placed on my thigh. His hand started caressing my thigh. His hand was very soft. With the touch of his hand my cock started getting even more tight. For some time she kept sitting with her hand on my thigh, so I started moving her thigh like Girlfriend ki Chudai.

A secluded area had arrived on the way. I started moving my thigh. Then Ashima also slowly started looking for my cocks which were raised in my pants. His hand immediately fell on my trunk. Ahh… it was fun. His soft hand was placed on my cock. For the first time, he held my cock in my hand about Girlfriend ki Chudai.

After touching the cocks with such a hand for some time, she started to run my hand on my cocks, but in between she used to remove the hand because someone was looking in the way. But my cock was completely tight. Now I was not going to stay Girlfriend ki Chudai.

I speed up the bike. I was trying to reach the hotel quickly. I was riding the tune of fucking her pussy. We had already entered the border of Nepal within a quarter of an hour. On reaching Nepal, we took a room in a hotel. The hotel was not very good but it was very suitable for such works on Girlfriend ki Chudai.

With the key of the room, we both went to the hotel room. On leaving there, I closed the door from inside. As soon as I went inside, I broke down on Ashima. We both started sucking each other’s lips. Ashima also started supporting me on Girlfriend ki Chudai.

My tongue was pulling saliva from Ashima’s tongue in my mouth and Ashima’s tongue was carrying my saliva in her mouth. This was the first time for both of us, so the excitement was very much. I started pressing my girlfriend’s ass. She also started kissing me loudly with my arms about Girlfriend ki Chudai.

After that I removed her pink top. Her pink bra started appearing as soon as her top landed. I started pressing her breasts from above her bra. She was also not protesting in any way. I lashed her breasts very hard. She started taking hers like Girlfriend ki Chudai.

Then I started to unbutton her bra. I was not being stopped by seeing her blonde body. I quickly started unbuttoning her bra hooks. But they were getting stuck somewhere in the middle. I hastily pulled the elastic of her bra. Tucked her bra and she broke Girlfriend ki Chudai.

he said nothing. Her blonds were freed from her bra. I threw her bra on the bed on one side. After that I started drinking her milk. Filled her nipples in her mouth and started sucking.

After drinking her milk for a long time, she too became hot. She started pulling my hair. His legs were hardened completely. I started drinking her lips once again while holding her cock. Now she too started extending her hand towards my cock Girlfriend ki Chudai.

He started rubbing my cock on top of my pants. After that I laid him on the bed. Removed his pajamis. He was wearing black panties. Seeing her black panties in her white thighs, I got a little crazy. I had never seen her in panties. I immediately started licking her panties Girlfriend ki Chudai.

The scent of girlfriend’s pussy went in my nose for the first time. That scent was very attractive. After that I sucked her panty for some time and then removed her panty. Her pussy became naked.

cript>

Seeing my girlfriend’s pussy, I broke down on her. I started licking her pussy. She started taking loud Siskaris.

Ashima Poori was lying completely naked in front of me and I was licking her pussy. After that she got up and started undressing me. He took off my shirt and then pants too. After that he removed my underwear too Girlfriend ki Chudai.

Seeing my 6 inch cock she started smiling. He licked me and started sucking my cock with his mouth. I stopped him. I asked him to turn it over.

Now both of us have come to the 69 position. I inserted the tongue in her pussy and from the other side she started sucking my cock with her mouth. We both enjoyed oral sex for a long time like Girlfriend ki Chudai.

Now I removed the tongue from Ashima’s pussy. She was still trying to press my mouth into her pussy. He was having a lot of fun and I was also enjoying giving cocks in his mouth. But now my mind was beginning to penetrate her pussy for Girlfriend ki Chudai.

My cock was average in length but its thickness was very high. Her betel nut was very red, which my Ashima Darling was sucking like a lollipop. After that I asked him to remove the cocks, then he left the cocks on Girlfriend ki Chudai.

After making her legs wide, I put the cocks on her pussy and set my cocks on her pussy. When I put a push in her pussy, her sigh came out. Her pussy was quite smooth because for a long time, Kamaras was coming out of her pussy, which I liked very much Girlfriend ki Chudai.

Half of my cock was stuck in the girlfriend’s smooth pussy. When I stuck the cocks in her pussy, she started licking.

When my girlfriend went full cock in her pussy, her eyes started watering. But I knew that if I pulled the cocks out now, they would not let me put cocks again. For some time I lay on top of him and loved him like this Girlfriend ki Chudai.

Then when she became normal, I started fucking Ashima’s pussy. After some time, she herself lifted her ass and started to fuck me comfortably while taking my cock in her pussy. Erotic sissaries were coming out of both of them.
Ahh… ohhh… ahhhhh… while we were both enjoying Girlfriend ki Chudai.

I fuck her pussy for about ten minutes and then when my goods came out, I took my cock out of her pussy and gave it to her mouth. By giving cocks to her mouth, I started fucking her mouth and within a minute my cock left semen in her mouth.

She drank half of my semen and half spit it out Girlfriend ki Chudai.

Then we both became calm.

After that, there was a second round of Chudai in which I got her pussy for twenty minutes. Then we started wearing our clothes. It had been a long time since we came to the hotel, so had to go back Girlfriend ki Chudai.

After that we checked our luggage. She put her bra in a bag. After wearing clothes, both of us came out of the room. I really enjoyed my girlfriend’s pussy fucking.

After that, we both had sex a lot. Then after a few months we both started fighting and we broke up. Now I am single again Girlfriend ki Chudai.

So friends, this was the story of my sex with my first girlfriend. If there is a mistake in the story, ignore it. Also, I want to tell you to take some time and give your feedback on the story.

Tell me how you liked my girlfriend’s pussy fuck story. Mail to the mail ID given below. I look forward to your message. And to read sex videos and new stories, the telegram group can join.
[email protected]

Read more hot chudai story-

Girlfriend sex story 1 मोटी गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई का अनुभव

Seaxy story अपनी क्लास की 1 लड़की की सील तोड़ी best sex

Sax kahaniya 1 कामवाली सेक्सी लड़की की मज़ेदार चुदाई Best Sex

Leave a Comment

org/tools/popad.js">