Follow my blog with BloglovinSex with teacher story टीचर की चूत की चटाई 1 Best Story

Sex with teacher story टीचर की चूत की चटाई 1 Best Story

टीचर की चूत की चटाई Sex with teacher story

Sex with teacher story: मेरे साथ स्कूल में जॉब करने वाली एक टीचर का सेक्सी जिस्म मेरा लंड खड़ा कर देता था. हम अच्छे दोस्त थे. मैंने उस टीचर की चूत की आग में अपना लंड कैसे सेका?

दोस्तो, मेरा नाम नलिन है. मेरी उम्र 27 वर्ष है. मेरी हाइट 5 फुट 11 इंच है. मेरे लंड का साइज 8 इंच है. मैं स्कूल टीचर हूँ.

मैं MastHindiStory का नियमित पाठक हूँ. आज मैं आपको अपनी सच्ची सेक्स की कहानी बताने जा रहा हूँ. यह मेरी पहली गंदी कहानी है, पहली बार ऐसा प्रयास किया है तो गलती हो सकती है. अगर कोई गलती मिले तो उसे प्लीज नजरअंदाज कर दीजिएगा.

काफी समय से मैं अपने साथ हुए एक मीठे अहसास को आप सभी के साथ बांटना चाहता था। यह घटना कुछ साल पहले की है जब मैं 24 साल का था. फिलहाल मैं 27 साल का एक आकर्षक युवक हो चुका हूं। चलिए अब अपने अनुभव की ओर ले चलता हूं आपको।

उस दिन उसने एक आसमानी रंग का चिकन सूट पहना था. आप सबको तो पता ही है कि इस तरह का पहनावी कितना गजब लगता है जब कोई भी 32 साल की महिला पूरे विकसित दूधों पर उसको पहनती है.

उसका नाम पारुल था. मेरे स्कूल में ही टीचर थी. उसका घर भी मेरी कॉलोनी में ही था पर कुछ दूर था.
पारुल देखने में कमाल थी. जब भी उसके बूब्स को देखता था तो मन में टीस उठ जाती थी. उसके दूधिये रंग के स्तन ऊपर से मैंने देखे थे जो कि 34 साइज़ के थे.

जब वो चलती थी तो उसके बूब्स हिल हिल कर अपनी उपस्थिति दर्ज करवा देते थे. उसके उछलते बूब्स को देख कर मेरा लंड कड़क हो जाता था. पहली ही नजर में वो मुझे दिल से लेकर लौड़े तक घायल कर गयी थी.

शरीर से एक गुदाज बदन की मल्लिका थी. बस अब तो किसी भी तरह उसको पकड़ कर बजा देने का मन करता था. कई बार जब वो सामने आती थी तो लंड कड़क हो जाता था. उसको देखते ही लंड खड़ा हो जाता था.

sex with teacher story

कई बार तो मैंने उसके सामने ही लंड को एडजस्ट किया था. हालांकि मैंने पूरी कोशिश की उसको इसके बारे में पता न चले लेकिन वो भी शायद भांप गयी थी. मेरे लंड को नीचे ही नीचे देख चुकी थी. मगर कुछ बोली नहीं थी.

जैसे ही मैंने लंड को एडजस्ट किया तो उसका चेहरा शर्म से लाल हो गया था. मेरी जिप की देखते ही मेरे लंड में और ज्यादा बेचैनी हो जाती थी. लेकिन औपचारिक मुस्कान से ज्यादा उसने कोई संकेत नहीं दिया था अभी तक.

अब उसके साथ कई बार बात होने लगी थी. उसको जब भी कुछ काम होता था तो वो मुझे ही बताती थी. काम चाहे स्कूल का हो या बाजार का हो. वो अब मुझे ही कहती थी. मैं भी उसके जिस्म की गर्मी से आंखें सेंकने के लिए हाजिर हो जाता था.

कई बार तो वो मेरे साथ ही बाइक पर बैठकर जाया करती थी. उसके खरबूजों को अपनी पीठ पर महसूस करने का अहसास भी निराला ही था. मैं तो उसके चूचियों के स्पर्श से ही उत्तेजना के चरम पर पहुंच जाता था.

आग अब दोनों तरफ ही बराबर की लगी हुई थी. बस शुरूआत करने भर की देर थी. जब भी वो मेरे पीछे बाइक पर होती थी तो अपने चूचों को मेरी पीठ पर ऐसे दबा देती थी जैसी यही उनकी जगह है. मैं भी इन पलों का पूरा आनंद लेता था.

एक दिन की बात है कि हम दोनों स्कूल के बाद घर के लिए निकल रहे थे. अचानक से तेज बारिश शुरू हो गयी. वो मेरे साथ ही बैठी हुई थी. मैंने जल्दी से बाइक रोकी और हम दोनों खुद को बारिश से बचाने के लिए एक खंडहर में जा पहुंचे.

मगर जब तक हम खंडहर में पहुंचे उसके बदन को बारिश ने गीला कर दिया था. उसकी साड़ी उसके बदन के साथ चिपक गयी थी. उसकी नाभि बहुत मस्त दिख रही थी. भीगी साड़ी के नीचे पानी की बूंदों से सजी नाभि बहुत ही उत्तेजक लग रही थी.

sex with teacher story

मेरी नजर बार बार उसके स्तनों पर जाकर रुक रही थी. उसके स्तनों की घाटी, उसकी वक्षरेखा बहुत ही उम्दा नजर आ रही थी. ऐसा मन कर रहा था कि उसकी चूचियों में मुंह दे दूं. सोच कर ही लंड खड़ा होने लगा था.

वो भी मेरी ओर देख रही थी. मेरी पैंट में मेरा लंड आकार लेने लगा था. देखते देखते ही उत्तेजना के कारण मेरा लंड तन गया. वो भी मेरे लंड की ओर ही देख रही थी. मगर बार बार नजर बचा रही थी और ऐसे बर्ताव कर रही थी जैसे वो मेरे बदन की ओर ध्यान नहीं दे रही है.

मैं उसके करीब सरक गया. उसका हाथ मेरी जांघ की ओर था. उसने अपने कंधे पर बैग लटकाया हुआ था. उसका हाथ बैग पर था. मैंने उसके करीब जाकर उसके हाथ के पास लंड को कर दिया.

अब उसको चोदने के खयाल से ही मेरे लंड में इतना तनाव आ गया था कि मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था. मैंने पारुल के हाथ से अपना लंड टच करवा दिया. ज्यादा दबाव नहीं दिया लेकिन मैं डरते हुए उसके लंड को छुआ रहा था.

एक दो बार मैंने लंड को बहाने से उसके हाथ से छुआ दिया. उसने कुछ नहीं कहा. हो सकता था कि उसको बारिश के शोर में मेरी इस हरकत के बारे में पता न लगा हो. फिर मैंने इस बात की पुष्टि करने के लिए उसके हाथ पर अपनी पैंट में तने लंड को टच करके थोड़ा दबाव बढ़ा दिया.

अब मेरा तना हुआ लौड़ा उसके हाथ को पूरी तरह से छू रहा था. लंड ने झटका दिया. तब भी पारूल ने कुछ नहीं कहा. अब उसके चेहरे पर उत्तेजना के भाव आने शुरू हो गये थे. यह मेरे लिये संकेत था कि लाइन क्लियर है.

मैंने उसके हाथ पर लंड को सटा दिया. तब भी वो कुछ नहीं बोली. मैं लंड को उसके हाथ पर रगड़ता रहा और वो भी अपने हाथ को वहीं पर रखे रही.

जब मुझसे रुका न गया तो मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया. उसने मेरी ओर देखा. मैंने उसकी ओर देखा. मैं उत्तेजित हो चुका था. मेरा लंड उसके हाथ से रगड़वा रहा था.

sex with teacher story

उसके होंठों को करीब मैं अपने होंठों को ले गया तो उसने अपने होंठों को मेरी ओर बढ़ा दिया. दोनों के होंठ मिल गये. मैं उसके होंठों को चूसने लगा. उसके होंठ बारिश की बूंदों में भीग चुके थे. मैं उसके होंठों के रस को पीने लगा और वो भी मेरे होंठों को चूसने लगी.

हमने 3-4 मिनट तक एक दूसरे के होंठों का रस पीया. फिर मैंने उसके चूचों को दबाना शुरू कर दिया. उसकी चूचियों को अपने हाथों से भींचते हुए उसके होंठों को चूसने लगा.

यह सब उत्तेजना में एकदम से हो गया. वो एकदम से पीछे हट गयी.
मैं भी पीछे हो लिया और उसको सॉरी कहा.
वो बोली- कोई बात नहीं, इट्स ओके (हो जाता है)

हमने एक दूसरे को देखा और फिर से एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे. अबकी बार मैंने पारूल को अपनी बांहों में जकड़ लिया. हम फिर से एक दूसरे को चूसने लगे.

अब वो मेरे लंड पर हाथ फिराने लगी थी. वो भी खुद को रोक नहीं पा रही थी. उसने मेरी पैंट की चेन को खोल दिया. पारुल ने मेरी चेन के अंदर हाथ डाल दिया और मेरे लंड को सहलाने लगी.

मैंने अपने अंडरवियर में से अपने लंड को बाहर निकाल लिया. उसने मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया. मैं उसको नीचे दबाने लगा. मैं उसके मुंह में लंड देना चाहता था. वो भी मेरा इशारा समझ गयी.

पारूल मेरा इशारा समझ कर नीचे बैठ गयी. उसने मेरे लंड को हाथ में लिया और फिर एकदम से अपने मुंह में भर कर चूसने लगी. वो मेरे लंड को लॉलीपोप की तरह चूस रही थी. मेरे मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … इस्स … करते हुए मैं उसके मुंह में लंड को देने लगा.

sex-with-teacher-story-hot-teacher-sex-story-chudai-story

कुछ ही पल में मैं उत्तेजना के चरम पर पहुंच गया. मगर मैं अभी झड़ना नहीं चाह रहा था बल्कि मजा लेना चाह रहा था. मैंने उसको उठा लिया. उसकी साड़ी को ऊपर कर लिया. अब मैं उसको नंगी करने का इंतजार नहीं कर सकता था.

वैसे भी उस खंडहर में उसको नंगी करके चुदाई नहीं हो सकती थी. मैंने उसकी साड़ी को उसकी गांड तक ऊपर कर लिया. उसकी गोरी गोरी गांड मुझे दिख रही थी.

sex with teacher story

मैंने उसे खंडहर की दीवार के साथ झुकने के लिए कहा. वो जैसे मेरे कहने का ही इंतजार कर रही थी. वो दीवार को पकड़ कर झुक गयी.

उसकी चूचियों को दबाते हुए मैं उसकी चूत पर पीछे से लंड लगाने लगा. वो भी जैसे लंड लेने के लिए उतावली हो रही थी. मैं उसके पीछे बैठ गया और उसकी चूत को जीभ से चाटने लगा.

वो अपनी चूत को मेरे मुंह पर धकेलने लगी. उसकी उत्तेजना बढ़ने लगी. पीछे एक हाथ लाकर उसने मेरे सिर को अपनी चूत की तरफ दबाना शुरू कर दिया.

अब मैंने उसकी चूत में तेजी के साथ जीभ चलाना शुरू कर दिया. उसकी चूत को जीभ से ही चोदने लगा. अब उसकी चूत का रस मेरे मुंह में स्वाद देने लगा था.

Mast aunty ki chudai - kamvasna hindi story - desi xxx kahani

पांच मिनट तक पारूल की चूत को जीभ से चोदने के बाद मैं खड़ा हो गया. बारिश अभी भी हो रही थी. बिजली कड़क रही थी और ऐसे में दोनों के बदन तप रहे थे.

मैंने उसकी चूत पर पीछे से लंड लगा दिया और अंदर धकेल दिया. गच्च से आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. वो एकदम से ऊपर की ओर आने लगी लेकिन मैंने उसको फिर से झुका लिया.

फिर मैं उसकी चूचियों को दबाने लगा. थोड़ी देर तक उसकी चूचियां दबाने के बाद मैंने उसकी चूत में एक धक्का और लगाया और पूरा लंड पेल दिया. अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में उतर चुका था.

sex with teacher story

अब मैंने उसकी चूत में धक्के लगाने शुरू कर दिये. उसकी चूत की चुदाई शुरू कर दी. उसके मुंह से अब सिसकारियां निकलने लगीं. आह्ह आह्ह .. ओह्ह … ओह्ह … करती हुई वो अपनी चूत को चुदवाने लगी.

sex with teacher story

तभी उसका फोन बजने लगा.
मैंने चुदाई रोक दी. उसने फोन पर हैलो किया. फिर ये कह कर काट दिया कि बाद में बात करूंगी.
मैंने पूछा- किसका फोन था.
वो बोली- कोई नहीं. तुम चोदो.

पारूल की चूत में मैंने फिर से धक्के लगाने शुरू कर दिये. एक बार फिर से मैं उसकी चूत को पेलने लगा.
वो बोली- आह्ह … बहुत खूब पेल रहे हो. मजा आ रहा है. और तेज … आह्ह … चोदो।

उसकी चूत में लंड गच-गच अंदर जा रहा था.
वो बोली- अब तक कितनी चूत मारी हैं?
मैंने कहा- तुम चौथी हो.

मैंने पूछा- फोन किसका था?
वो बोली- पति का था.
मैंने कहा- क्या बोल रहा था?
वो बोली- मुझे बुला रहा था.
मैं भी समझ गया, मैंने कहा- तुम्हारी चूत मारने के लिए बोल रहा होगा.
वो बोली- हां.

मेरे दिमाग में एक आइडिया आया.
मैं बोला- तुम उसको यहीं बुला लो.
वो बोली- नहीं, उसको पता लग जायेगा.
मैंने कहा- नहीं, जब वो आयेगा तो मैं बाइक में पेट्रोल डलवाने के बहाने से निकल जाऊंगा.

sex with teacher story

उसने भी मस्ती में अपने पति को फोन कर दिया. कुछ ही देर में उसके पति ने बतायी लोकेशन पर पहुंच कर फोन किया.
फिर हम दोनों वहां से बाहर आ गये थे.

मैंने कहा- पेट्रोल खत्म हो गया है. मैं लेकर आता हूं.
मैं बाइक को पैदल ही लेकर जाने लगा. कुछ दूरी पर जाकर मैंने बाइक रोक दी.
फिर से पीछे आकर मैंने उन दोनों को देखा.

वो अंदर चले गये थे. मैंने अंदर देखा तो उसका पति उसकी चूत को पेल रहा था. कुछ देर तक मैं पति-पत्नी की चुदाई देखता रहा. फिर मैंने सोचा कि इनके मजे लेता हूं.

मैं उनके पास जाने लगा. जैसे ही उनको आहट हुई कि कोई आ रहा है वो दोनों हड़बड़ा गये. उसके पति ने लंड बाहर निकाल लिया था. पारूल तब तक अपनी साड़ी संभाल नहीं पाई थी.
मैंने नाटक सा करते हुए कहा- मैं पेट्रोल ले आया हूं. अब मैं जा रहा हूं.

उस दिन घर पहुंच कर मैंने पारूल को फोन किया. उसने बात नहीं की. फिर मैंने उसको अगले दिन कहा कि अपने पति से दोस्ती करवा दो. फिर उसके पति ने मुझसे भी बात करना शुरू कर दिया.

sex with teacher story

अब तो मुझे जैसे पारूल को चोदने का लाइसेंस ही मिल गया था. एक दिन फिर ऐसे ही बारिश हो रही थी. हम दोनों उसी खंडहर में पहुंच गये. वहां पर पहले से ही एक लड़का और एक लड़की चुदाई कर रहे थे.

हमें देख कर वो बाहर आने लगे.
पारूल हंसते हुए बोली- अरे कर लो. कोई बात नहीं. हम भी वही करने जा रहे हैं.
फिर वो दोनों भी अपने काम में लग गये.
लड़का-लड़की की चुदाई फिर शुरू हो गयी.

हम दोनों अंदर चले गये. मैंने पारूल को लंड चुसवाना शुरू कर दिया. वो लड़की मेरे लंड को देखने लगी. पारूल भी उस लड़के के लंड को देख रही थी.

मैंने कहा- दो लंड से चुदाई करवानी है क्या?
वो बोली- हां.
फिर मैंने लड़के को आवाज देकर कहा- आ जाओ. दोनों मिल कर टीचर की प्यास को बुझा देते हैं.

वो लड़का अपने खड़े लंड के साथ हमारे पास आ गया. उसने पारूल की चूत में लंड को पेल दिया. मैं पारुल को लंड चुसवाता रहा. ये सब देख कर लड़की भी उत्तेजित हो गयी.

उसने पास आकर मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया. अब मैं पारुल के मुंह में लंड को पेल रहा था और उस अन्जान लड़की के होंठों को चूस रहा था.

फिर मैंने पारुल के मुंह से लंड निकाल कर लड़की की चूत में दे दिया. उसकी चूत में दर्द होने लगा और वो रोने लगी.
पारुल ये देख कर हंसने लगी.
वो मुझसे बोली- इसको छोड़ दो. तुम्हारे लंड को मैं ही झेल सकती हूं.

sex with teacher story

मगर मेरा मन था कि मैं उस लड़की की टाइट चूत चोदूं. फिर उस लड़के ने भी टीचर की चूत में वीर्य छोड़ दिया.
वो दोनों वहां से चले गये. उसके बाद अब मैंने फिर से पारुल की चूत को चोद कर उसकी चूत की आग बुझाना शुरू कर दिया.

उसकी चूचियों को पकड़ कर जोर से उसकी चूत में लंड को पेलने लगा. दस मिनट तक उसकी चूत को चोदने के बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया. उसकी चूत में दो लंड का माल भर गया था.
फिर हम दोनों वहां से आ गये. मगर उस लड़की की टाइट चूत अभी भी मुझे याद आ रही है. कभी दोबारा मौका मिला तो उसकी चूत जरूर चोदूंगा.

आपको ये टीचर की चूत की आग की स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल और कमेंट्स के जरिये बताना.
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

Read in English

Teacher ki Chut ki Chata aur Sex with teacher story

Sex with teacher story: The sexy body of a teacher who used to work in school with me used to make my cock. We were good friends How did I get my cock in that teacher’s pussy fire?

Friends, my name is Nalin. I am 27 years old My height is 5 feet 11 inches. The size of my cock is 8 inches. I am a school teacher.

I am a regular reader of MastHindiStory. Today I am going to tell you my true sex story. This is my first dirty story, if I have tried this for the first time then there can be a mistake. If you find any mistake, please ignore it and sex with teacher story.

For a long time I wanted to share a sweet feeling that I had with you all. This incident happened a few years back when I was 24 years old. At the moment, I have been an attractive young man of 27 years. Now let me take you towards my experience.

That day he wore a sky colored chicken suit. You all know how wonderful this type of dress looks when a 32-year-old woman wears it on fully developed milk and sex with teacher story.

His name was Parul. I had a teacher in my school. His house was also in my colony but it was some distance away.
Parul was amazing to watch. Whenever I saw her boobs, she used to get teary. I saw her milky colored breasts from above which were 34 size then sex with teacher story.

When she used to walk, her boobs used to make her presence felt after moving. Seeing her jumping boobs, my cock would get hard. At the first sight, she injured me from heart to back, sex with teacher story.

From the body, there was an analika body of the body. Just now somehow I wanted to hold him and play him. Many times when she used to come in front, the cocks used to get hard. Lund used to stand on seeing him.

sex with teacher story
Many times I adjusted the cocks in front of him. Although I tried my best she might not know about it, but she too was probably shocked. I had already seen my cock down below. But nothing was spoken.

As soon as I adjusted the cocks, his face became red with shame. On seeing my zip, there was more discomfort in my cock. But more than a formal smile, he had not given any indication yet to sex with teacher story.

Now he had started talking with her many times. Whenever she had some work, she used to tell me. Whether it is school or market work. She used to tell me now. I also used to be present to bake my eyes from the heat of his body and sex with teacher story.

Many times she used to go on the bike with me. The feeling of feeling his melons on his back was also unique. I used to reach the peak of excitement only with the touch of her pussy like sex with teacher story.

The fire was now on both sides equally. It was too late to start. Whenever she was on the bike behind me, she used to press her hips on my back as if this is her place. I used to enjoy these moments too.

It is a matter of one day that both of us were leaving for home after school. Suddenly heavy rain started. She was sitting with me. I quickly stopped the bike and both of us reached a ruin to save ourselves from the rain and sex with teacher story.

But by the time we reached the ruins, his body was wet by the rain. Her sari was studded with her body. His navel looked very cool. The navel adorned with drops of water under a wet saree looked very stimulating.

sex with teacher story
My eyes were stopping by visiting her breasts again and again. The valley of her breasts, her breast line looked very good. I felt like giving my mouth in her pussy. Cocks started thinking.

She was also looking at me. My cock was starting to take shape in my pants. My cock got tanned due to excitement on seeing it. She was also looking towards my cock. But time and again she was saving her eyes and behaving as if she was not paying attention to my body and like sex with teacher story.

I moved closer to him. His hand was towards my thigh. He had a bag hanging over his shoulder. His hand was on the bag. I went close to him and turned the cocks near his hand to the sex with teacher story.

Sex with teacher story: The sexy body of a teacher who used to work in school with me used to make my cock. We were good friends How did I get my cock in that teacher’s pussy fire?

Friends, my name is Nalin. I am 27 years old My height is 5 feet 11 inches. The size of my cock is 8 inches. I am a school teacher.

I am a regular reader of MastHindiStory. Today I am going to tell you my true sex story. This is my first dirty story, if I have tried this for the first time then there can be a mistake. If you find any mistake, please ignore it. and sex with teacher story.

For a long time I wanted to share a sweet feeling that I had with you all. This incident happened a few years back when I was 24 years old. At the moment, I have been an attractive young man of 27 years. Now let me take you towards my experience from sex with teacher story.

That day he wore a sky colored chicken suit. You all know how wonderful this type of dress looks when a 32-year-old woman wears it on fully developed milk.

His name was Parul. I had a teacher in my school. His house was also in my colony but it was some distance away, sex with teacher story.
Parul was amazing to watch. Whenever I saw her boobs, she used to get teary. I saw her milky colored breasts from above which were 34 size.

When she used to walk, her boobs used to make her presence felt after moving. Seeing her jumping boobs, my cock would get hard. At the first sight, she injured me from heart to back.

From the body, there was an analika body of the body. Just now somehow I wanted to hold him and play him. Many times when she used to come in front, the cocks used to get hard. Lund used to stand on seeing him.

sex with teacher story
Many times I adjusted the cocks in front of him. Although I tried my best she might not know about it, but she too was probably shocked. I had already seen my cock down below. But nothing was spoken.

As soon as I adjusted the cocks, his face became red with shame. On seeing my zip, there was more discomfort in my cock. But more than a formal smile, he had not given any indication yet in sex with teacher story.

Now he had started talking with her many times. Whenever she had some work, she used to tell me. Whether it is school or market work. She used to tell me now. I also used to be present to bake my eyes from the heat of his body like sex with teacher story.

Many times she used to go on the bike with me. The feeling of feeling his melons on his back was also unique. I used to reach the peak of excitement only with the touch of her pussy.

The fire was now on both sides equally. It was too late to start. Whenever she was on the bike behind me, she used to press her hips on my back as if this is her place. I used to enjoy these moments too much sex with teacher story.

It is a matter of one day that both of us were leaving for home after school. Suddenly heavy rain started. She was sitting with me. I quickly stopped the bike and both of us reached a ruin to save ourselves from the rain but sex with teacher story.

But by the time we reached the ruins, his body was wet by the rain. Her sari was studded with her body. His navel looked very cool. The navel adorned with drops of water under a wet saree looked very stimulating.

sex with teacher story
My eyes were stopping by visiting her breasts again and again. The valley of her breasts, her breast line looked very good. I felt like giving my mouth in her pussy. Cocks started thinking.

She was also looking at me. My cock was starting to take shape in my pants. My cock got tanned due to excitement on seeing it. She was also looking towards my cock. But time and again she was saving her eyes and behaving as if she was not paying attention to my body inside sex with teacher story.

I moved closer to him. His hand was towards my thigh. He had a bag hanging over his shoulder. His hand was on the bag. I went close to him and turned the cocks near his hand….sex with teacher story.

Then I started pressing her pussy. After pressing her pussy for a while, I pushed her pussy and put a full cock. Now my whole cock had landed in her pussy.

sex with teacher story
Now I started banging her pussy. Fucked her pussy. Now his mouth started coming out of his mouth. Ahhh ahhh .. ohhh… ohhhh… while doing it she started fucking her pussy.

Then his phone started ringing.
I stopped fucking. He said hello on the phone. Then cut it off saying that I will talk later.
I asked – whose phone was it.
She said – no one. Fuck you and sex with teacher story.

I started to hit Parul’s pussy again. Once again, I started giving her pussy.
She said – Ahhh… you are drinking very well Is enjoying And fast… Ahhh… Chodo.

Cocks in her pussy were going inside.
She said – how much pussy have you killed?
I said – you are the fourth.

I asked- whose phone was it?
She said – was husband.
I said what was he saying?
He bid – was calling me.
I also understood, I said – must be speaking to kill your pussy.
She said yes.

An idea came to my mind.
I said – you call him right here.
She said no – she will come to know.
I said – no, when he comes, I will leave with the excuse of putting petrol in the bike.

sex with teacher story
She also phoned her husband in fun. Shortly after arriving at the stated location, her husband called.
Then we both came out of there. much sex with teacher story.

I said – Petrol is over. I bring
I started taking the bike on foot. I stopped the bike after going some distance.
After coming back again, I saw them both.

He went inside. When I looked inside, her husband was sucking her pussy. For some time I kept watching husband and wife fuck. Then I thought I enjoyed them, sex with teacher story.

I started going to him. As soon as they were told that someone was coming, both of them were shocked. Her husband had taken the cocks out. Parul could not handle her saree till then.
While doing the drama, I said – I have brought petrol. I am going now like sex with teacher story.

On reaching home that day, I called Parul. He did not talk. Then the next day I told her to befriend her husband. Then her husband started talking to me too.

sex with teacher story
Now, like me, Parul got a license to fuck. One day it was raining like this again. We both reached the same ruins. There was already a boy and a girl doing chudai.

They started coming out after seeing us.
Parul said with a laugh – Do it. No problem. We are going to do the same.
Then both of them also got involved in their work.
Fucking of boy and girl started again sex with teacher story.

We both went inside. I started licking Parul. That girl started looking at my cock. Parul was also looking at the boy’s cock to the sex with teacher story.

I said – have to fuck two cocks?
She said yes.
Then I gave voice to the boy and said- Come. Together, they quench the teacher’s thirst.

That boy came to us with his erect cocks. He gave cocks to Parul’s pussy. I kept on licking Parul. Seeing all this, the girl also got excited for sex with teacher story.

He came near and started sucking my lips. Now I was sucking the cocks in Parul’s mouth and sucking the lips of that unknown girl like sex with teacher story.

Then I removed the cocks from Parul’s mouth and gave it to the girl’s pussy. Her pussy started hurting and she started crying.
Parul started laughing after seeing this.
She said to me – leave it. I can only afford your cock like sex with teacher story.

sex with teacher story
But my mind was that I am that girl’s tight pussy. Then that boy also left semen in the teacher’s pussy.
They both left from there. After that, I have started to extinguish the fire of her pussy by fucking Parul’s pussy again.

Grabbing her Acwati loudly began to pay Lund in her pussy. After fucking her pussy for ten minutes, I also fell into her pussy. The goods of two cocks were filled in her pussy.
Then we both came from there. But the girl’s tight pussy is still missing me. If you get a chance again, you will definitely fuck her pussy.

How did you like this teacher’s story of pussy fire, tell me through mail and comments.
[email protected]

More Teacher Sex Story-

कॉलेज वाली टीचर के मम्मों(Boobs)को चूसा | teacher ki chudai stories

कॉलेज टीचर को घोड़ी बना कर चोदा | teacher ki chudai story – chudai teacher ki

2 thoughts on “Sex with teacher story टीचर की चूत की चटाई 1 Best Story”

Leave a Comment