Teacher sex story 1कुंवारी चूत की सील तोड़कर दी Sexनॉलेज nice

कुंवारी चूत की सील तोड़कर दी सेक्स नॉलेज teacher sex story

Teacher sex story: मैं एक लड़की को बायलॉजी की ट्यूशन देता था. एक दिन प्रजनन अंगों के बारे में पढ़ाना था तो उसने सेक्स नॉलेज के लिए स्पर्म के बारे में पूछा. तो मैंने उसे कैसे सब कुछ समझाया?

मेरा नाम रोहन है और मैं गोरखपुर से हूं. यहां पर मैं अपना वास्तविक नाम प्रयोग न करके काल्पनिक नाम लिख रहा हूं. मेरी उम्र 28 साल है और पेशे से मैं एक ट्यूशन टीचर हूं. मैं होम ट्यूशन भी देता हूं इसलिए मेरा काम यहां-वहां जाने का रहता है.

पहले मैं इलाहाबाद में पढा़या करता था. जो किस्सा मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूं वह मेरे जीवन में घटी एक वास्तविक घटना है. पहले मैं अपने पेशे में इस तरह की सोच नहीं रखता था. फिर टाइम पास करने के लिये मैंने MastHindiStory पर कहानियां पढ़ना शुरू किया.

hindisexstory की कहानियां पढ़ते हुए मेरा रुझान लड़कियों की चूत, चूचियों और गांड की तरफ कुछ ज्यादा ही बढ़ने लग गया था. मुझे भी इस बारे में पता नहीं लगा कि मेरे अंदर सेक्स की एक आग नीचे ही नीचे दबी हुई रहने लगी है. मगर जब ये घटना हुई तो सब बदल गया.

मैं आपको बता दूं कि मैं कैमिस्ट्री और बायलॉजी विषय पढ़ाता हूं. एक बार मेरे पास ट्यूशन के लिए कॉल आया. घर में जाकर ही ट्यूशन देना था. मेरे पास समय उपलब्ध था तो मैंने हां कर दी. ट्यूशन एक लड़की के लिए था.

उस लड़की का नाम भी मैं यहां पर नहीं बता सकता क्योंकि यह किसी की गोपनीयता का मामला है. इसलिए आप बस इतना समझ लीजिये कि वो कॉलेज के दिनों में थी और बायलॉजी और कैमिस्ट्री दोनों के लिए ट्यूशन चाहती थी तो मैं उसके घर जाने लगा था पढ़ाने के लिए.

Teacher sex story

पढ़ाते हुए फिर एक दिन प्रजनन अंगों के बारे में बताना था. उसमें बहुत सारे टॉपिक ऐसे थे जिनको पढा़ने में मुझे कोई दिक्कत नहीं थी क्योंकि मेरा तो काम ही था उसे पढ़ाना. मगर वो एक लड़की थी इसलिए मैं ज्यादा खुल कर बात नहीं कर पा रहा था.

सेक्स के बारे में जब बात शुरू हुई तो लड़की ने मुझसे सवाल करने शुरू कर दिये. चूंकि वो एक लड़की थी तो पुरुष के प्रजनन अंग के बारे में उसकी जिज्ञासा स्वाभाविक थी. वो एक बार स्पर्म के बारे में पूछने लगी.

वो बोली- सर स्पर्म कैसा होता है और कैसे निकलता है?
उसके मुंह से ये शब्द सुनकर मैं थोड़ा हिचकिचाने लगा क्योंकि मुझे भी थोड़ा असहज महसूस हो रहा था. अगर कोई लड़का होता तो खुल कर बात हो जाती लेकिन वो लड़की थी तो मुझे भी लिमिट में रह कर ही उसकी शंकाओं का समाधान करना था.

मैंने कहा- स्पर्म पुरुषों के प्रजनन अंग से निकलता है.
वो बोली- कब निकलता है?
उसके मुंह से ये सुन कर अब मेरे अंदर MastHindiStory की कहानियां घूमने लगी थीं. मेरा लौड़ा मेरी पैंट में अकड़ने लगा था.

उसके प्रश्न का उत्तर देना तो चाहता था लेकिन पता नहीं मेरी जुबान जैसे अटक रही थी. मैंने उसकी बात को टालते हुए कह दिया कि इस बारे में हम कल बात कर लेंगे अब थोड़ी कैमिस्ट्री की पढ़ाई कर लेते हैं. hindisexstory

वो बोली- बताइये न सर, कॉलेज में भी कोई अच्छे तरीके से इसके बारे में नहीं बताता है. मैं डॉक्टर बनना चाहती हूं और मुझे सब कुछ विस्तार से जानना है. किताबों में भी कुछ डिटेल में नहीं लिखा हुआ है.

teacher sex story

मैंने कहा- स्पर्म वो तरल पदार्थ होता है जो पुरुष के गुप्तांग से सेक्स करने के बाद निकलता है.
यह समझाते हुए मेरी नजर उसकी छाती के अनारों पर घूम रही थी. फिर एकदम से हम दोनों की नजर मिल गई और दोनों ही एक दूसरे को देखने लगे. मेरा लंड बुरे तरीके से अकड़ चुका था और मेरी पैंट में तना हुआ था.

फिर मैंने कहा- आज के लिए इतना ही बहुत है. अब बाकी के टॉपिक को हम कल कवर कर लेंगे.
वो मेरी तरफ देख कर मुस्कराने लगी.

मेरी हालत वास्तव में खराब हो रही थी. लेकिन उसके चेहरे पर लेश मात्र भी शर्म नहीं दिखाई पड़ रही थी.
वो बोली- ठीक है सर, कल आप दोपहर के समय आकर डिटेल में पढ़ाना.

उसके बाद मैं ट्यूशन खत्म करके अपने घर आ गया. मेरी नजरों में अभी भी उसकी छाती के गोल-गोल उभार घूम रहे थे. उसकी केले के तने जैसी जांघों के बारे में सोच कर लंड का बुरा हाल हो रहा था. अब मेरा मन उसके साथ सेक्स के लिए करने लगा था.

अगले दिन जाने से पहले मैंने सोच लिया था कि आज मैं भी पीछे नहीं हटूंगा. वो जो भी पूछेगी मैं उसका जवाब अच्छी तरह खुल कर दूंगा. मेरे मन में एक विचार ये भी था कि एक बार उसके साथ ट्राई करके देख लूं. क्या पता मुझे भी एक रसीली चूत को टेस्ट करने का मौका मिल जाये.

फिर अगले दिन मैंने अपने सारे काम जल्दी से निपटा लिये थे. आज मुझे बस उसी को ट्यूशन देने के लिए जाना था. छुट्टी का दिन था लेकिन मुझे भी सारे काम उसी दिन करने होते थे.

अपने सारे काम निपटा कर मैं फोन में पोर्न देखने लगा. उसमें एक टीचर अपनी स्टूडेंट को क्लासरूम के डेस्क पर लिटा कर उसकी चूत में जोर जोर से गचके मार रहा था. वो टीचर-स्टूडेंट की चुदाई देखकर मेरा लंड बुरी तरीके से अकड़ने लगा. वो पोर्न मूवी देख कर मैं भी अपने लंड को मसलने लगा.

teacher sex story

तभी मेरे फोन की रिंग बजने लगी. मैंने फोन उठाया तो मेरी स्टूडेंट ने कहा- सर, 2 बजने ही वाले हैं, आप आये नहीं अभी तक?
मैंने कहा- बस निकल रहा हूं मैं भी.
यह कह कर मैंने फोन रख दिया.

आज मैंने ठान लिया था कि जो होगा देखा जायेगा. मैं किसी भी हाल में उसको उकसा कर उसकी चूत के दर्शन तो कर ही लूंगा. लेकिन यह सब मैं अपनी लिमिट में रह कर ही करूंगा उसके बाद वो जो करना चाहेगी वो उस पर निर्भर करेगा.

यही सोच कर मैं जल्दी से तैयार हो गया. अभी दो बजने में आधे घंटे का वक्त था लेकिन मैं फिर भी निकल गया. उस दिन उसके घर जाकर देखा तो उसका घर सूना-सूना लग रहा था. संडे का दिन था. उसने एक लाल रंग की टी-शर्ट डाली हुई थी और नीले रंग की फिट जीन्स पहनी हुई थी.

उसके टी-शर्ट में उसके उभार आज अलग से ही उठे हुए दिखाई पड़ रहे थे. अंदर पहुंच कर मैंने उससे पूछा- आज बाकी के लोग नहीं हैं क्या घर में?
वो बोली- नहीं सर, आज छुट्टी का दिन था तो सब लोग घूमने के लिए गये हुए हैं.

मैंने पूछा- तो तुम नहीं गयी?
वो बोली- नहीं, मुझे वो कल वाला सेक्स नॉलेज टॉपिक कवर करना था. मैं कोई भी टॉपिक मिस नहीं करना चाहती हूं. आप आज अच्छी तरह पढ़ाओगे न?
वो पूछते हुए मुस्करा रही थी.
मैंने कहा- हां, बिल्कुल आज हम डीटेल में हर टॉपिक पर बात करेंगे.
यह कहते हुए मेरी नजर उसके चूचों पर जा रही थी और मेरा लंड पहले से ही टाइट होना शुरू हो गया था.

teacher sex story

फिर रूम में बैठ कर हम पढ़ाई के बारे में बातें करने लगे.
मैंने पूछा- हां, तो कौन सा टॉपिक क्लीयर करना है आज तुम्हें?
वो बेबाकी से बोली- अरे वही सेक्स वाला टॉपिक सर!

उसने इतनी फ्रेंकली बोला कि मैं उसके चेहरे को देखता ही रह गया. मुझे कतई उम्मीद नहीं थी वो ऐसे बेबाकी से मेरी बात का जवाब देगी. सेक्स शब्द उसके मुंह से सुनकर मेरा लंड पूरा तन गया. पैंट में अंदर ही अंदर झटके देने लगा.

मैं हकलाते हुए बोला- हां … हां … बिल्कुल! हम आज उसी टॉपिक के बारे में बात करेंगे.

वो शायद मेरी घबराहट को समझ गई थी और फिर उठ कर मुस्कराते हुए अपनी बायलॉजी की बुक लेने के लिए चली गयी.
वापस आकर किताब मेरे हाथ में थमाते हुए पूछने लगी- तो कल आपने अच्छी तरह नहीं बताया था सर.
मैंने कहा- क्या नहीं बताया था.
वो बोली- यही कि स्पर्म कहां से निकलता है?
उसकी बात सुन कर मैंने भी पूरा मन बना लिया था आज बिल्कुल भी नहीं हिचकूंगा क्योंकि मेरे मन में भी आज उस पोर्न मूवी के सीन ही घूम रहे थे.

मैंने उसकी बात का बेबाकी से जवाब देते हुए कहा- पेनिस से निकलता है.
वो बोली- लेकिन मैं आपसे कुछ और भी पूछना चाह रही हूं जिसकी वजह से मेरा दिमाग काफी उलझन में है.
मैं बोला- हां पूछो.
उसने थोड़ा झिझकते हुए कहा- क्या पेनिस को ही लंड कहते हैं सर?

teacher sex story

एक जवान लड़की के मुंह से लंड शब्द सुन कर मैं तो जैसे बेकाबू सा हो गया. मेरा ध्यान बस अब उसकी चूत की रसीली फांकों के बारे में ही जा रहा था. मैं पूरे जोश में आ गया था.
मैंने कहा- हां, उसको लंड ही कहते हैं और वेजाइना को चूत कहते हैं.

वो शरमाते हुए कहने लगी- सर, चूत के बारे में तो मालूम था लेकिन लंड के बारे में नहीं पता था इसलिए पूछा.
अब वो भी शायद खुलने की कोशिश कर रही थी.
फिर उसने दूसरा सवाल पूछा- सर, क्या लंड से हमेशा ही स्पर्म गिरता है?
मैंने कहा- नहीं, यह केवल सेक्स के बाद ही गिरता है.

मेरी बात पर उसने प्रश्नवाचक लहजे में कहा- मतलब कि चोदने के बाद!
उसके मुंह से ऐसे कामुक शब्द मुझे हर पल बेकाबू किये जा रहे थे.
मैंने अपने तने हुए लौड़े को पैंट के ऊपर से ही मसलते हुए कहा- हां, चूत को चोदने के बाद ही निकलता है.
वो मेरी बात सुनकर शर्म से जैसे लाल होने लगी.

अब मैंने आगे बढ़ते हुए पूछा- क्या तुमने भी कभी ऐसा किया है?
वो बोली- नहीं सर, मैंने किया तो नहीं मगर देखा है.
मैंने पूछा- कहां पर देखा है?
वो बोली- एक बार कॉलेज की बिल्डिंग के पीछे की झाड़ियों में।

उसने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा- वो मेरी ही क्लास की लड़की थी जो हमारी कॉलेज बस के पैंतालीस की उम्र के ड्राइवर के साथ ये सब कर रही थी.
मैंने कहा- तो क्या तुमने सब कुछ अच्छी तरह देखा था?
वो बोली- हां, उसका लंड लगभग मेरे आधे हाथ के जितना था. शुरू में तो वो उसके लंड पर कूद रही थी लेकिन कुछ देर के बाद जब उनका सेक्स खत्म हुआ तो उससे चला भी नहीं जा रहा था.

teacher sex story

उसकी बात सुन कर मैं हंसने लगा और बोला- अच्छा, सच में?
मेरी हंसी का कारण पूछने के लिए उसने कहा- लेकिन आप हंस क्यों रहे हो सर?
मैंने कहा- चुदाई के समय तो पूरा माहौल गर्म होता है और शरीर को कुछ पता नहीं लगता. लेकिन चुदाई खत्म होने के बाद ये सब पता लगता है कि क्या-क्या हुआ।

वो बोली- सर, चुदाई में सचमुच बहुत दर्द होता है क्या?
मैंने कहा- नहीं, ये चुदाई करने वाले के ऊपर निर्भर करता है कि उसको ये कला आती है या नहीं.
वो बोली- सर चुदाई करना कला होती है क्या?
उसने जब ये पूछा तो उसकी नजर अब मेरी पैंट की जिप के इर्द-गिर्द घूम रही थी.

जवाब देते हुए मैंने कहा- बिल्कुल, चुदाई करना भी एक कला होती है. कुंवारी चूत की चुदाई तो बहुत ही संभल कर की जाती है. लेकिन इसमें चोदने वाले को बहुत मजा आता है मगर चुदने वाली चूत को हल्का सा दर्द होता है. क्या तुमने अपनी चूत को कभी लंड का स्पर्श करवाया है?

मेरा सवाल सुनकर वो मेरी आंखों में देखते हुए बोली- नहीं सर, मैंने तो बस अपनी चूत को उंगली से सहला कर देखा है.
मैंने कहा- तो जब तुम चूत को उंगली से सहलाती हो तो कैसा लगता है?
वो बोली- जब से मैंने वो ड्राइवर वाली घटना देखी है तो मेरा मन भी करता है कि मैं एक बार लंड को करीब से देख लूं.

मैंने कहा- अगर तुम चाहो, तो इसको देख सकती हो. मैंने अपने झटके दे रहे तने हुए लौड़े की तरफ इशारा करते हुए कहा.
वो बोली- सर कुछ होगा तो नहीं ना?
मैंने कहा- बिल्कुल नहीं, छूने से कुछ नहीं होता है.

teacher sex story

इतना कह कर मैंने अपने लंड को चेन खोल कर अपनी पैंट से बाहर निकाल लिया. मेरा लौड़ा उसकी आंखों के सामने तना हुआ था. उसने उछल-उछल कर मेरे लंड के टोपे को भिगो रखा था.

वो बोली- सर क्या ये स्पर्म निकला हुआ है?
मैंने कहा- नहीं, यह तो चुदाई की तैयारी के लिए चिकनाहट के लिए निकलने वाला पदार्थ है.
मेरा लंड बुरी तरह से झटके दे रहा था. मैंने कंट्रोल खो कर उसके कंधे को सहलाते हुए कहा- तुम इसको पकड़ देख लो, तुम्हारे सारे सवालों के जवाब मिल जायेंगे तुम्हें.

उसने मेरे कहने पर मेरे लंड को अपने कोमल से हाथ में भर लिया और उसको दबा कर देखने लगी. मेरे हाथ अब उसकी बगल से होकर उसकी चूचियों को हल्के से दबाने लगे थे जिसका वो कोई विरोध नहीं कर रही थी. उसका सारा ध्यान मेरे लंड पर लगा हुआ था. वो मेरे लंड को कभी हाथ में भर रही थी तो कभी उसके टोपे पर उंगली फिरा कर देख रही थी.

मेरे मुंह से सिसकारियां निकलने लगी थीं.
वो बोली- सर, क्या आपको यहां छूने से बहुत मजा आता है? उसने मेरे लंड के टोपे को मसलते हुए कहा.
मैंने कहा- बहुत, लेकिन यह तुमको इससे भी ज्यादा मजा दे सकता है. क्या तुम मजा महसूस करना नहीं चाहोगी?

उसने तेज सांसों के साथ हां में गर्दन हिला दी. मैंने उसकी गर्दन को अपनी तरफ घुमाया और उसके होंठों को जोर से चूसने लगा. उसने भी मेरे सिर के पीछे हाथ लगा कर मेरे बालों को सहलाते हुए मेरा साथ देना शुरू कर दिया.

कुछ देर एक दूसरे के होंठों को चूसने के बाद मैंने उसकी टी-शर्ट निकलवा दी. उसने नीचे से सफेद ब्रा पहनी हुई थी. मैंने उससे कहा कि तुम अपने इन उभारों के बारे में नहीं जानना चाहोगी?

teacher sex story
उसने तेज तेज चलती सांसों के साथ हां में गर्दन हिलाते हुए हामी भर दी. मैंने उसकी ब्रा को निकलवा दिया और उसके मीडियम साइज के गोरे चूचे जिनके बीच में भूरे रंग के निप्पल थे उनको अपने दोनों हाथों में ले लिया.

मैंने कहा- ये जो बीच वाले उठे हुए दाने हैं इनको निप्पल कहते हैं. चुदाई के दौरान मर्द इनको मुंह में लेकर चूसता है और जब बच्चा पैदा होता है यहीं से दूध निकलता है.
इतना कह कर मैंने उसके निप्पल को अपने मुंह में भर कर चूसना शुरू कर दिया तो उसकी मुंह से आह्ह … स्स्स … करके एक सिसकारी निकल गई.

teacher sex story

उसके बाद मैंने दूसरे निप्पल को मुंह में लिया और पहले वाले को चुटकी में लेकर भींचने लगा. वो गर्म होते हुए मेरे लंड पर तेजी से हाथ चलाते हुए उसके टोपे को ऊपर नीचे कर रही थी. मेरा हाल भी बेहाल हुआ जा रहा था.

फिर मैं उसके सामने खड़ा हो गया. मैंने पैंट को उतार दिया और अंडरवियर भी नीचे कर दिया. मेरा लंड उसके सामने बिल्कुल नंगा था. मैंने अपने तड़पते हुए लंड पर उसके हाथ रखवा दिये.
फिर अपनी गोटियों को छूने के लिए कहा तो वो मेरी गोटियों को छेड़ते हुए उनको सहलाने लगी.
मैंने कहा- ये टेस्टीज़ हैं. यहां पर स्पर्म बनते हैं. जब चुदाई होने लगती है तो यहीं से स्पर्म निकल कर लंड में आते हैं.

उसके बाद मैंने उसको लेटा कर उसकी जीन्स को खोलते हुए उसे निकाल दिया. उसकी गुलाबी पैंटी को नीचे खींच कर उसकी चूत को नंगी कर दिया और उस पर हाथ फिराने लगा.
वो अब तड़पने लगी थी.

मैंने पूछा- क्या तुमको इसके बारे में भी विस्तार से जानना है?
वो बोली- हां सर, प्लीज!

teacher sex story

मैंने उसकी चूत पर अपनी जीभ को रख दिया और उसमें जीभ घुसाते हुए उसको चूसा और फिर दोबारा बाहर निकाल कर कहा- मर्द इसको इस तरह से प्यार करता है.
फिर मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी चूत पर अपने तने हुए लौड़े को रगड़ते हुए बोला- जब दोनों तरफ से तैयारी पूरी होती है तब चुदाई की जाती है. क्या तुम उसका अनुभव करना चाहोगी?

वो बोली- हां सर, लेकिन मैंने कभी अपनी चूत में लंड नहीं लिया है. मुझे कुछ हो तो नहीं जायेगा!
मैंने कहा- यही कला तो मैं तुम्हें सिखाऊंगा.
वो बोली- ठीक है.

फिर मैंने उसकी टांगों को चौड़ी किया और अपने लंड को उसकी कसी हुई छोटी सी चूत पर रख दिया. एक दो बार लंड को रगड़ा तो वो कसमसाने लगी. बोली- सर यहां तो बहुत मजा आ रहा है.

मैंने कहा- उंगली करने से भी ज्यादा?
वो बोली- हां, बहुत ज्यादा.
फिर मैंने कहा- आज तुम चुदाई का मजा भी लेने वाली हो.
कहकर मैंने अपने लंड के टोपे पर थूक दिया और उसकी चूत की फांकों को अपने लंड के टोपे से फैलाने लगा.

वो बोली- आह्ह सर … कर दो ना … प्लीज … अब मुझे बहुत बेचैनी हो रही है।
मैंने कहा- हां मेरी जान, आज मैं तुम्हें सेक्स का पूरा ज्ञान दे दूंगा.

फिर मैंने उसकी चूत में हल्के से धक्का दिया तो उसने सोफे को पकड़ लिया और उसको नाखूनों से नोंचने लगी.
मैंने एक और धक्के के साथ जोर लगाया तो आधा लंड उसकी चूत में जाकर अटक गया. वो गर्दन को इधर-उधर पटकते हुए मुझे हटाने की कोशिश करने लगी.

Real chudai stories - teacher sex story - hindisexstory
hindisexstory

teacher sex story

मगर अब मेरे लिए वापस लौटना मुश्किल था. मैंने एक जोर का धक्का लगाया और पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया तो वो चीख पड़ी ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’
मैंने तुरंत उसके ऊपर लेटते हुए उसके होंठों पर होंठ रख दिये और उसके चूचों को हाथों से मसलने लगा.

दो-तीन मिनट तक उसकी टाइट कुंवारी चूत में लंड को डालकर मैं लेटा रहा. जब वो शांत हुई तो मैंने धीरे से उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिये. अब वो मुझे बांहों में लपेट रही थी. मैं भी उसके ऊपर लेट कर उसकी चूत की चुदाई करने लगा.

अगले कुछ ही मिनटों में वो मेरे होंठों को चूसते हुए अपनी कुंवारी चूत को मजे से चुदवाने लगी थी. मुझे भी भरपूर आनंद मिल रहा था. मैंने उसकी टांग को उठा कर सोफे पर ऊपर चढ़ा दिया और उसकी चूत में अब जबरदस्त धक्के देने लगा.

वो दर्द के मारे कराहने लगी लेकिन उसके चेहरे पर आनंद भी साफ दिखाई दे रहा था. पांच मिनट के बाद वो एकदम से उठी और मेरे शरीर से लिपटती हुई मुझे बांहों में भरने लगी. उसका पहला स्खलन हो गया था.

चूत में चिकनाई बढ़ी तो मेरी उत्तेजना भी बढ़ गई. दो मिनट के बाद मैं भी धक्के देता हुआ उसकी चूत में स्खलित हो गया. दोनों ही ढेर हो गये थे. उसकी और मेरी सांसों की गति काफी तेजी से चल रही थी.
जब दोनों ही शांत हुए तो मैंने उसकी टाइट चूत से अपना सोया हुआ लंड खींच लिया.

उठ कर देखा तो लंड पर खून लग गया था. वो देख कर घबराने लगी.
तो मैंने कहा- यह पहली चुदाई के बाद निकलने वाला खून है. अब तुम्हारी चूत की सील टूट गई है जिसे हाइमन कहते हैं. पहली चुदाई में ही खून निकलता है लेकिन उसके बाद फिर नहीं निकलेगा.

वो उठने लगी तो उसकी चूत में दर्द हो रहा था.
मैंने उसको सहारा दिया और वो बाथरूम में चली गई.

teacher sex story

चूत को साफ करके वापस आई तो वो नॉर्मल हो चुकी थी. तब तक मैंने भी अपने कपड़े पहन लिये थे. वो भी आकर अपने कपड़े पहनने लगी.
मैंने कहा- अभी भी तुम्हें कुछ पूछना है तो पूछ लो.
वो बोली- सर, आज के लिए यही बहुत है. अब घर वाले भी आने वाले हैं.
मैंने कहा- तो क्या तुम्हें मजा आया?
वो बोली- हां सर, अब मुझे समझ आया कि वो लड़की हमारे कॉलेज के ड्राइवर से ऐसे मजे लेकर क्यों चुदाई करवाती है.

“तो क्या तुम भी ऐसे ही मजे लेना चाहती हो?” मैंने पूछा.
वो मेरी बात पर शरमाने लगी.
मैंने कहा- शरमाओ नहीं. मैं तुम्हें मजा देते हुए पूरी सेक्स नॉलेज दे दूंगा. बस तुम वैसा ही करती जाना जैसा मैं तुमसे कहूं.
वो बोली- जी सर, अब मुझे थकान हो रही है. अब बाकी की क्लास फिर कभी करेंगे.

उस दिन के बाद मैंने उस कुंवारी चूत को सेक्स का हर पाठ बारीकी से पढ़ाना शुरू कर दिया. उसकी चूत को चोद-चोदकर खूब मजे लिये. वो भी मेरे लंड के मजे ले लेकर सेक्स नॉलेज लेती रही.

सेक्स नॉलेज की कहानी पर अपने विचार देने के लिए नीचे दी गई मेल आईडी का प्रयोग करें.
[email protected]

teacher sex story

आपको मेरी यह सच्ची सेक्स घटना कैसी लगी मुझे Telegram पर ज़रूर बताये में आपके comment और message का इंतज़ार करूगा.

teacher sex story

Read in English

Kuvari Student ki seal todi Teacher sex story

Teacher sex story: I used to give biology tuition to a girl. One day to teach about reproductive organs, he asked about sperm for sex knowledge. So how did I explain everything to him?

My name is Rohan and I am from Gorakhpur. Here I am writing a fictitious name without using my real name. I am 28 years old and by profession I am a tuition teacher. I also give home tuition so my job is to go here and there Teacher sex story.

Earlier I used to study in Allahabad. The anecdote I am going to tell you is a real incident in my life. Earlier, I did not have this kind of thinking in my profession. Then I started reading stories on MastHindiStory to pass the time on Teacher sex story.

While reading the stories of hindisexstory, my tendency was to grow a lot towards girls’ pussy, Tits and ass. I did not even know about this that a fire of sex has started to be buried under me. But when this incident happened, everything changed.

Let me tell you that I teach Chemistry and Biology subjects. Once I got a call for tuition. Tuition was to be given at home. If I had time available, I said yes. The tuition was for a girl the Teacher sex story.

I cannot even tell the name of that girl here because it is a matter of privacy of someone. So you just understand that she was in college and wanted tuition for both Biology and Chemistry, so I started going to her house to teach.

Teacher sex story
One day while teaching, I had to tell about reproductive organs. There were many topics in it, which I had no problem in studying because my job was to teach it. But she was a girl, so I was not able to talk more openly.

When the talk about sex started, the girl started questioning me. Since she was a girl, her curiosity about the reproductive organ of the man was natural. She once started asking about sperm then Teacher sex story.

She said – how is Sir Sperm and how does it come out? Teacher sex story.
Hearing these words from his mouth, I hesitated a bit because I was also feeling a bit uncomfortable. If there was a boy, I would talk openly but if she was a girl, then I too had to resolve my doubts by staying in the limit.

I said – Sperm originates from the reproductive organs of men.
When does that quote come out? Teacher sex story.
Hearing this from his mouth, the stories of MastHindiStory started revolving inside me. My Aloda was starting to stiffen in my pants.

Wanted to answer his question but I do not know how I was getting stuck. I postponed his talk and said that we will talk about it tomorrow, now let’s study a little chemistry Teacher sex story.
That quote- Tell me sir, no one in college even tells about it in a good way. I want to become a doctor and I want to know everything in detail. Even some books are not written in detail.

teacher sex story
I said – Sperm is the fluid that comes out after sex with a man’s genitals.
Explaining this, I was eyeing the pomegranates of her chest. Then immediately we got the eye of both and both of them started seeing each other. My cock had swung in a bad way and was taut in my pants.

Then I said – that’s enough for today. Now we will cover the rest of the topics tomorrow.
She smiled looking at me then Teacher sex story.

My condition was getting really bad. But there was not even shame on his face.
She said- okay sir, tomorrow you come in the afternoon and teach in detail out Teacher sex story.

After that I finished my tuition and came to my house. In my eyes, his chest was still moving round and round. Thinking about her thighs like banana stem, cocks were in bad shape. Now I started feeling like having sex with him and Teacher sex story.

Before leaving the next day I thought that today I will not back down. Whatever she asks, I will open her answer well. There was also a thought in my mind that I would try and try with him once. Do I know if I can get a chance to test a juicy pussy as well Teacher sex story?

Then the next day, I finished all my work quickly. Today I had to go only to give tuition to him. It was a day off, but I also had to do all the work on the same day for the Teacher sex story.

Having done all my work, I started watching porn on the phone. In it, a teacher was lying on the desk of the classroom and was licking her pussy very hard. Seeing the teacher-student’s fuck, my cock began to stroke badly. After watching that porn movie, I started rubbing my cock too.

teacher sex story
Then my phone started ringing. When I picked up the phone, my student said – Sir, it’s about 2 o’clock, haven’t you come yet?
I said – I am also leaving.
After saying this I hung up.

Today I was determined that what will happen will be seen. In any case I will provoke him and I will see his pussy. But I will do all this by staying within my limit, after that what she wants to do will depend on her and Teacher sex story.

Thinking that, I got ready quickly. It was half an hour before two o’clock but I still left. Visiting her house that day, her house seemed deserted. It was Sunday She was wearing a red t-shirt and was wearing blue fitted jeans then Teacher sex story.

In his T-shirt, his bulge was seen arising separately today. After reaching inside, I asked him – are not the rest of the people in the house today? Teacher sex story.
She said- No sir, today was a holiday, so everybody has gone to hang out.

I asked – did you not go?
She bid- No, I had to cover that tomorrow’s sex knowledge topic. I do not want to miss any topic. Will you teach well today?
She was smiling while asking for Teacher sex story.
I said- Yes, absolutely today we will talk on every topic in detail.
While saying this, my eyes were going on her legs and my cock had already started getting tight.

teacher sex story
Then sitting in the room, we started talking about studies.
I asked – yes, which topic do you want to clear today?
She said to Babaki – Hey, same sex topic, sir!

He spoke so frankly that I kept looking at his face. I did not expect that she would answer me with such impunity. Hearing the word sex from his mouth, my cock became full. He started jerking inside the pants then Teacher sex story.

I said stuttering- Yes… Yes… Absolutely! We will talk about the same topic today and Teacher sex story.

She probably understood my nervousness and then got up smiling and went to take her biology book.
When I came back and put the book in my hand, I started asking – so yesterday you did not tell me well sir and the Teacher sex story.
I said – did not tell.
She said – where does the sperm come from?
After listening to him, I too had made up my mind today, I would not hesitate at all because today even the scenes of that porn movie were roaming in my mind for Teacher sex story.

I answered his words with impunity and said – He leaves from Penis.
She said – but I want to ask you something else because of which my mind is very confused.
I said – ask yes then Teacher sex story.
He hesitated a little and said – is Penis only called cocks, sir?

teacher sex story
I became like an uncontrollable person after hearing the word cocks from the mouth of a young girl. Now my attention was going only about the juicy slices of her pussy. I was excited.
I said yes, it is called cocks and vagina is called pussy.

She started blushing and said – Sir, I knew about pussy but did not know about cocks so asked.
Now she too was trying to open up and Teacher sex story.
Then he asked another question- Sir, does sperm always fall from cocks?
I said no, it only falls after sex.

On my point, he said in questioning tone – that means after fucking!
Such erotic words were being uncontrolled from his mouth to me every moment.
I rubbed my trunk Alore from the top of the pants and said- Yes, the pussy comes out only after fucking the teacher sex story.
Hearing me, she started turning red with shame.

Now I proceeded and asked- Have you ever done this?
She said – No sir, I have done but have not seen it.
I asked – where have you looked on Teacher sex story.
She said – Once in the bushes behind the college building.

She continued her talk and said that she was my only class girl who was doing all this with the driver of the age of forty-five of our college bus.
I said – so did you see everything well? Teacher sex story.
She said- Yes, his cock was almost half my hand. Initially, she was jumping on his cock, but after some time when his sex was over, he was not even going to go.

teacher sex story
After listening to him, I started laughing and said- OK, really?
To ask the reason for my laughter, he said – but why are you laughing sir?
I said – at the time of sex, the whole atmosphere is hot and the body does not know anything. But after the fuck is over, it all seems to know what happened.

She said – Sir, does it really hurt to fuck?
I said – no, it depends on the fucker whether he knows this art or not for Teacher sex story.
She said – is it an art to fuck head?
When he asked this, his eyes were now revolving around the zip of my pants.

In response, I said- Of course, sex is also an art. Fucking of virgin pussy is done very carefully. But the fucker enjoys it a lot but the fucker gets a slight pain. Have you ever made your pussy touch of cocks?

Hearing my question, he said looking into my eyes – No sir, I have just seen my pussy with a finger.
I said – so how do you feel when you finger pussy? then Teacher sex story.
That quote – Ever since I have seen the incident with that driver, my mind also thinks that I can look at the cock once.

I said – if you want, you can see it. I said pointing to the tense Alore giving my shock.
She said – Sir, if something will happen, isn’t it?
I said – absolutely no, nothing happens by touching.

teacher sex story
After saying this, I opened my cocks and took them out of my pants. My Aloda was stretched before her eyes. He had soaked the top of my cock by bouncing.

She said- Sir, is this sperm released? the Teacher sex story.
I said – no, it is a substance for lubrication for the preparation of sex.
My cock was jerking badly. Losing control, I shook his shoulder and said – Look at this, you will get answers to all your questions.

At my behest, he filled my cock with his tender hand and started pressing it. My hands were now pressing her pussy gently through her armpit which she was not opposing. All his attention was on my cock. She was filling my cock in my hand at some times and sometimes looking at her head with a finger on the Teacher sex story.

Siskaris started coming out of my mouth.
She said- Sir, do you enjoy touching here? He said rubbing the top of my cock.
I said – a lot, but it can give you even more fun. Don’t you want to feel fun? about Teacher sex story.

He nodded yes with strong breaths. I turned her neck towards me and started sucking her lips vigorously. He too started putting his hands behind my head and stroking my hair to support me.

After sucking each other’s lips for some time, I removed his T-shirt. She was wearing a white bra from below. I told him that you would not like to know about these upsurge?

teacher sex story
He nodded yes with a fast moving breath. I removed her bra and took her medium sized blond who had brown nipples in her middle and took them in both her hands.

I said – These are the rash between which are called nipples. During sex, a man sucking them in the mouth and when the baby is born, milk comes out from here for Teacher sex story.
After saying this, I started sucking her nipple in my mouth, then a sigh came out of her mouth.

teacher sex story
After that I took the second nipple in the mouth and started squeezing the first one with a pinch. She was heating her hand on the top of my cock while heating up. My condition was also being disturbed.

Then I stood in front of him. I took off the pants and also put down my underwear. My cock was completely naked in front of her. I got my hands on his tortured cock and Teacher sex story.
Then asked to touch her pieces, then she started teasing them by teasing my pieces.
I said – these are testies. Sperm are formed here. When chudai starts happening, sperm come out from here and come to cocks.

After that I lay down and open her jeans and remove her. Pulling her pink panty down, naked her pussy and started waving at her Teacher sex story.
Now she started to suffer.

I asked- Do you want to know about it in detail?
She said – yes sir, please!

teacher sex story
I put my tongue on her pussy and sucked her while inserting her tongue in it and then pulled it out again and said – the man loves it like this.
Then I came on top of her and rubbed her taut alore on her pussy and said – When the preparation is completed from both sides, then the fuck is done. Would you like to experience it? then Teacher sex story.

She said yes sir, but I have never taken cocks in my pussy. I will not go if anything happens
I said – I will teach you this art of Teacher sex story.
She said – okay.

Then I widened her legs and put my cock on her tight little pussy. She started swearing cocks once or twice. Bid- Sir, it is very fun here.

I said more than finger
She said – yes, very much.
Then I said – today you are going to enjoy sex too.
Having said that, I spit on the top of my cock and started spreading the pieces of her pussy from the top of my cock.

She said – Ah sir… do it… please… Now I am feeling very restless.
I said – yes my love, today I will give you complete knowledge of sex.

Then I pushed her pussy lightly, then she grabbed the couch and started fingering her with fingernails then Teacher sex story.
When I pushed with one more shock, half the cocks got stuck in her pussy. She started trying to remove me, banging her neck.

teacher sex story
But now it was difficult for me to return. I made a loud push and inserted the whole cock into her pussy and she screamed ‘Ummh… Ahhh… Hahh… Ohhh… ’
I immediately laid her lips on her lips while lying on top of her and started rubbing her nipples with her hands.

For two-three minutes, I lay down by putting cocks in her tight virgin pussy. When she calmed down, I slowly started pushing her in the pussy. Now she was wrapping me in the arms. I also started lying on her and fucking her pussy on the Teacher sex story.

In the next few minutes, she started sucking my virgin pussy with fun while sucking my lips. I was also enjoying a lot. I lifted her leg up and climbed on the couch and started pushing her in her pussy for the Teacher sex story.

She started to moan in pain but Anand was also clearly visible on her face. After five minutes, she woke up immediately and started filling me in my arms, clinging to my body. She had her first ejaculation.

When the smoothness in the pussy increased, my excitement also increased. After two minutes, I also got pushed into her pussy. Both were piled up. Her and my breath were moving very fast.
When both were calm, I pulled my sleeping cocks from her tight pussy.

When I got up, there was blood on the cocks. She started to panic after seeing it.
So I said – this is the blood coming out after the first fuck. Now your pussy seal is broken which is called hymen. Blood comes out in the first fuck but will not come out after that.

When she started getting up, her pussy was hurting.
I supported her and she went to the bathroom.

teacher sex story
When she came back after cleaning her pussy, it was normal. By then I too had put on my clothes. She also came and started wearing her clothes.
I said if you still have to ask anything, then ask.
She said – Sir, that’s enough for today. Now the people of the house are also coming.
I said – so did you enjoy it?
She said- Yes sir, now I understand why that girl takes our college driver for such fun.

“So do you also want to have fun like this?” I asked
She blushed at my point.
I said don’t be shy. I will give you full sex knowledge while having fun. You just keep doing as I tell you.
She said – Sir, now I am getting tired. Now the rest of the class will do it again sometime.

After that day I started to closely teach every lesson of sex to that virgin pussy. Chod-Chod and enjoyed it very much. She also continued to enjoy sex knowledge by taking pleasure in my cock.

Use the mail ID given below to give your views on the sex knowledge story.
[email protected]

Read More Chudai Ki Story – hindisexstory

कुँवारी स्टूडेंट की सील तोड़ने का मजा | sex stories teacher – xxx story hindi me

टीचर की चूत की चटाई | sex with teacher story – chudai story

कॉलेज वाली टीचर के मम्मों(Boobs)को चूसा | teacher ki chudai stories

1 thought on “Teacher sex story 1कुंवारी चूत की सील तोड़कर दी Sexनॉलेज nice”

Leave a Comment