Chudaistory चाची को चोद कर बच्चा किया 1 Real Best Sex Story

चाची को चोद कर बच्चा किया Chudaistory

Chudaistory: जवानी चढ़ी तो मैं चूत के लिए तड़पने लगा. मुझे अपनी चाची पसंद आयी और उन्हें सोच कर बहुत मुठ मारी लेकिन संतुष्टि नहीं मिली. मैं चाची की चुदाई करना चाहता था.

दोस्तो, आज मैं आप को एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूं. यह मेरी जिन्दगी की आपबीती है. इसे केवल सेक्स कहानी के रूप में न देखें. चूंकि यह घटना मेरे परिवार से जुड़ी है इसलिए मैं पात्रों के नाम बदल कर लिख रहा हूं.

मेरा नाम कपिल (बदला हुआ) है.

यह घटना मेरे और मेरी चाची कल्पना (बदला हुआ नाम) के बीच में हुई थी. मेरी सगी चाची और मेरे बीच में हुई इस घटना को काफी समय हो गया है. इसलिए मैंने सोचा कि आप लोगों के साथ अपने अनुभव को शेयर करूं.

मेरी चाची का फीगर 35-28-32 है. वो एक सेक्सी बदन वाली महिला है. उनके बड़े बड़े बोबे देख कर किसी का भी मन डोल सकता है. मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ था.

उस वक्त मैं भी नया-नया जवान हुआ था. हर तरफ मुझे चूत ही चूत दिखाई देती थी. किसी भी लड़की के बदन पर नजर जाती थी तो सबसे पहले उसकी चूचियों को नापने लगता था. सेक्स का नया-नया खुमार था.

रोज रात को मैं लंड की मुठ मार कर सोता था. मगर फिर भी मुझे संतुष्टि नहीं मिल पाती थी. मुझे चूत चाहिए थी हर कीमत पर. फिर मेरा ध्यान मेरी चाची की तरफ गया.

इससे पहले भी मैं चाची को देखा करता था लेकिन अब उन पर ज्यादा ही ध्यान देने लगा था. मैंने देखा कि चाची की गांड काफी शानदार थी. उनकी चूचियां देख कर मेरा लंड टाइट हो जाता था.

Chudaistory

कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं अपने शरीर के बारे में भी बता देता हूं. मेरे लंड का साइज 6 इंच है. मेरा लंड औसत साइज का है लेकिन एक औरत को संतुष्ट करने के लिए काफी है. मेरी बॉडी भी अच्छी है. मैं रोज जिम में जाता हूं. इसलिए बॉडी की शेप काफी अच्छी बनी हुई है.

अब मैं असली कहानी पर आता हूं.

तो हुआ यूं कि उन दिनों में मैंने अपने बाहरवीं के एग्जाम खत्म किये थे. घर पर खाली ही रहता था. एक दो पड़ोस की लड़की पर लाइन भी मारता रहता था लेकिन कोई भी पटती हुई दिखाई नहीं पड़ रही थी.

उसके बाद मैंने जिम जाना शुरू कर दिया था. मुझे लगता था कि लड़कियां अच्छी बॉडी वाले लड़कों की तरफ आकर्षित होती हैं. मगर बाद में पता चला कि लड़की को पटाने के लिए एक अलग ही काबिलियत की जरूरत होती है. जो मेरे अंदर बाद में आई.

मेरी चाची की शादी को उस वक्त 3 साल का समय हो गया था. अभी तक मेरे चाचा-चाची के यहां कोई बच्चा पैदा नहीं हुआ था. चाची देखने में किसी पोर्न स्टार जैसी लगती थी.

फिर मैं सोचा करता था कि चाची को अभी तक बच्चा पैदा नहीं हुआ है. कोई तो बात होगी इसके पीछे. मगर मैं पूछता भी तो किससे. बस अपने ही मन में सोचता रहता था.

चाची को देख कर मेरा लंड जरूर खड़ा हो जाता था. फिर मुझे रात को सोते हुए मुठ मारनी पड़ जाती थी. इसी तरह से मेरे दिन कट रहे थे. लेकिन चूत का जुगाड़ होता नहीं दिख रहा था.

Chudaistory

मेरी मां ने एक दिन मुझे चाची के घर काम से भेजा. मैं चाची के घर गया. चाचा उस समय काम पर चले गये थे. उनका घर कुछ ऐसा बना हुआ है कि घर की लम्बाई या यूं कहें कि गहराई बहुत ज्यादा है. अगर बाहर से कोई आवाज दे तो अन्दर के इन्सान को कई बार सुनाई नहीं देता है.

मैंने घर जाने के बाद चाची को आवाज दी लेकिन अन्दर से कोई जवाब नहीं आया. फिर मैं और अन्दर गया. मैंने सब कमरों में देखा. वो कहीं पर दिखाई नहीं दे रही थी.

उनको देखते हुए मैं पीछे तक पहुंच गया. पीछे की तरफ उन्होंने खुला एरिया छोड़ा हुआ था. वहां पर उनका बाथरूम बना हुआ था. बाथरूम के बाहर ही नल लगा हुआ था. कई बार मैं उनके घर पर चला जाता था. जब मैं छोटा था तो वहीं पर नहाता था. मगर बड़ा होने के बाद मैंने उनके घर में जाना कम कर दिया था क्योंकि हम दोनों परिवार अलग हो गये थे.

तो जब मैं पहुंचा तो मैंने देखा कि चाची नंगी ही बाथरूम के बाहर नहा रही थी. मैं तो उनको देख कर सन्न रह गया. मैं आवाज करके उनको चेताना चाहता था लेकिन तुरंत ही मेरी हवस ने कहा कि ऐसा मौका बार-बार नहीं मिलता.

मैं वहीं पर खड़ा होकर चाची को नहाते हुए देखने लगा. वो अपनी ही धुन में थी. गुनगुनाते हुए नहा रही थी. दरअसल उनके घर के आसपास भी कोई ऐसा घर नहीं था कि किसी को कुछ दिखायी दे जाये क्योंकि पीछे वाली दीवार काफी ऊंची बनी हुई थी. आसपास के सारे मकान एक मंजिला ही थे.

चाची को नहाते हुए देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया. उनका गोरा संगमरमर के जैसे गीला बदन, उनकी मोटी मोटी चूचियों से उछलता हुआ पानी देख कर मेरी हालत खराब होने लगी. उनकी निप्पलों के पास के एरोला भी काफी बड़े आकार के थे.

Chudaistory

फिर मैंने उनकी चूत की तरफ ध्यान से देखा. उनकी चूत पर काफी घने बाल थे जो घुंघराले से थे. एकदम से काले रंग के बालों के नीचे उनकी चूत छिपी हुई थी. उस पर से पानी गिर रहा था. वो अपने बदन को सहला सहला कर नहा रही थी.

मैं तो वहीं पर खड़ा होकर लंड को मसलने लगा. मुठ तो नहीं मार सकता था क्योंकि किसी के आ जाने का डर था. मैंने चाची के पूरे बदन को निहारा. मेरे लंड ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया. मन तो कर रहा था कि मुठ मार कर यहीं वीर्य निकाल दूं लेकिन अभी बहुत खतरा था.

फिर वो नहाकर अपने बदन पर कपड़ा लपेटने लगी. मैं वहां से सरक लिया. मैं आगे की तरफ आ गया. मेरा लंड अभी खड़ा हुआ था. मैंने लंड को पैंट के नीचे दबा लिया ताकि चाची को शक न हो जाये कि मैं उनको देख रहा था.

उसके बाद मैं दोबारा से आवाज लगाते हुए अन्दर की तरफ आया. चाची तब तक बाहर की तरफ आ रही थी. उन्होंने अपने कपड़े भी पहन लिये थे.

मुझे आता देख कर चाची बोली- अरे, तू कब आया!
मैंने कहा- बस अभी, वो … मां ने आपको घर बुलाया है. आपसे कुछ काम था उनको.
वो बोली- ठीक है. मैं पांच मिनट में आती हूं.
फिर मैं चुपचाप वहां से चला गया.

घर जाते ही मैं भी सीधा बाथरूम में गया और लंड निकाल कर मुठ मारने लगा. ख्यालों में ही चाची की चूचियों को पीने लगा. उनकी चूत को चोदने लगा. दो मिनट में ही मेरे लंड से वीर्य छूट गया. फिर मैं शांत हो गया.

Chudaistory

तब तक चाची भी घर आ गयी. वो मां के साथ कुछ बात करने लगी और मैं टीवी देखने लगा. फिर वो अपने घर चली गयी. उस दिन रात को भी मैंने चाची के नंगे बदन के बारे में सोच कर एक बार फिर से मुठ मारी.

अब मैं चाची की चुदाई के लिए तड़प गया था. बस मुझे सही मौका नहीं मिल रहा था.

एक दिन वो मौका भी मुझे मिल ही गया.

एक बार हम लोग शादी में गये हुए थे. पूरा परिवार साथ में था. फिर जब वापस आने लगे तो मां और पापा को वहीं रुकना पड़ा. चाचा भी उनके साथ ही रुक गये.

मैं चाची को लेकर घर आ गया. उस दिन मैं अपने घर में अकेला था और चाची अपने घर में अकेली थी.
चाची बोली- तुम्हारे यहां कोई नहीं है तो तुम भी मेरे वहां पर ही सो जाना. मुझे भी डर नहीं लगेगा रात को अकेले में.

उन्होंने जैसे ही उनके घर में सोने की बात कही मेरे अन्दर चाची की चुदाई के खयाल आने लगे. मैंने झट से हां कर दी.
उसके बाद मैं जल्दी से घर को लॉक करके चाचा के घर में ही चला गया.

कुछ देर तो हम दोनों उनके बेडरूम में ही टीवी देखते रहे. फिर टीवी देखते हुए ही चाची को नींद आ गयी. मैंने टीवी बंद कर दिया. अब मेरे लिए रुकना बहुत मुश्किल हो रहा था.

थोड़ी घबराहट भी हो रही थी लेकिन हाथ अपने आप ही चाची के बदन को छूने के लिए मचल गये थे. चाची ने नाइटी पहनी हुई थी. उसकी चूचियां उठी हुई थीं.

Chudaistory

मैंने चाची की चूचियों पर धीरे से रख दिया. उनको छूकर देखा. काफी गद्देदार चूचियां थीं, बेहद मुलायम लग रही थीं छूने में उनकी चूचियां. मेरा लंड एकदम से कड़क हो गया. फिर मैंने आहिस्ता से उनको दबाना भी शुरू कर दिया.

मगर मैं हैरान था कि चाची अभी भी आंखें बंद किये हुए थी. मैंने चाची की चूचियों को दबाना जारी रखा. अब मैं बेकाबू होने लगा तो मैंने उनकी चूचियों को जोर से भींच दिया.
एकदम से चाची की आह्ह निकल गयी.

Chachi ko chod kar bachha kiya Chudaistory Antarvasna 2

मैं जान गया कि चाची सोने का नाटक कर रही थी. मगर जैसे ही उनको दर्द हुआ तो उन्होंने मेरे हाथ को हटा दिया.
अगले ही पल आंखें खोल कर वो मेरी तरफ देखते हुए बोली- आराम से कर लो अगर करना ही है तो.
बस इतना सुनना था कि मैं चाची पर टूट पड़ा.

मैं उनके ऊपर आ गया और उनके होंठों को चूसने लगा. चाची भी मुझे बांहों में भर कर प्यार करने लगी. मैंने पांच मिनट तक चाची के होंठों का रस पीया और उसके बाद उनकी नाइटी को उतरवा दिया.

नीचे से चाची ने ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी. चाची का नंगा बदन तो मैंने पहले से ही देखा हुआ था. इसलिए मैंने उनकी ब्रा को भी उतरवा दिया और उनकी पैंटी को खींच कर एकदम से उनको नंगी कर दिया.

Chudaistory

अब मैंने चाची की चूचियों पर अपने होंठ रख दिये और उनके दूधों को बारी बारी से पीने लगा. चाची के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं.
मैं जोर से उसकी चूचियों को दबाते हुए उसके निप्पलों को चूसने लगा. काफी देर तक मैंने चाची का स्तनपान किया.

उसके बाद मैं नीचे की तरफ चला जहां पर चाची की बालों वाली चूत थी. मुझे चाची की चूत के बाल बहुत आकर्षित कर रहे थे. मैंने उनकी बालों वाली चूत को सूंघा और उसको चाटने लगा.

मैं अन्दर तक जीभ डालकर चाची की चूत को चाटने लगा. चाची के मुंह से निकलने वाली सिसकारियां अब पहले से और तेज हो गयी थीं. उनकी चूत ने अब कामरस छोड़ना शुरू कर दिया.

चाची की चूत से निकलने वाले रस को मैं साथ ही साथ चाटता जा रहा था. उसके बाद मैंने चाची की चूत में उंगली करना शुरू कर दिया. मैं तेजी के साथ चाची की चूत में उंगली करने लगा.

चाची तड़पने लगी, वो बोली- बस… अब जान निकालेगा क्या?
मैंने कहा- नहीं चाची, आप तो मेरी जान हो. आपकी जान नहीं निकालूंगा. आपकी चूत का रस निकालूंगा.

वो बोली- तो फिर अपने हथियार से निकाल, उंगली से नहीं.
मैंने कहा- पहले हथियार को तैयार तो कर दो.
वो बोली- क्यूं, अभी तक खड़ा नहीं हुआ क्या तेरा?
मैंने कहा- खड़ा तो आपको देखते ही हो जाता है. किंतु आप उसको प्यार करोगी तो वो आपकी चूत को भी उतना ही प्यार देगा.

चाची मेरा इशारा समझ गयी. उसने मेरी निक्कर को उतार दिया. मैंने अपनी शर्ट खोल दी. अब मैं भी चाची के सामने नंगा हो चुका था. मैंने चाची की चूत की तरफ मुंह किया और लेट गया.

Chudaistory

दूसरी तरफ से चाची के मुंह के पास मेरा लंड चला गया. मैं चाची की चूत को चूसने लगा और चाची ने मेरे लंड को मुंह में भर लिया. दोनों ही एक दूसरे के गुप्तांगों के रस का स्वाद लेने लगे.

दो मिनट के बाद ही मेरा लंड एकदम से फटने को हो गया. अब मैं और नहीं रुक सकता था. मैंने चाची के मुंह से लंड खींच लिया और उसकी टांगों को फैला दिया.

टांगों को फैलाने के बाद मैंने चाची की बालों वाली चूत के मुहाने पर अपने लंड का टोपा सेट कर दिया. फिर मैंने थोड़ा जोर लगाया. मेरे लंड का टोपा चाची की चूत में चला गया.

Chachi ko chod kar bachha kiya Chudaistory

चाची की चूत में जैसे ही लंड घुसा उनके मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल गयी. मगर मैंने तभी एक और बार झटका दिया. मेरा लंड चाची की चूत में पूरा चला गया.

बस अब तो मैंने उनकी चूत की चुदाई शुरू कर दी. मैंने चाची की टांगों को पकड़ लिया और उनकी चूत में लंड के धक्के देने लगा. चाची भी अपनी चूचियों को अपने ही हाथों से दबाते हुए चुदने लगी.

नंगी चाची की चूत मारते हुए मुझे बहुत ज्यादा उत्तेजना हो रही थी. इसलिए मैं ज्यादा देर खुद को रोक नहीं पाया और 2-3 मिनट में ही मैंने उनकी चूत में वीर्य छोड़ दिया.
चाची बोली- बस?
मैंने कहा- अभी रुक जाओ चाची. थोड़ी देर के बाद आपको फिर से मजा आने वाला है.

Chudaistory

चाची ने मेरे लंड को पकड़ लिया और मुंह में लेकर चूसने लगी. पांच मिनट तक वो मेरे लंड को जोर से चूसती रही. मेरे लंड में फिर से तनाव आने लगा.

Chachi ko chod kar bachha kiya Chudaistory

एक बार फिर से मेरा लौड़ा उसकी चूत की चुदाई के तैयार हो गया. अबकी बार चाची ने खुद कमान संभाल ली और वो मेरे ऊपर आ गयी. मेरे लंड पर बैठ कर चाची ने चूत में लंड को ले लिया और मेरे लंड पर कूदने लगी.

मैंने चाची की मोटी गांड को थाम लिया और मैं नीचे से धक्के लगाने लगा. चाची की उछलती हुई चूचियां मुझे मेरे सामने ही दिखाई दे रही थीं. कुछ देर के बाद चाची थक गयी और उसके बाद मैंने चाची को नीचे लिटा दिया.

दो मिनट तक चाची की चूत की चुदाई की और फिर मैंने उनको घोड़ी बना दिया. पीछे से उनकी चूत में लंड डाल दिया. चाची अब सिसकारियां लेते हुए चीखने लगी- और जोर से … आहह् … मजा आ रहा है. और चोद … आह्ह जोर से.. चोद कपिल… मुझे अपने बच्चे की मां बना दे आज!

मैं अब पूरी ताकत के साथ चाची की चूत में लंड को पेलने लगा. बीस मिनट तक मैंने चाची की चूत को चोदा और फिर उनकी चूत में ही झड़ गया. फिर मैं थक कर लेट गया. चाची भी हांफ रही थी.

वो मेरे सीने पर हाथ रख कर लेट गयी. मेरे लंड को सहलाने लगी. उसके थोड़ी देर के बाद चाची ने फिर से मेरे लंड को मुंह में ले लिया और उसको चूसने लगी.
काफी देर तक वो मेरे लंड को चूसती ही रही. अबकी बार मैंने भी लंड चुसवाने का पूरा मजा लिया और चाची के मुंह में ही झड़ गया.
चाची मेरा पूरा माल गटक गयी.

Chudaistory

उसके बाद हम दोनों साथ में लेट कर चिपक कर सोने लगे.
मैंने कहा- एक बात पूछूं चाची?
वो बोली- हां पूछ.

मैंने कहा- अभी तक आपको कोई बच्चा क्यों नहीं हुआ है?
वो मेरा सवाल सुनकर उदास हो गयी और उसकी आंखें भर आईं.
वो बोली- इसीलिये तो मैंने तुझे ये सब करने दिया. तेरे चाचा में वो क्षमता नहीं है कि वो बच्चा पैदा कर सकें.

चाची की आंखों में आंसू आ गये. मैंने उनको अपने बदन से चिपका लिया. कुछ देर के बाद हम फिर से गर्म हो गये. एक बार फिर से रात में मैंने चाची की चूत को चोदा.

फिर चोरी-छिपे कई बार मैंने चाची की चूत मारी और वो गर्भवती हो गई.
उसके बाद चाची ने एक सुन्दर से बच्चे को जन्म दिया. मुझे हैरानी होती है कि वो मेरा बेटा है. मगर चाची की खुशी देख कर मैं भी खुश हो जाता हूं.

बेटा होने के बाद चाचा की नौकरी बाहर लग गयी. वो अब हमारे साथ नहीं रहते हैं. मगर मैं आज भी चाची को याद करता हूं. वो भी मुझे याद करती हैं.

जब भी चाची एक दो दिन के लिए हमारे पास आती है तो हम लोग जरूर एक दूसरे के साथ वक्त बिताते हैं और चुदाई का मौका मिलता है तो वो भी करते हैं.

Chudaistory

दोस्तो, आपको मेरी यह स्टोरी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपनी राय जरूर दें. मैंने अपना ईमेल आईडी नीचे दिया हुआ है।
kp84[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

Chachi ko chod kar bachha kiya Chudaistory

Read in English

Chachi ko chod kar bachha kiya Chudaistory

Chudaistory: When I got young, I started craving for pussy. I liked my aunt and gave her a lot of thinking but did not get satisfaction. I wanted to fuck aunty.

Friends, today I am going to tell you a true incident. This is an incident of my life. Do not see it as just a sex story. Since this incident is related to my family, I am writing after changing the names of the characters Chudaistory.

My name is Kapil (changed).

This incident took place between me and my aunt Kalpana (name changed). It has been a long time since this incident happened between my real aunt and me. So I thought I would share my experience with you guys then Chudaistory.

My aunt’s figure is 35-28-32. She is a sexy body woman. Seeing their great bobes can make anyone’s mind drool. The same thing happened to me.

At that time, I was also a new young man. I could see pussy only everywhere. If any girl’s body was seen, first of all she used to measure her Titsi. There was a new hangover of sex.

Every night I used to sleep by hitting the face of the cocks. But still I could not get satisfaction. I wanted pussy at all costs. Then my attention went to my aunt like Chudaistory.

Earlier, I used to see my aunt but now I started paying more attention to them. I saw that the aunt’s ass was quite fantastic. My cock used to get tight after seeing their Tits.

Chudaistory
Before proceeding with the story, I also tell about my body. The size of my cock is 6 inches. My cock is of average size but enough to satisfy a woman. My body is also good. I go to the gym every day. Therefore, the shape of the body remains very good in Chudaistory.

Now I come to the real story.

So it happened that in those days I had finished my exams. He used to stay empty at home. A girl from two neighborhoods also used to hit the line but no one was seen getting beaten up for Chudaistory.

I started going to the gym after that. I used to think that girls are attracted to boys with a good body. But later it was discovered that a different ability is required to impress a girl. Which came to me later then Chudaistory.

My aunt’s marriage had become 3 years old at that time. Till now no child was born to my uncle and aunt. Aunt looked like a porn star, Chudaistory.

Then I used to think that aunt has not yet given birth to a child. There must be something behind this. But even if I ask Just kept thinking in his own mind for Chudaistory.

Seeing my aunt, my cock would definitely stand up. Then I had to kill my face while sleeping at night. This is how my days were cut. But I did not see the jugaad of pussy.

Chudaistory
One day my mother sent me to work at aunt’s house. I went to aunt’s house. The uncle had gone to work at that time. His house has been made such that the length or depth of the house is very high. If someone gives a voice from outside, the person inside is not heard many times.

I gave my aunt a voice after going home, but no response came from inside. Then I went further. I looked in all the rooms. She was nowhere to be seen the Chudaistory.

Looking at them, I reached the back. He left the open area behind. His bathroom was built there. There was a tap outside the bathroom. Many times I used to go to his house. I used to take a bath there when I was younger in Chudaistory. But after growing up, I had stopped going to his house because both our families were separated.

So when I arrived, I saw that Aunt Nangi was taking a bath outside the bathroom and Chudaistory. I was shocked to see them. I wanted to warn them by voice but immediately my lust said that I do not get such an opportunity again and again.

I stood there and started watching aunty taking bath. She was in her own tune. Was taking a shower while humming and Chudaistory. Actually, there was no such house even around his house that anyone could see something because the back wall was very high. All the surrounding houses were single storey.

Seeing the aunt taking a bath, my cock got erected for Chudaistory. My condition started deteriorating after seeing his blonde marble-like wet body, the water leaping from his thick fat tits. The areola near his nipples were also of a very large size.

Chudaistory
Then I looked carefully at her pussy. He had very thick hair on his pussy which was curly. His pussy was hidden under black hair. Water was falling from him. She was taking a bath after stroking her body.

I stood there and started rubbing cocks. Muth could not kill because there was a fear of someone coming. I looked at aunt’s whole body in Chudaistory. My cock started releasing water. I was thinking that I would remove the semen here by beating the mouth but there was a lot of danger right now.

Then she took a bath and started wrapping cloth on her body. I moved from there. I came forward. My cock was still standing. I pressed the cocks under the pants so that my aunt would not suspect that I was watching them, Chudaistory.

After that, again I came to the inside, making a sound. By then aunt was coming out. They also wore their clothes for Chudaistory.

Seeing me coming, Auntie said- Hey, when did you come!
I said- Just now, that mother has called you home. He had some work with you.
She said – okay. I come in five minutes.
Then I quietly left from there.

As soon as I went home, I also went straight to the bathroom and started removing cocks and started beating my mouth in Chudaistory. In the thoughts, he started drinking aunt’s Tits. Fucked his pussy. Within two minutes, I lost my semen from my cock. Then I calmed down.

Chudaistory
By then aunt also came home. She started talking to her mother and I started watching TV. Then she went to her home. That day, at night too, thinking about my aunt’s bare body, I once again got my mouth crossed.

Now I was yearning for aunty’s fuck Just I was not getting the right opportunity for Chudaistory.

One day I got that chance too.

Once we went to the wedding. The whole family was together. Then when the mother started coming back, mother and father had to stay there. Uncle also stayed with him about Chudaistory.

I came home with my aunt. That day I was alone in my house and aunt was alone in my house.
Aunty- You don’t have anyone here, so you too sleep in mine. I will not be afraid even at night alone.

As soon as he talked about sleeping in his house, he started thinking of his aunt’s fuck in me. I quickly said yes like Chudaistory.
After that I quickly locked the house and went to uncle’s house itself.

For some time, both of us kept watching TV in his bedroom. Then, while watching TV, the aunt fell asleep. I turned off the TV. Now it was becoming very difficult for me to stop the Chudaistory.

There was a bit of nervousness too, but the hands had automatically gone to touch aunt’s body. Aunt was wearing nighty. His Tits were raised.

Chudaistory I put it gently on aunt’s pussy. Saw them touching them. There were quite padded teas, she was very soft looking. My cock got hard. Then I slowly started pressing them.

But I was surprised that the aunt was still closing her eyes. I continued pressing Aunt’s Tits. Now I started getting uncontrollable, so I squeezed her pussy as well the Chudaistory.
Aunt’s sigh came out right away.


I knew that aunt was pretending to sleep. But as soon as he was in pain, he removed my hand.
The next moment, looking at me with open eyes, he said – Take it easy if you have to.
All I had to hear was that I broke down on my aunt the Chudaistory.

I came over them and started sucking their lips. Aunty also fell in love with my arms. I drank the juice of my aunt’s lips for five minutes and then got her nightie off but Chudaistory.

The aunt was wearing a bra and panty from below the Chudaistory. I had already seen aunt’s naked body. So I removed her bra too and dragged her panty and stripped her straight away.

Chudaistory
Now I put my lips on aunt’s pussy and started drinking their milk alternately. Siskaris started coming out of aunt’s mouth.
I started sucking her nipples while pressing her boobs. I breastfed aunt for a long time Chudaistory.

After that I walked downstairs where there was aunt’s hairy pussy. My aunt’s pussy hair was very attractive. I sniffed her hairy pussy and started licking it Chudaistory.

I started licking aunty’s pussy by putting tongue inside. Siskaris coming out of aunt’s mouth had become faster than before. His pussy now started leaving Kamaras for Chudaistory.

I was going to lick the juice coming out of aunt’s pussy as well. After that I started fingering my aunt’s pussy. I quickly started fingering my aunt’s pussy.

Aunty started to suffer, she said – just… will you die now?
I said – no aunt, you are my life. I will not kill you I will extract your pussy juice

She said – Then remove from your weapon, not with your finger.
I said – First prepare the weapon.
She said – Why, have you not stood up yet?
I said – I stand up and see you. But if you love her, then she will love your pussy equally.

Aunty understood my gesture. He removed my shorts. I opened my shirt. Now I too was naked in front of my aunt. I turned my face to my aunt’s pussy and lay down.

Chudaistory
From the other side, my cock went near aunt’s mouth. I started sucking aunty’s pussy and aunty filled my cock in her mouth. Both started tasting the juice of each other’s genitals.

After two minutes, my cock was about to burst. Now I could not wait. I pulled the cocks from my aunt’s mouth and spread her legs.

After spreading the legs, I set the topa of my cock at the mouth of my aunt’s hairy pussy. Then I put a little emphasis. The top of my cock went into aunty’s pussy.

This image has an empty alt attribute; its file name is hot-hairy-babe-fucked-1024×845.jpg
As soon as the cock entered aunty’s pussy, Ummh… ehhh… hah… yah… came out of her mouth. But I then jerked off one more time. My cock went full in aunty’s pussy.

Just now I started fucking her pussy. I caught the aunt’s legs and started licking the cocks in her pussy. Aunty also started pressing her tits with her own hands.

I was getting very excited while hitting my naked aunt’s pussy. So I could not stop myself for a long time and within 2-3 minutes I left the semen in her pussy.
Aunty bid – that’s it?
I said – stop now aunt. After a while you are going to have fun again.

Chudaistory
Aunt caught my cock and started sucking with mouth. She kept sucking my cock vigorously for five minutes. Tension started coming in my cock again.

This image has an empty alt attribute; its file name is bhabhi-love-suck-dick.jpg
Once again my Aloda was ready to fuck her pussy. This time aunt took command of herself and she came over me. Sitting on my cock, aunt took the cocks in the pussy and started jumping on my cock.

I held on to Aunty’s thick ass and I started banging from below. I was able to see aunt’s jumping pussy in front of me. After some time aunty got tired and after that I laid down aunty.

Fucked my aunt’s pussy for two minutes and then I made her a mare. Put cocks in his pussy from behind. Aunty now started screaming while taking Siskaris- and loudly… Ahh… Enjoying it. And Chod… Ahhh loudly… Chod Kapil… Make me the mother of your child today!

I now started sucking cocks in aunty’s pussy with full force. For twenty minutes, I fuck my aunt’s pussy and then fell into her pussy. Then I tired and lay down. Aunt was also panting.

She lay down with her hand on my chest. Started caressing my cock. After a while, aunt again took my cock in her mouth and started sucking it.
For a long time she kept sucking my cock. This time, I too enjoyed the cock sucking and the aunt fell in her mouth.
My aunt got all my goods stuffed.

Chudaistory
After that, both of us lay down together and started sleeping.
I said – ask one thing aunt?
She said yes.

I said – why have you not had any children yet?
She was sad to hear my question and filled her eyes.
She said – that’s why I let you do all this. Your uncle does not have the capacity to produce children.

Tears came in aunt’s eyes. I clung them to my body. After some time we got warm again. Once again in the night, I fuck my aunt’s pussy.

Then secretly I hit my aunt’s pussy and she became pregnant.
After that aunt gave birth to a beautiful child. I wonder if he is my son. But I also become happy after seeing my aunt’s happiness.

After having a son, the uncle’s job was taken out. They no longer live with us. But I still remember my aunt. She also misses me.

Whenever Aunty comes to us for a couple of days, we definitely spend time with each other and if we get a chance to fuck.

Chudaistory
Friends, how did you like my story, please give me your opinion about it. I have given my email id below.
[email protected]

Read more Sex Story –

Chudi ki khani मसाज करके मां की चुदाई 1 Real Family Sex Fun

Desi xxx kahani जवान भतीजी की सील तोड़ी 1 Best Sex Story

Chachi ki chudai story 1 चाची की गीली चुत को चाट के Sex

Leave a Comment