Real sex story भरी ठंड में 1 मोसी को लंड चूसा के चोदा

मोसी को लंड चूसा के चोदा Real sex story

Real sex story: मेरी मोसी मेरे घर आयी हुई थी. वो मुझे बहुत प्यार करती थी. लेकिन इस बार उनकी नजर में मुझे शरारत लग रही थी. रात को मैंने अपनी मोसी को चोदा. कैसे?

MastHindiStory के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार। मेरा नाम राहुल यादव है. मैं बिहार के छपरा का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 22 की है और मैं दिल्ली में रहकर पढ़ाई कर रहा हूँ। मैंने MastHindiStoryपर बहुत सारी कहानियां पढ़ी हैं। आज मैं अपनी अपनी पहली कहानी बताने जा रहा हूँ जो कि मेरे जीवन की सच्ची कहानी है, इसमें मैंने बताया है कि मैंने कैसे अपनी सगी मोसी को चोदा।

यह कहानी आज से पहले 2 साल पहले की है। मैं कॉलेज में दाखिला लेने के लिए इंतजार कर रहा था. परीक्षाएं कुछ दिन पहले ही समाप्त हुई थीं. परीक्षा के बाद मैं घर में ही खाली बैठा रहता था। एक दिन घर पर मेरी छोटी मोसी आयी.

मेरी मोसी बहुत दिनों के बाद हमारे घर आई थी. साथ में उनके बच्चे भी थे. मोसी को एक लड़का और एक लड़की थी. वो दोनों बच्चे अभी छोटे ही थे. मोसी की उम्र भी ज्यादा नहीं थी. वो 30 साल के करीब की रही होंगी.

घर पर मम्मी से मिल कर वो मुझसे भी गले मिलीं। मेरे लिये यह सब सामान्य था क्योंकि मोसी हमेशा से ही मुझे प्यार किया करती थी. लेकिन इस बार मोसी की नजर में एक शरारत सी दिखाई दे रही थी जो मुझे कुछ अजीब सी लग रही थी.

फिर मोसी ने मेरे कंधे पर हाथ रख कर कहा- सोनू, तुम तो काफी बड़े हो गये हो. (मेरे घऱ में मुझे सोनू कह कर ही बुलाया जाता था)
मैंने महसूस किया कि मोसी मेरे कंधे को इस तरह से सहला रही थी जैसे वो मेरे शरीर की मजबूती को जांच रही हो.
मैंने मोसी की बात का जवाब देते हुए कहा- मोसी, अब छोटा ही रहूंगा क्या?
मेरी बात पर मोसी मुस्कराने लगी.

real sex story

फिर वो फ्रेश होकर मेरी मां के साथ बातों में लग गयी. मुझे उस दिन मेरे दोस्त की बहन की शादी में जाना था. तैयार होकर मैंने मां से कहा कि मैं शादी में जा रहा हूं. मां ने मुझे टाइम से घर वापस आने के लिए कह दिया. मैं घर से निकल गया.

शादी में जाकर देखा तो मेरे बाकी दोस्त भी आए हुए थे. महफिल पूरी सजी हुई थी. उन लोगों ने दारू पीने का प्रोग्राम बनाया हुआ था. मेरे मना करने के बाद भी उनके जोर देने पर मुझे पीनी पड़ी. फिर मस्ती में रात के 3 बज गये.

सर्दियों के दिन थे और ठंड बहुत पड़ रही थी. तभी मां का फोन आया और वो मुझे घर आने के लिए कहने लगी. मां ने कहा कि उनकी तबियत ठीक नहीं है. उन्होंने बताया कि पिता जी भी घर पर नहीं हैं और वो दोनों मेरा ही इंतजार कर रहे थे.

मां ने मुझे जल्दी घर पहुंचने के लिए कह दिया. मोसी भी अभी तक सोई नहीं थी और वो लोग मेरा ही इंतजार कर रहे थे. मैं अपने दोस्तों के साथ बाइक लेकर निकल पड़ा. 35 किलोमीटर का सफर था. रास्ते में घना कोहरा छाया हुआ था.

बाइक पर बैठे हुए मेरे दांत कंपकंपा रहे थे. जब मैं घर पहुंचा तो पूरा कांप रहा था. मैंने घर के बाहर पहुंच कर मोसी को फोन किया. मोसी ने आकर दरवाजा खोला और मैं जल्दी से अंदर घुस गया. अंदर जाकर मैं सीधा अपने रूम में चला गया.

मैंने जूते निकाले और कम्बल उठा कर उसमें दुबक गया. मुझे बहुत ठंड लग रही थी. मोसी को शायद मेरी हालत का अंदाजा हो गया था. वो कुछ मिनट के बाद मेरे कमरे में आई तो मैं कांप रहा था.
वो कहने लगी- सोनू, तू तो सर्दी से कांप रहा है. रुक मैं तेरे लिये चाय बना कर लाती हूं.

real sex story

इतना बोल कर मोसी रसोई में चली गई मेरे लिए चाय बनाने के लिए. तब तक मैं कम्बल की गर्मी लेकर थोड़ा गर्म हो चुका था. अभी तक मुझे दारू का नशा चढ़ा हुआ था. मैं अपने फोन में टाइम पास करने लगा.

मोसी चाय लेकर आई और मेरे ही साथ कम्बल में घुस कर वो भी पीने चाय पीने लगी।
मोसी बोली- क्या बात है सोनू? तुम शराब भी पीने लगे!
उन्होंने मेरे मुंह से आ रही महक से समझ लिया था कि मैंने दारू पी रखी है।

मैं- नहीं मोसी, मुझे नशे की आदत नहीं है, वो तो मैं आज शादी में गया हुआ था तो दोस्तों के साथ थोड़ी पी ली थी. कभी-कभार पार्टी में ही पीता हूं. मगर आप मां से इस बारे में कुछ मत कहना. हंसते हुए मोसी बोली- अरे नहीं पगले, मैं कुछ नहीं कहूंगी. इस उम्र में तो यह सब नॉर्मल सी बात है. मैं सब समझती हूं.
अब तक मेरी चाय खत्म हो गयी थी. मोसी बिस्तर से उठ कर मेरे हाथ से चाय का कप लेने लगी तो मुझे मोसी की नाइटी में से उसके चूचे दिखाई दे गये.

मोसी की चूचियों का साइज 36 के करीब था. मैं उनकी चूचियों को घूरने लगा. इससे पहले कि मेरी नजर हटती मोसी की नजर मुझ पर पड़ गई और वो समझ गई कि मैं उनकी चूचियों को घूर रहा हूं.

मेरे बालों को सहलाते हुए मोसी बोली- क्या बात है सोनू, तुम तो ज्यादा ही बड़े हो गये हो. तुमने कोई गर्लफ्रेंड बनाई है या नहीं?
मैंने कहा- नहीं मोसी जी।
शराब का नशा मुझ पर चढ़ा हुआ था और मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था. बस बहक रहा था.

फिर मोसी ने कप को नीचे रखते हुए कहा कि बहुत ठंड हो रही है. इतना बोल कर वो भी कम्बल में मेरे पास लेट गयी और टीवी चालू कर दिया।

मेरे पैर उनके पैरों से सटे थे और मुझ पर सेक्स का सुरूर चढ़ने लगा था। मैंने उनसे पूछा- मौसा कैसे हैं?
मोसी बोली- उनकी बात तो करो ही मत, वो तो हमेशा ही बाहर रहते हैं. मगर तुम मुझे ये बताओ कि तुमने अभी तक गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बनाई है?

real sex story

मोसी की सांसें तेज होने लगी थीं. उन्होंने अपना पैर मेरी कमर पर चढ़ा दिया. मैंने भी उनके बदन को पकड़ कर अपने आप को उनके जिस्म के और ज्यादा करीब कर लिया.
मैंने लड़खड़ाती जुबान से कहा- मोसी, अभी तक कोई मिली ही नहीं है.
मेरा लंड अब तनाव में आने लगा था.

वो बोली- इतने हट्टे कट्टे हो गये हो. अभी तक हाथ से ही काम चला रहे हो क्या?
मोसी ने ऐसा कहते हुए आंखें बंद कर ली थीं. मैं समझ गया था कि मोसी भी सेक्स आग में जल रही है.

अब मुझसे भी रुका न गया और मैंने मोसी के होंठों पर अपने होंठों को रख दिया. मैं मोसी के होंठों को चूसने लगा और मेरे हाथ मोसी की गांड पर चले गये. मैं मोसी की गांड को दबाने लगा और उनके होंठों को चूसने लगा.

अब मोसी भी गर्म होते हुए मेरे होंठों को चूस कर मेरा साथ देने लगी. उनके हाथ मेरी पीठ में आकर कस गये थे. वो जोर से मेरे होंठों को पीने लगी थी जैसे मेरे होंठों को खा ही जायेगी. मेरे हाथ अब मोसी की चूचियों को दबाने लगे.

कुछ देर तक हम ऐसे ही लिपटम-लिपटा होते रहे. फिर मैंने एक हाथ को नीचे ले जाकर मोसी की पैंटी के ऊपर से उनकी चूत को सहलाना शुरू कर दिया. उसके बाद मैंने उनकी नाइटी को उठा कर उनकी कमर तक कर दिया.

फिर पता नहीं अचानक उनको क्या हुआ, वो उठ कर गेस्ट रूम की तरफ चली गईं. मेरा लंड पूरा तना हुआ था. अब हर कीमत पर मेरे लंड को चूत चाहिए थी. दारू का नशा और हवस का जोश दोनों ही मुझे पागल कर रहे थे. मैं तड़पता हुआ उठा और मोसी के पीछे ही चल दिया.

गेस्ट रूम में जाकर देखा तो रूम में अंधेरा था.

मैंने बेड के साथ वाला टेबल लैम्प जलाया तो देखा कि मोसी कम्बल के अन्दर दूसरी तरफ मुंह करके लेटी हुई थी. मैं तुरंत कम्बल में घुस गया और मैंने मोसी को बांहों में भरा तो झटका सा लगा. मोसी ने अपनी नाइटी उतार दी थी. वो केवल ब्रा और पैंटी में लेटी हुई थी.

real sex story

मेरा 8 इंच का लंड अब फूल कर 9 इंच का हो गया था. मैंने अपनी जांघों में फंसी हुई जीन्स को जल्दी से निकाल दिया और मोसी से चिपक गया. मेरे अंडरवियर में मेरा लंड तना हुआ था और वो मोसी की गांड से सट गया था.

मैंने मोसी से चिपक कर कहा- मोसी, आप ही मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ न प्लीज?
यह कहते हुए मैं मोसी की ब्रा के ऊपर से ही उनके मम्मों को दबाने लगा था. फिर मैंने मोसी की ब्रा को पीछे से खोल दिया. ब्रा को अलग कर दिया और मोसी की चूचियां आजाद हो गईं.

चूचियों को मैंने अपने हाथों में भरा तो पता चला कि वो एकदम से टाइट हो चुकी थीं. मेरे हाथों में पूरी तरह से समा भी नहीं रही थी उनकी चूचियां. मैं उनकी चूचियों को जोर से दबाने लगा और वो आहिस्ता से सिसकारने लगी.

उसके बाद मोसी ने अपना हाथ पीछे किया और मेरे अंडरवियर में हाथ डाल कर मेरे लंड को बाहर निकाल लिया. मोसी मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी. उसको दबाने लगी. अब मेरा हाल और भी ज्यादा बुरा हो चला था.

मोसी को मैंने सीधी तरफ लेटा दिया और उनकी चूचियों पर टूट पड़ा. मैं उनकी चूचियों को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा. जोर से उनकी मोटी-मोटी चूचियों को पीने लगा. मेरा लंड एकदम से फटने को हो रहा था. इधर मोसी भी अब जोर से सिसकारियां भर रही थी और मेरे मुंह को अपनी चूचियों में दबा रहा थी.

उनके मुंह से कुछ ऐसी आवाजें आ रही थीं- आह्ह सोनू, और जोर से … आह्ह बेटा, चूसो इनको, बहुत मजा आ रहा है. इस्स आह्ह … सोनू, उफ्फ पी लो मेरी चूचियों को.
मैं मोसी के सीत्कारों से और ज्यादा कामोत्तेजित हो गया था और उनके निप्पलों को काटने लगा था.

real sex story

अब उन्होंने मेरे लंड को नीचे हाथ ले जाकर पकड़ लिया और उसको जोर से दबाने लगी. फिर मुझे एक तरफ धकेल कर मेरे ऊपर आ गयी. अब मैं नीचे था और मोसी मेरे ऊपर थी. मोसी की चूचियां मेरी आंखों के सामने लटक रही थी. वो बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी. ऐसे रूप में मैंने उनको पहली बार देखा था.

उसके बाल खुले हुए थे और उसको देख कर ऐसा लग रहा था कि वो लंड की बहुत प्यासी है. मोसी की गांड मेरे लंड पर टिकी हुई थी. मैं पागल हुआ जा रहा था. जिसको मैं अपनी मां की तरह मानता था, आज वही औरत मेरे लंड के तले रंडी बन कर चुदने के लिए तैयारी थी.

मोसी ने एकदम से अपनी गांड को पीछे किया और मेरे लंड पर झुक कर मेरे लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. मेरे आनंद का ठिकाना न रहा. मेरी आंखें बंद हो गईं. मोसी के गर्म मुंह में लंड का सुपाड़ा देकर इतना मजा आ रहा था कि क्या बताऊं.

mosi-ki-chudai-real-sex-story-mosi-ki-antarvasna

वो मेरे पूरे लंड को अपने मुंह में अंदर तक भर रही थी. उसकी जीभ मेरे लंड के टोपे को सहलाते हुए चूस रही थी. अब मेरे मुंह से जोर जोर से आवाजें निकलने लगी थीं. उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ्फ … आईस्सस … आह्हह … मोसी चूसो, बहुत मजा आ रहा है.

मेरे हाथ मोसी के चूचों को जोर से दबा रहे थे. मेरे लंड मोसी के गले तक जाकर लग रहा था. ऐसा लग रहा था कि मैं चूत को ही चोद रहा हूं. पांच मिनट तक मोसी मेरे लंड को चूसती रही. फिर मैंने नियंत्रण खो दिया और मोसी के मुंह में ही झड़ गया. वो मेरा सारा माल पी गयी.

अभी भी मोसी मेरे लंड को सहला रही थी. स्खलित होने के बाद अब मेरे लंड में गुदगुदी होने लगी थी. अब मैंने मोसी को अपनी टांगों के ऊपर से उठने के लिए कहा. मैंने मोसी को नीचे लिटाया और उनकी पैंटी को उतार कर उनकी चूत को नंगी कर दिया. अब मैं मोसी की चूत में उंगली करने लगा.

real sex story

मैंने पाया कि मोसी चूत पानी छोड़ कर गीली हो चुकी थी. मैंने फिर मोसी की चूत पर अपने होंठों को रख दिया और चूत को जीभ देकर चूसने लगा. मोसी उछल सी गई. वो अपनी गांड को उठा कर मेरे मुंह की तरफ धकेलने लगी.

मोसी पागल सी हो गई. कई मिनट तक मैंने मोसी की चूत को चाटा. अब मेरा लंड दोबारा से तन गया था. मोसी ने मेरे लंड को फिर से सहलाया और कहने लगी कि ये तो फिर से तैयार हो गया है. लगता है कि इसने कईयों की चूत का बैंड बजाया हुआ है. अब मेरी चूत की प्यास भी शांत कर दे सोनू बेटा.

उनके कहे बिना ही मैं मोसी की चूत चोदने के लिए मरा जा रहा था. मैंने उनकी टांगों को फैलाया और अपने लंड को उनकी चूत पर सेट कर दिया. मैंने एक धक्का दिया और मोसी की चिकनी और गीली चूत में लंड हल्का सा अंदर चला गया. मोसी के मुंह से दर्द भरी आह्ह सी निकली.

real sex story

मगर मैंने तभी दूसरा झटका दिया और मेरा आधा लंड मोसी की चिकनी चूत में उतर गया.
वो कराहते हुए बोली- आराम से कर बेटा, मैं रात भर तेरी ही हूं. इतनी जल्दबाजी मत कर, दर्द हो रहा है.

मैंने झुक कर मोसी के होंठों को चूसना शुरू किया और फिर तीसरे झटके में पूरा लंड मोसी की चूत में उतार दिया. वो मुझसे लिपटने लगी. दो मिनट के बाद ही मोसी ने अपनी गांड को उठाते हुए मेरे लंड की तरफ धकेलना शुरू कर दिया और मेरी कमर को सहलाने लगी.

अब मोसी को आराम हो गया था. मैंने भी अब मोसी की चूत को चोदना शुरू कर दिया.
वो अब सिसकारते हुए कहने लगी- आह्ह बेटा, चोद दे मुझे, आज मुझे अपनी रंडी बना ले. मैं तेरे लंड को लेकर अपनी चूत की प्यास बुझाना चाहती हूं. बहुत मस्त चोदता है रे तू तो।

real sex story

कुछ देर तक मैंने मोसी को इसी पोज में चोदा. फिर मैंने उनको ऊपर आने का इशारा किया. वो उठ कर मेरे ऊपर आ गई. अब वो खुद ही मेरे लंड पर उछल-उछल कर मेरे लंड को अपनी चूत में लेने लगी. उनके चूचे मेरे सामने ऊपर नीचे झूल रहे थे.

मैंने मोसी की उछलती हुई चूचियों को दबाना शुरू कर दिया. वो तेजी से मेरे लंड अपनी चूत में लेती हुई कूदती रही और बड़बड़ाती रही. गालियां देती रही. मोसी की बातों से मुझे और जोश चढ़ रहा था और मैं पूरी ताकत के साथ उसकी चूत में लंड को धकेल रहा था.

मेरे मुंह से भी गाली निकलने लगी- साली रंडी, बहुत गर्मी चढ़ी है तेरी चूत में. आज तेरी चूत की सारी गर्मी निकाल दूंगा. साली कुतिया, तूने मेरे बाप से चूत चुदवा रखी है. मुझे सब पता है. आज उसका बेटा भी तेरी चूत को फाड़ देगा.

इस तरह से मजे लेते हुए मैंने मोसी को चोदा, काफी देर तक हम चुदाई में खोये रहे और फिर मैंने एकदम से मोसी की चूत में अपना वीर्य छोड़ दिया. मेरा वीर्य मोसी की चूत में भर गया. हम दोनों थक कर एक साथ वहीं पर नंगे ही लेट गये और सो गये.

सुबह के करीब पांच बजे फिर से चुदाई का एक और राउंड हुआ. उसके बाद मैं अपने कपड़े पहन कर अपने कमरे में आ गया और सो गया. सुबह मां ने डांटते हुए उठाया तो 11 बज चुके थे. मैं फ्रेश होकर वापस आया तो मां ने कहा कि तेरी मोसी अपने घर वापस जा रही है. एक बार उनसे मिल ले.

real sex story

मैं गेस्ट रूम में मोसी के पास गया. वो बच्चों को तैयार कर रही थी.
मैंने कहा- आप जा रही हो?
मोसी ने मेरी तरफ देखा और बच्चों को बाहर भेज दिया.

मेरे पास आकर उन्होंने मुझे दीवार से सटा कर मुझे किस करना शुरू कर दिया. मैंने मोसी की गांड को पकड़ लिया और उसके होंठों को चूसने लगा.
मैंने होंठों को छुड़ाते हुए कहा- विनिता डार्लिंग, तुम्हारी गांड की चुदाई तो रह ही गई.

वो बोली- कमीने, अब मैं तेरी ही हूं. जब भी तेरा मन करे मेरे घर पर आ जाना. तेरे मौसा तो बाहर ही रहते हैं. मैं अपनी गांड को तेरे लिए संभाल कर रखूंगी.
उसके बाद हम दोनों ने एक जोरदार किस किया और एक दूसरे को आई लव यू कहा.

फिर वो मां से मिल कर अपने घर वापस चली गई. मैं भी अपने रूम में जाकर मोसी के ख्यालों में बिस्तर पर लेट कर जैसे बिखर सा गया.
दोस्तो, यह थी मोसी के साथ मेरी पहली चुदाई की कहानी. मेरी यह कहानी आपको पसंद आई हो तो मुझे बताना. मैं आपके लिए आगे भी ऐसी ही गर्म कहानी लेकर आऊंगा.

real sex story

अगली कहानी में आपको बताऊंगा कि मैंने और कैसे कैसे मोसी को चोदा … मोसी और मेरे बीच में और क्या-क्या हुआ. आप नीचे दी गई मेल आईडी मैसेज करके अपनी राय जरूर दें और कमेंट करना भी न भूलें.
[email protected]

Join Telegram Group

real sex story

Read in English

Mosi ko land chusa ke choda – Real sex story

Real sex story: My aunt came to my house. She loved me very much. But this time I felt mischievous in his eyes. At night, I fuck my aunt. how?

My greetings to all readers of MastHindiStory. My name is Rahul Yadav. I am a resident of Chhapra in Bihar. I am 22 and I am studying in Delhi. I have read a lot of stories on MastHindiStory. Today I am going to tell my first story, which is the true story of my life, in this I have told how I got my real aunty Choda and real sex story.

This story is 2 years before today. I was waiting to enroll in college. The examinations ended a few days ago. After the exam, I used to sit empty at home. One day my little aunt came home, real sex story.

My aunt came to our house after many days. They also had children together. Mosey had a boy and a girl. Both those children were still young. Mosey was not even old. She must have been close to 30 years.

She also hugged me after meeting her mother at home. It was all normal for me because Mosey always loved me. But this time there was a prank appearing in the eyes of Mosey, which seemed strange to me, real sex story.

Then Mosey placed his hand on my shoulder and said- Sonu, you have grown so much. (I used to be called Sonu in my house)
I felt that Mosey was rubbing my shoulder in such a way that she was checking the strength of my body and real sex story.
I replied to Mosey’s talk and said- Mossy, will I remain small now?
Mosey smiled at my point.

real sex story
Then she became fresh and started talking with my mother. I was to go to my friend’s sister’s wedding that day. Being ready, I told my mother that I am going to the wedding. Mother asked me to return home on time. I left the house.

After going to the wedding, my other friends also came. The Mehfil was fully decorated. They had a program to drink alcohol. Even after my refusal, I had to drink on his insistence. Then it was 3 o’clock in the night.

It was winter and it was very cold. Then mother’s call came and she started asking me to come home. The mother said that she is not well. He told that even the father is not at home and both of them were waiting for me and real sex story.

Mother asked me to reach home early. Mosey had not even slept yet and those people were waiting for me. I set out on a bike with my friends. It was a journey of 35 kilometers. There was a dense fog on the way.

My teeth were shivering while sitting on the bike. When I reached home, I was trembling. I reached out of the house and called Mosey. Mosey came and opened the door and I quickly entered. I went inside and went straight to my room and real sex story.

I took out the shoes and lifted the blanket and got into it. I was feeling very cold. Mosey was probably aware of my condition. When she came to my room after a few minutes, I was shivering.
She started saying- Sonu, you are shivering with cold. Wait, I make tea for you.

real sex story
Speaking so much, Mosey went to the kitchen to make tea for me. By then I was a bit hot with the heat of the blanket. Till now I was addicted to alcohol. I started passing time in my phone.

Mosey brought tea and entered into a blanket with me and she also started drinking tea.
Mosi said- What is the matter Sonu? You started drinking alcohol too!
He had understood from the smell coming from my mouth that I had drunk liquor and real sex story.

Me- No Mosey, I do not have a habit of intoxication, I had gone to the wedding today, and had drank a little with friends. Sometimes I drink only in the party. But do not tell anything about this to your mother. Mosey said with a laugh – Oh no, Pagle, I will not say anything. At this age it is all normal. I understand everything
By now my tea was over. When Mosey got up from the bed and started taking a cup of tea from my hand, I could see her legs out of Mossi’s night with real sex story.

The size of Mosi’s Tits was around 36. I started staring at her pussy. Before my eyes turned away, Mosey’s eyes fell on me and she understood that I was staring at her cunts to real sex story.

Mousy said while stroking my hair – what is it, Sonu, you have grown too much. Have you made a girlfriend or not?
I said – No, mossy.
Alcohol intoxication was upon me and I could not understand anything. Was just drifting away.

Then Mosey kept the cup down and said that it is getting very cold. After speaking so much she too lay down with me in the blanket and turned on the TV.

My feet were adjacent to their feet and I was beginning to climb on their feet. I asked him – how are the warts?
Mosey said- Do not talk about them, they are always outside. But you tell me why you have not made a girlfriend yet?

real sex story
Mosey’s breath started getting faster. He put his foot on my waist. I too caught his body and made myself closer to his body.
I told the stuttering tongue- Mosi, no one has been found yet.
My cock was now under stress and real sex story.

She said – you have become so hatted. Are you still working by hand?
Mosey closed his eyes while saying so. I understood that mosey is also burning in the sex fire.

Now I was not stopped as well and I put my lips on Mosey’s lips. I started sucking Mosey’s lips and my hands went to Mosey’s ass. I started pressing Mosey’s ass and started sucking his lips but real sex story.

Now Mossy started warming up and supported me by sucking my lips. His hands were tight in my back. She started to drink my lips vigorously like my lips would eat. My hands now started pressing Moosey’s pussy.

For some time, we kept getting wrapped like this. Then I took one hand down and started caressing her pussy over Mosey’s panties. After that, I lifted his nightie to his waist, real sex story.

Then suddenly do not know what happened to them, she got up and went towards the guest room. My cock was full. Now at all costs, my cock wanted a pussy. Both Daru’s intoxication and his passion were driving me crazy. I got up in agony and walked behind Mosey and real sex story.

Going into the guest room, it was dark in the room.

When I lit the table lamp with the bed, I saw that Mosey was lying inside the blanket facing the other side. I immediately entered the blanket and I felt Mosey in the arms. Mosey removed his nighty. She was only lying in bra and panty.

real sex story
My 8-inch cock had now swollen to 9 inches. I quickly removed the jeans stuck in my thighs and clung to the mossy. My cock was taut in my underwear and it was tied to Mosey’s ass.

I clung to Mosey and said- Mosey, don’t you please become my girlfriend?
While saying this, I started pressing her moms from above Mosey’s bra. Then I opened Mosey’s bra from the back. Separated the bra and Mosey’s tits were free then real sex story.

When I filled the cucumber in my hands, I came to know that she was very tight. My cunts were not even fully contained in my hands. I started pressing her cunts very hard and she started sobbing softly but real sex story.

After that Mosey put his hand behind and put my hand in my underwear and took out my cock. Mosey started caressing my cock with her hand. Started suppressing him. Now my condition was getting worse.

I put Mosey on the straight side and got broken on her Titsi. I started sucking her tits in my mouth. He started drinking his thick nipples loudly. My cock was about to burst. Here Mosey was also filling up with loud cusses and was pressing my mouth in her pussy to real sex story.

There were some such sounds coming from their mouths – Ahh Sonu, and loudly… Ahhhhh son, suck them, they are enjoying it very much. Ish ah… Sonu, oops drink my teaspoons.
I became more aroused by Mosi’s pleas and started biting her nipples.

real sex story
Now he took hold of my cock with his hand down and started pressing it vigorously. Then pushed me aside and came over me. Now I was down and Mosey was above me. Mosi’s pussy was hanging in front of my eyes. She was very hot. As such, I saw him for the first time.

Her hair was open and looking at her it seemed that she is very thirsty for cocks. Mosey’s ass rested on my cock. I was going crazy. Which I used to believe like my mother, today that same woman was ready to fuck by being a prostitute under my cock with real sex story.

Mosey immediately backfired her ass and bent over my cock and started sucking my cock with her mouth. I could not enjoy my pleasure I closed my eyes. It was so much fun by giving a lump of cocks in Mosey’s hot mouth.

real sex story. She was filling my entire cock in her mouth. His tongue was sucking on the top of my cock. Now loud voices were coming out of my mouth. Ummh… Ahhh… Hahh… Yah… Uffh… Issus… Ahhhhh… Suck mossy, having a lot of fun.

My hands were pressing on Mosey’s boobs. My cock seemed to go up to Mosey’s throat. It seemed that I am fucking pussy. Mosey kept sucking my cock for five minutes. Then I lost control and Mossi fell into her mouth. She drank all my goods.

Still Mosey was rubbing my cock. After getting ejaculated, now my cock was getting tickled. Now I asked Mosey to rise above his legs. I brought Mosey down and removed her panty and naked her pussy. Now I started fingering Mosey’s pussy.

real sex story
I found that the mossy pussy was wet leaving water. I then put my lips on Mosey’s pussy and started sucking her pussy with tongue. Mossy jumped up. She lifted her ass and started pushing it towards my mouth.

Mosey went mad. I licked Mosey’s pussy for several minutes. Now my cock was tanned again. Mosey rubbed my cock again and started saying that it is ready again. It seems that it has played a band of many people. Now Sonu please calm down the thirst of my pussy too.

Without him saying, I was dying for Mosey’s pussy fucking. I spread his legs and set my cock on his pussy. I pushed one and the cocks in Mosey’s smooth and wet pussy went inside a bit. Mosey’s mouth was filled with pain.

But then I gave another blow and half of my cock landed in Mosey’s smooth pussy.
He moaned and said – Son, I am yours for the whole night. Don’t hurry so much, it’s hurting.

I bent down and started sucking Mosey’s lips and then in the third stroke, removed the entire cock in Mosey’s pussy. She started hugging me. Only after two minutes, Mosey started pushing my ass towards my cock and started caressing my waist.

Now Mosey was relaxed. I also started fucking Mosi’s pussy.
She started sobbing now and said – Ah son, give me Chod, today make me your prostitute. I want to quench my pussy’s thirst with your cock. You are very good fucker.

real sex story
For a while, I kissed Mosey in this pose. Then I indicated them to come up. She got up and came over me. Now she herself started bouncing on my cock and taking my cock in her pussy. His feet were swinging up and down in front of me.

I started pressing Mossy’s jumping pussy. She kept jumping and taking a big cock in her pussy and mumbling. Kept abusing I was getting more excited by Mosey’s talk and I was pushing the cocks in her pussy with full force.

Abuse started coming from my mouth too – sister-in-law, very hot heat has spread in your pussy. Today I will remove all the heat from your pussy. Brother-in-law, you have kept pussy with my father. I know everything. Today his son will tear your pussy too.

Having fun in this way, I fuck Mosey, we were lost in Chudai for a long time and then I left my semen in Mosey’s pussy immediately. My semen was filled in Mosey’s pussy. Both of us tired and lay down there at the same time and slept.

Around five o’clock in the morning, another round of chudai happened again. After that I came to my room wearing my clothes and went to sleep. It was 11 o’clock in the morning when the mother picked up the scolding. When I came back fresh, my mother said that your mother is going back to her house. Meet them once

real sex story
I went to Mosey in the guest room. She was preparing the children.
I said – are you going?
Mosey looked at me and sent the children outside.

Coming to me, he started kissing me by adjoining the wall. I grabbed Mosey’s ass and started sucking her lips.
I said while redeeming the lips – Vinita Darling, your ass was left intact.

That quote, you bastard, now I am yours. Come to my house whenever you want. Your warts remain outside. I will keep my ass for you.
After that we both did a vigorous kiss and called each other I love you.

Then she met her mother and went back to her home. I too went to my room and lay down on the bed in the thoughts of Mosey.
Friends, this was my first chudai story with Mosey. If you liked my story then tell me. I will bring a similar hot story for you in future also.

real sex story
In the next story I will tell you how and how I got Mosey to Choda… What happened between Mosey and me. You must give your opinion by messaging the mail id given below and do not forget to comment.
[email protected]

More Hot Sex Story-

मौसी की चुदाई करते समय गलती से माँ को चोदा | maa beta xxx story-mosi sex

मौसी की गाण्ड मारी छत पे | antarvasna mosi-hindisexstoris-mosi antarvasna

अंधेर में मामी की चूत की चुदाई | hot mami stories – xxx story mami

2 thoughts on “Real sex story भरी ठंड में 1 मोसी को लंड चूसा के चोदा”

Leave a Comment