Antarvasna 2 सहेली के भाईयों ने की मेरी चुदाई Best Sex Story

सहेली के भाईयों ने की मेरी चुदाई Antarvasna 2

Antarvasna 2: मीनू मेरी बहुत अच्छी सहेली है, मैं अक्सर उसके घर जाती हूँ। उसका बड़ा भाई है जो मुझे अच्छे से जानता है।

अब मैं आपको एक दिन की ऐसी बात बताऊँगी जिसे सुनकर आप को बस मजा आ जाएगा।

हुआ यूँ कि मैं घर पर बोर हो रही थी तो सोचा कि मीनू के घर चलकर उससे गप्पें मारी जाएँ। लेकिन वहाँ जो हुआ वो मुझे पूरी ज़िन्दगी याद रहेगा। मीनू घर पर नहीं थी। उसका भाई और भाई का एक दोस्त वहाँ पर थे।

मेरे वहाँ पहुंचते ही भाई ने कहा- शालू, ज़रा हम दोनों के लिए चाय बना दे।

मैंने बना दी और मीनू का इंतज़ार करने लगी और उन दोनों के साथ गप्पें भी लड़ाने लगी।
फिर उनका दोस्त, जिसका नाम मोहित है मेरे पास आकर बैठ गया और यहाँ वहाँ की बातें करने लगा।

अब आ गया सेक्स का टॉपिक… अब मैंने कभी ना किसी को चूमा और ना ही कभी किसी से अब तक चुदी थी।
मोहित ने कहा- अगर कहो तो तुम्हें बताएं कि यह सब क्या कैसे होता है?

थोड़ा ना-नुकर के बाद मैंने सोचा- चलो देखते हैं कि यह सब होता कैसे है।
तो मैं उसकी ओर देखती रही।

मोहित ने मेरा चेहरा अपने दोनों हाथों में लिया और मेरे होठों को चूम लिया। एक सिरहन सी दौड़ गई।

Antarvasna 2

यह तो शुरूआत थी। उसने फिर मेरे गाल चूमे, मेरे आँखें, गर्दन और फिर मेरा गला। जब उसने ठुड्डी चूसी तो मैं उछल गई… और भी चुमवाने की इच्छा हुई। मोहित फिर मेरे पीछे आ गया और मेरी बाहों के नीचे से अपने दोनों हाथ निकालकर मेरे मम्मे दबाने शुरू किये। मैं सिहर गई। मैं बस हूँ हूँ करती रही।

अब उसने मेरी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाला और मेरी ब्रा के ऊपर से मुझे दबाने लगा। फिर एकदम फुर्ती से उसने मेरी टी-शर्ट उतार दी। मुझे बहुत शर्म आ रही थी लेकिन उत्सुकता भी थी। मोहित मुझे मसलता रहा और मैं उसकी बाहों में कसमसाती रही। फिर मेरी ब्रा कब उतरी मुझे याद नहीं लेकिन जब होश आया तो देखा मैं मोहित की गोद में थी और वो मेरे मम्मों को मसल रहा था। फिर वो मेरे मम्मों को चूसने लगा।

Antarvasna 2

मैं हड़बड़ा गई। लेकिन अब तो काफी आगे निकल चुकी थी। उसने मुझे खड़ा किया और अपनी शर्ट उतार दी। फिर उसने मेरी जींस उतारी, मैं अब केवल चड्डी में थी और वो भी चड्डी में आ गया। उसका पूरा खड़ा था। फिर उसने मेरी चड्डी उतारी और इस तरह मैं पूरी नंगी हो गई।

मोहित ने मुझे सोफे पर लिटाया और मेरी चूत को चूसने लगा। पहली बार कोई मेरी झांटें छू रहा था, पहली बार कोई मेरे मम्मे चूस रहा था, पहली बार कोई मेरी चूत को देख रहा था और पहली बार मैं किसी के सामने ऐसी नंगी हुई थी।

मोहित ने मेरी चूत को खूब चूसा और काफी चूसने के बाद मेरे अन्दर कुछ हुआ… मैंने उसे रोकना चाहा!
मोहित बोला- बेबी, तू झड़ रही है।
मैंने कहा- मतलब?
मतलब कि तेरी चूत से अब रस निकलेगा और मेरे अन्दर कुछ फूटा और मैं निढाल हो गई।

थोड़ी ही देर में मोहित ने मुझे उठाया और खुद सोफे पर लेट गया। अपनी चड्डी उतारी और बोला- बेबी, ले मेरा लंड पकड़ और चूस।
मैं पहली बार एक लंड देख रही थी। गन्ने की तरह था… सख्त-मोटा-लम्बा।

Antarvasna 2

मैंने धीरे से हाथ लगाया। मोहित ने मुझे अपना लंड पकड़ाया और ऊपर नीचे किया और कहा- ऐसे करो!
मैं करने लगी।
फिर उसने कहा- अब चूसो।
मैंने कहा- नहीं।

मोहित ने मुझे अपनी ओर खींचा और मेरा मुँह खोलकर अपना सुपारा मेरे मुँह में दे दिया। मैंने उसे चूसा। बड़ा अजीब सा लगा!
फिर मोहित ने मेरा सर पकड़कर पूरा लंड मेरे मुँह में डाल दिया।
मैं चूसने लगी। मैंने खूब चूसा, खूब चूसा। मजा आ गया।

Antarvasna 2

मैं मीनू के भाई के बारे में तो भूल ही गई थी। वो दूसरे कमरे में था, वो बाहर आया और नज़ारा देखकर हैरान रह गया।

अब दृश्य ऐसा था: मोहित सोफे पर बैठा था- दोनों टाँगें इधर उधर हवा में और उसका लंड मेरे मुँह में अन्दर-बाहर हो रहा था- मैं उकडू होकर नीचे थी- मैं मीनू को भाई को नहीं देख पाई थी।
इतने में वो मेरे पीछे आया और अपनी जुबान से मेरी चूत चाटने लगा।

मैं चौंकी! पलटकर देखना चाहती थी लेकिन मोहित ने सर पकड़ रखा था। भाई ने कब अपने कपड़े उतारे, मुझे नहीं पता और मेरे पीछे आ गया। उसका लंड मेरी गांड से टकराने लगा और मुझे लगा ‘हे भगवान्… मीनू देखेगी तो क्या कहेगी।’
खैर!
भाई ने मेरी टांगें इधर उधर कीं और चूत को थोड़ा फैलाया और अपना सुपारा मेरी चूत के अन्दर!

पहली बार मैं चुद रही थी। मैं चीख पड़ी। भाई सरपट सरपट चोदने लगा।
मोहित बोला- साले, सील तो मैं तोड़ने वाला था! तू क्यों आ गया।
भाई बोला- पता होता यह इतनी गर्म है तो मैं तो कब का इसका भोसड़ा बन देता।
मैं चुदती रही और साथ ही मोहित का लंड चूसती रही।

Antarvasna 2

इतने में मोहित ने कहा- चल साइड बदलें।
भाई सामने आ गया और मोहित ने मेरी चूत संभाली। मैं भाई से नज़रें नहीं मिला पा रही थी। भाई ने मेरा गला सहलाया और अपना लौड़ा मेरे मुँह में डाल दिया। और उसी समय मोहित ने अपना मूसल मेरी चूत में पेल दिया।
मेरी हालत क्या हो गई कह नहीं सकती- मुँह में और चूत में ऐसा दर्द हुआ कि क्या कहूँ!

hindisexstory - xxx desi kahani - group chudai stories Antarvasna 2


लेकिन हाँ! बोर नहीं हो रही थी- लेकिन इसकी आशा नहीं थी कि आज मेरी सील टूटेगी। दोनों मर्द मुझे चोदते रहे और मैं चुदती रही। मेरी चिल्लाहट से इन्हें कोई मतलब नहीं था, इन्हें सिर्फ अपने लंड को मजे देना था।

थोड़ी देर में भाई ने अपना पूरा वीर्य मेरे मुँह में डाल दिया और मोहित ने अपना माल मेरी पीठ पर गिरा दिया। मैं तो दो-तीन बार झड़ चुकी थी। तीनों फिर निढाल होकर सोफे पर बैठ गए… मैं बीच में और ये दोनों मेरे अगल बगल।

अब आगे की सुनिए। भाई नीचे लेट गया और अपना लंड सहलाने लगा, उसका खड़ा होने लगा और देखते ही देखते एकदम कुतुब-मीनार हो गया।
उसने कहा- शालू, चल मेरे लंड पर बैठ!

मैं आई और अपनी चूत में लंड डालने का प्रयास करने लगी। भाई ने मदद की और लंड मेरी चूत में समाने लगा। फिर मैं उचकने लगी और चुदने लगी।
इतने में मोहित आया, वह अपने लंड को आगे पीछे करता हुआ मुट्ठ मार रहा था, उसका भी खड़ा हो गया।
उसने कहा- भाई पर मेंढक की तरह बैठ!
मैं उसी तरह बैठी और मोहित मेरी गांड में उंगली करने लगा।

मैंने सोचा- बॉस आज तो गई! यह तो मेरी उलटी-सुलटी दोनों तरफ से बजायेंगे।

Antarvasna 2

मैंने एक बार मना किया लेकिन मोहित नहीं माना, बोला- बेबी तेरी गांड बड़ी सुडौल है। जब तक मेरे टट्टे इन पर नहीं गिरेंगे, मुझे नींद नहीं आएगी।
भाई बोला- शालू, कुछ नहीं होगा।
मैं मान गई। मेरे ऊपर मोहित लेटा और अपना लौड़ा मेरी गांड में डालने लगा।
मैं चीखने लगी- रुको! रुको! बोलने लगी।

लेकिन साब! दोनों ऐसे मेरी ले रहे थे जैसे कोई कम्पटीशन हो रहा हो। मैं गांड मरवा रही थी और चुद रही थी!
बीच बीच में दोनों मेरे मम्मों को भी दबा रहे थे। अभी यह चल ही रहा था कि मीनू अन्दर आई। वो कब अन्दर आई, किसी को कुछ पता नहीं चला। वह एकदम एकटक मेरी चुदाई देखती रही।

मीनू को ना जाने क्या हुआ, उसने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और हम सबके सामने आ गई।
भाई ने उसे डांटा और कहा- मीनू, अन्दर जा।
मीनू बोली- भैया, मैं भी चुदूंगी।

मोहित ने अपना लंड निकाला और मीनू के मुँह में डाल दिया। 69 की दशा में दोनों एक दूसरे को चूसते रहे और फिर मोहित ने उसको कुतिया बनाकर चोदना शुरू किया।
भाई देखता रहा अपनी बहन को चुदते हुए!

इस तरह से हमने पूरी दोपहर काटी। मोहित ने मीनू को दो बार चोदा और एक बार उसकी गांड मारी, भाई ने मुझे तीन बार चोदा।

Antarvasna 2

उस दिन के बाद से मैं हर हफ्ते भाई से चुदती हूँ। मोहित मुझे और मीनू को हर दूसरे तीसरे दिन चोदता है। हम चारों बहुत सुखी हैं। चुद चुद के हम दोनों की चूत बम भोसड़ा बन गई है। लेकिन मजा बहुत आता है।
शालू
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगी. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

Antarvasna 2

Read in English

Sehali ke bhaiyon se chudai Antarvasna 2

Antarvasna 2: Meenu is my very good friend, I often go to her house. He has an older brother who knows me well.

Now, I will tell you one day such thing which you will just enjoy listening to antarvasna 2.

It happened that I was getting bored at home, so I thought that after going to Meenu’s house, she should be murdered. But what happened there, I will remember my whole life. Meenu was not at home. His brother and a friend of his brother were there then antarvasna 2.

As soon as I reached there, my brother said – Shalu, let us make tea for both of us.

I made and started waiting for Meenu and started fighting with both of them.
Then his friend, whose name is Mohit, came to me and sat down and started talking here and there like antarvasna 2.

Now the topic of sex has come… Now I have never kissed anyone nor have I ever kissed anyone.
Mohit said – If you say so, then tell you how it happens?

After a bit of naughtiness, I thought – let’s see how this all happens.
So I kept looking at him for antarvasna 2.

Mohit took my face in both his hands and kissed my lips. A headdress ran.

Antarvasna 2
This was the beginning. He then kissed my cheeks, my eyes, neck and then my throat. When she chinned, I jumped… and wished to kiss even more. Mohit again came after me and took out both his hands from under my arms and started pressing my mother. I shuddered I just keep doing it.

Now he put his hand inside my T-shirt and started pressing me on top of my bra. Then she quickly removed my T-shirt. I was very ashamed but also curious. Mohit kept squeezing me and I swore in his arms. I do not remember when my bra landed again, but when I regained consciousness, I saw Mohit in my lap and he was rubbing my mums. Then he started sucking my mom’s then antarvasna 2.

I was shocked. But now it was far ahead. He stood me up and took off his shirt. Then he took off my jeans, I was now only in tights and he also came in tights. He was standing all over. Then she took off my tights and thus I became completely naked and antarvasna 2.

Mohit put me on the couch and started sucking my pussy. For the first time someone was touching my pranks, for the first time someone was sucking my mamma, for the first time someone was looking at my pussy and for the first time I was naked in front of someone like antarvasna 2.

Mohit sucked my pussy a lot and after sucking a lot, something happened in me… I wanted to stop him!
Mohit said- Baby, you are falling.
I said – mean?
Meaning that the juice will come out of your pussy now and something bursts inside me and I become cold about antarvasna 2.

In a short while Mohit picked me up and lay down on the couch himself. Took off his trunks and said- Baby, take hold of my cock and suck it and enjoy antarvasna 2.
I was watching a cock for the first time. It was like sugarcane… hard and long.

Antarvasna 2
I slowly put my hands on it. Mohit grabbed my cock and lowered me up and said – do it!
I started doing
Then he said – now suck.
I said no.

Mohit pulled me towards him and opened my mouth and gave his betel nut to my mouth. I sucked it. It felt very strange for antarvasna 2.
Then Mohit grabbed my head and put the whole cock in my mouth.
I started sucking. I sucked a lot, sucked a lot. Had fun.
I had forgotten about Meenu’s brother. He was in another room, he came out and was surprised to see the scene in antarvasna 2.

Now the scene was like this: Mohit was sitting on the couch – both legs were moving in the air and his cock was moving in and out of my mouth – I was fidgeting down – I could not see Meenu’s brother about antarvasna 2.
So he came after me and started licking my pussy with his tongue.

I startled! He wanted to look back, but Mohit held his head. I don’t know when my brother took off his clothes and followed me. His cock started hitting my ass and I thought ‘Oh God… what will you say if I see the menu.’
Well! for antarvasna 2.
Brother moved my legs here and there and spread my pussy a little and put my betel in my pussy!

For the first time I was fucking. I screamed Brother gallop started to gallop the antarvasna 2.
Mohit said – Brother, I was about to break the seal! Why have you come?
Brother said- I would have known if it was so hot, then I would have become its Bhosda.
I kept fucking and also sucked Mohit’s cocks.

Antarvasna 2
So Mohit said – Change the moving side.
Brother came in front and Mohit took over my pussy. I could not get my eyes on my brother. Brother slit my throat and put my Aloda in my mouth. And at the same time Mohit gave his pestle to my pussy.
Can’t say what happened to my condition – there was such pain in the mouth and in the pussy, what should I say!

But yes! Wasn’t getting bored – but it was not expected that my seal would break today. Both men kept fucking me and I kept fucking. He didn’t mean anything to my screams, he just had to enjoy his cock in the antarvasna 2.

In a while, the brother put all his semen in my mouth and Mohit dropped his merchandise on my back. I had fallen two or three times. All three then sat down on the couch… I am in the middle and both of them next to me.

Now listen further. The brother lay down and started caressing his cock, he started to stand up and immediately became a Qutub Minar.
He said – Shalu, come sit on my cock!

I came and started trying to put cocks in my pussy. Brother helped and cocks got into my pussy. Then I started shoving and started fucking.
So fascinated, he was fisting his cock back and forth, he also stood up.
He said – sit like a frog on your brother!
I sat in the same way and Mohit started to finger my ass.

I thought – Boss today! I will do this instead of my opposite.

Antarvasna 2
I refused once but did not consider fascinated, said – Baby your ass is very good. I will not sleep until my tots fall on these.
Brother said – Shalu, nothing will happen.
I agreed. Mohit lay on me and started putting his Aloda in my ass.
I started screaming – wait! Wait! Started speaking

But saab! Both were taking me as if some competition was happening. I was getting asshole and fucking!
In between, both of them were suppressing my mother as well. It was still going on that the menu came in. When she came in, nobody got to know anything. She kept staring at me completely.

No matter what happened to Meenu, she also took off all her clothes and came in front of us all.
Brother rebuked him and said- Meenu, go inside.
Meenu said- Brother, I will also fuck.

Mohit took out his cock and put it in Meenu’s mouth. In the case of 69, the two continued to suck each other and then Mohit started fucking him by making him a bitch.
Brother kept watching his sister

In this way we spent the whole afternoon. Mohit chokes Meenu twice and ass once, brother thrice me.

Antarvasna 2
From that day onwards, I fuck my brother every week. Mohit fucking me and Meenu every other third day. All four of us are very happy. Chud Chud’s pussy bomb has become Bhosda of both of us. But it is fun.
Shaloo
[email protected]

How did you like my true sex incident, tell me on Telegram, I will wait for your comment and message. Apart from this, you can also give your opinion by commenting on the story below.

Read more hot sex story-

जीजू का प्यार और मेरी गांड का शिकार | sali hot story – xxxhindistory

जंगल में माँ की गांड को चोदा | maa bete ki gandi kahani – mom son story hindi

1 thought on “Antarvasna 2 सहेली के भाईयों ने की मेरी चुदाई Best Sex Story”

Leave a Comment