Desi xxx kahani जवान भतीजी की सील तोड़ी 1 Best Sex Story

जवान भतीजी की सील तोड़ी Desi xxx kahani

Desi xxx kahani: यह रिश्तों में चुदाई की कहानी मेरे ताऊ जी की पोती और स्वरा के बीच की चुदाई की है. 19 साल की सेक्सी भतीजी की बुर की चुदाई मैंने कैसे की? मजा लें.

मेरा नाम अरुण राज है. मैं भोपाल का रहने वाला हूँ. ये मेरी पहली सेक्स कहानी रिश्तों में चुदाई की है, अगर कोई ग़लती हो जाए, तो प्लीज़ नजरअंदाज कर दीजिएगा.

ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी भतीजी स्वरा की चुदाई की कहानी है. मैं ये सेक्स कहानी आप सबके साथ बहुत दिनों से शेयर करना चाहता था, मगर मैं संकोच की वजह से कर नहीं सका था.

कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सभी को अपनी फैमिली के बारे में बता दूं, जिससे आपको कहानी को समझने में आसानी हो.

मेरे पापा दो भाई हैं … भाई, पापा से काफ़ी बड़े हैं. उनके दो बेटे और एक बेटी हैं. मैं अपने पापा का अकेला बेटा हूँ. ताऊ जी के सबसे बड़े लड़के की तीन लड़कियां हैं. जिनके नाम स्वरा, नेहा और निशा हैं. यह कहानी मेरे ताऊ जी की पोती और स्वरा के बीच की चुदाई की है.

मेरी उम्र अभी 34 साल है, जबकि स्वरा 19 साल की जवान लड़की है. स्वरा एकदम गोरी खूबसूरत भरी हुई लड़की है. उसका गोल चेहरा, नाज़ुक गुलाबी होंठ बड़े ही दिलकश हैं. उसका 36-32-38 का फिगर बहुत ही सेक्सी है. गर्मियों के मौसम में जब वो ब्रा नहीं पहनती है. और जब वो मटक मटक कर चलती है, तो उसकी भरी हुई गोल मटोल चूचियों को देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता है.

Desi xxx kahani

पहले तो मैंने कभी भी उसके बारे में ऐसा नहीं सोचा था लेकिन एक दिन जब मैं घर के अन्दर गया तो वो झुककर झाड़ू लगा रही थी. उसको मेरे आने का पता नहीं चला.
मेरी नजरें सीधे उसके दूध सी गोरी, सफेद भरी चूचियों पर चली गईं. वो सब देख कर मैं एकदम सन्नाटे में चला गया. मैं एकटक उसके मम्मों को हिलते हुए देखने लगा. मेरे लोवर में मेरा लंड एकदम कड़क टाइट हो गया. मेरा दिल करने लगा कि अभी इसको यहीं पटक कर चोद दूं.

खैर … उस दिन तो कुछ न हो सका, लेकिन अब वो मेरे मन में बस गई थी. मैं बस रात दिन उसको चोदने की सोचता रहता. मैं उसकी चूचियों को याद करके रोज मुठ मारने लगा था.

उन्हीं दिनों मेरी जॉब दिल्ली में लग गयी और मैं दिल्ली आ गया. लेकिन मैं कभी भी अपनी भतीजी स्वरा की चुदाई का सपना नहीं भुला सका.

एक दिन मेरे पास भाभी का फोन आया- तुम्हारे भैया बहुत बीमार हैं और उनको इलाज के लिए दिल्ली ला रहे हैं.
मैंने ओके कह दिया.

चार दिन के बाद भाभी, भैया और स्वरा के साथ दिल्ली आ गईं. हम लोग सारा दिन दिल्ली के सरकारी हॉस्पिटल में भटकने के बाद भी भाई को भर्ती नहीं कर पाए. शाम को हम अपने कमरे पर वापस आ गए. मेरे कमरे में एक ही बेड था जिस पर भैया को सुला दिया. बाक़ी सबने जमीन पर चादर बिछा कर रात काटी.

अगले दिन शाम तक भाई अस्पताल में भर्ती हो गए और भाभी उनके पास वहीं रुक गईं. स्वरा मेरे साथ मेरे कमरे पर आ गयी.

Desi xxx kahani

अब मैं उसको चोदने की योजना सोचने लगा कि इसको मैं कैसे चोदूं.

फिर कुछ सोच कर मैं केमिस्ट की दुकान पर गया और वहां से सेक्स बढ़ाने की गोली ले आया. मैंने उस दवा को कोल्ड ड्रिंक में मिला कर स्वरा को पिला दी. कुछ देर बाद रात का खाना हुआ, खाना खाने के बाद सोने की बात हुई.

स्वरा ने पूछा- चाचा, मैं कहां पर सोऊं?
चूंकि कमरे में एक ही बेड था, तो मैंने उससे कहा- बेटा, तू एक साइड सो जा … दूसरी साइड मैं सो जाता हूँ.

वो काफ़ी देर के बाद सोई, लेकिन मेरी आंखों में नींद कहां थी. मैं तो सपनों में ही उसे चोद रहा था.

रात के लगभग तीन बजे मैंने उसकी तरफ करवट ली, तो वो सीधी लेटी हुई थी. मैंने धीरे से उसके सीने पर हाथ रख दिया और उसके रिएक्शन का वेट करने लगा. लेकिन काफी देर तक जब उसका कोई विरोध नहीं हुआ, तो मैंने धीरे धीरे उसकी चूचियों को दबाना शुरू किया. फिर भी कोई रिएक्शन नहीं हुआ, तो मैं थोड़ा ज़ोर ज़ोर से उसके मम्मों को मसलने लगा.

अब वो भी धीरे धीरे सिसकारियां भरने लगी, लेकिन सोने का नाटक करती रही.

धीरे से मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर उठाया और उसके पेट को सहलाना शुरू कर दिया. अब वो बहुत तेज तेज सांस लेने लगी. मैं समझ गया कि अब ये चुदवाने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

मैंने उसकी टी-शर्ट को उसकी चूचियों से ऊपर तक उठा दिया. वो अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी. उसके सफेद दूध देख कर मैं तो एकदम पागल ही हो गया और उसके ऊपर चढ़ कर एक दूध को मुँह में लेकर चूसने लगा … और दूसरी को दबाने लगा. उसकी सीत्कारने की आवाजें काफ़ी तेज़ हो गयी थीं … लेकिन वो सोने का नाटक करती रही.

Desi xxx kahani

मैंने अपने होंठ उसके पतले गुलाबी होंठों पर रखे, तो उसने अपना मुँह खोल दिया. मैंने उसके एक दूध को हाथ से दबाना शुरू कर दिया और उसके होंठों का रस पीना शुरू कर दिया

तभी उसने भी दोनों हाथ बढ़ा कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया. बहुत देर तक उसके होंठों को पीने के बाद मैं नीचे की तरफ आया और उसके लोवर को पकड़ कर नीचे करने की कोशिश करने लगा, लेकिन उसने मेरे हाथ पकड़ लिए.

मैंने ज़्यादा ज़ोर ना लगाते हुए उसकी नाभि को चूमना चालू कर दिया. उसकी पकड़ ढीली हो गई, तो मैंने धीरे से उसका लोवर पैंटी सहित उतार दिया.

उसकी चुत देख कर मैं एकदम दंग रह गया. उसकी शेव की हुई छोटी सी मगर फूली सी चुत देख कर मेरे लंड में आग गई.

Desi xxx kahani Jawaan Bhatiji ki Seal thod chudai

मैं फुर्ती से अपने सारे कपड़े निकाले और उसके ऊपर चढ़ गया. एक हाथ से उसके एक दूध को पकड़ा और होंठों को किस करने लगा. अब वो किस करने में मेरा साथ दे रही थी, लेकिन सोने का नाटक करते हुए आंखें बंद ही किये हुए थी.

Desi xxx kahani

मेरा लंड उसकी चुत पर ही था और उसमें से ऐसी गर्मी निकल रही थी, जैसे आग लगी हो.

दस मिनट तक किस करने के बाद में मैंने उसकी टांगों को खोला और उसकी चुत के छेद में अपना लंड सैट करके एक जोरदार झटका दे मारा, उसकी एकदम से चीख निकल गई. उसकी चीख और एकदम से मचलने के कारण मेरा लंड निशाने से चूक गया, साथ ही उसकी चुत बहुत टाइट होने की वजह से लंड फिसल कर एक तरफ हो गया.

Desi xxx kahani Jawaan Bhatiji ki Seal thod chudai

मैंने फिर से लंड सैट किया और झटका लगा दिया … मगर उसकी कसमसाहट के कारण लंड फिर से फिसल गया. मैंने उसके ऊपर से हटते हुए क्रीम की डिब्बी उठाई और थोड़ी सी क्रीम उसकी चुत पर लगा दी. चुत में क्रीम लगाने के कारण उसकी चुत में कुछ राहत सी हुई और वो मेरी उंगलियों का मजा लेने लगी.

मैंने अपनी उंगली को थोड़ी देर उसकी चुत में चला कर उसकी चुत को लिसलिसा किया और इसके बाद कुछ क्रीम अपने लंड के टोपे पर भी लगा ली. अब तक उसकी कसमसाहट एक मीठी छुअन में बदल गई थी और वो लंड लेने के लिए कसमसाने लगी थी.

Desi xxx kahani

मैंने उसकी टांगें फैलाईं और लंड को सैट करके उसके मुँह पर अपना मुँह लगा दिया. तभी उसकी गांड ने उचक कर लंड लेने की कोशिश दिखाई और उसी वक्त मैंने एक ज़ोर का झटका दे मारा. मेरा आधा लंड उसकी चुत में घुसता चला गया.

वो एकदम से उछल पड़ी और इस वजह से मेरा मुँह उसके होंठों से हट गया. वो दर्द से चिल्लाने लगी. मैंने झट से उसके मुँह को बंद किया, तो उसकी आंखों में आंसू आ गए.

वो गूं गूं की आवाज करने लगी और उसके हाथ मुझे हटाने की कोशिश करने लगे.

मैंने एक मिनट के बाद उसके मुँह से ढक्कन हटाया, तो वो कराहते हुए बोली- उई चाचू … प्लीज़ निकाल लो … मुझे बहुत दर्द हो रहा है … मैं मर जाऊंगी … मेरी चुत फट गयी है.
तो मैंने कहा- मेरी जान … आज तुझे चोद कर मैं अपनी रंडी बनाऊंगा. तुम बस दो मिनट इस दर्द को सहन कर लो … फिर तुम्हें भरपूर मजा आएगा.

वो चुप हो गई और अपनी मुट्ठियों से बिस्तर की चादर को भींचने लगी.

मैं उसको किस करने लगा. फिर मैंने आधे लंड से ही उसको चोदना चालू किया. उसका दर्द कुछ कम होने लगा, तो मैं उसकी चुत में लंड को आगे पीछे करने लगा. वो मस्त होने लगी और कमर हिला कर लंड का साथ देने लगी.

मैंने महसूस किया कि लौंडिया मस्त होने लगी है, तो मैंने फिर से एक ज़ोरदार झटका मारा. इस बार मेरा लंड उसकी चुत को फाड़ते हुए पूरा अन्दर घुस गया. लंड अन्दर तक पेलने के बाद मैं फिर से रुक गया और उसकी चूचियों को चूसने लगा.

Desi xxx kahani

वो दर्द से ज़ोर ज़ोर से रोने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… चाचू मर गई मैं … उई चाचू … दर्द हो रहा है … प्लीज मत करो … मैं मर गयी … प्लीज़ मेरी चुत फट गयी है … इसे निकाल लो.
लेकिन मैंने उसकी एक ना सुनी और धीरे धीरे उसकी चुदाई शुरू कर दी.

लगभग पांच मिनट की चुदाई के बाद उसे आराम आ गया और वो भी अपनी कमर को हिलाने लगी थी. फिर मैंने उसके एक दूध को मुँह में लेकर चुदाई की स्पीड को थोड़ा बढ़ा दिया.

थोड़ी देर बाद उसको पूरा मज़ा आने लगा और बहुत ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां लेकर कहने लगी- आह चाचू … और तेज़ करो … अब मजा आने लगा है … आंह और तेज़ और तेज़ … चाचू चोद दो मुझे … आंह मेरी चुत का बैंड बजा दो … आह चाचू प्लीज़ मुझे अपनी रंडी बना लो … अहांआ ओह ओह उफ्फ़ मैं मरी … मैं चुद गई अपने चाचू से … अहह ओह और चोदो.

मैं धकापेल लौड़े को अन्दर बाहर करने लगा. अब वो भी अपनी टांगों को हवा में उठा कर मेरे लंड को पूरा अन्दर लेने लगी थी. इस दौरान उसकी गांड पूरी हवा में उठकर मेरे लंड का मजा लेने लगी थी.

कोई 15 मिनट की चुदाई के बाद उसका जिस्म अकड़ने लगा और उसने मुझे बहुत ज़ोर से जकड़ लिया और ‘आह्न्न … चाचू मैं गई … आंह.’ करते हुए झड़ गई.

उसके पहली बार झड़ने के करीब बीस मिनट की इस मस्त चुदाई के बाद मैं भी अपनी मंज़िल पर आ पहुंचा था. इस दौरान वो भी दो बार चुत झाड़ चुकी थी.

मैंने पूछा- बता मेरी जान, माल कहां निकालूं?
वो बोली- चाचू, मेरी चुत में आग लगी है … आप अन्दर ही निकाल कर मेरी आग को ठंडा कर दो.

बस मैंने दो चार धक्कों के बाद अपना लंड रस उसकी बुर में भर दिया.

Desi xxx kahani

मेरा पूरा माल पिचकारियां छोड़ते हुए मेरी भतीजी की चुत में ही निकल गया और मैं थक कर उसके ऊपर ही ढेर हो गया.

इसके बाद मैंने उसके ऊपर से हट कर अपने लंड को देखा, तो लौड़ा लाल हो गया था, उसकी चुत की सील टूट गई थी और उसकी चुत का खून मेरे लौड़े पर लग गया था.

Desi xxx kahani Jawaan Bhatiji ki Seal thod chudai

मैंने उसे चूमा और उसकी गांड उठा कर नीचे देखा, तो मेरी चादर पर भी कुछ दाग आ गए थे.

उसने पूछा- क्या हुआ चाचू?
मैंने कहा- बुर चुत में बदल गई.
वो मेरी बात को समझी ही नहीं और मासूमियत से पूछने लगी- क्या मतलब?

मैंने कहा- तुम्हारी बुर की दुकान का फीता कट गया. अब तुम लंड लेने की मस्ती बड़े आराम से ले सकती हो.
वो अब भी नहीं समझी और उठने लगी.

जब उसे उठने में दर्द हुआ और चुत में लाल रंग दिखा, तो वो डर गई.
मैंने उसे सब समझाया कि ये तो पहली बार में होता ही है. अब तुमको बस मजा ही मजा आना है.
वो हल्के से हंस पड़ी.

मैं उसे अपनी गोद में उठा कर बाथरूम में ले गया और उसकी चुत की सफाई की.

Desi xxx kahani

उस रात मैंने उसकी चुत का एक बार और सुख लिया, फिर हम दोनों नंगे ही सो गए.

इसके बाद जब तक भाभी अस्पताल में भैया के पास रहीं, मैंने अपनी भतीजी की चुत चुदाई का मजा खुल कर लिया.

आप सबके सामने मैंने अपने घर के रिश्तों में चुदाई की कहानी को लिखा. आपको कैसा लगा, प्लीज़ मुझे मेल करें.
[email protected]

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा. इसके अलावा आप कहानी पर नीचे कमेंट करके भी अपनी राय दे सकते हैं.

Read in English

Jawaan Bhatiji ki Seal thod chudai Desi xxx kahani

Desi xxx kahani: This is the story of sex in a relationship between my granddaughter’s granddaughter and Swara. How did I fuck 19-year-old sexy niece Burr? Have fun

My name is Arun Raj. I am from Bhopal This is my first sex story in a relationship, if there is a mistake, please ignore it and Desi xxx Kahani.

This sex story is the story of my niece and my niece, Swara. I wanted to share this sex story with you for a long time, but I could not do it due to hesitation.

Before starting the story let me tell you about my family, so that you can understand the story easily for Desi xxx Kahani.

My father has two brothers… Brother, is much older than my father. They have two sons and a daughter for Desi xxx Kahani. I am the only son of my father. Tau’s eldest boy has three girls. Whose names are Swara, Neha and Nisha. This story is about the sex between my tau ji’s granddaughter and Swara.

I am 34 years old, while Swara is a 19-year-old girl. Swara is a completely beautiful girl. His round face, delicate pink lips are very likeable. His figure of 36-32-38 is very sexy and Desi xxx Kahani. In the summer season when she does not wear a bra. And when she goes on rocking, my cock gets erected after seeing her chubby pussy.

Desi xxx kahani
At first I had never thought of her like this, but one day when I went inside the house, she was bowing down and sweeping. He did not know about my arrival.
My eyes went straight to her milk-white, white boobs. After seeing all that, I went into silence. I began to stare at her moms. My cock got tight in my lower. My heart started thinking that I would slap it here and give it to Chod and Desi xxx Kahani.

Well… nothing could happen that day, but now she was settled in my mind. I just kept thinking about fucking him day and night. I used to remember his Tits and started licking every day in Desi xxx Kahani.

At the same time, my job took place in Delhi and I came to Delhi. But I could never forget my niece Swara’s dream of Desi xxx Kahani.

One day I got a call from my sister-in-law, your brother is very ill and is bringing him to Delhi for treatment then Desi xxx Kahani.
I said ok

After four days, sister-in-law came to Delhi with Bhaiya and Swara. We could not recruit brother even after wandering in the Government Hospital of Delhi all day. In the evening we returned to our room. There was only one bed in my room on which brother was put to sleep. The rest of them spent the night laying a sheet on the ground and Desi xxx Kahani.

By the evening of the next day, the brother was admitted to the hospital and the sister-in-law stayed there with him. Swara came with me to my room.

Desi xxx kahani
Now I started thinking of his plan to fuck him.

Then after thinking about something, I went to the chemist’s shop and took the pill to increase sex from there. I mixed that medicine in a cold drink and gave it to Swara. After some time there was dinner, after dinner, there was talk of sleeping and Desi xxx Kahani.

Swara asked- Uncle, where should I sleep?
Since there was only one bed in the room, I told him- Son, you go to sleep on one side… I sleep on the other side and Desi xxx Kahani for Desi xxx Kahani.

She slept after a long time, but where was the sleep in my eyes. I was fucking him in my dreams then Desi xxx Kahani.

At about three o’clock in the night, I turned towards her, then she was lying down. I slowly put my hands on his chest and started waiting for his reaction. But for a long time, when there was no opposition to her, I slowly started pressing her Titsi. Even then there was no reaction, so I started rubbing her moms a little harder.

Now she too slowly started filling hers, but kept pretending to sleep and enjoy Desi xxx Kahani.

cript>

Slowly I lifted her T-shirt and started caressing her stomach. Now she started breathing very fast. I understood that now it is fully ready to fuck like Desi xxx Kahani.

I lifted her T-shirt up from her Titsi. She did not wear a bra inside. Seeing his white milk, I got mad and climbed on top of him and sucked one milk in the mouth… and started pressing the other. Her humming voices had become very loud… but she kept pretending to sleep.

Desi xxx kahani
I put my lips on her thin pink lips, then she opened her mouth. I started pressing one of his milk by hand and started drinking the juice of his lips

Then he too extended both hands and filled me in his arms. After drinking her lips for a long time, I came downstairs and tried to hold her lower down, but she held my hand then Desi xxx Kahani.

I started kissing her navel without applying much force. Her grip became loose, so I slowly removed her lower panty and enjoy the Desi xxx Kahani.

I was stunned to see her pussy. Seeing the small but full of her shave, my cock caught fire.

Desi xxx kahani I quickly took out all my clothes and climbed on top of it. Grabbed one of his milk with one hand and kissed his lips. Now she was supporting me in kissing, but with eyes closed while pretending to sleep.

Desi xxx kahani My cock was on her pussy and there was such heat coming out of it as if there was a fire.

After kissing for ten minutes, I opened her legs and set my cock in the hole of her pussy and gave it a loud shock, she screamed out. Due to his screaming and sudden twitching, my cock missed the target, along with his cock being very tight, the cock slipped to one side.

Desi xxx kahani I set the cocks again and jerked… but due to his swear, the cocks slipped again. I lifted the box of cream on top of it and applied a little cream on her pussy. Applying cream in the pussy caused some relief in her pussy and she started enjoying my fingers.

I put my finger in his pussy for a while and lubricated his pussy and after that, some cream was also applied on the top of his cock and Desi xxx Kahani. By now her swearing had turned into a sweet touch and she started swearing to take cocks.

Desi xxx kahani
I spread her legs and set my cock and put my mouth on her mouth. At that time, his ass showed an attempt to take cocks and at the same time I gave a loud blow. Half of my cock went into her pussy.

She bounced right away and because of this my mouth moved from her lips. She started screaming with pain. I quickly closed his mouth, then tears came in his eyes.

She started to cry and her hands started trying to remove me.

I removed the lid from her mouth after a minute, so she said with a groan – Ui chachu… Please take it out… I am in a lot of pain… I will die… My pussy is torn.
So I said- My life… today I will make you my prostitute. You just bear this pain for two minutes… then you will enjoy it to the fullest.

She became silent and started rubbing the bed sheet with her fists.

I started kissing him. Then I started fucking him with half a cock. His pain started to subside, so I started licking his cock back and forth. She started being cool and started shaking her waist and supporting the cocks.

I realized that the laundia was starting to cool, so I again hit a loud blow. This time my cock penetrated all over tearing her pussy. After piling up the cocks, I stopped again and started sucking her Titsi.

Desi xxx kahani
She started crying out loud with pain – Ummh… Ahhh… Hah… Yah… Chachu died… I… Oi Chachu… It is hurting… Please do not… I have died… Please have broken my pussy… Take it out.
But I did not listen to her and slowly started fucking her.

After about five minutes of fucking, she got rest and she was also shaking her waist. Then I took one of his milk in the mouth and increased the speed of sex.

After a while, he started having fun and with a lot of cuss, he started saying loudly – Ah Chachu… and fast… Now the fun is on… Come on, faster and faster… Chachu chod do me… Aan meri chaut band… Ah Chachu please make me your idol… Ohhh oh oh uh, I died… I got chud with my chuchu… Ahh oh and Chodo.

I started taking out the shoveling alore inside. Now she too started lifting her legs in the air and taking my cock inside. During this time, his ass got up in full air and started enjoying my cock.

After 15 minutes of fucking her body started to swell and she held me very hard and fell while chanting ‘Aahn… chachu main gai… aanh.’

After about twenty minutes of her first loss, I had also reached my destination after this crazy fuck. During this time, she had also burnt twice.

I asked- tell my love, where do I get the goods?
She said- Chachu, my pussy is on fire… You remove it inside and cool my fire.

Just after two four bumps, I filled my cock juice in his bur.

Desi xxx kahani
Leaving all my belongings in my niece and leaving the squirrels, I got tired and piled on top of it.

After this, I turned away from him and looked at my cock, then the aloda had become red, the seal of his pussy was broken and the blood of his pussy had started on my alore.

Desi xxx kahani
I kissed her and lifted her ass and looked down, so some stains had come on my sheet too.

He asked- What happened, Chachu?
I said – Bur has turned into a mess.
She did not understand my point and started asking innocently – what does it mean?

I said – Your Bur shop lace was cut. Now you can enjoy the pleasure of taking cocks very comfortably.
She still did not understand and started getting up.

When she got pain in getting up and saw red color in the pussy, she got scared.
I explained to him that it happens at first. Now you just have to have fun.
She laughed lightly.

I took her in my lap and took her to the bathroom and cleaned her pussy.

Desi xxx kahani
That night I took pleasure of his pussy once more, then we both slept bare.

After this, as long as the sister-in-law remained with the brother in the hospital, I openly enjoyed the sex of my niece.

In front of all of you, I wrote the story of Chudai in our home relationships. Please feel free to mail me.
[email protected]

Read more sex stories –

Baap beti xxx story बाप बेटी की चुदाई 1 lovely Sex stories

Family ki chudai मुझे और मेरी मम्मी को अंकल ने चोदा 1Sex Fun

Sister chudai stories गाँव वाले भाई से चुदाई 1 Best SexStory

Leave a Comment

org/tools/popad.js">